संजय शर्मा, प्रेसिडेंट, ए एन्ड ए बिजनेस कंसल्टिंग ने कहा एमएसएमई हमारे देश की जीडीपी में करीब 40 प्रतिशत का योगदान देती हैं और करीब 80 मिलियन लोगों को रोजगार देती हैं जो एक बड़ी संख्या हैl बिजनेस एन्टरप्रायजेस में, एमएसएमई पर विशेष ध्यान देने की ज़रूरत है।

ए एंड ए बिजनेस कंसल्टिंग एमएसएमई ऑन्त्रप्रेन्योर्स को अधिक सुनियोजित और बेस्ट प्रैक्टिसेस को लागू करने में सहायता करने के लिए काम करता है ताकि उनका आर्थिक विकास हो सके।

स्पीड फॉर बिजनेस तथा स्ट्रैटेजिक एलायंस इन बिजनेस नामक कंसल्टिंग प्रोग्राम के माध्यम से ए एंड ए बिजनेस कंसल्टिंग एमएसएमई ऑन्त्रप्रेन्योर्स को विकसित कर रहा है और उन्हें अपने व्यवसाय में सुधार करने में मदद कर रहा है। इस संबंध में श्री दरयानी ने आगे बताया कि, ए एंड ए बिजनेस कंसल्टिंग मानव संसाधनों को मजबूत बनाना, उत्पाद पर काम करना, ब्रांड धारणाओं में सुधार करना और एमएसएमई बिजनेस में प्रक्रियाओं और प्रणालियों को शुरू करने जैसे प्रमुख क्षेत्रों पर अपना ध्यान केंद्रित कर रहा है। इन पर काम करने के बाद वृद्धि और टर्नओवर अपने आप आ जाते है।

ए एन्ड ए  बिज़नेस कंसल्टिंग- क्षेत्रीय एमएसएमई सर्वेक्षण जुलाई 2018 क्षेत्रीय एमएसएमई की योजना, विकास और स्थिरता के मूल्यांकन पर एक अध्ययन मुख्य विशेषताएं:

1. सर्वेक्षण में छत्तीसगढ़ के विभिन्न उद्योगों को शामिल किया गया, जिनके टर्नओवर 5 करोड़ से 1000 करोड़ तक है। इन कंपनियों के कर्मचारियों की संख्या 10 कर्मचारीयों से ज्यादा है।

2. एमबीए के प्रथम वर्ष के छात्रों के सहयोग से जुलाई 2018 से अगस्त 2018 तक फील्डवर्क करवाया गया।

3. सर्वेक्षण में कृषि और उससे संबंधित व्यवसायों वाले संगठन शामिल नहीं थे।

4. इस सर्वेक्षण में 300 एमएसएमई ओनर्स का इंटरव्यू लिया गया जिसमें ऑब्जेक्टिव/सब्जेक्टिव प्रकार के प्रश्न थे। इसमें 25 प्रश्न एसएमई की चुनौतियों को समझने के लिए थे।

5. इस सर्वेक्षण में डाटा इकट्ठा करने और उसकी व्याख्या करने के लिए लगभग 25 एन्युमरेटर्स एवं सुपरवाइज़र्स शामिल थे।

मुख्य निष्कर्ष:

कोई मानव संसाधन प्रणाली और लिखित में नौकरी का विवरण न होना - 70% एमएसएमई इस बात से सहमत हैं कि संगठन में अच्छी प्रतिभा हासिल करने और बनाए रखने के लिए कोई मानव संसाधन विभाग नहीं है और न ही कर्मचारियों को उनकी नौकरी के बारे में समझाने के लिए कोई मजबूत प्रणाली है। 85% एमएसएम" />

