क्राइम

गाँजे का तस्कर चढ़ा पुलिस के हत्थे

बलरामपुर: आकाश साहू@BBN24 : ■3 किलो गाँजे के साथ एक युवक गिरफ्तार■ ■उक्त क्षेत्र बना है अवैध नशे का ये व्यापार केंद्र■ वाड्रफनगर नगर पुलिश चौकी अंतर्गत आज एक गांजा तस्कर पुलिश के गिरफ्त में आ गया।मामला ग्राम पंचायत परसाडीहा निवासी संजय पटेल पिता ब्रिज कुमार पटेल अपने घर से 3 किलो गाँजे के साथ घर से क्षेत्र में खपाने निकला था।वहीं मुखबिर की सूचना के बाद पुलिस घेरा बंदी कर उक्त व्यक्ति को वाड्रफनगर बस स्टैंड में गाँजे के साथ धर दबोचा।अपने पास वह अलग अलग प्लास्टिक में कुल 3 किलो गांजा रखा था।पुलिस ने धारा 118/19 व 20 बी इन ड़ी पी एस एक्ट के तहत कार्यवही कर जेल भेज दिया।

12 दिन पहले हुई ढाई लाख रुपए की लूट के मामले का किया खुलासा, सक्ती पुलिस को मिली सफलता

जांजगीर-चांपा :- जिले सक्ती पुलिस ने ग्राम केरीबंधा में विगत 5 जुलाई को एलएनटी फाइनेंस कंपनी के कर्मचारी से हुई 228500 ₹ की लूट के 3 आरोपियो ंको पकड़ने मे सलता पाई है इस मामले का एक आरोपी अभी भी फरार है। इस मामले मे खुलाशा करते हुए पुलिस ने जानकारी दी कि एल एण्ड टी फाइनेंस सर्विस के कर्मचारी कुमार सानू सेन जो कि अपने एलएनटी फाइनेंस के कार्य हेतु ऋण वसूली तथा रिकवरी के लिए ग्राम केरीबन्धा गया हुआ था तथा ग्राम केरीबंधा के गेंदराम के घर से वसूली की रकम करीब ₹228500 लेकर वह जब निकला, तो गेंदराम के घर से बमुश्किल 100-200 मीटर की दूरी पर ही पहुंचा होगा तभी तीन व्यक्तियों के द्वारा कर्मचारी कुमार सानू सेन के साथ लोहे की रॉड एवं हाथ मुक्का से मारपीट करते हुए गंभीर चोट पहुंचाकर उसके पास रखी ऋण वसूली की राशि ₹228500 एवं एक कंपनी की पावती प्रिंट मशीन तथा मोबाइल को लूटकर भाग निकले। घटना मे गंभीर रूप से घायल हो गया जिसे हॉस्पिटल मे भर्ती किया गया था । घटना की रिपोर्ट 8 जुलाई को सक्ती थाने मे की गई जिसके बाद से आरोपियों की पतासजी मे जुटी पुलिस ने लूट की वारदात मे संलिप्त केरीबंधा के ही 3 लोगों को गिरफ्तार किया है इस मामले का एक आरोपी अभी भी फरार है जिसकी तलाश की जा रही है। लूट की रकम 18420 रुपए एवं लूट की रकम से खरीदा हुआ करीब ₹7500 का एक मोबाइल बरामद किया तथा लूट की घटना में प्रयुक्त एक लोहे का पाइप, तथा एलएनटी कंपनी की बायोमेट्रिक मशीन, मोबाइल एवं एक बैग भी बरामद किया। आरोपियों को जेल दाखिल कर दिया गया है। 

