राजधानी

लू से बचाव करना जरूरी: लू से बचाव एवं प्रबंधन के लिए दिशा निर्देश

रायपुर, 31 मार्च 2021 राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग की सचिव एवं राहत आयुक्त सुश्री रीता शांडिल्य ने राज्य के सभी जिलों के कलेक्टरों को पत्र जारी कर इस साल भीषण गर्मी की संभावना को देखते हुए लू से बचाव एवं प्रबंधन करने आवश्यक कार्यवाही सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। राहत आयुक्त ने इस संबंध में सभी कलेक्टर्स को अपने-अपने जिले में एक वरिष्ठ अधिकारी को नोडल अधिकारी नियुक्त करने तथा प्रतिदिन लू से प्रभावितों की जानकारी राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग को प्रेषित करने के निर्देश दिए हैं। राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा कलेक्टरों को अपने जिलों में लू से बचाव के लिए लोगों को जागरूक करने के लिए सभी आवश्यक कार्यवाही करने के लिए निर्देश दिए गए हैं।
    प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों में गर्मी के इस मौसम में तापमान और बढ़ने की संभावना है। गर्मी के मौसम में लोगों को लू से प्रभावित होने की संभावना रहती है। सूर्य की तेज गर्मी के दुष्प्रभाव से शरीर पर के विपरीत प्रभाव पड़ता है। जिसके कारण शरीर का तापमान अनियंत्रित हो जाता हैं। शरीर की जैविक क्रियाओं को प्रभावित करता हैं। इस स्थिति को लू लगना (हीट स्ट्रोक) के नाम से जाना जाता है। जिसके कारण लू लगने की अधिक संभावना होती है।
    लू के विभिन्न लक्षण जैसे - सिर में भारीपन और दर्द का अनुभव होना, तेज बुखार के साथ मुंह का सूखना, चक्कर और उल्टी का आना, कमजोरी के साथ शरीर में दर्द होना। साथ ही शरीर का तापमान अधिक होने पर पसीना आना एवं भूख कम लगना, बेहोश होना।      लू लगने का प्रमुख कारण तेज धूप और गर्मी में ज्यादा देर तक रहने के कारण शरीर में पानी की कमी हो जाती हैं। इससे बचाव के लिए यह ध्यान रखना जरूरी है कि अधिक पसीना आने की स्थिति में ओ.आर.एस. घोल पीयें, बहुत अनिवार्य न हो तो घर से बाहर ना जावें, धूप में निकलने से पहले सर व कानो को कपड़ें से अच्छे से बांध ले, पानी अधिक मात्रा में पीयें, अधिक समय तक धूप में न रहें, गर्मी के दौरान नरम, मुलायम सूती के कपड़े पहनने चाहिए ताकि हवा और कपडें पसीने को सोखते रहे। चक्कर आने, मितली आने पर छाया दार स्थान पर आराम करें तथा शीतल पेयजल अथवा उपलब्ध हो तो फल का रस, लस्सी, मठा आदि का सेवन करें। उल्टी, सर दर्द, तेज बुखार की दशा में मरीज को निकट के अस्पताल अथवा स्वास्थ्य केन्द्र में तत्काल लेकर जाना चाहिए।
    लू लगने पर किया जाने वाला प्रारंभिक उपचार:- बुखार पीड़ित व्यक्ति के सर पर ठंडे पानी की पट्टी लगावें। अधिक पानी व पेय पदार्थ पिलावें जैसें कच्चे आम का पन्ना, जलजीरा आदि, पीड़ित व्यक्ति को पंखें के नीचे हवा में लेटा देवें, शरीर पर ठंडे पानी का छिड़काव करते रहे, पीड़ित व्यक्ति को शीघ्र ही किसी नजदीकी चिकित्सक, अस्पताल या स्वास्थ्य केन्द्र में मरीज को पहुंचाना चाहिए, प्रारंभिक सलाह के लिए आरोग्य सेवा केन्द्र दूरभाष नंबर 104 पर तत्काल निःशुल्क परामर्श लिया जा सकता है।
     
 

राज्य सरकार की अनेक सफलताओं के चलते आज राज्य में बेरोजगारी की दर घटी हैं और लोगों को रोजगार प्राप्त हुआ है :- निखिल द्विवेदी

रायपुर - युवा कांग्रेस के मीडिया विभाग चेयरमैन श्री निखिल द्विवेदी रायपुर में कांग्रेस पार्टी के प्रदेश कार्यालय राजीव भवन में रोजगार को लेकर विस्तृत रूप से प्रेस वार्ता की इस प्रेस वार्ता में प्रमुख रूप से राज्य की सरकार जो रोजगार उपलब्ध करा रही है 2020 में जब पूरी दुनिया कोरोना महामारी से अस्त व्यस्त थी उस परिस्थिति में राज्य की भूपेश सरकार राज्य के लोगों को रोजगार उपलब्ध कराने का कार्य कर रही थी साथ ही साथ निखिल द्विवेदी ने केंद्र की मोदी सरकार के खिलाफ जमकर हमला किया और जिस प्रकार सारी सरकारी संपत्तियों को केंद्र सरकार भेज दे रही है उसको लेकर हमला किया।

