राजधानी

युवा कांग्रेस के मीडिया विभाग के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल राव का एक दिवसीय रायपुर दौरा

रायपुर युवा कांग्रेस के मीडिया विभाग के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल राव जी एक दिवसीय दौरे पर राजधानी रायपुर आए थे इस दौरान रायपुर एयरपोर्ट पर उनका भव्य स्वागत किया गया उसके पश्चात जगह जगह रायपुर में स्वागत समारोह रखा गया था श्री राहुल राव युवा कांग्रेस मीडिया विभाग के कार्यकर्ताओं का साक्षात्कार करने राजीव भवन पहुंचे इस दौरान उन्होंने प्रेस वार्ता कर मीडिया से संवाद किया मीडिया से संवाद करने के पश्चात सभी कार्यकर्ताओं का साक्षात्कार कर उन्हें नई जिम्मेदारी प्रदान करने के लिए प्रेरित किया। छत्तीसगढ़ युवा कांग्रेस मीडिया विभाग प्रमुख निखिल द्विवेदी ने चयनित कार्यकर्ताओं को युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राव के साथ साक्षात्कार कराया एवं निखिल द्विवेदी द्वारा रायपुर के विभिन्न स्थानों पर स्वागत समारोह कर राजीव भवन लाया गया।। प्रेस वार्ता की मुख्य बातें मीडिया विभाग राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल राय ने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा की जब से नरेंद्र मोदी जी की सरकार आई है उसके बाद पूरे देश में महंगाई और बेरोजगारी की एक लहर सी उड़ गई है जो शांत होने का नाम नहीं ले रही है और हमारे पड़ोसी देश जो हमसे भी छोटे और अविकसित है वहां पर भी पेट्रोल डीजल एलपीजी के दाम हमारे देश की तुलना में बहुत कम है नरेंद्र मोदी सरकार देश को महंगाई और बेरोजगारी की ओर ढकेल रही है और देश की संपत्तियों को बेचने का काम यह मोदी सरकार कर रही है छत्तीसगढ़ के राज्य सरकार बेहद प्रशंसनीय कार्य कर रही है चाहे वह किसानों का कर्जा माफ, वन उपज की खरीदी उचित मूल्य पर एवं आदिवासियों को उनका जमीन दिलाना यह सारे कार्य राज्य सरकार ने बेहद शानदार तरीके से किया है और इसकी जितनी प्रशंसा की जाए उतनी कम है।। निखिल द्विवेदी ने कहा की आज हमारे बीच हमारे राष्ट्रीय मीडिया विभाग के चेयरमैन श्री राहुल राव जी उपस्थित हुए हैं इस दौरान वे कार्यकर्ताओं को चयनित कर मीडिया विभाग में नए नियुक्त पदाधिकारियों को चयनित करेंगे उसके पश्चात वे राज्य सरकार के विभिन्न मंत्रियों के साथ चर्चा करके युवा कांग्रेस की नई कार्य योजना तैयार करेंगे और मीडिया विभाग को राज्य सरकार की जन-जन की नीतियों को जन जन तक पहुंचाने का प्रशिक्षण देंगे।। इस प्रेस वार्ता में मुख्य रूप से राष्ट्रीय अध्यक्ष मीडिया प्रभारी राहुल राव कार्यकारी अध्यक्ष महेंद्र गंगोत्री मीडिया विभाग प्रमुख निखिल द्विवेदी राष्ट्रीय प्रवक्ता संजीव शुक्ला प्रदेश अध्यक्ष आकाश शर्मा प्रदेश प्रवक्ता विपिन मिश्रा, रेणु मिश्रा मीडिया विभाग प्रमुख तुषार गुहा,सुमित साव आदि।।

अपराधों पर प्रभावी रोकथाम के लिए पुलिस महानिरीक्षक को दिए आवश्यक दिशा निर्देश डीजीपी डीएम अवस्थी ने पुलिस महानिरीक्षकों की ली समीक्षा बैठक  

रायपुर 19 जुलाई।  मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की मंशानुरूप अपराधों पर प्रभावी रोकथाम लगाने हेतु डीजीपी डीएम अवस्थी ने आज राज्य के सभी रेंज के पुलिस महानिरीक्षकों की समीक्षा बैठक ली। बैठक में चिटफंड के मामलों में निवेशकों को धन वापसी, आदिवासियों पर दर्ज प्रकरणों की वापसी एवं राजनैतिक प्रकरणों की वापसी, अवैध शराब, सट्टा के विरुद्ध की जाने वाली कार्रवाई एवं लंबित प्रकरणों का निराकरण रेंज स्तर पर अभियान चलाकर कार्रवाई हेतु आवश्यक दिशा-निर्देश दिये गये। डीजीपी अवस्थी ने सभी पुलिस महानिरीक्षकों को निर्देश दिये कि राज्य शासन के सर्वोच्च प्राथमिकता के बिंदुओं पर तत्परता से कार्रवाई करें। उन्होंने सभी महानिरीक्षकों को निर्देश दिये कि उपरोक्त बिंदुओं पर प्रत्येक माह पुलिस अधीक्षकों की समीक्षा बैठक आयोजित करें। उन्होंने कहा कि चिटफंड के प्रकरणों में शीघ्रता से कार्वराई करें जिससे निवेशकों को शीघ्रता से धन वापसी कराई जा सके। अवैध शराब, जुआ, सट्टा के कारोबार पर रोक लगाने हेतु प्रभावी कार्रवाई करें। अपराधों पर रोकथाम के लिये पुलिस महानिरीक्षक रेंज के सभी जिलों का आकस्मिक निरीक्षण करें । पुलिस की प्राथमिकता पीड़ितों को न्याय दिलाना है, इसके लिये लंबित प्रकरणों की शीघ्रता से जांच कराकर अपराधियों को सजा दिलायें। डीजीपी ने पुलिस विरूद्ध शिकायतों की अविलंब जांच के निर्देश दिये। बैठक में पुलिस महानिरीक्षक दुर्ग विवेकानंद, रायपुर डॉ आनंद छावड़ा, बिलासपुर/सरगुजा रतन लाल डांगी, बस्तर सुंदरराज पी, पुलिस महानिरीक्षक सीआईडी सुशील चंद द्विवेदी सहायक पुलिस महानिरीक्षक यूबीएस चौहान, निरीक्षक आर एस पांडेय उपस्थित रहे।

