राजधानी

नगरीय प्रशासन मंत्री ने वर्षा के दौरान जल भराव से निपटने पुख्ता इंतजाम करने के निर्देश दिए

रायपुर,  30 जून 2019 नगरीय प्रशासन और श्रम मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया ने आज नगर निगम रायपुर के विकास कार्यों की समीक्षा करते हुए कहा कि राजधानी रायपुर प्रदेश का हृदय स्थल है। हमारा जोर यहां के विकास के साथ-साथ इसे स्वच्छ और पर्यावरण की दृष्टि से बेहतर वातावरण है। उन्होंने कहा कि आम नागरिकों को मूलभूत सुविधा मुहैय्या कराना हम सबका दायित्व है। 

डॉ. डहरिया ने आज सिविल लाइन स्थित नवीन विश्राम भवन में बैठक लेकर नगर निगम द्वारा आम नागरिकों को प्रदाय की जा रही मूलभूत सुविधाओं की जानकारी प्राप्त की। इस अवसर पर महापौर  प्रमोद दुबे, नगरीय निकाय एवं प्रशासन विभाग की सचिव  अलरमेल मंगई डी, कलेक्टर रायपुर डॉ. एस. भारतीदासन, कमिश्नर नगर निगम   अनंत तायल भी उपस्थित थे। 

नगरीय प्रशासन मंत्री ने नगर निगम रायपुर के अधिकारियों को हिदायत दी कि वे एनजीटी के नियमों का पालन करते हुए डोर-टू-डोर कचरा प्रबंधन कराएं तथा बरसात के मौसम को देखते हुए जल निकासी व्यवस्था के ज्यादा से ज्यादा इंतजाम करें। इसके लिए उन्होंने नियमित रूप से नालियों की साफ-सफाई करने के निर्देश भी दिए।

डॉ. डहरिया ने नगर निगम के अधिकारियों को यह सुनिश्चित करने को कहा कि किसी भी स्थिति में जल भराव की स्थिति उत्पन्न न हो, जहां पर जल भराव के लिए बाधक हो वहां के स्थानों को संबंधित व्यक्ति या संस्था से सहमति लेकर अथवा अनिवार्य भू-अर्जन के माध्यम से जल भराव की स्थिति से निपटने का इंतजाम किया जाए। उन्होंने ऐेसे क्षेत्र जहां जल भराव से ज्यादा प्रभावित हैं, वहां के लिए विशेष कार्य योजना तैयार करने के निर्देश अधिकारियों को  दिए। 

डॉ. डहरिया ने एक्सप्रेस-वे बनने के बाद एक्सप्रेस के समीप बस्तियों में जल निकासी की व्यवस्था सुदृढ़ करने के निर्देश दिए ताकि जल भराव की स्थिति निर्मित न हो। इसके लिए उन्होंने एक्सप्रेस-वे से लगे बस्ती, गायत्री नगर, कविता नगर, सतनामीपारा, शीतलापारा आदि बस्तियों का जायजा लेने अधिकारियों को निर्देशित किए। उन्होंने तेलीबांधा क्षेत्र की बस्तियों, विधायक कॉलोनी और जलविहार कॉलोनी आदि स्थानों पर भी नियमित मॉनिटरिंग कर जल निकासी का समुचित व्यवस्था करने को कहा। 

डॉ. डहरिया ने बैठक में शहर को टैंकर मुक्त करते हुए शत्-प्रतिशत घरों में नल कनेक्शन करने के निर्देश दिए। उन्होंने वार्डो में अधोसंरचना निर्माण को बढ़ावा देने के लिए प्रस्ताव आमंत्रित किया। उन्होंने इंजीनियरों और आर्किटेक्ट को निर्धारित समय सीमा के भीतर रिपोर्ट प्रस्तुत करने के भी निर्देश दिए। 

डॉ. डहरिया ने स्मार्ट सिटी योजना की भी समीक्षा करते हुए इसकी धीमी प्रगति पर नाराजगी जाहिर की। उन्होंने प्रधानमंत्री शहरी आवास योजना की समीक्षा करते हुए पात्र हितग्राही को शीघ्रता से मकान की स्वीकृति दिलाने के निर्देश दिए। 

CG : मोहन मरकाम के शपथ ग्रहण समारोह में भूपेश बघेल हुए भावुक

 

