राजनीति

जनजागरण और जनसम्पर्क अभियान 2019 में शामिल हुवे पुर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह

राजनांदगांव-- पुर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह अपने एक दिवसीय प्रवास पर आज राजनांदगाँव के दौरे पर थे...जहा भारतीय जनता पार्टी के जिला कार्यालय मे आयोजित जनजागरण और जनसम्पर्क अभियान 2019,अनुच्छेद 370 के ऐतिहासिक फैसले को लेकर आज एक बैठक आयोजित कि गई जिसमे पुर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह हुए शामिल...कृषि मंत्री रविंद्र चौबे ने बयान दिया था कि भाजपा के राम चँदा बटोरने वाले है..व माँब लिचिंग वाले है भाजपा के राम...इस बयान को लेकर पुर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह ने रविद्र चौबे पर पटवार करते हुए कहा कि आजादी के बाद से लेकर आज तक राम जन्म भुमि तक देखा नही और राम जन्म भुमि के निर्माण मे बाधा भी पहुचाया है..राम सेतु को तोडने वाले है...कांग्रेस अवसर मिलता है,तो जनेव दिखाती है.


.राजनीतिक अवसर वादी है..कांग्रेस...जबकि भाजपा के संस्कार मे राम बसे है... प्रदेश मे 82  प्रतिशत आरक्षण के मामले मे हाई कोर्ट मे एक याचिका लगी हुई है,जिसमे कार्ट ने रोक लगा दिया है..प्रदेश सरकार को झटका है...इस पर रमन सिंह ने कहा की यह कोर्ट का निर्णय है..इस पर हम कुछ नही बोल सकते......वही हनी ट्रैप मामले मे भी रमन सिंह ने कहा कि एसआईटी का गठन हो गया है..मामला चल रहा है..जाँच के बाद सच्चाई सामने आयेगी....

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम का 4 से 10 अक्टूबर तक गांधी विचार पदयात्रा का कार्यक्रम

रायपुर/03 अक्टूबर 2019। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम 4 अक्टूबर से 10 अक्टूबर 2019 तक कंडेल से गांधी मैदान रायपुर तक की पदयात्रा में भाग लेंगे। 10 अक्टूबर को दोपहर 2 बजे गांधी मैदान रायपुर में गांधी विचार पदयात्रा के समापन समारोह में भाग लेने के बाद शाम 5 बजे रायपुर से कोण्डागांव के लिये रवाना होंगे। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम 11 अक्टूबर से चित्रकोट विधानसभा उपचुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी राजमन बेंजाम के पक्ष में चुनाव प्रचार करेंगे।


दिनांक 04.10.2019 को दोपहर 12 बजे गांधी ग्राम कंडेल जिला धमतरी में गांधीजी की मूर्ति का अनावरण, शुभारंभ सभा, गौठान निरीक्षण, शाम 4 बजे गागरा में शहीद संतोष नेताम जी के माल्यार्पण कार्यक्रम, शाम 6 बजे छाती में सभा।

दिनांक 05.10.2019 को सुबह 9 बजे छाती से यात्रा प्रारंभ कर सुबह 11 बजे डांडेसरा में सभा, दोपहर 1 बजे कुरूद में सभा एवं लंच, दोपहर 2 बजे कन्हारपुरी में सभा और शाम 4 बजे भुसरेंगा में सभा।

दिनांक 06.10.2019 को सुबह 9 बजे भुसरेंगा से यात्रा प्रारंभ कर 10 बजे चोरभट्ठी में सभा, दोपहर 1.30 बजे बागदेही में सभा में लंच, दोपहर 2.30 बजे भिंडरवानी में सभा, शाम 6.30 बजे भखारा में गांधी मूर्ति अनावरण और सभा।

दिनांक 07.10.2019 को सबुह 9 बजे भखारा से यात्रा प्रारंभ कर सुबह 11 सुपेला में सभा, दोपहर 12 बजे सेमरा में सभा, दोपहर 12.30 बजे सिलतरा में सभा, दोपहर 1 बजे सिलीडीह में सभा।

दिनांक 08.10.2019 को सबुह 9 बजे सिलीडीह से यात्रा प्रारंभ कर सुबह 10 बजे कानामुका में सभा, सुबह 10.30 बजे कचना, दोपहर 12 बजे राखी मोड रायपुर जिला में सभा, दोपहर 2 बजे खोरपा में सभा।

दिनांक 09.10.2019 को सबुह 9 बजे खोरपा से यात्रा प्रारंभ, दोपहर 12 कोलर में सभा, दोपहर 1.30 बजे छछानपैरी में सभा एवं लंच, शाम 5 बजे मुजगहन में सभा, शाम 4.30 बजे सेजबहार में सभा।

