राजनीति

अंतिम दिन भी बदले गए कांग्रेस के प्रत्याशी। पांच प्रत्याशियों की सूची फिर से जारी ,टिकट वितरण को लेकर भारी राजनीति। कांग्रेस के शीर्ष नेता आपस में भिड़े। नाराज और बागी नेताओं को मनाने का दौर जारी । पढ़े ये खास रिपोर्ट

A REPORT BY : अजीत मिश्रा ll बिलासपुर छत्तीसगढ़ ll छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस ने एक बार फिर अपने राजनीतिक परंपरा का निर्वाह किया है । चुनाव टिकट वितरण को लेकर यहां अंतिम दिन भी 5 कांग्रेसी नेताओं के टिकट काट दिए गए। वहीं उनकी जगह पर नए प्रत्याशियों की सूची जारी कर दी गई। इन सब के बावजूद कांग्रेस के शीर्ष नेता इसे पार्टी हित में बताने में लगे हुए हैं। हालांकि यह सभी जानते हैं कि दबाव और पसंद ना पसंद की राजनीति करने वाले कांग्रेसी नेता अक्सर ऐसा करते हैं।। छत्तीसगढ़ के नगरी निकाय चुनाव में संशोधित अनुमोदित सूची के अनुसार बिलासपुर के वार्ड क्रमांक 21 22 30 34 और 36 में रेखा काशी रात्रि की जगह सीमा घृतेश, हाजरा खान की जगह संगीता तिवारी,वही नगर का सबसे चर्चित वार्ड मुन्नूलाल शुक्ल वार्ड में दीपांशु श्रीवास्तव की जगह पुष्पा दुबे और संतोष गर्ग की जगह शैलेंद्र जयसवाल को मौका दिया गया है । संदीप बाजपाई की जगह लल्लू कश्यप को पार्टी ने अपना उम्मीदवार बनाया है। जैसे ही वार्डो में हुए फेरबदल की जानकारी इन प्रत्याशियों को लगी वी सीधे जिला कलेक्ट्रेट कार्यलय पहुँच कर विधयाक के पास बिफर पडे वार्ड नम्बर 30 के पहले उम्मीदवार कांग्रेस के दीपांशु श्रीवास्तव इस बदलाव को लेकर काफी नाराज दिखे और अपनी भड़ास नगर विधायक के सामने बोल पड़े।। इस बड़े फेरबदल के बावजूद प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री और वरिष्ठ नेता अटल श्रीवास्तव यह कहते थक नहीं रहे हैं कि यह पार्टी हित में लिया गया निर्णय है। इससे कांग्रेस को मजबूती मिलेगी और पार्टी ने पूरे डेकोरम को ध्यान में रखते हुए यह निर्णय लिया है । हालांकि पास ही खड़े कांग्रेस के ही विधायक शैलेश पांडये ने उनके सुर में सुर मिलाने से बेहतर अपनी बात बड़ी ही बेबाकी से रखी है हालांकि पार्टी फोरम और शिष्टाचार को ध्यान में रखते हुए दबी जुबान में शैलेश पांडे ने अपनी बात कहीं नाराज तो थी ही लेकिन मीडिया के सामने कुछ भी कहने से परहेज करते हुए विधायक शैलेश पांडये ने गोलमोल ही जवाब दिया।

छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के द्वारा नगरीय निकाय चुनाव घोषणा पत्र समिति की प्रथम बैठक राजीव भवन रायपुर में हुई संपन्न

छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के द्वारा नगरीय निकाय चुनाव घोषणा पत्र समिति की प्रथम बैठक राजीव भवन रायपुर में रखी गई थी ।जिसमें आम जनता से जुड़ी हुई मूलभूत सुविधाओं पर जोर दिया गया है सड़क नाली पेयजल बिजली के साथ इस बार मजदूरों के लिए भी विशेष कुछ इस घोषणा पत्र में शामिल किया जा सकता है।।इस बैठक में घोषणा पत्र समिति के अध्यक्ष शिव ड़हरीया प्रभारी महामंत्री गिरीश देवागन शैलेष नितिन त्रिवेदी किरणमयी नायक रामगोपाल अग्रवाल सुभाष शर्मा महेन्द्र छाबड़ा आनंद शुक्ला देवेन्द्र यादव प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव रविन्द्र सिंह व अजीत लकड़ा सहित समिति के अन्य सदस्य उपस्थित थे ।

