बड़ी खबर

गोरखपुर : मेडिकल कॉलेज में नवजात बच्चों समेत 60 मासूमों की दर्दनाक मौत

गोरखपुर के बाबा राघव दास मेडिकल कॉलेज अस्पताल में लगभग 60  बच्चों की मौत हुई है। जिसे देखते हुए यूपी सरकार ने मेजिस्ट्रियल जांच के आदेश दिए हैं। बाल चिकित्सा केंद्र में बच्चों की मौतों के लिए इंफेक्शन और ऑक्सीजन की सप्लाई में दिक्कत को जिम्मेदार ठहराया गया है, लेकिन अस्पताल और जिला प्रशासन ने ऑक्सीजन की कमी को मौत का कारण मानने से इनकार किया है। संयोग से, राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने दो दिन पहले मेडिकल कॉलेज का दौरा किया था और बाल चिकिस्ता केंद्र निरीक्षण किया था। यही नहीं उन्होंने 10 बेड वाले आईसीयू, 6 बेड वाले क्रिटिकल केयर यूनिट का उद्धाटन किया था तथा जापानी एन्सेफलाइटिस वायरस से ग्रस्त बच्चों के वार्ड का दौरा किया। इस घटना के सामने आने के बाद सोशल मीडिया पर लोगों का गुस्सा भड़का हुआ है ।
30 बच्चों की मौत पर अब राजनीति शुरू हो गई है. कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के कहने पर चार कांग्रेसी नेता गोरखपुर का दौरा करेंगे. गुलाम नबी आजाद, राज बब्बर, संजय सिंह और प्रमोद तिवारी गोरखपुर जाएंगे. इसके अलावा स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह और चिकित्सा शिक्षा मंत्री आशुतोष टंडन भी गोरखपुर जाएंगे. थोड़ी देर में होंगे रवाना. सीएम के साथ दोनों मांत्रियों की बैठक हुई है. वहां से आने के बाद दोनों मंत्री सीएम को घटना की पूरी रिपोर्ट देंगे.
 बता दे की  13 बच्चे एनएनयू वार्ड और 17 इंसेफेलाइटिस वार्ड में भर्ती थे. बताया जा रहा है कि 69 लाख रुपये का भुगतान न होने की वजह से ऑक्सीजन सप्लाई करने वाली फर्म ने ऑक्सीजन की सप्लाई गुरुवार की रात से ठप कर दी थी.टी वि  खबरों के मुताबिक पिछले 5 दिनों में 60 बच्चों की मौत हो चुकी है. हालांकि अस्पताल प्रशासन ने ऑक्सीजन की कमी से इंकार किया है.

राम जन्मभूमि-बाबरी केस में सुप्रीम कोर्ट के तीन जजों की बेंच सात साल बाद करेगी सुनवाई

अयोध्या के राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद मामले पर आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होगी। सात वर्ष बाद सुप्रीम कोर्ट इस मामले में सुनवाई करने जा रहा है। इस मामले से जुड़े पक्षकारों ने इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले को चुनौती दी है।
  पिछले दिनों भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने चीफ जस्टिस जेएस खेहर की अध्यक्षता वाली पीठ के समक्ष इस मामले का उल्लेख करते हुए जल्द सुनवाई की गुहार लगाई थी। जिस पर चीफ जस्टिस ने कहा था कि वह जल्द ही इस निर्णय लेंगे वहीं जुलाई के पहले हफ्ते में सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में स्वामी को भी मामले में पक्षकार बनने की इजाजत दी है। स्वामी ने यह भी कहा था कि हाईकोर्ट के फैसले को लेकर दायर मुख्य अपील पिछले सात वर्षों से सुप्रीम कोर्ट में लंबित है लिहाजा इस पर तत्काल सुनवाई होनी चाहिए। स्वामी ने इस मामले में याचिका दायर कर उस जगह पर पूजा करने की इजाजत देने के लिए गुहार की है। गौरतलब है कि इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ पीठ ने वर्ष 2010 में विवादित स्थल के 2.77 एकड़ क्षेत्र को सुन्नी वक्फ बोर्ड, निर्मोही अखाड़ा और राम लल्ला के बीच बराबर-बराबर हिस्से में विभाजित करने का आदेश दिया था। गौरतलब है कि कुछ महीने पहले सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले का अदालत से बाहर समाधान निकालने की संभावना तलाशने के लिए कहा था। इसे लेकर पक्षकारों की ओर से प्रयास किए गए लेकिन समाधान नहीं निकल सका। लिहाजा सुप्रीम कोर्ट को अब मेरिट के आधार पर ही इस विवाद का निपटारा करना है।

