ब्रेकिंग न्यूज़

छतीसगढ़ : सूचना का अधिकार अधिनियम 2005 के लिए आवेदन शुल्क के रूप में ई-स्टाम्प होगा स्वीकार

रायपुर,06,फरवरी 2021

 सूचना का अधिकार अधिनियम 2005 के तहत सूचना (जानकारी) मांगने के लिए आवेदक, आवेदन शुल्क के रूप में ई-स्टाम्प का उपयोग कर सकते हैं। 
    राज्य शासन द्वारा सूचना का अधिकार अधिनियम 2005 की धारा 27 की उपधारा (2) के खण्ड (ख) एवं (ग) की शक्तियों को प्रयोग में लाते हुए राज्य सरकार ने सूचना का अधिकार अधिनियम (शुल्क एवं मूल्य विनिमय) नियम 2005 मे संशोधन करते हुए नियम 3 और 4 में शब्द ‘‘या नानज्युडिशियल स्टाम्प’’ के पूर्व शब्द ’‘या ई-स्टाम्प अंतः स्थापित किया गया है।

       सूचना का अधिकार अधिनियम 2005 के तहत सूचना (जानकारी) मांगने के लिए आवेदक, आवेदन शुल्क के रूप में छत्तीसगढ़ का नान ज्युडिशियल स्टाम्प या ई-स्टाम्प का उपयोग कर आवेदन के साथ संलग्न कर सकते हैं। 

10वीं एवं 12वीं के बोर्ड परीक्षार्थियों को अब चार के बजाय तीन असाईनमेंट जमा करना अनिवार्य बोर्ड परीक्षा के लिए असाइनमेंट संबंधी विशेष दिशा-निर्देश

रायपुर, 06 फरवरी 2021 : BBN24NEWS

छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मण्डल ने कक्षा 10वीं और कक्षा 12वीं बोर्ड परीक्षा में शामिल होने के लिए कम से कम चार असाईनमेंट जमा करने की बाध्यता को शिथिल कर दिया है। अब बोर्ड परीक्षार्थियों को परीक्षा में शामिल होने के लिए कम से कम तीन असाईनमेंट अनिवार्य रूप से जमा करने होंगे। इसमें चूक करने वाले परीक्षार्थियों को बोर्ड की मुख्य परीक्षा 2020-21 के लिए अपात्र माने जाएंगे। माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा बोर्ड परीक्षा शैक्षणिक सत्र 2020-21 में शामिल होने की पात्रता के संबंध में विशेष दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं। जिसके अनुसार प्रत्येक विद्यार्थी को प्रत्येक विषय में अब कम से कम 3 असाइनमेंट जमा करना अनिवार्य होगा। उल्लेखनीय है कि असाईनमेंट जमा करने की संख्या में शिथिलता बोर्ड द्वारा वर्तमान परिस्थितियों के मद्देनजर परीक्षार्थियों के हित को देखते हुए लिया गया है।

माध्यमिक शिक्षा मण्डल द्वारा जारी दिशा-निर्देश में कहा गया है कि पूर्व में मुख्य परीक्षा शैक्षणिक सत्र 2020-21 में शामिल होने की पात्रता के लिए कक्षा 10वीं और 12वीं के प्रत्येक विषय के 6 असाइनमेंट में से कम से कम 4 असाइनमेंट (70 प्रतिशत) प्रत्येक विद्यार्थी द्वारा जमा किया जाना अनिवार्य किया गया था। वर्तमान परिस्थितियों के मद्देनजर मण्डल द्वारा छात्रहित में प्रत्येक विषय के 4 असाइनमेंट की बाध्यता को शिथिल करते हुए 3 असाइनमेंट (50 प्रतिशत) की अनिवार्यता सुनिश्चित की गई है। इससे यह स्पष्ट है कि जो बोर्ड परीक्षार्थी प्रत्येक विषय में कम से कम 3 असाइनमेंट जमा नहीं करेंगे, वे मुख्य परीक्षा में सम्मिलित होने के लिए पात्र नहीं होंगे। 

माध्यमिक शिक्षा मण्डल द्वारा जारी निर्देश में कहा गया है कि प्रत्येक विषय के विद्यार्थी के सर्वाधिक अंक वाले 3 असाइनमेंट के प्राप्तांकों के आधार पर 30 प्रतिशत अधिभार को आंतरिक मूल्यांकन के लिए मान्य किया जाएगा। मुख्य परीक्षा परीक्षा में सैंद्धातिक अंकों के 70 प्रतिशत अंक लिखित परीक्षा (बाह्य परीक्षा) और सैंद्धातिक अंकों के 30 प्रतिशत अंक असाइनमेंट परीक्षा (आंतरिक परीक्षा) के आधार पर मान्य किए जाएंगे। छात्र को लिखित परीक्षा और असाइनमेंट परीक्षा के अंकों को जोड़कर सैंद्धातिक विषय में उत्तीर्ण की पात्रता होगी।