पत्नी हत्या के आरोपी पति को आजीवन कारावास की सजा


रामनारायण गौतम

जांजगीर सक्ती :- न्यायालय द्वितीय अपर सत्र न्यायाधीश वंदना दीपक देवांगन सक्ती के न्यायालय में अपनी पत्नी की हत्या करने के अपराध में आरोपी ललित निषाद उम्र-38 वर्ष, पिता घांसीराम निषाद निवासी शशिपुर वार्ड क्र0-02 चन्द्रपुर, थाना चन्द्रपुर जिला-जांजगीर-चांपा को भारतीय दण्ड संहिता की धारा 302 में आजीवन कारावास एवं 500 रू0 के अर्थदंड से दंडित किया गया। विद्वान न्यायाधीश महोदया ने अपने आदेश में अर्थदंड की राशि अदा नही करने पर अतिरिक्त दो माह की कारावास की सजा का आदेश दिया। अपर लोक अभियोजक उदय कुमार वर्मा ने शासन की ओर से पैरवी किया। अभियोजन से प्राप्त जानकारी के अनुसार घटना स्थल आरोपी अपने मकान में घटना दिनांक 08/04/2016 को अपनी पत्नी नर्मदा बाई से लड़ाई झगड़ा कर हत्या करने के आशय के उसके उपर मिटटी तेल छिड़कर माचिस से आग लगाकर जला दिया था। आरोपी की पत्नी को ईलाज कराने हेतु रायगढ़ के जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया तथा गवाहों के कथन लेखबद्ध किया गया। घटना के 7 दिवस बाद दिनांक 14 अप्रैल 2016 को ईलाज के दौरान नर्मदाबाई की मृत्यु हो गई। मृतिका के द्वारा मृत्यु पूर्व मरणासन्न कथन लेने हेतु कार्यपालन दण्डाधिकारी की नियुक्ति एस डी एम चन्द्रपुर को की गई थी जिसके द्वारा मृतिका का मृत्युकालिक कथन अंकित किया गया था जिसमें मृतिका नर्मदा बाई के द्वारा अपने मृत्यु कालिक कथन में स्पष्ट रूप से अपने पति ललित निषाद के द्वारा उसके उपर मिटटी तेल छिड़क कर माचिस से आग लगा देने का कथन किया था। चन्द्रपुर थाना के पुलिस द्वारा आरोपी को गिरफ्तार कर विवेचना उपरांत न्यायालय न्यायिक मजिस्टेªट प्रथम श्रेणी डभरा के न्यायालय में चालान प्रस्तुत किया गया जहां से प्रकरण उपार्पण उपरांत न्यायालय वंदना दीपक देवांगन द्वितीय अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश सक्ती के न्यायालय में प्रकरण का विचारण किया गया। प्रकरण के विचारण के दौरान अभियोजन पक्ष के द्वारा मामले में साक्ष्य प्रस्तुत किये गये जिसमें मामले का गवाहों का परीक्षण उपरांत मृतिका नर्मदा बाई के मृत्युकालिक कथन के अनुसार आरोपी ललित निषाद के द्वारा ही अपने पत्नि नर्मदा बाई की आशयपूर्वक हत्या करना मानते हुए आरोपी ललित निषाद को दोषी करार दिया है। अभियोजन द्वारा मामले में अपने गवाहों के कथन कराकर प्रकरण में अभियोजन के तथ्यों को प्रमाणित किया है तथा अभियोजन की ओर से पैरवी कर अपर लोक अभियोजक सक्ती उदय कुमार वर्मा ने न्यायालय से निवेदन किया था कि अभियुक्त द्वारा कारित अपराध से समाज पर विवाह जैसे संस्कारांे पर दुष्प्रभाव पड़ता है। अभियुक्त द्वारा अपनी पत्नी नर्मदा बाई को विभत्स तरीके से जिंदा जलाकर कर उसकी हत्या की गई है जो गंभीर प्रकृति का अपराध है उसे कड़ी से कड़ी सजा से दण्डादिष्ट करने का निवेदन किया गया था। जिस पर विद्वान न्यायाधीश महोदया श्रीमती वंदना दीपक देवांगन ने प्रकरण में आये तथ्यों एवं साक्षीयों के कथन उपरांत आरोपी ललित निषाद को आजीवन कारावास की सजा से दंडित किया है। उक्त प्रकरण में उदय कुमार वर्मा, अपर लोक अभियोजक सक्ती ने शासन की ओर से पैरवी की।