पूरे हुए भारत छोड़ो आंदोलन के 75 साल, संसद में शुरू हुआ विशेष सत्र

भारत छोड़ो आंदोलन के 75 साल पूरे होने पर संसद में विशेष सत्र का आयोजन किया जाएगा। इस विशेष सत्र को गृह मंत्री राजनाथ सिंह, वित्त मंत्री अरुण जेटली और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज संबोधित करेंगे। जहां लोकसभा में इसकी कमान सुषमा के पास रहेगी, वहीं राज्यसभा में अरुण जेटली इसकी चर्चा पर शुरुआत करेंगे। 
इससे पहले पीएम मोदी ने ट्वीट करके कहा कि 75 साल पहले 1942 में भारत को अंग्रेजों से मुक्त कराना बड़ी जिम्मेदारी थी। लेकिन अब विषय काफी अलग हैं। आज हम शपथ लेते हैं कि भारत को 2022 तक गरीबी, गंदगी, भ्रष्टाचार, जातिवाद से मुक्ति दिलाएं। 

इधर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने मंगलवार (8 अगस्त) को कहा कि पार्टी को लोगों और संस्थाओं की आजादी को बचाना चाहिए। उन्होंने भाजपा सरकार पर कानून का उल्लंघन करने तथा दमन करने वालों को प्रोत्साहित करने का आरोप लगाया। उन्होंने भारत छोड़ो आंदोलन की 75वीं वर्षगांठ के उपलक्ष्य में कांग्रेस कार्यसमिति (सीडब्ल्यूसी) की हुई विशेष बैठक में ऐसे मामले बढ़ने पर चिंता जतायी जिनमें लोग खुद कार्रवाई करने लगते हैं और कहा कि एक भी ऐसा दिन नहीं गुजरता जब लोगों की आजादी कुचली नहीं जाती। सोनिया ने बैठक में कहा, ‘‘कांग्रेस पार्टी को आजादी तथा उससे सम्बद्ध मूल्यों एवं उनके लिए काम करने वाले संस्थानों के बचाव के लिए हमेशा शीर्ष पर बने रहना चाहिए। हमें लोगों तथा समाज की आजादी पर हमला करने वालों के समक्ष कभी भी घुटने टेकने नहीं चाहिए

जम्मू-कश्मीर के सोपोर में सुरक्षा जवानों और आतंकियों के बीच मुठभेड़

जम्मू-कश्मीर के सोपोर में सुरक्षा जवानों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ हुई है। एनकाउंटर में तीन आतंकी मारे गए हैं। मारे गए आतंकी लश्कर-ए-तैयबा से संबंधित थे। हालांकि गोलीबारी में पुलिस का एक जवान घायल भी हुआ है। सुरक्षाबलों को सूचना मिली थी कि सोपोर के अमरगढ़ गांव में आतंकी छिपे हुए हैं। इसके बाद इलाके में सर्च ऑपरेशन चलाया गया था।
पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि सोपोर इलाके के अमरगढ़ में आतंकवादियों के मौजूद होने की सूचना मिलने के बाद सुरक्षा बलों ने एक अभियान शुरू किया था। उन्होंने बताया कि आतंकवादियों ने सुरक्षा बलों पर गोलीबारी शुरू कर दी और उन्होंने जवाबी कार्रवाई की। अधिकारी ने बताया कि गोलीबारी में लश्कर-ए-तैयबा के तीन आतंकवादी मारे गए। उनके पास से तीन हथियार भी बरामद किए गए हैं।
आतंकियों को मारे जाने के बाद सेना ने 3 एके47 भी बरामद किया है। मुठभेड़ खत्म हो गई है, लेकिन सर्च ऑपरेशन अभी भी जारी है। पुलिस ने पूरे सोपोर जिले में इंटरनेट सेवा को भी बंद कर दिया है। वहीं सेना ने दक्षिणी कश्मीर के शोपियां से तीन आतंकियों को गिरफ्तार किया है। बताया जा रहा है कि इन तीनों को हथियारों की चोरी का मकसद दिया गया था।

