राज्य

आयुक्त, रेलवे सेफ्टी ए.के.राय ने किया राबर्टसन-भुपदेवपुर-किरोडीमलनगर तीसरी लाइन का निरीक्षण

बिलासपुर:- 28 सितम्बर 2019 दक्षिण पूर्व मध्य रेल्वे द्वारा विगत कुछ वर्षों मे अपने इन्फ्रास्ट्रक्चर के विकास से जुड़े अनेक कार्य तीव्र गति से की जा रही है। इसके लिए अपने कार्यक्षेत्र के अंतर्गत आने वाले दूरदराज के क्षेत्रों मे जहाँ अब तक रेल की पटरी नही पहुंच सकी है वहां भी रेल लाईन बिछाने का कार्य लगातार कर रही है, साथ ही आवश्यकतानुसार नई रेल लाईन, दोहरी लाईन, तीसरी लाईन एवं चैथी लाईन का कार्य भी मंडलो के दूरदराज के क्षेत्रों मे युद्ध स्तर पर काम किए जा रहे हैं। इसी कडी में बिलासपुर मंडल के अंतर्गत राबर्टसन-भुपदेवपुर-किरोडीमलनगर स्टेशनों के मध्य 18.2 किमी नई तीहरीकरण लाइन का सम्पूर्ण कार्य पूरा कर लिया गया है। लाइन बिछाने के साथ ही साथ मुख्य लाइन से जोडने तथा सभी विभागीय कार्य पूरा होने के पश्चात्् आयुक्त रेलवे सेफ्टी द्वारा निरीक्षण किया जाता है तथा उनकी अनुमति के उपरांत लाइनों पर गाडियों का परिचालन प्रारंभ होता है। इस कार्य के पूर्ण होते ही चांपा-झारसुगडा के मध्य 99 किमी तीसरी लाइन कार्य की चरण पूरी हो जाएगी। नई लाइन पर यातायात प्रारंभ होने से सवारी गाडियों के परिचालन में गतिशीलता आएगी। इसी संदर्भ में एसई सर्कल के आयुक्त, रेलवे सेफ्टी श्री ए.के.राय निरीक्षण दल के साथ आज दिनांक 28 सितम्बर 2019 को उक्त लाइन का निरीक्षण के लिए राबर्टसन पहुंचे। उन्होंने उक्त नई लाइन के संबंध में अधिकारियों से गहन चर्चा की। चर्चा उपरांत उन्होंने सर्वप्रथम राबर्टसन-भुपदेवपुर तथा भुपदेवपुर-किरोडीमल तीसरी नई लाइन का मोटर ट्राली से निरीक्षण किया। मोटर ट्राली निरीक्षण पश्चात्् उन्होंने किरोडीमल से राबर्टसन तक आब्जर्वेशन कार से स्पीड ट्रायल किया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने परिचालन एवं संरक्षा से जुडे सभी पहलुओं का गहन निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान वे काफी सहज दिखे तथा निरीक्षण सराहनीय रहा। रिपोर्ट प्राप्त होने के उपरांत इस लाइन पर गाड़ियों का परिचालन प्रारंभ किया जाएगा।

आवश्यक रखरखाव कार्य होने के कारण ट्रैन रहेगी प्रभावित ये ट्रैन रहेगी रदद

बिलासपुर - 27 सितम्बर, 2019 दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के बिलासपुर-रायपुर एवं दुर्ग-गोंदिया-कलमना रेल खंडो के बीच में डाउन, मिडिल एवं अप रेल लाइनों पर मशीन के द्वारा आवश्यक रखरखाव कार्य के फलस्वरूप, दिनांक 01 से 31 अक्टूबर, 2019 (अक्टूबर माह में)तक आवश्यक रखरखाव कार्य किया जायेगा।

इस कार्य के फलस्वरुप कुछ गाड़ियों को पूर्ननिर्धारित समय पर विलंब से रवाना की जाएगी, जिसकी जानकारी इस प्रकार है :-

रदद होने वाली गाडियांः-

ऽ दिनांक 18 अक्टूबर, 2019 (शुक्रवार) को डोंगरगढ से छूटने वाली 68723 डांगरगढ-गोंदिया मेमू रदद रहेगी।

ऽ दिनांक 18 अक्टूबर, 2019, 2019 (शुक्रवार) को बिलासपुर से छूटने वाली 68727 बिलासपुर-रायपुर मेमू रदद रहेगी।

ऽ दिनांक 18 अक्टूबर, 2019, (शुक्रवार) को रायपुर से छूटने वाली 68729 रायपुर-डांगरगढ मेमू रदद रहेगी।

ऽ दिनांक 19 अक्टूबर, 2019, (शनिवार) को डोंगरगढ से छूटने वाली 68730 डांगरगढ- रायपुर मेमू रदद रहेगी।

ऽ दिनांक 18 अक्टूबर, 2019, (शुक्रवार) को रायपुर से छूटने वाली 68725 रायपुर-दुर्ग मेमू रदद रहेगी।