दिनांक 10.10.2019 को सबुह 9 बजे सेजबहार से यात्रा प्रारंभ, सुबह 10.30 बजे डुंडा में सभा, दोपहर 12.30 बजे संतोषी नगर में सभा।

मुख्यमंत्री समग्र विकास योजना में डेढ़ करोड़ की मिली स्वीकृति सीसी रोड, सामुदायिक भवन व मुक्तिधाम का होगा निर्माण विधायक विनोद चन्द्राकर के प्रयास से मिली मजूरी

महासमुन्द। मुख्यमंत्री समग्र ग्राम विकास योजना के अंतर्गत विधायक विनोद सेवालाल चंद्राकर के प्रयास से निर्माण कार्यों के लिए डेढ़ करोड़ की स्वीकृति मिली है। गौरतलब है कि पिछले दिनों उक्त निर्माण कार्यों के लिए विधायक श्री चंद्राकर ने सरकार का ध्यान आकर्षित कराया था।जिस पर विधानसभा क्षेत्र में एक करोड़ 48 लाख 36 हजार रुपए की स्वीकृति मिली है। जिसमें ग्राम रूमेकेल में 4.79 लाख रुपए की लागत से मुक्तिधाम निर्माण, ग्राम खरोरा में 6.50 लाख रुपए की लागत से सामुदायिक भवन निर्माण, ग्राम खैरा में 4.79 लाख रुपए की लागत से मुक्तिधाम निर्माण, झलप में 6.50 लाख रुपए की लागत से सामुदायिक भवन निर्माण, ग्राम ठुमसा में 6.50 लाख रुपए की लागत से सामुदायिक भवन निर्माण, ग्राम केशवा, बम्हनी, बावनकेरा, कौन्दकेरा, कोसरंगी, कछारडीह, मरौद, पिरदा, मुनगाशेर, सरेकेल, साराडीह, डूमरपाली, तुरेंगा, नरतोरा, अचानकपुर, खट्टीडीह, मुस्की, लंहगर, लभराखुर्द व लोहारडीह में 2.60-2.60 लाख रुपए की लागत से सीसी रोड निर्माण, ग्राम गुडेलाभांठा, सिंघी, सिरपुर, चिंगरौद, पासीद, उमरदा, गाड़ाघाट में 6.50-6.50 लाख रुपए की लागत से सामुदायिक भवन निर्माण, ग्राम भलेसर में 5.20 लाख रुपए की लागत से सीसी रोड निर्माण, ग्राम पटेवा व जोरातराई में 4.79-4.79 लाख रुपए की लागत से मुकितधाम निर्माण, ग्राम चुहरी में 7 लाख रुपए की लागत से उचित मूल्य की दुकान निर्माण तथा ग्राम भलेसर में 5.20 लाख रुपए की लागत से सीसी रोड निर्माण की स्वीकृति शामिल है।

धर्म नगरी में नगरीय निकाय चुनाव ने दी दस्तक, उम्मीदवार पार्टी प्रमुखों और आमजनों को रिझाने में लगे..पढ़े ये ख़ास रिपोर्ट

 

2019 का चुनाव होगा दिलचस्प , आप और छजका भी पहली बार मैदान में 

उम्मीवारों की लंबी लिस्ट से पार्टी प्रमुख संकट में 

रतनपुर-- धर्म नगरी में अध्यक्ष सहित वार्डों का भी आरक्षण की घोषणा होने के बाद रतनपुर पूरी तरह से चुनावी रंग में रंगा दिखाई दे रहा है जहां एक ओर राजनीतिक पार्टियां प्रत्याशियों के चयन में  कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती वहीं चुनाव लड़ने के इच्छुक उम्मीदवार भी राजनीतिक पार्टियों से लगातार सम्पर्क बनाए रखते हुए अपनी दावेदारी मजबूत करने में लगे हुए है और आमजनों के बीच अपनी पैठ बना रहे हैं।

बीते दिनों में नपा रतनपुर के अध्यक्ष सहित वार्डों का  आरक्षण तय होने के बाद रतनपुर में राजनीतिक हलचल तेज हो गई है वही दावेदार भी राजनीतिक पार्टियों में अपनी मजबूत जनाधार को बताते हुए टिकट की दावेदारी करते नजर आ रहे हैं लेकिन इस बार के चुनाव में कांग्रेस और भाजपा दोनों के लिए राह आसान नहीं होगा क्योंकि इस बार नगरी निकाय चुनाव में पहली बार आम आदमी पार्टी और छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस के द्वारा भी अध्यक्ष सहित पूरे 15 वार्डों में पार्षद प्रत्याशी उतारने की बात कही जा रही है ऐसे में या नगरी निकाय चुनाव 2019 काफी दिलचस्प रहने की उम्मीद है वहीं नगर की जनता भी उम्मीदवारों को कसौटी पर परखकर ही सत्तासीन करने की बात कह रही है।