इस जानकारी के बाद सेना की 52 राष्ट्रीय राइफल्स, सीआरपीएफ और जम्मू कश्मीर पुलिस की एसओजी द्वारा इलाके में गहन तलाशी अभियान शुरू किया गया था। इस ऑपरेशन के दौरान इलाके में घेराबंदी करके आवागमन के सारे रास्ते सील कर दिए गये हैं।
हालांकि अब तक बारामुला में जारी ऑपरेशन पर सेना की ओर से कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है।

कुलगाम में 2 आतंकी ढेर, शोपियां मुठभेड़ में मेजर और एक जवान शहीद, 3 आतंकी घिरे

जम्मू  कश्मीर में आतंकी अबु दुजान को मार गिराने के एक दिन बाद ही शोपियां और कुलगाम में एक बार फिर से सेना की आतंकियों से मुठभेड़ हुई है। जहां एक तरफ सुरक्षा बलों ने शोपियां में दो आतंकियों को मार गिराया है वहीं कुलगाम में तीन आतंकियों को घेर रखा है।
शोपियां में सेना और उग्रवादियों के बीच चल रही मुठभेड़ के अलावा कुलगाम में भी मुठभेड़ हुआ. कुलगाम में दो आतंकियों को सुरक्षा बलों ने मार गिराया है. कुलगाम एनकाउंटर के बारे में जानकारी देते हुए कुलगाम के एसएसपी श्रीधर पाटिल ने बताया कि एनकाउंटर करीब आधे घंटे तक चला. इसमें हिजबुल मुजाहिद्दीन के दो आतंकी मारे गए. मारे गए दोनों आतंकी कई मामलों में वांछित थे.

PAK जनरल बोले- कश्मीर मुद्दे, NSG को लेकर चीन के समर्थन के लिए पाकिस्तान उसका कर्जदार

भारत और चीन के बीच चल रही तल्खी के बीच पाकिस्तान के प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा ने कश्मीर मुद्दे, परमाणु आपूर्तिकर्ता समूह और शंघाई सहयोग संगठन के विस्तार को लेकर पाक को चीन के अविचल समर्थन के लिए कर्जदार माना है।
 
चीन की पीपल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के 90वें स्थापना दिवस के उपलक्ष्य में आयोजित समारोह में बाजवा ने चीन और पाकिस्तान को 'क्षेत्र में महत्वपूर्ण रणनीतिक ताकत' बताया और कहा कि द्विपक्षीय संबंधों से दोनों देशों को लाभ हुआ है।

चीनी दूतावास द्वारा सोमवार को रावलपिंडी में आयोजित कार्यक्रम में बाजवा ने कहा कि यह परस्पर विश्वास, सम्मान, समझ तथा सहयोग पर आधारित संबंध हैं। असल में यह दोस्ती हर दिन के साथ बढ़ रही है, जो हमारे जीवन के हर पहलू को शामिल करता है।

जनरल बाजवा इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में शामिल हुए थे। बाजवा ने आगे कहा कि कश्मीर मुद्दा हो या शंघाई सहयोग संगठन में पाकिस्तान की पूर्ण सदस्यता या फिर परमाणु आपूर्तिकर्ता समूह पाकिस्तान सभी अंतरराष्ट्रीय मंचों पर चीन के अविचल समर्थन के लिए चीन का कर्जदार है। 

जम्मू-कश्मीर -पुलवामा में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी कामयाबी, लश्कर कमांडर अबु दुजाना समेत 2 आतंकी ढेर

