विश्व

यूएन चीफ ने की जलवायु परिवर्तन को लेकर भारत के कदमों की तारीफ

मिडिया रिपोर्ट के मुताबिक संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेश ने कहा है कि जलवायु परिवर्तन से निपटने के लिए हो रहीं अंतर्राष्ट्रीय कोशिशों में भारत की भूमिका अहम है और भारत ने नवीकरणीय ऊर्जा के विस्तार के लिए बेहतरीन प्रयास किए हैं। उन्होंने कहा कि भारत ने सौर ऊर्जा में बड़ा निवेश किया है और स्वच्छ भारत अभियान से संबंधित कई पहल की हैं।

विरोध में 1 लाख लोगों की पिटीशन के बावजूद पीएम मोदी को सम्मानित करेगा गेट्स फाउंडेशन

जस्टिस फॉर ऑल कोअलिशन नामक संगठन के विरोध जताने के बावजूद बिल ऐंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को स्वच्छ भारत मिशन के लिए सम्मानित करेगा। दरअसल, संगठन ने कश्मीर में मानवाधिकारों के उल्लंघन का आरोप लगाते हुए फाउंडेशन को प्रधानमंत्री मोदी को सम्मानित ना करने के लिए 1 लाख लोगों के हस्ताक्षर वाली पिटीशन सौंपी थी।ll

बड़ी हड़ताल! टिकट कराया है तो, तुरंत देखे फ्लाइट का अपडेट


मिडिया रिपोर्ट के मुताबिक  ब्रिटिश एयरवेज के पायलटों ने अपनी विभिन्न मांगो को लेकर सोमवार को 48 घंटे की हड़ताल शुरूआत की है। बताया जा रहा है कि जो एयरलाइन की अधिकांश उड़ानों को पूरा कर रहा था और वेतन विवाद को लेकर अभूतपूर्व औद्योगिक कार्रवाई में हजारों यात्रियों की योजनाओं को बाधित कर रहा था।

 

हजारों से अधिक उड़ानें हुई रद्द…

रिपोर्ट के मुताबिक, एयरलाइंस के 100 साल के इतिहास में इतनी बड़ी हड़ताल कभी नहीं हुई। ब्रिटिश एयरवेज ने अपने यात्रियों को हवाई अड्डों पर नहीं आने के लिए मना कर दिया है।

 

बताया जा रहा है कि 1,500 से अधिक उड़ानों को रद्द कर दिया गया है। हड़ताल पर जाने का प्रमुख कारण, कंपनी पर संघ के मालिकों द्वारा अपने स्वयं के कर्मचारियों को धमकाने का आरोप लगाया गया है।

BALPA ने दिया था नोटिस…

ब्रिटिश एयरलाइन पायलट एसोसिएशन (BALPA) ने पिछले महीने सितंबर में तीन दिनों की औद्योगिक कार्रवाई करने के लिए एयरलाइन को नोटिस दिया था। बता दें कि पहली बार बीए के पायलटों द्वारा हड़ताल की गई है।

विक्रम लैंडर की लोकेशन मिली, इसरो चीफ ने दी जानकारी ।

आपको बता दे कि 7 सितम्बर को विक्रम लैंडर के चाँद पर लैंड होने से पहले गायब हो जाने पर पूरा देश निराश हो गया था । हालांकि इसरो के वैज्ञानिकों ने भरोसा जताया था कि विक्रम लैंडर को ढूंढ लेंगे, क्योंकि विक्रम लैंडर पर नजर रखने वाला ऑर्बिटर पूरी तरह से सुरक्षित है ।

अब खुशी की बात ये है कि ऑर्बिटर द्वारा विक्रम लैंडर की लोकेशन को खोजा जा चुका है । हाल ही में ऑर्बिटर द्वारा भेजी गई तस्वीरों में लैंडर दिखाई दे रहा है । ये जानकारी इसरो प्रमुख डॉ के सिवान ने खुद दी है ।

वही गौरतलब है कि 7 सितम्बर की रात को पूरा देश जगा हुआ था ताकि चाँद पर भारत को कदम रखते हुए देख सकें । और प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी भी इसरो में ही बैठकर वैज्ञानिकों की हौसला अफजाई करते रहे ।

चन्द्रयान का इसरो से संपर्क टूटते,,दुबई से आया बड़ा बयान, कहा- भारत ने.....