रायपुर के भगत सिंह चौक में युवा कांग्रेसी कार्यकारी अध्यक्ष महेंद्र गंगोत्री एवं चेयरमैन निखिल द्विवेदी ने भगत सिंह की मूर्ति के नीचे लोगों को शपथ दिलाई इस मोदी सरकार के खिलाफ युवा कांग्रेस खड़ी है और आगे की लड़ाई लड़ेगी उसके पश्चात नवनियुक्त चेयरमैन जी का भव्य स्वागत किया गया कार्यकर्ताओं द्वारा।।

 ▪️ छत्तीसगढ़ देश में 10 वा सर्वाधिक निजी निवेश प्राप्त करने वाला राज्य बन गया है।

▪️ राज्य में उद्योग स्थापित करने के लिए 104 समझौता ज्ञापन (एमओयू) किया।

▪️ छत्तीसगढ़ में मनरेगा में 29 लाख  81 हजार परिवारों को प्रतिदिन औषध 42 दिनों का रोजगार दिया।

▪️ 50 से अधिक वनों पशुओं को न्यूनतम समर्थन मूल्य में खरीदना राज्य सरकार की उपलब्धियां।।

▪️ गोधन या योजना जैसी योजनाओं से राज्य ही नहीं पूरे देश में एक अलग पहचान बनाई और गांव के लोगों का आर्थिक रूप से और मजबूती देने का कार्य राज्य सरकार ने किया।

मीडिया विभाग के प्रमुख निखिल द्विवेदी ने कहा की आज मैं राज्य एवं केंद्र सरकार की सफलता और असफलताओं को आपके सामने प्रस्तुत करने उपस्थित हुआ हूं जिस प्रकार केंद्र की सरकार लगातार युवाओं और आम लोगों के साथ दूर व्यवहार और रोजगार छीनने का कार्य कर रही है उसी तरफ राज्य की सरकार लगातार रोजगार उपलब्ध करा रही है आज गोदाना योजना हो या फिर किसानों का धान 25 00 क्विंटल खरीदना हो या आदिवासियों का वनोपज जैसे तेंदूपत्ता को 2000 मानक बोरा से 4000 मानक बोरा राज्य सरकार ने किया है राज्य सरकार को बहुत-बहुत बधाई देना चाहूंगा.
जिस प्रकार आज पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह ट्वीट करके वर्तमान के मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल को कह रहे हैं कि आप असम में रोजगार की बात कर रहे हैं बल्कि छत्तीसगढ़ में लोग बेरोजगार घूम रहे हैं मेरा तो सिर्फ पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह से एक ही कहना है कि जब से आप के पुत्र सांसद पद से हटे हैं तब से आप को रोजगार की चिंता होने लग गई है क्योंकि आपके पुत्र ही बेरोजगार हो गए हैं तो आपको आज रोजगार की फिक्र हो रही है पहले 15 वर्षों में छत्तीसगढ़ के युवाओं की फिकर की होती तो छत्तीसगढ़ के युवा के पास रोजगार होता।।

प्रेस कॉन्फ्रेंस में मुख्य रूप से मीडिया विभाग के चेयरमैन निखिल द्विवेदी कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र गंगोत्री राष्ट्रीय प्रवक्ता संजीव शुक्ला , एनएसयूआई प्रदेश अध्यक्ष आकाश शर्मा युवा कांग्रेस उपाध्यक्ष रेणु मिश्रा, युवा नेता आसिफ मेमन, प्रदेश सचिव गौरव दुबे, गौरव सिंह जिला अध्यक्ष नितिन चौरसिया, प्रिंस शर्मा, अमित बांद्रा, विधानसभा अध्यक्ष नितेश सिंह ठाकुर प्रदेश उपाध्यक्ष भावेश शुक्ला चेयरमैन तुषार गुहा आदि।।


 

श्री रावतपुरा सरकार शारीरिक शिक्षा महाविद्यालय के छात्र दुलामनी प्रावीण्य सूची में शामिल

रायपुर -  श्री रावतपुरा सरकार शारीरिक शिक्षा महाविद्यालय के छात्र दुलामनी प्रावीण्य सूची में शामिल होकर अपने माता पिता ही नहीं बल्कि श्री रावतपुरा सरकार शारीरिक शिक्षा महाविद्यालय का नाम रोशन किया है| छात्र दुलामनी ने पं. रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित बी.पी.एड परीक्षा सत्र - 2018-20 की प्रावीण्य सूची में तृतीय स्थान प्राप्त किया है | उनकी इस सफलता पर घर परिवार में खुसी का मौहोल है छात्र दुलामनी के  पिता बिदुआ राम ने  खुशी जाहिर करते हुए  महाविद्यालय के सभी स्टाफ को बधाई दी है | वही श्री रावतपुरा सरकार ग्रुप ऑफ इंस्टीटूशन्स के  उपाध्यक्ष डॉ. जे. के. उपाध्याय और नया रायपुर कैंपस के डायरेक्टर  ऐ. के. श्रीवास्तव एवं प्राचार्य डॉ. कर्मिष्ठ शंभरकर ने बधाइयाँ देते हुए उज्ज्वल भविष्य की कामना की है |

ग्रामीण इलाकों में गश्त करे पुलिस, चौपाल लगाकर सुनें पीड़ितों की समस्याएं- अवस्थी

महिला विरुद्ध अपराधों पर तत्काल कार्रवाई सुनिश्चित करें डीजीपी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग कर की सभी जिलों के अपराधों की समीक्षा