बिलासपुर की नगर निगम में परिसीमन के बाद से वार्डो में हुए बदलाव , सामने आया नया राजनीतिक समीकरण ,बिलासपुर वार्ड नम्बर 22 से सीमा जुनेजा ने निर्दलीय के रूप में नामंकन भरा

बिलासपुर की नगर निगम में परिसीमन के बाद से वार्डो में हुए बदलाव के बाद एक नया राजनीतिक समीकरण सामने आया जिसके बाद से इस बार का निकाय चुनाव और रोमांचित हो गया है।।।जिसके बाद से राजनेतिक पार्टियों ने नए चेहरे सामने लाये है.।हम बात कर रहे है बिलासपुर वार्ड नम्बर 22 अम्बेडकर नगर वार्ड के नाम से जाना जाता है यह ऐसा वार्ड है जहाँ पर हमेशा से कांग्रेस पार्टी का ही कब्जा रहा है लेकिन परिसीमन के बाद से अब वार्ड का बदलाव हो गया जहाँ पर मतदाता और वार्ड की बढ़ोत्तरी भी हुई है।।इस वार्ड का पिछला जो कार्यकाल था उसमें कांग्रेस पार्टी को छोड़ कर निर्दलीय उम्मीदवारी करके वार्ड निकाय का चुनाव जीता था।।लेकिन कुछ दिन पहले बीजेपी में प्रवेश कर इस वार्ड को बीजेपी वार्ड में तब्दील कर दिया था।।लेकिन आरक्षण के बाद यह सामान्य महिला हो गया।।इसी कड़ी में इस वार्ड से सीमा जुनेजा जो बीजेपी के लिए एक अच्छी उम्मीदवार साबित हो सकती थी लेकिन एन वक्त में बीजेपी की गुटबाजी के चलते बीजेपी ने उनकी टिकट काट कर कुछ दिन पहले बीजेपी में शामिल हुए पार्षद की पत्नी को इस वार्ड से प्रत्याशी घोषित कर सब को चौका दिया है । लेकिन कई दिनों से जिस तरह से सीमा जुनेजा ने वार्ड को साथ मिलकर उनके लिए जो काम किये थे । उनमें भी बीजेपी के इस टिकट के वितरण को लेकर काफी नाराजगी है जिसको देखते हुए समर्थको की मांग और प्यार को देखते हुए सीमा जुनेजा ने निर्दलीय के रूप में नामंकन दाखिल कर इस सीट पर दावा ठोक दिया है ।वही कांग्रेस पार्टी ने इस महिला वार्ड में जिस महिला उम्मीदवार को मैदान में उतारी है वह भी रेलवे क्षेत्र की रहने वाली और इस वार्ड की नही हैपिछले बार हाजरा खान अपने ही रेलवे क्षेत्र के वार्ड से चुनाव हारी थी। साथ ही बाहरी प्रत्याशी के रूप में जनता कांग्रेस उम्मीदवारी को पसंद नही कर रही है वही वार्ड में कांग्रेस के कार्यकर्ता और इस पार्टी से जुड़े लोग पार्टी के द्वारा वार्ड में हाजरा खान को प्रत्यशि बनाये जाने के बाद नगर विधयाक के बंगले के घेराव कर अपना विरोध शुरू कर दिया है।। अपने वही सीमा जुनेजा ।इस वार्ड में जिस परिवार से यह गृहणी आती है उस परिवार का इस क्षेत्र में एक अच्छा दबदबा है और वार्ड की जनता से प्रत्यक्ष रूप से रूबरू है।।इनको अपने वार्ड और मोहल्ले में परिचय का मोहताज नही है।।समय समय पर जनता से जुड़े कई मुद्दों को लेकर मुखर होकर सामने भी आते रहे है। सभी आकंलन और परिस्थिति को देखते सीमा जुनेजा की छवि को देखते हुए इस बार बीजेपी और कांग्रेस की राह कठिन नजर आ रही है।