BBN24NEWS.COM

अंतरिक्ष में अपनी अलग जगह बनाने वाला भारत एक और ऐतिहासिक सफलता से चूक गया। मिशन चन्द्रयान को लेकर उस वक्त इसरो सेंटर में सन्नाटा छा गया जब पता चला कि चन्द्रमा पर उतरने से ठीक पहले चन्द्रयान के विक्रम लैंडर का इसरो से संपर्क टूट गया है। हालांकि पको बतादे कि  चन्द्रयान का ऑर्बिटर अभी भी पूरी तरह से काम कर रहा है।

दुबई से आया ये बयान....


संयुक्त अरब अमीरात (दुबई) स्पेस एजेंसी ने इसरो की जमकर तारीफ की और कहा, "" हम उनके अंतरिक्ष यान चंद्रयान-2 के साथ संपर्क खत्म होने के बाद इसरो को अपना पूर्ण सहयोग देने का आश्वासन देते हैं, जिसे चंद्रमा पर उतारा गया था। भारत ने साबित कर दिया कि वह अंतरिक्ष क्षेत्र में एक रणनीतिक खिलाड़ी है और इसके विकास और उपलब्धियों में भागीदार है।""

अगर हमारी ये पोस्ट आपको सच मे पसंद आया हो तो अपने दोस्तो को भी शेअर करना ना भूले  ! साथ मे अगर आप ऐसी ही और पोस्ट पढ़ना चाहते है तो हमे फॉलो करना बिलकुल न भूले !!!!!

(सोर्स- ANI official Twitter account)

 

सऊदी अरब के हवाई हमले में 60 लोगों की मौत

मिडिया रिपोर्ट के मुताबिक यमन के धमार प्रांत में सऊदी अरब नीत सैन्य गठबंधन द्वारा किए गए हवाई हमले में 60 लोग मारे गए है। यमन के अधिकारियों ने बताया कि एक विश्वविद्यालय को निशाना बनाकर हमला किया गया। हूती विद्रोही इस विश्वविद्यालय का इस्तेमाल हिरासत केंद्र के रूप में कर रहे थे। वहीं, सऊदी अरब नीत सैन्य गठबंधन का कहना है कि धमार में हूती सैन्य शिविर को निशाना बनाया है, जहां ड्रोन और मिसाइल रखे जाते हैं।

डोनाल्ड ट्रंप ने दी भारत को चेतावनी

  वाशिंगटन : डोनाल्ड ट्रंप ने दी भारत को चेतावनी. ट्रंप ने उत्पादों पर ज्यादा शुल्क को लेकर भारत को चेतावनी दी है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने मंगलवार को उत्पादों पर ज्यादा शुल्क को लेकर भारत को चेतावनी दी है। ट्रंप ने कहा कि इसे अब स्वीकार नहीं किया जाएगा। जापान के ओसाका में 28 जून को जी 20 शिखर सम्मेलन के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मुलाकात के बाद ट्रंप का यह बयान

भारत की अहम कूटनीतिक जीत, एशिया प्रशांत समूह ने किया सुरक्षा परिषद की सदस्यता के लिए समर्थन

पंद्रह सदस्यीय परिषद में 2021-2022 के कार्यकाल के लिए पांच अस्थायी सदस्यों का चुनाव जून 2020 के आस-पास में होना है।
संयुक्त राष्ट्र। एशिया-प्रशांत समूह (Asia Pacific Group ) ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में दो साल की अस्थायी सदस्यता के लिए भारत की उम्मीदवारी का समर्थन किया है। यह भारत के लिए महत्वपूर्ण कूटनीतिक जीत है 15 सदस्यीय परिषद में 2021-2022 के कार्यकाल के लिए पांच अस्थायी सदस्यों का चुनाव जून 2020 में होना है।