रायपुर 16 फरवरी। डीजीपी डीएम अवस्थी ने आज पुलिस मुख्यालय में सभी जिलों के अपराधों की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से समीक्षा की। बैठक में श्री अवस्थी ने कहा कि सभी जिले ग्रामीण इलाकों में घटित अपराधों में तीव्र कार्रवाई करें। इसके लिये थाना क्षेत्र के ग्रामों में भ्रमण करें साथ ही टीआई ग्रामों में पहुंचकर चौपाल का आयोजन करें। वहां पीड़ितों ,ग्रामीणों से मुलाकात करें और उनकी समस्याओं का निराकरण करें, साथ ही ग्राम से संबंधित दस्तावेजों को अद्यतन करें । इस व्यवस्था का पुलिस अधीक्षक भी स्वयं औचक निरीक्षण करें। ग्रामीण इलाकों के साथ बड़े शहरों में भी बीट सिस्टम के अनुरूप मोहल्लों एवं कॉलोनियों में जाकर बैठक आयोजित करें

तथा नागरिकों से संवाद स्थापित कर अपराधों पर नियंत्रण स्थापित करने हेतु प्रभावी पुलिसिंग करें । 
डीजीपी ने कहा कि महिला विरूद्ध, हत्या, लूट, डकैती जैसे गंभीर प्रकृति के अपराधों में तत्काल कार्रवाई करें। महिला एवं बाल विरुद्ध अपराधों में लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। रायगढ़ एवं जशपुर सहित सभी जिले महिला एवं बाल तस्करों के विरूद्ध कड़ी कारर्वाई करें। 

समीक्षा बैठक में डीजीपी ने कहा कि बेसिक, विजिबल और इंपैक्टफुल पुलिसिंग पर सभी पुलिस अधीक्षक जोर दें। नागरिकों को पुलिसिंग होते हुये दिखना चाहिये, इसके लिये सामुदायिक पुलिसिंग पर विशेष जोर दें। शिकायतकर्ता से पुलिस अधीक्षक स्वयं मिलें। पीड़ितों को त्वरित न्याय दिलाना पुलिस का कर्तव्य है। आपराधिक मामलों में तेजी से चालान पेश करने के साथ ही आरोपियों को सजा दिलाकर पीड़ित को न्याय दिलाना भी प्राथमिकता होनी चाहिये। 
 अवस्थी ने कहा कि छत्तीसगढ़ पुलिस पूरे देश में दूसरे स्थान पर आई है। इसका श्रेय भी सभी पुलिस अधिकारियों को जाता है। आप सभी अच्छा कार्य कर रहे हैं। पुलिसिंग के सभी क्षेत्रों में ध्यान दिया जा रहा है।  अवस्थी ने निर्देश दिये कि पुलिस सड़क दुर्घटनाओं में कमी लाने के प्रयास करे। 
बैठक में एडीजी  हिमांशु गुप्ता, डीआईजी   एससी द्वेदी,  हिमानी खन्ना, सभी आईजी एवं पुलिस अधीक्षक उपस्थित रहे।

बसंत पंचमी के अवसर पर बिलासा ब्लड बैंक द्वारा महारक्त दान और निःशुल्क नेत्र जांच शिविर का आयोजन

रायपुर - बसंत पंचमी के अवसर पर  बिलासा ब्लड बैंक द्वारा महारक्त दान और निःशुल्क नेत्र जांच शिविर का आयोजन किया गया इस आयोजन में शिवनाथ मोटर्स महिंद्रा शोरूम का विशेष योग दान रहा मेगा सर्विस कैंप के दौरान शिविर में कंपनी के युवा कर्मचारियों और ग्राहकों ने बढ़-चढ़कर किया रक्त दान ।
शिवनाथ मोटर्स महिंद्रा शोरूम के डायरेक्टर मनीष कुमार गुप्ता सर्विस जनरल मैनेजर ओंकार नंदा  के आयोजन में शिविर की शुरुआत विधानसभा रोड मोवा स्थित शोरूम और भनपुरी स्थित कमर्शियल रेंज के शोरूम में दीप प्रज्ज्वलन और गणपति वंदना के साथ  किया गया । इसके बाद उत्साही युवाओं के शिविर में आने लगे और एक के बाद एक  लगातार चलता रक्त दान देने का क्रम चलता रहा  शिविर में  लगभग 60 से अधिक लोगों ने पंजीकरण करवाया और 50 यूनिट के रक्त संगृहीत किया गया।
 रक्त दान के दौरान लोगों को स्वास्थ्य सम्बन्धी जानकारियां भी दी और कोरोना से बचाव के उपाय भी बताये गए । कार्यक्रम में सोशल डिस्टेंसिंग , मास्क और सनेटाइजर्स के उपयोग का भी खास ध्यान रखा गया और कोरोना गाइडलाइन्स का सम्पूर्ण रूप से पालन किया गया ।

Chhattisgarh : डीजीपी डीएम अवस्थी ने आदिवासियों पर दर्ज प्रकरण वापसी पर ली समीक्षा बैठक

