राजधानी

स्कूलों में प्रत्येक गुरुवार को आधा घंटा महामारी से बचाव के तरीके एवं सुरक्षित व्यवहार संबंधी गतिविधियां होगी संचालितस्कूल शिक्षा

रायपुर, 11 जुलाई २०२२ स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने कोविड महामारी से बचाव के लिए ‘सुरक्षित गुरूवार‘ कार्यक्रम का शुभारंभ किया। इस अवसर पर शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने अपने उद्बोधन में कहा कि ‘सुरक्षित गुरुवार‘ की अवधारणा ना सिर्फ बच्चों को सुरक्षित रखेगा अपितु स्कूल के व्यवस्थित संचालन में यह मील का पत्थर साबित होगा। भविष्य में ऐसी महामारियों के लिए यह कार्यक्रम जागरूकता हेतु उत्कृष्ट प्रयास है। मुझे विश्वास है छत्तीसगढ़ की शिक्षा पूर्ण रूप से कोरोना से सुरक्षित रहेगा।

स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. टेकाम ने कहा कि इस शताब्दी की सबसे बड़ी महामारी कोरोनाकाल में स्कूल बंद हुए और बच्चे घरों में कैद हो गए। बच्चों के लिए यह अत्यंत कठिन दौर था। इन परिस्थितियों में बच्चों के द्वारा सुरक्षित व्यवहार के माध्यम से अपने आपको तथा परिवार को प्रत्येक बच्चे को सुरक्षित कैसे रखें। इसको ध्यान में रखकर सुरक्षित गुरुवार की अवधारणा को प्रारंभ किया गया है। सुरक्षित गुरुवार में प्रत्येक गुरुवार को आधा घंटा महामारी से बचाव के तरीके एवं सुरक्षित व्यवहार को लेकर शालाओं में कार्य किया जाएगा, पाठ को लेकर वीडियो का भी निर्माण किया गया है। इसके साथ ही ‘सुरक्षित गुरुवार‘ किताब में क्यूआर कोड डाला गया है, जिससे आसानी से पूरी प्रक्रिया शिक्षक और बच्चे समझ सके।
उल्लेखनीय है कि कोविड महामारी ने कई क्षेत्रों में अपना प्रभाव डाला, शिक्षा के क्षेत्र में भी बड़ी हानि हुई है। वर्तमान में सरकार ने सभी स्कूल खोल दिए हैं तो यह जरूरी है कि कोविड अनुरूप व्यवहारों को मजबूत किया जाए। इसी प्रयास को ‘सुरक्षित गुरुवार‘ साकार करने का एक सशक्त माध्यम है। जिसे शिक्षा विभाग ने यूनिसेफ के सहयोग से तैयार किया है। ‘सुरक्षित गुरुवार‘ गतिविधियों पर आधारित 17 सप्ताह का एक कार्यक्रम है, जिसे कक्षा 1-5 तथा कक्षा 6-12 के लिए अलग-अलग बनाया गया है। इसमे प्रत्येक गुरुवार को 15-20 मिनट तक सभी शालाओं में कोविड संबंधित विभिन्न विषयों जैसे हाथ धुलाई, मास्क का सही उपयोग, टीकाकरण आदि पर गतिविधियाँ होंगी। शिक्षकों की सुविधा के लिए इसको वीडियो फॉर्म में भी बनाया गया है, जिससे सभी शालाओं में ये गतिविधियाँ एक समान संचालित हो।
गौरतलब है कि स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. टेकाम द्वारा बिहार राज्य में शाला सुरक्षा संबंधी कार्यक्रम का अवलोकन कर राज्य में भी बच्चों की सुरक्षा से संबंधी कार्यों को आगे बढाए जाने के निर्देश दिए हैं। जिसके परिपालन में शाला सुरक्षा से संबंधित विभिन्न कार्य, प्रचार-प्रसार हेतु पोस्टर्स एवं इस सत्र में कोरोना से बचाव को ध्यान में रखते हुए सुरक्षित गुरूवार संबंधी कार्यक्रम प्रारंभ किए जाने की घोषणा कर ‘सुरक्षित गुरूवार‘ से संबंधित सामग्री का विमोचन किया।
इस अवसर पर सचिव स्कूल शिक्षा डॉ. एस. भारतीदासन, प्रबंध संचालक समग्र शिक्षा नरेंद्र दुग्गा, यूनिसेफ के राष्ट्रीय एजुकेशन चीफ  टेरी डूरियन, लर्निंग लेंग्वेज फाउंडेशन के फाउंडर  धीर झींगरन, यूनीसेफ चीफ छत्तीसगढ़जॉब जकेरिया
 विशाल वासवानी  इमरजेंसी ऑफिसर, सहित बड़ी संख्या में शिक्षक एवं शिक्षा विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।

प्रो. बल्देव भाई शर्मा पत्रकारिता के क्षेत्र में लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड से अलंकृत