करोड़ों की बेनामी संपत्ति मिलने के बाद IPS जीपी सिंह पर गिरी गाज, गृह विभाग ने जारी किया निलंबित करने का आदेश

रायपुर: एसीबी रेड में भारी मात्रा में अवैध संपत्ति का खुलासा होने के बाद IPS जीपी सिंह को निलंबित कर दिया गया है। इस संबंध में महानदी भवन स्थित गृह विभाग ने आदेश जारी कर दिया है। ज्ञात हो कि ACB और EOW ने जीपी सिंह के 15 ठिकानों पर दबिश दी थी, जिसके बाद करोड़ों की बेनामी संपत्ति का खुलासा हुआ था। ACB और EOW की कार्रवाई तीन दिन तक चली थी।

बता दें कि जीपी सिंह के अलग अलग ठिकानों पर एसीबी के छापे में 10 करोड़ रुपए से अधिक की चल अचल संपत्ति का पता चला है। इसके अलावा 2 किलो सोना मिला है। साथ ही छापेमारी में 16 लाख रुपया नगद बरामद हुआ है। इसके अलावा कई बेनामी संपत्तियों का भी पता चला है। जिसकी जांच अभी की जा रही है।

एसीबी और ईओडब्ल्यू की टीम ने जीपी सिंह से संबंधित लोगों के यहां भी छापेमारी की गई, जिसमें अलग अलग बैंक खाते, बीमा कंपनी के दस्तावेज, बहुराष्ट्रीय कंपनियों से लेनदेने के कागजात मिले हैं। इसके अलावा शेयर और म्यूचुअल फंड में भी बड़ी मात्रा में निवेश की जानकारी मिली है।

राजधानी रायपुर में कैनाल रोड मोड़ पर दो वाहनों की भिड़ंत, मिल्क वैन के ड्राइवर की मौत.. हादसे के बाद सड़क पर फैल गई ऑयल

रायपुर, छत्तीसगढ़। राजधानी के कैनाल रोड मोड़ पर आज सुबह मदर डेरी के पिकप वाहन  cg 07C5726 और कार cg 04LX8661 ke बीच भीषण टक्कर हो गई आपको बता दें कि दूध वाहन पर देवभोग की ब्रांडिंग थी मगर अंदर मदर डेयरी का प्रोडक्ट था टक्कर इतनी जोरदार थी कि मौके पर ही मिल्क वैन के ड्राइवर की मौत हो गई यह चौराया शहर के व्यस्तम और वीआईपी मार्ग है में से एक है इसके आसपास कई मंत्रियों के निवास स्थल भी है।

 

आईपीएस जीपी सिंह के दस से अधिक ठिकानों पर एंटीकरप्शन का छापा

रायपुर - 1 जुलाई 2021 छत्तीसगढ़ के एक सबसे बड़े पुलिस अधिकारी जी पी सिंह के 10 ठिकानों पर आज सुबह एंटी करप्शन ब्यूरो ने छापा मारा है और इन सभी जगहों पर तलाशी चल रही है। एसीबी ने जीपी सिंह के खिलाफ आय से अधिक अनुपात हीन संपत्ति का केस दर्ज किया है और उसके बाद यह कार्यवाही चल रही है। 

पी सिंह  प्रदेश के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक हैं और वे कई प्रमुख जगहों पर आईजी रह चुके हैं. जिस एंटी करप्शन ब्यूरो ने इस वक्त उनके घर और रिश्तेदारों के यहां तलाशी जारी रखी हुई है, इस एसीबी के भी वे कुछ वक्त पहले तक मुखिया थे।

 बारे में पूछने पर एसीबी के प्रमुख डीआईजी आरिफ शेख ने कहा कि अनुपातहीन संपत्ति के केस में अभी 10 ठिकानों पर तलाशी जारी है, लेकिन यह तलाशी कुछ और जगहों पर बढ़ भी सकती है. उन्होंने सुबह 8:15 बजे की इस बातचीत में और अधिक जानकारी ना होने की बात कही और कहा कि तलाशी के बाद ही बाकी चीजें साफ होगी।

सूचनाओं को साझा कर रोक सकते हैं अंतरराज्यीय अपराध - अवस्थी

ईस्टर्न रीजनल पुलिस कॉर्डिनेशन कमेटी की वर्चुअल बैठक में शामिल हुए पांच राज्यों के डीजीपी

रायपुर-  ईस्टर्न रीजनल पुलिस कॉर्डिनेशन कमेटी की आज वर्चुअल बैठक आयोजित की गई। जिसमें छत्तीसगढ़, झारखंड, बिहार, उड़ीसा, पश्चिम बंगाल के डीजीपी समेत पुलिस और अर्धसैनिक बलों के बड़े अधिकारी शामिल हुए। बैठक में अंतरराज्यीय समन्वय, नक्सल विरोधी अभियान, अपराध रोकथाम,  आंतरिक सुरक्षा, सुरक्षा बलों की क्षमता वृद्धि और ट्रेनिंग पर विस्तृत चर्चा की गई।
बैठक में छत्तीसगढ़ के डीजीपी श्री डीएम अवस्थी ने कहा कि सीमावर्ती राज्य आपस मे समन्वय से अपराधों की रोकथाम शीघ्रता से कर सकते हैं। सूचनाओं के आदान -प्रदान से बड़े अपराधों को घटित होने से रोका जा सकता है। पांचों राज्यों की पुलिस एकजुट होकर कार्य करे तो बड़े अपराधों को जल्द से जल्द सुलझाया जा सकता है। सायबर अपराधी भी एक राज्य से दूसरे राज्य के नागरिकों से ठगी करते हैं। इन सायबर अपराधियों को आपसी समन्वय से दूसरे सीमावर्ती राज्यों से पकड़ा भी जा चुका है।
बैठक में स्पेशल डीजी एंटी नक्सल ऑपरेशन श्री अशोक जुनेजा, आईजी इंटेलीजेंस डॉ आनंद छावड़ा, डीआईजी सीआईडी श्रीमती हिमानी खन्ना उपस्थित रहीं।

