राजधानी

डाॅ. भीमराव अम्बेडकर चिकित्सालय, रायपुर में कैंसर के मरीजों को मिलेगी अत्याधुनिक एक्स रे जांच की सुविधा डी. आर. सिस्टम का होगा लोकार्पन

मरीजों को नये एक्स रे सिस्टम की सौगात देगें स्वास्थ्य मंत्री

पं. जवाहरलाल नेहरू स्मृति चिकित्सा महाविद्यालय, रायपुर से सम्बन्धित डाॅ. भीमराव अम्बेडकर स्मृति चिकित्सालय स्थित क्षेत्रीय कैंसर संस्थान में कैंसर के इलाज हेतु आने वाले मरीजों को एक्स रे जांच की अत्याधुनिक मशीन डी. आर. सिस्टम की सुविधा मिलने जा रही है। डी. आर. यानी डिजिटल रेडियोग्राफी सिस्टम की नई मशीन का लोकार्पण माननीय मंत्री श्री टी. एस. सिंहदेव, लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण चिकित्सा शिक्षा, पंचायत एवं ग्रामीण विकास, छ.ग. शासन द्वारा रविवार 8 सितम्बर को दोपहर 12 बजे क्षेत्रीय कैंसर संस्थान में किया जायेगा। कार्यक्रम की अध्यक्षता विधायक रायपुर ग्रामीण श्री सत्यनारायण शर्मा करेंगे। विशेष अतिथि के रूप में विधायक दक्षिण विधानसभा श्री बृजमोहन अग्रवाल, विधायक उत्तर विधानसभा श्री कुलदीप जुनेजा, विधायक पश्चिम विधान सभा श्री विकास उपाध्याय तथा महापौर श्री प्रमोद दुबे उपस्थित होंगे।

लोकार्पण समारोह की जानकारी देते हुए क्षेत्रीय कैंसर के संचालक एवं विभागाध्यक्ष डाॅ. विवेक चौधरी ने बताया कि लगभग 1.5 करोड़ की लागत से स्थापित डी. आर. सिस्टम मशीन से मरीजों का उच्च गुणवत्तापरक डिजिटल एक्स-रे अपेक्षाकृत कम समय में किया जा सकेगा। मरीज का एक्स-रे करने के बाद कंप्यूटर स्क्रीन पर इमेज तुरंत दिखाई देने लगती है जिससे समय की बचत होगी। निश्चित रूप से मरीजों के जांच व इलाज में यह मशीन अत्यधिक लाभदायक सिद्ध होगी। डिजिटल रेडियोग्राफी की विशेषता

डी. आर. सिस्टम से एक्स रे करने में बहुत ही कम समय लगता है। इसमें इमेजिंग प्लेट की आवश्यकता नहीं होती है। यह एक्स-रे के जरिये शरीर के इमेज या छवि को प्राप्त करने का एक आधुनिक तरीका है जो पारंपरिक एनालाॅग इलेक्ट्रॉनिक फिल्म के स्थान पर डिजिटल इलेक्ट्रॉनिक सेंसर और डिजिटल कैप्चरिंग डिवाइस का उपयोग करता है। यह एक्स-रे फिल्म को तुरंत प्राप्त करने की अनुमति देता है।

हाई प्रोसेसिंग स्पीड

पारंपरिक एक्स रे सिस्टम के मुकाबले डी. आर. की प्रोसेसिंग स्पीड (प्रसंस्करण गति) उच्च होती है जिससे छवियों का तुरंत रिव्यू किया जा सकता है। इसके लिये एनालाॅग फिल्म, कैसेट, डार्क रूम और रासायनिक प्रकियाओं द्वारा विकसित केमिकल की जरूरत नहीं पड़ती। जब मरीज का एक्स रे किया जाता है तो मशीन में लगा रिसेप्टर (संग्राहक) इमेज को कैप्चर कर लेता है और व्यू स्टेशन के साॅफ्टवेयर में स्थानांतरित कर देता है जिससे डिजिटल इमेज प्राप्त होती है। इस प्रक्रिया से प्राप्त डिजिटल छवि को संबंधित वर्कस्टेशनों में वितरित किया जा सकता है, जिससे कार्य की गति व दक्षता बढ़ जाती है।

