खेल

खेल मंत्री से मिले ’’खेलो इंडिया’’ के पदक विजेता खिलाड़ी

रायपुर 22 जनवरी 2019 खेल एवं युवा कल्याण मंत्री  उमेश पटेल से आज यहां मंत्रालय महानदी भवन में खेलों इंडिया प्रतियोगिता के पदक विजेता खिलाड़ियों ने मुलाकात की। खेल मंत्री ने खिलाड़ियों का उत्साहवर्धन किया और बेहतर प्रदर्शन करने हेतु शुभकामनाएं दी। मुलाकात करने वाले खिलाड़ियों में वेटलिफ्टर   रीना ठाकुर,  मोनिका धु्रव, कोच अनिता शिंदे शामिल हैं।  रीना ठाकुर ने खेलों इंडिया प्रतियोगिता के वेटलिफ्टी में रजत पदक जूनियर नेशनल लेवल पर कास्य पदक तथा ऑल इंडिया यूनिवार्सिटी स्तर पर कास्य पदक प्राप्त किया है। वेटलिफ्टर सुश्री मोनिका ध्रुव ने 19वें स्कूल नेशनल प्रतियोगिता में कास्य पदक प्राप्त की है। इनके कोच अनिता शिंदे को शहीद राजीव पाण्डेय सम्मान प्राप्त है।

साउथ एशोसियन ग्रेपलिंग चैम्पियन सिप भूटान में छतीससगढ़ के खिलाड़ियों ने 6 गोल्ड 4 सिल्वर पदक जीते

भाटापारा साउथ एशोसियन ग्रेपलिंग चैम्पियन सिप भूटान में छतीससगढ़ के खिलाड़ियों  ने 6 गोल्ड 4 सिल्वर पदक जीते  है जिसमे  अमरत्य वर्मा (स्वर्ण पदक )हर्षित कचवानी(स्वर्ण पदक ) प्रियांश यदु (स्वर्ण पदक ) अमन यादव (स्वर्ण पदक )  सक्षम मिश्रा (स्वर्ण पदक )  सचिन साहू (स्वर्ण पदक )  अमन जागड़े(रजत पदक 
) बलराम यादव (रजत पदक)  वंशविनायक सोनी (रजत पदक)  विभांशु मिश्रा (रजत पदक)  यह बच्चे  अलग अलग स्कूलों से है जिन्होंने अपने स्कूल सहित छत्तीसगढ़ का नाम रोशन किया है जिन स्कूल से बच्चे जीत हासिल किये है वह इस प्रकार है आधारशीला स्कूल 3  गोल्ड २ सिल्वर डी .ए.वि स्कूल 1 गोल्ड 1  सिलवर मयूर स्कूल 1 गोल्ड, गुरुकुल स्कूल  से 1 सिल्वर जीते गए|
 ग्रेपलिंग चैम्पियन शिप खेलने गए लिए नेपाल ,भूटान,जापान ,पाकिस्तान,श्रीलंका, अफगानिस्तान और इंडिया टीम ने भाग लिया जिसमे सर्वाधिक पदक छत्तीसग्रह टीम ने अर्जित किए| जिसका सर्वाधिक श्रेय टीम के कोच भीषम वर्मा ,शुभम तिवारी  ,मनीष जोगी , ट्विंकल देवांगन को जाता है जैसे ही आजाद हिन्द स्टेशन में पहुंची तो स्वागत करने वालो का उत्साह देखते  बना  स्वागत करने के लिए आधारशिला,गुरुकुल.मयूर.डी.ए वि स्कूलों के बच्चे बड़ी संख्या में उपस्थित थे भाटापारा शहर के खेल प्रेमी बच्चो के माता पिता एवं रिश्तेदार एवं ग्रेपलिंग एशोसियन के सदस्य सभी स्टेशन में स्वर्ण पदक एवं रजत पदक लेके आ रहे खिलाड़ियों के लिए उपस्थ्ति थे | जिसमे प्रमुख रूप से आधारशिला के डायरेक्टर राकेश इदवानी, डी.ए.वि के प्रिंसपल संतोष सिंग नगर पालिका अध्यक्ष मोहन बांधे ,ग्रेपलिंग एशोसियन को हमेशा सहयोग करने वाले सतीश अग्रवाल एवं ग्रेपलिंग  एशोसियन ऑफ़ छत्तीसगढ़ के अध्यक्ष  लक्ष्मीनारायण सोनी  उपाध्य्क्ष अमरजीत सलूजा  , कोषाअध्यक्ष सुभाष भटटर  , सचिव भीषम वर्मा सहसचिव शुभम तिवारी एवं भरत कचवानी, सदस्य मदन जागड़े ,मनोहर आर्य , योगेश नेताम , गणेषु  पाल   स्टेशन से बहार  निकलकर ग्रेपलिंग एशोसियन के द्वारा स्टेशन से बस स्टेण्ड तक विजय रैली निकाली गई |जिसमे  ग्रेपलिंग एशोसियन सदस्य , बच्चे, शिक्षक , माता पिता,नगर के गणमान्य लोग उपस्थित रहे |खिलाड़ियों के स्वागत में नगर के लोगो ने द्वारा खिलाड़ियों की  आरती की गई  एवं फुल माला से स्वागत किया गया | ढोल बाजो के साथ बच्चो  ने अपने विजेता खिलाडी का  नाम लेते हुए उत्साह का परिचय दिया ग्रेपलिंग एसोशियन के सदस्यों द्वारा देश के लिए मैडल एवं छत्तीसगढ़ का नाम रोशन करने  के लिए ग्रेपलिंग  एशोसियन ऑफ़ छत्तीसगढ़ के अध्यक्ष लक्ष्मीनारायण सोनी  उपाध्य्क्ष  अमरजीत सलूजा  , कोषाअध्यक्ष  सुभाष भटटर  , सचिव भीषम वर्मा सहसचिव शुभम तिवारी
खिलाड़ियों को आशीर्वाद एवं शुभकामनाये दी|

