ब्रेकिंग न्यूज़

जांजगीर चापा : ट्रेलर ने दादी पोते को कूचला दोनों की मौके पर ही दर्दनाक मौत, फिर एक बार बिर्रा पुलिस कि लापरवाही आई सामने

बिर्रा-आज सुबह 6 बजे बिर्रा ठाकूरदेव मुहल्ले की महिला तिहारिन बाई पटेल(उम्र 46वर्ष) पति मयाराम पटेल अपने 5 वर्षीय पोता सोनू पटेल पिता साखीराम पटेल के साथ दिशा मैदान के लिए निकली तभी विपरित दिशा से आ रही तेज रफ्तार ट्रेलर जो (शिवरीनारायण से रायगढ की ओर जा रही थी )लापरवाही पूर्वक दादी-पोते को चपेट में ले लिया जिससे घटनास्थल पर ही दादी-पोते की चिथडे उड गए और मौके पर ही मौत हो गई।घटना की जानकारी होते ही लोग ट्रेलर को दौडाकर पेट्रोल पंप पर पकडा और बिर्रा थाने के हवाले कर दिए।घटना स्थल पर भीड जूटने लगी

3 किलोमीटर तक लंबा जाम

वहीं घटना के बाद आक्रोशित लोगों ने मुख्यमार्ग में चक्काजाम कर दिया जिससे आवाजाही पूरी तरीके से बंद हो गई ट्रकों कि लंबी कतरा लग गई

बिर्रा पुलिस कि लापरवाही

वहीं एक बार फिर बिर्रा पुलिस कि लापरवाही सामने आई हैं,बिर्रा पुलिस सूचना के बाद भी नहीं पहुंचने पर लोग आक्रोशित होने लगे।112 की टीम बिर्रा पुलिस से पहले पहुंच चुकी थी जबकि घटना थाना से महज 400 मीटर कि दूरी पर हुई थी, इससे पहले भी दशहरे में ट्राफिक व्यवस्था को लेकर लापरवाही सामने आई थी जिसमें काफी किरकिरी हुई थी,वहीं अवैध शराब विक्रेताओं पर कार्यवाही नहीं करने समेत अनेक मामले सामने आये थे अब देखना होगा कि उच्च अधिकारियों द्वारा लापरवाही बरतने पर फिर अभयदान दिया जाता है या फिर कोई कार्यवाही कि जाती हैं

वहीं उच्चाधिकारियों द्वारा मुआवजे दिलाए जाने के बाद चक्काजाम लगभग 10 बजे हटा।मार्ग में जाम की स्थिति बनी रही।बिर्रा पुलिस ने औपचारिकता पूरी कर शव परिजनों को सौंपा गया।तात्कालिक सहायता शसन से 50 हजार रूपये दी गई।दादी-पोते का स्थानीय मुक्तिधाम में एक साथ अंतिम संस्कार किया गया।

ओवरलोडिग भारी वाहनों के कारण दुर्घटना

शिवरीनारायण-बिर्रा-रायगढ मार्ग में चमचमाती सड़क पर ओवरलोडिग भारी वाहन तेजरफ्तार से फर्राटे भर रहे हैं, ओवरलोडिग वाहन पर कार्यवाही नहीं होने के कारण आयदिन हादसे होते रहते हैं, जिसका खमियाजा लोगों को जान गवाकर उठाना पड़ रहा है

बिलासपुर : कलयुगी पिता ने अपने 2 बच्चों की गला घोंटकर की हत्या

बिलासपुर : मस्तूरी ब्लॉक् के पचपेड़ी थानांतर्गत सुनसरी गांव में कलयुगी पिता ने अपने 2 बच्चों का गला घोंटकर मार डाला और लाश को कुएं में फेंका। पत्नी से करता था मारपीट। गुस्से में 2 अन्य बच्चों को लेकर पत्नी गई थी मायके। इसी बीच बीती रात तकरीबन 2 बजे घटना को दिया अंजाम। आरोपी पिता दसरथ विश्वकर्मा को पचपेड़ी पुलिस ने किया गिरफ्तार।

कड़ी सुरक्षा के बीच चित्रकोट मतगणना प्रारंभ , 5 राउंड चित्रकूट 3614 से कांग्रेस आगे।

कड़ी सुरक्षा के बीच चित्रकोट मतगणना प्रारंभ , मोबाईल सहित इलेक्ट्रॉनिक सामान प्रतिबंधित 5 राउंड चित्रकूट #chintu singh 3614 से कांग्रेस आगे।