रायपुर। प्रदेश के मुख्यमत्री भूपेश बघेल राजीव भवन में कांग्रेस कार्यकर्ताओं को संबोधित करने के दौरान भावुक हो गए। ये वाकया उस समय हुआ जब राजधानी रायपुर के राजीव भवन में नए पीसीसी चीफ मोहन मरकाम का पदभार ग्रहण समारोह किया जा रहा था। इस मौके पर सरकार के मंत्री और कांग्रेस के शीर्ष नेता राजीव भवन में मौजूद थे। बड़ी तादात में मीडियाकर्मी भी उपस्थित थे। सीएम भूपेश अपने संबोधन के दौरान कई बार भावुक हुए। एक मौका ऐसा आया, जब अपने कार्यकाल और पार्टी कार्यकर्ताओं के संघर्ष को याद करते हुए रो पड़े। मुख्यमंत्री ने भावुक होते हुए कहा कि टीएस सिंहदेव अगर साथ नहीं होते तो शायद आज इतनी बड़ी जीत नहीं होती। जैसे ही मुख्यमंत्री ने ये बात कही उनके आंखो से आसू आने लगे, जिसे देख सभी कार्यकर्ता हाल में भूपेश बघेल जिंदाबाद के नारे लगाने लगे।

सीएम बघेल की माता बिंदेश्वरी देवी के स्वास्थ्य में सुधार

 

रायपुर : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की माता बिंदेश्वरी बघेल पिछले कुछ दिनों से अस्वस्थ चल रही हैं जिसके चलते उन्हें राजधानी रायपुर के रामकृष्ण केयर अस्पताल में भर्ती कराया गया है। प्रदेश सहित दिल्ली के डाक्टरों की निगरानी में उनका ईलाज हो  रहा है। वही  शुक्रवार को डॉ संजय शर्मा, डॉ अब्बास नकवी,डॉ एसएन मढ़रिया, डॉ. तनुश्री ने मेडिकल बुलेटिन जारी करते हुए बताया कि बिंदेश्वरी बघेल के स्वास्थ्य में कल से सुधार आया है, वह खुद से सांस ले रही हंै। ह्रदय की स्थित भी सामान्य है। उनका आज डायलिसिस भी किया जा रहा है। डॉक्टर की टीम लगातार उनकी सेहत पर नजर रखे हुए हैं।

अजा वर्ग के स्वास्थ्य, शिक्षा और रोजगार पर दें ध्यान : सीएम भूपेश बघेल

रायपुर:- मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की अध्यक्षता में गुरुवार को यहां मंत्रालय में अनुसूचित जाति विकास प्राधिकरण की बैठक की गई। बैठक में बताया गया कि नई सरकार द्वारा वर्ष 2005 में बनाए गए अनुसूचित जाति विकास प्राधिकरण निधि नियम में संशोधन किया है। पहले जहां निर्माण कार्यों पर जोर था, वहीं संशोधन के बाद अब स्वास्थ्य, शिक्षा, पेयजल, जल संरक्षण, पशु सेवाएं, रोजगारमूलक योजनाएं, कौशल उन्नयन जैसे अन्य महत्वपूर्ण बिन्दुओं में भी कार्य किये जा सकेंगे। इनके माध्यम से हितग्राहीमूलक एवं सामुदायिक योजनाओं को स्वीकृत किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्राधिकरण अंतर्गत स्वीकृत राशि के कार्याें से हितग्राही और समुदाय के जीवन में परिवर्तन आना चाहिए। उन्होंने कहा कि जनप्रतिनिधि शिक्षा, स्वास्थ्य और रोजगार के संबंध में सुझाव दें, तो उनके अमल से हितग्राहियों के जीवन में सकारात्मक परिवर्तन आएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्राधिकरण के माध्यम से मिनी माता स्वावलंबन योजना के तहत अनुसूचित जाति वर्ग के युवाओं को व्यावसायिक प्रशिक्षण देकर दुकान एवं कार्यशील पूंजी हेतु 2 लाख तक की राशि दी जाती है। इसी तरह अनुसूचित जाति वर्ग के किसानों के असाध्य पंपों के ऊर्जीकरण के लिए अनुदान राशि दी जाती है। मुख्यमंत्री ने योजनाओं को सामान्य जन तक पहुंचाने के लिए व्यापक प्रचार-प्रसार करने के निर्देश दिए। बैठक में मुख्यमंत्री कहा कि प्राधिकरण के तहत नये कार्याें को स्वीकृति प्रदाय करने के लिए जिला कलेक्टरों को निर्देशित किया जाएगा। सभी संबंधित जिला कलेक्टर अपने जिलों में जनप्रतिनिधियों से प्रस्ताव प्राप्त कर एवं बैठक लेकर प्राथमिकता आधार पर प्रस्ताव 10 जुलाई तक प्राधिकरण को भेजना सुनिश्चित करें। बैठक में मुख्यमंत्री के उप सचिव तथा आयुक्त-सह-संचालक जनसंपर्क संचालनालय तारण प्रकाश सिन्हा ने ऑडियो-वीडियो प्रदर्शन के माध्यम से प्राधिकरण के नियमों में किए गए बदलाव तथा प्राधिकरण के माध्यम से कार्यों तथा बजट एवं संचालित कार्याें की जानकारी दी। बैठक में अनुसूचित जाति एवं जनजाति विकास मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम, गृह एवं लोक निर्माण मंत्री ताम्रध्वज साहू, कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री गुरु रुद्र कुमार, नगरीय प्रशासन एवं श्रम मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया, महिला एवं बाल विकास मंत्री अनिला भेंडिय़ा, विधायक, जिला पंचायत के अध्यक्ष, मुख्य सचिव सुनील कुजूर, पुलिस महानिदेशक डीएम अवस्थी, अपर मुख्य सचिव केडीपी राव, आरपी मण्डल, मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव गौरव द्विवेदी व जिला कलेक्टर उपस्थित थे।