महक भारतीय टीम में चुनी जाने वाली मध्यप्रदेश की पहली खिलाड़ी

इंदौर की महक जैन को 17 साल की उम्र में एशिया ओसिनिया समूह-1 मुकाबले के लिए भारतीय महिला फेड कप टीम में शामिल किया गया है। डेली कॉलेज की 11वीं कक्षा की विद्यार्थी महक कम उम्र में ही राष्ट्रीय सीनियर चैंपियन बन चुकी हैं।


भारत ने फेड कप में पहली बार 1977 में हिस्सा लिया था। तब से अब तक 42 साल में इस प्रतिष्ठित स्पर्धा के लिए भारतीय टीम में शामिल होने वाली महक मध्यप्रदेश की पहली खिलाड़ी हैं। यह टूर्नामेंट फरवरी में कजाकिस्तान में खेला जाएगा। टीम में महक के अलावा अंकिता रैना और करमन कौर थांडी भी हैं, जो फिलहाल वर्ष के पहले ग्रैंड स्लैम ऑस्ट्रेलियन ओपन की तैयारियों में जुटी हैं। टीम में युगल विशेषज्ञ प्रार्थना थोंबरे और रिया भाटिया भी हैं।

-इन टीमों की चुनौती : टूर्नामेंट में भारत के अलावा चीन, इंडोनेशिया, कजाकिस्तान, द. कोरिया, थाइलैंड और पेसिफिक ओशियाना टीम हिस्सा लेगी। ड्रॉ 14 जनवरी को डाले जाएंगे।

-फेड कप का प्रारूप : 6 से 8 फरवरी तक राउंड रॉबिन मैच होंगे। पूल-ए में 3 जबकि पूल-बी में 4 टीमें होंगी। 9 फरवरी को प्ले-ऑफ मैच होंगे। प्रत्येक पूल के विजेता एक-दूसरे से खेलेंगे, जिससे यह तय होगा कि कौन सा देश विश्व समूह प्ले-ऑफ में शामिल होगा।

