राजधानी

रायपुर नगर निगम पहुंचे कांग्रेस के जीते हुवें पार्षद…पीसीसी चीफ भी मौजूद

रायपुर। नगर निगम के सभी 7 निर्दलीय पार्षदों ने कांग्रेस को अपना समर्थन दे दिया है. कांग्रेस और सभी निर्दलीय पार्षद रायपुर नगर निगम पहुंच गए हैं. पीसीसी चीफ मोहन मरकान ने कहा कि सभी निर्दलीय और बीजेपी के कुछ पार्षद कांग्रेस के समर्थन में है. अब यह तय है कि कांग्रेस का ही महापौर बनेगा.

छत्तीसगढ़ विधानसभा के सेंट्रल हाल में देश के महान विभूतियों के तैलचित्र का अनावरण

रायपुर। विधानसभा के सेंट्रल हाल में महान विभूतियों महात्मा गांधी,सरदार वल्लभभाई पटेल, इंदिरा गांधी और राजीव गांधी के तैलचित्र का समारोहपूर्वक अनावरण किया गया। प्रदेश में नयी सरकार के गठन और विधानसभा की कार्यवाही का एक वर्ष पूर्ण होने पर आयोजित कार्यक्रम में विधानसभा अध्यक्ष चरणदास महंत, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक, मंत्रीगण और विधायकगण शामिल हुए। सेंट्रल हॉल में आयोजित कार्यक्रम में विधानसभा अध्यक्ष डॉ.चरणदास महंत ने कहा कि देश की महान विभूतियों की तस्वीर यहां लगने से हमें इनके कार्यों और सिद्धांतों से सतत् प्रेरणा मिलेगी। साथ ही विधानसभा की गौरवशाली परम्परा और समृद्ध होगी। इस हॉल का उपयोग लोकसभा के सेंट्रल हाल के समान विधायकगण, पूर्व विधायक और वरिष्ठ मीडियाकर्मी के लिए एवं विविध आयोजनों के लिए किया जाएगा। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सरकार के कार्यकाल में विधानसभा की कार्यवाही को एक वर्ष पूर्ण होने पर सभी विधायकों को बधाई और शुभकामनाएँ दी। उन्होंने कहा कि सेंट्रल हॉल को जीवंत करने के लिए जो भी सुझाव और सहमति बनेगी सरकार उसे पूरा करेगी। इस मौके पर विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने विधानसभा अध्यक्ष के रूप में डॉ.महंत के एक वर्ष के कार्यकाल की बधाई देते हुए उनके व्यक्तित्व और उनके राजनीतिक कार्यों की सराहना की। साथ ही छत्तीसगढ़ विधानसभा की कार्यशैली का अन्य राज्यों में सराहना का भी उन्होंने उल्लेख किया। पूर्व मंत्री और विधायक अजय चंद्राकर ने तैलचित्र के अनावरण के लिए बधाई देते हुए सेंट्रल हाल को जीवंत रखने और रियायती दर पर जलपान और भोजन की व्यवस्था करने का सुझाव दिया।

मंत्री लखमा ने किया राजधानी पुलिस का सम्मान, फर्जी सीबीआई अधिकारी की गिरफ्तारी का मामला

रायपुर। मंत्री कवासी लखमा को फर्जी सीबीआई अधिकारी ने धमकी देकर 2 लाख की मांग की थी। शिकायत के बाद राजधानी पुलिस आरोपी को हिमाचल प्रदेश से गिरफ्तार कर लाई है। आरोपी को गिरफ्तार करने वाले पुलिस अधिकारियों का मंत्री लखमा ने सम्मान किया। मंत्री कवासी लखमा ने कहा कि पुलिस जवानों ने हिमाचल प्रदेश जाकर आरोपी को गिरफ्तार किया है। हमारी सरकार आने के बाद प्रदेश की कानून व्यवस्था दुरुस्त हुई है। इसके लिए भूपेश बघेल सरकार धन्यवाद की पात्र है। रायपुर पुलिस ने जिस मुस्तैदी से आरोपी को 2000 किलोमीटर दूर जाकर पकड़ सकती है इन्हें जितनी बधाई दी जाए कम है। राजधानी की पुलिस बहुत अच्छी है। रायपुर एसएसपी आरिफ शेख ने कहा कि जानकारी मिलने पर तत्काल कार्रवाई हुई है। इसके लिए पुलिस की टीम का सम्मान मंत्री लखमा ने किया है। इससे हमारा मनोबल बढ़ा है।