जम्मू-कश्मी  में आतंकियों और सुरक्षा बलों के बीच में मुठभेड़ होने की खबर है। टीवी रिपोर्ट्के मुताबिक दक्षिण कश्मीर के पुलवामा जिले के हाकिरपोरा गांव में 31 जुलाई देर रात को चलाए गए सर्च ऑपरेशन के बाद सुरक्षा बलों ने 3 आतंकियों को घेर लिया है।
लोकल मीडिया की खबरों मुताबिक सुरक्षाबलों के साथ हाकरीपोरा गांव में मुठभेड़ में लश्कर कमांडर अबु दुजाना मारा गया है. दुजाना के साथ एक स्थानीय आतंकी आरिफ ललहारी भी मारा गया है. सुरक्षाबलों ने उस घर को आग लगा दी जिसमें आतंकियों के छिपे होने की खबर थी. हालांकि अधिकारियों द्वारा अभी इसकी पुष्टि नहीं की गई है।  अबु दुजाना लश्कर का टॉप कमांडर था. पिछले कई महीनों से सुरक्षाबलों ने दुजाना का मारने के लिए कई ऑपरेशन चलाए थे. उसपर सुरक्षाबलों ने 10 लाख का इनाम घोषित कर रखा था.

पुलवामा के हाकरीपोरा गांव में सेना ने तड़के साढ़े चार बजे से ही घेरा डाल रखा था. आतंकियों के एक घर में छिपे होने की खबर थी. जवानों ने इसे घेर लिया. अंदर से आतंकियों ने गोलीबारी की.

सीआरपीएफ की 182 बटालियन, 183 बटालियन, 55 राष्ट्रीय राइफल और एसओजी की टीम ने इलाके को घेरकर सर्च अभियान शुरू किया. सुरक्षाबलों को इलाके में आतंकियों के मौजूद होने की खबर मिली थी. इसके बाद सुरक्षाबलों ने हाकरीपोरा में घेरा डाला.

पीएम मोदी,के मंत्रिमंडल में जल्द ही शामिल होंगे 12 नए चेहरे केंद्रीय कैबिनेट में बदलाव संकेत

नई दिल्ली प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जल्द ही एक बार फिर से केंद्रीय मंत्रिमंडल का विस्तार कर सकते हैं। ऐसा माना जा रहा है कि 12 से 21 अगस्त के बीच कैबिनेट में बदलाव किए जा सकते हैं, जिसको लेकर पीएम मोदी और बीजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने बातचीत की है। बताया जा रहा  है कि करीब 12 नए चेहरे मोदी कैबिनेट का हिस्सा बन सकते हैं, जिसमें से 9 बीजेपी के और 3 दूसरे सहयोगी दलों के होंगे।
इतना हीं नहीं कई मंत्रियों के विभाग बदले जा सकते हैं और काम न करने वालों की छुट्टी भी की जा सकती है। सूत्रों के मुताबिक मोदी सरकार 2019 के लोकसभा चुनाव को ध्यान में रखकर कई मंत्रालयों में फेरबदल कर सकती है, इसलिए नए चेहरों को मौका दिया जा सकता है।

वहीं राज्यसभा के लिए नॉमिनेशन दाखिल कर चुके अमित शाह ने लखनऊ में मीडिया से बातचीत की। मंत्रिमंडल में शामिल होने पर शाह ने कहा कि वे अपने राष्ट्रीय अध्यक्ष पद से खुश हैं। तीन दिन के दौरे पर उत्तर प्रदेश आए अमित शाह ने आज लखनऊ में प्रेस कांफ्रेंस करके राज्य और केंद्र में काम कर रही बीजेपी सरकार की उपलब्धियों को गिनाया।

उन्होंने कहा कि राज्य की योगी सरकार अपने चार माह पूरे कर चुकी है और केंद्र की मोदी सरकार अपने तीन साल, लेकिन अभी तक दोनों पर भ्रष्टाचार का एक भी आरोप विपक्षी नहीं लगा सके हैं। जबकि पिछले दस साल चली सरकार में हर रोज एक घोटाला सामने आ रहा था।

नीतीश कुमार ने हासिल किया बहुमत, 131 विधायकों का मिला साथ

बिहार विधानसभा में जारी गतिरोध के बीच नीतीश कुमार ने विश्वास मत हासिल कर लिया है। नीतीश कुमार को 131 वोट मिले हैं। उनके विरोध में 108 वोट पड़े हैं। आपको बता दें कि विधानसभा की शुरूआत होते ही जबरदस्त हंगामा शुरू हो गया था। तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार पर तीखा हमला किया था जिसके जवाब में नीतीश ने कहा था कि वो किसी भी कीमत पर भ्रष्टाचार बर्दाश्त नहीं करेंगे

सीएम बनने के बाद नीतीश कुमार ने पीएम मोदी का किया शुक्रिया, कहा मैंने बिहार के हित में लिया फैसला’

