छत्तीसगढ़

धधकते हुए कोयले से भरे गड्ढे में गिरा ठेकाकर्मी,गंभीर रूप से झुलसे मजदूर की हुई मौत

Share this

कोरबा 1 दिसंबर 2022: कोरबा के SECL दीपका खदान में पाइप खींचते समय एक ठेकाकर्मी धधकते हुए कोयले से भरे गड्ढे में जा गिरा। हादसे में मजदूर गंभीर रूप से झुलस गया। सिम्स बिलासपुर में इलाज के दौरान बुधवार को मजदूर की मौत हो गई। मरने से पहले एग्जीक्यूटिव मजिस्ट्रेट ने उसका बयान दर्ज किया।

जानकारी के मुताबिक, SECL प्रबंधन ने दीपका खदान में कोयले के स्टॉक में लगने वाली आग को बुझाने का ठेका अरविंद कुमार नाम के ठेकेदार को दिया है। ठेकेदार के पास चैतमा निवासी परसराम (38 वर्ष) मजदूरी करता था। सोमवार को हर दिन की तरह सुबह भी वो काम पर गया हुआ था। परसराम कोयले में लगी आग को बुझाने के लिए पाइप खींच रहा था। इसी दौरान वो गड्ढे में जा गिरा। इस गड्ढे में पहले से ही कोयला धधक रहा था, जिससे परस गंभीर रूप से झुलस गया।

खबर मिलते ही ठेका कंपनी का मुंशी साहेब लाल मौके पर पहुंचा। उसने किसी तरह गंभीर रूप से झुलसे हुए मजदूर को इलाज के लिए स्थानीय अस्पताल में दाखिल कराया, जहां से उसे मेडिकल कॉलेज अस्पताल भेज दिया गया। इसकी सूचना मेमो के माध्यम से अस्पताल पुलिस को मिली। जिला अस्पताल चौकी प्रभारी रविंद्र कुमार जनार्दन ने बताया कि मामले की गंभीरता को देखते हुए अस्पताल पुलिस ने कार्यपालिक दंडाधिकारी को अवगत कराया। इसके बाद एग्जीक्यूटिव मजिस्ट्रेट ने अस्पताल पहुंचकर मजदूर का बयान दर्ज किया।

इसके कुछ ही देर बाद मजदूर को सघन उपचार के लिए सिम्स रेफर कर दिया गया। सिम्स में दो दिनों तक चले इलाज के बाद बुधवार को मजदूर की मौत हो गई। मृत मजदूर के शव का पोस्टमॉर्टम कराने के बाद उसे अंतिम संस्कार के लिए परिजनों को सौंप दिया गया। बता दें कि मजदूर के गंभीर रूप से झुलस जाने के बाद भी मामले की सूचना स्थानीय पुलिस को नहीं दी गई और इसमें लीपापोती की कोशिश की गई।