नई दिल्ली - मुख्यमंत्री का नाम फाइनल दोपहर तक चार्टर प्लेन से रायपुर पहुंचेंगे कांग्रेसी दिग्गज, छत्तीसगढ़ आने के बाद तय होगा मुख्यमंत्री का नाम   |   नई दिल्ली - मुख्यमंत्री पद के सभी दावेदार पहुंचे राहुल गांधी के बंगले ताम्रध्वज,टी एस सिंहदेव भूपेश बघेल व महंत बंगले के अंदर तो शिव डहरिया, देवेंद्र यादव, जयसिंह अग्रवाल बंगले के बाहर है मौजूद   |   रायपुर - सार्वजनिक स्थान पर सरेआम शराब पीते गंज थाना पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार किया   |   रायपुर - मुजगहन थाना इलाके के ग्राम सिवनी में युवक से बिना किसी कारण गाली गलौज मारपीट का मामला सामने आया है   |   तेलंगाना: के. चंद्रशेखर राव ने ली मुख्यमंत्री पद की शपथ   |   रायपुर - कांग्रेस विधायक दल की बैठक खत्म, राहुल गांधी थोड़ी देर में करेंगे सीएम का फैसला   |   रायपुर - सत्ता पलट होते ही प्रशासनिक विभागों में मची खलबली, DSP की मौजूदगी में खुफिया विभाग ने जलाए कई अहम दस्तावेज   |   रायपुर - भूपेश बघेल के बंगले पर आपस में भिड़े समर्थक, जमकर हुई मारपीट   |   रायपुर दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के दुर्ग स्टेशन से प्रारंभ होने वाली ट्रेनों की सफाई के लिए आधुनिक, ’स्वचालित कोच वाशिंग प्लांट’की स्थापना जल्द   |   बलौदा बज़ार भाटापारा - कलेक्टर ने धान उठाव के कार्य में तेजी लाने के दिए निर्देश डीमओ को कहा ज्यादा से ज्यादा अब तक 1.98 लाख मीटरिक टन धान की हुई खरीदी   |  

 

व्यापार

Share
30-November-2018
Posted Date

ए एन्ड ए बिजनेस कंसल्टिंग ने आज अपने क्षेत्रीय एमएसएमई सर्वेक्षण के निष्कर्ष जारी किए

मुंबई: -भारत की सबसे तेजी से बढ़ती हुई बिजनेस कंसल्टिंग कंपनी ए एन्ड ए  बिजनेस कंसल्टिंग ने आज अपने क्षेत्रीय एमएसएमई सर्वेक्षण के निष्कर्ष जारी किए हैं। इस सर्वेक्षण में यह मूल्यांकन किया गया की ‘कैसे क्षेत्रीय एमएसएमई योजना बना कर विकास कर सकते हैं और स्थिरता बनाए रख सकते हैं?’

छत्तीसगढ़ की तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था में किए गए एक महीने के सर्वेक्षण में कुछ दिलचस्प आंकड़े सामने आए जिनमें गोल सेटिंग, नीतियों की जागरूकता, वित्तीय अनुकूलन और बहुत कुछ शामिल है।

आंकड़ों का विवरण करते हुए ए एन्ड ए बिजनेस कंसल्टिंग के मैनेजिंग डायरेक्टर, प्रवीण दरयानी, ने कहा - हमें डेटा और इसके विश्लेषण को साझा करने तथा एसएमई समुदाय के साथ आगे बढ़ते हुए ख़ुशी हो रही है। हमें पूरा भरोसा है कि यह अभ्यास अगली पीढ़ी के ऑन्त्रप्रेन्योर्स को उनके समस्याओं की पहचान करने, समाधान खोजने और उन्हें अपने व्यवसाय को बेहतर बनाने में मदद करेगा।

दरयानी ने 2009 में एक ऑन्त्रप्रेन्योर् कोच के रूप में अपनी यात्रा की शुरूआत की थी और 8000 से अधिक एमएसएमई ओनर्स को उन्होंने प्रशिक्षित किया है। उनकी सेल्स टीम ने कार्यक्रम के लिए पंजीकरण करने से पहले हर ऑन्त्रप्रेन्योर् के साथ उनकी चुनौतियों के बारे में विस्तृत चर्चा की है, और आज तक पंजीकृत सभी ऑन्त्रप्रेन्योर्स के क्वालिटेटिव डाटा लगभग 300 ऑन्त्रप्रेन्योर्स के क्वांटिटेटिव डाटा से समानता रखते हैं। यह पहली बार है जब हमने प्रोफेशनल्स की एक टीम नियुक्त कर यह सर्वेक्षण किया है। इसके परिणाम एमएसएमई को अपने व्यापार को अगले स्तर तक ले जाने में हमारी सहायता करेंगे।