कई लोगों के चेहरे खिले तो कुछ हुए मायूस

 शुक्रवार को  धार्मिक नगरी रतनपुर नगरपालिका के लिए भी आरक्षण की प्रक्रिया पूरी की गई शुक्रवार को लाटरी पद्धति से बिलासपुर कलेक्ट्रेट स्थित मंथन सभागृह में कलेक्टर डॉक्टर संजय अलंग की मौजूदगी में 15 वार्डों में से आधे के आरक्षण की प्रक्रिया पूरी हुई  आरक्षण की घोषणा उपरांत वार्डों में पार्षद पड़ के लि चुनाव लड़ने वाले कई लोगों के चेहरे पर मुस्कान देखने को मिला तो कईयों के चेहरे मुरझाये हुए नजर क्योंकि आरक्षण के बाद कई प्रत्याशी आरक्षण के हिसाब से चुनाव लड़ने में आरक्षण के अनुरूप है तो कई लोगों को अब सोंचे गए वार्ड से चुनाव नहीं लड़ पाएंगे । यहां परिसीमन के बाद 15 वार्डों में से 3 वार्ड अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित घोषित किए गए। अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित वार्डों में वार्ड क्रमांक 5 राजेंद्र प्रसाद वार्ड, वार्ड क्रमांक 10 डॉक्टर अंबेडकर वार्ड और वार्ड क्रमांक 11 रत्नेश्वर वार्ड शामिल है । इसमें से वार्ड क्रमांक 5 अनुसूचित जाति महिला के लिए आरक्षित है। आरक्षण की प्रक्रिया में 2 वार्ड अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित घोषित की गई है। इनमें से  वार्ड 15 जवाहर लाल नेहरु वार्ड अनुसूचित जनजाति महिला और वार्ड क्रमांक 1 महात्मा गांधी वार्ड अनुसूचित जनजाति पुरुष के लिए आरक्षित हुई है। अन्य  पिछड़ा वर्ग के लिए 15 में से 4 वार्डों का आरक्षण हुआ है। इनमें से वार्ड क्रमांक 12 मौली माता वार्ड ,वार्ड क्रमांक 4 भगत सिंह वार्ड, वार्ड क्रमांक 9 महावीर वार्ड शामिल है । वही वार्ड क्रमांक 3 महामाया वार्ड अन्य पिछड़ा वर्ग महिला वर्ग के लिए आरक्षित घोषित हुआ है । कुल 15 में से 5 वार्ड महिलाओं के लिए आरक्षित हुए हैं
शेष बचे सामान्य वार्डों में से 2 वार्ड महिला के लिए आरक्षित हुई है। महिलाओं के लिए आरक्षित वार्ड हैं वार्ड क्रमांक 7 गिरिजा बंद वार्ड और वार्ड क्रमांक 13 कबीर दास वार्ड । शेष वार्ड अनारक्षित घोषित हुए हैं। इस तरह वार्ड क्रमांक 2 गांधीनगर वार्ड क्रमांक 6 स्वामी विवेकानंद नगर वार्ड, वार्ड क्रमांक 8 लाल बहादुर शास्त्री, वार्ड वार्ड क्रमांक  वार्ड और वार्ड क्रमांक 14 बैराग बंद वार्ड अनारक्षित घोषित हुआ है ।

क्या कहते हैं राजनीतिक दलों के प्रमुख

इस संबंध में जानकारी देते हुए कांग्रेस जिला उपाध्यक्ष नीरज जायसवाल ने बताया कि वैसे तो हमारे पास नपा अध्यक्ष पद के दावेदारों की लंबी सूची है जिसमें पूर्व पार्षद खुशहाल अनुरागी मोतीलाल भारद्वाज राजेंद्र पाल कौशिक ज्वाला माथुर भुनेश्वर भारद्वाज रमेश सूर्या एवं अन्य लोगों के द्वारा कांग्रेस पार्टी के बैनर तले चुनाव लड़ने की इच्छा इन लोगों के द्वारा जताई जा चुकी है लेकिन  कांग्रेस जिताऊ उम्मीदवार के साथ ही पार्टी के प्रति निष्ठा और नियंत्रण निरंतर आम जनता के बीच संपर्क में रहने वाले को ही अपना प्रत्याशी बनाएगी।