नगरीय निकाय चुनाव 2019 एन.एस.यू.आई ने जताया मुख्यमंत्री व् प्रदेश अध्यक्ष का आभार

रायपुर:- राजधानी में 3, प्रदेश में 30 छात्रनेताओं को दिया जनप्रतिनिधित्व का मौका, भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन छत्तीसगढ़ के प्रदेश प्रवक्ता तुषार गुहा ने विज्ञप्ति के माध्यम से बताया कि प्रदेश अध्यक्ष श्री आकाश शर्मा ने कांग्रेस पार्टी द्वारा नगरीय निकाय चुनाव 2019 में नगर पालिका निगम, नगर पालिका परिषद एवं नगर पंचायत में एन.एस.यू.आई पदाधिकारियों को प्रत्याशी बनाए जाने पर प्रदेश के यश्स्वी मुख्यमंत्री भूपेश बघेल एवं छत्तीसगढ़ कांग्रेस अध्यक्ष श्री मोहन मरकाम का आभार जताते हुए। समस्त चयनित प्रत्याशीयों को प्रचण्ड बहुमत से जिताने का वादा किया है।

शर्मा ने कहा कि यह चयन पिछले 5 वर्षो में एन.एस.यू.आई के संघार्षो का पर्याय है। वर्तमान मुख्यमंत्री व् कांग्रेस के विपक्ष दौर के तत्कालीन प्रदेश अध्यक्ष श्री भूपेश बघेल जी ने कोरिया से कोन्टा तक एन.एस.यू.आई के संघर्षो को स्वयं देखा हैं। इस चुनावी वर्ष से संगठनिक आंकड़ों के अनुसार एन.एस.यू.आई कार्यकर्ताओं को 30 से अधिक सिटों पर प्रत्याशी बनाया गया हैं। जो कि युवा पीढ़ी पर मुख्यमंत्री व् पी.सी.सी अध्यक्ष के विश्वास को दर्शाता हैं। आज तक छात्र नेताओं को महत्व किसी राजनितिक संगठन ने नही दिया हैं। इस निर्णय से संगठन व् पुरे सुबे के छात्रनेताओं के उत्साह का महौल बन गया हैं।

केवल राजधानी रायपुर मंे ही 3 सीटो पर प्रत्याशी बनाया गया हैं, जिसमें जिला कार्यकारी अध्यक्ष भक्कुराम कश्यप विनोद (69 माधवराव सप्रे वार्ड), कृष्णा सोनकर (66 वामानराव लाखे वार्ड), तुषार पाण्डेय (68 डाॅ. खुबचंद बघेल वार्ड) है। इसी प्रकार राजनांदगांव जिले में राजा यादव, ऋृषि शास्त्री, प्रियंक जैन, महासमुन्द से निखिलकांत साहु, रमीज़ रज़ा, रायगढ़ से उस्मान बेग, आरिफ हुसैन, सरगुजा संभाग से प्रतिक सिंह, सतिश बारी, नौशाद खान, विकल झा, अंकुर दास सहित पुरे प्रदेश के 30 छात्रनेताओं को पार्टी ने जनप्रतिनिधित्व का अवसर दिया हैं।

यही कारण हैं कि मैं सदैव गर्व से कहता हुॅु कि राजनिति में युवाओं को मौका केवल कांग्रेस ही देती हैं, छात्रनेताओं को सिधा जनप्रतिनिधि बनाना कांग्रेस पार्टी की पुारानी परंपरा हैं। प्रदेश के लिए ऐसे कई उदाहरण कांग्रेस देती आई हैं। यह नई बात नही कि प्रदेश के राजनितिक दलों ने अपने छात्र संगठनों के एक भी कार्यकर्ताओं को प्रतिनिधित्व के सक्षम भी नही समझा। छात्रसंघ चुनाव बड़े नेताओं के अनुसार और आमचुनाव स्वयं बड़े नेता ही लड़ते हैं। कांग्रेस पार्टी सदैव एन.एस.यू.आई को महत्व देती आई हैं।

