बड़ी खबर

उज्जैन पैसेंजर ट्रेन में ब्लास्ट: 6 से ज्यादा लोग घायल,जबड़ी स्टेशन की घटना

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल से उज्जैन के लिए चली भोपाल-उज्जैन पैसेंजर ट्रेन में मंगलवार सुबह विस्फोट होने की खबर से हड़कंप मच गया। ब्लास्ट में आधा दर्जन लोगों के घायल होने की सूचना हैं। यह बलास्ट मध्य प्रदेश के शाजापुर में हुआ।  जानकारी के मुताबिक सीहोर स्टेशन पार करने के बाद ट्रेन कालापीपल के पहले पड़ने वाले जबड़ी स्टेशन पर पहुंची तो पिछले डिब्बे में तेज धमाका हुआ। जिसके बाद लोग जान बचाने के लिए ट्रेन से कूदे। इस दौरान कई लोग घायल हो गए।
बताया जा रहा है ब्लास्ट एक मोबाइल में हुआ जिसकी छानबीन की जा रही है। सभी आला अधिकारी मौके पर पहुँच गए हैं। ब्लास्ट में 6 लोग घायल हुए हैं। वहीं, कुछ और रिपोर्ट्स भी सामने आई हैं, जिसमें कहा जा रहा है कि ट्रेन में एक सूटकेस भी मिला है। जिसका कोई मालिक नहीं है। इसकी भी जांच की जा रही है। मामले में गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह ने कहा है कि पुलिस मौके पर पहुंच गई है और मामले की जांच कर रही है। भोपाल से रेलवे की इमरजेंसी एम्बुलेन्स भी रवाना कर दी गई है।
ब्लास्ट के संबंध में जानकारी देते हुए भोपाल डिवीजन के प्रवक्ता आई ए सिद्दीकी ने बताया कि घायल यात्रियों को कालापीपल सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मेडिकल टीमें मौके पर पहुंच चुकी हैं। फिलहाल विस्फोट के कारणों का पता नहीं चल सका है।
प्राप्त जानकारी के मुताबिक ट्रेन में ब्लास्ट होने के तुरंत बाद ग्रामीण राहत एवं बचाव कार्य के लिए मौके पर पहुंच गए। मौके पर पहुंची रेलवे की टीम ने ट्रेन के दो डिब्बों के गाड़ी से अलग कर। ट्रेन को उज्जैन के लिए रवाना कर दिया।