अगले 24 घंटे के लिए मौसम विभाग का यलो अलर्ट, कई स्थानों में होगी भारी बारिश

रायपुर:- मौसम विभाग ने अगले 24 घंटे के लिए यलो अलर्ट घोषित किया है। मौसम विभाग के अनुसार अगले 24 घंटे में बिलासपुर, मुंगेली, जांजगीर, बलोदा बाजार, बेमेतरा, कबीरधाम, बस्तर, कोंडागांव, बलरामपुर, जशपुर, रायगढ़ और नारायणपुर में एक-दो स्थानों पर भारी वर्षा होने की संभावना है। आगामी 2 दिन बाद प्रदेश में अनेक स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा या गरत-चमक के साथ छींटे पड़ने की संभावना है। रायपुर शहर में आकाश मेघमय रहेगा,कुछ बार गरज चमक के साथ वर्षा होने की संभावना है। मौसम विभाग के मुताबिक आज का सिस्टम उत्तर छत्तीसगढ़ और उससे सटे पूर्वी मध्यप्रदेश पर कम दबाव का क्षेत्र पूर्वोत्तर मध्यप्रदेश और आसपास में कम दबाव के क्षेत्र के रूप में संबंधित चक्रवाती घेरा समुद्र तल से 1.5 किलोमीटर ऊपर तक फैला हुआ है। समुद्र तल से मानसून का द्रोणिका अनूपगढ़, सीकर, गुना, कम दबाव क्षेत्र के केंद्र से उत्तरी पूर्व मध्यप्रदेश के आसपास, पेंड्रा रोड, झाड़सुगुड़ा, पूरी और दक्षिण पूर्व से पूर्वी मध्य बंगाल की खाड़ी से होकर बना हुआ है। उत्तर पश्चिमी बंगाल के गंगेटिक के तट तथा ओडिशा के तटों पर चक्रवर्ती घेरा 7.6 किलोमीटर तक फैला हुआ है तथा समुद्र तल से ऊंचाई के साथ दक्षिण पश्चिम की ओर झुका हुआ है। मौसम विभाग के अनुसार प्रदेश में अधिकांश स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा या गरज चमक के साथ छींटे पड़ने की संभावना है। वहीं आज प्रदेश में अधिकांश स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा तथा 12 स्थानों पर भारी वर्षा दर्ज की गई है।

शासकीय दफ्तरों में मिट्टी के बरतनों के उपयोग से रोजगार के अवसर खुलेंगे : मंत्री गुरू रूद्र कुमार

रायपुर:- लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी एवं ग्रामोद्योग मंत्री गुरू रूद्र कुमार आज मंगलवार दोपहर राजीव भवन में मंत्री से मिलिए कार्यक्रम में लोगों की समस्याएं सुनी। उन्होंने प्राप्त आवेदनों और समस्याओं के समाधान के लिए अधिकारियों को जरूरी निर्देश भी दिए। उन्होंने कहा कि सभी शासकीय दफ्तरों में मिट्टी के बरतनों के उपयोग से रोजगार के अवसर खुलेंगे। मीडिया से चर्चा के दौरान मंत्री गुरू रूद्र कुमार ने कहा कि लोगों की समस्याओं का निराकरण करना सरकार की प्राथमिकता है। सभी मंत्री अपने-अपने विभाग की समस्याओं के निराकरण के लिए राजीव भवन में लोगों से मिल रहे हैं, इसी के तहत आज मैं भी यहां आया हूं। उन्होंने कहा कि आमतौर पर गांव और शहर के विकास से संबंधित या उपचार से संबंधित आवेदन और समस्याएं आती है, जिसका उचित समाधान किया जाएगा। उन्होंने कहा कि ग्राम उद्योग विभाग के गठित माटी कला बोर्ड में हर प्रकार के बर्तन जो किचन में होते हैं बनाए जा रहे हैं। ग्राम उद्योग विभाग के उक्त प्रस्ताव को लेकर मंत्रालय व सभी शासकीय कार्यालयों को अवगत करा दिया गया है। इससे ग्रामोद्योगों को बढ़ावा मिलेगा और रोजगार के अवसर निर्मित होंगे तो वहीं यह स्वास्थ्य की दृष्टि से भी लाभदायक है। आमजन जो मिट्टी के बरतनों का उपयोग करना चाहेंगे उन्हें भी कम दाम पर बर्तन उपलब्ध कराए जाएंगे। उन्होंने कहा कि इस बार प्रदेश में अल्प वर्षा की स्थिति है, जो चिंता का विषय है। सरकार का ड्रीम प्रोजक्ट नरवा, गरवा, घुरवा और बारी है, इसमें नरवा को लेकर यह विशेष ध्यान दिया जा रहा है कि वाटर लेवल नीचे ना जाए। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि शहर में वाटर सप्लाई की समस्या के संबंध में नगरीय प्रशासन मंत्री से चर्चा कर उचित समाधान किया जाएगा। उन्होंने कहा कि मिनीमाता नल-जल योजना के तहत बीपीएल परिवारों को उनके घर के अंदर तक नल कनेक्शन दिया जाएगा।