रायपुर मेडिकल कॉलेज द्वारा विभिन्न पदों के लिए चयन सूची जारी देखे पूरी लिस्ट

रायपुर. 26 जून 2019 पं. जवाहरलाल नेहरू स्मृति चिकित्सा महाविद्यालय, रायपुर द्वारा विभिन्न पदों के लिए चयन सूची जारी की गई है। इनमें लैब टेक्निशियन (पैथोलॉजी), लैब सहायक, लैब टेक्निशियन (बायोकेमेस्ट्री), लैब सुपरवाइजर, टेक्निकल असिस्टेंट, परफ्यूजनिस्ट और क्लीनिकल सायकोलॉजिस्ट के पद शामिल हैं।

      सभी पदों के लिए चयनित उम्मीदवारों को 09 जुलाई 2019 तक जिला मेडिकल बोर्ड से जारी स्वास्थ्य प्रमाण पत्र के साथ कार्यभार ग्रहण करने कहा गया है। कार्यभार ग्रहण करने के 15 दिनों के भीतर निवास स्थान से संबंधित थाने से चरित्र सत्यापन प्रमाण पत्र प्राप्त कर जमा करना अनिवार्य है। चयनित उम्मीदवारों की सूची इस प्रकार है -   

जेल में 6 सालों से बेगुनाही की सजा काट रही खुशी को मिला इंटरनेशनल स्कूल में एडमिशन

रायपर, 24 जून 2019 जब एक पिता अपनी बेटी को विदा करता है तब दोनों तरफ से खुशी के साथ-साथ आंखो से आंसू भी बहते हैं। ऐसा ही नजारा आज छत्तीसगढ़ के बिलासपुर केंद्रीय जेल में देखने को मिला, जब जेल में बंद एक सजायफ्ता कैदी अपनी 6 साल की बेटी खुशी (बदला हुआ नाम) से लिपटकर खूब रोया। इसकी वजह भी बेहद खास थी। आज से उसकी बेटी जेल की सलाखों के बजाय बड़े स्कूल के हॉस्टल में रहने जा रही थी।

 करीब एक माह पहले जेल निरीक्षण के दौरान जिला के कलेक्टर डॉ संजय अलंग की नजर महिला कैदियों के साथ बैठी खुशी पर गयी थी। तभी उन्होंने खुशी से बातचीत के दौरान उसकी इच्छा के अनुरूप वादा किया था, कि उसका दाखिला किसी बड़े स्कूल में करायेंगे। वायदे के अनुरूप आज कलेक्टर कलेक्टर डॉ संजय अलंग खुशी को अपनी कार में बैठाकर केंद्रीय जेल से स्कूल तक छोड़ने खुद गये।

 कार से उतरकर खुशी एकटक अपने स्कूल को देखती रही। खुशी कलेक्टर की उंगली पकड़कर स्कूल के अंदर तक गयी। एक हाथ में बिस्किट और दूसरे में चॉकलेट लिये वह स्कूल जाने के लिये वह सुबह से ही तैयार हो गयी थी।

आमतौर पर स्कूल जाने के पहले दिन बच्चे रोते हैं। लेकिन खुशी आज बेहद खुश भी थी। क्योंकि जेल की सलाखों में बेगुनाही की सजा काट रही खुशी आज आजाद हो रही थी। कलेक्टर की पहल पर शहर के जैन इंटरनेशनल स्कूल ने उसे स्कूल में एडमिशन दिया। वह स्कूल के हॉस्टल में ही रहेगी। खुशी के लिये विशेष केयर टेकर का भी इंतजाम किया गया है। स्कूल संचालक   अशोक अग्रवाल ने कहा है कि खुशी की पढ़ाई और हॉस्टल का खर्चा स्कूल प्रबंधन ही उठायेगा। 