-महक इस प्रतिष्ठित टूर्नामेंट के लिए भारतीय टीम में शामिल होने वाली मप्र की पहली खिलाड़ी हैं। उनसे पहले सीनियर भारतीय टीम में कोई भी महिला या पुरुष खिलाड़ी शामिल नहीं हुआ है। 17 साल की उम्र होने से उन्हें सभी ग्रैंड स्लैम के जूनियर वर्ग में खेलने की पात्रता है, लेकिन पिछले एक साल से वे सिर्फ सीनियर वर्ग में ही चुनौती पेश कर रही हैं। महक ने आखिरी ग्रैंड स्लैम 2017 में यूएस ओपन के रूप में खेला था।

साइना नेहवाल और परूपल्ली कश्यप ने की शादी

नई दिल्ली. भारत के दो स्टार बैडमिंटन खिलाड़ी साइना नेहवाल और परूपल्ली कश्यप आज शादी के बंधन में बंध गए है. साइना नेहवाल और परूपल्ली कश्यप ने छोटे से पारिवारिक कार्यक्रम के बीच शादी कर ली.

साइना ने अपनी शादी की तस्वीर अपने ऑफिशियल इंस्टाग्राम अकाउंट पर पोस्ट की है. साइना ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर तस्वीर पोस्ट करके उसके साथ जस्टमैरेड हैशटैक देते हुए लिखा, ‘मेरे जीवन का सर्वश्रेष्ठ मैच.

गौर हो कि दोनों ने कुछ समय पहले अपने रिश्ते को लेकर खुलासा करते हुए शादी के लिए 16 दिसंबर की तारीख का ऐलान किया था. इन दोनो खिलाड़ियों के फैन्स इंतजार कर रहे थे कि शादी भव्य अंदाज में होगी, लेकिन साइना-कश्यप ने जो तस्वीरें सोशल मीडिया पर पोस्ट की हैं उसमें दोनों के आसपास कोई भी नजर नहीं आ रहा है.

आपको बता दें कि कुछ ही दिन पहले साइना नेहवाल ने कहा था कि, ’20 दिसंबर से मैं प्रीमियर बैडमिंटन लीग में व्यस्त हो जाऊंगी और उसके बाद टोक्यो गेम्स के लिए क्वालीफायर्स शुरु हो जाएंगे इसलिए 16 दिसंबर का ही दिन है जब हम शादी कर सकते हैं.’

हैदराबाद टेस्ट : संकट में घिरी वेस्टइंडीज

हैदराबाद,  -  भारतीय गेंदबाजों ने यहां राजीव गांधी अंतर्राष्ट्रीय स्टेडियम में खेले जा रहे दूसरे टेस्ट मैच के पहले दिन शुक्रवार को वेस्टइंडीज को संकट में डाल दिया है। टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी वेस्टंडीज ने चायकाल तक अपनी पहली पारी में 197 रनों पर ही अपने छह विकेट खो दिए हैं। दूसरे सत्र का खेल खत्म होने तक रोस्टन चेज 50 रन बनाकर नाबाद हैं। कप्तान जेसन होल्डर 10 रन बनाकर खेल रहे हैं।

पहले सत्र में 86 रनों पर ही अपने तीन विकेट खोने वाली विंडीज दूसरे सत्र में भी संभल नहीं पाई। उसने हालांकि इस सत्र में रन तो ज्यादा जोड़े, लेकिन विकेट बचा पाने में नाकामयाब रही।

दूसरे सत्र में आने के कुछ देर बाद ही उसने शिमरोन हेटमायरे (12) का विकेट खो दिया जिन्हें कुलदीप यादव ने अपना शिकार बनाया। युवा बल्लेबाज सुनील अम्ब्रीस (18) भी एक बार फिर प्रभावित करने में असफल रहे और कुलदीप का शिकार हो गए।

