बड़ी खबर

कांग्रेस कार्यकर्ता आपस में भिड़े  विधायक सकुन्तला साहू ने की अपशब्दो का प्रयोग

कांग्रेस कार्यकर्ता आपस में भिड़े विधायक सकुन्तला साहू ने की अपशब्दो का प्रयोग

कांग्रेस के बागी राकेश बना अध्यक्ष , उपाध्यक्ष पर कांग्रेस की सरिता ठाकुर का कब्जा ,,

जनक समर्थक  विधायको पर कर देते हमला महिला विधायक को अश्लील गाली देते हुए करीब पहुँच गए थे प्रमोद दुबे ने किया बीच बचाव ,,

[जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव के लिए कांग्रेस पार्टी ने शेख अलीमुद्दीन को सर्वसम्मति से रायपुर राजीव भवन में गुरुवार देर रात उसके नाम पर मुहर लगा दी जिस पर राकेश वर्मा भी पार्टी आदेश पर सहमति दिया मगर जैसे ही बलौदा बाजार में शेख अलाउद्दीन की नाम का घोषणा पार्टी प्रवेच्छक

 द्वारा किया गया जिसके बाद वो अपना नामांकन दाखिल कर दिया इसी बीच राकेश वर्मा पार्टी से  बगावत करते हुए वो भी अध्यक्ष के लिए नामांकन दाखिल कर दिया जिस पर पार्टी नेताओं ने राकेश के पिता पूर्व विधायक जनकराम से पार्टी के निर्देशों का हवाला देते हुए उसके द्वारा राजीव भवन में सहमति की बात कही जिस पर जनकराम ने खर्च की राशि नही मिलने की बात कही गई जिस पर उनको तत्काल उसको कुछ रुपये दिया गया ।

 कांग्रेस पार्टी ने शेख अलीमुद्दीन के नाम की घोषणा करते ही राकेश  जनकराम वर्मा के समर्थक गोपी साहू  पार्षद पलारी ने विधायको को कांग्रेस का दलाल बोलते हुए नारे लगाने लगा जिसके बाद भीड़ के साथ सामने खड़े विधायक शकुन्तला साहू चंद्रदेव राय के करीब गंदी गंदी गाली देते हुए पहुँच गए जैसे महिला विधायक को अश्लील गाली देते रहे जिसे विधायक ने सुन लिया और जवाब में शकुंतला ने भी गालियां दी इस बीच विवाद बढ़ते देख प्रमोद दुबे ने बीच बचाव करते हुए जनक समर्थकों को वापस भेजा इतने में विधायक चंद्रदेव राय के समर्थक यूसुफ खान और साथी वहां पहुँच गए और गाली देने वाले गोपी साहू और समर्थकों को ढूढ़ने लगा मगर भीड़ में  आये विमल साहू को पकड़ लिया और पूरा गुस्सा उसके ऊपर उतार दिया जिससे उसका कपड़ा फट गया और गले का सोने का चेन भी टूट गया ।वही विधायक के समर्थकों के गुस्सा को देख विरोध कर रहे लोग भाग निकले ।

भाजपा नेताओं ने राकेश वर्मा और जनकराम  के खिलाफ  मुर्दाबाद के नारे लगाए 

कांग्रेस पार्टी से बागी लड़े राकेश और भाजपा के बीच एक एक सीट का समझौता हुआ था जिसमे उपाध्यक्ष बीजेपी के खाते में जाना था मगर ऐसा नही हुआ जनक राम ने कांग्रेस पार्टी के साथ साथ भाजपा को भी गच्चा  दे दिया और परमेश्वर यदु को अपना प्रत्याशी बना दिया जिससे कांग्रेस का अधीकृत प्रत्यासी सरिता ठाकुर 9 वोट पाकर जीत गई जबकि परमेश्वर यदु जो दो  दिन पहले के काग्रेस पार्टी में आया था फिर बागी हो गया जिसे 7 वोट मिला वही भाजपा के कविता अंनत  6 वोट मिला जिसे बाद भाजपा नेताओं का गुस्सा जनक वर्मा और उसके पुत्र राकेश पर फुट गया और जोरदार नारेबाजी करते मुर्दाबाद के नारे लगाए स्थिति की देखते हुए पुलिस ने भारी सुरक्षा में राकेश को बाहर निकाल कर ले गई

 वही पूरे घटनाक्रम में  मौजूद काग्रेस नेता प्रमोद दुबे का कहना है कि जब पार्टी से प्रत्याशी की घोषणा हुआ तो राकेश वर्मा के समर्थकों द्वारा विधायक को गाली देते हुए उसके करीब पहुँच गए जिसे स्थिति बिगड़ती देख मैंने दोनो पक्ष को शांत कराया वही कुछ लोग विधायको को गाली दे रहे थे जिसे में नही पहचानता जबकि  विधायक द्वारा किसी को  गाली देते हुए  में नही सुना हूँ ,

राज्य

टिकट चेकिंग अभियान में बिलासपुर मंडल ने बनाया नया रिकार्ड एक दिन में 10,71,645 रूपये वसूले गये

टिकट चेकिंग अभियान में बिलासपुर मंडल ने बनाया नया रिकार्ड एक दिन में 10,71,645 रूपये वसूले गये