छत्तीसगढ़

महिला पर्यवेक्षक बनाने 7 लाख की धोखाधड़ी, आरोपी युवक गिरफ्तार

Share this

रायपुर। मंत्रालय में नौकरी लगाने के एवज में 7 लाख रूपए  की धोखाधड़ी करने वाले युवक को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पुलिस के मुताबिक युवक ने ,पीएससी के पूर्व अध्यक्ष टामन सिंह सोनवानी को अपना चाचा बताकर झांसे में लिया था। डीडी नगर गोल चौक निवासी शिखा जायसवाल ने यह रिपोर्ट दर्ज कराई है। पुलिस के मुताबिक  21 जुलाई 23 को विकास ठाकुर नाम के युवक ने डीडी नगर निवासी शिखा (26) को महिला बाल विकास विभाग में महिला पर्यवेक्षक की नौकरी लगाने का झांसा दिया। उसने स्वयं को पीएससी के पूर्व अध्यक्ष का भतीजा बताकर युवती को झांसा दिया।उसने युवती का विश्वास जीतने, पूर्व अध्यक्ष से हुई चैटिंग का स्क्रीन शॉट भी भेजा था।और बीते पांच महीनो में कई किश्तों में कुल सात लाख रूपए लिए।

इन्हें वह मंत्रालय के अफसरों, मंत्री और उनके निज सचिव, विशेष सहायक और अन्य संबंधितों को देने की बात कहकर अलग अलग महीने ,और डेट पर लिया। लेकिन नियुक्ति कराने में विफल रहा । इधर शिखा जब,जब रकम देती वह नियुक्ति आदेश का तगादा करती रही। कल जब उसने पुन नियुक्ति के संबंध में पूछताछ की तो विकास ने फिर टाला। शिखा ने झांसे में आने का आभास होने पर विकास के खिलाफ डीडी नगर थाने में 420 का मामला दर्ज कराया और पुलिस ने  विकास  को गिरफ्तार कर लिया है।