राजधानी

छत्तीसगढ़ एनएसयूआई द्वारा रायपुर जिला के सिविल लाइन थाने में कुरूद विधायक अजय चंद्राकर के खिलाफ एफ आई आर दर्ज कराने के लिए आकाश शर्मा सहित कार्यकर्ता पहुंचे थाने

छत्तीसगढ़ एनएसयूआई द्वारा आज रायपुर जिला के सिविल लाइन थाने में कुरूद विधायक अजय चंद्राकर के खिलाफ एफ आई आर दर्ज कराने के लिए प्रदेश अध्यक्ष आकाश शर्मा एवं अन्य कार्यकर्ता गण पहुंचे दरअसल अजय चंद्राकर द्वारा आधिकारिक टि्वटर अकाउंट से छत्तीसगढ़ के राजकीय चिन्ह पर गोबर लगाने की बात कही गई है इसी को देखते हुए आज छत्तीसगढ़ एनएसयूआई द्वारा विधायक अजय चंद्राकर के खिलाफ एफ.आई.आर दर्ज कराने के लिए प्रदेश एनएसयूआई की टीम पहुंची एवं अजय चंद्राकर के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गई। प्रदेश अध्यक्ष आकाश शर्मा ने कहा की विधायक अजय चंद्राकर की मानसिक हालत हमें खराब नजर आ रही है तभी वह इस प्रकार की अभद्र टिप्पणी राजकीय चिन्ह के ऊपर कर रहे हैं हम यह मांग करते हैं की राज्य सरकार विधायक अजय चंद्राकर का मानसिक इलाज करवाएं और यदि सरकार इलाज नहीं करवा रही है तो एनएसयूआई के द्वारा चंदा इकट्ठा करके अजय चंद्राकर का मानसिक इलाज करवाया जाएगा और हम आज उनके ऊपर राजकीय सम्मान को ठेस पहुंचाने के तहत एफ.आई.आर की मांग करते हैं।। इस कार्यक्रम में प्रदेश अध्यक्ष आकाश शर्मा प्रदेश उपाध्यक्ष भावेश शुक्ला जिला अध्यक्ष अमित शर्मा प्रदेश महासचिव नीरज पांडे प्रदेश सचिव हनी बग्गा, हेमंत पाल, अरुणेश मिश्रा प्रदेश प्रवक्ता तुषार गुहा जिला कार्यकारिणी अध्यक्ष कृष्णा सोनकर जिला महासचिव संकल्प मिश्रा, शुभम पांडे, विशाल दुबे, लक्षित तिवारी, मेहताब हुसैन, केशव सिन्हा, मनीष पटेल आदि।

शर्तों के अधीन राज्य में खुलेंगे क्लब, शॉपिंग माल, रेस्टोरेंट और होटल.

स्पोर्टिंग काम्पलेक्स एवं स्टेडियम में केवल खेल गतिविधियां, दर्शकों को प्रवेश की अनुमति नहीं

सिनेमा हॉल, जिम, स्वीमिंग पूल, मनोरंजन पार्क, थिएटर, बार एवं ऑडिटोरियम एसेम्बली हॉल और इस प्रकार के अन्य स्थान रहेंगे बंद  राज्य शासन ने जारी किया आदेश

रायपुर, 25 जून 2020 मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने जनसामान्य की सुविधा एवं व्यावसायियों की मांग के मद्देनजर राज्य में क्लबों, शॉपिंग माल, रेस्टोरेंट और होटलों को शर्तों के अधीन संचालन की अनुमति देने का निर्णय लिया है। मुख्यमंत्री के निर्देश पर आज सामान्य प्रशासन विभाग के सचिव डॉ. कमलप्रीत सिंह ने इन संस्थानों के संचालन के संबंध में आदेश जारी किया है। आदेश के अनुसार क्लबों, शॉपिंग माल, रेस्टोरेंट, होटल संचालन के लिए पूर्व निर्धारित अनुमति तथा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग भारत सरकार द्वारा जारी एसओपी की शर्तों और सोशल-फिजिकल डिस्टेंस का पालन करना अनिवार्य होगा। सिनेमा हॉल, जिम, स्वीमिंग पूल, मनोरंजन पार्क, थिएटर, बार एवं ऑडिटोरियम एसेम्बली हॉल एवं इस प्रकार के अन्य स्थान बंद रहेंगे। 

    जारी आदेश के तहत शॉपिंग माल के भीतर गेमिंग आरकेड, बच्चों के लिए प्ले एरिया बंद रहेगा। इसी तरह स्पोर्टिंग काम्पलेक्स एवं स्टेडियम में केवल खेल गतिविधियां संचालित हो सकेंगी। दर्शकों को प्रवेश की अनुमति नहीं होगी। भीड़-भाड़ वाले सार्वजनिक आयोजनों पर पूर्वानुसार प्रतिबंध जारी रहेगा। किसी क्षेत्र के कन्टेंनमेंट घोषित होने की दशा में शासन द्वारा कन्टेंनमेंट जोन में केवल अत्यावशक सेवाओं की अनुमति होने के संबंध में जारी निर्देश प्रभावी होंगे तथा अतिरिक्त अनुमति प्राप्त गतिविधियों को निष्पादित करने की अनुमति कन्टेंनमेंट जोन में नहीं होगी। पूर्व में जारी अन्य निर्देश यथावत लागू रहेंगे। 