छत्तीसगढ़ 2017-18 का बजट आज रमन सरकार के पिटारे से निकली बड़ी बातें

सस्‍ती हवाई सेवा के लिए 10 करोड़ का प्रावधान।
  68 करोड़ रुपय मेडिकल कॉलेज में उपकरणों के लिए।
  3 सालों में 35 लाख परिवारों को गैस कनेक्‍शन।
  पंचायत एवं ग्रामीण विकास के लिए 9429 करोड़ का प्रावधान।
  ST-SC के लिए 47 करोड़ का प्रावधान।
  गन्‍ने पर 50 रुपए क्विंटल का प्रावधान।
  सिचाई के लिए 5242 करोड़ का प्रावधान।
  स्‍कूलों के उन्‍नयन के लिए 51 करोड़ का प्रावधान।
  कोंडागावं में 100 सीटर पोस्‍ट मेट्रिक आदीवासी छात्रालय खोला जाएगा।
  नि:शक्‍तजन छात्रवृत्ति की राशि दोगुनी की जाएगी।
  10433 करोड़ कृषि क्षेत्र के लिए प्रावधान।
 आगामी सत्र में 11वीं में NCERT की किताबों से पढ़ाने का प्रावधान।
  औद्योगिम क्षेत्र में करीब 40 प्रतिशत योगदान।
  कुपोषण से मुक्ति के लिए 1333 करोड़ का प्रावधान।
  बीजों के लिए 81 करोड़ का प्रावधान।
 दिव्‍यांग छात्रों के लिए दिव्‍यांग महाविद्यालय खोला जाएगा।
  जिलों में पशु अनुसंधान प्रयोगशाला खोली जाएगी।
  25 नए पशु चिकित्‍सालय खोले जाएंगे।
  गेहूं में 12 सालों में 39 प्रतिशत की वृद्धी
  8 लाख 40 हजार कामगारों का पंजीयन।
  खाद्यान्‍न सहायता योजना में 3 हजार करोड़ का प्रावधान।
  PDS की दिशा में छग की उल्‍लेखनीय वृद्धि।
  3 सिचाई परियोजनाओं के लिए 200 करोड़।
  दिव्‍यांगों को चिकित्‍सा बीमा कराने के लिए प्रीमियम की राशी दी जाएगी।
  छग बजट: कृषि क्षेत्र में 5.87 प्रतिशत की ग्रोथ।
 रमन सिंह ने शायरी के जरिए बताई बजट की मूल भावना।
  शिक्षा में व्‍यय को लेकर छग देश में दूसरा स्‍थान रखता है।
  छग बजट: किसानों को ब्‍याजमुक्‍त लोन।
  महिला,गरीब,किसान के लिए योजनाएं।
 45 लाख महिलाओं को मुफ्त स्‍मार्टफोन।
  हम इस बजट में सुचना क्रांती के लिए निशुल्‍क स्‍मार्टफोन छात्रों को उपलब्‍ध कराएंगे।
  रमन सिंह पेश कर रहे हैं छग का बजट।
  करीब 82 हजार करोड़ का होगा बजट।
  रायपुर स्टेशन से एअरपोर्ट नैरोगेज लाइन पर फोर लेन को मंजूरी।
  रमन कैबिनेट की बैठक खत्‍म, थोड़ी देर में बजट होगा पेश।
  छत्तीसगढ़ : जशपुर में झोपड़पट्टी वस्त्रालय से 22 हजार नगद सहित कपड़ों की चोरी
  ग्रामीण क्षेत्रों में सड़क के लिए 640 करोड़।
  200 करोड़ में बनेंगे रेलवे ओवरब्रिज।
  सड़क और पुल निर्माण के लिए 5063 करोड़, जो की पिछले वर्ष की तुलना में 16 फीसदी ज्यादा है।
  बस्‍तर क्षेत्र में 2400 किलो मीटर की सड़क का निर्माण किया जाएगा।
  नक्सल प्रभावित बस्तर छेत्र में 146 मोबाइल टावर और 800 कीमी ऑप्टिकल फाइबर बिछाया जाएगा।
68 करोड़ रुपय मेडिकल कॉलेज में उपकरणों के लिए।
  3 सालों में 35 लाख परिवारों को गैस कनेक्‍शन।
  पंचायत एवं ग्रामीण विकास के लिए 9429 करोड़ का प्रावधान।
 ST-SC के लिए 47 करोड़ का प्रावधान।
  गन्‍ने पर 50 रुपए क्विंटल का प्रावधान।
  सिचाई के लिए 5242 करोड़ का प्रावधान।
  स्‍कूलों के उन्‍नयन के लिए 51 करोड़ का प्रावधान।
  कोंडागावं में 100 सीटर पोस्‍ट मेट्रिक आदीवासी छात्रालय खोला जाएगा।
 नि:शक्‍तजन छात्रवृत्ति की राशि दोगुनी की जाएगी।
 करोड़ कृषि क्षेत्र के लिए प्रावधान।
  औद्योगिम क्षेत्र में करीब 40 प्रतिशत योगदान।
  कुपोषण से मुक्ति के लिए 1333 करोड़ का प्रावधान।
  बीजों के लिए 81 करोड़ का प्रावधान।
 दिव्‍यांग छात्रों के लिए दिव्‍यांग महाविद्यालय खोला जाएगा।
 जिलों में पशु अनुसंधान प्रयोगशाला खोली जाएगी।
  25 नए पशु चिकित्‍सालय खोले जाएंगे।
  गेहूं में 12 सालों में 39 प्रतिशत की वृद्धी
  8 लाख 40 हजार कामगारों का पंजीयन।
  पुलिसवालों के लिए 10 हजार आवास बनेंगे।
 : खाद्यान्‍न सहायता योजना में 3 हजार करोड़ का प्रावधान।
  PDS की दिशा में छग की उल्‍लेखनीय वृद्धि।
 दिव्‍यांगों को चिकित्‍सा बीमा कराने के लिए प्रीमियम की राशी दी जाएगी।
  छग बजट: कृषि क्षेत्र में 5.87 प्रतिशत की ग्रोथ।
  रमन सिंह ने शायरी के जरिए बताई बजट की मूल भावना।
  शिक्षा में व्‍यय को लेकर छग देश में दूसरा स्‍थान रखता है।
  छग बजट: किसानों को ब्‍याजमुक्‍त लोन।
  महिला,गरीब,किसान के लिए योजनाएं।
  45 लाख महिलाओं को मुफ्त स्‍मार्टफोन।
  हम इस बजट में सुचना क्रांती के लिए निशुल्‍क स्‍मार्टफोन छात्रों को उपलब्‍ध कराएंगे।
  राज्‍य के अग्रणी महाविद्यालयों में मुफ्त इंटरनेट।
  रमन सिंह पेश कर रहे हैं छग का बजट।
  करीब 82 हजार करोड़ का होगा बजट।
  रमन कैबिनेट की बैठक खत्‍म, थोड़ी देर में बजट होगा पेश।
  छत्तीसगढ़ : जशपुर में झोपड़पट्टी वस्त्रालय से 22 हजार नगद सहित कपड़ों की चोरी
  रेल नेटवर्क को दोगुना करने की योजना।
  26 जिलों में खुलेगा सखी वन स्‍टाॅप सेंटर।
 सूचना क्रांती योजना स्‍काय लागू की जाएगी।
 आईटी के क्षेत्र में 9 हजार रोजगार की संंभावना।