भाजपा संगठनात्मक चुनाव के लिए अधिकारी नियुक्त

रायपुर:- भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय चुनाव प्रभारी व पूर्व केन्द्रीय मंत्री भारत सरकार राधामोहन सिंह ने सदस्यता अभियान के पश्चात छत्तीसगढ़ भाजपा में संगठनात्मक चुनाव कराने के लिए प्रदेश निर्वाचन समिति का गठन किया है। प्रदेश निर्वाचन समिति के लिए प्रदेश चुनाव अधिकारी रामप्रताप सिंह व प्रदेश सह चुनाव अधिकारी विष्णुदेव साय को नियुक्त किया गया है। उपरोक्त जानकारी छत्तीसगढ़ भाजपा मीडिया विभाग ने जारी की है।

छत्तीसगढ़ गौण खनिज साधारण रेत नियम 2019 जारी : चयनित बोलीदार को दो वर्ष के लिए रेत उत्खनन पट्टा का होगा आबंटन

रायपुर, 20 अगस्त 2019 -  मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की विशेष पहल पर राज्य शासन द्वारा विगत कैबिनेट की बैठक में निर्णय लिया गया है कि पंचायतों एवं नगरीय निकायों के माध्यम से रेत खदानों के संचालन की वर्तमान व्यवस्था में संशोधन करते हुए रेत खदान संचालन के लिए निजी व्यक्ति और संस्था का चयन संबंधित जिले के कलेक्टर द्वारा रिवर्स बिडिंग के आधार पर कराया जाएगा। प्रदेश में अब रेत खदानों के संचालन के लिए छत्तीसगढ़ गौण खनिज साधारण रेत (उत्खनन एवं व्यवसाय) नियम, 2019 बनाया गया है।

    प्रदेश में वर्तमान व्यवस्था के अंतर्गत रेत खदान संचालनकर्ता को खनिज रेत का मूल्य एवं अन्य प्रभारित करों को खदान क्षेत्र में आम जनता के लिए प्रदर्शित किया जाना होगा। साथ ही रेत परिवहन में संलग्न वाहनों तथा रेत व्यवसाय से जुड़े ट्रेडर्स का पंजीयन कराया जाना अनिवार्य होगा। ठेकेदार द्वारा रायल्टी एवं अन्य करों का अग्रिम भुगतान कर खनिज ऑनलाईन पोर्टल के माध्यम से अभिवहन पास जारी किया जाएगा। इसमें चयनित बोलीदार को दो वर्ष के लिए रेत उत्खनन पट्टा का आबंटन किया जाएगा।

    इसके तहत् 19 अगस्त 2019 को रायपुर, बिलासपुर, जांजगी-चांपा, रायगढ़, कोरबा, मुंगेली, कांकेर, बलौदाबाजार-भाटापारा तथा अन्य जिलों में कुल 60 रेत खदानों हेतु एन.आई.टी. जारी किया गया है। जिसमें छत्तीसगढ़ का मूल निवासी ही नीलामी में भाग ले सकता है। रेत उत्खनन में किसी व्यक्ति, फर्म और संस्था का एकाधिकार समाप्त करने के लिए नई व्यवस्था के अंतर्गत किसी एक जिले में मात्र एक खदान समूह तथा पूरे प्रदेश में अधिकतम 5 समूहो में ही रेत खदाने प्राप्त कर सकता है।