चेज और शेन डॉवरिच (30) ने टीम के संभालने की कोशिश की। दोनों ने छठे विकेट के लिए 69 रनों की साझेदारी की। विकेट न मिलता देख भारतीय कप्तान विराट कोहली ने उमेश यादव को गेंद थमाई और उन्होंने डॉवरिच को पवेलियन भेज भारत को छठी सफलता दिलाई।

चेज ने अभी तक अपनी पारी में 81 गेंदों का सामना किया है और चार चौकों के अलावा एक छक्का लगाया है।

इससे पहले, दिन के पहले सत्र में विंडीज को अच्छी शुरुआत मिलती दिख रही थी। क्रैग ब्रैथवेट (14) और केरन पावेल (22) की सलामी जोड़ी ने टीम के खाते में 32 रन डाल दिए थे, लेकिन रविचंद्रन अश्विन ने पावेल को आउट कर इस जोड़ी को ज्यादा आगे नहीं जाने दिया। 20 रन बाद ब्रैथवेट, कुलदीप की गेंद पर पगबाधा करार दे दिए गए।

पहला सत्र खत्म होने से कुछ देर पहले शाई होप (36) को उमेश यादव ने अपना शिकार बनाया।

भारत की तरफ से कुलदीप ने अभी तक तीन विकेट लिए हैं। उमेश यादव को दो और अश्विन को एक विकेट मिला। अपना पहला टेस्ट मैच खेल रहे शार्दूल ठाकुर 1.4 ओवर के बाद चोटिल होकर बाहर चले गए।

क्लस्टर खेलों में मेजबान को पहली सफलता गुरुकुल विद्यालय मैदान के अलावा शिवलाल मेहता स्कूल अम्बुजा विद्यापीठ, रवान के मैदानों में खिलाडी कर रहे है प्रदर्सन

भाटापारा-क्लस्टर प्रतियोगिता में  अब तक का सबसे रोमांचक मैच देखने को मिला है विभिन्न राज्यों से आए खिलाड़ियो ने अपना दम-ख़म दिखाते हुए अच्छे खेल का प्रदर्शन किया I जिसमें डी.पी.एस. ईटानगर, जैन इंटरनेशनल बिलासपुर, सेकेंडरी रेल्वे-2 बिलासपुर,एम. जी. एम. भिलाई तथा गुरुकुल विद्यालय भाटापारा ने रोमांचक खेल का प्रदर्शन करते हुए सफलता प्राप्त की I अभी तक सभी खिलाड़ियो का प्रदर्शन उत्कृष्ट रहा I
आज  सभी खिलाड़ी खेल का अभ्यास करते नज़र आए I सुबह 7 बजे से ही प्रतियोगितओं का सिलसिला प्रारंभ हो गया है  आज कुल 17 मैच खेले जाने है I जिसमे अभी तक  केरला, रेल्वे बिलासपुर, एम. जी. एम. भिलाई, जैन इंटरनेशनल बिलासपुर और के.पी.एस. ढूंडा‌‍ रायपुर के खिलाडियों ने उत्कृष्ट प्रदर्शन करते हुए सभी को विस्मित कर सफलता हासिल की I खेल के दौरान निर्णायकों(रैफरी) ने भी लगातार 7-8 मैचों में अपनी भूमिका को अभिव्यक्त किया I देर रात तक फ्लड लाइट मैचों  का भरपूर आनंद लिया जा सकता है I  
विभिन्न राज्यों से आए खिलाडियों का मनोबल बढ़ाने के लिए गुरुकुल विद्यालय के प्रबंधक समिति, शिक्षक-शिक्षिकाओ, अन्य स्टाफ व विद्यालय के छात्र भी पूरी सतर्कता एवं उत्साह के साथ कार्यरत हैं I सभी खिलाड़ी विद्यालय की प्रबंधन व्यवस्था एवं सहयोग से प्रसन्न नज़र आए I सभी टीमों के कोच और खिलाड़ियों ने सभी के कार्यो की सराहना की है 