रायपुर 29 जनवरी 2021  । मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देश पर आज यहां पुलिस मुख्यालय में आदिवासियों पर दर्ज प्रकरण वापसी पर समीक्षा बैठक आयोजित की गई। बैठक में डीजीपी डीएम अवस्थी ने प्रकरण वापसी के लिए स्पीडी ट्रायल चलाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि प्रकरण वापसी में लापरवाही बर्दास्त नहीं की जाएगी। मैं शीघ्र ही वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संबंधित जिलों की समीक्षा करूंगा। डीजीपी ने प्रकरणों की शीघ्र सुनवाई हेतु 08 जिलों क्रमशः जगदलपुर, दंतेवाड़ा, बीजापुर, कोण्डागांव, कांकेर, सुकमा, नारायणपुर एवं राजनांदगांव में नोडल अधिकारी नियुक्त किए। बैठक में सभी प्रकरणों की समीक्षा की गई।

       अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक गोरखनाथ बघेल, जिला कांकेर, उप पुलिस अधीक्षक शिल्पा साहू, जिला दंतेवाड़ा,  आदित्य पाण्डेय, उप पुलिस अधीक्षक (ऑप्स), जिला जगदलपुर, उप पुलिस अधीक्षक आशा सेन, जिला सुकमा,  दीपक मिश्रा, उप पुलिस अधीक्षक, जिला कोण्डागांव, उप पुलिस अधीक्षक उन्नति ठाकुर, जिला नारायणपुर,मिर्जा जियारत बेग, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, जिला बीजापुर,  कविलाश टण्डन, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, जिला राजनांदगांव का नोडल अधिकारी बनाया गया।

       संबंधित पुलिस अधीक्षकों को यह भी निर्देशित किया गया कि अत्यावश्यक परिस्थितियों को छोड़कर उक्त नोडल अधिकारियों से कोई भी अन्य कार्य न लिया जायें।

नोडल अधिकारियों को दी गई ये जिम्मेदारीः-

विचारण  हेतु संबंधित न्यायालय/न्यायालय के शासकीय अभिभाषक तथा कोर्ट मोहर्रिर से समन्वय कर पार्याप्त समयापूर्व साक्षियों के समंस जारी एवं तामिली करायेंगे एवं पेशी दिनांक को आरोपी एवं साक्षियों की उपस्थिति सुनिश्चित करेंगे। पेशी दिनांक के पूर्व साक्षियों की सूची का परीक्षण करेंगे एवं ऐसे साक्षी जो शासकीय सेवक हैं एवं अन्य जिलों में स्थानांतरित या सेवानिवृत्त हो गए हैं उनके समय पर सम्पर्क कर उनकी पेशी दिनांक को उपस्थिति सुनिश्चित करेंगे। उक्त प्रकरणों में एफ.एस.एल. एवं अन्य विशेषज्ञ की रिपोर्ट यदि अप्राप्त है तो समन्वय कर प्राप्त करेंगे।

डीजीपी ने वीरता एवं पुलिस सराहनीय सेवा पदक से सम्मानित होने वाले पुलिस अधिकारियों/कर्मचारियों का किया उत्साहवर्धन

रायपुर। डीजीपी डीएम अवस्थी ने आज ट्रांजिट मेस में आयोजित कार्यक्रम में गणतंत्र दिवस पर वीरता एवं पुलिस सराहनीय सेवा पदक से सम्मानित होने वाले पुलिस अधिकारियों/कर्मचारियों का उत्साहवर्धन किया। उन्होंने कहा कि आपकी वीरता पर विभाग को गर्व है। इन पदकों को प्राप्त करने के लिए प्रदेश भर से कई मापदंड पर खरा उतरने वाले जवानों को ही सम्मान प्राप्त होता है। आपके साहस एवं वीरता में आपके परिवार का भी योगदान रहता है, इसलिए आपके परिजनों को भी कार्यक्रम में आमंत्रित किया गया है। आप इन मेडल से संतुष्ट मत होइए, आपके वीरतापूर्ण कार्यों के लिए इससे भी बड़े पदक प्राप्त हों ऐसा लक्ष्य बनाकर रखिए। विगत 15 अगस्त को निम्नलिखितअधिकारियों को पुलिस वीरता पदक और राष्ट्रपति सराहनीय सेवा पदक देने की घोषणा की गई थी। पुलिस वीरता पदक : श्री अभिषेक मीणा, पुलिस अधीक्षक कोरबा, श्री मालिक राम, निरीक्षक  नारायणपुर, श्री महेंद्र सिंह ध्रुव, उप निरीक्षक कांकेर   राष्ट्रपति सराहनीय सेवा पदक : सहायक पुलिस महानिरीक्षक श्री राजेश अग्रवाल, सेनानी श्री विजय कुमार अग्रवाल, सहायक सेनानी श्री संजय कुमार दीवान, निरीक्षक श्री मोहम्मद याकूब, सहायक उप निरीक्षक श्रीमती सुनीता साहु, सहायक उप निरीक्षक संजय सिंह राजपूत,  ऐपीसी हरविलाश जाटव, प्रधान आरक्षक जयसिंह स्वादू, प्रधान आरक्षक बंदुराम नेताम, प्रधान आरक्षक अरविंद कुजूर और प्रधान आरक्षक स्वर्ण कुमार एक्का।

श्री रावतपुरा सरकार यूनिवर्सिटी के प्रति कुलाधिपति के पद पर आसीन हुए भूतपूर्व आईपीएस राजीव माथुर