छत्तीसगढ़ बस संचालकों का अपनी मांगों को लेकर पूर प्रदेश में एक दिवसीय धरना

रायपुर -  छतीसगढ़ यातायात महासंघ के अहान पर एक दिवसीय धरना छत्तीसगढ़ के सभी 29 जिलों में अपनी दो मुख्य मांग को लेकर डीजल में  वृद्धि होने के कारण बसों के किराए में वृद्धि ही साथस्थाय किराया नीति और बसों और परमिटो के  निष्प्रियोग  की इस  2 माह की समय अवधि खत्म करने के लिए आज से  धरना प्रदर्शन चालू हो गया है उसके बाद 2 तारीख को कलेक्टर को ज्ञापन देंगे उसके बाद बसोओं की हड़ताल करेंगे तेरा तारीख को जल समाधि लेंगे बस संचालकों का कहना है कि 16 माह से बसें खड़ी हुई है जिससे वह आर्थिक रूप से कमजोर हो गए हैं और सरकार ने डीजल के दामों में  वृद्धि कर दी है ₹65 रुपए से लेकर 95 रुपए बढ़ गया है हमारी 12000 बसों में से केवल 1000 बस यही चल रही है 2500 बसें फाइनेंसर खींच कर ले गए हैं और कई बसें कंडम हो चुकी हैं 
 
वही ट्रांसपोटर्स संचालको ने भी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। आज देशभर के ट्रांसपोटर्स डीजल की बढ़ती कीमतों के विरोध में प्रदर्शन करे रहे है। 

ट्रांसपोटर्स की मांग है कि डीजल को भी जीएसटी के दायरे में लाया जाए। वहीं ट्रांसपोटर्स ने चेतावनी दी है कि अगर सरकार उनकी मांगों पर सकारात्मक पहल नहीं करती तो वे बेमियादी हड़ताल पर जाने में मजबूर हो जाएंगे। ट्रकों के पहिए जाम कर दिए जाएंगे।

पत्रकारिता विश्वविद्यालय के प्राशासनिक भवन के मुख्य द्वार का नाम संत कबीर द्वार रखा गया - मुख्यमंत्री मंत्री भूपेश बघेल ने किया नामकरण

रायपुर दिनांक 24 जून, 2021, संत कबीर दास जयंती के अवसर पर कुशाभाऊ ठाकरे पत्रकारिता एवं जनसंचार विश्वविद्यालय के प्रशासनिक भवन का नामकरण एवं संत कबीर का छतीसगढ़ विषय पर केंद्रित पुस्तक का विमोचन मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने ऑनलाइन उपस्थित होकर किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि संत कबीर की महिमा छत्तीसगढ़ के कण-कण में व्याप्त है। संत कबीर प्रेम, सामाजिक समरता और मानवता के कवि थे, वे एक समाज सुधारक भी थे, जिन्होंने सामाजिक कुरीतियों पर कठोरता से प्रहार किया। उनको मानने वाले हर जाति, हर धर्म के लोग हैं। उन्होंने कहा कि संत कबीर 650 साल पहले आये थे, लेकिन उनके संदेश आज भी समसामयिक हैं। उनकी वाणी को अपने जीवन में उतारने की जरूरत है। मुख्यमंत्री बघेल कुशाभाऊ ठाकरे पत्रकारिता एवं जनसंचार विश्वविद्यालय के कबीर विकास संचार अध्ययन केंद्र द्वारा संत कबीर जयंती के अवसर पर अपने निवास कार्यालय में आयोजित वर्चुअल कार्यक्रम को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने इस कार्यक्रम में कुशाभाऊ ठाकरे पत्रकारिता एवं जन संचार विश्वविद्यालय रायपुर के प्रशासनिक भवन के मुख्य द्वार का नामकरण संत कबीर के नाम पर किया। इस अवसर पर उन्होंने कबीर विकास संचार अध्ययन केन्द्र द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम में ‘‘संत कबीर का छत्तीसगढ़‘‘ पुस्तक का विमोचन भी किया। इस पुस्तक के सम्पादक कबीर विकास संचार अध्ययन केन्द्र के अध्यक्ष कुणाल शुक्ला और डॉ. सुधीर शर्मा हैं। कार्यक्रम के शुरूआत में मुख्यमंत्री बघेल सहित अतिथियों ने संत कबीर साहेब के चित्र पर माल्यार्पण कर उन्हें नमन किया। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर कहा कि संत कबीर और छत्तीसगढ़ का चोली-दामन का साथ है। अमरकंटक के कबीर चबूतरा में संत कबीर और गुरू नानक देव जी की भेंट हुई थी। संत कबीर के संदेश प्रदेश के गांव-गांव में व्याप्त हैं। छत्तीसगढ़ के लोगों में संत कबीर और गुरू बाबा घासीदास जी के संदेशों का व्यापक प्रभाव है। इसलिए छत्तीसगढ़ के लोग ईमानदार, संतोषी, विश्वसनीय और जीवन के अर्थ को व्यापक रूप से लेते हैं, इसीलिए हमारा छत्तीसगढ़ शांति का टापू कहलाता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि गुरू समाज को सही रास्ते पर ले जाने का कार्य करते हैं। आज की तेज जीवन शैली में गुरूओं की वाणी हमारे जीवन में शांति ला सकती है। जीवन में आने वाली उलझनों का समाधान भी गुरूओं की वाणी में देखा जा सकता है। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ और भारत की धरती पर अनेक संतों का अवतरण हुआ, चाहे बुद्ध, महावीर की बात कहें या शंकराचार्य, वल्लभाचार्य, गुरू नानक देव, संत कबीर या गुरू बाबा घासीदास, इन महापुरूषों ने अपने समय के सवालों का जवाब दिया है। मुख्यमंत्री ने कबीर जयंती पर कबीर पंथ के सभी अनुयायियों को शुभकामनाएं देते हुए सभी लोगों को संत कबीर के रास्ते पर चलकर छत्तीसगढ़ के नवनिर्माण में सहयोग देने का आव्हान किया। इस अवसर पर गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू ने कहा कि संत कबीर ने जीवन जीने का सुगम तरीका बताया, ताकि हम सही रास्ते पर चलें। संत कबीर अंधविश्वास, पाखण्ड, छूआछूत जैसी बुराईयां के सख्त विरोधी थे। उन्होंने सामाजिक बुराईयों पर कड़े शब्दों में प्रहार किया है। कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे ने कहा कि कबीर और गुरू बाबा घासीदास के विचारों की बदौलत ही छत्तीसगढ़ में आने वाले लोग छत्तीसगढ़ के हो जाते हैं। उनके विचारों की बदौलत ही छत्तीसगढ़ में सबको समाहित करने की विशेषता है। राज्य सरकार संत कबीर के रास्ते पर चलकर लोगों का जीवन स्तर ऊपर उठाने का काम कर रही है। इस अवसर पर राज्य खनिज विकास निगम के अध्यक्ष गिरीश देवांगन, विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. बलदेव भाई शर्मा, कुलसचिव डॉ. आनंद शंकर बहादुर, डॉ. सुधीर शर्मा, आशीष दुबे, राजू सिंह चंदेल, प्रीति उपाध्याय साथ ही विश्वविद्यालय परिसर में जनसंचार विभाग के अध्यक्ष डॉ. शाहिद अली, इलेक्ट्रॉनिक मीडिया विभाग के अध्यक्ष डॉ. नरेंद्र त्रिपाठी, विज्ञापन एवं जनसंचार विभाग के अध्यक्ष डॉ.आशुतोष मंडावी, पत्रकारिता विभाग के अध्यक्ष पंकज नयन पांडे, प्राध्यापक डॉ. नृपेंद्र शर्मा, डॉ. राजेन्द्र मोहंती, शैलेन्द्र खंडेलवाल सहित सभी विभागों के प्राध्यापक अधिकारी कर्मचारी एवं छात्र छात्राएं वर्चुअल शामिल हुए। कार्यक्रम का संचालन कबीर विकास संचार अध्ययन केन्द्र के अध्यक्ष श्री कुणाल शुक्ला ने किया।