      खुशी के पिता केंद्रीय जेल बिलासपुर में एक अपराध में सजायफ्ता कैदी हैं। पांच साल की सजा काट ली है, और उन्हें पांच साल और जेल में रहना है। खुशी जब पंद्रह दिन की थी तभी उसकी मां की मौत पीलिया से हो गयी थी। पालन पोषण के लिये घर में कोई नहीं था। इसलिये उसे जेल में ही पिता के पास रहना पड़ रहा था। जब वह बड़ी होने लगी तो उसकी परवरिश का जिम्मा महिला कैदियों को दे दिया गया। वह जेल के अंदर संचालित प्ले स्कूल में पढ़ रही थी। लेकिन नन्हीं खुशी जेल की आवोहवा से आजाद होना चाहती थी।

संयोग से एक दिन कलेक्टर जेल का निरीक्षण करने पहुंचे। उन्होंने महिला बैरक में देखा कि महिला कैदियों के साथ एक छोटी सी बच्ची बैठी हुयी है। बच्ची से पूछने पर उसने बताया कि जेल से बाहर आना चाहती है। किसी बड़े स्कूल में पढ़ने का उसका मन है। बच्ची की बात कलेक्टर को भावुक कर गयी। उन्होंने तुरंत शहर के स्कूल संचालकों से बात की और यहां के नामी स्कूल के संचालक खुशी को सहर्ष एडमिशन देने को तैयार हो गये। 

इसी तरह कलेक्टर की पहल पर जेल में रह रहे 17 अन्य बच्चों को भी जेल से बाहर स्कूलों में एडमिशन की प्रक्रिया शुरु कर दी गयी है।

अवाम-ए-हिन्द सोशल वेलफेयर संस्था को कैबिनेट मंत्री मोहम्मद अकबर ने किया समाज रत्न से सम्मानित

रायपुर : बुधवार संध्या को कैबिनेट मंत्री छत्तीसगढ़ शासन, मोहम्मद अकबर ने अपने शासकीय बंगले में संस्था अवाम अवाम-ए-हिन्द सोशल वेलफेयर कमेटी को संस्थापक मो. सज्जाद खान के नेतृत्व में निरंतर किये जा रहे समाज सेवा के क्षेत्र में पर्यावरण संरक्षण, संवर्धन जलसंरक्षण, प्रदेश और समाज सेवा के क्षेत्र में उत्कृष्ट, उल्लेखनीय योगदान के लिए संस्था को समाज रत्न से सम्मानित कर प्रोत्साहित किया गया। इस सम्मान के लिए संस्था के संस्थापक, मो. सज्जाद खान और सदस्यों ने खुशी का इजहार किया है, साथ ही मान. मंत्री जी को धन्यवाद करते हुए कहा कि बहुत खुशी की बात है यदि कोई भी सामाजिक संस्था देश और समाज कल्याण के क्षेत्र में लगातार कार्य करती हैं, तो ऐसे सामाजिक संस्थाओं को सरकार को भी प्रोत्साहित करना चाहिए ताकि नि:स्वार्थ भाव से सेवा करने वाले लोगों की हौसला अफजाई हो सके। और आने वाले दिनों के लिए और भी बेहतर दीनदुखियों जरूरत मंदो देश ओर समाज के लिए कार्य कर सके इस सम्मान समारोह कार्यक्रम के अवसर पर मंत्री मों अकबर ने संस्था को पर्यावरण संरक्षण को बढ़ावा देने और प्रदेश को हरा भरा बनाने के लिए हर संभव मदद करने के लिए कहा गया है इस मौके पर संस्था की ओर से संस्थापक, मो. सज्जाद खान के साथ साथ डॉ. भीष्म प्रकाश शर्मा, जुबैर खान, अवधेश प्रसाद, राजेंद्र कुमार शर्मा, मुजीबुर्रहमान, शेख नजीर, टी.आर. गुप्ता, अब्दुल रफ़ीक, अब्दुल मजीद खान, श्रीमती श्रद्धा बंजारे, रज़ा मेमन, अरुण पारधी, राशीद बिलाल, बलराम कश्यप एवं संस्था के अन्य लोग उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सहित सिंहदेव व अखबर ने देखी छत्तीसगढ़ी फ़िल्म हंस झन पगली फंस जाबे