रायपुर। श्री रावतपुरा सरकार यूनिवर्सिटी रायपुर को यूनिवर्सिटी के कुलाधिपति पूज्य रविशंकर जी महाराज (श्री रावतपुरा सरकार) के द्वारा प्रति कुलाधिपति के पद पर भूतपूर्व आईपीएस राजीव माथुर को नियुक्त किया गया. राजीव माथुर का एक लंबे प्रशासनिक कार्य अनुभव का लाभ यूनिवर्सिटी को प्राप्त होगा. राजीव माथुर ने इलाहाबाद विशवविद्यालय से एमएससी फीजिक्स और एमए हिस्ट्री किया है. विश्वविद्यालय के टॉपर होने पर Chancellor’s Gold Medal से सम्मानित हैं. आप छत्तीसगढ़ पुलिस के एडिशनल डी.जी. एडमिन और इंटेलीजेंस भी रहे हैं. आपने अमेरिका, इंग्लैंड, स्कॉटलैंड, आयरलैंड, फ्रांस, इटली, जर्मनी, स्वीट्जरलैंड, बेल्जियम, सिंगापुर का भ्रमण किया है. उनका प्रशिक्षण इंग्लैंड में हुआ था. राष्ट्रपति के अति विशिष्ट सेवा मेडल से अलंकृत किया जा चुका है. आपने पुलिस विभाग के विभिन्न पदों में रहते हुए कार्य किया, जिसमें सरदार बल्लभ भाई पटेल राष्ट्रिय पुलिस अकादमी हैदराबाद में डायरेक्टर, DG RPF, DG NCRB रहे हैं. साथ ही पूर्व में इंदौर, सागर तथा ग्वालियर ,सतना में एसपी और रायपुर रेंज के प्रथम आईजी रहे. आप छत्तीसगढ़ पुलिस के एडिशनल डीजी एडमिन और इंटेलीजेंस भी रहे हैं. पुत्री पारुल माथुर जांजगीर चांपा की पुलिस अधीक्षक है. इस नियुक्ति पर पूज्य महाराज श्री ने अपना आशीर्वाद प्रेषित किया और यूनिवर्सिटी के सतत विकास के लिए शुभकामनाएं दी. इस मौके पर नव नियुक्त प्रति कुलाधिपति राजीव माथुर ने सभी संकायों को संबोधित करते हुए उन्हें उत्कृष्ट रिसर्च एवं श्रेष्ठ गुणवत्ता वाली शिक्षा देने हेतु प्रेरित किया. कुलपति डॉ राजेश कुमार पाठक ने इस नियुक्ति पर हर्ष प्रकट करते हुए शुभकामनाएं प्रेषित की और कहा कि राजीव माथुर के विशाल अनुभवों का लाभ यूनिवर्सिटी को उत्कृष्ट बनाने प्राप्त होगा. यूनिवर्सिटी के निदेशक अतुल कुमार तिवारी एवं प्रभारी कुलसचिव वरुण गंजीर ने भी अपनी शुभकामनाएं दी. सभी विभागों के विभाग प्रमुख तथा शैक्षिणिक एवं गैर शैक्षिणिक स्टाफ ने हर्ष प्रकट करते हुए उन्हें शुभकामनाएं दीं.

नेता जी सुभाष चंद्र बोष जी की जयंती पर वेबिनार के जरिये डीजीपी ने एनआईटी रायपुर के छात्रों को दी नशे से दूर रहने की सलाह

रायपुर 23 जनवरी। आप योग्य बनिये, सफलता जरूर मिलेगी। सफलता के पीछे भागिये मत और ना ही तनाव लीजिये। आजकल युवा तनावपूर्ण जीवन जी रहे हैं। कुछ युवा तनाव के कारण ड्रग्स और अन्य नशा लेने लगते हैं। जो उनके करियर के साथ जीवन को भी बर्बाद कर देता है। जब भी तनावपूर्ण क्षण आएं तो अपनी समस्या परिवार से शेयर जरूर कीजिये। उक्त बातें डीजीपी श्री डीएम अवस्थी ने एनआईटी रायपुर द्वारा ड्रग्स के दुष्प्रभावों पर आयोजित वेबिनार के दौरान कहीं। अवस्थी ने कहा कि युवाओं के आदर्श नेता जी सुभाष चंद्र बोस होने चाहिये। जिन्होंने कभी भी विपरीत परिस्थितियों में हिम्मत नहीं हारी। अंग्रजों के खिलाफ लड़ाई के लिये उन्होंने इंडियन सिविल सर्विस से इस्तीफा तक दे दिया था। युवाओं में नेता जी जैसा जोश होना चाहिये। युवाओं को तनाव के दौरान भी नशे से दूर ही रहना चाहिये। ये आपके नर्वस सिस्टम को समाप्त कर देता है। जब भी अकेलापन महसूस करें, अपने माता-पिता परिवार से जरूर चर्चा करें। मुसीबत के समय परिवार ही साथ देता है। माता-पिता को भी बच्चों की भावनाएं समझनी चाहिये। बच्चों के लिये समय देना चाहिये। उन्हें अपना दोस्त समझेंगे तभी वे अपनी बातें आपसे शेयर करेंगे।

दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे से चलने वाली 04 जोड़ी स्पेशल गाड़ियों में मिली अतिरिक्त कोच की सुविधा