कुशाभाऊ ठाकरे पत्रकारिता एवं जनसंचार विश्वविद्यालय, रायपुर, द्वरा ऑनलाइन योग प्रतियोगिता

कुशाभाऊ ठाकरे पत्रकारिता एवं जनसंचार विश्वविद्यालय, रायपुर, छत्तीसगढ़ एक भारत श्रेष्ठ भारत योजना एवं खेलकूद विभाग, रायपुर - 21 जून 2020 अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर ऑनलाइन योग प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है। इस प्रतियोगिता में विश्वविद्यालय के समस्त कॉलेजो के छात्र- छात्राएँ भाग ले सकते हैं। प्रतियोगिता में भाग लेने वाले विद्यार्थी को अपना कोई पांच योगाभ्यास करते 3 मिनट का वीडियो दिए गए मेल अथवा व्हाटसअप नम्बर पर भेजना होगा। उत्कृष्ट प्रदर्शन के आधार पर प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय आने वाले विद्यार्थियों को पुरस्कृत किया जाएगा। समस्त प्रतिभागियों को ई- सर्टिफिकेट दिया जाएगा। प्रतियोगिता के नियम: 1. भारत सरकार द्वारा जारी "योगा प्रोटोकॉल पीडीएफ" में दिए गए योगाभ्यास में से ही करना है। 2.पांच योगासनों में एक योगाभ्यास खड़े होकर, दूसरा घुटनों के बल, तीसरा बैठकर, चौथा आसन पेट के बल लेटकर, एवं पांचवा पीठ के बल लेटकर करना है। 3. वीडियो केवल 3 तीन मिनट का होना चाहिए। 4. वीडियो के प्रारंभ में विद्यार्थी अपना नाम, कक्षा एवम कॉलेज का नाम बतावें फिर योगाभ्यास आरम्भ करें। 5. योगाभ्यास प्रॉपर किट (लोवर, हाफ पैंट, टीशर्ट) में प्रदर्शित किए जाए। 6. सभी प्रतिभागियों को जो उपरोक्तानुसार अपना वीडियो भेजकर प्रतियोगिता में भाग लेंगे उन्हें ई सर्टिफिकेट दिया जावेगा। 7. वीडियो भेजने की अंतिम तिथि 21 जून 2020 शाम 5 बजे तक। 8. प्रतियोगिता हेतु व्हाट्सएप नम्बर 94257 55699 ईमेल drnarendra88@gmail.com

माहामारी के दौर में राहुल गांधी के जन्मदिन पर रक्तदान कर चिकित्सा के क्षेत्र में एनएसयूआई का अतुल्य योगदान

रायपुर 19 जून 2020, छत्तीसगढ़ प्रदेश NSUI द्वारा जननेता राहुल गांधी जी के जन्मदिन पर प्रदेश भर में रक्तदान शिविर का आयोजन किया, राजधानी रायपुर में प्रदेश अध्यक्ष आकाश शर्मा के नेतृत्व में रायपुर में रक्तदान हुआ। रायपुर जिले में 147 लोगो ने रक्तदान किया, इस दौरान पीसीसी के प्रभारी महामंत्री चंद्रशेखर शुक्ला, संचार विभाग अध्यक्ष शैलेष नितिन त्रिवेदी, मोर्चा प्रकोष्ठ प्रभारी गुरमुख सिंह होरा, किरणमयी नायक, शकुन डहरिया (धर्मपत्नी मंत्री शिव कुमार डहरिया) जी इस कार्यक्रम में शामिल हुए। प्रदेश मुख्यालय द्वारा प्राप्त जानकारी के अनुसार प्रदेशभर में आयोजित रक्तदान शिविरों के माध्यम से कुल 417 लोगो ने रक्तदान किया हैं। इस दौरान एनएसयूआई अध्यक्ष आकाश शर्मा, उपाध्यक्ष भावेश शुक्ला, जिला अध्यक्ष अमित शर्मा, सचिव हनी बग्गा, हेमन्त पाल, आदित्य बिसेन, कार्य. अध्यक्ष कृष्णा सोनकर, भक्कू कश्यप सहित समस्त पाधिकारियों ने रक्तदान कर माहामारी के दौर में समाज अतुल्य योगदान दिया। अध्यक्ष आकाश शर्मा ने कहाँ देश आज माहामारी के दौर से जूझ रहा हैं राहुल जी के दिखाए रास्ते पर चलकर आज हमारे साथियों ने आपातकाल के दौर में ब्लड बैंक में आ रही कमी को पूरा करने के लिए प्रदेश भर में रक्तदान किया हैं, यह चिकित्सा के क्षेत्र में इस दौर में बड़ी राहत होगा।

रोका-छेका प्रथा पर प्रभावी अमल के लिए आज 19 जून से प्रदेश भर में होगी चर्चा : ग्रामीण और शहरी पशुपालक खुली चराई रोकने व सड़कों को मवेशीमुक्त बनाने करेंगे मंथन

