भाजपा ने जारी कि उम्मीदवारों की लिस्ट राजनांदगांव लोकसभा सीट से संतोष पांडे को बनाया गया लोकसभा का उम्मीदवार..   |   जांजगीर चापा- संदिग्ध अवस्था में मिली युवक की लाश हसौद थाना क्षेत्र मल्दा-डोमाडीह मार्ग कि घटना   |   राजनांदगांव ब्रेकिंग-- कांग्रेस ने की लोकसभा उम्मीदवार कि घोषणा, राजनांदगांव लोकसभा सीट से भोलाराम साहू को दिया टिकट..भोलाराम साहू खुज्जी के पूर्व विधायक..साहू वोटरों को साधने की कोशिश   |   समाचार या शिकायत के लिए BBN24 हेल्पलाइन नंबर 8358851367   |   अवैध शराब पर शिवरीनारायण पुलिस की कार्यवाही ,52 पाव देशी लाल शराब के साथ दो युवक गिरफ्तार   |   बीजापुर - 5 स्थायी वारंटी नक्सली गिरफ्तार।   |   राजनांदगांव ब्रेकिंग UPDATED --एक वर्दीधारी नक्सली महिला ढेर,कार्बन मशीन गन के साथ...   |   राजनांदगांव -- गातापार थाना क्षेत्र के भावे जगंल मे पुलिस नक्सली मुठभेड़..पिछले आधे घंटे से दोनों तरफ से रुक-रुक कर हो रही फायरिंग..   |   पानी में डूबने से हाथी की मौत , महासमुन्द के अछोला का मामला   |   डोंगरगढ़ थाना क्षेत्र के ग्राम कोलेन्द्रा में मां और बेटे की हत्या ,गांव मे दहशत का महौल   |  

 

ज्योतिष

Share
15-December-2018
Posted Date

बगलामुखी जयंती: ऐसे करें उपासना, शत्रु बाधा से मिलेगी मुक्ति

दस महाविद्या में आठवीं स्वरूप देवी बंगलामुखी का है. माता बंगलामुखी पीली आभा से युक्त हैं इसलिए इन्हें पीताम्बरा कहा जाता है. बंगलामुखी की पूजा में पीले रंग का विशेष महत्व है. बंगलामुखी जयंती 23 अप्रैल 2018 (सोमवार) को है. इनका प्राकट्य स्थान गुजरात का सौराष्ट्र में माना जाता है. मां बगलामुखी स्तंभन शक्ति की अधिष्ठात्री देवी हैं अर्थात यह अपने भक्तों के भय को दूर करके शत्रुओं और उनके बुरी शक्तियों का नाश करती हैं. इन्हें पीला रंग अति प्रिय है इसलिए इनके पूजन में पीले रंग की सामग्री का उपयोग सबसे ज्यादा होता है. माता बंगलामुखी की पूजा तंत्र विधि की पूजा होती है. इसलिए इनकी पूजा बिना किसी गुरु के निर्देशन में नहीं करनी चाहिए.

बंगलामुखी पूजा के नियम और सावधानियां

शास्त्रों के अनुसार माँ बंगलामुखी की पूजा शत्रु के नाश के लिए नहीं करनी चाहिए.

बंगलामुखी की पूजा में पीले आसन, पीले वस्त्र, पीले फल और पीले भोग का प्रयोग करना चाहिए.

माँ बंगलामुखी के मंत्र जाप के लिए हल्दी की माला का प्रयोग करना चाहिए.

इनकी पूजा के लिए उपयुक्त समय संध्याकाल या मध्यरात्रि मानी गई है.

बगलामुखी जयंती के दिन माँ बगलामुखी को दो गाँठ हल्दी अर्पित करें.माँ से शत्रु और विरोधियों के शांत हो जाने की प्रार्थना करें. एक हल्दी की गाँठ अपने पास रख लें. दूसरी गाँठ को जल में प्रवाहित कर दें.ऐसा करने से हर प्रकार के शत्रु बाधा से मुक्ति मिलती है.


ज्योतिष » More Photo

ज्योतिष » More Video

LEAVE A COMMENT