रायपुर। 17 अप्रैल, 2022 कुशाभाऊ ठाकरे पत्रकारिता एवं जनसंचार विश्वाविद्यालय के कुलपति प्रो. बल्देव भाई शर्मा को पत्रकारिता के क्षेत्र में उत्कृष्ट सेवाओं के लिए लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड से अलंकृत किया गया। प्रो. शर्मा को यह अवार्ड स्टेट प्रेस क्लब मध्यप्रदेश द्वारा इन्दौर में आयोजित भारतीय पत्रकारिता महोत्सव में प्रदान किया गया। यह पुरस्कृत प्रो. शर्मा को ढाका से आए प्रख्यात मीडिया शिक्षक उज्जवल चौधरी और वरिष्ठ पत्रकार कृष्ण कुमार अष्ठाना द्वारा प्रदान किया गया। प्रो. बल्देव भाई शर्मा लगातार 40 से अधिक वर्षों से पत्रकारिता के क्षेत्र में सक्रिय रूप से कार्यरत रहे हैं। इस दौरान देश के सभी प्रमुख मीडिया संगठनो एवं समाचार पत्रों में कार्य किया है। प्रो. बल्देव भाई शर्मा को पूर्व में राष्ट्रपति द्वारा राष्ट्रीय पत्रकारिता सम्मान सहित अनेक सम्मान मिल चुके हैं। वे भारत सरकार के प्रमुख संस्थान नेशनल बुक ट्रस्ट के अध्यक्ष रह चुके हैं। सक्रिय पत्रकारिता में रहते हुए वे दैनिक भास्कर, अमर उजाला, पांचजन्य, स्वदेश और नेशनल दुनिया के संपादक रहे हैं। पत्रकारिता के क्षेत्र में प्रो. शर्मा को लाइफटाइम अचिवमेंट अवॉर्ड प्राप्त होने पर कुशाभाऊ ठाकरे पत्रकारिता एवं जनसंचार विश्वविद्यालय के जनसंचार विभाग के अध्यक्ष डॉ. शाहिद अली, इलेक्ट्रॉनिक मीडिया विभाग के अध्यक्ष डॉ. नरेन्द्र त्रिपाठी, पत्रकारिता विभाग के अध्यक्ष पंकज नयन पांडेय, जनसंपर्क विभाग के अध्यक्ष डॉ. आशुतोष मंडावी, प्राध्यापक शैलेन्द्र खंडेलवाल, डॉ. नृपेंद्र शर्मा, डॉ. राजेन्द्र मोहंती सहित देश के विभिन्न पत्रकारों एवं शिक्षाविदों ने बधाइयां दी हैं।

जीकेसी के मीडिया प्रभारी बने छत्तीसगढ़ के प्रभाकर श्रीवास्तव

रायपुर पूरे विश्व में कायस्थ समाज के उत्थान के लिए काम करने वाली संस्था ग्लोबल कायस्थ कॉन्फ्रेंस(जीकेसी) के मीडिया प्रभारी बने छत्तीसगढ़ के रायपुर सड्डू के रहने वाले प्रभाकर श्रीवास्तव, यह संस्था मूल रूप से गरीब ,शोषित, पीड़ित, वंचित के लिए काम करती है समाज के अंतिम पंक्ति में खड़े लोगों को मुख्यधारा में लाने का प्रयास करती हैं इस संस्था का मुख्यालय पटना है इस संस्था के राष्ट्रीय अध्यक्ष जदयू के सचिव सह प्रवक्ता श्री राजीव रंजन प्रसाद है

कोरबा एवं अमृतसर के मध्य त्रि-साप्ताहिक ट्रेन अब सप्ताह में 04 दिन चलेगी

रायपुर –09 फरवरी,2022/ रेल यात्रियों की सुविधाओं एवं मांग को ध्यान में रखते हुए दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे, रायपुर मंडल से होकर जाने वाली 18237 / 18238 कोरबा–अमृतसर त्रि - साप्ताहिक ट्रेन की सुविधा सप्ताह में 03 दिन मिल रही है। इस गाड़ी का परिचालन विस्तार करके सप्ताह में 04 दिन किया गया हैं। गाड़ी संख्या 18237 कोरबा – अमृतसर ट्रेन कोरबा से दिनांक 17 फरवरी, 2022 से प्रत्येक मंगलवार, बुधवार, *गुरुवार* एवं शुक्रवार को चलेगी । इसी प्रकार विपरीत दिशा में भी गाड़ी संख्या 18238 अमृतसर – बिलासपुर ट्रेन अमृतसर से दिनांक 19 फरवरी,2022 से प्रत्येक गुरुवार, शुक्रवार, *शनिवार* एवं रविवार को चलेगी ।