मामा ने किया रिश्ते को शर्मसार अपनी ही भांजी को बनाया हवस का शिकार

बलरामपुर @ आकाश साहू :

जिले के वाड्रफनगर थाना क्षेत्र अंतर्गत एक हैवान मामा ने रिश्ते को कलंकित कर दिया.. मामा-भांजी के रिश्ते को शर्मसार करने वाला यह मामला सामने आया है.. शादीशुदा भांजी जब अकेली थी तब मामा की नियत बिगड़ गयी और उसने मौके का फायदा उठाकर भांजी के साथ दुष्कर्म कर दिया... जब वह दुष्कर्म की घटना को अंजाम दे रहा था तभी उसी समय भांजी का पति वहां पहुंच गया... उसके आंखों के सामने जो दिखा उसे देखकर उसके पैरों तले जमीन खिसक गई..तब मामा ने बचाव करने के लिए माफी मांगना शुरू किया ..जब बात बिगड़ता उसने देखा तो वह मौका देखकर वहां से फरार हो गया। पीडि़ता ने पति के साथ अपने मामा के खिलाफ अपराध दर्ज कराया है मामला वाड्रफनगर चौकी अंतर्गत परसडीहा का है... निवासी 50 वर्षीय ग्रामीण 15 जुलाई की दोपहर करीब 12 बजे अपनी भांजी के घर पहुंचा..उसने भांजी से पूछा कि दामाद (पति) कहां गए हैं... जब उसने बताया कि वे राशन कार्ड का नवीनीकरण कराने गए हैं। यह सुनते ही मामा की नीयत बिगड़ गई और वह भांजी का हाथ पकड़कर खींचते हुए कमरे में ले गया... यहां उसने भांजी के साथ दुष्कर्म किया।पीड़िता के रिपोर्ट के आधार पर पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धारा 376 के तहत जुर्म दर्ज कर लिया है तथा आरोपी की खोजबीन शुरु कर दी है।

हत्या और चोरी करने वाला आरोपी गिरफ्तार

 

सूर्यकान्त यादव @ राजनांदगांव-- जिले के चिखली पुलिस चौकी क्षेत्र के अंतर्गत 65 वर्षीय देव कुंवर बाई की हत्या मामले को पुलिस ने सुलझाते हुए एक आरोपी को गिरफ्तार किया है..दरअसल बीते 6 जून को चिखली पुलिस चौकी में प्रार्थी मनीष देवांगन के द्वारा अपनी नानी 65 वर्षीय देवकुंवर बाई की किसी अज्ञात व्यक्ति के द्वारा हत्या कर घर से सोने और चांदी के जेवरातों की चोरी करने का रिपोर्ट दर्ज कराया था घटना की सूचना मिलने के बाद चिखली पुलिस चौकी सहित कोतवाली थाना और साइबर सेल प्रभारी मौके पर पहुंचे..इसके बाद मृतिका के गले में नाखून के निशान देखकर प्रथम दृष्टया हत्या का मामला प्रतीत हुआ इसमें आरोपी की पताशाजी के लिए एक टीम बनाई गई..हत्या के आरोपी की पताशाजी कर रही पुलिस को मुखबिर के द्वारा सूचना मिली की एक व्यक्ति के द्वारा शहर के बसंतपुर महामाया चौक के पास पुराना सोने और चांदी के आभूषणों को बेचने ग्राहक तलाश जा रहा है..सूचना के आधार पर पुलिस टीम मौके पर पहुंची और घेराबंदी कर पीर मोहम्मद को हिरासत में लिया पुलिस पूछताछ में आरोपी ने 6 जून को देवकुंवर बाई की हत्या करना स्वीकार किया है। वहीं पुलिस की गिरफ्त में आये आरोपी पीर मोहम्मद भिलाई के शारदा पारा कैंप नंबर-2 का निवासी है,जो वर्तमान में राजनांदगांव शहर के पेन्ड्री क्षेत्र में रहता था..आरोपी ने पुलिस को बताया कि उसने देवकुंवर बाई के घर की दो-तीन दिनों तक रेकी की जिसमें उसको जानकारी मिली थी कि मृतिका के पास हजारों रुपए हैं..वह 6 जून की दोपहर लगभग 1-2 बजे सुनसान पाकर मृतिका के पीछे पीछे गया और जैसे ही वह घर के अंदर घुसी तो उसके पीछे आरोपी भी घुस गया..इसके बाद उसने देवकुंवर की गला दबाकर हत्या कर दी और उसके द्वारा पहने हुए सोने के टॉप्स, गले में सोने का पत्ती और अलमारी के लॉकर तोड़कर उसमें रखे हुए सोने-चांदी के जेवरातों की चोरी कर ली..आरोपी पीर मोहम्मद के द्वारा चोरी किए गए सामान को शहर के गठुला नाला के समीप गड्ढे में गड़ा कर रखा गया था..जिसे पुलिस ने आरोपी की निशानदेही पर बरामद किया है पकड़े गए आरोपी के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया है।