बीच में समाप्त होने वाली गाडियांः-

ऽ दिनांक 18 अक्टूबर, 2019, (शुक्रवार) को रायपुर से छूटने वाली 68721 रायपुर-डोंगरगढ मेमू दुर्ग में ही समाप्त होगी।

ऽ दिनांक 19 अक्टूबर, 2019, (शनिवार) को गोंदिया से छूटने वाली 68724 गोंदिया-रायपुर मेमू दुर्ग में ही समाप्त होगी।

बीच में नियत्रित होने वाली गाडियांः-

ऽ दिनांक 18 अक्टूबर, 2019, (शुक्रवार) को गेवरारोड से छूटने वाली 18239 गेवरारोड-बिलासपुर एक्सप्रेस को 01.45 घंटे नियत्रित की जायेगी।

ऽ दिनांक 18 अक्टूबर, 2019, 2019 (शुक्रवार) को टाटानगर से छूटने वाली 58111 टाटानगर-इतवारी एक्सप्रेस को 02.25 घंटे नियत्रित की जायेगी।

ऽ दिनांक 11 एवं 25 अक्टूबर, 2019 (शुक्रवार) को कुर्ला से छूटने वाली 08610 कुर्ला-हटिया स्पेशल ट्रेन को मध्य रेलवे नागपुर रेल मंडल में 01.15 घंटे नियत्रित की जायेगी।

देरी से छूटने वाली गाडियांः-

ऽ दिनांक 11 एवं 25 अक्टूबर, 2019, 2019 (शुक्रवार) को ईतवारी से छूटने वाली 58112 ईतवारी-टाटा पैसेंजर ईतवारी से 02.15 घंटे देरी से रवाना होगी।

दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे में स्वच्छ नीर थीम के दौरान अनेक स्टेशनो एवं ट्रेनों में पानी की गुणवत्ता की जांच