आदर्श गौरव समाज भूषण अलंकार सम्मान से पूर्णिमा कौशिक को सम्मानित किया गया

रायपुर - दूधाधारी मठ, रायपुर में छत्तीसगढ़ स्वाभिमान संस्था के अध्यक्ष डॉ. उदयभान सिंह चौहान (भागीरथ छत्तीसगढ़ राज्य निर्माण) एवं संरक्षक- राजेश्री डॉ. महंत रामसुंदर दास दूधाधारी मठ रायपुर (पूर्व विधायक एवं अध्यक्ष गौ सेवा आयोग) तथा रामेश्वर शर्मा डॉ.ममता आहार एवं अन्य गणमान्य नागरिक कि उपस्थित में छेरछेरा पुन्नी के विशेष अवसर पर आशीर्वाद एवं आदर्श गौरव समाज भूषण अलंकार सम्मान से पूर्णिमा कौशिक सहायक प्राध्यापक कमलाकांत इंस्टीट्यूट भाटापारा को सम्मानित किया गया। इस शुभ अवसर पर डॉ. मंहत रामसुंदर दास जी ने छेरछेरा पुन्नी के पावन पर्व पर अपने विचार प्रकट किए और सभी को बधाइयां दी। इस सम्मान के लिए पूर्णिमा कौशिक को परिवार और मित्रों ने शुभकामनाएं और बधाइयां दी।

यात्रियों की सुविधाओ को ध्यान में रखते हुये रेलवे प्रशासन के द्वारा दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे से होकर जाने वाली 50 यात्री गाड़ियो की समय सारणी में संशोधन

बिलासपुर- 11 जनवरी, 2022 यात्रियों की सुविधाओ को ध्यान में रखते हुये रेलवे प्रशासन के द्वारा दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे से होकर जाने वाली 50 यात्री गाड़ियो की समय सारणी में आंशिक रूप संशोधन किया जा रहा है । इन गाड़ियो की अन्य रेलवे स्टेशनों की समय सारणी यथावत रहेगी । संशोधन समय-सारिणी इस प्रकार है-????

गणतंत्र दिवस पर विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत कोरिया जिला मुख्यालय में फहराएंगे राष्ट्रीय ध्वज

रायपुर. / मुख्यमंत्री भूपेश बघेल आगामी गणतंत्र दिवस के मौके पर 26 जनवरी को बस्तर जिला मुख्यालय जगदलपुर में राष्ट्रीय ध्वज फहराएंगे। छत्तीसगढ़ विधानसभा के अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत कोरिया जिला मुख्यालय बैकुंठपुर में ध्वजारोहण करेंगे। राज्य शासन ने गणतंत्र दिवस पर जिला मुख्यालयों में राष्ट्रीय ध्वज फहराने वाले मुख्य अतिथियों की सूची जारी कर दी है। गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू महासमुंद, स्वास्थ्य मंत्री टी.एस. सिंहदेव कवर्धा, कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे राजनांदगांव, वन मंत्री मोहम्मद अकबर दुर्ग, स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम कोरबा, उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री कवासी लखमा दंतेवाड़ा, खाद्य मंत्री अमरजीत भगत गरियाबंद, राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल गौरेला, नगरीय प्रशासन एवं विकास मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया अंबिकापुर, महिला एवं बाल विकास मंत्री अनिला भेड़िया कांकेर, उच्च शिक्षा मंत्री उमेश पटेल बलौदाबाजार तथा लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री गुरू रूद्र कुमार मुंगेली में ध्वजारोहण करेंगे। गणतंत्र दिवस पर विधानसभा के उपाध्यक्ष मनोज सिंह मंडावी रायगढ़, संसदीय सचिव गुरूदयाल सिंह बंजारे बालोद, संसदीय सचिव विकास उपाध्याय बिलासपुर, संसदीय सचिव चंद्रदेव राय जांजगीर, संसदीय सचिव चिंतामणी महराज जशपुर और संसदीय सचिव शिशुपाल सोरी कोंडागांव में राष्ट्रीय ध्वज फहराएंगे। विधायक बृहस्पत सिंह सूरजपुर, विधायक अनिता शर्मा धमतरी, विधायक ममता चन्द्राकर बेमेतरा, विधायक विनय जायसवाल बलरामपुर, विधायक चंदन कश्यप सुकमा, विधायक संतराम नेताम नारायणपुर और विधायक विक्रम मंडावी बीजापुर में झंडारोहण करेंगे।

10 लाख लोगों को साइबर सुरक्षा की निशुल्क ट्रेनिंग साइबर एक्सपर्ट मोनाली गुहा टीम द्वारा