विश्वविद्यालयों को अपनी गुणवत्ता सिद्ध करने के लिए नैक मूल्यांकन जरूरी

रायपुर 22 जून, 2021 कुशाभाऊ ठाकरे पत्रकारिता एवं जनसंचार विश्वविद्यालय नैक मूल्यांकन कराने जा रहा है। इसकी तैयारियों को लेकर मंगलवार को विश्वविद्यालय में नैक क्या, क्यों और कैसे विषय पर कार्यशाला का आयोजन किया गया। इस अवसर पर मुख्य वक्ता के रूप में बोलते हुए उच्च शिक्षा विभाग के उपनिदेशक एवं नैक मूल्यांकन प्रभारी प्रोफेसर जी घनश्याम ने कहा कि विश्वविद्यालय को अपनी श्रेष्ठता साबित करने के लिए नैक मूल्यांकन कराना आवश्यक है। नैक मूल्यांकन के उपरांत ही विश्वविद्यालय एवं महाविद्यालय अपनी गुणवत्तापूर्ण शिक्षण के लिए अपनी प्रतिबद्धता साबित कर सकते हैं। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि नैक मूल्यांकन के लिए स्थापित मापदंडों पर हमें खरा उतरना होता है। उन्होंने कहा कि संस्थाओं के लिए नैक में ग्रेडिंग प्राप्त करने के लिए वहां के पाठ्यक्रमों को गुणवत्तापूर्ण होना चाहिए। साथ ही उन पाठ्यक्रमों को पूर्ण करने के उपरांत विद्यार्थियों में रोजगार के मार्ग प्रशस्त होना चाहिए। प्रो. घनश्याम ने कहा कि हमारी शिक्षण व्यवस्था विद्यार्थी केंद्रित होना चाहिए। साथ ही विद्यार्थियों को केंद्र में रखकर वह सारी व्यवस्थाएं की जाना चाहिए, जिससे कि विद्यार्थियों का सर्वांगीण विकास हो सके। उन्होंने आईसीटी तकनीक पर जोर देते हुए कहा कि नैक मूल्यांकन में आईसीटी शिक्षा पर विशेष बल दिया गया है। नैक मूल्यांकन की विशेषताओं को बताते हुए प्रो. जी. घनश्याम ने कहा कि विश्वविद्यालयों को शोध और नवाचार के केंद्र बनना चाहिए। इस मौके पर उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय की वेबसाइट उस विश्वविद्यालय का वर्चुअल परिसर होती है। इसलिए वेबसाइट पर विद्यार्थियों एवं विश्वविद्यालय की गुणवत्ता से संबंधित सभी जानकारियां उपलब्ध कराई जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि नैक मूल्यांकन एक चरणबद्ध प्रक्रिया है। इसके मूल्यांकन में जाने के लिए नैक पोर्टल पर पंजीयन कराया जाता है। इसके उपरांत दिए गए मूल्यांकन प्रपत्र में सभी जानकारियों को भरकर नैक पोर्टल पर अपलोड कर दिया जाता है। इसके उपरांत नैक टीम विश्वविद्यालय का भ्रमण करती है। विश्वविद्यालय द्वारा भेजी गई जानकारियों का सत्यापन एवं परिसर में उपलब्ध सुविधाओं और बीते पांच वर्षों के विश्वविद्यालय के गुणवत्तापूर्ण प्रदर्शन को देखकर संस्थान की ग्रेडिंग की जाती है। प्रो. घनश्याम ने कहा कि किसी भी संस्थान के लिए नैक मूल्यांकन का कार्य अत्यधिक महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा कि 2022 तक सभी संस्थानों को अपनी गुणवत्ता सिद्ध करने के लिए नैक मूल्यांकन कराया जाना आवश्यक है। इस अवसर पर कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे विश्वविद्यालय के कुलसचिव डॉ. आनंद शंकर बहादुर ने कहा कि कुशाभाऊ ठाकरे पत्रकारिता एवं जनसंचार विश्वविद्यालय नैक मूल्यांकन कराने जा रहा है। उन्होंने बताया कि नैक मूल्यांकन के लिए विश्वविद्यालय में तैयारियां प्रारंभ कर दी गई हैं। कार्यक्रम का संचालन करते हुए जनसंचार विभाग के अध्यक्ष एवं विश्वविद्यालय स्तरीय नैक मूल्यांकन समिति के सदस्य डॉ. शाहिद अली ने कहा कि नैक मूल्यांकन किसी भी संस्था के लिए आवश्यक है। नैक मूल्यांकन के उपरांत ही वह संस्थान अपनी गुणवत्ता समाज के सामने लाने में सक्षम हो पाता है। कार्यक्रम में आभार प्रदर्शन नैक मूल्यांकन समिति के समन्वयक डॉ. राजेंद्र मोहंती ने किया। इस अवसर पर कबीर संचार शोध पीठ के अध्यक्ष कुणाल शुक्ला, इलेक्ट्रॉनिक मीडिया विभाग के अध्यक्ष डॉ. नरेंद्र त्रिपाठी, विज्ञापन एवं जनसंपर्क विभाग के अध्यक्ष डॉ. आशुतोष मंडावी, पत्रकारिता विभाग के प्राध्यापक डॉ. नृपेंद्र शर्मा, सह प्राध्यापक श्री शैलेंद्र खंडेलवाल, उपकुलसचिव ऋषि दुबे, सहायक कुलसचिव सौरभ शर्मा सहित सभी शिक्षक अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित रहे।