रायपुर छत्तीसगढ़िया सीएम भूपेश बघेल , छत्तीसगढ़ी फिल्म का लुत्फ उठाने सिटी सेंटर मॉल पहुंचे ।इस दौरान सीएम भूपेश बघेल के साथ मंत्री मोहम्मद अकबर और टीएस सिंहदेव ने भी फिल्म का आनंद उठाया । ऐसा पहली बार है जब कोई छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री ने छत्तीसगढ़िया फिल्म सिनेमा हॉल में जाकर देखा । पिक्चर बहुत अच्छा बने हैं रोमांस  थ्रिल है एक्शन है जो एक मनोरंजक फिल्म चाहिए वह सारे गुण है बहुत बढ़िया फिल्मांकन भी हुआ है साइट सिलेक्शन भी बहुत अच्छा है छत्तीसगढ़ में ही फिल्माया गया और चाहे यहां के पहाड़ हो जंगल हो यहां के जो बांध है बहुत बढ़िया साइट सिलेक्शन हुआ है बहुत बढ़िया फिल्मांकन हुआ है।  मल्टीप्लेक्स में फिल्म लगने पर सीएम बोले शुरुआत जब होती है तो कुछ इस प्रकार से बंदिश होती है कि चलेगा कि नहीं चलेगा लेकिन या जो पिक्चर है हाउसफुल जा रहा है उससे यह भ्रम टूटा है और यह होना चाहिए ।  फिल्मों के प्रमोशन पर बोले 22 सीनियर के मंत्री के साथ पिक्चर देखने आए हैं इससे बढ़िया और क्या प्रमोशन हो सकता है । मंत्री मोहम्मद अकबर फिल्म देखने के बाद बोले बहुत बढ़िया फिल्म फिल्माया गया है और यह पूरी सफल होगी और मुख्यमंत्री जी से अनुरोध किया है कि फिल्म डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन तो बन गया है लेकिन उस को आगे बढ़ाने के लिए शुरू करेंगे ।  फिल्म देखने के बाद मंत्री टीएस सिंहदेव बोले ना केवल एक छत्तीसगढ़िया फिल्म बने बाकी बहुत बढ़िया फिल्म बने और ऐसा फिल्म बहुत बनी और ऐसा फिल्म सुपरहिट हो हमारे सामने सभी कलाकार मना बढ़िया काम करें गाना ही में बहुत सुंदर सुंदर है मीठा मीठा गाना ऐसा पिक्चर बनाते रहे हमारी कामना है  सभी मंत्री खुश हो गए या पिक्चर देख कर के और बताया गया कि सियान मन के जो दिल में कड़वाहट बढ़ जाते दुश्मनी बढ़ जाते प्यार में बाधा बन जाथे ओला नोनी मन आए के बीच में कैसे समय देते पूरा परिवार ल समय लिखे उसमें पिक्चर बने आओ हम सब ला रास्ता दिखाएं प्यार के रास्ता दिखाएं ही हमारी कामना है, भूपेश भाई मोला लेकर नहीं आए रितिस तो शायद ता मैं नहीं पहुंचे रितो कि बाबा आना है, मैं पिक्चर देखने पहुंच रहा हूं तो मैने भी कहा  मऊ पहुंचा तो उनके कारण से मुझे भी पिक्चर देखने का सौभाग्य प्राप्त हुआ। सबसे बढ़िया बतिया रहे की फिल्म देखने के पहले सीएम भूपेश बघेल ने फिल्म के निर्देशक सतीश जैन और फिल्म के निर्माता छोटे लाल साहू को शाल और श्रीफल भेंट कर सम्मानित किया ।

कृषि उत्पादन आयुक्त ने उन्नत बीजों एवं उर्वरक की उपलब्धता, भण्डारण और वितरण की समीक्षा की

जिलों में 4 लाख 37 हजार क्विंटल उन्नत बीज 
एवं 6 लाख 13 हजार मीट्रिक टन उर्वरक का भण्डारण

समिति स्तर पर शिविर लगाकर खाद-बीज वितरण कराने के निर्देश

रायपुर,  30 मई 2019  अपर मुख्य सचिव एवं कृषि उत्पादन आयुक्त   के.डी.पी. राव ने कल यहां मंत्रालय में आगामी खरीफ सीजन के लिए किसानों को कृषि आदान सामग्रियों बीज एवं रासायनिक खाद की मांग, उपलब्धता एवं भण्डारण की समीक्षा की। उन्होंने सभी संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि वे क्षेत्र के अधिकारियों तथा जिला कलेक्टर्स से नियमित संवाद एवं समन्वय रखते हुए आवश्यकता अनुसार उन्नत बीज एवं उर्वरक की उपलब्धता सुनिश्चित रखें। 