रेलवे प्रशासन द्वारा यात्रियों की बेहतर सुविधा व ज्यादा से ज्यादा यात्रियों को कंफ़र्म बर्थ उपलब्ध करने हेतु दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे से चलने वाली 04 जोड़ी स्पेशल गाड़ियों में अतिरिक्त कोच की सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है | विवरण इस प्रकार है -

1 गाड़ी संख्या 08426/08425 दुर्ग–पुरी दुर्ग स्पेशल गाड़ी में 01 अतिरिक्त स्लीपर कोच की सुविधा दुर्ग से 22 एवं 23 जनवरी 2021 को तथा पुरी से 23 एवं 24 जनवरी 2021 को प्रदान की जा रही है ।

2 गाड़ी संख्या 08215/08216 दुर्ग–ऊधमपुर-दुर्ग स्पेशल गाड़ी में 01 अतिरिक्त स्लीपर कोच की सुविधा दुर्ग से 27 जनवरी 2021 को तथा ऊधमपुर से 28 जनवरी 2021 को प्रदान की जा रही है ।

3 गाड़ी संख्या 08237/08238 कोरबा-अमृतसर-बिलासपुर स्पेशल गाड़ी में एक अतिरिक्त स्लीपर कोच की सुविधा कोरबा से 26, 27 एवं 29 जनवरी 2021 को तथा अमृतसर से 28, 29 एवं 31 जनवरी 2021 को दी जा रही है |

4 गाड़ी संख्या 08245/08246 बिलासपुर-बीकानेर-बिलासपुर स्पेशल गाड़ी में एक अतिरिक्त स्लीपर कोच की सुविधा बिलासपुर से 23 जनवरी 2021 को तथा बीकानेर से 26 जनवरी 2021 को दी जा रही है |

​​​​​​​आबकारी विभाग की बड़ी कार्रवाई: अन्य प्रान्त की मादिरा जब्त और शराब बनाने की नकली फैक्ट्री का किया भांडाफोड़ 860 लीटर ओपी बरामद, जिससे लगभग 10 लाख रुपये की शराब बनाई जा सकती थी

रायपुर, 22 जनवरी 2021आबकारी मंत्री कवासी लखमा के निर्देशन पर प्रदेश में मदिरा के अवैध बिक्री, भंडारण तथा परिवहन पर लगातार कड़ी कार्रवाई की जा रही है। इसी कड़ी में सचिव सह आबकारी आयुक्त निरंजन दास एवं प्रबंध संचालक श्री ए. पी.त्रिपाठी के निर्देशन एवं कलेक्टर रायपुर श्री डॉ एस. भारतीदासन तथा उपायुक्त आबकारी जिला रायपुर श्री अरविंद पाटले के मार्गदर्शन में 20 जनवरी को आबकारी विभाग रायपुर द्वारा ग्राम भूमिया थाना तिल्दा में रोड चेकिंग के दौरान बिलासपुर की तरफ से आ रही डिजायर कार सीजी 12 एएन 9211 में आरोपी अभिवास सिंग ठाकुर निवासी सिमरन सिटी संतोषी नगर रायपुर को 50 पेटी गोवा व्हिस्की मादिरा फॉर सेल इन मध्यप्रदेश कुल 450 लीटर मादिरा जप्त कर आरोपी के विरुद्ध आबकारी अधिनियम की धारा 34(2) का प्रकरण कायम कर विवेचना में लिया गया। गश्त टीम में आबकारी उप निरीक्षक नीलम किरण सिंह, पंकज कुजूर एवं अनिल मित्तल के साथ आबकारी मुख्य आरक्षक विक्रम सिंग, लखन लाल ओशले, आरक्षक संतोष दुबे के साथ ड्राइवर रितेश साहू, शुभंकर, संजू साहू साथ रहे। आरोपी के निशानदेही पर स्टेट फ्लाइंग स्क्वाड के आबकारी उप निरीक्षक डी डी पटेल, आरक्षक विजय वर्मा को हमराह लेकर बेमेतरा में ग्राम जेवरा (अंधियार खोल) थाना नवागढ़ में आरोपी अनिल वर्मा के फार्म हाउस में 20 पेटी गोवा फॉर सेल इन मध्यप्रदेश 180 लीटर मादिरा तथा 4 प्लास्टिक ड्रमों में भरी करीब 860 लीटर ओ पी (स्प्रीट) फार्म हाउस में बने मकान से जब्त की गई। फार्म हाउस में बने मकान के सामने खड़ी स्वराज माजदा क्रमांक बह 04 एचजेड 0834 में भरी 50 पेटी मध्यप्रदेश निर्मित गोआ शराब जब्त कर फार्म हाउस में कार्यरत चौकीदार कुलेश्वर गोस्वामी को गिरफ्तार कर प्रकरण विवेचना में लिया गया है।

Chhattisgarh : सार्वजनिक वाहनों में निर्भया फण्ड से पैनिक बटन तथा जीपीएस सिस्टम के द्वारा संकट के समय सत्काल सहायता पहुंचाने की योजना