भाजपा के मंडल अध्यक्ष कन्हैया यादव ने बताया कि नगरी निकाय चुनाव में भाजपा जीतने वाले प्रभावशाली व्यक्ति को ही अध्यक्ष एवं पार्षद पद का उम्मीदवार बनाएगी बाकी समय आने पर संगठन के पदाधिकारियों के द्वारा ही उम्मीदवार के नाम पर मुहर लगेगा कौन-कौन उम्मीदवार संपर्क में है इस बात का खुलासा उन्होंने नहीं किया लेकिन सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पूर्व नपा अध्यक्ष घनश्याम रात्रे , दिनेश पहाड़िया, दिनेश प्रभाकर ,  विष्णु  इंदुआ , केशव मांडवा, मन्नू पाटले, सी एल मोरसे के द्वारा भाजपा के बैनर तले लड़ने की इच्छा जताते हुए टिकिट के लिए दावेदारी की जा रही है।

आम आदमी पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष हरीश चंदेल ने बताया कि अध्यक्ष पद हेतु भूपेंद्र श्यामले, संतोष रोहिदास  एवं भाजपा के एक और कांग्रेस के दो सदस्य के द्वारा हमारी पार्टी से टिकट की मांग की जा रही है वहीं पार्षद पद हेतु 2 नाम का चयन भी हो चुका है हमारी पार्टी स्वच्छ ईमानदार और भ्रष्टाचार से कोसों दूर व्यक्ति को ही अपना उम्मीदवार बनाएगी साथ ही उम्मीदवार से शपथ पत्र भी लेगी जिसने भविष्य में किसी भी भ्रष्टाचार में शामिल नहीं होने की बात प्रत्याशी के द्वारा लिखित में कहीं जाएगी जीत कर आने वाले पार्टी के उम्मीदवार को इन सब बातों का ध्यान रखना होगा किसी भी मामले में यदि उनकी संलिप्तता पाई जाती है तो उन्हें तुरंत ही पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाया जाएगा।
     
छत्तीसगढ़  जनता कांग्रेस के नगर अध्यक्ष संजय जायसवाल ने नगर के 15 वार्डों सहित  अध्यक्ष पद के लिए पार्टी से चुनाव मैदान में प्रत्याशी मैदान में उतारने की बात कही लेकिन उन्होंने एक भी नाम सार्वजनिक नहीं किया उनका कहना है कि समय आने पर ही नामों का खुलासा किया जाएगा अभी से नामों का एलान करने पर कांग्रेस विवाद पैदा कर सकती है।

खरोरा में बनेगा मंगल भवन, मिली स्वीकृति विधायक का ग्रामीणों ने जताया आभार

महासमुन्द। ग्राम खरोरा में मंगल भवन का निर्माण किया जाएगा। इसके लिए स्वीकृति मिली है। मंगल भवन की स्वीकृति दिलाने पर शनिवार को ग्रामीणों ने विधायक निवास पहुंचकर विधायक विनोद सेवनलाल चन्द्राकर का आभार जताया है। ग्राम खरोरा में लंबे समय से मंगल भवन की मांग ग्रामीणों द्वारा की जा रही थी। ग्रामीणों ने इसकी मांग विधायक चंद्राकर से की थी। विधायक  चन्द्राकर के प्रयास व पहल से गांव में मंगल भवन की स्वीकृति मिली है।

शनिवार को सरपंच जब्बर चन्द्राकर के नेतृत्व में ग्रामीण विधायक निवास पहुँचे। जहाँ सरपंच सहित मोहन बंजारे, हेमंत ढीढी, शिवलाल जांगड़े, कौशल कुर्रे, प्रमोद पुरैना, कमल बंजारे, महेंद्र सूर्यवंशी, महेश महिलांग, कपूर सूर्यवंशी, नरेश पाटिला, पालसिंग जांगड़े, टिकेश्वर टंडन, प्रवीण कोसरे, दुर्गेश कोसरे आदि ने विधायक श्री चन्द्राकर का आभार जताया है।

विदेश प्रवास से लौटे विधानसभा अध्यक्ष डॉ.चरणदास महंत। विमानतल पर कार्यकर्ताओं और समर्थकों ने किया स्वागत।

रायपुर 29 सितंबर 2019 छत्तीसगढ़ विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत अपने 15 दिन के विदेश प्रवास के पश्चात्, आज पूर्वाह्न 11.50 बजे एयर इंडिया की नियमित उड़ान से स्वामी विवेकानंद विमानतल रायपुर पहुंचे। कोरबा सांसद मान. श्रीमती ज्योत्सना महंत एवं विधानसभा सचिव श्री चन्द्रशेखर गंगराड़े डॉ महंत के पुत्र सूरज महंत भी उनके साथ थे।