रायपुर. 17 जून 2020 फसलों की सुरक्षा और बहुफसली क्षेत्र के विस्तार के लिए रोका-छेका प्रथा पर प्रभावी अमल सुनिश्चित करने 19 जून से 30 जून तक प्रदेश भर में लोग चर्चा करेंगे। ग्रामीण और शहरी पशुपालक खुली चराई रोकने और सड़कों को मवेशीमुक्त बनाने के उपायों और रणनीतियों पर मंथन करेंगे। वे इस दौरान फसलों को चराई से बचाने मवेशियों का रोका-छेका करने शपथ भी लेंगे। गौठानों में विविध आयोजनों के जरिए कृषि एवं संबद्ध क्षेत्रों की योजनाओं से किसानों को लाभान्वित किया जाएगा।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने खुली चराई से खेती को होने वाले नुकसान को रोकने परंपरागत रोका-छेका प्रथा पर गंभीरता से अमल करने की अपील की है। उन्होंने कहा है कि इससे पूरे वर्ष भर खेती संभव होगी और बहुफसली क्षेत्रों का विस्तार होगा। रोका-छेका से खेतों, बाड़ियों और उद्यानों की सुरक्षा के साथ पशुधन भी सुरक्षित रहेंगे।

कृषि, पंचायत एवं ग्रामीण विकास तथा नगरीय प्रशासन विभाग ने मैदानी अधिकारियों को गांवों और शहरों में इस बारे में लोगों को जागरूक करने, आपसी चर्चा और समन्वय से पशुओं की व्यवस्थित चराई के उपाय करने कहा है। इसमें नरवा, गरवा, घुरवा, बारी योजना के तहत गांव-गांव में स्थापित गौठान महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे। खेती के लिए जैविक खाद उपलब्ध कराने के साथ ही गौठान ग्रामीणों के लिए आजीविका केंद्र के रूप में विकसित हो रहे हैं।

सभी गांवों में 19 जून से 30 जून तक कृषि और किसानों से संबंधित विभिन्न गतिविधियों का आयोजन किया जाएगा। ग्रामीणों के बीच रोका-छेका पर प्रभावी अमल के उपायों पर चर्चा के साथ ही गौठानों में उत्पादित कम्पोस्ट खाद का वितरण तथा स्वसहायता समूहों द्वारा उत्पादित सामग्रियों का प्रदर्शन किया जाएगा। गौठानों में पशु चिकित्सा तथा पशु स्वास्थ्य शिविर का आयोजन कर पशुओं का टीकाकरण किया जाएगा। कृषि तथा पंचायत विभाग ने कृषि, पशुपालन और मछलीपालन की विभिन्न योजनाओं का लाभ हितग्राहियों को देते हुए गौठानों में पैरा संग्रहण एवं भण्डारण की मुहिम चलाने के निर्देश दिए हैं। मानसून के दौरान वर्षा ऋतु में वृक्षारोपण के लिए संकल्प भी लिए जाएंगे। गांवों और गौठानों में आयोजित कार्यक्रमों और गतिविधियों में कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने सभी सावधानियां बरतने के निर्देश दिए गए हैं। इन आयोजनों में एक-दूसरे से शारीरिक दूरी बनाए रखना तथा मास्क या कपड़े से मुंह ढंकना सुनिश्चित करने कहा गया है।

नगरीय क्षेत्रों को भी आवारा पशु से मुक्त, साफ-सुथरा एवं दुर्घटना मुक्त रखने के लिए 19 जून से 30 जून तक प्रदेश के सभी नगरीय निकायों में ‘‘रोका-छेका संकल्प अभियान’’ चलाया जाएगा। इस दौरान पशुपालकों से अपने आसपास के वातावरण तथा शहर को स्वच्छ, साफ-सुथरा तथा दुर्घटनामुक्त रखने के लिए संकल्प पत्र भरवाया जाएगा। इसके लिए नगरीय निकायों में मुनादी कर व्यापक प्रचार-प्रसार किए गए हैं।
 

छत्तीसगढ़ राज्य के महामहिम राज्यपाल सुश्री अनुसुइया उइके से महन्त रामसुन्दर दास जी महाराज ने सौजन्य मुलाकात की.......