रायपुर, 22 जनवरी 2021परिवहन तथा वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री मोहम्मद अकबर ने आज राजधानी स्थित अपने शासकीय निवास में पत्रकार वार्ता लेते हुए जानकारी दी कि सार्वजनिक वाहनों में केन्द्र शासन द्वारा जीपीएस लगाना अनिवार्य किया गया है। एक जनवरी 2019 से सभी नवीन वाहनों में जीपीएस के साथ पैनिक बटन भी लगाया जाना अनिवार्य है। जिससे किसी आपात स्थिति में पैनिक बटन को दबाकर सहायता चाहे जाने का संकेत दिया जा सके और वाहन तक आवश्यक सहायता शीघ्र अतिशीघ्र पहुंचाई जा सके। वाहनों में लगे जीपीएस को ट्रैक करने हेतु व्हीकल ट्रेकिंग प्लेटफार्म व कंट्रोल एण्ड कमांड सेंटर की स्थापना की जाएगी। इस योजना के क्रियान्वयन हेतु 15.40 करोड़ रूपए का बजट प्रावधान किया जा रहा है। जिसमें से 60 प्रतिशत केन्द्र शासन तथा 40 प्रतिशत राज्य शासन द्वारा वहन किया जाएगा। केन्द्र शासन द्वारा इस हेतु निर्भया फण्ड से 4.19 करोड़ रूपए प्राप्त हो चुका है। राज्य शासन द्वारा भी 6.16 करोड़ रूपए का बजट प्रावधान प्रस्तावित है। इस संबंध में मुख्य सचिव अध्यक्षता में गठित ‘इम्पावर्ड कमेटी’ की बैठक दिनांक 18 जनवरी में इस परियोजना हेतु नीतिगत अनुमोदन प्राप्त किया गया है। परियोजना के क्रियान्वयन की कार्यवाही परिवहन विभाग द्वारा चिप्स के माध्यम से की जा रही है।

​​​​​​​रायपुर वनवृत्त में लगभग 70 हजार रूपए के अवैध लकड़ी सहित वाहन की जप्ती

रायपुर, 22 जनवरी 2021वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री मोहम्मद अकबर के निर्देशानुसार राज्य में विभाग द्वारा जारी अभियान के तहत आज दोपहर रायपुर वनवृत्त के अंतर्गत लगभग 70 हजार मूल्य के अवैध लकड़ी सहित वाहन की जप्ती की गई। इनमें लकड़ी की अवैध परिवहन कर रहे वाहन क्रमांक सीजी 04 जी 8542 को वन विभाग की टीम द्वारा मुरा मोड़ में घेरा बंदी कर जप्ती की गई। जप्त लकड़ी में साजा, कहुआ और मिश्रित प्रजाति की लकड़ी शामिल हैं। मुख्य वन संरक्षक रायपुर श्री जे.आर. नायक के मार्गदर्शन और वन मंडलाधिकारी रायपुर विश्वेष कुमार झा के निर्देशानुसार संचालित इस अभियान में टीम द्वारा जांच के दौरान संलिप्त आरोपी ग्राम अमेरी निवासी अशोक कन्नौजे के पास कोई भी वैध दस्तावेज नहीं पाया गया। उक्त कार्रवाई में डिप्टी रेंजर दीपक तिवारी, प्रशांत, यदुराम, इन्दर, सौरभ, राधे आदि विभागीय अमला शामिल था।

छत्तीसगढ़ के भाजपा नेताओं ने अपना धान बेच लिया और दूसरों की धान ख़रीदी में बाधा डालने में लगे हुए हैं भाजपा आंदोलन नहीं, अपने किसान विरोधी चरित्र के लिये प्रायश्चित करे : कांग्रेस

रायपुर/bbn24/जनवरी 2021। धान खरीदी पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि भाजपा को छत्तीसगढ़ में किसानों के लिए आंदोलन नहीं बल्कि प्रायश्चित करना चाहिए. उन्होंने कहा है कि अगर भाजपा नेताओं को लगता है कि निजी मंडियों में फसलों की अधिक कीमत मिल सकती है तो उन्होंने अपना धान किसी निजी मंडी में अधिक कीमत में बेचकर किसानों के सामने उदाहरण पेश क्यों नहीं किया।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि वे छत्तीसगढ़ के भाजपा नेताओं को चुनौती देते हैं कि वे अभी भी अपना बचा हुआ धान देश के किसी भी निजी मंडी में ले जाएं और समर्थन मूल्य से अधिक मूल्य पर धान बेचकर दिखा दें। उन्होंने कहा है कि अगर वे मूल्य पा भी जाएं तो राजीव गांधी किसान न्याय योजना से मिलने वाली राशि कहां से जुटाएंगे यह भी बता दें।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि भाजपा को आंदोलन नहीं बल्कि अपने किसान विरोधी नीतियों के लिए प्रायश्चित करें क्योंकि आज भी धान खरीदी में भाजपा की केन्द्र सरकार बाधायें डालने में ही लगी है। भाजपा धान खरीदी के मुद्दे पर सिर्फ विरोध के नाम पर विरोध कर रही है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि किसानों को गुमराह करने के लिये भाजपा आंदोलन कर रही है।

भाजपा के बड़े नेताओं के दोहरे चरित्र पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि सभी बड़े नेताओं ने दिसंबर में ही अपना धान बेच लिया और किसानों की धान खरीदी में केन्द्र सरकार से बाधायें डलवा रहे हैं।