    प्रस्तावित नवीन व्यवस्था में प्रदेशभर में रेत के अवैध उत्खनन, परिवहन, भंडारण पर प्रभावी नियंत्रण हेतु जिला एवं प्रदेश स्तर पर उड़नदस्ता दलों का गठन किया जा रहा है। नियमों के उल्लंघन पर दोषी के विरूद्ध कार्यवाही करने एवं रेत परिवहन संलग्न वाहन तथा ट्रेडर्स द्वारा 3 बार से अधिक अवैध परिवहन में लिप्त पाए जाने पर उल्लंघनकर्ता के विरूद्ध ऑनलाईन पंजीयन से पृथक करने की कठोर कार्यवाही की जाएगी। पूर्व में खनिज रेत का उत्खनन के लिए छत्तीसगढ़ गौण खनिज रेत का उत्खनन एवं व्यवसाय विनियमन निर्देश, 2006 के तहत ग्राम पंचायतों को रेत व्यवसाय के लिए अधिकृत किया गया था। उक्त नियमों के तहत संबंधित ग्राम पंचायत, जनपद पंचायत और नगरीय निकायों के द्वारा मात्र रायल्टी प्राप्त कर रेत खदानंे संचालित की जा रही थी।

    पुरानी व्यवस्था में गाम पंचायतों द्वारा अवैधानिक तरीके से निजी व्यक्तियों के माध्यम से मशीने लगाकर रेत खदानों को ठेके पर दे दिया गया था। माईनिंग प्लान तथा पर्यावरण सम्मति का पालन ग्राम पंचायतों द्वारा नहीं कराया जा पा रहा था। जिन खदानों में मैन्युल लोडिंग हेतु अनुमति प्रदत्त है, उन खदानों में भी मशीनों द्वारा लोडिंग कराए जाने की शिकायतें प्राप्त हो रही थी। पंचायतों का खदान संचालन में कोई नियंत्रण नहीं होने से मूल्य वृद्धि के साथ-साथ अव्यवस्था उत्पन्न हो गई थी। पूर्व में पंचायतों द्वारा रेत खदान संचालन से जहां लगभग 13 करोड़ मात्र रायल्टी के रूप में प्राप्त हुआ करता था, वही अब नवीन व्यवस्था से लगभग 200 करोड़ राजस्व प्राप्त होने की संभावना है। पंचायतों एवं नगरीय निकायों को विगत 5 वर्षों में प्राप्त अधिकतम वार्षिक राशि में 25 प्रतिशत की वृद्धि कर समतुल्य राशि संबंधित पंचायत तथा नगरीय निकायों को आगामी वित्तीय वर्ष से प्राप्त होगी।

    वर्तमान व्यवस्था के तहत आम जनता को निर्धारित दर पर सुगमता से रेत उपलब्ध हो पाएगा। इससे नदियों एवं जल स्त्रोतों के पर्यावरणीय दृष्टिकोण से संरक्षण के साथ ही उपभोक्ताओं को सुगमता से उचित मुल्य पर रेत उपलब्ध हो सकेगी। शासन को रायल्टी के साथ डी.एम.एफ., पर्यावरण एवं अधोसंरचना उपकर सहित नीलामी राशि (उच्चतम निर्धारित मूल्य एवं न्यनतम बोली के अंतर की राशि) के रूप में अतिरिक्त राजस्व की प्राप्ति होगी। रेत के पट्टों के अनुबंध निष्पादन होने से स्टाम्प ड्यूटी एवं पंजीयन शुल्क के रूप में अतिरिक्त राजस्व की प्राप्ति होगी।