समीक्षा बैठक में बीज विकास निगम के अधिकारियों द्वारा बताया कि प्रदेश में 8 लाख 50 हजार 550 क्विंटल बीज की मांग के विरूद्ध 4 लाख 37 हजार 725 क्विंटल उन्नत किस्म के बीजों का भण्डारण विभिन्न जिलांे में कर दिया गया है, जिसमें से अभी तक समितियों के माध्यम से 77 हजार 817 क्विंटल एवं विभाग तथा अन्य संस्थाओं के द्वारा 5,133 क्विंटल, इस प्रकार कुल 82 हजार 946 क्विंटल उन्नत किस्म के बीज का वितरण किया गया है।

इसी प्रकार संचालक कृषि एवं महाप्रबंधक मार्कफेड द्वारा बताया गया कि 10 लाख 50 हजार 550 मीट्रिक टन उर्वरक मांग के विरूद्ध 6 लाख 13 हजार 265 मीट्रिक टन उर्वरक जिलो में भण्डारण कर दी गयी है, जिसमें से समितियों के माध्यम से अब तक 53 हजार 410 मीट्रिक टन एवं निजी विक्रेताओं के माध्यम से 14 हजार 263 मीट्रिक टन इस प्रकार कुल 67 हजार 673 मीट्रिक टन उर्वरक का वितरण किया जा चुका है। 

बैठक में संचालक कृषि, प्रबंध संचालक बीज एवं कृषि विकास निगम, प्रबंध संचालक छत्तीसगढ़ राज्य सहकारी विपणन संघ एवं प्रबंध संचालक, राज्य सहकारी बैंक (अपेक्स बैंक) को क्षेत्र में किसानों के मांग अनुसार बीज की उन्नत किस्मों एवं उर्वरकों का समय पर पर्याप्त भण्डारण करने तथा समिति स्तर पर शिविर लगाकर वितरण करने के निर्देश दिए गए। इसी तरह उन्हें बीज एवं उर्वरक के सही एवं समुचित उपयोग करने के संबंध में सम सामयिक तकनीकी सलाह उपलब्ध कराने के निर्देश भी दिए गए। इसी तरह लिफलेट एवं पाम्पलेट के माध्यम से भी किसानों को खेती-किसानी को उन्नत बनाने की समझाईश देने के निर्देश दिए गए। 

बैठक में  भीम सिंह, संचालक कृषि  जन्मेजय महोबे, प्रबंध संचालक बीज निगम,   एच.के. नागदेव, प्रबंध संचालक अपेक्स बैंक  एम.एल. सिरदार, महाप्रबंधक मार्कफेड एवं   एम.एस. केरकेट्टा, अपर संचालक संचालनालय कृषि उपस्थित थे।

मदिरा दुकानें अब पुराने समय पर खुलेंगी और बंद होगी : भीड़ नियंत्रित करने पुराना समय हुआ लागू

 आबकारी उपायुक्त ने किया स्पष्ट, विधानसभा चुनाव के कारण दुकानों का समय किया गया था कम, अब पहले के समय पर खुलेंगी और बंद होंगी दुकानें

 रायपुर, 30 मई 2019 प्रदेश में विधानसभा चुनाव के चलते जिले के सभी मदिरा दुकानों के खुलने तथा बंद होने के समय में एक-एक घण्टें की कमी की गई थी,  जिसे अब पहले जैसा समय कर दिया गया है। अर्थात अब मदिरा दुकानें पूर्वान्ह 11 बजे खुलेंगी और रात्रि 10 बजे बंद होंगी। चुनाव के चलते दुकानों के खुलने का समय दोपहर 12 बजे और बंद होने का समय रात्रि 9 बजे निर्धारित किया गया था जिसे पूर्ववत कर दिया गया है। दुकानों का समय बढ़ाया नही गया है बल्कि पहले जैसा ही किया गया है।

    आबकारी उपायुक्त रायपुर ने यह स्पष्ट किया है कि वर्ष 2017-18 से जिले की फुटकर मदिरा दुकानों का पूर्वान्ह 11 बजे खुलने और समय रात्रि 10 बजे बंद करने का आदेश प्रभावशील था। किन्तु विधानसभा चुनाव 2018 के परिप्रेक्ष्य में कलेक्टर रायपुर द्वारा कानून एवं व्यवस्था को बनाए रखने हेतु उक्त आदेश में संशोधन करते हुए दुकानों के खुलने और बंद होन के समय में एक-एक घंटे की कमी की गई थी अर्थात खुलने का समय दोपहर 12 बजे तथा बंद करने का समय रात्रि 9 बजे निर्धारित किया गया था।
 