पटना:  नीतीश कुमार ने बिहार के मुख्यमंत्री पद से कल इस्तीफा देने के 24 घंटे के भीतर आज इस पद की शपथ ली. राज्यपाल केसरी नाथ त्रिपाठी ने यहां बीजेपी नेता सुशील मोदी को भी उपमुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाई. शपथ के बाद नीतीश ने कहा कि मैंने बिहार के हित में यह फैसला लिया है.’’
जनता दल (युनाइटेड) के नेता नीतीश कुमार गुरुवार को एक बार फिर मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के साथ बनने वाली उनकी सरकार को राज्यपाल केशरी नाथ त्रिपाठी सुबह 10 बजे शपथ दिलाई। जेडीयू सुप्रीमो ने छठवीं बार बिहार के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेकर रिकॉर्ड बनाया है। नीतीश कुमार के बाद बिहार बीजेपी के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी ने राज्य के डिप्टी सीएम पद की शपथ ली। गुरुवार को हुए शपथ ग्रहण सामरोह में दो ही नेताओं ने शपथ ली। बुधवार की शाम नीतीश के इस्तीफा के बाद 20 महीने से चल रही महागठबंधन की सरकार गिर गई थी। इसके बाद बुधवार की देर रात नीतीश कुमार को जद (यू) और भाजपा संयुक्त विधायक दल का नेता चुन लिया गया। नीतीश ने देर रात ही नई सरकार बनाने का दावा पेश किया। नीतीश कुमार ने राज्यपाल से मिलकर भाजपा, जद (यू), हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा, राष्ट्रीय लोक समता पार्टी, लोक जन शक्ति पार्टी के विधानसभा सदस्यों के अतिरिक्त दो निर्दलीय विधानसभा सदस्यों सहित कुल 131 विधायकों के समर्थन का पत्र प्रस्तुत किया था

शपथ लेने से पहले राजघाट पहुंचे कोविंद, बापू को दी श्रद्धांजलि

देश के 14वें राष्ट्रपति के रूप में आज रामनाथ कोविंद शपथ लेंगे. प्रधानमंत्री, प्रणब मुखर्जी और चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया की मौजूदगी में देश के नए राष्ट्रपति अपना कार्यभार संभालेंगे. शपथ ग्रहण समारोह में कई बड़े दिग्गज शामिल होंगे. तमाम राज्यों के मुख्यमंत्री महामहिम की शपथ के साक्षी बनेंगे. भारत के नए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के शपथ ग्रहण कार्यक्रम को भव्य बनाने की पूरी तैयारी हो चुकी है. राष्ट्रपति भवन से लेकर राजपथ और संसद भवन में खास तैयारियां की गई हैं. कार्यक्रम सुबह 10 बजे से शुरू होगा और करीब दोपहर सवा 2 बजे तक चलेगा.

चीनी सेना की धमकी- किसी भी कीमत पर करेंगे संप्रभुता की रक्षा, सेना हटाए भारत

सिक्किम क्षेत्र के डोकलाम में भारत के साथ सैन्य तनातनी के बीच चीनी सेना लगातार भारत पर दबाव बनाने की कोशिश कर रही है. चीनी सेना ने अब कहा है कि वो संप्रभुता की रक्षा के लिए कुछ भी करेंगे. पीपुल्स लिबरेशन आर्मी ने भारत से कहा है कि किसी भी कीमत पर संप्रभुता की रक्षा की जाएगी.

1 अगस्त को पीएलए की 90 वीं वर्षगांठ से पहले एक विशेष ब्रीफिंग में पीएलए ने डॉकलाम पर एक मजबूत संदेश दिया है. PLA की तरफ से साथ ही कहा गया है कि डोकलाम में तैनाती भी बढ़ाई जाएगी. राष्ट्रीय रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता वरिष्ठ कर्नल वू कियान ने कहा कि पिछले 90 वर्षों में पीएलए का इतिहास संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता की रक्षा के लिए हमारे संकल्प, क्षमता को साबित करता है.