बालिक लड़की से बनाया प्रेमसंबंध फिर शादी का झांसा देकर किया दुष्कर्म , अब हुआ गिरफ्तार..पढ़े पूरा ममला

भाटापारा – सहेली की शादी मे गई नाबालिक लड़की को प्रेम संबंध मे फंसाकर शादी का प्रलोभन देकर भगाकर उसके साथ करता रहा बलात्कार,भागकर वापस आई अपने मां के पास तब पुलिस मे किया रिपोर्ट , पुलिस ने गिरफ्तार किया आरोपी को और भेजा जेल,ग्रामीण थाना का मामला । भाटापारा के पास के एक गांव मे रहने वाली नाबालिक लड़की अपने सहेली की शादी मे गिधौरी के पास लवनमन गांव गई थी जहां अपने सहेली के भाई के दोस्त ईष्वर कंवर से उसकी मुलाकात हुई जहां दोनो का प्रेम संबध चलने लगा और दोनो का मिलना जुलना होने लगा , लड़का लड़की के गांव उससे मिलने आता था , प्रेम संबंध मे लड़की को फंसा कर शादी का प्रलोभन देने लगा और भगाकर शादी करने का झांसा देने से लड़की उसके चुंगल मे फंस गई और 2 जुलाई को अपने प्रेमी के साथ भाग गई जो बडोदरा (गुजरात) पहॅुच गए जिसके बाद लड़के ईष्वर कंवर के द्वारा नाबालिक लड़की के साथ लगातार दुष्कर्म करने लगा और शादी के नाम पर नानुकुर करने लगा । इधर लड़की की मां ने अपने लड़की के गुमसूदगी की रिपोर्ट भाटापारा ग्रामीण थाने मे दर्ज किया । पुलिस लड़की की पता साजी करने लगी । उधर लड़की को अपने साथ हुए धोखे का पता लगते ही ईष्वर के चुंगल से भाग गई और सीधे अपने मां के पास गांव पहॅुची। जिसके बाद अपनी मां को पुरी कहानी बताई और पुलिस मे अपने साथ हुए दुष्कर्म की रिपेार्ट दर्ज करायी जिसके बाद पुलिस की दबिस से घबराकर आरोपी ईष्वर कंवर ने ग्रामीण थाने मे आकर स्वयं ही सरेंडर कर दिया जिसके बाद पुलिस ने कार्यवाही करते हुए न्यायिक रिमांड पर भेज दिया।

 