लघु और मध्यम स्तर के उद्यमियों को खनन व्यवसाय में सक्रीय भागीदारी की आवश्यकता

रायपुर- पीएचडी चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री द्वारा आयोजित वर्चुअल छत्तीसगढ़ माइनिंग समिट में एम. नागराजू, आईएएस, अपर सचिव, कोयला मंत्रालय, भारत सरकार ने अपने उद्बोधन में कहा कि राज्य और केंद्र सरकार को लघु और मध्यम स्तर के उद्यमियों की खनन व्यवसाय में सक्रीय भागीदारी की आवश्यकता है। खनन व्यवसाय में आधुनिक तकनीकों के इस्तेमाल से देश एवं क्षेत्र के विकास में मदद मिलेगी। स्चच्छता के लिए आवश्यक है कि कचरे का उचित प्रबंधन हो एवं देश स्वच्छ और हरा-भरा रहे। समय की मांग है कि पर्यावरण के अनुकूल तकनीक का इस्तेमाल अधिक से अधिक किया जाए जिससे कार्बन उत्सर्जन को कम किया जा सके । एम. नागराजू ने सुझाव दिया कि खनन उद्योग में पूंजी निवेश बढ़ने के लिए माध्यम वर्गीय शहरों एवं व्यापारियों को शामिल किया जाना चाहिए। दक्षता के अनुकूलन के लिए, उन्होंने सुझाव दिया कि सरकार को बड़ी खदानों की नीलामी करनी चाहिए ताकि व्यवसाय में निवेश हो तथा कच्चे माल की आपूर्ति हो, इससे उद्योगों के विभिन्न क्षेत्रों में लाभ होगा । औद्योगिक नीतियों तथा भविष्य की संभावनाओं का सिंहावलोकन करते हुए उन्होंने भारत की औद्योगिक गतिविधि, प्रगति और विकास के परिपेक्ष्य में उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ देश के लिए विशेष रूप से खनन क्षेत्र में महत्वपूर्ण है जो राज्य और राष्ट्र के विकास के लिए एक महत्वपूर्ण क्षेत्र है। खनन से अधिकाधिक रोजगार उत्पन्न किया जा सकता है जो अर्थव्यवस्था की रीढ़ है। यह एक राज्य को सुरक्षित राजस्व प्रदान करता है जिससे राज्य उपलब्ध धन के आधार पर विभिन्न परियोजनाओं की योजना बनाकर उसे सुचारु रूप से क्रियान्वित कर सके । अपने उद्बोधन में श्री एम. नागराजू ने केंद्र और राज्य स्तर पर व्यावसायिक परम्पराओं का पालन करते हुए उन्हें पारदर्शी एवं रोजगारोन्मूलक बनाने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ राज्य कोयले के क्षेत्र में अग्रणी भूमिका निभा सकता है । उन्होंने खदानों के संचालन की बात करते हुए कहा कि राज्य सरकारों को आगे बढ़कर कोयला खदानों के त्वरित संचालन के लिए उद्यमियों के साथ साझेदारी करना चाहिए। श्री स्वप्निल गुप्ता, एसोसिएट डायरेक्टर, माइनिंग एडवाइजरी प्रैक्टिस, प्राइसवाटरहाउसकूपर्स प्राइवेट लिमिटेड ने छत्तीसगढ़ राज्य के खनन क्षमता के बारे में गहन जानकारी दी, राज्य की खनन क्षेत्र में आत्म निर्भरता पर उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ खनन क्षेत्र में अग्रणी होने की ओर अग्रसर है। उन्होंने उल्लेख किया कि प्रचुर मात्रा में प्राकृतिक संसाधन, पूंजी और निवेश; कुशल मानव संसाधन; तकनीकी और नवाचार आदि से छत्तीसगढ़ राज्य खनन क्षेत्र में अग्रणी हो सकता है। पी एच डी चैम्बर के राष्ट्रिय अध्यक्ष श्री संजय अग्रवाल, ने अपने अध्यक्षीय भाषण में महामारी की दूसरी लहर के कारण राष्ट्र के सामने आने वाले संकट पर चिंता व्यक्त करते हुए आश्वासन दिया कि पी एच डी चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री देश और सरकार के साथ पूरी एकजुटता के साथ यह सुनिश्चित करने में जुटी है कि भारत आने वाले समय में एक आत्मनिर्भर राष्ट्र बने। उन्होंने छत्तीसगढ़ में खनन क्षेत्र के विकास के लिए अपनी प्रगतिशील नीतियों और निरंतर प्रयासों के लिए भारत सरकार की सराहना की, जो संसाधनों के मामले में सबसे अमीर भारतीय राज्य रहा है। श्री अग्रवाल ने उल्लेख किया कि खनन क्षेत्र में भारत सरकार के साहसिक संरचनात्मक सुधारों ने परिणाम देना शुरू कर दिया है और भारत अब खनन, कोयला और इस्पात क्षेत्रों में आत्म निर्भर बनने की राह पर है। सुधारों से प्रतिस्पर्धा, पारदर्शिता, निजी क्षेत्र की भागीदारी और विदेशी निवेश में वृद्धि की शुरुआत करके विभिन्न खनिजों के उत्पादन को बढ़ावा मिलने की संभावना है। हम आशा करते हैं कि खनिज उत्पादक राज्यों की राज्य सरकारें भी इन सुधारों से अधिकतम लाभ प्राप्त करने के लिए अपना योगदान देंगी। श्री अनिल के. चौधरी, अध्यक्ष, खनिज एवं खनन समिति, पीएचडीसीसीआई ने अपने वक्तव्य में कहा कि हमें देश के विभिन्न राज्यों की खनिज शक्ति का उचित विश्लेषण और उपयोग करने की आवश्यकता है। छत्तीसगढ़ में सर्वोत्तम गुणवत्ता में खनिज शक्ति की प्रचुरता है जिसका नियोजित और रणनीतिक तरीके से उपयोग करने की आवश्यकता है। पीएचडीसीसीआई के खनिज और खनन समिति के सह-अध्यक्ष, श्री नवीन जिंदल, ने सभी प्रतिनिधियों और प्रतिभागियों को औपचारिक धन्यवाद प्रस्ताव देते हुए उल्लेख किया कि कोयला मंत्रालय द्वारा की गई पहल और कदम अत्यधिक सराहनीय हैं इसके अच्छे परिणाम आएंगे। खनन क्षेत्र के विकास के लिए राज्य और केंद्र को एक साथ आने की जरूरत है। भारतीय अर्थव्यवस्था तेज गति की ओर बढ़ रही है और हमें देश के लिए खनिज संसाधनों का बहुत अधिक योगदान है। जेएसपीएल के प्रबंध संचालक श्री वी आर शर्मा, ने छत्तीसगढ़ सरकार से छत्तीसगढ़ में उत्पादित लौह अयस्क को राज्य में संचालित इस्पात संयंत्रों को देने की अनुमति देने का आग्रह किया। श्री विजय झंवर, प्रबंध संचालक, व्रज मेटालिक्स ने सुझाव दिया कि लौह अयस्क और अन्य कच्चे माल का निर्यात नहीं किया जाना चाहिए और केवल तैयार माल को निर्यात करने की अनुमति दी जानी चाहिए। पीएचडी चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री द्वारा आयोजित शिखर सम्मेलन को डीएलएफ इंडिया; मुल्तानी फार्मास्युटिकल्स लिमिटेड; यूफ्लेक्स लिमिटेड; जेके टायर एंड इंडस्ट्रीज लिमिटेड; मार्बल सिटी; पैरामाउंट केबल्स लिमिटेड; एसएमसी इन्वेस्टमेंट्स एंड एडवाइजर्स लिमिटेड; ब्लॉसम कोचर अरोमा मैजिक; कॉमटेक इंटरियो; डीसीएम श्रीराम इंडस्ट्रीज लिमिटेड; रेडिको खेतान लिमिटेड; अजीत इंडस्ट्रीज प्राइवेट लिमिटेड; सिनर्जी एनवायरोनिक्स लिमिटेड; टिम्बरवर्क्ज़, इफको, जेएसपीएल और व्रज मेटालिक्स इन्वेस्ट इंडिया ने प्रायोजक के रूप में सहयोग दिया। सम्मलेन में पीएचडी चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री के महासचिव श्री सौरभ सान्याल सहित देश भर के कई उद्योगपतियों ने हिस्सा लिया। सम्मलेन का सञ्चालन पीएचडी चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री के महासचिव डॉ. योगेश श्रीवास्तव, द्वारा किया गया।