भारत की उम्मीदवारी का समर्थन करने वाले 55 देशों में अफगानिस्तान, बांग्लादेश, भूटान, चीन, इंडोनेशिया, ईरान, जापान, कुवैत, किर्गिस्तान, मलेशिया, मालदीव, म्यांमार, नेपाल, पाकिस्तान, कतर, सऊदी अरब, श्रीलंका, सीरिया, तुर्की, संयुक्त अरब अमीरात और वियतनाम शामिल हैं।

इन सदस्यों का कार्यकाल जनवरी 2021 से शुरू होगा। संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थाई प्रतिनिधि सैयद अकबरुद्दीन ने मंगलवार को ट्वीट किया, 'सर्वसम्मति से लिया गया फैसला। सभी 55 सदस्यों को उनके समर्थन के लिए धन्यवाद।'

महासभा दो साल के कार्यकाल के लिए यूएनएससी के पांच अस्थायी सदस्यों का चुनाव करती है। यूएनएससी के पांच स्थायी सदस्य हैं चीन, फ्रांस, रूस, ब्रिटेन और अमेरिका। अफ्रीका और एशिया के हिस्से में पांच जबकि पूर्वी यूरोप के हिस्से में एक, लातिन अमेरिका और कैरेबियाई देशों के हिस्से में दो, पश्चिमी यूरोप के हिस्से में दो सीटें हैं।

पहले भी रह चुका है भारत अस्थायी सदस्य

इससे पहले भारत 1950-51, 1967-68, 1972-73, 1977-78, 1984-85, 1991-92 और हाल ही में 2011-12 में यूएनएससी का अस्थायी सदस्य रह चुका है।
साभार 

शपथ ग्रहण से पहले मोदी ने महात्मा गांधी, अटल जी और शहीद जवानों को दी श्रद्धांजलि

 

 नई दिल्ली।   आज शाम 7 बजे नरेंद्र दामोदर दास मोदी लगातार दूसरी बार प्रधानमंत्री पद की शपथ लेंगे। शपथ ग्रहण से पहले मोदी का कार्यक्रम सुबह 7 बजे से ही शुरू हो गया।
प्रधानमंत्री मोदी आजादी के बाद शहीद हुए जवानों के लिए बने नेशनल वॉर मेमोरियल पहुंचे जहां उन्होंने शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की। इससे पहले मोदी ने अपने दिन की शुरुआत सबसे पहले महात्मा गांधी की समाधि पहुंचकर की और यहां श्रद्धासुमन अर्पित किए।

मोदी के शपथ ग्रहण कार्यक्रम में 14 देशों के प्रमुखों व 8000 लोगों की मौजूद होंगे। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद उन्हें प्रधानमंत्री के रूप में शपथ दिलाएंगे। उनके बाद भाजपा नीत राजग के मंत्रियों को शपथ दिलाई जाएगी। यह चौथा मौका होगा जब शपथ समारोह दरबार हॉल की बजाए राष्ट्रपति भवन के प्रांगण में होगा। समारोह के लिए कोलकाता से 54 परिवारों के खास मेहमानों को बुलाया गया है। ये उन भाजपा कार्यकर्ताओं के परिवार हैं, जिनके मुखियाओं की बंगाल में हिंसा में मौतें हुई हैं।

अब तक का सबसे बड़ा समारोह

मोदी की दूसरी पारी के औपचारिक आगाज के मौके पर राष्ट्रपति भवन में होने वाले समारोह अब तक का सबसे बड़ा होगा। इसमें हाई टी (अल्पाहार) की भी व्यवस्था की गई है। हालांकि समारोह में शरीक होने वाले बिम्स्टेक देशों के प्रमुखों को राष्ट्रपति कोविंद निजी रूप से रात्रिभोज देंगे। राष्ट्रपति के प्रेस सचिव अशोक मलिक ने बताया कि समारोह का आकार मोदी सरकार को दोबारा मिले जनादेश का प्रतिबिंब होगा। 2014 में भी मोदी ने खुले प्रांगण में ही शपथ ली थी।