नाबालिक लड़की थी उसकी रिपोर्ट पर अपराध कायम किया , नाबालिक लड़की गुम गई थी तो 363 धारा लगाके कायम किये थे उसकी बरामदी हो गई है उसकी बरामदगी मे नाबालिक लड़की द्वारा अपने ब्यान पे निषाद लड़के का नाम बताया था उसकी पता तलाष की जा रही थी , पुलिस के दबाव मे स्वयं द्वारा सरेन्डर करने से चालान पेष किया जा रहा था।
नरेश चैहान ,टीआई ग्रामीण थाना पुलिस – 

 

टेंपल सिटी शिवरीनारायण में सेक्स रैकेट का भंडाफोड़,

आशीष कश्यप @ BBN24 

संदिग्ध हालत में मिली दो लड़की और एक युवक पुलिस ने की पीटा एक्ट की कार्यवाही

जांजगीर-चांपा– जिले में सेक्स रैकेट का भंडाफोड़ हुआ है. पुलिस ने दो लड़की और एक युवक को संदिग्ध हालत में गिरफ्तार किया है. साथ में एक महिला दलाल को भी पकड़ा है. शिवरीनारायण थाना क्षेत्र का मामला है.जानकारी के मुताबिक पुलिस को शिवरीनारायण के बस स्टैंड इलाके में सेक्स रैकेट चलाने की सूचना मिली थी. सूचना के बाद पुलिस ने बस स्टैंड के घर में दबिश दी. इस दौरान संदिग्ध हालत में दो लड़की और एक लड़का मिला. जिनको गिरफ्तार किया गया. घर में महिला भी मौजूद थीं, जो ग्राहक तलाश करता था. उनकी भी गिरफ्तारी की गई.   

पुलिस ने बताया कि मुखबिर से कई दिनों से सेक्स रैकेट की सूचना मिल रही थी. पुख्ता जानकारी मिलने पर छापा मारा गया. बाहर से लड़कियां बुलाकर देह व्यापार कराया जाता था.
बता दें कि शिवरीनाराण बस स्टैंड में पहले भी सेक्स रैकेट आता रहा है.

बहुचर्चित मोहतरा हत्या कांड का हुआ खुलासा , 15 माह बाद पुलिस को मिली बड़ी सफलता,घर ले ही लोग थे घटना ने शामिल ..पढ़े पूरी खबर

बहुचर्चित मोहतरा हत्या कांड का खुलासा

बालक रिंकू हुआ था घर के पास से लापता 

 तीन दिन बाद मिली थी मासूम की सड़ी गली लाश

आरोपीयों द्वारा फेंक दिया था बच्चे के लाश को 02 किमी दूर खेत में

 चाचा, चाची, भतीजे ने दिया था घटना को अंजाम

 दिनांक 16.04.2018 को प्रार्थी अशोक सेन थाना कसडोल आकर रिपोर्ट दर्ज कराया कि उसका 05 साल का लड़का रिंकु सेन गुम हो गया हैं जिसके अपहरण किये जाने की अशंका पर तत्काल थाना कसडोल में गुम इंसान पर से अपराध क्रमांक 175/18 धारा 363 भादवि पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया और तत्काल बलौदाबाजार जिले की विभिन्न ईकाईयों से पुलिस बल को अपहृत बालक रिंकु सेन को खोजने के लिए मोहतरा रवाना किया गया। जहां उसकी सघन पता तलाश कि गई। 03 दिन पश्चात् दिनांक 19.04.2018 को रिंकु सेन का शव उसके घर से तकरीबन 2 किमी दूर खेत में मिली। जो करीब 02-03 दिवस पूर्व मृत्यू हो जाना प्रतीत हो रहा था कि तत्काल प्रकरण में धारा 302,201 भादवि जोडकर आरोपी का पता तलाश प्रारंभ किया गया। लगातार पता तलाश करने पर भी आरोपीयो का पता नही चल पाया जिस पर प्रार्थी के पिता के द्वारा मुख्यमंत्री से न्याय की गुहार लगाई।