    कानून व्यवस्था की दृष्टि से और दुकानों में भीड़ को नियंत्रित करने हेतु जिला कलेक्टर द्वारा विधानसभा चुनाव के समय जारी आदेश को संशोधित करते हुए अब पुराने समय को ही लागू किया गया है जिसके अनुसार अब दुकानें चुनाव के पहले की तरह दोपहर 12 बजे के एक घंटा पूर्व अर्थात 11 बजे खुलेंगी तथा रात्रि 9 बजे के एक घंटे पश्चात् अर्थात् रात्रि 10 बजे बंद होगी। उन्होंने बताया कि छत्तीसगढ़ के अन्य जिलों में भी मदिरा दुकानों के खुलने और बंद होने का यही समय निर्धारित है।

जिम्मेदारीपूर्वक और कार्य दबाव के बीच पत्रकार शासन के समक्ष लाते है समाज की समस्याएं भूपेश बघेल : मुख्यमंत्री द्वारा वरिष्ठ पत्रकारों का सम्मान

रायपुर मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल ने आज शाम रायपुर प्रेस क्लब में वरिष्ठ पत्रकारों को प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित किया। उन्होंने कहा कि जिम्मेदारीपूर्वक और अत्यधिक कार्य दबाव के बीच पत्रकार साथी समाज की समस्याओं को शासन के समक्ष लाते हैं। आज समाचार प्रेषण की तत्परता तथा बदलते मीडिया के स्वरूप तथा समाचारों की तेज गति को देखते हुए पत्रकारिता पर पहले से ज्यादा कार्य दबाव बढ़ा है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य शासन की सोच और मंशा है कि पत्रकारों साथियों को कार्य की दृष्टि से अच्छी सुविधाएं मिलनी चाहिए। अगर इस संबंध में प्रेस क्लब को सुविधाजनक बनाने या मीडिया की कार्यक्षमता बढ़ाने के संबंध में मांग प्राप्त होती है तो उसे पूरा करने का प्रयास किया जाएगा। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने मोतीबाग स्थित रायपुर प्रेस क्लब के स्वर्गीय मधुकर खेर स्मृति भवन में 28 लाख रूपए की लागत से बनाए गए भव्य स्वागत द्वार, फौव्वारे के सौन्दर्यीकरण तथा टेबल टेनिस रूम, फोटो जर्नलिस्ट रूम एवं सेन्ट्रल हाल में नवीन सुविधाओं का लोकार्पण किया।

कार्यक्रम में मुख्यमंत्री श्री बघेल ने रायपुर प्रेस क्लब के वरिष्ठ पत्रकारों सर्वश्री जयशंकर प्रसाद शर्मा ’नीरव’, सुहास राजिमवाले, शेषकरण जैन, एम.ए.जोसेफ, आसिफ इकबाल, शंकर पाण्डेय, कौशल किशोर मिश्र का सम्मान किया। कार्यक्रम में स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम, नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिव कुमार डहरिया, विधायक एवं पूर्व मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल, विधायक श्री विनोद चन्द्राकर महापौर श्री प्रमोद दुबे उपस्थित थे।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए  बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि रायपुर प्रेस क्लब देश के जाने माने प्रेस क्लब में एक है। यहां के वरिष्ठ पत्रकारों का सम्मान होना सराहनीय बात है। प्रेस क्लब के अध्यक्ष   दामू आम्बेडारे ने प्रेस क्लब में उपलब्ध करायी जा रही नवीन सुविधाओं की जानकारी दी और कहा कि ऐसे प्रयास भविष्य में भी होते रहेंगे। उन्होंने कहा रायपुर प्रेस क्लब छत्तीसगढ की पत्रकारिता का साक्षी है और करीब 50 साल पुराने इसके गौरवशाली इतिहास में यहां के पुरखों ने स्वस्थ पत्रकारिता की अवधारणा की कल्पना की थी। प्रेस क्लब के सदस्यों ने इस दायित्व को जिम्मेदारीपूर्वक निवर्हन किया है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने पत्रकारों को मकान दिलाने की मांग पूरी ही है। शीघ्र ही मकानों का आवंटन किया जाएगा। उन्होंने पत्रकारों की मांग के संबंध में ज्ञापन भी सौंपा।

 इस अवसर पर प्रेस क्लब के महासचिव  प्रशांत दुबे, उपाध्यक्ष   प्रफुल्ल ठाकुर, कोषाध्यक्ष शगुफ्ता शीरीन, संयुक्त सचिव अंकिता शर्मा और गौरव शर्मा ने अतिथियों का स्वागत किया। कार्यक्रम के प्रारंभ में मुख्यमंत्री ने दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया।

स्वामी विवेकानंद एयरपोर्ट में कॉमन सर्विस सेंटर की शुरूआत - 250 प्रकार की सुविधाएं होंगी

