छत्तीसगढ़

32 % आरक्षण की मांग, पूरी नहीं हुई तो आगे 15 लाख आदिवासी रायपुर का करेंगे घेराव, उरगा चौक पर 7 घंटे किया चक्काजाम

Share this

छत्तीसगढ़ सर्व आदिवासी समाज के बैनर तले मंगलवार को आदिवासी समाज ने 32 प्रतिशत आरक्षण देने की मांग को लेकर नेशनल हाईवे पर उरगा चौक पर चक्काजाम कर दिया। इसकी वजह से 7 घंटे तक मार्ग पर आवाजाही बंद रही। पुलिस प्रशासन ने 5 किलोमीटर पहले ही भारी वाहनों को रोक दिया। छोटे वाहन परिवर्तित मार्गो से आवाजाही करते रहे। शाम बजे के बाद यातायात सामान्य हुआ।

आदिवासी समाज ने कहा है कि मांग पूरी नहीं होने पर 15 लाख आदिवासी रायपुर का घेराव करेंगे। सर्व आदिवासी समाज 32 प्रतिशत आरक्षण को यथावत रखने चरणबद्ध आंदोलन कर रहा है। एक याचिका की सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट ने 50 प्रतिशत से अधिक आरक्षण होने पर असंवैधानिक करार दिया था। उसके बाद प्रदेश सरकार ने अनुसूचित जनजाति का आरक्षण 12 प्रतिशत से घटाकर 20 प्रतिशत कर दिया है। इस निर्णय का ही आदिवासी समाज विरोध कर रहा है।

उरगा चौक पर चक्काजाम करते हुए आदिवासी समाज ने एकजुटता दिखाई । सड़क के चारों ओर पंडाल लगाकर बैठे रहे। पहली बार समाज की भीड़ की वजह से सड़क पर पैर रखने की जगह नहीं थी। पंडो, मांझी आदिवासी तीर धनुष के साथ आंदोलन में शामिल हुए । पूरे जिले से समाज के लोग पहुंचे थे। आंदोलन में सभी राजनैतिक दलों के जनप्रतिनिधि शामिल हुए। महिलाओं के साथ ही बूढ़े, बच्चे भी सड़क पर शाम तक बैठे रहे।

सर्व आदिवासी समाज के जिलाध्यक्ष सेवक राम मरावी ने कहा कि मांग पूरी नहीं हुई तो आगे 15 लाख आदिवासी रायपुर का घेराव करेंगे। आज के आंदोलन में 20 हजार से अधिक आदिवासी पहुंचे। उससे भी अधिक और आएंगे ।प्रदेश सरकार शीघ्र ही आरक्षण को यथावत रखने आदेश जारी करे। आंदोलन को लेकर एसडीएम सीमा पात्रे समेत बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात रहा।

आंदोलन में कांग्रेस -भाजपा के जनप्रतिनिधि एक मंच पर नजर आए
आंदोलन में कांग्रेस भाजपा के साथ कई दलों के जनप्रतिनिधि एक मंच पर नजर आए। रामपुर विधायक ननकीराम कंवर, पूर्व विधायक श्यामलाल कंवर, समाज प्रमुख बालाराम आर्मो, कौशल सिंह राज, रमेश सिरका भुवन सिंह ,अजय कंवर, छत्रपाल सिंह कंवर, बीएम धुर्वे, गेंद लाल, निर्मल राज व अन्य शामिल हुए।

परेशानी: 15 से 20 किमी घूमना पड़ा, लोग होते रहे परेशान
उरगा चौक पर सुबह 10 बजे से ही आर्थिक नाकेबंदी शुरू हो गई थी। यातायात पुलिस ने 5 किलोमीटर पहले भारी वाहनों को मानिकपुर मोड़, सरकबुंदिया, कुदुरमाल चौक और भैसमा में ही रोक दिया। कार ,बाइक और बस को डायवर्ट रोड से भेजा गया। चांपा की ओर से आने वाले लोग तिलकेजा , भैसमा और गोढ़ी होते हुए कोरबा पहुंचे। बिलासपुर की ओर से आने वाले वाहनों को सर्वमंगला नहर मार्ग आगे आवाजाही करनी पड़ी। लोगों को 15 से 20 किलोमीटर घूमना पड़ा।

आरक्षण को लेकर अध्यादेश लाएं ताे मैं उनके साथ: भाजपा विधायक
रामपुर विधायक व पूर्व गृह मंत्री ननकीराम कंवर का कहना है कि आरक्षण हमारा हक है इसे लेकर रहेंगे। अगर सरकार अध्यादेश लाती है, तो मैं सरकार के साथ हूं।