आज सोशल मीडिया के इस्तेमाल से कोई अछूता नहीं है। सभी काम व्हाट्सएप, फेसबुक,twitter instagram online के माध्यम से किए जा रहे हैं। जिसपर छत्तीसगढ़ की जानी मानी साइबर एक्सपर्ट टीम मोनाली गुहा, सोनाली गुहा, और आयुष गुहा ने साइबर सिक्योरिटी अवेयरनेस मिशन के तहत डॉ राधा बाई शासकीय नवीन कन्या महाविद्यालय की छात्राओं को साइबर सिक्योरिटी से जुड़े तथ्यों और नियमों के बारे में बताया। 2013-14 से शुरू हुये इस मिशन के तहत समाज के विभिन्न वर्गो और महाविद्यालय की छात्राओं के साथ 10 लाख लोगों को साइबर सिक्योरिटी की निशुल्क ट्रेनिंग प्रदान करने का लक्ष्य प्राप्त किया । इंटरनेशनल साइबर एक्सपर्ट मोनाली का कहना है कि यह मिशन आजीवन इसी तरह सुचारू रूप से जारी रहेगा एवं जल्द से जल्द छत्तीसगढ़ को देश का सबसे पहले सुरक्षित राज्य बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी जाएगी । करोना काल में जागरूकता लाने समाज के अलग-अलग वर्गों को समय-समय पर ट्रेनिंग प्रदान की।ट्रेनिंग में छात्राओं को सोशल मीडिया सुरक्षा, मोबाइल एवं ऑनलाइन फ्रॉड, बैंकिंग सुरक्षा , IT नियम एवं आईटी एक्ट 2000, लेटेस्ट अमेंडमेंट, आईपीसी, सीआरपीसी एवं विभिन्न महिला सुरक्षा कानून एवं सहायता से जुड़े प्रावधानों की जानकारी प्रदान की।बढ़ते अपराधों को देख ऑनलाइन समाधान की भी व्यवस्था अपनी टीम के साथ मिलकर प्रदान की। छत्तीसगढ़ प्रदेश को साइबर अपराध से मुक्त कराने का प्रण पूरे परिवार ने अपना कर्तव्य स्वरूप अपना रखा है। साइबर सुरक्षा पर जोर देते हुए मोनाली और उनकी टीम ने छात्राओं को साइबर सुरक्षा के उपाय और गुरु बताएं महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ व्ही.के. जोशी ने सभी को सुरक्षा नियमों का पालन करने निर्देश का पालन करने कहां एवं 10लाख का लक्ष्य प्राप्त करने टीम को बधाई दी। कार्यक्रम का आयोजन राजश्री महिला स्व सहायता समूह महावीर नगर की अध्यक्ष श्रीमती निधि अग्रवाल द्वारा किया गया था।

सूबेदार से रक्षित निरीक्षक और उप निरीक्षक से निरीक्षक पद पर पदोन्नति हेतु योग्यता सूची जारी

रायपुर 31 दिसम्बर 2021, पुलिस महानिदेशक छत्तीसगढ़ द्वारा सशस्त्र बल के 248 आरक्षकों को प्रधान आरक्षक (जीडी) के पद पर पदोन्नत कर छ.स.बल की विभिन्न इकाइयों में पदस्थ किया गया।

सुप्रीम कोर्ट कमेटी आन रोड सेफ्टी के अध्यक्ष न्यायमूर्ति श्री अभय मनोहर सप्रे, पूर्व न्यायाधीश सुप्रीम कोर्ट ने ली रोड सेफ्टी को लेकर जिले में प्रदेश स्तरीय समीक्षा बैठक*