चुनाव में एन.एस.यू.आई के प्रदेश पदाधिकारीयों को जिलावार जिम्मेदारिया सौंप दी गई हैं जो कि इस प्रकार हैं-

समस्त पदाधिकारीयों का जिलावार पदस्थ कर दिया गया हैं, जो कि कांग्रे्रस कमेटी संग समन्वय बनाकर क्षेत्रो में सरकार द्वारा किए छात्रहित के कार्यो को जनता के बीच रखेंगे।

महाविद्यालय के समस्त ईकाई नगरीय निकाय चुनाव में कांग्रेस की नितियों को छात्रो तक पहुॅंचा कर वोट अपील करेंगे।

जिला प्रभारीयों निर्देशित किया गया हैं कि वे जिले के समस्त कार्यकर्ताओं की कांग्रेस कमेटी के साथ बैठक करवाएं जिससे बेहतर समन्वय से कार्य होगा।

संगठन की सोशल मीडिया ईकाई को कांग्रेस आई.टी. सेल के अनुसार कार्य करने हेतु निर्देशित किया जा चुका हैं, चुनाव के दौरान यह कंाग्रेस सरकार द्वारा छात्र एवं युवा हित के कार्यो से जनता को अवगत करवा कर वोट अपील करेंगे

ब्लाॅक व् वार्ड के कार्यकर्ताओं को डोर टु डोर कैंपेनिंग की जिम्मेदारी दी गयी हैं जिस कार्य का निरक्षण विधानसभा कमेटी करेगी।

पदाधिकारीयों को चुनाव के दौरान प्रभार क्षेत्रों में रहने का निर्देश दिया गया हैं।

चुनाव के दौरान प्रदेश मुख्यालय से निर्देश व् समन्वय हेतु प्रदेश संगठन सचिव को जिम्मेदारी दी गई हैं, जो कि इन निर्देशों को प्रदेश के समस्त जिला प्रभारी/अध्यक्ष तक पहुचाने एवं पी.सी.सी व् एन.एस.यू.आई के बीच समन्वय का कार्य करेंगे।

एन.एस.यू.आई के मीडिया विभाग को पी.सी.सी के साथ कार्य करने को निर्देशीत किया है, प्रदेश मीडिया विभाग के मुख्य एवं अन्य प्रवक्ता, पुर्ण चुनाव में राजीव भवन रायपुर से रहकर मीडिया के माध्यम से कांग्रेस के विचार रखेंगे।

युवा कांग्रेस विधानसभा अध्यक्ष अविनाश साहू ने दिया इस्तीफा

अकलतरा :- अकलतरा विधानसभा युवा कांग्रेस के अध्यक्ष अविनाश साहू ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। अविनाश साहू ने कहा कि वे विगत 11 वर्षों से पार्टी में सक्रिय रहकर सेवा करते आ रहा है और विगत 09 वर्षों से विधानसभा युवा कांग्रेस की जिम्मेदारी को संभाल रहा है । उसके बाद अनर्गल आरोप लगाकर मुझे पार्षद के टिकट से वंचित कर दिया गया, जिससे मैं बहुत ही ज्यादा व्यथित होकर अपने पद से इस्तीफा दे रहा हूं। मैंने अपना इस्तीफा छत्तीसगढ़ प्रदेश युवा कांग्रेस के अध्यक्ष पूर्णचंद्र कोको पाढ़ी एवं जाँजगीर चांपा जिला युवा कांग्रेस के अध्यक्ष चंद्र मौली प्रिंस शर्मा को भेज दिया है और कहा कि मुझे कांग्रेस पार्टी से कोई शिकवा शिकायत नहीं है। साथ ही निर्दलीय चुनाव लड़ने के लिए नामांकन दाखिल किया।

भाटापारा नगर पालिका परिषद के 31 वार्डों के लिए कांग्रेस ने जारी की सूची जोगी कांग्रेस से आए हुए कार्यकर्ताओ को भी मिला मौका देखे सूची