बिलासपुर हाई कोर्ट ने राज्य शासन को दिया झटका। भीमा मंडावी हत्या कांड की जांच अब एनआईए करेगी। भाजपा विधायक भीमा मंडावी की नक्सल हमले में हत्या की थी। जस्टिस सामंत ने इससे जुड़े सभी दस्तावेज 15 दिन के अंदर एनआईए को सौंपने का आदेश दिया है।

A REPORT BY : अजीत मिश्रा

दंतेवाड़ा विधायक भीमा मंडावी की 9 अप्रैल 2019 को लोकसभा चुनाव के दौरान प्रचार कर श्यामगिरी से दंतेवाड़ा लौट रहे थे। तब ही रास्ते में नक्सलियों ने आइडी ब्लॉस्ट कर उनका वाहन उड़ा दिया। मौके पर ही विधायक भीमा की मौत हो गई जबकि सुरक्षा में साथ चल रहे चार जवान भी शहीद हो गए थे। नक्सली मौके से एक नाइन एमएम की पिस्टल, रायफल व मोबाइल लेकर फरार हो गए थे। नक्सली वारदात होने के कारण मामले की जांच एनआईए को करनी थी। राज्य शासन ने एनआईए को जांच से रोकते हुए दंतेवाड़ा पुलिस को जांच का आदेश दिया। इसके खिलाफ एनआईए ने हाई कोर्ट में याचिका दाखिल की। इसमें कहा गया कि एनआईए एक्ट के तहत नक्सली वारदात होने के कारण जांच का अधिकार एनआइए के पास है। राज्य सरकार उन्हें जांच से नहीं रोक सकती है। हाई कोर्ट ने प्रारंभिक सुनवाई के उपरांत स्थानीय पुलिस की जांच पर रोक लगाते हुए शासन से जवाब मांगा था। शासन ने जवाब प्रस्तुत कर कहा कि एनआइए एक्ट राज्य शासन के अधिकार का हनन नहीं कर सकता है। इस कारण मामले की जांच का अधिकार पुलिस को है।

बिलासपुर हइकोर्ट ब्रेकिंग : पूर्व मुख्य सचिव अमन सिंह की पत्नी यास्मीन सिंह को हइकोर्ट से बड़ी राहत। हाईकोर्ट ने जांच कमिटी के द्वारा जारी नोटिस पर लगाई रोक। साथ ही शासन को जारी किया नोटिस। HC ने यास्मीन सिंह के ऊपर नो *कोरसिव स्टेप* यानी किसी भी कार्यवाई करने पर लगाई रोक। अब यास्मीन की याचिका पर 20 नवंबर को होगी अगली सुनवाई। पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह के प्रमुख सचिव रहे हैं अमन सिंह। उनकी पत्नी है यास्मीन सिंह। सामान्य प्रशासन के द्वारा गठित की गई थी जांच कमिटी। कमेटी के खिलाफ यास्मीन ने हाईकोर्ट में याचिका लगाई थी । कांग्रेसी प्रवक्ता विकास तिवारी की शिकायत पर बनाया गया है जांच टीम। विकास तिवारी ने यास्मीन की नियुक्ति पर उठाए थे सवाल। हाईकोर्ट में जस्टिस गौतम भादुड़ी के सिंगल बैंच में लगा था मामला। अब कोर्ट ने यासमीन को राहत दी है। और अगली सुनवाई 20 नवंबर को रखी गई है।

बिलासपुर हइकोर्ट ब्रेकिंग :

पूर्व मुख्य सचिव अमन सिंह की पत्नी यास्मीन सिंह को हइकोर्ट से बड़ी राहत।

हाईकोर्ट ने जांच कमिटी के द्वारा जारी नोटिस पर लगाई रोक।

साथ ही शासन को जारी किया नोटिस।

HC ने यास्मीन सिंह के ऊपर नो *कोरसिव स्टेप* यानी किसी भी कार्यवाई करने पर लगाई रोक।

अब यास्मीन की याचिका पर 20 नवंबर को होगी अगली सुनवाई।

पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह के प्रमुख सचिव रहे हैं अमन सिंह।

उनकी पत्नी है यास्मीन सिंह।

सामान्य प्रशासन के द्वारा गठित की गई थी जांच कमिटी।

कमेटी के खिलाफ यास्मीन ने हाईकोर्ट में याचिका लगाई थी ।

कांग्रेसी प्रवक्ता विकास तिवारी की शिकायत पर बनाया गया है जांच टीम।

विकास तिवारी ने यास्मीन की नियुक्ति पर उठाए थे सवाल।

हाईकोर्ट में जस्टिस गौतम भादुड़ी के सिंगल बैंच में लगा था मामला।

अब कोर्ट ने यासमीन को राहत दी है।

और अगली सुनवाई 20 नवंबर को रखी गई है।