दुर्ग 21 दिसंबर 2021/यदि 40 किमी प्रति घंटा की स्पीड हो तो दुर्घटना में बचने की पूर्ण संभावना होती है। यदि यह रफ्तार दोगुनी हो तो बचने की संभावना केवल 20 फीसदी रह जाती है। यह बात सुप्रीम कोर्ट कमेटी आन रोड सेफ्टी के अध्यक्ष एवं सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायाधीश श्री अभय मनोहर सप्रे ने रोड सेफ्टी को लेकर जिले में हुई प्रदेश स्तरीय समीक्षा बैठक में बताई। उन्होंने छत्तीसगढ़, भारत और दुनिया के अनेक देशों में सड़क दुर्घटनाओं के आंकड़ों की जानकारी दी तथा तुलनात्मक समीक्षा भी की। उन्होंने बताया कि जिन देशों में रोड सेफ्टी को लेकर ज्यादा जागरूकता है वहां इनकी संख्या में तेजी से गिरावट आई है। वियतनाम का उदाहरण देते हुए उन्होंने बताया कि इस संबंध में बेहद गंभीर उपाय बरतने से वहां सड़क दुर्घटना में मौतों की संख्या में काफी गिरावट आई। उन्होंने कहा कि अधिकतम मौत तेज रफ्तार गाड़ी चलाने से होती हैं इसके बाद हेल्मेट नहीं पहनने, सीट बेल्ट आदि नहीं लगाने जैसे सुरक्षा उपाय नहीं अपनाने से मौतें होती हैं। शराब पीकर गाड़ी चलाने से भी बड़ी संख्या में मौतें होती हैं। उन्होंने कहा कि लोग अपनी सुरक्षा के प्रति जागरूक होकर सेफ्टी रूल्स अपनायें तो ज्यादातर मौतें घट सकती हैं। सड़क सुरक्षा से जुड़े अधिकारी इस बात में बेहद गंभीरता से काम करते हुए सेफ्टी रूल्स का अनुपालन सुनिश्चित कराएं। सख्त मानिटरिंग से स्वतः ही लोग ट्रैफिक नियमों को अपनाने लगते हैं। बैठक में सचिव यातायात श्री टोपेश्वर वर्मा भी उपस्थित थे। उन्होंने बताया कि सड़क सुरक्षा को लेकर शासन ने विशेष रूप से फंड दिया है। सड़क सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए इंस्टीट्यूट आफ ड्राइविंग ट्रेनिंग एंड रिसर्च इंस्टीट्यूट 17 करोड़ की लागत से तेंदुआ में बनाया गया है। 5.22 करोड़ रुपए की लागत से क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय रायपुर में ई-ट्रैक बनाया गया है। आईजी श्री ओपी पाल ने बताया कि प्रशासन द्वारा नियमित रूप से मोटर व्हीकल एक्ट के गाइडलाइन के मुताबिक जांच की जा रही है। जागरूकता कार्यक्रम भी चलाया जा रहा है। कलेक्टर डा. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने बताया कि सड़क सुरक्षा को लेकर नियमित रूप से समीक्षा बैठक होती है और इसके अनुरूप निर्णय लिये जाते हैं। लोगों की सुरक्षा को सर्वाेच्च प्राथमिकता देकर कार्य किया जा रहा है। एसपी श्री बद्रीनारायण मीणा ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों में अंजोर रथ के माध्यम से यातायात जागरूकता के लिए कार्य किया जा रहा है। ट्रैफिक डीएसपी श्री गुरजीत सिंह ने बताया कि दुर्ग जिले में लगातार एहतियाती कदम उठाये जाने से सड़क दुर्घटना में मौतों की संख्या में कमी आई है। *छत्तीसगढ़ में हो रहे ये उपाय-* सड़क सुरक्षा को लेकर छत्तीसगढ़ सरकार के प्रयासों के बारे में जानकारी इंटर डिपार्टमेंट लीड एजेंसी के चेयरमैन श्री संजय शर्मा ने दी। उन्होंने बताया कि तेंदुवा में ड्राइविंग ट्रेनिंग एवं रिसर्च सेंटर में अभी 200 वाहन चालकों को विश्वस्तरीय इंफ्रास्ट्रक्चर में ट्रेनिंग दी जा रही है। स्कूल में सिलेबस में रोड सेफ्टी को शामिल किया गया है। सड़क सुरक्षा को लेकर रायपुर जिले में पायलेट प्रोजेक्ट चल रहा है इसमें अधिक दुर्घटना वाले 83 गांवों में सड़क सुरक्षा को लेकर चौपाल आयोजित कराई गई है। इससे दुर्घटनाओं में कमी परीलक्षित हुई है। उन्होंने बताया कि ओवर लोडेड वाहनों पर इस साल 4 लाख 81 हजार प्रकरण प्रदेश भर में दर्ज किये गये। मुख्य सड़कों की सुरक्षा आडिट कराई गई और 53 सड़कों में सुधार कार्य किया गया। जंक्शन सुधार के 1797 कार्य किये गये। यातायात नियमों के उल्लंघन के 3 लाख 59 हजार प्रकरणों पर कार्रवाई की गई। सड़क सुरक्षा के लिए रंबल स्ट्रिप, ब्लिंकर्स आदि भी बनाये गये। *रोड सेफ्टी अब सीएसआर में भी शामिल-* अध्यक्ष श्री सप्रे ने बताया कि रोड सेफ्टी अब सीएसआर में भी शामिल है। कोयंबटूर का उदाहरण देते हुए उन्होंने बताया कि यहां पर होंडा सिटी कंपनी ने सीएसआर से मोटर व्हीकल एक्ट की जागरूकता को लेकर पार्क बनाया है। उन्होंने कहा कि इसी तरह से सोशल मीडिया में वीडियो आदि के माध्यम से व्यापक जागरूकता कार्यक्रम चलाया जा सकता है। ःः000ःः

प्रजापिता ब्रम्हाकुमारी संस्थान शांति सरोवर रायपुर मे राजयोगी ब्रम्हा कुमार ओम प्रकाश भाई की छठवीं पुण्यतिथि के अवसर पर मीडिया परिसंवाद आयोजन