भाटापारा निकाय चुनाव को लेकर कांग्रेस ने देरा रात भाटापारा नगर पालिका परिषद के लिए प्रत्याशियों की सूची जारी कर दी है । भारी गुटबाजी वा तीतर बितर हुए कांग्रेस को समेटने के चलते सूची जारी करने में काफी वक्त लगा आखिर में देर रात 31 वार्डों के लिए सूची जारी की है। कुछ वार्डों में नए चेहरों को जगह दी गई है। वही जोगी कांग्रेस से कांग्रेस में शामिल हुए कार्यकर्ताओ को भी पार्टी ने प्रत्याशी बनाया है

जिला हाॅस्पिटल में अव्यवस्था की जांच के लिए टीम गठित विधायक के निरीक्षण के बाद हरकत में आया प्रशासन

महासमुंद। जिला हाॅस्पिटल में अव्यवस्था की जांच के लिए जिला प्रशासन ने जांच टीम गठित की है। अफसरों की यह टीम 20 नवंबर तक अपनी जांच प्रतिवेदन प्रस्तुत करेंगे। गौरतलब है कि पिछले दिनों विधायक विनोद सेवनलाल चंद्राकर ने जिला हाॅस्पिटल का निरीक्षण किया था। निरीक्षण में जिला हास्पिटल में डाॅक्टरों की मनमानी का खुलासा हुआ था। 21 डाॅक्टरों के स्टाफ वाले इस हाॅस्पिटल में मात्र दो चिकित्सक ही निर्धारित समय पर मौजूद मिले। डाॅक्टरों के कुछ चैंबर खाली तो कुछ लाॅक रहे। जिस पर नाराजगी जताते हुए विधायक श्री चंद्राकर ने आवश्यक कार्रवाई के लिए न केवल सीएमएचओ को निर्देशित किया था बल्कि जिला प्रशासन को पत्र लिखकर जांच कर कार्रवाई की बात कही थी। जिस पर जिला प्रशासन ने जिला हाॅस्पिटल में व्याप्त अव्यवस्था की जांच के लिए अफसरों की जांच टीम गठित की है। जिसमें अनुविभागीय अधिकारी राजस्व सुनील कुमार चंद्रवंशी, डिप्टी कलेक्टर डा नेहा कपूर व महिला बाल विकास विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी सुधाकर बोदले शामिल हैं। जांच टीम 20 नवंबर तक संयुक्त रूप से जांच कर प्रतिवेदन प्रस्तुत करेंगे। बाक्स निरीक्षण के लिए डिप्टी कलेक्टर की डयूटी जिला हाॅस्पिटल में व्यवस्था में सुधार के लिए जिला प्रशासन ने नियमित रूप से निरीक्षण के लिए डिप्टी कलेक्टर डाॅ नेहा कपूर को अधिकृत किया है। विधायक श्री चंद्राकर की शिकायत के बाद कलेक्टर के निर्देश पर अपर कलेक्टर ने डाॅ कपूर को इसके लिए अधिकृत करते हुए जिला हाॅस्पिटल का प्रतिदिन निरीक्षण करते हुए चिकित्सक-कर्मचारियों की समय पर उपस्थिति व मरीजों के प्रति उनके व्यवहार को लेकर प्रतिवेदन देने कहा है। बाक्स सुबह आठ बजे उपस्थित रहेंगे चिकित्सक जिला हाॅस्पिटल में अब डयूटीरत चिकित्सक सुबह आठ बजे उपस्थित रहेंगे। विधायक श्री चंद्राकर ने निरीक्षण के दौरान डाॅक्टरों की उपस्थिति को लेकर शासन के निर्देशों का पालन नहीं होने पर नाराजगी जताते हुए नियमों का पालन करने के निर्देश दिए थे। जिस पर सिविल सर्जन ने जिला हाॅस्पिटल के सभी चिकित्सकों को पत्र जारी कर अंतिम चेतावनी देते हुए अपनी डयूटी के दिन सुबह आठ बजे उपस्थित होने कहा है। समय पर उपस्थित नहीं होने पर अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी। सिविल सर्जन ने अपने पत्र में बताया है कि डाॅक्टरों के समय पर अनुपस्थिति को लेकर लगातार शिकायत मिल रही है। जिस पर डाॅक्टरों को अंतिम चेतावनी दी जा रही है। बाक्स साफ-सफाई के लिए नर्सिंग इंचार्ज को निर्देश विधायक श्री चंद्राकर के निरीक्षण के दौरान हाॅस्पिटल के वार्ड में साफ-सफाई में कमी पाई गई थी। साथ ही मरीजों के बिस्तर में दिन के आधार पर अलग-अलग कलर के बेडशीट नहीं थे। जिस पर सिविल सर्जन ने सभी नर्सिंग इंचार्ज को अंतिम चेतावनी देते हुए उक्त कृत्य की पुनरावृत्ति नहीं होने पत्र लिखा है। कार्य में उदासीनता बरते जाने पर अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी।