भारत सरकार ने छत्तीसगढ़ पुलिस के तीन अधिकारियों को किया सम्मानित

रायपुर। भारत सरकार (गृह मंत्रालय) द्वारा छत्तीसगढ़ पुलिस के तीन अधिकारियों को सूचना संकलन में उल्लेखनीय भूमिका निभाने के लिये ‘‘असाधारण आसूचना कुशलता पदक’’ प्रदान किया गया है। यह पदक छत्तीसगढ़ पुलिस मुख्यालय में पदस्थ अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक एसआईबी, गायत्री सिंह, उप पुलिस अधीक्षक विशेष शाखा नजमुस साकिब और विशेष शाखा बिलासपुर में पदस्थ निरीक्षक चित्रसेन सिंह खरसन को प्रदान किया गया है। पुलिस महानिदेशक डीएम अवस्थी ने राज्य पुलिस के तीनों अधिकारियों को राष्ट्रीय स्तर पर पदक प्राप्त करने के लिये बधाई देते हुए शुभकामनाएं व्यक्त किया है। अवस्थी ने आशा व्यक्त किया है कि तीनों अधिकारी भविष्य में और भी अच्छे ढंग से प्रशसंनीय कार्य करेंगे, और छत्तीसगढ़ पुलिस के अन्य अधिकारियों को भी अपने कार्य क्षेत्र में उत्कृष्ट प्रदर्शन की प्रेरणा मिलेगी।

वेस्ट इंडीज के पूर्व कप्तान ने कहा कैरेबियन द्वीप से चलकर आया हूँ, आपका काम देखने

ड्वेन ब्रावो पहुंचे पाहंदा, गौठान में स्वसहायता समूह की महिलाओं से की बातचीत

महिलाओं ने ब्रावो को बताया किस प्रकार से गौठान के माध्यम से बढ़ रहीं आर्थिक सशक्तिकरण की ओर

वेस्ट इंडीज क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान ड्वेन ब्रावो आज दुर्ग जिले के पाटन ब्लाक के पाहंदा पहुंचे। उन्होंने यहां के गौठान में स्वसहायता समूह से जुड़ी महिलाओं से चर्चा की। महिलाओं ने ब्रावो को बताया कि किस प्रकार गौठान के माध्यम से उनके लिए आर्थिक सशक्तिकरण के अवसर खुले हैं। ब्रावो के साथ दुभाषिये भी आए थे, जिनके माध्यम से वे अपनी बात महिलाओं से कर रहे थे। ब्रावो ने महिलाओं से कहा कि उनकी यह सोच है कि दुनिया महिलाओं की तरक्की से आगे बढ़ेगी। दुनिया को आगे बढ़ाना है तो महिलाओं को अपने पैरों पर खड़ा करना होगा। उन्हें ऐसे अवसर उपलब्ध कराने होंगे जिससे वे आर्थिक रूप से सशक्त हों। उन्होंने कहा कि आर्थिक रूप से सशक्त होने के लिए आजीविकामूलक गतिविधियों को अपनाना होगा।