 पुलिस महानिदेशक डी0एम0 अवस्थी द्वारा उक्त प्रकरण के आरोपीयो की शीघ्र पता तलाश करने हेतु पुलिस अधीक्षक बलौदाबाजार नीतु कमल के नेतृत्व में एक विशेष टीम का गठन किया गया। तत्पश्चात पुलिस महानिरीक्षक डॉ आनंद छाबडा के कुशल मार्गदर्शन में पुलिस अधीक्षक बलौदाबाजार के नेतृत्व में अति0 पुलिस अधीक्षक बलौदाबाजार जे0आर0 ठाकुर, अनुविभागीय पुलिस अधिकारी बिलाईगढ़  संजय तिवारी, अनुविभागीय पुलिस अधिकारी बलौदाबाजार  राजेश जोशी के मार्ग निर्देशन में टीम के सभी सदस्यो के द्वारा लगातार 03 महिने तक ग्राम मोहतरा में कैम्प करके लगातार ग्रामीणों व शुक्ला परिवार के संदिग्ध व्यक्ति रमेश शुक्ला व उसके परिवार तथा उनके अन्य रिस्तेदार से बारिकी से पुछताछ के दौरान लगातार शुक्ला परिवार के द्वारा पुलिस को भ्रमित करने का प्रयास किया गया तथा कई बार बच्चे का हत्यारा उसका पिता व आस पास के पडोसी कर सकते है जैसी बाते बोलकर पुलिस को लगातार गुमराह करते रहे कि टीम द्वारा बारिकी से जांच व गवाहो के ब्यान व परिस्थितियों व भौतिक साक्ष्य के आधार पर बालक रिकु के हत्या करने वाले आरोपीयो रमेश शुक्ला, पत्नी सुभाषनी शुक्ला व उसका भतीजा निकेश शुक्ला को गिरफ्तार किया गया।

जिन्होंने पुछताछ पर बताया कि दिनांक 16.04.2018 को मृतक रिंकु सेन अपनी मित्र मोनू शुक्ला, हिमांशु, मोनी एवं अन्य के साथ अपने घर के बगल छीताबाई कर्ष के बाड़ी में क्रिकेट खेल रहा था कि खेल के दौरान सतीश उर्फ मोनू शुक्ला का बल्ला रिंकु के सर में लग गया, जिससे वो बेहोस हो गया। उक्त बात को मोनू द्वारा अपने पिता रमेश शुक्ला को घर जाकर बताया जिस पर रमेश शुक्ला और उसका भतीजा निकेश शुक्ला बाडी में जाकर रिंकू सेन को उठाकर अपने घर ले आये। जहां उसे पानी इत्यादि पिलाकर होश में लाने का प्रयास किया। जिस पर मृतक पानी तो पिया परन्तु होश में नही आया, तब रमेश शुक्ला द्वारा मृतक के पिता को पता चलने पर वाद विवाद करने के भय एवं पूर्व की शराब बेचने की प्रतिस्पर्धा की रंजिश के चलते घर में रखे गमछा को रिंकु सेन के मुह नांक को दबाकर हत्या कर दिया और रमेश शुक्ला एवं पत्नी सुभाषनी शुक्ला ने रिंकु के शव को घर के शौचालय में रखे ड्रम में ले जाकर छुपा दिया। शाम तक गांव में पुलिस के बढ़ते दबाव को देखते हुए रात्रि करीबन 12:30 बजे तीनों आरोपीयों रमेश शुक्ला, पत्नी सुभाषनी शुक्ला एवं भतीजा निकेश शुक्ला द्वारा घर में रखे बांस की टोकरी में मृतक रिकु सेन के शव को रखकर घर से तकरीबन 02 किमी दूर खेत में ले जाकर फेंक दिया और टोकरी को भी वही फेंक दिया। पुलिस ने हत्या के लिए प्रयोग किये गये व छुपाये गये सामान को आरोपीयों कि निशानदेही पर जप्त कर लिया है एवं आरोपीयो को न्यायिक रिमाण्ड में माननीय न्यायालय प्रस्तुत किया गया। आरोपीयों की पता तलाश एवं गिरफ्तारी में निरीक्षक महेश ध्रुव, निरीक्षक सी0आर0 चंद्रा, निरीक्षक दीनबंधु उईके, उपनिरीक्षक ओमप्रकाश त्रिपाठी, उपनिरीक्षक रोशन सिंह राजपुत, प्रधान आरक्षक नवीन शुक्ला, मनीष वर्मा, राजकुमार ठाकुर आरक्षक जितेन्द्र राजपुत, सत्येन्द्र बंजारे, नरेश खुटे, हरिशंकर गेण्डरे, रविराज पाण्डेय, सुनील यादव एवं सायबर सेल का विशेष योगदान रहा। 