भाजपा किसान हित में आंदोलन करें यह अच्छी बात है - कांग्रेस

छत्तीसगढ़ के किसानों के धान से बना 32 लाख टन चांवल सेन्ट्रल पूल में खरीदने की मांग केन्द्र सरकार से भी करें भाजपा

मोदी के 1815 रू. और भूपेश बघेल के 2500 रू. का अंतर समझते है छत्तीसगढ़ के किसान

रायपुर/14 नवंबर 2019। भाजपा द्वारा किसान हित में आंदोलन की घोषणा पर कांग्रेस ने कहा है कि राज्य की सरकार तो 2500 रू. में खरीदी कर ही रही है। भाजपा को आंदोलन करना है तो अपने मांग पत्र में केन्द्र सरकार से मांग करें कि छत्तीसगढ़ के किसानों के धान से बना चांवल सेन्ट्रल पूल में खरीदा जाये। प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने भाजपा नेताओं से आव्हान किया है कि किसानों की समस्याओं के लिये आंदोलन राज्य में भी करें और हमारे साथ दिल्ली भी चलें। समस्या तो दिल्ली सरकार ने पैदा की है।

प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि भाजपा किसान हित में आंदोलन करें यह अच्छी बात है। छत्तीसगढ़ के किसिनों के धान से बना 32 लाख टन चांवल सेन्ट्रल पूल में खरीदने की मांग भाजपा केन्द्र सरकार से भी करें। छत्तीसगढ़ की धरती पर बने एफसीआई के गोदामों में छत्तीसगढ़ की माटी से उपजे धान से बना चावल नहीं रखा जाएगा तो और क्या रखा जाएगा। पूरे देश में चावल केंद्र सरकार 32 रू. 50 पैसे प्रति किलो की दर पर लेती है। छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा 1815 रू. की जगह 2500 रू. देने के कारण न तो किसी भी प्रकार की अतिरिक्त राशि की मांग केंद्र सरकार से की गई है और न ही की जाएगी। छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा इस वर्ष 32 लाख टन चावल की खरीदी हेतु केंद्र सरकार से आग्रह किया गया।

प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि किसानो से धोखाधड़ी कांग्रेस का नहीं भाजपा का चरित्र है। भाजपा जब सरकार में थी तब तो भाजपा ने वायदा कर के किसानों को धोखाधड़ी के अलावा और कुछ भी नहीं दिया। रमन सिंह जी ने कहा था कि 5 हॉर्स पावर पंपों की मुफ्त बिजली दी जाएगी। रमन सिंह जी ने कहा था कि एक-एक दाना किसान की धान की खरीद होगी। रमन सिंह जी ने कहा था कि 2100 रु. का धान का समर्थन मूल्य देंगे और 300 रू. बोनस 5 साल तक देंगे। एक भी वादा न पूरा करने वाले रमन सिंह जी और भाजपा को एक-एक वादा पूरा करने वाली कांग्रेस सरकार के मुखिया भूपेश बघेल पर झूठे और निराधार आरोप लगाने का कोई नैतिक अधिकार नहीं है।