सबसे पहले चंद्रशेखर ने 1990 में खुले प्रांगण में शपथ ली थी। फिर 1998 में अटलजी ने और 2014 में नरेंद्र मोदी ने खुले में शपथ ग्रहण की थी। पिछली बार करीब 4000 मेहमान शरीक हुए थे। शाह से मिले नीतीशबुधवार को जदयू प्रमुख नीतीश कुमार ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह से मुलाकात की। माना जा रहा है कि उन्होंने मंत्रिमंडल में शामिल होने वाले जदयू नेताओं के नामों को लेकर चर्चा की। जदयू कोटे से दो मंत्री बनाए जाने की संभावना है।
 
 नई दिल्ली मोदी के शपथ ग्रहण कार्यक्रम में 14 देशों के प्रमुखों व 8000 लोगों की मौजूद होंगे। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद उन्हें प्रधानमंत्री के रूप में शपथ दिलाएंगे। उनके बाद भाजपा नीत राजग के मंत्रियों को शपथ दिलाई जाएगी। यह चौथा मौका होगा जब शपथ समारोह दरबार हॉल की बजाए राष्ट्रपति भवन के प्रांगण में होगा। समारोह के लिए कोलकाता से 54 परिवारों के खास मेहमानों को बुलाया गया है। ये उन भाजपा कार्यकर्ताओं के परिवार हैं, जिनके मुखियाओं की बंगाल में हिंसा में मौतें हुई हैं।

अब तक का सबसे बड़ा समारोह
मोदी की दूसरी पारी के औपचारिक आगाज के मौके पर राष्ट्रपति भवन में होने वाले समारोह अब तक का सबसे बड़ा होगा। इसमें हाई टी (अल्पाहार) की भी व्यवस्था की गई है। हालांकि समारोह में शरीक होने वाले बिम्स्टेक देशों के प्रमुखों को राष्ट्रपति कोविंद निजी रूप से रात्रिभोज देंगे। राष्ट्रपति के प्रेस सचिव अशोक मलिक ने बताया कि समारोह का आकार मोदी सरकार को दोबारा मिले जनादेश का प्रतिबिंब होगा। 2014 में भी मोदी ने खुले प्रांगण में ही शपथ ली थी।

सबसे पहले चंद्रशेखर ने 1990 में खुले प्रांगण में शपथ ली थी। फिर 1998 में अटलजी ने और 2014 में नरेंद्र मोदी ने खुले में शपथ ग्रहण की थी। पिछली बार करीब 4000 मेहमान शरीक हुए थे। शाह से मिले नीतीशबुधवार को जदयू प्रमुख नीतीश कुमार ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह से मुलाकात की। माना जा रहा है कि उन्होंने मंत्रिमंडल में शामिल होने वाले जदयू नेताओं के नामों को लेकर चर्चा की। जदयू कोटे से दो मंत्री बनाए जाने की संभावना है। 
साभार 

परवेज मुशर्रफ के बिगड़े बोल कहा पाकिस्तान पर हमला नरेंद्र मोदी की जिंदगी की सबसे बड़ी भूल साबित होगी

मिडिया रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ ने पुलवामा हमले की निंदा करते हुए कहा कि ये हमला बेहद अमानवीय था. इंडिया टुडे से खास बातचीत में मुशर्रफ ने पुलवामा हमले की निंदा तो की, लेकिन उन्होंने धमकी भरे अंदाज में कहा कि अगर पाकिस्तान पर हमला किया गया तो ये मोदी की जिंदगी की सबसे बड़ी भूल होगी. मुशर्रफ ने कहा कि पाकिस्तान को धमकी देना बंद कीजिए. आप हमें सबक नहीं सिखा सकते.
Previous123Next