छत्तीसगढ डडसेना (सिन्हा) कलार समाज का वर्चुअल मीटिंग सम्पन्न आपदा राहत एवं प्रतिभा प्रोत्साहन कोष की प्रगति पर चर्चा.....

रायपुर- छत्तीसगढ डडसेना (सिन्हा) कलार समाज का वर्चुअल मीटिंग प्रांताध्यक्ष दीपक कुमार सिन्हा की अध्यक्षता में आयोजित किया गया जिसमें आपदा राहत एवं प्रतिभा प्रोत्साहन कोष की प्रगति पर चर्चा किया गया। जिला संरक्षक दुर्ग एवं संयोजक आनंद राम सिन्हा ने विभिन्न जिलाध्यक्षों से किए गए वार्ता से अवगत कराया साथ ही सभी पदाधिकारीयों से अनुरोध किया कि अपने सामर्थ्य अनुसार अंशदान देकर कोष में वृद्धि करने में सहयोग करें।प्रांताध्यक्ष दीपक कुमार सिन्हा ने अपनी ओर से 5000/रू देने की घोषणा किया और सभी पदाधिकारियों से भी आग्रह किया अधिक से अधिक लोग इस कोष में अपना योगदान ग्रुप के माध्यम से घोषणा करें। मीटिंग के अगले एजेंडा अनुसार समाज कोष ऑडिट रिपोर्ट पर चर्चा करते हुए प्रांतीय कोषाध्यक्ष डामन सिन्हा ने आय व्यय का लेखा जोखा प्रस्तुत किया। मुख्य कोष निरीक्षक आशा राम सिन्हा ने प्रांत और जिले में किए गए आडिट के बारे में विस्तार से चर्चा किया और करोना के कारण जो जिला अभी तक ऑडिट नहीं कराएं हैं वे तैयारी करके रखें ताकि उनका समय पर ऑडिट हो सकें ज़िला ऑडिटर महासमुंद रघुनाथ सिन्हा ने महासमुंद जिले के अन्तर्गत आने वाले मंडलों की ऑडिट की स्थिति से अवगत कराया, मोरध्वज सिन्हा ने राजनांदगांव जिले के अन्तर्गत मंडलों की ऑडिट की स्थिति से अवगत कराया,बलौदाबजार के जिलाध्यक्ष भुवन जायसवाल ने अपने अधीन आने वाले मंडलों के ऑडिट रिपोर्ट पर चर्चा किया, बालोद जिला अध्यक्ष डा बिशंभर सिन्हा ने बालोद जिले के अन्तर्गत आने वाले मंडलों की ऑडिट रिपोर्ट पर चर्चा किया, रायपुर के जिलाध्यक्ष भूषण सिन्हा ने अपने अधीन आने वाले सातों मण्डल की ऑडिट की स्थिति पर चर्चा किया और बताया कि कुछ मंडलेश्वर अभी तक ऑडिट पर ध्यान नहीं दे रहे हैं बाकि सभी लोग ऑडिट करा रहे हैं और जैसे ही लॉक डाउन खुलेगा सभी को ऑडिट कराने कहा जाएगा गरियाबंद के जिला कोषाध्यक्ष दुलार सिन्हा ने अपने जिले के अन्तर्गत आने वाले मंडलों के ऑडिट रिपोर्ट पर चर्चा किया और जिन मंडलों ने अभी तक ऑडिट नहीं कराएं हैं उन्हें आवश्यक तैयारी करके रखने कहा, धमतरी के ज़िला मंत्री शशिकांत सिन्हा ने धमतरी जिले की ऑडिट के संबंध में जानकारी दिया और दुर्ग ज़िला के जिलाध्यक्ष ने अपने जिले के अन्तर्गत आने वाले मंडलों की ऑडिट रिपोर्ट पर चर्चा किया और बताया कि करोना के कारण लाक डाउन होने के कारण ऑडिट नहीं करा पाए जैसे ही लॉक डाउन खुलेगा ऑडिट करा लिया जाएगा। महामंत्री प्रेम लाल सिन्हा ने सभी मंडलेश्वरो एवं जिलाध्यक्षों से आग्रह किया कि सभी लोग निर्धारित समय पर प्रतिवर्ष अपने अपने मंडल एवं जिले का ऑडिट करवा ले सभी ज़िला ऑडिटर से भी आग्रह किया कि अपने अपने दायित्वों का ईमानदारी से पालन करें। संरक्षक भोज राम डडसेना ने सभी पदाधिकारियों को वर्चुअल मीटिंग में शामिल होने पर धन्यवाद दिया और मीटिंग में जो विचार, चर्चा हुआ है उसे समाज हित में अपने अपने दायित्वों का निर्वहन करें। सभी मंडलेश्वरों से निवेदन किया कि अपने अपने मण्डल में तहसील ऑडिटर की नियुक्ति करें ताकि ग्राम एवं क्षेत्र का ऑडिट किया जा सके। प्रांताध्यक्ष दीपक कुमार सिन्हा ने शुन्य काल में उठाए गए समस्या का समाधान करते हुए सभी को मिलकर समाज हित में कार्य करने का आग्रह किया और अधिक से अधिक लोगों को मीटिंग में शामिल होने अन्य लोगों को प्रेरित करने कहा। मीटिंग में शामिल होने वाले सभी पदाधिकारीयों को धन्यवाद एवं आभार व्यक्त करते हुए मीटिंग का समापन किया गया।