छत्तीसगढ़ राज्य के महामहिम राज्यपाल सुश्री अनुसुइया उइके से श्री दूधाधारी मठ पीठाधीश्वर राजेश्री डॉक्टर महन्त रामसुन्दर दास जी महाराज ने सौजन्य मुलाकात की एवं दर्शन के लिए श्री दूधाधारी मठ से संबंधित स्थानों में पधारने का आग्रह किया। विदित हो कि श्री दूधाधारी मठ पीठाधीश्वर राजेश्री महन्त जी महाराज ने रायपुर स्थित महामहिम राज्यपाल के निवास राजभवन पहुंचकर उन से सौजन्य मुलाकात की एवं उन्हें अपने द्वारा रचित श्री दूधाधारी मठ एक परिचय स्मृति ग्रंथ तथा सुखद -सफल जीवन सूत्रम् नामक ग्रंथ भेंट स्वरूप प्रदान किया, इस बीच उन्होंने महामहिम जी से औपचारिक वार्तालाप के तहत श्री दूधाधारी मठ एवं उससे संबंधित स्थान श्री जैतू साव मठ, प्राचीन जगन्नाथ मंदिर पुरानी बस्ती रायपुर, श्री शिवरीनारायण मठ तथा श्री राजीव लोचन मठ की ऐतिहासिकता से उन्हें अवगत कराया साथ ही उन्होंने महामहिम जी से इन स्थानों में दर्शन के लिए पधारने का आग्रह भी किया, महामहिम जी राजेश्री महन्त जी महाराज की बातों से काफी प्रभावित हुयी और उन्होंने इस बात पर प्रसन्नता जाहिर करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ राज्य की सांस्कृतिक धरोहर के रूप में श्री दूधाधारी मठ, श्री शिवरीनारायण मठ  एवं श्री  राजीव लोचन मठ काफी ख्याति प्राप्त प्राचीन मठ हैं, जो वर्षों से समाज की सेवा के साथ लोगों को जीवन के लिए उचित मार्गदर्शन प्रदान करने के कार्य में निरंतर संलग्न है, उनके सामाजिक धार्मिक एवं आध्यात्मिक क्रियाकलापों के बारे में पत्र-पत्रिकाओं एवं टीवी चैनल के माध्यम से जानकारी प्राप्त होते रहती है, वहां दर्शन करने की अभिलाषा मुझे भी थी। उन्होंने शीघ्र ही इन स्थानों में दर्शन के लिए पधारने का आश्वासन राजेश्री महन्त जी महाराज को दिया और कहा कि मैं यथाशीघ्र ही अपना कार्यक्रम वहां दर्शन के लिए बनाऊंगी, यह मेरा सौभाग्य होगा कि छत्तीसगढ़ के इन अति प्राचीन मठ मंदिरों में विराजित भगवान के दर्शन करने का अवसर मुझे प्राप्त होगा। इस अवसर पर राजेश्री महन्त जी महाराज के साथ श्री शिवरीनारायण मठ के मुख्तियार सुखराम दास जी एवं राम तीरथ दास जी विशेष रूप से उपस्थित 

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने लद्दाख की गलवान घाटी में चीन के सैनिकों के साथ झड़प में शहीद हुए भारतीय सेना के जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित की

शहीद जवानों में छत्तीसगढ़ महतारी के सपूत कांकेर निवासी श्री गणेश राम कुंजाम भी शामिल

रायपुर, 18 जून 2020 मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने लद्दाख की गलवान घाटी में चीन के सैनिकों के साथ झड़प में शहीद हुए भारतीय सेना के जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए शहीद जवानों के शोकसंतप्त परिवारजनों के प्रति गहरी संवेदना और सहानुभूति प्रकट की है।

मुख्यमंत्री ने वीर जवानों को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि शहीद जवानों में छत्तीसगढ़ महतारी के सपूत कांकेर निवासी  गणेश राम कुंजाम भी शामिल हैं। श्री बघेल ने शहीद जवान श्री गणेश राम कुंजाम को श्रद्धांजलि अर्पित की है। मुख्यमंत्री ने कहा है कि हम सबको अपने बहादुर जवानों पर गर्व है, देश की एकता और अखंडता की रक्षा के लिए पूरा देश एकजुट है।

बहुमत होने के बाद भी कांग्रेस अपना जोन अध्यक्ष नहीं बना पाया क्राॅस वोटिंग को लेकर सियासत गरमाई

रायपुरः रायपुर नगर निगम में जोन अध्यक्ष के चुनाव के दौरान जोन संख्या 3 में क्रॉस वोटिंग के चलते कांग्रेस को हार का समाना करना पड़ा है। यहाँ बहुमत होने के बाद भी कांग्रेस अपना जोन अध्यक्ष नहीं बना पाया। ऐसे में अब कांग्रेस पार्टी ने क्रॉस वोटिंग के मामले को गंभीरता से लेते हुए इसकी जांच समिति गठित की है।

सूत्रों के मुताबिक क्रास वोटिंग में पार्षद पुरुषोत्तम बेहरा का नाम सामने आ रहा है। बहरहाल, अभी इसकी पुष्टि नहीं हुई है। अगर क्रास वोटिंग में इनका नाम सामने आता हैं, तो इन्हें पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित किया जाएगा। इधर क्रास वोटिंग के मुद्दे पर पूछने पर पार्षद पुरुषोत्तम बेहरा ने कहा, ऐसा मैं भी सुन रहा हूं, लेकिन मैंने कोई क्रास वोटिंग नहीं की।

कांग्रेस द्वारा गठित की गई इस जांच समिति में संजय पाठक, श्रीकुमार मेनन, नागभूषण राव और अमित श्रीवास्तव शामिल है। शहर जिला कांग्रेस की तरफ से गठित इस जांच समिति को 2 दिन के अंदर रिपोर्ट तैयार कर सौपने को कहा गया है।

बता दें की जोन क्रमांक 3 में कांग्रेस के 4 और भाजपा के 3 पार्षद आते हैं। उसके बावजूद यहां कांग्रेस को 3 वोट मिले और भाजपा को 4 वोट मिले, जिसके चलते भाजपा के प्रमोद साहू जोन अध्यक्ष पद पर विजयी हुए।

स्वाभिमान संस्थान के प्रथम संरक्षक स्व. अजीत प्रमोद कुमार जोगी को श्रद्धांजलि देने 15 जून, को श्री दूधाधारी मठ में साझा सुरता........

