छत्तीसगढ़

CG में बिजली ऑफिस से 13 लाख की लूट , नशीली दवा छिड़ककर ऑपरेटर को किया बेहोश

Share this

बिलासपुर. दयालबंद बिजली ऑफिस से 13 लाख 33 हजार की लूट की घटना सामने आई है. हथियार के साथ आए 4 नकाबपोश लुटेरों ने घटना को अंजाम देकर फरार हो गया. जांच में पुलिस को अहम सुराग मिले हैं. सीसीटीवी में कैद हुए संदेहियों की तलाश जारी है. डॉग स्क्वायड के जरिये पकड़े गए कुछ संदेहियों को पुलिस हिरासत में लेकर पूछाताछ कर रही है

नकाबपोशों ने एटीपी ऑपरेटर वीरेंद्र सोनवानी पर नशीली दवा छिड़ककर उसे बेहोश किया और काउंटर पर रखे रुपए लेकर फरार हो गए. एटीपी ऑपरेटर पारिजात कॉलोनी का रहने वाला है. यह घटना सिटी कोतवाली थाना क्षेत्र की है. सूचना मिलते ही मौके पर पहुंचे पुलिस के आला अफसर नाकेबंदी कर आरोपियों की तलाश में जुटे हैं.

बता दें कि दयालबंद में सीएसईबी का सहायक अभियंता कार्यालय है, जहां बिजली बिल कलेक्शन का काम होता है. विभाग ने यहां बिजली बिल जमा करने के लिए एटीपी (ऑल टाइम पेमेंट) मशीन लगाया है. सोमवार देर शाम एटीपी ऑपरेटर विरेंद्र सोनवानी एटीपी मशीन में कलेक्ट हुए पैसे की काउंटिंग कर रहा था, इसी दौरान 4 अज्ञात हथियार बंद नकाबपोश वहां पहुंचे और उन्होंने स्प्रे छिड़ककर विरेंद्र को बेहोश कर दिया. इसके बाद नकाबपोश 13 लाख 33 हजार कै‍श लेकर फरार हो गए.

ऑपरेटर की माने तो नकाबपोश हाथ में चाकू रखे हुए थे. साथ ही उनका एक साथी बंदूक निकालने की बात कह रहा था. इधर घटना के बाद इलाके में हड़कंप मचा हुआ है. पुलिस और डॉग स्कवायड की टीम मौके पर पहुंची है. नाकेबंदी कर लुटेरों की तलाश की जा रही है.

संदेहियों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही पुलिस
जांच में पुलिस को अहम सुराग मिले हैं. सीसीटीवी में कैद हुए संदेहियों की तलाश जारी है. डॉग स्क्वायड के जरिये पकड़े गए कुछ संदेहियों को पुलिस हिरासत में लेकर पूछाताछ कर रही है. वारदात में मिले कुछ अहम सुराग के जरिये आरोपियों की तलाश जारी है. पुलिस का दावा जल्द आरोपी सलाखों के पीछे होंगे.