मुख्यमंत्री ने 24 घंटे के अंदर भागवत की समस्या का किया समाधान पढ़े पूरी खबर

रायपुर :- मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल ने जाति प्रमाण पत्र नहीं बन पाने से मायूस क़ुदमुरा के भागवत उराँव की समस्या का समाधान कर दिया है ।मुख्यमंत्री बघेल के निर्देश पर ज़िला प्रशासन ने त्वरित करवाई करते हुए पूरी प्रक्रिया कर 24 घंटे में ही जाती प्रमाण पत्र बनाकर उसे सौंप दिया है । मुख्यमंत्री बघेल ने समाचार पत्र में प्रकाशित ख़बर पर संज्ञान लिया और दूरभाष पर कलेक्टर किरण कौशल को भागवत का जाति प्रमाण पत्र बनाने के निर्देश दिए थे। जिस पर कलेक्टर ने अनुविभागीय राजस्व अधिकारी को तत्काल करवाई करने के लिए भेजा। कूदमूरा निवासी भागवत जाति प्रणाम पत्र नहीं होने के कारण पिछले 6 माह से परेशान था और किसी भी शासकीय योजना का लाभ भी नहीं ले पा रहा था ।दैनिक रोजी मजदूरी करके अपना जीवन चलाने वाले जाति प्रमाण पत्र के लिए पिछले 6 महीने से तहसीलदार और एसडीएम कार्यालय के चक्कर लगाने पड़ रहे थे ।भागवत के पास अपनी जाति को सिद्ध करने के लिए शासकीय दस्तावेज मिसल,पूर्वजों का कोई शैक्षणिक दस्तावेज जैसा रिकॉर्ड नहीं था इस कारण से उसका जाति प्रमाण पत्र नहीं बन पा रहा था। मुख्यमंत्री कार्यालय से मिले निर्देश पर कलेक्टर कौशल ने 2 दिनों में जाति प्रमाण पत्र जारी करने के निर्देश एसडीएम नेपाल सिंह नौरोजी को दिए थे ।एसडीएम ने भागवत को बुलाकर जाति प्रमाण पत्र बनने में आ रही परेशानी के बारे में पूछा ।भागवत ने बताया कि वह उराँव जनजाति का है और अपनी जाति सिद्ध करने का कोई सक्षम प्रमाण नहीं है । भागवत ने बताया की बहुत छोटी उम्र में ही उसके माता-पिता का देहांत हो गया था और अब वह अपनी दो बहनों के साथ कूदमूरा गांव में निवास कर दैनिक मजदूरी से अपना जीवन चला रहा है । माता पिता के अनपढ़ होने के कारण उसके पास जाति को प्रमाणित करने कोई दस्तावेज़- रिकार्ड नही है। गांव की ग्राम सभा से पारित प्रस्ताव पारित की प्रति भागवत के पास थी,जिसमें ग्राम सभा ने भागवत के उरांव जाति के होने की पुष्टि कर दी थी। इसी प्रस्ताव के आधार पर भागवत का जाति प्रमाण पत्र तैयार कर दिया गया।

5 IPS अधिकारियों का हुआ तबादला किसे कहा कि मिली जिम्मेदारी देखें पूरी सूची

रायपुर. राज्य सरकार के द्वारा भारतीय प्रशासनिक सेवा के 5 अधिकारियों का तबादला आदेश जारी हुआ है। देखे सूची

रायपुर : मुख्यमंत्री राजधानी रायपुर में स्वतंत्रता दिवस के मुख्य समारोह में ध्वजारोहण करेंगे

रायपुर:- मुख्यमंत्री भूपेश बघेल 15 अगस्त को राजधानी रायपुर के पुलिस परेड ग्राउण्ड में आयोजित स्वतंत्रता दिवस के मुख्य समारोह में सबेरे 9 बजे ध्वजारोहण कर परेड की सलामी लेंगे और प्रदेश जनता के नाम संदेश का वाचन करेंगे। समारोह में मुख्यमंत्री पुलिस अधिकारियों व कर्मचारियों को पदक अलंकरण, पुरस्कार वितरण करेंगे। मुख्यमंत्री इस अवसर पर स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों को सम्मानित करेंगे। समारोह में स्कूलों बच्चों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति दी जाएगी। पुलिस एवं अर्धसैनिक बलों द्वारा आकर्षक मार्चपास्ट किया जाएगा। समारोह का मुख्य आकर्षण नारायणपुर जिले के पोटाकेबिन के बच्चों द्वारा मलखम्ब और जंगल वॉर फेयर कॉलेज कांकेर द्वारा हॉर्स शो का प्रदर्शन किया जाएगा।

राज्यपाल ने दी देश एवं प्रदेशवासियों को राष्ट्रीय पर्व स्वतंत्रता दिवस एवं भाई बहन के प्यार के अटूट पर्व रक्षाबंधन की बधाई एवं शुभकामनाएं