तीनों किसान कानूनों पर बड़ा सवाल खड़े करते हुये प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने पूछा है कि भाजपा के सारे नेताओं ने छत्तीसगढ़ में सरकारी खरीद में ही अपना धान बेचा। भाजपा नेता को अपना धान ट्रक 407, मैटाडोर, छोटा हाथी में भरवाकर देश के किसी अन्य राज्य में छत्तीसगढ़ से ज्यादा दाम में धान बेचकर उदाहरण प्रस्तुत करती है। जबकि भाजपा के बड़े-बड़े नेता बार-बार किसान को देश के किसी भी राज्य में अपने कृषि उत्पाद मिलने की छूट का गुणगान कर रहे हैं।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने पूछा है कि जब एक बार केंद्र सरकार की ओर से 60 लाख मीट्रिक टन चावल खरीदी की बात कही गई थी तो अब सिर्फ 24 लाख मीट्रिक टन की ही अनुमति क्यों दी गई है? हमें अगर अपनी मांग के अनुसार केंद्र से वादा ना मिल गया होता तो धान खरीदी और सुव्यवस्थित हो पाती।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि भाजपा सरकार ने अपने अंतिम कार्यकाल के वर्ष 17-18 में सिर्फ 12 लाख किसानों का धान खरीदा। 19.36 लाख हेक्टेयर रकबे का धान खरीदा जबकि 15 लाख किसान किसानों का पंजीयन था। कांग्रेस की सरकार इस साल अभी तक जब धान खरीदी के 10 दिन बचे हुए हैं 18.28 लाख किसानों का धान खरीद चुकी है। भाजपा सरकार के समय से 6.28 ज्यादा और 20.68 हेक्टेयर रकबा का धान रकबा का खरीद चुकी है। अभी तक धान खरीदी की जा रही है। पंजीयन में 21.52 किसानों का हुआ है। भाजपा की सरकार के मुकाबले इस साल 82 टन धान खरीदा जा चुका है जबकि उस साल पूरे समय में 56.88 लाख धान की खरीदी हुई है। इसे स्पष्ट है कि इन सारी चुनौतियों के बाद कांग्रेस की सरकार, भूपेश बघेल की सरकार बेहतर तरीके से ज्यादा धान खरीदी कर रही है।

पूर्व कृषिमंत्री बृजमोहन अग्रवाल नौसिखिया नेताओ जैसा झूठे एवं भ्रामक आंकड़े बता कर प्रदेश की जनता को गुमराह करने का प्रयास कर रहे है बृजमोहन अग्रवाल को खुली चुनौती अपने बताये गये आकड़ो के दस्तावेज प्रस्तुत करें नही तो माफी मांगे - विकाश तिवारी

रायपुर/ जनवरी 2021। छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव एवं प्रवक्ता विकास तिवारी ने भारतीय जनता पार्टी के नेताओं द्वारा किए गए प्रेस वार्ता पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि पूर्व कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल नौसिखिया नेताओ जैसा बयान बाजी कर रहे है।उनके द्वारा दिया गया बयान पूर्णता भ्रामक और कुंठा से ग्रसित है, पंद्रह सालो तक सत्ता में रहने के बाद विपक्ष की भूमिका अदा नहीं कर पा रहे हैं। पूर्वकृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि प्रदेश में 13 सौ करोड़ का धान सड़ चुका है यह आंकड़ा पूर्णता फर्जी और भ्रामक है प्रदेश भाजपा ने पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह के स्थान पर कब्जा करने हेतु पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल प्रदेश की जनता को दिग्भ्रमित करने का प्रयास कर रहे हैं जबकि आंकड़ों सहित हकीकत यह है कि-

खरीफ़ विपणन वर्ष 2019-20 में कुल 83.94 लाख मेट्रिक टन धान का उपार्जन किया गया था।

उक्त उपार्जित धान में से अब तक 80.37 लाख मेट्रिक टन धान का निराकरण कस्टम मिलिंग के माध्यम से किया जा चुका है।

वर्तमान स्थिति में लगभग 3.57 लाख मेट्रिक टन धान का निराकरण हेतु शेष है।

राज्य की उसना मिलिंग क्षमता सीमित होने, कोविड-19 की वैश्विक महामारी और राज्य में असामयिक वर्षा के कारण कस्टम मिलिंग का कार्य प्रभावित हुआ था।

खरीफ़ विपणन वर्ष 19-20 में एफसीआई में 28.10 लाख मे. टन में से 26.10 लाख मे टन चावल जमा किया जा चुका है, जो विगत वर्षों में जमा सीएमआर की तुलना में सर्वाधिक है ।

भारतीय खाद्य निगम में शेष सीएमआर जमा हेतु दिनांक 18.01.2021 को भारत सरकार द्वारा 31 जनवरी 2021 तक की समयावृद्धि प्रदान की गई है।

उक्त शेष धान के निराकरण हेतु कस्टम मिलिंग का कार्य प्रगतिरत है।18.1.2021 को समय वृद्धि के पश्चात 74000 मैट्रिक टन का डीओ जारी किया गया है, धान उठाव प्रगतिरत है।

प्रवक्ता विकास तिवारी ने कहा कि प्रदेश में वर्तमान में किसी भी स्थान में धान के सड़ जाने की जानकारी नही है तो किस आधार पर पूर्व कृषिमंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने तेरह सौ करोड़ के आंकड़े जारी किये है उन्हें प्रदेश की जनता को बताना चाहिये साथ ही झूठे और नौसिखिया नेताओ जैसा आंकड़े बताने के लिये माफी मांगनी चाहिये।

Previous123456789...3031Next