बिलासपुर 27 सितम्बर, 2019 स्वच्छता-पखवाडा का आयोजन के तहत आज दिनांक 27 सितम्बर, 2019 को स्वच्छ नीर थीम के दौरान दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के तीनों रेल मण्डल में स्वच्छ नीर के अंतर्गत दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के अंतर्गत आने वाले सभी जल आपूर्ती के स्रोत, स्थानो पर साफ़-सफाई सुनिश्चित के लिए विशेष अभियान चलाया गया । इसके साथ ही समस्त वाटर ट्रीटमेंट प्लांट पर, जल संग्रहण स्थानों पर, प्री एवं पोस्ट वाटर फ़िल्टर प्लांट पर पानी की गुणवत्ता के विषय में मानक के अनुसार क्वालिटी सुनिश्चित की गयी । पानी के पाईप, पानी के निकासी, संग्रहन, फिल्ट्रेशन, आदि सभी जगहों पर सफाई के साथ पानी के सेम्पल के आधार पर गुणवता पर भी कड़ी निगरानी रखी गयी । आज बिलासपुर रेल मंडल में स्वच्छ नीर थीम पर बिलासपुर रेल मंडल के सभी कार्यालयों यूनिटो रेलवे कॉलोनियों हॉस्पिटल स्कूल रेलवे स्टेशन पर सप्लाई किए जाने वाले पानी की व्यवस्था एवं उपलब्ध कराए जा रहे पानी की गुणवत्ता की जांच की गई । साथ ही बिलासपुर मंडल के स्टेशनों पर पेयजल व्यवस्था के आसपास गहन साफ-सफाई यात्रियों के लिए पानी की उपलब्धता सुनिश्चित की गई । वरिष्ठ अधिकारियों ने कई ट्रेनों में साफ-सफाई का भी निरीक्षण किया पीने के पानी के लिए चेकिंग में उपयोग आने वाले टेस्टिंग किट एवं रसायनों की उपलब्धता भी सुनिश्चित की गई केटरिंग युनिटों में खाने एवं पीने के लिए उपयोग की जा रही पानी की शुद्धता की जांच की गई। साथ ही वहां उपलब्ध बोतलबंद रेलनीर की बनने की तिथि, उपयोग करने करने की तिथि की जांच की गई तथा पानी को निर्धारित दर में ही बेचने का सख्त निर्देश दिया गया। सभी कालोनियों के पानी के टंकियों एवं कालोनियां जाकर पानी की शुद्धता की जांच की गई। स्वच्छता-पखवाडा के अंतर्गत बिलासपुर स्टेशन में मंडल वाणिज्य प्रबंधक श्री किशोर निखारे के नेतृत्व में चाइल्ड लाइन के सदस्यों द्वारा स्टेशन परिसर, प्लेटफार्म, यात्री प्रतिक्षालय, शौचालय एवं सामान्यतः ज्यादा गंदे होने वाले जगहों पर श्रमदान के तहत सफाई अभियान चलाकर यात्रियों को स्वच्छता के प्रति जागरूकता का संदेश दिया गया। अनूपपुर स्टेशन में मेगा माइंड स्कूल के नन्हे-नन्हें बच्चों द्वारा स्टेशन परिसर में नुक्कड नाटक की जीवंत प्रस्तुति देकर यात्रियों को सिंगल यूज प्लास्टिक का उपयोग नहीं करने, कचरे को डस्टबिन में डालने, स्वच्छता को अपनाने तथा सभी स्थानों को स्वच्छ रखने के प्रति जागरूकता का संदेश दिया गयां। रायपुर रेल मंडल में भी आज स्वच्छ नीर थीम पर दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे रायपुर रेल मंडल में स्वच्छता पखवाड़ा के बारहवें दिन स्वच्छ नीर -साफ पानी थीम पर कार्य किया गया जिसके तहत रायपुर रेल मंडल के सभी कार्यालयों यूनिटो रेलवे कॉलोनियों हॉस्पिटल स्कूल रेलवे स्टेशन पर सप्लाई किए जाने वाले पानी की व्यवस्था एवं उपलब्ध कराए जा रहे पानी की गुणवत्ता की जांच की गई । साथ ही रायपुर मंडल के स्टेशनों पर पेयजल व्यवस्था के आसपास गहन साफ-सफाई यात्रियों के लिए पानी की उपलब्धता सुनिश्चित की गई । वरिष्ठ अधिकारियों ने कई ट्रेनों में साफ-सफाई का भी निरीक्षण किया पीने के पानी के लिए चेकिंग में उपयोग आने वाले टेस्टिंग किट एवं रसायनों की उपलब्धता भी सुनिश्चित की गई रायपुर दुर्ग भिलाई पावर हाउस भाटापारा तिल्दा नेवरा बिल्हा सहित अन्य स्टेशनों में भी स्वच्छ पेयजल की उपलब्धता को लेकर गहन कार्यवाही की गई साथ ही यात्रियों को भी जागरूक किया गया कि पीने के पानी का जल महत्वपूर्ण है उक्त स्थानों पर हाथ मुँह ना धोएं कूल्ला ना करें पेयजल के स्थानों पर गंदगी ना करें पेयजल के स्थानों को स्वच्छ बनाए रखने में रेल प्रशासन को सहयोग करें। इसी प्रकार नागपुर रेल मण्डल में स्वच्छ नीर थीम पर आज प्रथम दिन मण्डल के सभी रेल्वे स्टेशन में अधिकारियों व रेल कर्मियों द्वारा मल्टी पैरामीटर फिल्ड टेस्ट किट के माध्यम से पानी के नमूने की जांच की तथा पीने योग्य पानी की उपलब्धता सुनिश्चित, स्टेीशनों तथा रेल गाड़ियों में भी गहन अभियान चलाकर स्वशच्छ तथा शुद्ध पेयजल यात्रियों को उपलब्ध हो सके व बोतलबंद पेयजल निर्धारित मूल्य पर बेचा जाए इस पर विशेष ध्यान दिया गया । स्वदच्छा नीर थीम के अंतर्गत दुसरे दिन दिनांक 27-09-19 को भी नामित अधिकारियों व रेल कर्मियों द्वारा मण्डल के सभी स्टेथशनों, रेल्वे परिसरों ,रेल्वे कॉलोनियों में पानी के आपूर्ति के स्त्रोतो, वॉटर टैप , ट्रेनों के भीतर पानी की व्यवस्था, वॉटर प्लांट्स, वॉटर कूलरों की व्यवस्था आदि का गहन निरीक्षण कर इन के आसपास स्वभच्छवता रहे यह सुनिश्चित करने के अलावा पानी के टँको की सफाई व स्टेटशनों के विभिन्न स्थान जैसे प्रतीक्षालय, विश्रामागृह, प्लटफॉर्म अतिरिक्त सुविधा व ट्रेनों में पीने योग्य पानी की उपलब्धता सुनिश्चित करेंगे। श्रीमती शोभना बंदोपाध्याय, मंडल रेल प्रबंधक, दक्षिण पूर्व मध्य रेल्वे, नागपुर ने सभी संबंधित अधिकारियों विशेषकर नामित अधिकारियों को निरंतर स्टेसशनों तथा रेल गाड़ियों में यात्रियों को पीने योग्य पानी की उपलब्धता तथा स्व्च्छट पानी की आपूर्ति के स्त्रोतो को सुनिश्चित कर इन से संबंधित खामियों को तुरन्त दूर करने के निर्देश दिये। दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे तीनों रेल मंडलों में स्वच्छता पखवाड़े में दिनांक दिनांक 28 सितम्बर को स्वच्छ प्रसाधन, दिनांक 29 सितम्बर को स्वच्छ प्रतियोगिता थीम पर कार्य किए जाएंगे । दिनांक 30 सितम्बर को इस दौरान किए गए कार्यों की समीक्षा की जाएगी ।