Chhattisgarh : मंत्री डॉ.डहरिया ने किया पांच नए उचित मूल्य दुकानों का शुभारंभ

नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया ने आरंग विकासखण्ड़ के नगरीय क्षेत्र में पांच नए शासकीय उचित मूल्य के दुकान संचालन के साथ नए भवन का लोकार्पण किया। उन्हांने आरंग नगरीय क्षेत्र में ज्योत्सना महिला स्व सहायता समूह, उज्ज्वला महिला स्व सहायता समूह, गौरी शंकर महिला स्व सहायता समूह, जय चण्डी महिला स्व सहायता समूह, हिना महिला स्व सहायता समूह के अंतर्गत संचालित होने वाले शासकीय उचित मूल्य की दुकानों का उद्घाटन किया। मंत्री डॉ.डहरिया ने उचित मूल्य की दुकानों में राशनकार्डधारियों का राशन तौलकर दुकान का शुभारंभ किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि नए उचित मूल्य की दुकानों का संचालन होने और नए भवन उपलब्ध होने से क्षेत्र के राशनकार्डधारियों को परेशानी नहीं होगी। उन्हें आसानी से राशन मिलेगा। उन्होंने स्व सहायता समूह की महिलाओं को बधाई देते हुए कहा कि कार्डधारियों को राशन उपलब्ध कराने में किसी प्रकार की समस्या का सामना न करना पड़े इस बात का भी ख्याल अवश्य रखे। किसी तरह की शिकायत आने पर कार्यवाही भी की जा सकती है। इसलिए दुकान का संचालन बेहतर तरीके से किया जाना सुनिश्चित करें। इस अवसर पर नगर पालिका अध्यक्ष श्री चंद्रशेखर चंद्राकर, जनपद अध्यक्ष श्री खिलेश देवांगन तथा वार्ड के पार्षद उपस्थित थे।

जिला पुलिस बल के आरक्षक (जी.डी.) संवर्ग हेतु शारीरिक दक्षता परीक्षा का दिनांक 28.01.2021 से आयोजन अभ्यर्थी 22 जनवरी से छत्तीसगढ़ पुलिस की वेबसाईट से डाउनलोड कर सकतें हैं प्रवेश पत्र

रायपुर 20 जनवरी 2021 । आरक्षक (जी.डी.) संवर्ग के अभ्यर्थियों की शारीरिक दक्षता परीक्षा 28 जनवरी से आयोजित की जाएगी। ऐसे अभ्यर्थी जो दिनांक 30.09.2018 को आयोजित लिखित परीक्षा में उपस्थित हुए थे वे ही शारीरिक दक्षता परीक्षा में सम्मिलित हो सकते हैं। आरक्षक (जी.डी.) संवर्ग के 2259 रिक्त पदों की पूर्ति के लिए कुल 48278 अभ्यर्थियों की शारीरिक दक्षता परीक्षा के लिए रोल नंबरवार शेड्यूल जारी किया गया है।

शारीरिक दक्षता परीक्षा दिनांक 28.01.2021 से दिनांक 15.02.2021 तक आयोजित की जाएगी। शारीरिक दक्षता परीक्षा 5 केन्द्रों तथा स्वामी विवेकानंद स्टेडियम, कोटा (रायपुर), दूसरी वाहिनी, छसबल, सकरी (बिलासपुर), पांचवीं वाहिनी, छसबल, कंगोली (जिला बस्तर), शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय ग्राउंड, अंबिकापुर तथा पहली एवं सातवीं वाहिनी, छसबल, भिलाई (जिला दुर्ग) में आयोजित की जाएगी।

शारीरिक दक्षता परीक्षा में 5 प्रतिस्पर्धाएं होंगी- 800 मीटर, 100 मीटर, लंबी कूद, शॉट-पुट (गोला फंेक) एवं ऊंची कूद। इन प्रतिस्पर्धाओं के संबंध में मार्किंग पेटर्न एवं अन्य विस्तृत जानकारी छत्तीसगढ़ पुलिस की वेबसाईट https://cgpolice.gov.in पर उपलब्ध है। शारीरिक दक्षता परीक्षा हेतु अभ्यर्थी दिनांक 22.01.2021 के प्रातः 10:30 से अपना प्रवेश पत्र छत्तीसगढ़ पुलिस की वेबसाईट से डाऊनलोड कर सकते हैं। अभ्यर्थियों को एस.एम.एस. के माध्यम से भी जानकारियां प्रेषित की जा रही है।

जांजगीर/अकलतरा : के. एस. के. महानदी पावर कम्पनी के मजदूरो को मिलेगा 9% वेतन बढ़ोतरी AICC सदस्य मंजू सिंह को मजदूरो ने दिया धन्यवाद