 

 

वाराणसी में पीएम मोदी ने किया बाबा विश्‍वनाथ का पूजन अर्चन

वाराणसी  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी संसदीय क्षेत्र वाराणसी के तीन दिन तथा एक रात के दौरे पर पहुंच गए हैं। आज वाराणसी में  बीएचयू के गेट से उनका रोड शो शुरू हो गया है। सिंह द्वार ने उनका रोड शो शुरू होकर बाबा विश्वनाथ मंदिर तक जाएगा। इससे पहले वह सीधा दिल्ली से वाराणसी पहुंचे। एयरपोर्ट पर अमित शाह ने उनका स्वागत किया। पीएम मोदी के रोड शो में जनसैलाब उमड़ा। काशी विश्‍वनाथ दरबार में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दोपहर सवा एक बजे पूजन अर्चन किया। इस दौरान वह लगभग दस मिनट पर वह मंदिर प्रांगण में रहे।

विश्‍वनाथ मंदिर के पास पहुंचे 

लगभग घंटे भर की देरी से ज्ञानवापी पहुंच गए। वहीं प्रधानमंत्री मंत्री के आने के कई घंटे पहले काल भैरव मंदिर मे रोके गए दर्शनार्थी। पीएम का काफिला मदनपुरा में जब पहुंचा तो दोनों तरफ मुस्लिम बंधु खड़े रहे पीएम ने इस दौरान सभी का अभिवादन किया। जंगम बाड़ी में काफिला पहुंचा तो छतों पर व किनारे खड़े लोगों ने फूल बरसा कर स्‍वागत किया। विलम्ब के चलते काफिले की रफ़्तार बढ़ाने की कवायद हो रही है। इसी दौरान एक चश्मदीद ने बताया कि लंका रविदास गेट के समीप पुलिस वाले भीड़ और उसमें शामिल बुजुर्ग को धक्का दे रहे थे तब पीएम ने अपने सुरक्षा कर्मी को उधर भेज पुलिस वाले को धक्का देने से मना कराया।  
 