रायपुर। प्रदेश के प्रथम मुख्यमंत्री व स्वाभिमान संस्थान के प्रथम संरक्षक स्व. अजीत प्रमोद कुमार जोगी को श्रद्धांजलि देने के लिए संस्थान द्वारा साझा सुरता का कार्यक्रम दिनांक 15 जून, सोमवार को श्री दूधाधारी मठ सत्संग भवन में रखा गया है। कार्यक्रम का समय दोपहर तीन बजे है। साझा सुरता कार्यक्रम में स्व. अजीत जोगी के पुत्र अमित जोगी के परिजन व संगठन सहित विभिन्न समाज के प्रतिनिधि, राजनीतिज्ञ, विभिन्न सामाजिक संगठन व गणमान्य नागरिक भी उपस्थित होंगे। 
प्रशासनिक अफसर रहे स्व. अजीत जोगी ने प्रथम मुख्यमंत्री के रूप में प्रदेश के विकास का जो सपना देखा उसे प्रदेश के विकास की मंशा रखने वाले लोगों को जमीन में उतारना ही स्व. जोगी को सच्ची श्रद्धांजलि होगी। राजनीति में उन्होंने हर वर्ग, हर समाज में अपनी पहुंच बनाई। साझा सुरता कार्यक्रम में राजनीति से परे उनसे प्रभावित होने वाले लोग स्व. जोगी के प्रति अपने विचारों को प्रकट करेंगे। 
संस्थान के अध्यक्ष डॉ. उदयभान सिंह चौहान ने बताया कि साझा सुरता ऐसा खुला मंच है जिसमें प्रदेश भर से अपने विचार साझा करने के लिए आमंत्रित किया गया है। इसमें सामान्य से ले कर गणमान्य नागरिकों सहित अन्यान्य लोग उपस्थित हो कर स्व. अजीत जोगी को को श्रद्धांजलि दे सकते हैं। संस्थान के उपाध्यक्ष आदेश ठाकुर ने कहा कि कोरोना संक्रमण को ध्यान में रखते हुए सोशल डिस्टेंसिंग तथा शासकीय मानदंडों के अनुसार कार्यक्रम में शामिल होने के लिए ऑनलाइन सुविधा रहेगी।

लॉक डाउन में दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे ने टिकट दलालों के खिलाफ चलाया अभियान , ई-टिकट दलालों में खलबली

रायपुर-09 जून, 2020/  लॉक डाउन पश्चात् कुछ गाड़ियों के पुनः संचालन प्रारंभ होने तथा अवैध टिकटो का गोरखधंधा शुरू होने की आशंका पर उसे रोकने हेतु  अमिय नंदन सिन्हा महानिरीक्षक-सह-प्रधान मुख्य सुरक्षा आयुक्त, रेलवे सुरक्षा बल दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के दिशानिर्देष में दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के तीनों मंडलों बिलासपुर, रायपुर एवं नागपुर में टिकट दलालों के खिलाफ लगातार अभियान चलाया जा रहा है। 

उक्त कार्यवाही टिकट दलालों की शामत लेकर आयी। अभी तक ई-टिकट दलाली के कुल 14 मामलों में 14 टिकट दलालों की गिरफ्तारी की जा चुकी है, (बिलासपुर मंडल-07, रायपुर-04 एवं नागपुर मंडल-03) जिनमें से 10 आई.आर.सी.टी.सी. एजेन्ट भी शामिल है, जो अपनी पर्सनल आई.डी. से टिकट निकालकर यात्रियों से अतिरिक्त राशी वसूलकर लेते थे। गिरफ्तार टिकट दलालों से लगभग 53,000/- मूल्य की भविष्य की यात्रा टिकट तथा 4,06,000/- मूल्य की व्यतीत यात्रा टिकट की बरामदगी की सूचना है। उक्त टिकट कुल 63 अलग-अलग पर्सनल आई.डी के माध्यम से जारी किया गया है। अभी भी छापामारी अभियान जारी है। तीनों मंडलों के अपराध गुप्तचर शाखा को टिकट दलालों पर विशेष निगरानी रखने हेतु निर्देश दिया गया है। 

उक्त छापामारी कार्यवाही से ई-टिकट दलालों में खलबली मची हुई है जो भविष्य यात्रा टिकट जप्ती हुई है उसे तथा जिन आई.डी. से टिकट निकाला गया है उसे व्लॉक कर दिया गया है। यात्रियों से अनुरोध है कि किसी भी टिकट दलाल से टिकट बुक न करावें।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की धार्मिक स्थलों में फिजिकल डिस्टेंसिंग के साथ पूजा अर्चना आरम्भ करने की पहल का शंखनाद और मंत्रोच्चार के साथ 31 ब्राम्हणों ने व्यक्त किया आभार

मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल के द्वारा धार्मिक स्थलों में आज से फिजिकल और सोशल डिस्टेंसिंग के साथ पूजा अर्चना प्रारंभ किये जाने के निर्णय का स्वागत करते हुए आज उनके निवास स्थान पर रायपुर विधायक श्री विकास उपाध्याय के नेतृत्व में 31 ब्राम्हणगणों ने शंखनाद एवं मंत्रोच्चार के साथ उनका आभार व्यक्त कर अभिनंदन किया ।