नरियरा। के एस के महानदी पावर कम्पनी लिमिटेड के तालाबंदी के बाद मजदूरो ने लगातार आंदोलन छेड़ रखा था, जब से मजदूरो को पता चला था कि यूनाइटेड मजदूर संघ ने निशर्त तालाबंदी समाप्त करने पर सहमति दी है, जिसके बाद एचएमएस यूनियन ने लगातार विरोध प्रदर्शन किया था और तालाबंदी समाप्त नही करने दिया और फिर बाद में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मधुलिका सिंह एवं AICC सदस्य मंजू सिंह के समझाईश के बाद 20 जनवरी को बैठक कर मजदूरो की समस्याओ को हल करने का आश्वासन दिया गया था तभी मजदूरो ने कार्य मे जाने पर सहमति प्रदान किया था। जांजगीर में होने वाली बैठक कारखाना में हुई

मजदूरो ने श्रेय की होड़ को खत्म करने के लिए आज कारखाना में ही बैठक कराने के लिए आंदोलन छेड़ दिया बाद में फिर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मधुलिका सिंह नवनियुक्त अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक संजय महादेवा एसडीएम मेनका प्रधान की मध्यस्थता में बैठक हुई जिसमें 9% सालाना वेतनवृद्धि के लिए आपसी सहमति बनी, कारखाना प्रबन्धन की ओर से वेणुगोपाल राव जी के ओझा अजय अग्रवाल और राजू कुमार और एच एम एस यूनियन से बलराम गोस्वामी शेरसिंह राय लोभन साहू और यू एम एस यूनियन से सरजू केवट अजय सांडे शामिल थे।

एचएमएस यूनियन के अध्यक्ष विश्वनाथ प्रसाद साहू ने कहा कि यह मजदूरो की जीत है और इसका पूरा श्रेय AICC सदस्य मंजू सिंह को जाता है जिनके लगातार सहयोग और अथक प्रयास से यह कार्य पूरा हुआ है मंजू सिंह के द्वारा मजदूरो को लगातार मदद किया गया उन्होंने प्रशासन से लगातार वार्ता कर मध्यस्थता कर मजदूरो को सहयोग किया।

एचएमएस यूनियन के बलराम गोस्वामी ने पूरे जिला प्रशासन के अधिकारियों को धन्यवाद दिया और कहा कि जिला प्रशासन ने पूरे घटनाक्रम में गंभीरता से मामले को सुलझाया तथा कारखाना प्रबन्धन को भी धन्यवाद प्रेषित करते हुए कहा कि कारखाना के निर्बाध रूप से उत्पादन के लिए संघ हमेशा सहयोग करेगा, बलराम गोस्वामी ने मजदूरो को भी धन्यवाद दिया और मजदूरो को एकजुट रहने के साथ अनुशासन पूर्वक कार्य करने अपील किया अंत मे बलराम गोस्वामी ने संघर्ष के सभी साथियो को धन्यवाद देते हुए मीडिया को भी धन्यवाद कहा।

ओडिशा से छत्तीसगढ़ लाया जा रहा 30 बोरी अवैध धान पकड़ाया

BBN24न्यूज़, 19 जनवरी 2021: सीमावर्ती राज्य ओडिशा से अवैध रूप से लाया जा रहा 30 बोरी धान बीती रात रायगढ़ जिले के लारा (पुसौर) चेकपोस्ट पर पकड़ा गया। यह धान एक पिकअप में भरकर लाया जा रहा था। वाहन में धान भरे होने की सूचना चेकपोस्ट पर तैनात कर्मचारियों द्वारा जिला प्रशासन रायगढ़ द्वारा गठित खाद्य एवं मंडी विभाग के कर्मचारियों की टीम को दी गई। जांच पड़ताल के दौरान धान के अवैध परिवहन का मामला सामने आने पर वाहन सहित धान के जब्ती कार्रवाई की गई। गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ राज्य में धान उपार्जन की अवधि में सीमावर्ती राज्यों से धान के परिवहन पर प्रतिबंध लगाया गया है। रायगढ़ छत्तीसगढ़ राज्य का सीमावर्ती जिला है। अन्य राज्यों से धान अवैध रूप से रायगढ़ जिले में न आ सके इसकी रोकथाम के लिए सीमावर्ती इलाकों में चेकपोस्ट स्थापित किए गए हैं। कलेक्टर श्री भीम सिंह के निर्देशन मे चेकपोस्ट से आने जाने वाले माल वाहकों की जांच पड़ताल की जा रही है। बीते 18 जनवरी को रात्रि गस्त के दौरान लारा (पुसौर) चेकपोस्ट में ड्यूटीरत कर्मचारियों के द्वारा एक पिकअप वाहन सीजी 13 एल 6923 में संदिग्ध पाये जाने पर इसकी सूचना संयुक्त जांच टीम का दी गई। वाहन में 30 बोरी यानि कुल 12.00 क्ंिवटल धान भरा पाया गया। वाहन चालक बिज्जू गुप्ता ने पूछताछ करने पर ओडिशा राज्य के ग्राम पिथिण्डा जिला-झारसुगुड़ा से धान लाने की बात स्वीकार की। प्रतिबंधित अवधि में धान का अवैध परिवहन के मामले में धान को वाहन सहित वाहन जब्त कर थाना पुसौर को सुपुर्द कर दिया गया है।
Previous123456789...156157Next