वाराणसी आज के साथ ही कल तथा परसों तक मोदीमय रहेगा। आज प्रधनामंत्री नरेंद्र मोदी बीएचयू के सिंह द्वार से रोड शे करेंगे। इसके बाद रविदास गेट लंका, अस्सी, भदैनी, सोनारपुरा, मदनपुरा, गोदौलिया, बांसफाटक, ज्ञानवापी जाएंगे। रोड शो में सड़क पर इतनी भीड़ थी क‍ि लोगों ने घरों की छत से जाकर पीएम नरेंद मोदी को देखा। प्रधानमंत्री एक बजे विश्वनाथ मंदिर से काल भैरव के लिए प्रस्थान करेंगे। वह कालभैरव मंदिर में पूजा करने के बाद वापस बीएचयू हेलीपैड आएंगे। बीएचयू हेलीपैड से जौनपुर के लिए प्रस्थान। दिन में करीब तीन बजे जौनपुर में सभा होगी। शाम को साढ़े चार बजे बीएचयू हेलीपैड पर आने के बाद बीएचयू गेस्टहाउस पहुंचेंगे। इसके बाद गेस्टहाउस से सड़क मार्ग से साढ़े पांच बजे टाउनहाल मैदान में सभा करेंगे। टाउनहाल से सड़क मार्ग से बाबतपुर के लिए प्रस्थान करेंगे। 

किसानों का विरोध को देखते सरकार ने बदला फैसला अल्ट्राटेक सीमेंट को दी माइनिंग NOC रद्द पेंड्रावन जलाशय का मामला

रायपुर  किसानों के  जबरदस्त विरोध के बीच सरकार को झुकना ही पड़ा!! सरकार ने अल्ट्राटेक सीमेंट को दी माइनिंग NOC रद्द कर दी है। जल संसाधन मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने देर रात किसानों के बीच इस बात का एलान किया। घोषणा के पहले किसानों के साथ लंबी बातचीत की। इस दौरान क्षेत्र के विधायक देवजी भाई पटेल और आरंग क्षेत्र के विधायक नवीन मार्कण्डेय भी मौजूद रहे। 
आपको बता दें पेंड्रावन जलाशय के मुद्दे पर पिछले कई दिनों से तिल्दा धरसींवा बलौदाबाज़ार के ग्रमीणों ने आंदोलन  चला रहे थे तथा  राजनीति पूरी तरह गरमा गई  थी। इस मामले पर विधानसभा में भी सरकार को विपक्ष के अलावे सत्तापक्ष के भी विधायक सरकार को घेरने को  तैयार थे। इसके  आल्वा कांग्रेस ने जलाशय बेचने की साजिश बताते हुए स्थगन और ध्यानाकर्षण लाने की तैयारी की थी। लिहाज़ा सरकार ने आपात बैठक की और फिर जल संसाधन विभाग के NOC को रद्द करने का एलान किया।  

रामजस कॉलेज का विवाद : एबीवीपी ने पुलिस मुख्यालय के बाहर किया विरोध प्रदर्शन

 
रामजस कॉलेज में छात्रों के बीच हुआ विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है. वामपंथी छात्रों के विरोध प्रदर्शन के बाद एक बार फिर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) ने विरोध प्रदर्शन किया और कथित देश विरोधी नारे लगाने वालों पर कार्रवाई की मांग की. पुलिस को इस बारे में शिकायत और वीडियो मिला है जिसकी जांच की जा रही है.

दिल्ली पुलिस मुख्यालय के बाहर एबीवीपी के छात्र इकट्ठे हुए और जोरशोर से डीयू में कथित भारत विरोधी नारे लगाने वालों पर कड़ी कार्रवाई की मांग की. एबीवीपी के नेता साकेत बहुगुणा के मुताबिक पहले जेएनयू में देशविरोधी नारे लगे और जब पुलिस ने उनके खिलाफ कार्रवाई नहीं की तो उनकी हिम्मत इतनी बढ़ गई कि वे डीयू आ पहुंचे. इनके खिलाफ सख्त कर्रवाई होनी चाहिए. एबीवीपी से जुड़ी छात्रा विजेता के मुताबिक जिन्होंने भी देशविरोधी नारे लगाए हैं उनके खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए.