श्री ब्रावो को महिलाओं ने बताया कि गौठान के माध्यम से हमें यह अवसर मिला है। यहां बड़ी संख्या में पशु आते हैं, जिनके गोबर से वे कंपोस्ट खाद का निर्माण कर रही हैं। ब्रावो ने कहा कि दुनिया भर में जैविक खेती के लिए लोग आगे बढ़ रहे हैं। आप लोग यहां इसे अपना रहे हैं यह बहुत अच्छा है। उन्होंने कहा कि आप लोग ऐसे संसाधनों के साथ काम कर रहे हैं जो आपके बीच से ही हैं। ब्रावो ने महिलाओं को बताया कि उनका यहां आने का मकसद ऐसी महिलाओं से मिलना था जो अपने पैरों पर खड़ा होने आर्थिक अवसरों की तलाश में घर से निकली हैं। आपसे मिलने मैं इतने दूर अपने वतन से आपके पास आया हूँ। आपसे मिलकर मुझे बहुत खुशी हुई है। आप लोगों ने मेरा इतना अच्छा स्वागत किया, इससे मैं अभिभूत हूँ। इस मौके पर जिला पंचायत सीईओ श्री कुंदन कुमार भी उपस्थित थे। उन्होंने ब्रावो को पाहंदा स्थित गौठान के बारे में बताया। उन्होंने बताया कि यह गौठान नरवा, गरवा, घुरूवा, बाड़ी योजना अंतर्गत बनाया गया है जो प्रदेश सरकार की योजना है। इस योजना के माध्यम से गोवंश के संवर्धन के लिए कार्य किया जा रहा है ताकि पशुधन के उचित दोहन के माध्यम से किसानों की आय भी बढ़ाई जा सके और प्राकृतिक संसाधनों का उपयोग करते हुए अपनी आय बढ़ा सकें। इसके लिए गायों के लिए उपयुक्त चारे की उपलब्धता के साथ ही नालों का जीर्णोद्धार भी किया जा रहा है। साथ ही सब्जियों के उत्पादन के लिए बाड़ी आदि भी लगाई जा रही है। इस तरह ग्रामीण अर्थव्यवस्था को संपूर्ण रूप से गति देने के लिए यह योजना चलाई जा रही है। ब्रावो ने इस पहल की प्रशंसा की।

राजधानी के बाद अब सभी जिला मुख्यालयों में गढ़ कलेवा : मुख्यमंत्री ने दिए निर्देश

रायपुर, 13 नवम्बर 2019 मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज जन चौपाल में राजधानी रायपुर की तर्ज पर छत्तीसगढ़ के सभी जिला मुख्यालयों में गढ़ कलेवा खोलने के निर्देश दिए है। सभी जिला मुख्यालयों में गढ़ कलेवा खोलने के लिए मुख्य सचिव को आवश्यक कार्रवाई करने को कहा गया है। रायपुर के महंत घासीदास संग्रहालय परिसर में छत्तीसगढ़ के पारम्परिक व्यंजनों के लिए प्रसिद्ध गढ़ कलेवा का संचालन किया जा रहा है। जिसमें स्व सहायता समूहों की लगभग सौ महिलाएं कार्य कर रही हैं। इस केन्द्र में प्रतिदिन बड़ी संख्या में राजधानी सहित प्रदेश के विभिन्न स्थानों और राज्य के बाहर से आने वाले लोग पारम्परिक छत्तीसगढ़ी व्यंजनों का लाभ उठा रहे हैं। राज्य के सभी जिला मुख्यालयों में गढ़ कलेवा खुलने से लोगों को छत्तीसगढ़ी व्यंजनों का स्वाद मिल पाएगा साथ ही हजारों  स्थानीय महिलाओं को स्व सहायता समूहों के माध्यम से रोजगार भी मिलेगा। 