भाटापारा में क्लस्टर प्रतियोगिताओं का हुआ भव्य शुभारम्भ

भाटापारा-गुरुकुल सीनियर सेकेंडरी स्कूल भाटापारा में आज क्लस्टर 1 और क्लस्टर 2 फुटबॉल प्रतियोगिता का बड़े ही हर्षौल्लास के साथ भव्य शुभारम्भ हुआ I इस दौरान कार्यक्रम के मुख्य अतिथि क्षेत्र के विधायक माननीय  शिवरतन शर्मा ने अपने कर कमलो द्वारा श्री गणेशजी व माँ भगवती के समक्ष दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम का श्रीगणेश किया I इस अवसर पर संस्था प्रमुख एवं विद्यालय के प्राचार्य, उप-प्राचार्य,समन्वयक अधिकारी के साथ-साथ प्रमोद शुक्ला ( सी.बी.एस.ई. के समन्वयक), अंबुजा विद्यापीठ के प्राचार्य  संजय कुमार पाण्डे उपस्थित रहे I उपस्थित सभी सम्माननीय जनों ने खिलाड़ियों का उत्साह वर्धन करते हुए कार्यक्रम को आगे बढ़ाया ी
 विद्यालय की छात्राओं ने  स्वागत गीत प्रस्तुत किया I उसके बाद सांस्कृतिक कार्यक्रमों का सिलसिला प्रारंभ हुआ तत्पश्चात विद्यालय के प्राचार्य ने सभी विद्यार्थियों का उत्साहवर्धन करते हुए संक्षिप्त भाषण प्रस्तुत किया I कार्यक्रम के मुख्य अतिथि ने झंडा वंदन किया तत्पश्चात सभी राज्यों से आए खिलाड़ियों ने मार्च पास्ट किया I  वही कार्यक्रम के मुख्य अतिथि  शिवरतन शर्मा ने  खेल प्रतियोगिता के शुभारम्भ की घोषणा करते हुए प्रतिभागियों को शपथ दिलाई गई I

अन्य सांस्कृतिक कार्यक्रमों के अंतर्गत देशभक्ति से परिपूर्ण नाटक एवं विभिन्न राज्यों की कला एवं संस्कृति से संबंधित नृत्य विद्यालय के छात्र और छात्राओं द्वारा प्रस्तुत किए गए I

आज कुल 15 मैच खेले जायेगे I कल के मैच सुबह 6 बजे से रात 8 बजे तक फ्लैट लाइट में होंगे I

गरियाबंद के अभय गरोड़कर ने पिस्टल प्रतियोगिता में दमदार प्रदर्शन करते हुए जीते 3 गोल्ड और 1 सिल्वर सहित जीते 4 पदक सहित जीते 4 पदक