रायपुर - प्रजापिता ब्रम्हाकुमारी संस्थान शांति सरोवर रायपुर मे राजयोगी ब्रम्हा कुमार ओम प्रकाश भाई की छठवीं पुण्यतिथि के अवसर पर आयोजित मीडिया परिसंवाद जिसका विषय "मूल्य गत मीडिया व वर्तमान चुनौतियाँ " रखा गया उक्त कार्यक्रम पर भाटापारा के पत्रकारों सहित भारी संख्या मे अन्य क्षेत्र के भी पत्रकार शामिल हुये जहाँ पर विशेष रुप से उक्त संस्थान की ब्रम्हा कुमारी कमला दीदी क्षेत्रीय निर्देशिका इन्दौर जोन, सविता दीदी, रमेश नैय्यर वरिष्ठ पत्रकार, बल्देव शर्मा कुलपति कुशाभाऊ ठाकरे पत्रकारिता एवं जनसंचार विश्वविद्यालय रायपुर ,शिव दुबे संपादक ,आर कृष्ण दास संपादक,,सिरिश मिश्रा संपादक , सरिता बहेन, आन लाईन वार्ता मे शामिल हुये हेमलता दीदी , एन. के. सिंह वरिष्ठ पत्रकार दिल्ली, वही कार्यक्रम का संचालन प्रियंका कौशल ने अपने प्रखर अंदाज मे किया आज के पत्रकारिता मे मूल्यों की कमी कार्यक्रम के शुरुआत मे आनलाईन वार्ता के माध्यम से ब्रम्हा कुमारी हेमलता दीदी ने कहा की आज के पत्रकारिता मे मूल्यों की कमी होता जा रहा है जिसके कारण पत्रकारिता आज कठिन दौर से गुजर रहा है साथ ही उन्होंने यह भी कहा की यह आम जनता की आवाज है व मशाल के रुप मे सदैव धधकती रहनी चहिये इसकी रोशनी कभी कम नही होना चहिये वरना लोकतंत्र की आवाज दब जायेगा। कुलपति बलदेव शर्मा ,पत्रकारिता विश्वविद्यालय कुशाभाऊ ठाकरे विश्वविद्यालय के कुलपति बलदेव शर्मा ने आयोजित मीडिया परिसंवाद मे कहा की यह दौर विकट है,मूल्यों की बात दूर है, इंसनियत को बचाना मुश्किल है ,पत्रकारिता इंसनियत की मशाल है, जो मूल्यों को बचाये रखता है। गरल कि तरहा कडवाहट को पीना व समाज मे खुशी बाटना पत्रकार का प्रथम ध्येय होता है, निर्भयता , सजगता, समर्पणता पत्रकारिता का मूल गुण होता है , अखबार को प्रतिस्पर्धा का सामना करना पड रहा है। वही संपादक शिव दुबे ने उदबोधन मे कहा की समय के साथ साथ मीडिया का भी भूमिका बदल रहा है । आज के दौर मे अखबार अक्रामक हो गया है ,साथ ही प्रतिस्पर्धा का भी सामना करना पड रहा है, वही सोशल मीडिया के दौर मे कोई भी समाचार दबाया नही जा सकता ,प्रिन्ट अखबार का लागत बडा है इस कारण चुनौतियां भी हावी हुआ है , परंतु पत्रकारिता को लोग अपने अपने नजरिये से देखते है ,किसी भी जनहित के मुद्दे पर लोगों पर इसका विशेष प्रभाव नही दिखता , लोग एक दूसरे पर थोपकर अपने अपने जवाबदारी से बचने का प्रयास करते है ,अगर बदलाव खुद मे हो तो समाज मे बदलाव आयेगा व पत्रकारिता के मूल्यों मे भी वृध्दि हो सकता है, आर.कृष्ण दास ..संपादक पत्रकारिता के मूल्यों व चुनौतियों के कडी के बीच लीडरशिप का सशक्त नेतृत्व आवश्यक है , वही वरिष्ठ पत्रकार रमेश नैय्यर ने कहा की मन शांति व मन पर नियंत्रण पत्रकारिता के मूल्यों व चुनौतियों के बीच आवश्यक है। अंत मे आभार प्रदर्शन के रुप मे कमला बहेन ने कहा की राजयोग से आत्मबल मनोबल सशक्त होता है साथ ही शुध्दि करण व दुआ देना सिखाता है,व शुभ संकल्पों का खजाना जमा होता है ,

नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक के सवाल पर सरकार ने सदन को बताया.. छत्तीसगढ़ पर संभावित आय से अधिक कर्ज, हर साल राज्य सरकार को 5000 करोड रुपए से अधिक का केवल ब्याज बताना पड़ रहा

रायपुर – छत्तीसगढ़ सरकार कर्ज के बोझ में दबती जा रही है। हालात ऐसे हैं कि सरकार पर अनुमानित राजस्व आय का 106% कर्ज भार है, मतलब, जितनी आय संभावित है उससे कहीं अधिक कर्ज है। बजट 2021-22 के मुताबिक प्रदेश में 79 हजार 325 करोड़ रुपए की कुल राजस्व प्राप्तियां अनुमानित हैं। कर्ज की यह मात्रा छत्तीसगढ़ के सकल घरेलू उत्पाद (GDP)का 22% होता है। नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक के सवाल के लिखित उत्तर में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बताया कि दिसम्बर 2018 से 24 नवम्बर 2021 तक सरकार ने 51 हजार 335 करोड़ रुपए का कर्ज लिया है। यह कर्ज भारतीय रिजर्व बैंक की उधारी है। नाबार्ड से लिया गया और केंद्र सरकार ने उपलब्ध कराया है। हालात ऐसे हैं कि सरकार को हर साल करीब 5 हजार करोड़ रुपए से अधिक का केवल ब्याज चुकाना पड़ रहा है। विधानसभा में दिए गए उत्तर के मुताबिक सरकार ने दिसम्बर 2018 से मार्च 2019 तक ब्याज के रूप में विभिन्न वित्तीय संस्थाओं को 1771 करोड़ 94 लाख रुपए का भुगतान किया। वहीं 590 करोड़ 64 लाख रुपए मूलधन के दिए।

चेन्नई में होने वाली अखिल भारतीय रेलवे बॉडीबिल्डिंग प्रतियोगिता में दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के खिलाड़ी लेंगे हिस्सा