    जन चौपाल कार्यक्रम में छत्तीसगढ़ के सभी जिला मुख्यालयों में गढ़ कलेवा खोलने के संबंध में मुख्यमंत्री को छत्तीसगढ़ नागरिक संघर्ष समिति रायपुर के श्री विश्वजीत मित्रा ने सुझाव पत्र प्रस्तुत किया है। जिसमें सभी जिला मुख्यालयों के जिलाधीश कार्यालय परिसरों, जिला न्यायालय परिसरों, रेलवे स्टेशनों और स्वामी विवेकानन्द विमानतल में गढ़ कलेवा केन्द्र खोलने का सुझाव दिया है। इन स्थानों में गढ़ कलेवा खुलने से राज्य के सभी जिलों के नागरिकों के साथ-साथ अन्य राज्यों के लोगों को  भी छत्तीसगढ़ के पारम्परिक व्यंजनों का स्वाद चखने का मौका मिलेगा। 

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मंगलवार के दिन कार्तिक पूर्णिमा पर प्रदेशवासियों को बधाई और शुभकामनाएं दी

रायपुर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मंगलवार के दिन कार्तिक पूर्णिमा पर प्रदेशवासियों को बधाई और शुभकामनाएं दी है। मुख्यमंत्री ने प्रदेश में खुशहाली और अमन चैन की कामना की है। मुख्यमंत्री ने अपने संदेश में कहा है कि कार्तिक पूर्णिमा के दिन पवित्र नदियों में स्नान करने और भगवान शिव की आराधना करने की परम्परा है। इस दिन छत्तीसगढ़ में विभिन्न स्थानों में पवित्र नदियों और देवालयों के स्थान में मेला लगता है। राजधानी के रायपुरा स्थित खारून नदी के किनारे महादेव घाट पर दो दिवसीय मेला का आयोजन होता है, जहां पर प्रदेश भर के श्रद्धालु आकर स्नान करते हैं, पूजा अर्चना करते हैं और मेला का आनंद उठाते 

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के द्वारा व्हाट्सएप टेपिंग कांड की जांच कमेटी की घोषणा का कांग्रेस ने किया स्वागत

रायपुर/11 नवंबर 2019। पूर्ववर्ती रमन सरकार के दौरान इजरायली इंटेलिजेंस साइबर कंपनी के द्वारा छत्तीसगढ़ में आकर पुलिस के अधिकारियों से बैठक की खबर एवं वैश्विक स्तर पर व्हाट्सएप टेपिंग कांड उजागर होने के बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने तीन सदस्यीय कमेटी गठित कर व्हाट्सएप टेपिंग कांड की जांच की घोषणा की। कांग्रेस ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की घोषणा का स्वागत किया। प्रदेश महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि जिन-जिन राज्यों में भाजपा की सरकार रहती है उन राज्यों में अक्सर विपक्षी दल के नेताओं, मानव अधिकार संगठन के कार्यकर्ता, बुद्धिजीवी पत्रकार, बड़े उद्योगपति, व्यापारी के पीछे जासूसी कराने का काम भाजपा की सरकारों का रहा है। छत्तीसगढ़ में 15 साल तक रमन सिंह की सरकार सत्ता में रही है इस दौरान भी इस प्रकार की घटनाएं निश्चित रूप से हुई है। विश्व स्तर पर इजराइली सॉफ्टवेयर पिगासो के जरिए नामचीन लोगों की व्हाट्सएप की टेपिंग का मामला सामने आने के बाद इजरायली कंपनी के छत्तीसगढ़ में आकर बैठक करने की भी जानकारी प्रकाश में आई है। ऐसे में छत्तीसगढ़ के नागरिकों की निजता पर गंभीर संकट उत्पन्न हुए होंगे, इससे इंकार नहीं किया जा सकता। ऐसे में पूर्ववर्ती सरकार के दौरान इजराइली सॉफ्टवेयर कंपनी के अधिकारी छत्तीसगढ़ आकर किस से मिले हैं? किसने उनको बुलाया था? और किनके-किनके व्हाट्सएप मोबाइल की टेपिंग की गई है? इसकी जानकारी के लिए राज्य सरकार ने राज्य के नागरिकों निजता की सुरक्षा के मद्देनजर पूरे प्रकरण की जांच के लिए कमेटी गठित किया गया है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्णय का कांग्रेस पार्टी स्वागत करती है और अवैधानिक रूप से निजता का हनन करते हुए फोन टैपिंग मैसेज एवं व्हाट्सएप टाइपिंग के इस अवैधानिक कृत्य में शामिल व्यक्तियों पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई की मांग करती है।