गरियाबंद निवासी अभय गरोड़कर जो कि वर्तमान में छत्तीसगढ़ वॉलीबाल के कोच एवं रक्षित केंद्र रायपुर पुलिस विभाग में हेड कांस्टेबल के तौर पर अपनी सेवाएं दे रहे है पिछले 25 सालों से खेल से जुड़े हुए है और खेल के प्रति शुरू से ही जुनूनी रहे है पूर्व में नागपुर में सम्पन्न हुई यूथ नेशनल वॉलीबाल चेम्पियनशिप में रैफरी के तौर पर उत्कृष्ट प्रदर्शन करने पर बेस्ट रेफरी का अवार्ड भी मिला था वॉलीबाल प्लेयर और राष्ट्रीय रैफरी के तौर पर कई मर्तबा राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में अपने प्रदर्शन से राज्य और नेशनल स्तर पर पुलिस का नाम रोशन करने वाले इस खिलाड़ी ने वर्तमान में जिंदल स्टाइल एवं पवार लिमिटेड द्वारा माना में आयोजित पिस्टल प्रतियोगिता में 3 स्वर्ण और 1 सिल्वर पदक अपने नाम करते हुए एक बार फिर खेल के प्रति अपने जुनून का प्रदर्शन किया । बीते दिनों जिंदल स्टील एवं पावर लिमिटेड द्वारा 14 से 22 अगस्त आयोजित तक राज्य स्तरीय राइफल एवं पिस्टल प्रतियोगिता का आयोजन 4थी बटालियन माना स्थित रेंज में किया गया था उक्त चैंपियनशिप में राज्य भर के करीब ढाई सौ से अधिक प्रतिभागियों ने इस प्रतियोगिता के सीनियर , जूनियर , पुरुष ,महिला जैसे अलग अलग वर्ग में हिस्सा लिया था इसमें सर्विसेस की तरफ से 10 मीटर एयर पिस्टल की प्रतियोगिता में प्रथम स्थान प्राप्त करते हुए गोल्ड मेडल प्राप्त किया एवं 25 मीटर स्टैंडर्ड पिस्टल की एकल प्रतियोगिता में भी प्रथम स्थान प्राप्त करते हुए गोल्ड मेडल प्राप्त किया साथ ही 25 मीटर की सामूहिक एयर पिस्टल प्रतियोगिता में दूसरे स्थान पर रहते हुए सिल्वर मैडल प्राप्त किया  । इसके अलावा टीम इवेंट्स में भी गोल्ड मैडल प्राप्त किया इस प्रकार कुल 3 गोल्ड और 1 सिल्वर मेडल अपने नाम कर नगर के साथ ही राज्य का  नाम रोशन किया । इनके पिता के पी गरोड़कर ने अपने पुत्र की उपलब्धियों पर गर्व जताते हुए बताया कि अभय स्कूल के समय से ही खेलों के प्रति जुनूनी था और आज जिस मुकाम पर है वो उसकी सच्ची लगन और खेलों के प्रति ईमानदार प्रयास की बदौलत है एक पिता के तौर पर यह मेरे जीवन की सर्वश्रेष्ठ उपलब्धि है उम्मीद करूँगा की आगे भी इससे अच्छा प्रदर्शन कर राज्य और देश का नाम रोशन करे ।

भारतीय टीम ने तीसरे टेस्ट मैच में इंग्लैंड को 203 रनों से हराया

दिल्ली - भारतीय टीम ने तीसरे टेस्ट मैच में इंग्लैंड को 203 रन के विशाल अंतर से रौंद डाला। 5 टेस्ट मैच की सीरीज का तीसरा मैच नॉटिंघम के ट्रेंटब्रिज में खेला गया। 0-2 से पीछे चल रही  विराट सेना ने इस जीत के साथ ही भारतीय उम्मीदों को जिंदा रखा है। अश्विन ने पांचवें दिन के तीसरे ओवर की पांचवीं गेंद पर जेम्स एंडरसन (11) को अजिंक्य रहाणे के हाथों कैच करा भारत को जीत दिलाई।
टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी टीम इंडिया अपनी पहली पारी में 329 रन बनाकर ऑल आउट हो गई। जवाब में मेजबान इंग्लैंड की टीम अपनी पहली पारी में 161 रन पर ढेर हो गई। इस तरह भारत को पहली पारी के आधार पर 168 रनों की बढ़त हासिल हुई।
इसके बाद टीम इंडिया ने अपनी दूसरी पारी में 7 विकेट पर 352 रन बनाकर पारी घोषित कर दी और मेजबान इंग्लैंड के सामने जीत के लिए 521 रनों का विशाल लक्ष्य रखा। पहाड़ जैसे लक्ष्य का पीछा करने उतरी इंग्लैंड की टीम 317 रन पर सिमट गई। इसी के साथ भारतीय टीम ने यह मैच 203 रन से अपने नाम कर लिया।