विमानतल पहुंचने पर पाली-तानाखार विधायक मोहित केरकेट्टा,सुभाष धुप्पड़, पीसीसी संयुक्त महामंत्री अमित पांडे, पीसीसी प्रवक्ता घनश्याम राजू तिवारी, समीर पांडे, पुष्पेंद्र सिंग,शोभा यादव,अमरजीत चावला,अभिजीत मिश्रा,विकास शुक्ला,इदरीश गांधी,सुमित दास,मनहरण राठौड़,डमरू रेड्डी,बंटी धंजल, गुलजार सिंह,राजकुमार जयसवाल,बड़े मुन्नू,आभाष बोस,सरोजनी गभेल,मयंक तिवारी,मुरारी गौर,मो,इमरान,सगीर सिद्दीकी,अज़हर रहमान,विजय केशरवानी, मोहनमणि जाटवर, गायत्री बिरहा, संध्या करहाड़े, रितेश उप्पल,धर्मेश कोटक,विपिन चंद्राकर,लीलेश चंद्राकर, कोरबा लोकसभा,शक्ति विधानसभा,जांजगीर चांपा के कार्यकर्ता सहित बड़ी संख्या में उनके समर्थकों, मित्रो, शुभचिन्तकों एवं विधानसभा सचिवालय के अधिकारियों, कर्मचारियों ने उन्हें पुष्प गुच्छ भेंट कर उनका गर्मजोशी के साथ आत्मीय स्वागत किया। कार्यकर्ताओं ने ढोल नगाड़े बजाकर उनका अभिनंदन एवं स्वागत किया। विमानतल से अपने निवास कार्यालय "स्पीकर हाऊस" पहुँचने पर विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत का वहां भी उनके समर्थकों एवं कार्यकर्ताओं ने आत्मीय स्वागत किया। छत्तीसगढ़ विधानसभा अध्यक्ष डॉ चरणदास महंत के निज प्रवक्ता घनश्याम राजू तिवारी ने बताया कि विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत युगांडा में आयोजित 64वें राष्ट्रकुल संसदीय सम्मेलन में शामिल होने एवं दक्षिण अफ्रीका तथा अमेरिका के अध्ययन दौरे के लिए 14 सितम्बर 2019 को रायपुर से रवाना हुए थे।  

नए चेहरों से निकाय चुनाव में खिलेगा कमल..बीजेपी के लिए एक अच्छी उम्मीदवार साबित हो सकती है सिमा जुनेजा

A REPORT BY : अजीत मिश्रा

-बिलासपुर की नगर निगम में परिसीमन के बाद से वार्डो में हुए बदलाव के बाद एक नया समीकरण सामने आने लगा है । वही इस बार आरक्षण में महिलाएं को भी खास महत्व दिया गया।।जिसके बाद से अब राजनेतिक पार्टियों के लिए नए चेहरे सामने आ रहे है।।हम बात कर रहे है बिलासपुर के एक ऐसे वार्ड की जहाँ पर बीजेपी के कद्दावर नेता और पूर्व विधायक और रमन सरकार में मंत्री रह चुके अमर अग्रवाल के वार्ड की जिसे राजेन्द्र नगर वार्ड से जाना जाता है यह ऐसा वार्ड है जहाँ पर कांग्रेस का ही कब्जा रहा है लेकिन पिछले चुनाव में निर्दलीय उम्मीदवार ने यहाँ से जीत हासिल कर कांग्रेस और भाजपा दोनो राजनैतिक पार्टी को पटकनी देकर अपना परचम लहराया था।।लेकिन कुछ ही दिन बाद निर्दलीय उम्मीदवार भाजपा प्रवेश कर इस वार्ड को बीजेपी वार्ड में तब्दील कर दिया था।।लेकिन आरक्षण के बाद यह सामान्य महिला हो गया।।इसी कड़ी में इस वार्ड से सिमा जुनेजा जो बीजेपी के लिए एक अच्छी उम्मीदवार साबित हो सकती है।।जिस परिवार से यह गृहणी आती है  उस परिवार का इस क्षेत्र में एक अच्छा दबदबा है और वार्ड की जनता से प्रत्यक्ष रूप से रूबरू है।।इनको अपने वार्ड और मोहल्ले में परिचय का मोहताज नही है।।समय समय पर जनता से जुड़े कई मुद्दों को लेकर मुखर होकर सामने भी आते रहे है।।

