छत्तीसगढ़

13 लाख का 65 किलो गांजा जब्त,ओडिशा से महाराष्ट्र ले जाया जा रहा था माल, आरोपी गिरफ्तार

Share this

महासमुंद 24 नवम्बर 2022: महासमुंद जिले की कोमाखान पुलिस ने बुधवार को 13 लाख रुपए का 65 किलो गांजा जब्त किया है। गांजा ओडिशा से नागपुर (महाराष्ट्र) ले जाया जा रहा था। पुलिस ने एक आरोपी को भी गिरफ्तार कर लिा है, जो चेक पोस्ट पर पुलिस बल की तैनाती देखकर गाड़ी छोड़कर भाग रहा था। मामला कोमाखान थाना क्षेत्र का है।

आरोपी ने पुलिस को चकमा देने के लिए चारपहिया वाहन में गद्दे और तकिए के बीच गांजा छिपाकर रखा था। कोमाखान पुलिस ने बताया कि छत्तीसगढ़ के सीमावर्ती राज्य ओडिशा से लगातार अवैध धान और गांजे का परिवहन किया जा रहा है। पुलिस को मुखबिरों से सूचना मिली थी कि महासमुंद के रास्ते गांजा महाराष्ट्र ले जाया जा रहा है। पुलिस अधीक्षक भोजराम पटेल के निर्देश पर टीम ने नाके पर आरोपी को पकड़ने के लिए जाल बिछाया।

टेमरी नाके में चेकिंग करती हुई पुलिस को देखकर नीले रंग की टाटा इंट्रा वाहन क्रमांक टीएस 08 यूजे 3266 का चालक गाड़ी छोड़कर भागने लगा। जिसे खेतों में जाकर घेराबंदी कर पकड़ा गया।पूछताछ में उसने अपना नाम मोहम्मद राजिक मंसूरी पिंजारी (37 वर्ष) बताया। वो महाराष्ट्र के अमरावती थाना क्षेत्र नागपुरी गेट का रहने वाला है। आरोपी पुलिस पूछताछ के दौरान हर सवाल का गोलमोल जवाब देता रहा। जिसके बाद गाड़ी की तलाशी ली गई। गाड़ी में तकिये और गद्दे से पूरी भरी हुई थी। जिसे हटाने पर भूरे रंग के प्लास्टिक टेप से बंधा 13 पैकेट गांजा मिला।

तौल में इसका वजन 65 किलोग्राम और अनुमानित कीमत 13 लाख रुपए आंकी गई। पुलिस ने वाहन कीमत 3 लाख रुपये को भी जब्त कर लिया। आरोपी के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट की धारा 20 (बी) के तहत कार्रवाई करते हुए उसे न्यायिक हिरासत में भेजा गया। ओडिशा और छत्तीसगढ़ के सीमावर्ती क्षेत्र व राजकीय एवं राष्ट्रीय राज्य मार्गों पर पुलिस बल की तैनाती की गई है, ताकि मादक पदार्थों के अवैध परिवहन पर रोक लगाई जा सके।