छत्तीसगढ़

मातृत्व स्वास्थ्य कार्यक्रम के अंतर्गत ज्यादा से ज्यादा अस्पतालों का लक्ष्य सर्टिफिकेशन कराएं – टी.एस. सिंहदेव

Share this

स्वास्थ्य मंत्री ने जिला अस्पतालों में समय-समय पर पॉवर एवं फायर ऑडिट कराने के दिए निर्देश

श्री सिंहदेव ने स्वास्थ्य विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों, सीएमएचओ और डीपीएम के साथ विभागीय कार्यों तथा योजनाओं की समीक्षा की

रायपुर. 4 मार्च 2023

 स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री श्री टी.एस. सिंहदेव

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री श्री टी.एस. सिंहदेव ने आज वरिष्ठ विभागीय अधिकारियों, सभी जिलों के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियों तथा जिला कार्यक्रम प्रबंधकों के साथ मैराथन बैठक कर विभागीय कार्यों और योजनाओं की समीक्षा की। उन्होंने बैठक में मातृत्व स्वास्थ्य कार्यक्रम के अंतर्गत ज्यादा से ज्यादा अस्पतालों के लक्ष्य (LaKshya) सर्टिफिकेशन के निर्देश दिए। उन्होंने जिला अस्पतालों में समय-समय पर पॉवर एवं फायर ऑडिट कराने को कहा। बैठक में स्वास्थ्य विभाग द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं और कार्यक्रमों की जिलेवार समीक्षा की गई तथा इनके प्रभावी क्रियान्वयन के लिए आवश्यक निर्देश व सुझाव दिए गए।

 स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री श्री टी.एस. सिंहदेव

स्वास्थ्य मंत्री श्री टी.एस. सिंहदेव ने आज रायपुर के नवीन विश्राम भवन में दिनभर चली बैठक में मातृत्व स्वास्थ्य कार्यक्रम के तहत अधिक से अधिक शासकीय अस्पतालों के लक्ष्य सर्टिफिकेशन कराने और सभी योजनाओं व कार्यक्रमों से संबंधित डॉटा को पोर्टल में ही भरने के निर्देश दिए। उन्होंने ज्यादा जोखिम वाली गर्भवती महिलाओं की विशेष जांच व नियमित फ़ॉलो-अप के साथ जननी सुरक्षा कार्यक्रम के हितग्राहियों को प्रदान की जाने वाली राशि का भुगतान जल्द से जल्द करने को कहा। उन्होंने नर्सिंग होम एक्ट के अंतर्गत जिलों को प्राप्त आवेदनों के यथाशीघ्र निराकरण के निर्देश दिए। स्वास्थ्य विभाग के सचिव श्री प्रसन्ना आर., स्वास्थ्य सेवाओं के संचालक श्री भीम सिंह, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के संचालक श्री भोसकर विलास संदिपान, सीजीएमएससी के प्रबंध संचालक श्री चंद्रकांत वर्मा और महामारी नियंत्रण के संचालक डॉ. सुभाष मिश्रा भी बैठक में मौजूद थे।

 स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री श्री टी.एस. सिंहदेव

स्वास्थ्य विभाग के सचिव श्री प्रसन्ना आर. ने बैठक में मैदानी अधिकारियों को ग्राम स्वच्छता एवं पोषण दिवस (VHND) कार्यक्रम से जुड़ी समस्याओं को जल्दी दूर करने के निर्देश दिए। उन्होंने आयुष्मान भारत डॉ. खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना का लाभ ज्यादा से ज्यादा मरीजों तक पहुंचाने इसके रिजेक्शन की दर को कम करने को कहा। बैठक में राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अंतर्गत जिलों को विभिन्न मदों में दिए गए बजट के उपयोग की भी समीक्षा की गई। मिशन संचालक श्री भोसकर विलास संदिपान ने नियमानुसार पूरे बजट के उपयोग के निर्देश दिए।

बैठक में बच्चों के टीकाकरण को बढ़ाने, पीसीपीएनडीटी कार्यक्रम के अंतर्गत हुई बैठकों का विवरण राज्य पीसीपीएनडीटी शाखा को भेजने और जिला अस्पतालों में उपलब्ध कराई जा रही निःशुल्क डायलिसिस सेवा के व्यापक प्रचार-प्रसार के निर्देश दिए गए जिससे कि जरूरतमंदों को इसका लाभ मिल सके। शिशु स्वास्थ्य, परिवार कल्याण, क्षय (टीबी) उन्मूलन कार्यक्रम, कुष्ठ उन्मूलन कार्यक्रम, रेबीज़ नियंत्रण कार्यक्रम, शहरी स्वास्थ्य कार्यक्रम तथा आईडीएसपी (IDSP) के कार्यों की भी बैठक में समीक्षा की गई।