इस संबंध में दरयानी ने आगे बताया की "आंकड़ों से पता चलता है कि 71% एमएसएमई को सरकार से कोई सब्सिडी नहीं मिली है और उन्होंने ऐसी किसी भी योजना के लिए आवेदन भी नहीं किया। इसका कारण सरकारी योजनाओं के सम्बन्ध मे कमी है एवं उनकी यह धारणा है कि इस योजना में आवेदन करने की प्रक्रिया जटिल होगी। दिलचस्प बात यह है कि दुनिया भर में भारत की ईज ऑफ़ डूइंग बिज़नस रैंकिंग में सुधार हुआ है, लेकिन ऐसा लगता है कि हमारे उद्दमीयों की योजनाओं के बारे में नकारात्मक या गलत धारणा है। सरकार को इस छवि को बदलने की जरूरत है।"

संजय शर्मा, प्रेसिडेंट, ए एन्ड ए बिजनेस कंसल्टिंग ने कहा एमएसएमई हमारे देश की जीडीपी में करीब 40 प्रतिशत का योगदान देती हैं और करीब 80 मिलियन लोगों को रोजगार देती हैं जो एक बड़ी संख्या हैl बिजनेस एन्टरप्रायजेस में, एमएसएमई पर विशेष ध्यान देने की ज़रूरत है।

ए एंड ए बिजनेस कंसल्टिंग एमएसएमई ऑन्त्रप्रेन्योर्स को अधिक सुनियोजित और बेस्ट प्रैक्टिसेस को लागू करने में सहायता करने के लिए काम करता है ताकि उनका आर्थिक विकास हो सके।

स्पीड फॉर बिजनेस तथा स्ट्रैटेजिक एलायंस इन बिजनेस नामक कंसल्टिंग प्रोग्राम के माध्यम से ए एंड ए बिजनेस कंसल्टिंग एमएसएमई ऑन्त्रप्रेन्योर्स को विकसित कर रहा है और उन्हें अपने व्यवसाय में सुधार करने में मदद कर रहा है। इस संबंध में श्री दरयानी ने आगे बताया कि, ए एंड ए बिजनेस कंसल्टिंग मानव संसाधनों को मजबूत बनाना, उत्पाद पर काम करना, ब्रांड धारणाओं में सुधार करना और एमएसएमई बिजनेस में प्रक्रियाओं और प्रणालियों को शुरू करने जैसे प्रमुख क्षेत्रों पर अपना ध्यान केंद्रित कर रहा है। इन पर काम करने के बाद वृद्धि और टर्नओवर अपने आप आ जाते है।

ए एन्ड ए  बिज़नेस कंसल्टिंग- क्षेत्रीय एमएसएमई सर्वेक्षण जुलाई 2018 क्षेत्रीय एमएसएमई की योजना, विकास और स्थिरता के मूल्यांकन पर एक अध्ययन मुख्य विशेषताएं:

1. सर्वेक्षण में छत्तीसगढ़ के विभिन्न उद्योगों को शामिल किया गया, जिनके टर्नओवर 5 करोड़ से 1000 करोड़ तक है। इन कंपनियों के कर्मचारियों की संख्या 10 कर्मचारीयों से ज्यादा है।

2. एमबीए के प्रथम वर्ष के छात्रों के सहयोग से जुलाई 2018 से अगस्त 2018 तक फील्डवर्क करवाया गया।

3. सर्वेक्षण में कृषि और उससे संबंधित व्यवसायों वाले संगठन शामिल नहीं थे।

4. इस सर्वेक्षण में 300 एमएसएमई ओनर्स का इंटरव्यू लिया गया जिसमें ऑब्जेक्टिव/सब्जेक्टिव प्रकार के प्रश्न थे। इसमें 25 प्रश्न एसएमई की चुनौतियों को समझने के लिए थे।

5. इस सर्वेक्षण में डाटा इकट्ठा करने और उसकी व्याख्या करने के लिए लगभग 25 एन्युमरेटर्स एवं सुपरवाइज़र्स शामिल थे।

मुख्य निष्कर्ष:

कोई मानव संसाधन प्रणाली और लिखित में नौकरी का विवरण न होना - 70% एमएसएमई इस बात से सहमत हैं कि संगठन में अच्छी प्रतिभा हासिल करने और बनाए रखने के लिए कोई मानव संसाधन विभाग नहीं है और न ही कर्मचारियों को उनकी नौकरी के बारे में समझाने के लिए कोई मजबूत प्रणाली है। 85% एमएसएम


व्यापार » More Photo

व्यापार » More Video

LEAVE A COMMENT