मासूम भूपेंद्र सेन की हत्या का हुआ खुलासा

संतोष साहू @ bbn24news:

छत्तीसगढ़ :बलौदाबाजार जिले के कसडोल थाने अंतर्गत ग्राम मोहतरा में हुई 16 अप्रैल 2018 को मासूम भूपेंद्र सेन के हत्यारों को आखिरकार पुलिस ने पकड़ने में कामयाबी मिल ही गई , भूपेंद्र के पिता अशोक सेन ने अपने बेटे के हत्यारों को सजा दिलाने डीजीपी डी. एम. अवस्थी से गुहार लगाया था ।जिस पर डीजीपी अवस्थी ने स्पेशल जांच दल बनाकर जांच के आदेश दिए थे । वियो :- कसडोल थाने के ग्राम मोहतरा में आखिरकार पुलिस ने अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझा ही गई अपराधी कोई और नही बल्कि मासूम भूपेंद्र का दोस्त ही निकला । पूरा मामला कुछ इस तरह है कि मृतक भूपेंद्र अपने दोस्तों के साथ घर से थोड़ी दूर पर क्रिकेट खेल रहा था इसी बीच सतीश उर्फ मोनू शुक्ला का बल्ला भूपेंद्र सिर में लग गया । जिसके बाद घटना की जानकारी मोनू ने अपने पिता रमेश को दी घटना स्थल से मृतक भूपेंद्र को उठाकर बिहोशी की हालात पर रमेश अपने घर ले आया और पानी पिलाया भूपेंद्र उस वक्त जिंदा था पानी तो पिया लेकिन आंख नही खोला । पूर्व में सेन परिवार और शुक्ला परिवार दोनो पक्षो में विवाद भी हुआ था और जेल भी जा चुके हैं जिससे डर कर रमेश शुक्ला ने अपने पत्नी सुभाषणी और भतीजा निकेश शुक्ला के साथ मिलकर भूपेंद्र का नाक मुँह दबाकर हत्या कर दी और घर पर ही बाथरूम में ड्रम में डाल दिए घटना दिनांक पुलिस को गाँव मे आवाजाही देखकर देर रात टोकरी में भर कर गांव से 2 किलोमीटर दूर खेत मे फेक कर वापस आ गए । जो घटना के तीन दिन बाद 19 अप्रैल को मृतक की लाश मिली । 

हत्या के आरोपी को पुलिस लगातार ढूंढती रही लेकिन कोई सुराग नही मिला मौके में क्राइम ब्रांच और डॉग स्काट की टीम भी पहुँची लेकिन हत्यारा पुलिस गिरफ्त से बाहर रहा भूपेंद्र के पिता और मां की ममता अपने बच्चे के आरोपी को सजा दिलाने लगातार शासन प्रशासन से गुहार लगाते रहे और मुख्यमंत्री के नाम न्याय के लिए पत्र लिखे जिस पर डीजीपी डी.एम.अवस्थी द्वारा आरोपियों की गिरफ्तारी हेतु बलौदाबाजार एसपी नीतू कमल के अगुवाई में स्पेशल टीम गठित की गई और गांव में तीन माह तक छावनी बना कर रहने के बाद आखिरकार तीन महीने के जांचपड़ताल सघन पूछताछ के बाद आरोपी पुलिस के हत्थे चढ़ ही गए और अपना जुर्म कबूल कर लिए ।।