दंतेवाड़ा की जीत कांग्रेस सरकार के कार्यक्रमों पर जनता की मुहर हैः भूपेश बघेल

. दंतेवाड़ा उपचुनाव में देवती कर्मा की जीत के लिए मैं उन्हें, दंतेवाड़ा की जनता और पूरे प्रदेश की जनता को बधाई देता हूं. . मैं कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष श्री मोहन मरकाम, संगठन के पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को बधाई देता हूं. . पिछली बार जब प्रदेश भर में हमने 68 सीटें जीती थीं तो बस्तर की 12 में से 11 सीटें ही जीत सके थे. दंतेवाड़ा की सीट हम दो हज़ार वोटों से हार गए थे. . लेकिन उपचुनाव में हमने यह सीट 11 हज़ार से भी अधिक वोटों से जीत ली है. . हालांकि अभी चित्रकूट विधानसभा में उपचुनाव अभी होना शेष है लेकिन एक तरह से हमने बस्तर की 12 में से 12 सीटें जीत कर इतिहास रच दिया है. . दंतेवाड़ा उपचुनाव में हमारी यह जीत दरअसल कांग्रेस सरकार के पिछले नौ महीनों के कामकाज पर पड़ा वोट है. . यह विश्वास का वोट है. . यह मेरे बड़े भाई शहीद महेंद्र कर्मा की शहादत का सम्मान है. आदिवासियों और किसानों के हित की योजनाएं . सरकार आने के बाद से हमने जिस तरह से आदिवासियों की सुध लेना शुरु किया है, उसने बस्तर के सभी लोगों और आदिवासियों को विश्वास दिलाया है कि कांग्रेस की यह सरकार वास्तव में उनकी हितैषी है। . कांग्रेस सरकार बनने के तुरंत बाद लोहांडीगुड़ा में उद्योग के नाम से ली गई 1700 परिवारों की 4200 एकड़ ज़मीन वापस लौटाई गयी है। . कांग्रेस सरकार ने डीएमएफ़ के पैसों का लगातार हो रहा दुरुपयोग बंद करके उसे आदिवासियों के हक़ में खर्च करने की योजना तैयार की. . डीएमएफ़ के पैसों से हवाई पट्टी, स्वीमिंग पूल और इमारतें नहीं बन रही हैं बल्कि कुपोषित बच्चों और एनिमिया की शिकार महिलाओं को पौष्टिक भोजन देना शुरु किया गया है। . अब हाट बाज़ार में लोगों को मुफ़्त जांच और इलाज की सुविधा मिल रही है. . राशन कार्ड पर हर परिवार को 35 किलो चावल मिल रहा है. . तेंदूपत्ता का भुगतान 2500 रुपए प्रतिमानक बोरा की जगह 4000 रुपए मिलने से सरकार के प्रति लोगों का भरोसा बढ़ा है. . पिछले महीनों में हमने जो कार्यक्रम शुरु किए हैं उससे बस्तर के लोगों को लगा है कि उन्हें लघु वनोपज और दूसरे कृषि उत्पादों की प्रोसेसिंग के अवसर भी मिलेंगे जिससे उनकी आर्थिक हालत सुधरेगी. . किसानों की कर्ज़ माफ़ी और धान की 2500 रुपए क़ीमत ने भी लोगों का विश्वास बढ़ाया है. सरकार के कामकाज से प्रदेश भर में बढ़ा आत्मविश्वास . सरकार के पिछले नौ महीनों के कामकाज से प्रदेश भर में जनता का आत्मविश्वास बढ़ा है. . किसानों को भरोसा हुआ है कि वह खेती के भरोसे भी तरक्की कर सकता है. . नरवा, गरुवा, घुरुवा, बाड़ी कार्यक्रम से समस्याएं भी दूर हो रही हैं और ग्रामीण अर्थव्यवस्था में नई जान आ रही है. . आम जनता की जेबों में पैसे आने का असर यह हुआ है कि जब देश भर में मंदी का माहौल है, तब छत्तीसगढ़ मंदी के मार से न केवल बचा हुआ है बल्कि हर क्षेत्र में उन्नति कर रहा है। . रोज़गार के नए अवसर पैदा हो रहे हैं। . सिर्फ सड़क और बिल्डिंग बनाने को ही विकास कहने की जगह लोगों के जीवन स्तर में सुधार को कांग्रेस सरकार ने विकास का पैमाना बनाया है। . इसीलिए हमने कुपोषण दूर करने का लक्ष्य रखा है. . इसीलिए हमने 12 वीं तक बच्चों को मुफ़्त शिक्षा देने की घोषणा की