नयी दिल्ली- छत्तीसगढ़ में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा ने प्रत्याशियों के नामों का किया ऐलान   |   नई दिल्ली- छत्तीसगढ़ में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए बीजेपी ने अपने उम्मीदवारों के नाम का ऐलान थोड़ी देर में   |   गरियाबंद - सुपाडोंगर पहाड़ी पर चुनाव पूर्व नक्सलियों की धमक मुठभेड़ के बाद भाग खड़े हुए नक्सली, सामग्री जप्त   |   अमृतसर में बड़ा रेल हादसा - रावण दहन देख रहे लोगों पर चढ़ी ट्रेन, कई लोगों की मौत   |   रायपुर - पहले चरण के चुनाव के लिए कांग्रेस ने जारी की अपने 12 प्रत्याशियों की सूची   |   नई दिल्ली - विदेश राज्य मंत्री एमजे अकबर ने पद से इस्तीफा दिया अकबर पर लगे थे यौन शोषण के आरोप   |   रायपुर - मुख्यमंत्री ने सड़क हादसे में दस यात्रियों की मृत्यु पर गहरा दु:ख व्यक्त किया   |   रायपुर - छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने बुधवार को विधानसभा चुनाव 2018 के मद्देनजर पार्टी के स्टार प्रचारकों की सूची जारी की   |   रायपुर - 19 या 20 अक्टूबर को भाजपा जारी करेगी 70 से 75 उम्मीदवारों की लिस्ट….मुख्यमंत्री रमन सिंह ने दिये संकेत   |   बरीमाला: सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद आज खुलेगा सबरीमाला मंदिर, तनाव की स्थिति | दिल्ली पुलिस ने 5 स्टार होटल हयात के खिलाफ किया केस दर्ज | हरियाणाः हत्या के मामले में रामपाल को उम्रकैद की सजा | योगी कैबिनेट में प्रस्ताव पास, इलाहाबाद का नाम अब प्रयाग राज | पीएम मोदी ने तेल उत्पादक देशों के साथ साझेदारी का किया आह्वान | एएसईएम सम्मेलन में भाग लेने ब्रसेल्स जाएंगे उपराष्ट्रपति   |  

 

राजधानी

Share
13-September-2018
Posted Date

छत्तीसगढ़ सरकार बजट का 20 हजार करोड़ खर्च नहीं कर पाई : सीएजी

रायपुरः छत्तीसगढ़ के मुख्य महालेखाकार विजय कुमार मोहंती ने कहा कि सरकार वर्ष 2016-17 के कुल बजट में से 20 हजार करोड़ रुपये खर्च नहीं कर पाई। सरकार के वित्तीय हालत को बुधवार को विधानसभा के पटल पर रखने के बाद मोहंती ने कहा, "छत्तीसगढ़ की वित्तीय वर्ष 2016-17 में कुल आय 53685 करोड़ रुपये थी, जबकि खर्च 58 हजार करोड़ से ज्यादा हुआ." सीएजी ने छत्तीसगढ़ के वित्तीय असंतुलन को लेकर सरकार पर सवाल उठाए. इस वित्तीय वर्ष में कर के जरिए राज्य सरकार की आमदनी 18 हजार 945 करोड़ रुपये हुई, जबकि खनिज से 5 हजार 670 करोड़ रुपये का आय हुई। राज्य सरकार के 16 रिजर्व फंड में 4141 करोड़ रुपये पड़े हुए हैं, जिसका खर्च सरकार नहीं कर पाई है. उन्होंने कहा कि सरकार वित्तीय वर्ष 2016-17 में करीब 20,000 करोड़ का इस्तेमाल नहीं कर पाई जो बजट का 25 फीसदी के आसपास था. मोहंती ने बताया कि 1 हजार करोड़ की इलेक्ट्रिसिटी ड्यूटी भी सरकार वसूल करने में नाकाम रही । सरकार ने 8 सार्वजनिक उपक्रमों में करीब 7700 करोड़ निवेश किया है, लेकिन उसका लाभांश उसे नहीं मिल रहा है, सरकार ने इसके लिए प्रयास भी नहीं किया है. सीएजी की रिपोर्ट में बताया गया है कि राज्य सरकार ने 6 कंपनियों में 6778 करोड़ रुपये का निवेश तो किया, लेकिन उनसे कुछ हासिल नहीं कर पाई. बालोद के दंतेश्वरी शुगर मिल में 100 करोड़ रुपये का निवेश किया गया, लेकिन निवेश के अनुरूप सरकार को इसका लाभ ना के बराबर मिला। रिपोर्ट के अनुसार, सरकार ने बिजली कंपनी सीएसपीडीसीएल की करीब 2 हजार करोड़ के लोन की गारंटी ली थी, लेकिन उसे चुकाया कैसे जाएगा, इस पर शर्तों में जिक्र नहीं था, जो वित्तीय अपराध की श्रेणी में आता है।

राजधानी » More Photo

राजधानी » More Video

LEAVE A COMMENT