 

रायपुर। रायपुर एयरपोर्ट देशभर में पहला एयरपोर्ट बन गया है जहां पर कॉमन सर्विस सेंटर की शुरूआत हुई है। इस कॉमन सर्विस सेंटर में 250 प्रकार की सुविधाएं उपलब्ध रहेगी। बता दें कि डिजिटल इंडिया कार्यक्रम के तहत यह कॉमन सेंटर शुरू हुआ है। कार्यक्रम की शुरूआत सीएसी के सीईओ डॉ. दिनेश त्यागी और एयरपोर्ट के डायरेक्टर राकेश सहाय की मौजूदगी में हुई सर्विस सेंटर में नागरिक सेवाओं, पासपोर्ट आवेदन, पैन कार्ड आवेदन, श्रमिक पंजीकरण, सरकार कल्याण योजना आवेदन, खाद्य लाईसेंस, ऑनलाइन बिजली भुगतान और ऑनलाइन पेंशन बीमा सहित 250 प्रकार की सेवाएं उपलब्ध रहेंगी।

लापरवाही का खामियाजा भुगत रहे ठेकेदारों ने घेरा निगम कार्यालय

 

रायपुर। नगर निगम के अफसरों की लापरवाही का खामियाजा ठेकेदारों को भुगतना पड़ रहा है। निगम अफसरों ने खनिज विभाग को रायल्टी भुगतान जमा नहीं किया। इसी वजह से ठेकेदारों का भुगतान निगम की ओर से नहीं किया जा रहा है। आज नगर निगम के पंजीकृत ठेकेदारों ने निगम कार्यालय का घेराव कर निगमायुक्त से चर्चा की।

आयुक्त ने तत्काल समस्या का निदान कर ठेकेदारों की भुगतान राशि देने की बात की है। बता दें कि ठेकेदारों को नगर निगम की ओर से भुगतान देने से पहले खनिज रायल्टी भुगतान कर नगर निगम अफसरों को चालान जमा करना होता है, लेकिन नगर निगम के अफसरों ने चालान जमा नहीं किया। इसी वजह से नगर निगम के अंतर्गत काम करने वाले दो सौ से ज्यादा ठेकेदारों को करोड़ों रुपए का भुगतान नहीं किया गया है। आज नगर निगम के पंजीकृत ठेकेदारों ने नगर निगम का घेराव कर निगमायुक्त से चर्चा  की। निगम आयुक्त शिव अनंत तायल ने ठेकेदारों को आश्वासन देते हुए कहा कि खनिज विभाग में रायल्टी चालान नगर निगम की ओर से जमा किया जाएगा। उन्होंने यह भी कहा कि खनिज विभाग में चालान जमा होते ही ठेकेदारों का भुगतान कर देंगे।

सीआरपीएफ जवानों ने पेश की मिसाल, तपती गर्मी में राहगीरों को ​पिलाया शर्बत

 

रायपुर। सीआरपीएफ के जवानों ने मानवीय पहल करते हुए पुराने पीएचक्यू के सामने राहगीरों को शर्बत पिला कर एक मिसाल पेश की है। तपती गर्मी में मंगलवार को जवानों ने राह पर आने जाने वाले राहगीरों को शर्बत पिलाया है। जवानों का कहना है कि अक्षय तृतीया के दिन लोगो की प्यास बुझाने से पुण्य मिलता है और लोगों को इससे राहत मिलती है। सीआरपीएफ के सीईओ का कहना है कि ऐसी मानवीय पहल अक्सर करते रहते हैं।

 

डायल 112 में तैनात आरक्षक से मारपीट, बलवा का हुआ मामला दर्ज

 

रायपुर। भरेंगाभाठा स्थित यादव ढाबा के पास सात से आठ युवकों ने एक राय होकर डायल 112 में तैनात आरक्षक से मारपीट किए। पीड़ित आरक्षक की शिकायत पर अभनपुर पुलिस ने बलवा का मामला दर्ज किया है। बता दें कि मोहनलाल भंडारी डायल 112 में आरक्षक के पद पर भर्ती है। जिससे ट्रक चालक से मारपीट की सूचना पर वह भरेंगाभाठा स्थित यादव ढाबा के पास पहुंचा था और आरोपियों से पूछताछ कर रहा था। जिसे आरोपियों ने तुम कौन होते हो कहते हुए 7 से 8 लोगों ने एक राय होकर आरक्षक मोहनलाल से गाली-गलौज कर मारपीट किया। पीड़ित आरक्षक की शिकायत पर अभनपुर पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ धारा 147, 148, 149, 294, 506, 323, 186, 332 के तहत अपराध दर्ज किया है।