है. . हम लोगों को अच्छी स्वास्थ्य सुविधाएं देना चाहते हैं. . हम चाहते हैं कि छत्तीसगढ़ सबसे ग़रीब राज्य की श्रेणी से बाहर निकले और सबसे ख़ुशहाल राज्य के रूप में विकसित हो. . हमें भरोसा है कि जनता का यह विश्वास और कांग्रेस का जनाधार बना रहेगा। दंतेवाड़ा की जीत ने कांग्रेस संगठन का आत्मबल बढ़ाया : मोहन मरकाम प्रमुख बिंदु - मैं दंतेवाड़ा की जीत के लिए माननीय मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल जी को बधाई देता हूं क्योंकि जो जीत उपचुनाव में हमने दर्ज की है वह सरकार के कामकाज पर जनता की ख़ुश होने का प्रतीक है. - मैं श्रीमती देवती कर्मा जी को बधाई देता हूं कि उन्होंने जनता को विश्वास दिलाया कि वे ही आदिवासियों का दुख दर्द समझती हैं और उनके साथ खड़ी रह सकती हैं. - मैं इस जीत के लिए कांग्रेस के अपने उन सभी पदाधिकारी कार्यकर्ता साथियों को बधाई देता हूं जिन्होंने दंतेवाड़ा उपचुनाव को अपनी प्रतिष्ठा का प्रश्न बनाया और जी जान से जुटकर यह जीत हासिल की. - बधाई कांग्रेस के उन कार्यकर्ताओं को भी जिनको अफ़वाह फैलाने वाले बार बार कह रहे थे कि दंतेवाड़ा चुनाव कांग्रेस के लिए मुश्किल है, लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी और जीत का इतिहास रचा. - मैं मुख्यमंत्री जी, मंत्रिमंडल के सभी सदस्यों, कांग्रेस संगठन के पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं का आभार भी व्यक्त करता हूं. यह जीत कांग्रेस कार्यकर्ताओं की जीत है। - प्रदेश अध्यक्ष के रूप में मेरा यह पहला चुनाव था और इस जीत ने मेरा मनोबल भी बढ़ाया है. हार को स्वीकार करना सीखना चाहिए - इस जीत के बाद हमने तरह तरह के बयान सुने हैं. - वे हास्यास्पद भी हैं और आपत्तिजनक भी. - पंद्रह साल तक सत्ता में काबिज रही राजनीतिक पार्टी को हार स्वीकार करना सीखना चाहिए और यह समझना चाहिए कि जनता को बरगला कर वोट पाने के दिन अब लद गए हैं. - वे प्रशासन तंत्र के दुरुपयोग का आरोप लगा रहे हैं. - झीरम कांड में बस्तर टाइगर महेंद्र कर्मा, अपने तत्कालीन प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार पटेल, दिग्गज नेता विद्याचरण शुक्ल सहित 13 प्रमुख कांग्रेस नेताओं को गंवाने के बाद हमसे अच्छा कौन समझ सकता है कि प्रशासन तंत्र का दुरुपयोग कैसे होता है. - पंद्रह साल तक कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने जिस तरह से मामले मुक़दमे झेले हैं, उसने हमें सिखा दिया है कि प्रशासन तंत्र का दुरुपयोग क्या होता है. - हमने लाठियां खाई हैं. हम जेल गए हैं. हम अदालतों का चक्कर लगाते रहे. - अंतागढ़ उपचुनाव में लोकतंत्र का चीरहरण करने वाले शुरू से जानते थे कि अब जनता उनके साथ नहीं है. - चंद अधिकारियों के भरोसे सरकार चलाने वाले राजनेता जानते हैं कि अधिकारियों का दुरुपयोग चुनावों में किस तरह किया जाता है. - दंतेवाड़ा उपचुनाव के नतीजों के बाद उन्हें समझना चाहिए कि छत्तीसगढ़ और ख़ासकर बस्तर की जनता अब जागरुक हो चुकी है. जमानत गंवाने वाले भी समझ जाएं - जिन दलों ने दंतेवाड़ा उपचुनाव में अपनी ज़मानतें गंवाई हैं वे भी समझ लें कि अब वे जनता को भ्रमित नहीं कर सकते. - भारतीय जनता पार्टी की बी टीम ने भी दंतेवाड़ा में बहुत ताक़त झोंकी लेकिन न वे अपनी ज़मानत बचा पाए न भाजपा को कोई फ़ायदा पहुंचा पाए. - अब वो दिन लद गए हैं.