विधायक   विकास उपाध्याय ने छत्तीसगढ़ में धार्मिक स्थलों के खोले जाने का पूरा श्रेय मुख्यमंत्री  बघेल को देते हुए कहा कि उन्हीं के प्रयासों से यह शुभ कार्य सम्भव हो पाया है । ब्राम्हणगणों ने मुख्यमंत्री श्री बघेल का आभार व्यक्त करते हुए उनके नेतृत्व में राज्य सरकार द्वारा किये जा कार्यों की सराहना की । 

मुख्यमंत्री  बघेल ने ब्राम्हण गणों से कोरोना महामारी के बचाव के लिए मन्दिरों में मास्क एवम सेनेटाइजर के साथ ही फिजिकल डिस्टेंसिंग का अनिवार्य पालन करने को कहा है । उन्होंने कहा कि आप सुरक्षित रहेंगे तभी मन्दिर परिसर भी सुरक्षित होगा ।

भाजपा के नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने शनिवार को एकात्म परिसर में पदभार संभाला, बोले- सरकार के खिलाफ बहुत मुद्दे

 रायपुर -  भाजपा के नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने शनिवार को एकात्म परिसर में पदभार संभाला। निवर्तमान प्रदेश अध्यक्ष विक्रम उसेंडी ने विष्णु को पुष्पगुच्छ भेंटकर प्रदेश अध्यक्ष की कमान सौंपी। इस दौरान पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने शारीरिक दूरी के नियम का पालन करते हुए विष्णु को बधाई दी। पदभार ग्रहण करने के बाद मीडिया से चर्चा में विष्णु ने कहा कि यह दायित्व एक बड़ी चुनौती है। इससे पहले जब दो बार अध्यक्ष बना, तब राज्य में भाजपा की सरकार थी। अब पार्टी विपक्ष में है, लेकिन भरोसा है कि संगठन के वरिष्ठ नेताओं के अनुभवों के साथ इस चुनौती से लड़ेंगे। पार्टी ने दायित्व सौंपा है, हर जिले का दौरा करूंगा। हमारे पास सरकार के खिलाफ बहुत मुद्दे हैं।

साय ने कहा कि मैं अपने दायित्वों पर खरा उतरने का प्रयास करूंगा। दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी में तीसरी बार प्रदेश अध्यक्ष का दायित्व मिला है। उन्होंने राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि लोगों ने केंद्र में अटल बिहारी बाजपेयी की सरकार देखी है। नरेंद्र मोदी सरकार देख रहे हैं। यह गांव, गरीब और किसान की पार्टी है। जब-जब सरकार में रहने का मौका मिलता है, गांव, गरीब और किसान प्राथमिकता में होते हैं।

कांग्रेस को जनविरोधी नीतियों, भ्रष्टाचार की वजह से जनता ने खारिज किया था। छत्तीसगढ़ में कांग्रेस के लोक लुभावन घोषणापत्र में राज्य की जनता बहकावे में आ गई थी। अब जनता सरकार से ऊब गई है। कांग्रेस सरकार ने राज्य में जनता से किये वादों को पूरा नहीं किया। सरकार पूरी तरह फैल हो गई है। दूसरे प्रदेशों में काम पर गए मजदूरो की वापसी में उन्हें तकलीफ उठानी पड़

राजकीय शोक का खुला उल्लंघन, कुशाभाऊ ठाकरे पत्रकारिता एवं जनसंचार विश्वविद्यालय ने एक बार फिर दी छत्तीसगढ़ सरकार को खुली चुनौती....