रायपुर- दिनांक 15 से 17 दिसंबर 2021 को होने वाली अखिल भारतीय रेलवे बॉडी बिल्डिंग प्रतियोगिता आईसीएफ़ चेन्नई में आयोजित होने जा रही है रही है इस प्रतियोगिता में दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के विश्व स्तर के खिलाड़ी हिस्सा लेंगे टीम में मुख्य रूप से वर्तमान विश्व विजेता टी रामा कृष्णा, मोहन सुब्रमण्यम आकाश दास, अंकित, संतोष करोसिया हिस्सा लेंगे वहीं इस बार अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी विनय पांडे दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे बॉडीबिल्डिंग टीम के प्रशिक्षक एवं रामनारायण टीम मैनेजर बनकर इस प्रतियोगिता में हिस्सा लेंगे। अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी विनय पांडे दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे बॉडीबिल्डिंग टीम के प्रशिक्षक, रायपुर रेल मंडल में पदस्थ है एवं रामनारायण टीम मैनेजर वैगन रिपेयर शॉप(डब्ल्यू आर एस) रायपुर में पदस्थ है। दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे खेल संघ ने इस प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए टीम को अग्रिम बधाई दी दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे को आशा ही नहीं विश्वास है कि इस अखिल भारतीय रेलवे बॉडी बिल्डिंग प्रतियोगिता में दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे की टीम अपना अच्छा प्रदर्शन कर अधिक से अधिक पदक प्राप्त करेगी।

छत्तीसगढ़ी भाषा और संस्कृति को आगे बढ़ाने में साहित्यकारों एवं भाषाविदों का महत्वपूर्ण योगदान: मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के हाथों छत्तीसगढ़ी साहित्यकार एवं भाषाविद् हुए सम्मानित

रायपुर, 28 नवम्बर 2021 मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज यहां अपने निवास कार्यालय में छत्तीसगढ़ी राजभाषा दिवस के अवसर पर छत्तीसगढ़ी साहित्यकारों एवं भाषाविदों के सम्मान समारोह को सम्बोधित करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ी भाषा और संस्कृति, हमारी अस्मिता और पहचान है। छत्तीसगढ़ राज्य के निर्माण के पीछे अपनी इसी अस्मिता और पहचान को बनाए रखने की ललक थी। मुख्यमंत्री ने कहा कि बीते तीन सालांे में छत्तीसगढ़ की कला, संस्कृति और भाषा को लगातार बढ़ावा दिया जा रहा है, इसमें छत्तीसगढ़ी साहित्यकारों और भाषाविदों का महत्वपूर्ण योगदान है। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर छत्तीसगढ़ी राजभाषा के 19 साहित्यकारों-भाषाविदों को राज गमछा और प्रशस्ति पत्र भेंटकर सम्मानित किया और उन्हें बधाई व शुभकामनाएं दी। सम्मान समारोह की अध्यक्षता संस्कृति मंत्री श्री अमरजीत भगत ने की। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि राज्य निर्माण के बाद भी छत्तीसगढ़ी भाषा और संस्कृति को बचाएं रखने के लिए जैसा काम होना चाहिए था, वैसा काम नहीं हो पाया था। छत्तीसगढ़ी राजभाषा जरूर बन गई, लेकिन छत्तीसगढ़ी बोलने और लिखने को लेकर हिचक दूर नहीं हुई थी। बीते तीन सालों में स्थिति बदली है, अब मंत्रालय से लेकर बड़े-बड़े प्रतिष्ठानों एवं सार्वजनिक कार्यक्रमों में छत्तीसगढ़ी बोली जाने लगी है। वर्ष 2019 में अरपा-पैरी के धार... हमारा राजगीत बना। स्कूलों में अब छत्तीसगढ़ी एवं स्थानीय बोलियों में पढ़ाई शुरू हो चुकी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार ने छत्तीसगढ़ी भाषा और संस्कृति के गौरव को पुनः स्थापित करने का काम किया है। छत्तीसगढ़ के तीज त्यौहारों पर अवकाश देकर हमनें लोगों में छत्तीसगढ़ी संस्कृति को लेकर आत्म गौरव को जगाया है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को इस मौके पर साहित्यकारों एवं भाषाविदों ने महात्मा फुले समता पुरस्कार से सम्मानित होने की गौरवपूर्ण उपलब्धि के लिए बधाई और शुभकामनाएं दीं। मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्हें मिला महात्मा फुले समता पुरस्कार वास्तव में छत्तीसगढ़ का सम्मान है। मुख्यमंत्री ने इस मौके पर महात्मा ज्योतिबा फुले के व्यक्तित्व एवं कृतित्व का उल्लेख करते हुए कहा कि उन्होंने समाज के वंचितों, पीड़ितो और तिरस्कृत लोगों को जीवन की राह दिखाई और उन्हें समाज में सम्मान दिलाया। महात्मा फुले आजीवन समाज में समानता की स्थापना के लिए कार्य किये। वह महान समाज सुधारक थे। ऐसे महापुरूष के नाम पर उन्हें सम्मान मिलना, छत्तीसगढ़ के लिए गौरव की बात है। संस्कृति मंत्री अमरजीत भगत ने इस अवसर पर कहा कि मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने छत्तीसगढ़ एवं छत्तीसगढ़िया लोगों के स्वाभिमान को जगाया है। हमारी भाषा, संस्कृति एवं परम्परा को मुख्यमंत्री के प्रयासों से एक नई पहचान मिली है। उन्होंने राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव का उल्लेख किया और कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की पहल पर छत्तीसगढ़ की फिल्म नीति बनी है। कलाकारों को आगे बढ़ाने का लगातार प्रयास किया जा रहा है। राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पुरस्कृत छत्तीसगढ़ी फिल्मांे के लिए क्रमशः एक करोड़ और 5 करोड़ रूपए के पुरस्कार का प्रावधान किया गया है। संस्कृति विभाग के सचिव श्री अन्बलगन पी. ने कहा कि आज राजभाषा दिवस के उपलक्ष्य में संगोष्ठी का आयोजन किया गया, जिसमें छत्तीसगढ़ी भाषा को आगे बढ़ाने के संबंध में साहित्यकारों एवं भाषाविदों ने गहन विचार-विमर्श किये। इस मौके पर वरिष्ठ साहित्यकार डॉ. बिहारी लाल साहू, हर प्रसाद निडर, डॉ. अनुसुईया अग्रवाल, डॉ. सुरेश देशमुख, पुनूराम साहू, अरूण निगम, डॉ. कुसुम माधुरी टोप्पो, गिरवरदास मानिकपुरी, रमेश विश्वहार, बंधु राजेश्वर खरे, श्याम वर्मा, गुलाल वर्मा, डॉ. दीनदयाल साहू , संदीप अखिल, नवीन देवांगन , लता राठौर, डॉ. सुधीर पाठक, जयमति कश्यप और तृप्ति सोनी को सम्मानित किया गया। कार्यक्रम का संचालन साहित्यकार विजय मिश्रा ने किया । इस अवसर पर संचालक संस्कृति एवं पुरातत्व विवेक आचार्य, छत्तीसगढ़ राजभाषा आयोग के सचिव अनिल भतपहरी सहित अन्य गणमान्य लोग उपस्थित थे।