पीएलए ने यह भी कहा कि इस घटना के जवाब में एक "आपातकालीन प्रतिक्रिया" के तौर पर क्षेत्र में और अधिक चीनी सेना उतार सकती है. इसके साथ ही वरिष्ठ कर्नल वू कि़आन ने रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता से डोकलाम पठार पर चीन के सड़क निर्माण का पक्ष भी रखा. आपको बता दें कि डोकलाम को डोंगलंग के नाम से संबोधित करता है.

कि़आन ने कहा, "जून के मध्य में, चीनी सेना ने एक सड़क के निर्माण की जिम्मेदारी ली थी. डोंगलंग चीन का क्षेत्र है और चीन का अपने क्षेत्र में सड़क निर्माण करना एक सामान्य घटना है. यह चीन की संप्रभुता का कार्य है और वैध है."

उन्होंने आगे कहा, "भारत द्वारा चीन के क्षेत्र में घुसना परस्पर मान्यता प्राप्त अंतरराष्ट्रीय सीमा का एक गंभीर उल्लंघन है और यह अंतरराष्ट्रीय कानून के खिलाफ है. हम अपनी संप्रभुता की रक्षा किसी भी कीमत पर करेंगे."
sabhar

रामनाथ कोविंद की हुई जीत ,मेरी जीत निष्ठा के साथ कर्तव्यों का निर्वहन करने वालों के लिए संदेश है

राष्ट्रपति चुनाव में एनडीए उम्मीदवार रामनाथ कोविंद की जीत हुई है. कोविंद को यूपीए उम्मीदवार मीरा कुमार से करीब दोगुने वोट मिले हैं. वैसे तो कोविंद की जीत शुरू से ही पक्की मानी जा रही थी, लेकिन अब ये तय हो गया है कि कोविंद ही देश के अगले राष्ट्रपति होंगे
राष्ट्रपति पद की जिम्मेदारी संभालने जा रहे रामनाथ कोविंद ने कहा, ' अपने समाज एवं देश के लिए अथक सेवाभाव आज मुझे यहां तक ले आया है। इस पद पर रहते हुए संविधान की रक्षा करने और उसकी मर्यादा को बनाए रखना मेरा कर्त्‍तव्‍य होगा।'
राष्ट्रपति पद का चुनाव जीतने के बाद रामनाथ कोविंद ने कहा है कि उनकी राष्ट्रपति बनने की कभी आंकक्षा नहीं थी, लेकिन निष्ठा के साथ अपने कर्तव्यों का निर्वहन उन्हें इस ऊंचाई तक ले आया। राष्ट्रपति पद के लिए चुने गये रामनाथ कोविंद ने कहा कि राष्ट्रपति पद पर उनका निर्वाचन भारतीय लोकतंत्र की महानता का साक्ष्य है। उन्होंने कहा, ‘ मैं आज बहुत भावुक हूं और मैं उन सभी का प्रतिनिधित्व करूंगा जो जीवित रहने के लिए संघर्ष कर रहे हैं।’ रामनाथ कोविंद ने कहा कि वे उन सभी लोगों का धन्यवाद करते हैं जिन्होंने राष्ट्रपति पद के लिए पूरे देश से उनका समर्थन किया। रामनाथ कोविंद 25 जुलाई को राष्ट्रपति पद की शपथ लेंगे। 66 प्रतिशत मतों के साथ जीतने वाले 71 साल के रामनाथ कोविंद देश के 14वें राष्ट्रपति बनेंगे। राष्ट्रपति पद की जिम्मेदारी संभालने जा रहे रामनाथ कोविंद ने कहा, ‘ अपने समाज एवं देश के लिए अथक सेवाभाव आज मुझे यहां तक ले आया है। इस पद पर रहते हुए संविधान की रक्षा करने और उसकी मर्यादा को बनाए रखना मेरा कर्त्‍तव्‍य होगा।’ राष्ट्रपति पद के लिए निर्वाचित होने के बाद रामनाथ कोविंद के घर जाकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने उन्हें शुभकामनाएं दी।

आज होगा वोटों की गिनती और देश को मिलेगा 14वां राष्ट्रपति, NDA के राम और विपक्ष की मीरा में है मुकाबला