पुलिस के हाथ लंबे होते हैं आखिरकार एसपी नीतू कमल और उनकी टीम ने साबित कर ही दिया मासूम भूपेंद्र और परिवार को आखिरकार पुलिस न्याय दिलाने में सफलता हासिल कर ही लिए । अपराधियों ने तो सोचा भी नही होंगा की वो पकड़े जाएंगे उनका ये सोचना जायज भी था पुरी प्रकरण में एक साल से ऊपर जो लग गया कुछ समय के लिए तो सब ये मामला भूल भी चुके थे लेकिन पीडित मासूम की माँ को पूरा यकीन था कि उसके बच्चे के हत्यारा चाहे कोई भी हो पकड़ा ही जायेगा और लगातार दुवा करती रही और उनकी दुवा आज रंग भी लाई आज तीनो आरोपियों को मासूम की हत्या और साक्ष छुपाने के जुर्म में न्ययालय में पेश किया गया ।

जांजगीर चापा : चावल चोरी की गुथी सुलझी , ट्रक सहित आरोपी गिरफ्तार |

पंकज दुबे / सन्नी यादव@bbn24news

मुलमुला थाना अंतर्गत ग्राम झालमाला में ओमकार राइस मिल के संचालक  कैलाश अग्रवाल मुलमुला थाना में अपने राइस मिल से चावल से भरे एक ट्रक के चोरी की रिपोर्ट दर्ज कराया था जिसे मुलमुला पुलिस ने सुलझा लिया है


दरसल प्रार्थी कैलास अग्रवाल अपने राइस मिल में 41 टन चावल को  विशाखापट्नम भेजने केलिए  ट्रांसपोर्ट खोज रहाथा जिसे उसने रामविजय राय निवासी भदरी चौक रायपुर आउ फगुराम को चावल के  विशाखापट्नम ट्रांसपोर्ट करने का ठेका दिया 
लेकिन अपराधी रामविजय  कैलाश अग्रवाल के राइस मिल में अपने  आदमी सचिन अग्रवाल को भेजा 
सचिन  चावल  से भरे ट्रक को विशाखापट्नम लेजाने को दिनाँक 14/06/19 को झलमला से निकला लेकिन आरोपी सचिन अग्रवाल निवासी काटाभाजी उड़ीसा अपराध के समय रायपुर मोवा में निवास करता था   रास्ते से ही ट्रक म भरे चावल को लेके फरार होगया प्रार्थी कैलाश अग्रवाल आनन फानन में सूचना पुलिस थाना दिनाँक 03/07/18 को रिपोर्ट दर्ज कराई

थानेदार ने मामला को ततपरता से अपन बड़े अधिकारी को सूचनादि

पुलिस के अनुसार एक टीम गठित किया गया और आरोपी के पता साझी में पुलिस जुटि गई पुलिस अपराधी को  पकड़ने उसके कॉल डिटेल निकालवाई और काल डिटेल की  सहायता से अपराधी को उड़ीसा जाकर पकड़ा , अपराधी को पकड़ने  मुख्य रूप से थाना पुलिस और साइबर सेल का हाथ रहा पुलिस अपराधी ऊपर धारा 110/ 19 , 409, 420, 34 के तहत जेल भेज दिया है

इसे भी पढ़े वृद्ध अनाज व्यसायी की हत्या करने वाले एक आरोपी गिरफ्तार

Previous123456789...3536Next