रायपुरl छत्तीसगढ़ की जनता प्रदेश के प्रथम मुख्यमंत्री श्री अजीत जोगी जी के दिव्य आत्मा के शांति की प्रार्थना अभी पूरी भी नहीं कर पाई है , पूरा प्रदेश अब भी जहां शोक भरे वातावरण में डूबा नजर आ रहा है तो वही दूसरी ओर कुछ ऐसे भी लोग हैं जिन्हें राजकीय शोक से कोई लेना देना नहीं है| इस यथार्थ को पूर्णता सिद्ध करता नजर आया छत्तीसगढ़ का एकमात्र विवादित कुशाभाऊ ठाकरे पत्रकारिता एवं जनसंचार विश्वविद्यालय| यहां के संघी विचारधारा वाले प्रोफेसरों और नये नवेले कुलपति बलदेव भाई शर्मा ने एक बार फिर सरकार के आदेश को न मानकर सीधे टक्कर देने की कोशिश ही नहीं की बल्कि इसे सरेआम साकार कर दिखाया है| यह वही विश्वविद्यालय है जहां विद्यार्थियों को नैतिकता का पाठ पढ़ाने वाली,सच और झूठ की लड़ाई लड़ने वाली, समाज के लिए अस्त्र साबित होने वाली व देश का चौथा स्तंभ कही जाने वाली पत्रकारिता का पाठ्यक्रम संचालित किया जाता है| वह पत्रकारिता जो विद्यार्थियों को सच के लिए लड़ने और कलम से क्रांति लिखने की सीख देती है, किंतु यहां के कई प्रोफेसर स्वयं ही फर्जी और बेईमान है| इन्हें न तो किसी की मातम का गम है और न ही उचित-अनुचित की परवाह| यही वजह है कि इन्होंने सरेआम एक बार फिर न नैतिकता के विरोध में जाकर अपना हित तय किया है| बल्कि इनकी इस गतिविधि ने मानवता को भी शर्मसार कर दिया है| विश्वविद्यालय की इस घटना से न केवल विश्वविद्यालय बल्कि सजग पत्रकार साथीयों की भी किरकिरी सरेआम हुई है | विदित हो कि 31 मई 2020 को विश्वविद्यालय द्वारा राजकीय शोक घोषित होने के बावजूद राष्ट्रीय वेबिनार कोरोना महामारी के दौरान डिजिटल मीडिया की भूमिका विषय पर कार्यक्रम का आयोजन सरकारी इंतजामों के साथ बड़े ही उत्सुकता के साथ मनाया जा रहा था| वेबीनार का आयोजन ई-मीडिया के माध्यम से लाइव हो रहा था जिसमें देशभर के शोधार्थी, प्रोफेसर और बुद्धिजीवी जुड़े हुए थे| अचानक ही उनके समक्ष वह दृश्य आ गया जिससे वे सभी अनजान थे, कि जिस प्रदेश को अभी अपने होनहार प्रथम मुख्यमंत्री को खोए हुए 2 दिन भी नहीं हुए, उसी प्रदेश के एक सरकारी शैक्षणिक संस्थान में कार्यक्रम का आयोजन राजकीय शोक को ताक पर रखते हुए सहजता के साथ किया जा रहा था| संघ का आत्मपरिसर कहे जाने वाली कुशाभाऊ ठाकरे पत्रकारिता एवं जनसंचार विश्वविद्यालय के इस वेबीनार कार्यक्रम के लिए भी वक्ता के रूप में संघ के विचारधारा वाले व्यक्तियों को प्राथमिकता से आमंत्रित किया गया था| कार्यक्रम के विवरण ब्रोशर के अनुसार यह वेबीनार दो सत्रों में आयोजित होना था जिसमें प्रथम सत्र का आयोजन सुबह 11:00 बजे से 12:30 बजे तक व द्वितीय सत्र का आयोजन 1:00 बजे से 2:00 बजे तक रखा गया था | कुशाभाऊ ठाकरे विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों से मिली जानकारी के अनुसार जब यह विरोध जताया गया तब तक प्रथम सत्र जारी रहा। जिसमें संघ के वक्ताओं में से प्रो. जयंत सोनवलकर कुलपति मध्यप्रदेश भोज. मुक्त विश्वविद्यालय भोपाल, डॉ.मानस प्रीतम गोस्वामी, विभागाध्यक्ष पत्रकारिता विभाग केंद्रीय विश्वविद्यालय तमिलनाडु, वरिष्ठ पत्रकार शैलेंद्र तिवारी नई दिल्ली और प्रोफेसर पुष्पेंद्र पाल सिंह संपादक रोजगार और निर्माण भोपाल अपनी बात किए जा रहे थे। कुछ अन्य वक्ता अपने वक्तत्व के इंतजार में थे| इस दौरान वेबीनार के लाइव स्क्रीन में सजग छात्रों द्वारा फ्लैग रेस करके समस्या से अवगत कराया गया। साथ ही सजग छात्रों द्वारा विश्विद्यालय जाकर विरोध दर्ज कराया गया। विश्वविद्यालय के कुछ छात्रों द्वारा विवि के प्रोफेसरों, नये नवेले कुलपति के विरोध में नारे लगा रहे थे, तो वही विरोध प्रदर्शन का दृश्य भी वेबीनार के ऑनलाइन लिंक में प्रदर्शित होने लगा था | प्रदर्शित दृश्य में यह स्पष्ट देखने को मिल रहा था कि विद्यार्थी विश्वविद्यालय प्रबंधन से प्रदेश में राजकीय शोक होने के चलते कार्यक्रम को बंद करने की मांग कर रहे हैं| इसके बाद विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों ने लाइव जुड़े दर्शकों को अवगत कराया गया कि यहां के शिक्षकगण व प्रोफेसर आदि विचारधारा के इतने भूखे हो चुके हैं कि किसी व्यक्ति के मातम में भी कार्यक्रम का आयोजन कर लेते हैं| एक बार फिर ऐसी गतिविधि के माध्यम से पत्रकारिता विश्वविद्यालय द्वारा छत्तीसगढ़ की सरकार को अंगूठा दिखाने का सार्थक कार्य किया गया है, ज्ञात हो कि कार्यक्रम का आयोजन विश्वविद्यालय के इलेक्ट्रॉनिक विभाग के तत्वाधान में किया जा रहा था| कार्यक्रम आयोजक इलेक्ट्रॉनिक मीडिया विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ.नरेंद्र त्रिपाठी थे| कार्यक्रम की अध्यक्षता विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर बलदेव भाई शर्मा द्वारा किया जाना था| समस्त संबंधित जनों के नाम को विश्वविद्यालय द्वारा प्रकाशित वेबीनार के ई-ब्रोशर में स्पष्ट देखा जा सकता है| एक ओर जहां विश्वविद्यालय के अतिथि प्राध्यापक, असिस्टेंट प्रोफेसर के द्वारा सरकार के विपरीत जाने का साहसी कदम इस पत्रकारिता विश्वविद्यालय में एक बार फिर देखने को मिलता है,तो वही संगी विचारधारा वाले कुलपति बलदेव भाई शर्मा के पुर्न आगमन से इन शिक्षकगण और प्रोफेसरों में आत्मीय बल का प्रोत्साहन भी ऐसी गतिविधि के माध्यम से स्पष्ट देखा जा सकता है| अब लोग कहने लगे हैं कि क्या प्रदेश की सरकार इतनी ज्यादा बेबस हो गई है कि बार-बार एक छोटे से विश्वविद्यालय द्वारा इन्हें मुंह की खानी पड़ रही है? वहीं दूसरी ओर मध्यप्रदेश में सरकार परिवर्तित होते ही लॉकडाउन कार्यकाल के दौरान भी विश्वविद्यालयों में कुलपतियों की छटनी कर अपनी विचारधाराओं के व्यक्तियों को कुलपति पद में नियुक्त करके मध्यप्रदेश की सरकार ने अपने शक्ति का खुला प्रदर्शन किया है| लोगों में अब यह तक कहा जाने लगा है कि छत्तीसगढ़ की सरकार के पास न तो कोई रणनीति है और न ही इसके पास उचित निर्णय लेने का साहस है|