अस्पतालों में दवाईयों की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित करने स्वास्थ्य मंत्री टी.एस. सिंहदेव ने ली सीजीएमएससी की बैठक

रायपुर. 05 नवम्बर 2019. स्वास्थ्य मंत्री टी.एस. सिंहदेव ने आज यहां मंत्रालय में छत्तीसगढ़ मेडिकल सर्विसेस कार्पोरेशन (सीजीएमएससी) की बैठक लेकर सभी शासकीय अस्पतालों में दवाईयों की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित करने दवा खरीदी की प्रक्रिया में तेजी लाने के निर्देश दिए। उन्होंने इसके लिए आपूर्तिकर्ता कंपनियों से जल्द से जल्द दर अनुबंध (Rate Contract) करने कहा। उन्होंने दवा निर्माता कंपनियों और आपूर्तिकर्ताओं को छत्तीसगढ़ आमंत्रित कर यहां की जरूरतों से अवगत कराने, टेंडर प्रक्रिया में भाग लेने के लिए प्रोत्साहित करने तथा उनके साथ बेहतर समन्वय के लिए चर्चा करने कहा। स्वास्थ्य मंत्री ने मंत्रालय में दिनभर चली बैठक में सीजीएमएससी द्वारा दवा खरीदी में तेजी लाने वर्तमान प्रक्रिया की कमियों और खामियों को दूर करने वरिष्ठ अधिकारियों के साथ विचार-विमर्श किया। उन्होंने अति आवश्यक दवाईयों की सूची में शामिल 259 दवाईयों को अस्पतालों से इंडेन्ट (मांग-पत्र) का इंतजार न कर आवश्यकतानुसार खरीदी के निर्देश दिए। उन्होंने स्वास्थ्य सेवाएं संचालनालय, चिकित्सा शिक्षा संचालनालय, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन और आयुष संचालनालय को दवा खरीदी के लिए सीजीएमएससी को जल्द से जल्द राशि उपलब्ध कराने कहा। श्री सिंहदेव ने सीजीएमएससी को पर्याप्त मात्रा में दवाईयों की खरीदी, भंडारण और अस्पतालों तक परिवहन के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जिलों में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियों को दवा खरीदने की जरूरत नहीं पड़नी चाहिए। इसकी पूरी आपूर्ति सीजीएमएससी के माध्यम से हो। उन्होंने कहा कि व्यवस्था ऐसी हो कि दवाईयों के लिए आबंटित बजट का पूर्ण सदुपयोग हो और इस मद में एक भी रूपया लैप्स न हो। स्वास्थ्य मंत्री ने बैठक में चालू वित्तीय वर्ष सहित पिछले तीन वर्षों में दवाईयों के लिए आबंटित बजट और खरीदी की भी जानकारी ली। बैठक में स्वास्थ्य विभाग की सचिव निहारिका बारिक सिंह, विशेष सचिव सी.आर. प्रसन्ना, आयुक्त एवं सीजीएमएससी के प्रबंध संचालक भुवनेश यादव, संचालक स्वास्थ्य सेवाएं नीरज बंसोड़ तथा राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की संचालक डॉ. प्रियंका शुक्ला सहित स्वास्थ्य विभाग और सीजीएमएससी के अधिकारी मौजूद थे।

अंतिम व्यक्ति को विकास का लाभ मिले और उनके जीवन में हो सकारात्मक सुधार : राज्यपाल सुश्री उइके

राज्योत्सव में शामिल हुई राज्यपाल राज्यपाल के आग्रह पर मुख्यमंत्री ने राज्योत्सव की अवधि को दो दिन बढ़ाया

   राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज छत्तीसगढ़ राज्य स्थापना दिवस पर आयोजित राज्योत्सव के दूसरे दिन दीप प्रज्जवलन कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। राज्यपाल ने मुख्य अतिथि की आसंदी से संबोधित करते हुए कहा कि राज्य निर्माण का उद्देश्य तभी पूरा होगा जब समाज के अंतिम व्यक्ति को विकास का लाभ मिले और उनके जीवन स्तर में सकारात्मक सुधार आए। उन्होंने नागरिकों से राज्य के विकास में अधिक से अधिक योगदान देने का आह्वान किया। सुश्री उइके ने कहा कि छत्तीसगढ़ राज्य वयस्क हो रहा है। स्थापना के बाद से राज्य में विभिन्न क्षेत्रों में निरंतर प्रगति हुई है। शासन द्वारा जनकल्याण के लिए विभिन्न योजनाएं चलाई जा रही है।      राज्यपाल ने पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय श्री अटल बिहारी वाजपेयी को राज्य निर्माण के लिए स्मरण किया और इस राज्य निर्माण में योगदान देने वाले समस्त लोगों के महत्व को रूपांकित किया। उन्होंने राज्योत्सव में स्थानीय लोक संस्कृति, लोक नृत्यों पर आधारित कार्यक्रमों की प्रस्तुति की सराहना की और कहा कि ऐसे आयोजन संस्कृति से जोड़ने का माध्यम है और परम्पराओं को पुनर्जीवित भी रखते हैं।      राज्यपाल ने कहा कि पिछले 19 वर्षों में राज्य में विकास के लिए ठोस धरातल निर्मित हुआ है, साथ ही राष्ट्रीय परिदृश्य में सांस्कृतिक रूप से एक पहचान भी बनी है। राज्य सरकार द्वारा वर्तमान में सांस्कृतिक समृद्धि और सांस्कृतिक पहचान बनाए रखने के लिए चहुंमुखी प्रयास किये जा रहे हैं। छत्तीसगढ़ राज्य ने कम समय में उल्लेखनीय उपलब्धियां हासिल की है पर यहां विकास की और भी संभावनाएं हैं। उन्होंने इस अवसर पर प्रगति के साथ-साथ कमियों की समीक्षा करने की आवश्यकता बताई।      सुश्री उइके ने कहा कि राज्य की उन्नति के लिए शांति जरूरी है, विगत कई वर्षों से नक्सल हिंसा से छत्तीसगढ़ का कुछ हिस्सा प्रभावित रहा है। इस हिंसा को खत्म करने के लिए साझा प्रयास किये जा रहे हैं। आशा है कि जल्द ही इस हिंसा से राज्य को मुक्ति मिलेगी और छत्तीसगढ़ तेजी से विकास की दौड़ में आगे बढ़ेगा। राज्यपाल ने मुख्यमंत्री श्री भूपेष बघेल को छत्तीसगढ़ राज्य की नई उद्योग नीति के लिए बधाई दी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा जो कार्य किये जा रहे है वह किसान मजदूरो और आदिवासियों के लिए कल्याणकारी सिद्ध होगा। उन्होंने कहा कि राज्योत्सव के लगे स्टाल से प्रगति मैदान में लगे ट्रेड फेयर की याद आती है। उन्होंने राज्योत्सव की तीन दिन की अवधि को बढ़ाने का आग्रह किया। मुख्यमंत्री ने उनके आग्रह को स्वीकार करते हुए राज्योत्सव की अवधि को दो दिन बढ़ाने की घोषणा की।     