घरेलू सिलिंडर से लेकर सभी दैनिक जीवन में उपयोग आने वाली वस्तुओं के कीमत में हो बढ़ोत्तरी के कारण बढ़ रही महंगाई से आम आदमी का जीना हुआ दूभर

रायपुर पश्चिम विधानसभा के रायपुरा,दीनदयाल उपाध्याय नगर,रामनगर,पहाड़ी चौक गुढ़ियारी और अग्रसेन चौक में आम जनता की उपस्थिति में विधायक महोदय ने रिंगटोन जारी कर उसे अपने मोबाइल में सेट कर विरोध दर्ज करने की अपील जहाँ एक तरफ केंद्र की मोदी सरकार के द्वारा लगातार पेट्रोल-डीजल से लेकर खाने के तेल तक और घरेलू सिलिंडर से लेकर दैनिक जीवन में उपयोग में लाये जाने वाली वस्तुओं के मूल्यों की जा रही बेतहाशा वृद्धि से देश में हाहाकार मचा हुआ है वहीं केंद्र की मोदी सरकार बेफिक्र होकर सो रही हैं। महँगाई के कारण आमजनता जहाँ कर्ज लेकर अपना जीवन-यापन कर रही हैं वहीं आर्थिक बोझ के तले दबी जनता आत्महत्या करने को मजबूर हो रही हैं। आज स्थिति यह हैं कि जो भारतीय जनता पार्टी के नेता कभी पेट्रोल-डीजल के दाम में मामूली सी वृद्धि होने पर साईकल चलाते थे,प्याज की माला पहनकर ढोंग रचते थे वो आज पेट्रोल-डीजल के दाम 100 ₹ और खाने के तेल के दाम 200 ₹ होने पर भी घोर निद्रा में लीन हैं। आज हमने बढ़ती हुई महँगाई के विरोध में "मोदी सरकार फेल हैं, 100 रु. पेट्रोल 200 रु. तेल हैं" रिंगटोन को जारी कर आम आदमी से महंगाई के विरोध की इस मुहिम में सहभागी बनने हेतु अपील की -

विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर श्री रावतपुरा सरकार ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशन नवा रायपुर में वृक्षारोपण किया गया

रायपुर - विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर श्री रावतपुरा सरकार ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशन नवा रायपुर में वृक्षारोपण किया गया जिसमे करण, अर्जुन, गुलमोहर ,नीम के साथ लगभग पचास पौधे लगाए गए इस अवसर पर श्री रावतपुरा सरकार ग्रुप ऑफ इंस्टीटूशन्स नवा रायपुर की ओर से विश्व पर्यवरण दिवस की हार्दिक बधाई व शुभकामनाएं दी गई । साथ ही कहा गया की प्रकृति जीवन का दर्पण हैं प्रकृति अनुरूप जीवन जीना ही सुखमय जीवन का राज है। पर्यावरण दिवस पर संकल्प लिया गया कि पर्यवरण विरोधी कार्य नही करेंगे और पर्यावरण संतुलन और शुद्धता के लिए हर संभव प्रयास करेंगे। वृक्षारोपण कार्यक्रम में डॉ. मिथिलाश सिंह प्राचार्य (श्रीटेक) एवं प्रभारी निदेशक सुनील शर्मा सहायक। प्रो. मेक) राजकुमार भारती नरेश खुंटे मुकेन्द्र साहू, विजय गुप्ता, पुष्पेंद्र साहू ,चित्रसेन वर्मा दीपक फुताने गजेंद्र वर्मा संतोष पाल उमाशंकर साहू ,रवि कुमार शर्मा , ललित कुमार बार्ले सहित सभी स्टाफ मौजूद रहे

मदर टेरेसा कॉलेज ऑफ नर्सिंग में विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर टाइम टू रीइमेजिन, रीक्रिएट एंड रिस्टोर आयोजन किया

