छत्तीसगढ़भाटापारा

छत्तीसगढ़ की भूपेश बघेल सरकार, झांसे की सरकार:-शिवरतन शर्मा

Share this

भाटापारा-मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा प्रस्तुत बजट पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए भाजपा उपाध्यक्ष छत्तीसगढ़,विधायक भाटापारा ने कहा कि यह जनता के साथ विश्वासघात करने वाला बजट है। छत्तीसगढ़ की भूपेश बघेल की सरकार झांसे की सरकार है। विधायक शर्मा कहा कि कांग्रेस की इस सरकार ने लगातार झूठे वादे करके 51 महीनों तक राज कर लिया है। अब यह सरकार चली-चला कि बेला में हैं। ऐसे समय मे अब इनकी बातें विश्वास करने योग्य नहीं है। इस बजट में किसी भी वर्ग के लिए कुछ भी नया नहीं किया गया है। गांव,गरीब और किसानों को पुनः ठगने का काम भूपेश बघेल ने किया है। छत्तीसगढ़ के विकास के लिए बजट में कुछ भी नहीं दिया गया है। केवल ₹2500धान की कीमत वह भी केंद्र की मोदी सरकार के भरोसे दे देने से किसानों का भला नहीं होगा। किसानों को उचित समय मे बिजली सफ्लाई, खाद,पानी की भी आवश्यक पड़ती है जो यहा सरकार देने में विफल रही है। अगर गांव की सड़क नहीं बनेगी, गांव के अस्पताल नहीं बनेंगे, वहां डॉक्टर नहीं रहेंगे, स्कूल नहीं होंगे, सिंचाई के लिए खेतों तक पानी नहीं पहुंचेगा, तो कैसे गांव और गरीब किसान का उत्थान होगा।शिवरतन शर्मा ने कहा कि कांग्रेस की सरकार ने हाथ में गंगाजल लेकर शराबबंदी की बात की थी परंतु शराबबंदी के जिक्र ही कहीं नहीं है। पूरे प्रदेश को सरकार ने नशे का हब बना दिया है। सभी विभागों के आनिमित संविदा कर्मियों,दैनिक, वेतन भोगी कर्मचारियों का भी इस बजट में ध्यान नहीं रखा गया। पत्रकारों और महिलाओं की सुरक्षा को लेकर भी किसी तरह का प्रावधान इस बजट में नहीं दिखा। कर्ज के बोझ तले राज्य को दबाकर अब कांग्रेस सरकार जनता का भरोसा जीत लेंगे, इस गलतफहमी में न रहे। लोगों को इस बजट से बड़ी बड़ी उम्मीदें थी। परंतु इस भूपेश सरकार ने सभी की उम्मीदों पर पानी फेर दिया है।शिवरतन शर्मा ने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना जिसमें गरीब को पक्का मकान मिलना है उसके लिए भी इस राज्य सरकार के पास बजट नहीं है। यह सरकार सिर्फ और सिर्फ छलावा कर रही है।इस पूरे बजट में कृषि के लिए कुछ भी नहीं कहा गया। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इस बजट में प्रदेश के बेरोजगारों का मजाक उड़ाया है। 06 लाख तक की आय प्राप्त करने वाले परिवार को गरीबी रेखा के नीचे माना जाता था। परंतु बेरोजगारी भत्ता ज्यादा लोगों को ना देना पड़े इसलिए भूपेश बघेल सरकार ने ढाई लाख रुपए तक की आय वाले परिवार के बेरोजगारों युवाओं को ही बेरोजगारी भत्ता देने की बात कही है। यह बेरोजगारों के साथ सरासर अन्याय है।विधायक शर्मा ने कहा कि पिछले चार सालों से अनुकम्पा नियुक्ति की मांग को लेकर दिवंगत शिक्षकों के परिजन :-सीएम हाउस घेराव किये,,पुलिस से लड़े,,भूख-हड़ताल किये,,पेड़ के नीचे रात गुजारे,,आँखों में काली पट्टी बांधकर सरकार को जगाने का काम किये,,अंततः मुंडन तक करवा लिए,,,पर वाह रे निर्दयी भूपेश बघेल की सरकार, इनको न आँख से दिखाई दिया, न कान से सुनाई, क्योंकि सरकार झूठ पर टिकी सियासत में मस्त है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने लोकतंत्र के मंदिर विधानसभा में लगातार झूठ पर झूठ बोला है।यह झूठी सियासत ज्यादा दिन नहीं चलने वाली। जनता इस चुनाव में इसका करारा जवाब जरूर देगी!