राज्योत्सव के दूसरे दिन के कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने कहा कि जनसामान्य को लाभान्वित करने के लिए सरकार फैसले ले रही है। किसानों को मजबूती प्रदान करने 2500 रूपये क्विंटल में धान की खरीदी की जा रही है। किसानों का कर्ज माफ किया गया है। बिजली बिल हॉफ किया गया है। बस्तर में 1700 किसानों को जमीन वापस दिलाने का काम सरकार ने किया है। नौजवानों और व्यापारियों का भी ध्यान रखा जा रहा है। वर्ष 2019-2024 की औद्योगिक नीति कृषि पर आधारित है। शहरी क्षेत्रों में छोटी-मोटी समस्याओं के निपटारे के लिए वार्ड कार्यालय शुरू किए गए हैं। जाति प्रमाण पत्र के लिए जहां पहले लोगों को भटकना पड़ता था, वहीं पिता के जाति प्रमाण पत्र के आधार पर जन्म के समय ही बच्चों को जन्म प्रमाण पत्र प्रदान किया जा रहा है। छोटे भू-खण्डों के पंजीयन से मकान बनाने का सपना जहां पूरा हुआ है, वहीं राजस्व में वृद्धि हुई है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्यपाल सुश्री अनुसूईया उइके बड़ी संवेदनशील है। उन्होंने गांधी जी के 150वीं जयंती में विधानसभा में आयोजित कार्यक्रम में नक्सली हिंसा से प्रभवितो के लिए मकान देने का आग्रह किया। श्री बघेल ने कहा कि उनके आग्रह पर तुरन्त नक्सली हिंसा से प्रभावितों के लिए मकान देने की घोषणा की। मुख्यमंत्री ने राज्यपाल द्वारा धान खरीदी के लिए पत्र लिखे जाने की भी सराहना की।      इस अवसर पर संस्कृति मंत्री श्री अमरजीत भगत ने स्वागत उद्बोधन देते हुए कहा कि राज्योत्सव के माध्यम से विकास की अवधारणा परिलक्षित हो रही है। सभी वर्गों तक विकास का लाभ पहुंचाना सरकार का लक्ष्य है और इस दिशा में अग्रसर है। इस अवसर पर कृषि मंत्री श्री रविन्द्र चौबे, वन मंत्री श्री मोहम्मद अकबर, नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया, राष्ट्रीय अनुसूचित जनजाति आयोग के अध्यक्ष श्री नंदकुमार साय सहित विधायकगण, अन्य जनप्रतिनिधि, गणमान्य नागरिक, मुख्य सचिव आर.पी. मंडल सहित वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।      उत्कृष्ट कार्य करने वाले व्यक्ति और संस्थाएं राज्य स्तरीय अलंकरण से हुए सम्मानित     राज्यपाल एवं मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर सहकारिता के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने के लिए ठाकुर प्यारेलाल सिंह सम्मान जिला लघु वनोपज संघ कांकेर के अध्यक्ष श्री नितिन पोटाई को, उर्दू भाषा की सेवा के लिए हाजी हसन अली सम्मान रायपुर के श्री नासिर अली नासिर को, तीरंदाजी के लिए महाराजा प्रवीरचन्द्र भंजदेव पुरस्कार बिलासपुर के पैरा तीरंदाजी खिलाड़ी श्री गिरिवर सिंह को और अंग्रेजी प्रिन्ट मीडिया के लिए मधुकर खेर स्मृति पत्रकारिता पुरस्कार रायपुर की श्रीमती रश्मि अभिषेक मिश्रा को, दानशीलता, सौहार्द्र एवं अनुकरणीय सहायता के लिए दानवीर भामाशाह पुरस्कार रायपुर के श्री सीताराम अग्रवाल को और आयुर्वेद चिकित्सा के लिए धन्वंतरी पुरस्कार रायपुर के प्रो. आर. एन. त्रिपाठी को दिया गया। सांस्कृतिक संध्या में खंझेरी भजन, लोक गीत व नृत्य, गजल एवं गीत, पियानो एवं एकॉडियन वादन, शास्त्रीय नृत्य ओड़िसी और भरतनाट्यम, भरथरी तथा सरगुजिहा गीत की प्रस्तुति दी गई।

Previous123456789...3839Next