महाप्रबंधक के साथ सांसद समिति की बैठक में 7 सांसद एवं 1 सांसद प्रतिनिधि शामिल

बिलासपुर 27 सितम्बर, 2019 दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे बिलासपुर मंडल के अंतर्गत आने वाले संसदीय क्षेत्रों के माननीय सांसदों की बैठक दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के महाप्रबंधक के साथ दिनांक 27 सितम्बर 2019 को जोनल मुख्यालय के सभा भवन में रेणुका सिंह, मिनिस्टर ऑफ़ स्टेट ऑफ़ ट्राइबल अफेयर की अध्यक्षता में संपंन हुई । इस बैठक में 7 सांसद, जांजगीर-चम्पा गुहाराम अजगले, सांसद बरगड, ओड़िसा सुरेश पुजारी सांसद, बलरामपुर-रामानुजगंज राम विचार नेताम, सांसद सरगुजा, बिलासपुर अरुण साव, सांसद, रायगढ़ गोमती साय एवं सांसद शहडोल हिमाद्री सिंह उपस्थित हुईं सांसद कोरबा, के प्रतिनिधि के रूप में गुरमीत सिंह उपस्थीय हुए । सर्वप्रथम महाप्रबंधक, गौतम बनर्जी द्वारा इस बैठक में माननीय सांसदों का स्वागत किया गया तथा रवीश कुमार सिंह, उप महाप्रबंधक (सामान्य) एवं मुख्य जन-संपर्क अधिकारी द्वारा सभी का अभिवादन करते हुए उपस्थित सभी अधिकारियों द्वारा अपना-अपना परिचय देने का अनुरोध किया गया | इसके उपरान्त सचिव हिमांशु जैन द्वारा पावर प्रजेंटेशन के माध्यम से दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे की उपलब्धियों, योजनाओं एवं विलासपुर मंडल के अंतर्गत आने वाले स्टेशनों पर उपलव्ध यात्री सुविधाओं, विकास कार्यों एवं उपलव्धियों के बारे में विस्तार पूर्वक बताया गया । बैठक में सर्व प्रथम महाप्रबंधक गौतम बनर्जी के द्वारा द्वागत उद्बोधन में सभी सांसदों का स्वागत एवं अभिवादन करते हुए दक्षिण पूर्व मध्य रेल्वे द्वारा सर्वाधिक लदान करने के साथ साथ बेहतर से बेहतर यात्री सुविधाए उपलब्ध कराने के प्रति प्रतिबद्धता को दोहराया एवं स्टेशनों पर यात्री सुविधाओं के व्योरा रखा | उन्होंने बिलासपुर उसलापुर स्टेशन को और अधिक युक्त बनाने की कही | पूरे देश में चल रहे प्लास्टिक के उपयोग को बंद करने हेतु अभियान एवं स्वच्छता पखवाड़ा चलाकर स्वच्छता के प्रति जागरूकता फ़ैलाने की प्रतिबद्धता की भी चर्चा की | उन्होंने अपने संक्षिप्त उद्बोधन में अधिक से अधिक स्टेशनों पर प्लेटफार की ऊँचाई बढाने तथा सभी स्टेशनों में FOB निर्माण कराये जाने की योजना के भी बात रखी | महाप्रबंधक ने सभी सांसदों को अपने-अपने क्षेत्र की जनता की आकांक्षाएं एव अपेक्षाओं को रेल प्रशासन को अवगत कराने एवं विकासात्मक सुभाव देने के लिए धन्यवाद दिया, सभी के सुझाव/विकास कार्यों में से अपने स्तर के विकास कार्यों को पूरा करने का हर संभव प्रयास करने तथा बोर्ड स्तर के कार्यों को स्वीकृति के लिए मंत्रालय भेजने के प्रति आश्वस्त किया । इस बैठक में सर्व प्रथम सांसद, जांजगीर-चम्पा गुहाराम अजगले ने चम्पा-जांजगीर, नैला स्टेशनों के और अधिक विकास, बलौदा, कोतमीसोनार, कांपन, अकलतरा, सकती सहित अपने संसदीय क्षेत्र के अनेक स्टेशनों पर FOB, प्लेटफार्मों की ऊँचाईएवं लम्बाई बढ़ाने, स्टेशनों पर पहुँच मार्ग, ट्रेनों की संख्या बढ़ाने सम्बंधित दिए गए एजेंडों पर चर्चा की गयी | सांसद, बलरामपुर-रामानुजगंज राम विचार नेताम ने महाप्रबंधक के प्रथम बार छतीसगढ़ पदस्थ होने की शुभकामनाएं देते हुये रेलवे में की जा रही स्वच्छता की सराहना की और रेलवे में ग्रीन बेल्ट बनाने के प्रयास के प्रशंसा की | उन्होंने सर्वाधिक लदान एवं आय देने वाली रेलवे जोन होने के नाते इस क्षेत्र एवं यहाँ की जनता के योगदान को ध्यान में रखते हुए कार्य करने की चर्चा की | विशेषकर अबिकपुर-दुर्ग एक्सप्रेस के विषय में कई विकासात्मक सुझाव दिए | सांसद बरगड, ओड़िसा श्री सुरेश पुजारी ने ब्रजराजनगर एवं बेलपहाड़ स्टेशन को और अधिक विकास के लिए पूर्व में भेजे गए मुद्दों पर चर्चा की | सांसद, बिलासपुर अरुण साव ने उसलापुर की यात्री सुविधाओं को और बढ़ने पर बल दिया तथा कहा की कुछ वर्ष पूर्व की तुलना में अब रेलवे का काम सभी जगह दिखने लगा है, इससे यहाँ की लोगों की अपेक्षाए और बढेंगी, उन अपेक्षाओं के साथ साथ रेलवे को और अधिक तेजी से चलनी पड़ेगी | उन्होंने यात्री गाड़ियों में सामान्य श्रेणी के कोचों की संख्या बढ़ाने की मांग, कुछ ट्रेनों के फेरे बढ़ाने की मांग रखी | सांसद, रायगढ़ गोमती साय ने रायगढ़, जशपुर, क्षेत्र के स्टेशनों पर यात्री सुविधाओं पर चर्चा की एवं जहां आज रेल की पहुँच नहीं है वहां भी रेल की सुविधा उपलब्ध करने पर बल दिया | उन्होंने हर संभव मदद करने की बात कहते हुए बोर्ड स्तर के मुद्दों की जानकारी समय रहते देने की बात की ताकि वे मंत्रालय स्तर पर भे सुविधा हेतु दबाव बना सके | सांसद शहडोल हिमाद्री सिंह ने शहडोल स्टेशन पर स्थानीय कलाकृति को उकेरे जाने की बात कही | उनहोंने अपने संसदीय क्षेत के स्टेशनों जैसे हरद, दुर्वासिन, उमरिया आदि जैसे स्टेशनों पर यात्री सुविधा के साथ अतिरिक्त FOB, डिस्प्ले बोर्ड, आदि के साथ सभी गाड़ियों में नए LHB कोच के द्वारा परिचालित करने कई सलाह दी | इसी प्रकार सांसद कोरबा, के प्रतिनिधि के रूप में गुरमीत सिंह के द्वारा सांसद के द्वारा भेजे गए एजेंडे को रखा | महाप्रबंधक ने सभी सांसदों को अपने-अपने क्षेत्र की जनता की आकांक्षाएं एव अपेक्षाओं को रेल प्रशासन को अवगत कराने एवं विकासात्मक सुभाव देने के लिए धन्यवाद दिया साथ ही बैठक में उठाए गए सभी सुझाव/विकास कार्यों में से अपने स्तर के विकास कार्यों को पूरा करने का हर संभव प्रयास करने तथा बोर्ड स्तर के कार्यों को स्वीकृति के लिए मंत्रालय भेजने के प्रति आश्वस्त किया। इस बैठक में मुख्यालय के सभी विभागाध्यक्ष, मंडल रेल प्रबंधक आर.राजगोपाल, सहित सचिव हिमांशु जैन एवं मंडल के सभी शाखाधिकारी उपस्थित थे। सचिव के द्वारा बैठक को सफल बनाने हेतु सभी अधिकारियों एवं कर्मचारियों को बधाई दी तथा बैठक में आकर अच्छे सुझाव देने हेतु सभी सांसदों का आभार व्यक्त किया।

दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे द्वारा स्वच्छता पखवाड़ा के अंतर्गत “स्वच्छ रेल स्वछ भारत” थीम पर रंगोली प्रतियोगिता का आयोजन ।

बिलासपुर 26 सितम्बर 2019 : स्वच्छता पखवाड़ा के अंतर्गत मुख्यालय कार्मिक विभाग द्वारा आयोजित दिनांक 25.09.2019 को मुख्यालय एवं निर्माण विभाग में कार्यरत अराजपत्रिक कर्मचारियों के लिए “स्वच्छ रेल स्वछ भारत” थीम पर रंगोली प्रतियोगिता का आयोजन किया गया था । इस प्रतियोगिता में पुरुष एवं महिला कर्मचारियों ने बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया एवं रेल परिसर को, रेल गाड़ियों कों, स्टेशनों को एवं कार्यालयों को स्वच्छ रखने के लिए जागरुकता संदेश रंगोली के माध्यम से दिया । प्रतियोगिता में कुल 11 टीमों ने भाग लिया । इस प्रतियोगिता में प्रथम स्थान पर श्रीमति सुमी अजय एवं कुन्दन शिंदे, सामान्य प्रसासन , दूसरे स्थान पर सलमा एवं शाहीन/ भंडार विभाग, तीसरा स्थान पर मोनाली भट्टाचारजी एवं प्रियंजली/ निर्माण विभाग, प्रेरणा पुरस्कार (I) उषा कल्याणी एवं मीनू चाको/ चिकित्सा विभाग एवं प्रेरणा पुरस्कार (II) रुना लैला एवं माहेश्वरी प्रधान/ कार्मिक विभाग ने हासिल किया । श्रीमति रश्मि गौतम Dy.COM/Plg., श्रीमती शिवरंजनी पोपली वर्मा Dy.CSTE एवं कु. अनुभा प्रकाश DSTE(CIC)/BSP निर्णायक मंडली में शामिल थे । स्वच्छता पखवाड़ा समाप्ती के पश्चात उक्त टीमों को नगद पुरस्कार से पुरस्कृत किया जाएगा । उपरोक्त प्रतियोगिता को मुख्यालय कार्मिक विभाग के कल्याण शाखा के सभी कर्मचारियों के सहयोग से सफल बनाया गया ।

दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे में पर्यावरण की बेहतरी के लिये द्पूम रेलवे ने नर्सरी विकसित की 11 रेलवे बोर्ड द्वारा दिए गए

बिलासपुर 26 सितम्बर , 2019 : भारतीय रेल्वे द्रारा पर्यावरण संतुलन हेतु रेल्वे भूमि तथा पटरियों के किनारे सभी जमीनो पर विभिन्न जोनल रेल्वे में नर्सरिया स्थापित की जा रही है । इसी क्रम में द्पूम रेल्वे द्वारा लगभग 45 हजार वर्ग फुट जगह में तीनों मंडलो बिलासपुर, रायपुर, नागपुर में 11 जगहो पर नर्सरी विकसित किया गया है । जबकि रेलवे बोर्ड द्वारा 8 नर्सरी विकसित कर पौधारोपण का कार्य करने हेतु निर्देश प्रापत हुआ था । इन विकसित की गयी नर्सरियों का विवरण इस प्रकार है - • बिलासपुर मंडल में 3 नर्सरी विकसित की गयी– सूरजपुर में 433 वर्ग मीटर के क्षेत्र में, सिंगपुर / शहडोल में 208 वर्ग मीटर के क्षेत्र में एवं रायगढ़ में 202 वर्ग मीटर के क्षेत्र में । • रायपुर मंडल में 3 नर्सरी विकसित की गयी – RVH कालोनी में 750 वर्ग मीटर के क्षेत्र में, RVH केबिन में 623 वर्ग मीटर के क्षेत्र में, एवं देव बलौदा चरोदा BMY में 400 वर्ग मीटर के क्षेत्र में, • इसी प्रकार नागपुर मंडल में 5 नर्सरी विकसित की गयी – नागभीड़ यार्ड में स्टेशन के पास 750 वर्ग मीटर के क्षेत्र में, छिंदवाडा विश्रामगृह के पास 216 वर्ग मीटर के क्षेत्र में, नैनपुर ले प्लेटफार्म के पास 560 वर्ग मीटर के क्षेत्र में डोंगरगढ़ के सुखानाला फाटक के पास 210 वर्ग मीटर के क्षेत्र में एवं कल्मना स्टेशन में पैनल रूम के उत्तर की और एक नर्सरी 1500 वर्ग मीटर की विकसित की गयी जिसमें सैकड़ों फलदार वृक्षों,फूल के एवं छ्या दर वृक्षों की नर्सरी विकसित की गयी ताकि इन नर्सरी में विकसित किये गये पौधों को रेलवे के खाली पड़े जमीन में कालोनियों के रास्तों के किनारे, बगीचों व् गार्डन में तथा ट्रैक के किनारे सीधे रोपित किये जासकेंगे । इस प्रकार की नर्सरी विकसित कर लेने से पौधा रोपण के लिए पौधा तैयार करने एवं खरीदने का रेवेन्यु में काफी बचत होगी एवं समय भी कम लगेगा । पौधों की उचित देखभाल हेतु पूरी व्यवस्था की गई है । पौधों की उपलब्धता हेतु अन्य एजेंसी या प्रायवेट नर्सरी पर कोई निर्भता नहीं होगी । रेलवे बोर्ड के निर्देशानुसार रेलवे लाईन के बगल में विकसित किये गये नर्सरी आने वाले समय में निश्चित ही अत्यंत उपयोगी साबित होगी । प्रत्येक रेलवे कर्मचारी को रेलवे नर्सरी से विकसित किये गये पौधों का वितरण मुफ्त में रोपण हेतु दिया जाएगा ताकि वे अपने आस-पास के जगहों में वृक्षारोपण के प्रति जागरूप हो सकें । इससे न केवल पर्यावरण के प्रति लोगों में चेतना जागृत होगी और वातावरण भी प्रदूषण रहित होगा । विकसित किये गए इन नर्सरी में पौधों के प्रमुख इस प्रकार है - 1. फलदार पौधे : आम, जामुन, सीताफल, अनार, चीकू, बादाम, अमरूद, ऑंवला, कटहल आदि । 2. फूलदार एवं छायादार, पत्तेदार पौधे : मोगरा, गुलाब, जरबेरा, रजनीगंधा, कोलियस, एकलीफा, जिनिया, सेवन्ती, टिकोमा, डहलिया, कनेर, अमलताश, कचनार आदि | 3. एवेन्यू प्लांट - शीशम, सागौन, नीम, कदम, करंज, अर्जुन आदि के पौधे | 4. सड़क किनारे लगाने हेतु पौधे - तबोबिया , रोजिया, गुलमोहर, पेल्टाफार्म, बहुनिया, अमलताश, इन पौधों के अलावे विभिन्न प्रकार के सिजनल फ्लावर, मेडिसिनल प्लांट भी इन नर्सरी में रखा गया है ।