रायपुर- मदर टेरेसा कॉलेज ऑफ नर्सिंग ने विश्व पर्यावरण दिवस, 2021 के अवसर पर पाठ्येतर गतिविधियों का आयोजन किया, टाइम टू रीइमेजिन, रीक्रिएट एंड रिस्टोर थीम रहा। छात्रों ने आज की थीम पर पोस्टर प्रेजेंटेशन और वीडियो मेकिंग में हिस्सा लिया। पाठ्येतर गतिविधियों के साथ, पूरे कुम्हारी परिसर के कर्मचारियों ने वृक्षारोपण अभियान में सक्रिय रूप से भाग लिया, जिसकी अध्यक्षता परिसर निदेशक एमके श्रीवास्तव ने की ,इस पौधरोपण अभियान में निदेशक महोदय, श्री विजय सगोरिया, रजिस्ट्रार, डॉ. चंचल दीप कौर, प्राचार्य एसआरआईपी, डॉ. प्रीति गुरनानी, बी.एड कॉलेज प्राचार्य, श्रीमती के. दीपा, प्राचार्य एमटीसीएन, श्री शिव नारायण के साथ , प्रशासनिक अधिकारी श्री अनिल वैष्णव, मानव संसाधन सह प्रवेश प्रभारी एवं परिवहन प्रभारी एवं समस्त कर्मचारियों ने भाग लिया।

ए एसआई से एसआई पद पर हुआ प्रमोशन डीजीपी डीएम अवस्थी ने जारी किया आदेश पुलिस के 106 परवारों में खुशी की लहर, देखिए ए एसआई से एसआई पद पर किसे मिला प्रमोशन

रायपुर 5 जून । पुलिस मुख्यालय द्वारा जारी हुये प्रमोशन आदेश से 106 पुलिसकर्मियों के परिवारों में खुशियां आई है। डीजीपी श्री डीएम अवस्थी के निर्देश पर आज पुलिस मुख्यालय से एएसआई से एसआई पद के लिये पदोन्नति सूची जारी कर दी गई। प्रदेश की विभिन्न इकाईयों में पदस्थ 106 एएसआई को पदोन्नत कर एसआई बनाया गया है। उल्लेखनीय है कि बीते साल भी सौ से अधिक एएसआई को एसआई पद पर प्रमोशन दिया था। बीते साल आरक्षक से प्रधान आरक्षक के पद पर 126, प्रधान आरक्षक से सहायक उप निरीक्षक के पद पर 166, सहायक उप निरीक्षक से उप निरीक्षक के पद पर 116, उप निरीक्षक से निरीक्षक के पद पर 76 अधिकारियों को पदोन्नति प्रदान की गयी थी। इन्हें मिला प्रमोशन- श्री देवनारायण राम श्रीमतीकमला यादव श्रीप्रदीपकुमारमिश्रा श्रीगुहारामवर्मा श्रीरामअवतार यदु श्रीमती शैल शर्मा श्रीगिरजाषंकर यादव श्रीसुषीलकुमारवर्मा ज्योतिराजपुत श्रीमती शारदाबंजारे श्रीगोवर्धन सिंह ठाकुर श्रीचिरौंजीलालसाहू श्रीनारायण प्रसादवर्मा श्रीविष्णुप्रसादचौबे श्रीमहेन्द्रकुमारटंडन श्रीअलेक्जेण्डर खेस श्रीविरेन्द्र धरदीवान श्रीचन्दरू रामजायसवाल श्रीभदरसाय पैकरा श्रीजगदीशचंद्रपाटीदार श्री शत्रुघननाग श्रीसूर्यकांततिवारी श्रीनित्यप्रकाशगोयल श्रीबलदाऊचन्द्राकर श्रीलखमूराम यादव श्रीहुलाससाहू श्रीसंतुरामपोयाम श्रीपवन यादव श्रीउमेन्द्र सिंह ठाकुर श्रीगेंदसिंहसोरी श्रीहेमंतकुमारसाहू श्रीअथनासियुस मिंज श्री के. सूर्यनारायण राजू श्री यादवकुमारसाहू श्री शोभितरामसाहू श्रीमहेन्द्रकुमारसाहू श्रीसुनीलकुमारढाबरे श्रीनरेश सिंह श्री शंकरपाल श्रीजगतपाल सिंह श्रीरमेशकुमारमरकाम श्रीरामकुमारजैन श्रीरोहितकुमारडहरिया श्रीदिलीपमेश्राम श्रीकुमार सिंह सिन्हा श्रीबाबूलालसाहू श्रीउनियरकुमारचांदने श्रीदेवनारायण श्रीवास्तव श्रीपरवासी यादव श्रीगंगाप्रसादबंजारे श्रीजयद्रथप्रसादसोनी श्रीनारायण सिंह धु्रव श्रीकृष्णा सिंह धु्रर्वे श्रीगोपाल सिंह राजपूत श्रीभुवनलालसाहू श्रीविनय कुमार सिंह श्रीश्रवणकुमारगायकवाड़ श्रीसुभाष सिंह मंडावी श्रीछन्नूलालजांगड़े श्रीबल्दूरामराणा श्रीगौकरण सिंह कोरेटी श्रीगेंदलालसाहू श्रीरमाशंकरतिवारी श्रीसंतोषसोम श्रीदीनूरामसेठिया श्री कृष्णपाल सिंह श्रीविमलेशकुमार सिंह श्रीकमलदासबनर्जी श्रीभागवत सिंह नायकर श्रीसुबल सिंह श्रीसंतोष सिंह श्रीरामसाय रामभगत श्रीसतउरामनेताम श्रीदेवादासभारती, बेबीनंदा, श्रीफत्तेहबहादुर श्रीभागवतठाकुर श्रीदया शंकरमिश्रा श्रीमानकरामसोनकर श्रीरेवारामसाहू श्रीकैलाशकुमारसाहू श्री शम्भुरामसिन्हा श्रीकुंभकरणराजवाड़े श्रीसोनाधर कश्यप श्रीअखिलानंदसाहू श्रीउत्तमकुमारजैन श्रीसुषेणकुमारपाल श्रीनरसिंहसाहू श्रीमतीआशाश्यामल श्री द्वारिकामिश्रा श्रीफागूरामलहरे श्रीबुधरामसाहू श्रीटेक सिंह राजपूत श्री घनश्याममरकाम श्रीविनोद सिंह ठाकुर श्रीबिदेशीरामबिनिया श्रीपरसरामदेवदास श्रीहृदय शंकरप्रजापति श्रीशिवकुमारसाहू श्रीव्यास सिंह परमार श्रीमदनलालसिन्हा श्रीरघुराम यादव श्रीरहसलालडहरिया श्रीभूपेशराठौर श्रीभेलारामराजपूत श्रीबसंतमिश्रा
Previous123456789...3233Next