छत्तीसगढ़

अविश्वास प्रस्ताव पारित होने बाद पद से हटाई गई कोलियारी सरपंच, जानिए क्या है पूरा मामला

Share this

अभनपुर। ग्राम पंचायत कोलियारी(लखना) की सरपंच ममता देवांगन के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पारित होने के बाद उन्हें पद से हटा दिया गया हैं. ग्राम पंचायत के पंचों ने एसडीएम अभनपुर जगन्नाथ वर्मा के समक्ष सरपंच देवांगन के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव के लिए आवेदन किया था. जिसे लेकर हुए मतदान में आज अविश्वास प्रस्ताव के पक्ष में 12 जबकि सरपंच ममता देवांगन के पक्ष में कुल 4 वोट पड़े. इसके बाद तहसीलदार ने सरपंच देवांगन को तत्काल प्रभाव से पद से अपदस्थ करते हुए उप सरपंच राजू यादव को कार्यवाहक सरपंच नियुक्त किया है.

जानकारी के मुताबिक, ममता देवांगन के खिलाफ पंचों ने आवेदन में तर्क दिया था कि वह सभी सरपंच ममता देवांगन के काम से असंतुष्ट हैं. पिछले 6 महीने से सरपंच ने किसी प्रकार की कोई मीटिंग नहीं बुलाई है. इसके अलावा ढाई साल से आय-व्यय की जानकारी भी उन्हें नहीं दी जा रही है. पंचगणों द्वारा सचिव और सरपंच से आय-व्यय की जानकारी बार-बार पूछने पर भी गोलमटोल जवाब दिया जाता है. पांचों ने ममता देवांगन पर पंचायत के विकास काम में बाधा पहुंचाने का भी आरोप लगाया था.

पंचों की शिकायत के बाद अभनपुर एसडीएम ने आवेदन पर अधिनियम के अनुसार कार्रवाई करते हुए अविश्वास प्रस्ताव पर मतदान के लिए आज यानि 4 दिसंबर सोमवार का दिन निर्धारित किया था. वहीं इसके लिए होने वाले मतदान के लिए गोबरा नवापारा के तहसीलदार सूरज बंछोर को पीठासीन अधिकारी नियुक्त किया था. इसके बाद अविश्वास प्रस्ताव पर आज हुए मतदान में अविश्वास प्रस्ताव के पक्ष में 12 जबकि सरपंच देवांगन के पक्ष में कुल 4 मत पड़े. इसके बाद पीठासीन अधिकारी तहसीलदार बंछोर द्वारा सरपंच देवांगन को तत्काल प्रभाव से पद से अपदस्थ करते हुए उपसरपंच राजू यादव को कार्यवाहक सरपंच नियुक्त किया गया है. अब सरपंच के खाली पद के लिए अगले 6 माह के भीतर उपचुनाव कराया जाएगा.