बिलासपुर स्टेशन के नागपुर छोर में बन रहे एंड टू एंड फुटओवर ब्रिज के तीसरे गर्डर को सफलतापूर्वक स्थापित किया गया

रेलवे प्रशासन द्वारा संरक्षा संबंधित सभी कार्यों को प्राथमिकता के आधार पर पूरा करने की दिशा में तीव्र गति से कार्य किया जा रहा है। बिलासपुर स्टेशन के नागपुर छोर में स्टेशन के दोनों तरफ सीधा आवागमन सुविधा उपलब्ध कराने हेतु 205 मीटर लंबी तथा 2.5 मीटर चौड़ी एंड टू एंड (Through)फुटओवर ब्रिज का निर्माण किया जा रहा है। इस फुटओवर ब्रिज निर्माण कार्य को तीव्रगति से पूरा करने हेतु इसमें गर्डर स्थापित करने का कार्य चरणबद्ध तरीके से किया जा रहा है। दो गर्डर को सफलतापूर्वक स्थापित किया जा चुका है। इसी कड़ी में फुटओवर ब्रिज के तीसरे गर्डर को स्थापित करने हेतु ब्लॉक लिया गया। इस दौरान अधिकारियों के नेतृत्व में कर्मचारियों द्वारा सजगता एवं सतर्कता से कार्य करते हुये इस 25.2 मीटर लंबे व 30 टन वजनी गर्डर को 140 टन क्षमता वाली क्रेन की सहायता से सफलता पूर्वक स्थापित किया गया। गर्डर स्थापित करने के दौरान यात्रियों की सुविधा का विशेष ध्यान रखा गया और किसी भी यात्री गाड़ियों का परिचालन प्रभावित नहीं हुआ

स्वच्छ नीर थीम पर पेयजल की उपलव्धता एवं शुद्धता की जांच की गई

स्वच्छता-पखवाडा के 11वें दिन आज दिनांक 26 सितम्बर 2019 को स्वच्छ नीर थीम पर स्टेशनों में पानी की व्यवस्था, आपूर्ति के स्रोत, पीने के पानी के स्थानों का गहन निरीक्षण किया गया। बिलासपुर स्टेशन में नामित अधिकारियों एवं पर्यवेक्षकों द्वारा स्टेशन में उपलव्ध कराई गई पेयजल व्यवस्था, पेयजल की शुद्धता एवं वाश बेसिन, हाईड्रेंड पाइप, कोच में पानी भरने के स्थानों की साफ-सफाई का गहन निरीक्षण किया। सभी प्लेटफार्म में उपलव्ध वाटर बूथ, वाटर कूलर तथा वाटर टैप से पानी का नमूना लेकर उसकी शुद्धता के साथ ही साथ पानी की आपूर्ति एवं साफ-सफाई का निरीक्षण किया। केटरिंग युनिटों में खाने एवं पीने के लिए उपयोग की जा रही पानी की शुद्धता की जांच की गई। साथ ही वहां उपलब्ध बोतलबंद रेलनीर की बनने की तिथि, उपयोग करने करने की तिथि की जांच की गई तथा पानी को निर्धारित दर में ही बेचने का सख्त निर्देश दिया गया। सभी कालोनियों के पानी के टंकियों एवं कालोनियां जाकर पानी की शुद्धता की जांच की गई। स्वच्छता-पखवाडा के अंतर्गत बिलासपुर स्टेशन में मंडल वाणिज्य प्रबंधक श्री किशोर निखारे के नेतृत्व में चाइल्ड लाइन के सदस्यों द्वारा स्टेशन परिसर, प्लेटफार्म, यात्री प्रतिक्षालय, शौचालय एवं सामान्यतः ज्यादा गंदे होने वाले जगहों पर श्रमदान के तहत सफाई अभियान चलाकर यात्रियों को स्वच्छता के प्रति जागरूकता का संदेश दिया गया। अनूपपुर स्टेशन में मेगा माइंड स्कूल के नन्हे-नन्हें बच्चों द्वारा स्टेशन परिसर में नुक्कड नाटक की जीवंत प्रस्तुति देकर यात्रियों को सिंगल यूज प्लास्टिक का उपयोग नहीं करने, कचरे को डस्टबिन में डालने, स्वच्छता को अपनाने तथा सभी स्थानों को स्वच्छ रखने के प्रति जागरूकता का संदेश दिया गयां इसके अलावा शहडोल, अनूपपुर, उमरिया, अम्बिकापुर, पेंड्रारोड, अकलतरा, चांपा, कोरबा, रायगढ स्टेशनों सहित मंडल के सभी स्टेशनों में उपलव्ध कराई गई पेयजल व्यवस्था, पेयजल की शुद्धता, वाश बेसिन, कोच में पानी भरने के स्थानों की साफ-सफाई का गहन निरीक्षण किया। सभी प्लेटफार्म में उपलव्ध वाटर बूथ, वाटर कूलर तथा वाटर टैप से पानी का नमूना लेकर उसकी शुद्धता की जांच की गई तथा पानी की आपूर्ति एवं साफ-सफाई व्यवस्था का निरीक्षण किया गया। सभी कालोनियों के पानी के टंकियों एवं कालोनियां जाकर पानी की शुद्धता की जांच की गई।