रविवार को छत्तीसगढ़ में 32 नए पॉजिटिव मामले आए सामने...बिलासपुर में 8 माह का अबोध शिशु भी संक्रमित

A News Edit By : Yash Kumar Lata

रविवार को छत्तीसगढ़ में 32 नए पॉजिटिव मामले सामने आए हैं। जिसमें से जसपुर में 16, महासमुंद 12 ,कोरबा में 2, रायपुर में 2 और बिलासपुर में 1 मामला आया है। प्रदेश में अब एक्टिव मरीजों की संख्या बढ़कर 377 हो गई है । इनमें बिलासपुर का मामला सबसे अनोखा है। बिलासपुर में जो मरीज पॉजिटिव पाया गया है उसकी उम्र मात्र 8 माह है। पिछले दिनों अन्य प्रदेशों से आए श्रमिक बिल्हा कोरेंटिन सेंटर में ठहराए गए थे। जिसमें से उत्तर प्रदेश से आई एक महिला की रिपोर्ट 24 मई को पॉजिटिव आई थी जिसके बाद उसे इलाज के लिए रायपुर के एम्स भेज दिया गया। पता चला कि वही महिला इस बच्चे की मामी थी जो कोरेंटिन सेंटर में रहने के दौरान बच्चे को खाना खिलाती थी। यही कारण है कि 8 माह का अबोध शिशु भी संक्रमित हो गया। वैसे बच्चे का परिवार पुणे से बिल्हा लाया गया था ।
इतनी छोटी उम्र के बच्चे के संक्रमित पाए जाने के बाद प्रशासन के हाथ पांव फूल गए हैं । हड़बड़ी में बच्चे के माता-पिता का सैंपल भी भेजा गया है ,तो वहीं प्रशासन के लिए बड़ी समस्या यह है कि आखिर इतने छोटे बच्चे को कहां भेजें ,क्योंकि बच्चे की देखभाल भी एक बड़ी समस्या है ।फिलहाल बच्चे को बिलासपुर संभागीय कोविड अस्पताल में भर्ती किया जाए या फिर उसे रायपुर एम्स भेजा जाए ,इस पर विचार किया जा रहा है। संभवतः प्रदेश का यह पहला मामला है जब 8 माह के दूध मुहे बच्चे को भी कोरोना संक्रमण हुआ है।

छत्तीसगढ़ स्वाभिमान संस्थान का ईद मिलन कार्यक्रम संपन्न

रायपुर। छत्तीसगढ़ स्वाभिमान संस्थान द्वारा आयोजित ईद मिलन कार्यक्रम में महासचिव हाजी शफीक रज़ा ने कहा कि इस बार की ईद कोरोना के साये में मनी है। इसके संबंध में अल्लाह का संदेश पहले ही दिया जा चुका था जो अब हकीकत में दिखाई दे रहा है। यह सदियों में पहली ईद है जिसमें मुस्लिम समुदाय ने घरों पर रह कर ही नमाज पढ़ी और सादगी से ईद का त्यौहार मनाया। उन्होंने आगे कहा कि इस बार की ईद की सेवई की खुशियों के साथ छत्तीसगढ़ में झीरम घाटी के शहीदों को भी नमन किया गया। छत्तीसगढ़ स्वाभिमान संस्थान के अध्यक्ष डॉ. उदयभान सिंह चौहान ने कहा झीरम घाटी में कांग्रेस नेताओं की सामूहिक शहादत के अवसर पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शांति विश्वास और विकास के त्रिवेणी संगम के साथ प्रदेश को शांति टापू बनाने का संकल्प लिया, जो कि सराहनीय पहल है। झीरम शहीदों को अब न्याय मिलने की उम्मीदें बढ़ गई है। उन्होंने झीरम जांच को तेज कर शीघ्र न्याय दिलाने की मुख्यमंत्री से अपील की है। छत्तीसगढ़ स्वाभिमान संस्थान द्वारा मौदहापारा में आयोजित ईद मिलन कार्यक्रम कोरोना के नियमों का पालन करते हुए संपन्न हुआ जिसमें अनेक गणमान्य नागरिकों व संस्थान के सदस्य सम्मिलित हुए।