देश को आज नया राष्ट्रपति मिल जाएगा. आज शाम करीब 5 बजे तक साफ हो जाएदा कि देश का 14वां राष्ट्रपति कौन होगा. राष्ट्रपति चुनाव के लिए 17 जुलाई को जो मतदान हुआ था उसकी गिनती 20 जुलाई यानी आज संसद के रूम नंबर 62 में होगी. लोकसभा के सेक्रेटरी जनरल अनूप मिश्रा के मुताबिक वोटों की गिनती सुबह 11:00 बजे से शुरू होगी और शाम लगभग 4:00 से 5:00 बजे के बीच नतीजे आने की उम्मीद है. राष्ट्रपति चुनाव के लिए अनूप मिश्रा ही रिटर्निंग ऑफिसर हैं. राष्ट्रपति पद के NDA उम्मीदवार रामनाथ कोविंद नतीजों से एक दिन पहले बंगला साहब गुरुद्वारा में मत्था टेकने पहुंचे.

सभी राज्यों से वोट के बैलेट बॉक्स संसद पहले ही पहुंच चुके हैं और संसद में कड़ी सुरक्षा में उसे रखा गया है. राष्ट्रपति चुनाव के लिए कुल 32 जगहों पर मतदान हुआ था. इनमें 29 राज्य, दिल्ली और पुडुचेरी समेत दो केंद्र शासित प्रदेश और संसद भवन शामिल है जहां पर राज्यसभा और लोकसभा के सांसदों ने मतदान किया.

8 राउंड में होगी गिनती

राष्ट्रपति के चुनाव में लोकसभा और राज्यसभा के सांसद और विधान सभा के सदस्य मतदान करते हैं. एमएलसी यानी विधान परिषद के सदस्य राष्ट्रपति के चुनाव में मतदान नहीं करते. आज जब वोटों की गिनती शुरू होगी तो सबसे पहले संसद भवन में डाले गए वोटों का बक्सा खुलेगा. उसके बाद राज्यों के वोटों की गिनती होगी. राज्यों का बक्सा अल्फाबेटिकल ऑर्डर पर खोला जाएगा. वोटों के गिनती चार अलग अलग टेबल पर होगी और गिनती के कुल 8 राउंड होंगे

अमरनाथ यात्रियों की बस खाई में गिरी, अबतक 16 की मौत, 26 अन्य गंभीर रूप से घायल मोदी ने जताया दुख

जम्मू एवं कश्मीर राज्य सड़क परिवहन की बस जम्मू से कश्मीर घाटी की ओर जा रही थी। इसी दौरान जम्मू-श्रीनगर राजमार्ग पर बनिहाल में नचनाला के पास चालक ने बस पर से नियंत्रण खो दिया और यह खाई में जा गिरी। एक पुलिस अधिकारी ने बताया, “इस हादसे में 16 श्रद्धालुओं की मौके पर ही मौत हो गई और 26 अन्य घायल हो गए। मरने वालों में 14 पुरुष और दो महिलाएं शामिल हैं।” गंभीर रूप से घायल श्रद्धालुओं में से पांच को श्रीनगर ले जाया गया, 19 अन्य को सेना के हेलीकॉप्टर से जम्मू के गवर्मेट मेडिकल कॉलेज सुपर स्पेशियालिटी हॉस्पिटल लाया गया। दो का इलाज बनिहाल के अस्पताल में हो रहा है। अधिकारी ने कहा कि बस में चालक समेत कुल 43 यात्री सवार थे। दुर्घटना स्थल पर स्थानीय निवासियों के साथ सेना, पुलिस और अर्धसैनिक बल के जवान राहत एवं बचाव कार्य में जुटे हैं।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बस दुर्घटना में 16 अमरनाथ यात्रियों की मौत पर शोक जताया है। मोदी ने ट्वीट किया, “जम्मू एवं कश्मीर में बस हादसे में अमरनाथ यात्रियों की मौत से बेहद तकलीफ हुई है। मेरी प्रार्थनाएं शोक संतप्त परिवारों के साथ हैं। बस हादसे में घायल लोगों के शीघ्र स्वस्थ होने की प्रार्थना कर रहा हूं।” केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि उन्होंने हादसे पर मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती से बात की है। महबूबा ने उन्हें बचाव अभियान की जानकारी दी। उन्होंने कहा, “बस हादसे में अपनों की जान गंवाने वाले अमरनाथ तीर्थयात्रियों के परिजनों के प्रति गहरी संवेदना है। मेरी दुआएं घायलों के साथ हैं।