छत्तीसगढ़बड़ी खबर

खुद को मुख्यमंत्री के करीबी कहने वाले भाटापारा के एक भी कांग्रेसी नेताओं को मंच में स्थान नही-शिवरतन शर्मा

Share this

भाटापारा :- भाटापारा विधानसभा में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के भेट मुलाकात कार्यक्रम में शामिल होने ग्राम कडार के लिए उपाध्यक्ष भाजपा, विधायक शिवरतन शर्मा के नेतृत्व में भाजपा कार्यालय से सैकड़ों की संख्या कार्यकर्ता नगर से होकर सभी जब बस स्टैंड चौक पहुंचे तो उन्हें प्रशासन द्वारा रोका दिया गया..

जिस पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए विधायक शिवरतन शर्मा ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का यह भेंट मुलाकात एक प्रायोजित कार्यक्रम था। जिसमें सभी पात्र पहले से तय थे।यह आयोजन आम जनता के लिए नहीं था सिर्फ सरकार के चाटुकार लोगो,,कांग्रेसियों और उनके द्वारा पोषित लोगों के लिए ही था। भाटापारा के कांग्रेसी नेताओ पर कटाक्ष करते हुए शर्मा ने कहा कि जो खुद प्रदेश कांग्रेस के पदाधिकारी एवं मुख्यमंत्री के करीबी बताते पूरे विधानसभा में घुमते है उनको भेट मुलाकात के मंच में भी स्थान नही दिया गया ये उन्हें खुद में आंकलन करने का विषय है,,और जनता अब समझ गई कि ये सभी भाटापारा विधानसभा कार्य 04 सालों में क्यों नही करवा पाए..

शर्मा ने आगे कहा कि अपने क्षेत्र की बात रखने मेरे साथ जा रहे सैकड़ों लोगो को बल पूर्वक रोका गया। उन्हें जबर्दस्ती घंटो बिठा कर थाने में रखा गया। प्रदेश कांग्रेस सरकार पर हमला करते हुए शर्मा ने कहा मुख्यमंत्री बघेल की भेंट मुलाकात कार्यक्रम का विरोध नहीं किया जा रहा है,अगर जनसंपर्क के लिए आए हैं तो जनप्रतिनिधियों की बात भी सुननी चाहिए। आखिरकार मुख्यमंत्री भूपेश बघेल इतने डरे हुए क्यों हैं.? कार्यक्रम स्थल में भी बाकी आम जन मानस माइक के लिए जब आगे बढ़े तो मुख्यमंत्री के नुमाइंदो द्वारा उन्हें फटकार लगा कर बैठा दिया गया..

शिवरतन शर्मा ने कहा कि शनिवार को मैंने मुख्यमंत्री से मीडिया के माध्यम से आग्रह किया था कि विधानसभा क्षेत्र के किसी भी व्यक्ति को भेट मुलाकात आयोजन में पहुंचने से न रोका जाए। साथ ही वर्ष 2018 में उनके एवं स्वर्गीय नन्दकुमार पटेल जी द्वारा भाटापारा को जिला बनने का वादा किया गया था उसे पूरा करने, भाजपा शासन में बजट में प्रस्तावित 100 बिस्तर अस्पताल जिसे कांग्रेस सरकार में विलोपित किया गया है उसे पुनः स्वीकृत करने, सिमगा उपकोषालय कार्यालय खोलने,भाटापारा में कन्या महाविद्यालय,मोपका, दामाखेड़ा में आत्मानन्द विद्यालय स्वीकृत करने, भाटापारा नगर पालिका में विभागीय मंत्री द्वारा 05 करोड़ एवं मुख्यमंत्री द्वारा हर पालिका को जो 05 करोड़ की राशि देने की बात कही गई जो आज पर्यन्त तक अप्राप्त है उसे जल्द देने,,एवं कांग्रेस के घोषणा पत्र में जो पूर्ण शराब बंदी की बात कही गई थी उसे माँ मावली की पावन भूमि से पूर्ण शराब बंदी की घोषणा कर पूरा करने की मांग रखी थी..

परंतु इन सब विषयो पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने न कुछ कहा, न कोई जवाब दिया। बल्कि जो इनडोर स्टेडियम भाजपा शासन काल से स्वीकृत है और जिसकी राशि कांग्रेस शाषित नगर पालिका में जमा है उसी कार्य का पुनः घोषणा कर मुख्यमंत्री जी वहां वही बटोर कर चलते बने.. विधायक शर्मा ने भेंट मुलाकात को मुख्यमंत्री की सरकारी नौटंकी बताई और कहा कि यह ज्यादा दिन नहीं चलने वाली है। छत्तीसगढ़ की जनता सरकार की चाल, चरित्र और चेहरे को पहचान चुकी है। बहरूपिया बनकर छत्तीसगढ़ को ठगने का उनका यह सिलसिला जल्द ही बंद होने वाला है।

उक्त कार्यक्रम में राकेश तिवारी, मोहन बांधे, सुनील यदु,महाबल बघेल,आनंद यादव,मानिन्दर गुम्बर,डब्लू ठाकुर,धनीराम साहू,योगेश अंनत, मथुरा यदु,देवक साहू,सतीश सोनी,पवन वर्मा,रोशन साहू,नन्दकिशोर अग्रवाल, आशिष जायसवाल, चंद्रमणि तिवारी,छोटू यादव,प्रमोद मोदी,गोलू देवांगन, आशिष टोडर,टिक्की वर्मा,अविनाश शर्मा,सतीश सोनी,सुरेश मिश्रा,सुरेश वर्मा,प्यारे रजक,चन्द्रप्रकास साहू, सहित बड़ी संख्या में विधानसभा से कार्यकर्ता उपस्थित थे…