छत्तीसगढ़

डॉगी से भिड़कर अधेड़ ने बचाई मासूम की जान,खुद हो गए लहूलुहान

Share this

बिलासपुर 24 नवम्बर 2022: छत्तीसगढ़ के बिलासपुर के पॉश कॉलोनी में पालतू कुत्ते ने मासूम बच्चे को काटने के लिए दौड़ाया, जिसे देखकर कॉलोनी के अधेड़ बीमा कर्मी ने बच्चे को बचा लिया। लेकिन, डॉग ने उस पर हमला कर दिया, जिससे वे बुरी तरह घायल हो गए। मासूम बच्चा कॉलोनी के ही मजदूर का बेटा है, जो खेल रहा था। तभी कुत्ते ने उसे देखकर भौंकना शुरू कर दिया। मामले में पुलिस ने कुत्ते के मालिक पर केस दर्ज कर लिया है। मामला चकरभाठा थाना क्षेत्र का है।

रामावैली कॉलोनी निवासी सुरेश प्रेमानी (52) एलआईसी में काम करते हैं। घटना बीते रविवार की है जब दोपहर को जर्मन शेफर्ड डॉग मासूम बच्चे को देखकर भौंकने लगा और हमला करने की स्थिति में था। इस दौरान बच्चा चीख-चीखकर रोने लगा, जिसे देखकर वे दौड़ते हुए बच्चे को बचाने के लिए पहुंचे।

बच्चे की बच गई जान, पर अधेड़ पर कर दिया हमला

इस दौरान उन्होंने बच्चे को कुत्ते के हमले से बचा लिया। लेकिन डॉग ने सुरेश प्रेमानी पर हमला कर दिया। कुत्ते ने उन्हें कई जगहों पर काटकर जख्मी कर दिया। डॉगी के काटने से उनका हाथ लहूलुहान हो गया।

मालिक को दी समझाइश, तब उल्टा करने लगा विवाद

बताया जा रहा है कि कुत्ते का मालिक व्यापारी मुकेश अधीजा है। सुरेश प्रेमानी ने पालतू डॉग (जर्म शेफर्ड) को बांधकर रखने की समझाइश दी, तब वे उल्टा सुरेश प्रेमानी से भिड़ गए और विवाद करना शुरू कर दिया। इस पर उन्होंने मामले की शिकायत चकरभाठा थाने में की। उनकी रिपोर्ट पर पुलिस ने मुकेश अधीजा के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है।

प्रेमानी बोले- कॉलोनी में आवारा और पालतू कुत्तों का है आतंक

सुरेश प्रेमानी ने बताया कि कॉलोनी में आवारा कुत्तों के साथ ही पालतू डॉग का भी आतंक है। दरअसल, कॉलोनी में रहने वाले कुछ लोग कई महीनों से डॉगी को खुला छोड़ देते हैं। जर्मन शेफर्ड, डाबरमैन जैसे बड़े-बड़े कुत्ते कॉलोनी में खुला घूमते रहते हैं। उनके मालिक को मना करने पर विवाद करते हैं।