इंग्लैंड की तरफ से जोस बटलर ने 176 गेंद की अपनी पारी में 21 चौकों की मदद से 106 रन बनाने के अलावा स्टोक्स (187 गेंद, 60 रन, छह चौके) के साथ पांचवें विकेट के लिए 169 रन की बड़ी साझेदारी भी की।
विराट कोहली को 'मैन ऑफ द मैच' से नवाजा गया।  पहली पारी में जहां वह 97 रन बनाकर शतक से चूके तो दूसरी पारी में उन्होंने 103 रन जड़ते ही करियर का 23वां शतक जड़ डाला। गेंदबाजी में भी भारतीय टीम का प्रदर्शन जबरदस्त रहा।

हार्दिक पांड्या ने 6 विकेट (पहली पारी में 5 विकेट, दूसरी में 1) चटके तो बुमराह ने 7 विकेट (पहली पारी में 2 विकेट, दूसरी में 5)लेते हुए भारत की जीत की इबारत लिखी। उनके अलावा ईशांत शर्मा,  रविचंद्रन अश्विन और मोहम्मद शमी ने अहम योगदान दिया।

फ्रांस की टीम ने फीफा विश्व कप 2018 का खिताब जीतकर रचा इतिहास

फ्रांस की टीम ने फीफा विश्व कप 2018 का खिताब जीतकर इतिहास रच दिया। फाइनल मुकाबले में फ्रांस ने क्रोएशिया को 4-2 से हराकर दूसरी बार विश्व कप की ट्रॉफी पर कब्जा जमाया। इससे पहले टीम ने 1998 में पहली बार विश्व कप जीता था। इस खिताब को जीतने के साथ ही फ्रांस ने विश्व कप के सूखे को भी खत्म कर दिया है। फाइनल मुकाबले में फ्रांस की किस्मत का भी अच्छा साथ मिला और पहले दो गोल उन्हें क्रोएशियाई टीम की गलती से मिले। फ्रांस की टीम ने पहले हाफ में 2 और फिर दूसरे हाफ में भी 2 गोल कर इतिहास रच दिया।

फाइनल मैच में फ्रांस की जीत के हीरो रहे एंटोइन ग्रीजमैन, कीलियन एमबाप्पे और पॉल पोग्बा। तीनों ही खिलाड़ियों ने 1-1 गोल किए और टीम को एक गोल क्रोएशियाई खिलाड़ी के आत्मघाती गोल की मदद से मिला। इस जीत के साथ ही फ्रांस दुनिया की छठी टीम बन गई है जिसने विश्व कप को 1 से ज्यादा बार जीता है। फाइनल मुकाबले की बात करें तो फ्रांस को पहला गोल क्रोएशिया के मारियो मैंडजुकिक के आत्मघाती गोल के जरिए मिला।

 
हालांकि इसके बाद क्रोएशिया के इवान पेरिसिक ने गोल कर अपनी टीम को बराबरी पर ला दिया। लेकिन हाफ टाइम से पहले क्रोएशियाई खिलाड़ियों ने पेनल्टी बॉक्स के अंदर गेंद पर हाथ लगा दिया। जिसके बाद वीएआर के जरिए फ्रांस को पेनल्टी मिल गई और ग्रीजमैन ने गोल करने में कोई गलती नहीं की। इसके बाद हाफ टाइम तक स्कोर 2-1 था और फ्रांस की टीम मुकाबले में आगे चल रही थी।

हाफ टाइम के बाद फ्रांस के खिलाड़ियों (पॉल पोग्बा और कीलियन एमबाप्पे) ने जल्दी-जल्दी 2 और गोल कर अपनी टीम की जीत तय कर दी। इन दो गोलों ने क्रोएशिया के पहले विश्व कप जीतने के सपने को चूर-चूर कर दिया था। हालांकि आखिरी लम्हों में मैंडजुकिक ने गोल कर क्रोएशिया की उम्मीदों को जिंदा करने की कोशिश की लेकिन फ्रांस के डिफेंस ने उन्हें वापसी का कोई मौका नहीं दिया और क्रोएशिया को फाइनल में 2-4 से हार का सामना करना पड़ा

Previous1234Next