प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि छत्तीसगढ़ के किसान मोदी के 1815 रू. और भूपेश बघेल के 2500 रू. का अंतर समझते है । भाजपा नेताओं को याद दिलाते है कि भूपेश बघेल की सरकार में इन पंजीकृत किसानों की संख्या 16.5 लाख से बढ़कर 19 लाख होने के बावजूद किसानों के पंजीकरण की तिथी को मंत्रीमंडल की बैठक में फैसला लेकर 7 दिनों के लिये और बढ़ाया गया है। यह भूपेश बघेल सरकार के किसानों के प्रति समर्पण का जीता-जागता सबूत है।

अकलतरा क्षेत्र के पूर्व विधायक चुन्नीलाल साहू किए गए प्राभारी नियुक्त

कोटमी सोनार। छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी द्वारा नगरीय निकाय चुनाव को लेकर प्राभारी नियुक्त किया गया है। कोरिया जिले के चिरमिरी नगर निगम के लिए अकलतरा विधान सभा के पूर्व विधायक श्री चुन्नीलाल साहू जी को प्राभारी नियुक्त किया गया है ।अकलतरा क्षेत्र के कांग्रेस कार्यकताओ में ख़ुशी की लहर है ।

सरकार को जल्द से जल्द करना चाहिए शिक्षाकर्मियों का संविलियन - विधायक शिवरतन शर्मा

प्रदेश में शिक्षाकर्मी अपने संविलियन की मांग को लेकर संविलियन अधिकार मंच के बैनर तले प्रदेश संयोजक विवेक दुबे की अगुवाई में और जिला अध्यक्षों के नेतृत्व में सभी 90 विधानसभा के विधायकों को ज्ञापन सौंपकर अपनी संविलियन की गुहार लगा रहे हैं इसी कड़ी में संविलियन अधिकार मंच के प्रतिनिधि मंडल ने बलौदा बाजार- भाटापारा विधानसभा क्षेत्र के विधायक शिवरतन शर्मा से मुलाकात की और उन से निवेदन किया की क्षेत्र के जनप्रतिनिधि होने के नाते संविलियन की मांग को लेकर आप भी आवाज उठाएं । शिक्षाकर्मियों ने विधायक शिवरतन शर्मा को बताया कि 8 वर्ष की सेवा बंधन पूर्ववर्ती सरकार द्वारा लागू किए जाने के चलते वह सभी संविलियन से वंचित हो गए हैं और अब उन्हें न तो समय पर वेतन मिलता है, न ही 3 साल से महंगाई भत्ता मिला है और न ही उनके लिए कोई स्थानांतरण नीति बनाई गई , ऐसे में उनका संविलियन ही एकमात्र रास्ता है जिससे यह पूरी व्यवस्था सुधर सकती है और यह कांग्रेस पार्टी के जनघोषणा पत्र में भी शामिल है । विधानसभा के सदस्य होने के नाते आप भी इसके लिए प्रदेश के मुखिया से निवेदन करें ताकि हमें जल्द से जल्द अपना हक मिल सके । विधायक शिवरतन शर्मा ने कहा कि मैं आप लोगों के लिए आवाज जरूर उठाऊंगा और सरकार से इस विषय में बात भी करूंगा ताकि शिक्षाकर्मी परंपरा ही हमेशा के लिए समाप्त हो जाए और नई भर्ती के पूर्व आप सब का संविलियन हो जाए इसके लिए उन्होंने अनुशंसा पत्र भी लिखा है । विधायक शिवरतन शर्मा को ज्ञापन सौंपने वालों में संविलियन अधिकार मंच के सदस्य अभय कुमार पांडे, हर प्रसाद कश्यप, दयाराम साहू,सुरेन्द्र बंजारे,नागेश्वर ध्रुव,जितेंद्र देवांगन, तिलक राम साहू, कोमल प्रसाद देवांगन, प्रियतम भारद्वाज, दुर्योधन साव,प्रवीण शर्मा, शशिभूषण पटेल, जगदीश प्रसाद साहू, देवेंद्र कुमार डडसेना शामिल थे ।
Previous123456789...3435Next