रायपुरा में एच एम मल्टीस्पेशलिटी हॉस्पिटल का शुभारंभ

रायपुर - राजधानी रायपुर में मरीजों को आधुनिकतम चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने एच एम मल्टीस्पेशलिटी हॉस्पिटल का शुभारंभ प्रबोधिनी एकादशी (देवउठनी) के दिन हुआ छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में आधुनिक चिकित्सा सुविधाओं का विस्तार काफी तेज गति से हुआ है। नि:संदेह इस चिकित्सा विस्तार को गति प्रदान करने रायपुर में एक और नाम जुड़ गया जब एच एम मल्टीस्पेशलिटी हॉस्पिटल का शुभारंभ दिनाँक 15 नवम्बर 2021 को किया गया। नई चिकित्सा पद्धति, बेहतर सुविधाओं एवं विशेषज्ञ डाक्टर्स के टीम के साथ एच एम मल्टीस्पेशलिटी हास्पिटल के रूप में प्रारंभ किया हुआ है जो राजधानी रायपुर के नये अंतर्राज्यीय बस स्टैंड भाठागांव से चंद दूरी रिंग रोड न. 1 रायपुरा ओवरब्रिज के पास, अग्रोहा कॉलोनी, रायपुरा में स्थित है हास्पिटल के डायरेक्टर डॉ. विकास बांबेश्वर (MBBS, MD. Pathologist), प्रकाश राव बाबर एवं डॉ. संजय साहू ने बताया कि लोगों को इस हास्पिटल में मेडिकल सुविधाएं बेहतर और आधुनिक ढंग से मिलेंगी जिसका मूल उद्देश्य स्वास्थ्य, सेवा एवं विश्वास है, इस 100 बेड के हास्पिटल में 24×7 एक्सीडेंटल ट्रामा इमरर्जेन्सी के साथ अन्य उपलब्ध सुविधाओं में जनरल मेडिसिन, जनरल सर्जरी, स्त्री रोग विभाग, हड्डी रोग विभाग, न्यूरो सर्जरी विभाग, न्यूरो मेडिसिन विभाग, केंसर सर्जरी, नेफ्रोलॉजी विभाग, युरोसर्जरी, छाती एवं स्वास रोग विभाग, प्लास्टिक सर्जरी विभाग, नाक-कान-गला रोग विभाग, ईसीजी, फार्मेसी, पैथोलॉजी एवं 20 बेड आईसीयू सुविधा उपलब्ध, 24 घंटे एम्बुलेंस सुविधा वेंटिलेटर के साथ, अन्य आधुनिकतम सुविधाएँ एक ही जगह, विशेषज्ञ डॉक्टर एवं प्रशिक्षित, कुशल व अनुभवी स्टाफ के साथ उपलब्ध होगी।
Previous123456789...3637Next