रायपुर: राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके ने स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर पूरे देशवासियों, सेना के जवानों सहित प्रदेशवासियों को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं दी हैं। उन्होंने अपने शुभकामना संदेश में कहा है कि देश के महान स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों और राष्ट्र नायकों के अथक संघर्ष, बलिदान और त्याग ने देश को आजादी दिलाई है। आज हम उनकी कुर्बानी के कारण ही आजाद हैं और अमन-चैन की सांस ले रहे हैं। उन्होंने कहा कि दिन-रात सजग रहकर देश की रक्षा करना और देश के लिए जीना भी महान देशभक्ति का उदाहरण है। देश के नवयुवकों पर, इस आजादी को अक्षुण्ण बनाए रखने तथा भारत की एकता और अखण्डता को मजबूत करने की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी है। आजादी की इस मशाल को थामे रखने और उसके सुलगते रहने के लिए यह बहुत जरूरी है कि हम अपने वीर सपूतों को हमेशा याद रखें और उनके प्रेरणादायी उच्च आदर्शों को हृदय में संजोए रखें।

भाई-बहन के प्यार के इस अटूट पर्व रक्षाबंधन पर राज्यपाल ने दी शुभकामनाएं.

राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके ने रक्षाबंधन के अवसर पर प्रदेशवासियों को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं दी है। राज्यपाल ने अपने संदेश में कहा है कि रक्षाबंधन का पर्व जहां भाई-बहन के पवित्र स्नेह एवं प्रेम का प्रतीक है, वहीं बहन द्वारा भाई की मंगल कामना और भाई द्वारा बहन की रक्षा किये जाने के संकल्प से जुड़ा है। उन्होंने यह कामना की है कि यह पर्व सभी के जीवन में सुख-शांति एवं खुशहाली लेकर आए।

प्रदेश एनएसयूआई ने अनुसूचित जाति/ जनजाति(ST/SC) CBSC की परीक्षा शुल्क की राशि केंद्र सरकार ने 50 रू से 1200 रू कर दिया गया है जिसके चलते आज पूरे प्रदेश में एनएसयूआई ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पुतला जलाया और विरोध में नारेबाजी की

रायपुर :- जिला में एनएसयूआई प्रदेश अध्यक्ष आकाश शर्मा के नेतृत्व में पुतला दहन का कार्यक्रम कराया जिसमें सैकड़ों पदाधिकारी शामिल हुए कार्यक्रम के दौरान नरेंद्र मोदी का पुतला एनएसयूआई के कार्यकर्ताओं ने पुलिस की नजरों से बचाते हुए कार से निकाल कर पुतले में आग लगाई इसे देखते हुए वहां मौजूद पुलिसकर्मियों ने तत्काल रुप से पानी लेकर पुतले को बुझाने की कोशिश की जिसके चलते पुलिसकर्मी और एनएसयूआई के पदाधिकारियों के बीच में खींचातानी देखी गई खींचातानी के बावजूद भी पुलिसकर्मी पुतला जलाने से एनएसयूआई के पदाधिकारियों को ना रोक पाए और पदअधिकारियों ने नारेबाजी के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पुतला दहन किया और साथ ही साथ यह विरोध जताया कि यदि जल्द से जल्द मोदी सरकार अनुसूचित जाति एवं जनजाति के छात्रों के लिए फीस कम नहीं करेगी तो आने वाले समय में एनएसयूआई पूरे प्रदेश भर में मोदी सरकार के खिलाफ उग्र प्रदर्शन की चेतावनी दी है इस पुतला दहन कार्यक्रम में मुख्य तौर पर एनएसयूआई के प्रदेश अध्यक्ष आकाश शर्मा प्रदेश उपाध्यक्ष कोमल अग्रवाल जिलाध्यक्ष अमित शर्मा प्रदेश सचिव हनी बग्गा, अरुणेश मिश्रा, हेमंत पाल प्रदेश प्रवक्ता तुषार गुहा जिला कार्यकारिणी अध्यक्ष बब्बी सोनकर जिला महासचिव संकल्प मिश्रा ,निखिल बंजारी, जिला सचिव विशाल दुबे ,पुष्पेंद्र ध्रुव विधानसभा अध्यक्ष विकास राजपूताना महासचिव अभिषेक साहू, भविक पंडिया ,शुभम गौर ,अभिषेक राव आदि मौजूद थे।
Previous123456789...3637Next