ट्रैन में करने जा रहे है सफर तो ये खबर है आपके लिए ये गाड़ियां रहेगी प्रभावित

संबलपुर मंडल में दूसरी लाईन का कार्य किया जा रहा है इसके फलस्वरूप कुछ गाड़ियों का परिचालन प्रभावित रहने की घोषणा की गयी थी रेल प्रशासन के द्वारा रदद बिलासपुर-टिटलागढ पैसेंजर को बिलासपुर एवं रायगढ के बीच चलेगी।

बिलासपुर -26 सितम्बर 2019

ईस्ट कोस्ट रेलवे के संबलपुर मंडल के खलियापाली-लोसिंघा स्टेशनों के मध्य दोहरीकरण परियोजना कार्य हेतु दिनांक 24 सितम्बर से 03 अक्टूबर 2019 तक प्री इंटरलॉकिंग/नॉन इंटरलॉकिंग का कार्य किया जाने की घोषणा की गयी थी। इसके फलस्वरूप 58214/58213 बिलासपुर-टिटलागढ-बिलासपुर पैसेंजर सहित कुछ गाड़ियों का परिचालन प्रभावित रहने की घोषणा की गयी थी।

रेल प्रशासन के द्वारा रेल यात्रियों की सुविधाओं एवं त्यौहारी सीजन को ध्यान में रखते हुए रदद 58214/58213 बिलासपुर-टिटलागढ-बिलासपुर पैसेंजर को दिनांक 27 सितम्बर से 03 अक्टूबर, 2019 तक इस गाडी का परिचालन बिलासपुर एवं रायगढ के बीच रहेगा।

नवरात्रि के अवसर पर डोंगरगढ़ मेले के दौरान दर्शनार्थियों के लिए रेलवे ने की अतिरिक्त सुविधा हेतु आवश्यक व्यवस्था

प्रत्येक वर्ष की भांति इस वर्ष भी मॉ बम्लेश्वरी मंदिर, डोंगरगढ में नवरात्रि पर्व (29.09.19 से 07.10.19) के दौरान ट्रेनों मे दर्शनार्थियों की अतिरिक्त भीड़ को कम करने एवं यात्रियों की सुविधा हेतु आवश्यक व्यवस्था की गई हैं जो इस प्रकार है - अस्थायी ठहराव;- उपरोक्त गाड़ियों के डोंगरगढ़ व रायपुर तक अस्थायी विस्तार के साथ ही साथ कुछ दूरगामी एक्सप्रेस ट्रेनों का भी डोंगरगढ़ में 29 सितम्बर से 07 अक्टूबर, 2019 तक अस्थायी ठहराव दिया जा रहा हैं जो निम्नानुसार है :- विस्तारित की गई गाड़ियां:- डोंगरगढ़ तक अस्थायी तौर पर 29 सितम्बर से 07 अक्टूबर, 2019 तक विस्तारित की गई है;- 58208 जुनागड रोड-रायपुर पैसेंजर, 58204 रायपुर-गेवरारोड पैसेंजर को डोगरगढ़ तक, 68741/68742 दुर्ग-गोंदिया-दुर्ग मेमू को रायपुर तक विस्तारित की जा रही है। 08684/08683 डोंगरगढ -ईतवारी-डोंगरगढ मेला स्पेशल पैसेंजर की सुविधा प्रदान की जा रही है। 68741 दुर्ग-गोंदिया मेमूं, 68742 गोंदिया-दुर्ग मेमू को रायपुर तक विस्तारित की जा रही है। 08684/08683 डोंगरगढ -ईतवारी-डोंगरगढ मेला स्पेशल पैसेंजर की सुविधा दिनांक 29 सितम्बर से 07 अक्टूबर, 2019 तक प्रदान की जायेगी।