चित्रकूट उपचुनाव में भाजपा से लछुराम कश्यप हो सकते हैं उमीदवार- सूत्र

Danteshwar kumar ( chintu) जगदलपुर: दंतेवाड़ा उपचुनाव के बाद अब चित्रकूट विधानसभा की तैयारी को लेकर राजनीतिक दलों में टिकट घमासान का सिलसिला शुरू हो चुका है। पूर्व विधानसभा चुनाव के बाद कांग्रेस को लगभग 17000 के अधिक मतों से भाजपा को पराजित कर जीत हासिल की थी। वही चित्रकूट विधानसभा क्षेत्र कांग्रेस विधायक रहे दीपक बैज अब वर्तमान में बस्तर लोकसभा के सांसद चुने गए जिसके बाद ये विधानसभा खाली हो गया। भाजपा पूर्व विधानसभा में लछुराम कश्यप को अपना उम्मीदवार बनाकर कांग्रेस के प्रत्याशी दीपक बैज के सामने मैदान में उतारी थी जिसमे भाजपा को करारा हार का सामना करना पड़ा था। जानकारी के मुताबिक लछुराम कश्यप मध्यप्रदेश छत्तीसगढ़ विभाजन के बाद चित्रकूट में पहले विधायक चुने गए थे जिसके बाद समीप केशलूर विधानसभा को चित्रकूट विधानसभा में शामिल किया गया व दूसरे विधानसभा में केशलूर विधायक रहे बैदुराम कश्यप को टिकट दिया और ये विधायक चुने गये। सूत्र के मुताबिक लछुराम कश्यप में चित्रकूट विधानसभा चुनाव की तैयारी को लेकर नामांकन पर्चा भी खरीद लिया है। संगठन के मुकाबले प्रदेश कार्यालय से जानकारी मिल रही है कि लछुराम कश्यप को एक बार फिर मैदान में उतार सकती है भाजपा के प्रदेश कार्यालय से एक नाम तय कर दिल्ली भेज दिया गया है । लछुराम कश्यप बस्तर से जिला पंचायत के अध्यक्ष भी रहे हैं वही दूसरी ओर जिला पंचायत सदस्य विनायक गोयल का नाम भी संगठन के चर्चे में है । वही कांग्रेस ने भी अपना उम्मीदवार राजमन बेंजाम को अपना प्रत्याशी बनाया है जो कि विधानसभा के लिए नया चेहरा बताया जा रहा है तो क्या भाजपा संगठन अब टिकट को लेकर अपनी रणनीति बदलेगी य लछुराम कश्यप के नाम पर लगेगी मुहर ये तय नही कहा जा सकता। अब मुकाबला कांग्रेस प्रत्याशी राजमन बेंजाम के साथ है जो कांग्रेस में ग्रामीण अध्यक्ष रहे हैं व वर्तमान में छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री भुपेश बघेल व मंत्री कवासी लखमा के खास माने जा रहे हैं। अब देखना ये होगा भाजपा किस नाम पर मुहर लगा सकती है।

चित्रकूट उपचुनाव में भाजपा से लछुराम कश्यप हो सकते हैं उमीदवार- सूत्र

Danteshwar kumar ( chintu)
जगदलपुर: दंतेवाड़ा उपचुनाव के बाद अब चित्रकूट विधानसभा की तैयारी को लेकर राजनीतिक दलों में टिकट घमासान का  सिलसिला शुरू हो चुका है। पूर्व विधानसभा चुनाव के बाद कांग्रेस को लगभग 17000 के अधिक मतों से भाजपा को पराजित कर जीत हासिल की थी। वही चित्रकूट विधानसभा क्षेत्र कांग्रेस विधायक रहे दीपक बैज अब वर्तमान में बस्तर लोकसभा के सांसद चुने गए जिसके बाद ये विधानसभा खाली हो गया। भाजपा पूर्व विधानसभा में लछुराम कश्यप को अपना उम्मीदवार बनाकर कांग्रेस के प्रत्याशी दीपक बैज के सामने मैदान में उतारी थी जिसमे भाजपा को करारा हार का सामना करना पड़ा था। जानकारी के मुताबिक लछुराम कश्यप मध्यप्रदेश छत्तीसगढ़ विभाजन के बाद चित्रकूट में पहले विधायक चुने गए थे जिसके बाद समीप केशलूर विधानसभा को चित्रकूट विधानसभा में शामिल किया गया व दूसरे विधानसभा में केशलूर विधायक रहे बैदुराम कश्यप को टिकट दिया और ये विधायक चुने गये।

सूत्र के मुताबिक लछुराम कश्यप में चित्रकूट विधानसभा चुनाव की तैयारी को लेकर नामांकन पर्चा भी खरीद लिया है। संगठन के मुकाबले प्रदेश कार्यालय से जानकारी मिल रही है कि लछुराम कश्यप को एक बार फिर मैदान में उतार सकती है भाजपा के प्रदेश कार्यालय से एक नाम तय कर दिल्ली भेज दिया गया है । लछुराम कश्यप बस्तर से जिला पंचायत के अध्यक्ष भी रहे हैं वही दूसरी ओर जिला पंचायत सदस्य विनायक गोयल का नाम भी संगठन के चर्चे में है । वही कांग्रेस ने भी अपना उम्मीदवार राजमन बेंजाम को अपना प्रत्याशी बनाया है जो कि विधानसभा के लिए नया चेहरा बताया जा रहा है तो क्या भाजपा संगठन अब टिकट को लेकर अपनी रणनीति बदलेगी य लछुराम कश्यप के नाम पर लगेगी मुहर ये तय नही कहा जा सकता।  अब मुकाबला कांग्रेस प्रत्याशी राजमन बेंजाम के साथ है जो कांग्रेस में ग्रामीण अध्यक्ष रहे हैं व वर्तमान में छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री भुपेश बघेल व मंत्री कवासी लखमा के खास माने जा रहे हैं। अब देखना ये होगा भाजपा किस नाम पर मुहर लगा सकती है।