नयी दिल्ली- छत्तीसगढ़ में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा ने प्रत्याशियों के नामों का किया ऐलान   |   नई दिल्ली- छत्तीसगढ़ में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए बीजेपी ने अपने उम्मीदवारों के नाम का ऐलान थोड़ी देर में   |   गरियाबंद - सुपाडोंगर पहाड़ी पर चुनाव पूर्व नक्सलियों की धमक मुठभेड़ के बाद भाग खड़े हुए नक्सली, सामग्री जप्त   |   अमृतसर में बड़ा रेल हादसा - रावण दहन देख रहे लोगों पर चढ़ी ट्रेन, कई लोगों की मौत   |   रायपुर - पहले चरण के चुनाव के लिए कांग्रेस ने जारी की अपने 12 प्रत्याशियों की सूची   |   नई दिल्ली - विदेश राज्य मंत्री एमजे अकबर ने पद से इस्तीफा दिया अकबर पर लगे थे यौन शोषण के आरोप   |   रायपुर - मुख्यमंत्री ने सड़क हादसे में दस यात्रियों की मृत्यु पर गहरा दु:ख व्यक्त किया   |   रायपुर - छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने बुधवार को विधानसभा चुनाव 2018 के मद्देनजर पार्टी के स्टार प्रचारकों की सूची जारी की   |   रायपुर - 19 या 20 अक्टूबर को भाजपा जारी करेगी 70 से 75 उम्मीदवारों की लिस्ट….मुख्यमंत्री रमन सिंह ने दिये संकेत   |   बरीमाला: सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद आज खुलेगा सबरीमाला मंदिर, तनाव की स्थिति | दिल्ली पुलिस ने 5 स्टार होटल हयात के खिलाफ किया केस दर्ज | हरियाणाः हत्या के मामले में रामपाल को उम्रकैद की सजा | योगी कैबिनेट में प्रस्ताव पास, इलाहाबाद का नाम अब प्रयाग राज | पीएम मोदी ने तेल उत्पादक देशों के साथ साझेदारी का किया आह्वान | एएसईएम सम्मेलन में भाग लेने ब्रसेल्स जाएंगे उपराष्ट्रपति   |  

 

गैजेट्स

Share
11-July-2018
Posted Date

फेक न्यूज रोकने वॉट्सऐप पर इंडीकेटर फीचर की शुरुआत पता चलेगा कौन सा है फॉरवर्डेड मैसेज

मैसेजिंग ऐप वॉट्सऐप ने 'फॉरवर्ड मैसेज इंडीकेटर' फीचर की शुरुआत कर दी है. इस फीचर से अब किसी भी यूजर को यह पता लगाने में मदद मिलेगी कि उसे मिला हुआ मैसेज भेजने वाले ने जेनरेट किया है या किसी और के मैसेज को ही फॉरवर्ड किया गया है.

हाल के दिनों में सोशल मीडिया के जरिए देश में फेक न्यूज और अफवाहें फैलाने के कई मामले देखे गए. वॉट्सऐप भड़काऊ मैसेज और अफवाहें फैलाने को लेकर विवादों में घिरा हुआ है. इसके बाद वॉट्सऐप की ओर से मंगलवार को देशभर के प्रमुख अखबारों में पूरे पेज के विज्ञापन भी दिए गए थे.

कंपनी ने अपने नए फीचर को लेकर दुनिया भर में प्रेस रिलीज जारी की है. इसमें कहा गया है कि वॉट्सऐप यूजर को यह पता चल जाएगा कि कौन-कौन से मैसेज उसे फॉरवर्ड किए गए हैं. इससे यूजर को एक-दूसरे के साथ और वॉट्सऐप ग्रुप में बातचीत करने में आसानी होगी. हालांकि, अब भी यह सवाल बना हुआ है कि वॉट्सऐप के इस कदम से फेक न्यूज पर किस हद तक लगाम लगेगी.

हालांकि, इस नई सुविधा से यूजर को यह भी पता चलेगा कि उसके दोस्त या रिश्तेदार द्वारा भेजा गया मैसेज उन्होंने लिखकर भेजा है या कहीं और से आया है. इस फीचर के लिए यूजर को अपने स्मार्टफोन में वॉट्सऐप का अपडेटेड वर्जन रखना होगा.
 

कंपनी ने कहा, 'वॉट्सऐप आपकी सुरक्षा को लेकर काफी गंभीर है. हम आपको फॉरवर्ड किए गए मैसेज को शेयर करने से पहले एक बार सोचने की सलाह देते हैं. इसे फॉरवर्ड करने से बचने के लिए आप एक टच से स्पैम (गलत संदेश) की रिपोर्ट कर सकते हैं या मैसेज भेजने वाले शख्स को ब्लॉक कर सकते हैं.'
 

फेसबुक के स्वामित्व वाले वॉट्सऐप ने मंगलवार को अपने विज्ञापन में लोगों को झूठी खबरों से बचने की सलाह दी थी. इस विज्ञापन में वॉट्सऐप ने कहा है, 'हम सब मिलकर फेक न्यूज की समस्या को दूर कर सकते हैं. इसके लिए प्रौद्योगिकी कंपनियों, सरकार और सामुदायिक संगठनों को मिलकर काम करना होगा. अगर आपको कुछ ऐसा दिखाई देता है जो आपको लगता है कि सच नहीं है तो कृपया उसकी रिपोर्ट करें.'

इस विज्ञापन में वॉट्सऐप ने यूजर्स से अनुरोध किया है कि वे फॉरवर्ड किए गए मैसेज से सावधान रहें, परेशान करने वाली जानकारी पर खुद से सवाल उठाएं, जिस जानकारी पर यकीन करना मुश्किल हो उसकी जांच करें, मैसेज में मौजूद फोटो या वीडियो को ध्यान से देखें, लिंक की जांच करें और मैसेज को सोच समझकर ही शेयर करें.

 


गैजेट्स » More Photo

गैजेट्स » More Video

LEAVE A COMMENT