छात्रों ने पुलिस के खिलाफ भी जमकर नारेबाजी की. हालांकि पुलिस का कहना है कि देश विरोधी नारे लगाने की जो बात हो रही है, उसे लेकर कुछ वीडियो और शिकायत मिली है जिसकी जांच चल रही है. दिल्ली पुलिस के प्रवक्ता दीपेंद्र पाठक के मुताबिक इसमें शिकायत और वीडियो मिले हैं जिनकी सत्यता की जांच चल रही है

दिल्ली यूनिवर्सिटी के रामजस कॉलेज में 22 फरवरी को एक सेमिनार को रद्द होने को लेकर हिंसक झड़प हो गई थी। इस सेमिनार में जेएनयू छात्र उमर खालिद को बुलाया जा रहा था, जिसका विरोध एबीवीपी ने किया था। इसके बाद सेमिनार को रद्द कर दिया गया था। सेमिनार के रद्द होने के बाद एआईएसए के कार्यकर्ताओं ने कॉलेज में प्रदर्शन किया। जिसके बाद एबीवीपी और एआईएसए के कार्यकर्ता आपस में भिड़ गए। छात्रों के बीच हिंसक झड़प भी हुई। इसके बाद एआईएसए के कार्यकर्ताओं ने एबीवीपी के कार्यकर्ताओं पर हिंसक झड़प का आरोप लगाय था।
जिसमे  गुरमेहर कौर ने बुधवार को कहा कि वह अब अपनी पढ़ाई पर ध्यान देना चाहती हैं। इसके साथ ही उन्होंने मीडियाकर्मियों से अपील की कि उन्हें अकेला छोड़ दिया जाए। गुरमेहर कौर जब से दिल्ली से जालंधर पहुंची है, तब से मीडियाकर्मी विशेषकर इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के पत्रकार लगातार गुरमेहर कौर के घर के बाहर मौजूद हैं। जालंधर पुलिस कमिश्नरेट ने उसे सुरक्षा मुहैया करवाई है। दो महिला कांस्टेबल उनकी सुरक्षा में लगाई गई हैं। जिन्होंने गुरमेहर को जान से मारने और रेप करने की धमकी दी थी, उन अज्ञातों के खिलाफ दिल्ली पुलिस ने यौन शोषण का मामला दर्ज कर लिया है।
गुरमेहर कौर ने बुधवार को मीडियाकर्मियों से अपील की कि ‘अब मुद्दे को छोड़ दो’। वह अपनी पढ़ाई पर ध्यान देना चाहती हैं। उनके दादा कवलजीत सिंह ने कहा कि गुरमेहर जल्द ही कॉलेज वापस जाएगी, साथ ही कहा कि वह ‘बहादुर’ लड़की है। उन्होंने बताया कि गुरमेहर ने केवल मुद्दे पर अपने विचार रखे थे, इसका किसी भी पार्टी द्वारा राजनीतिकरण नहीं किया जाना चाहिए। उन्होंने जालंधर पुलिस कमिश्नर केके यादव को एक ज्ञापन सौंपा है, जिसमें दिल्ली में गुरमेहर को पूरी सुरक्षा की मांग की गई है। साथ ही उसे धमकी देने वालों की गिरफ्तारी की मांग भी की गई है।
 

रामजस कॉलेज में हुए झगड़े के बाद दो ABVP ‘कार्यकर्ता गिरफ्तार

रामजस कॉलेज में हुए झगड़े के बाद दो ABVP ‘कार्यकर्ताओं गिरफ्तार
रामजस कॉलेज में हुए झगड़े के बाद दो ABVP ‘कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया गया। उसके बाद ABVP द्वारा उन लोगों को संगठन से सस्पेंड भी कर दिए जाने की खबर आई। उन लोगों को विरोध रैली के दौरान एआईएसए के समर्थकों पर हमला करने के मामले में गिरफ्तार किया गया। इसके अलावा सेना के एक शहीद सैन्य अधिकारी की बेटी को कथित तौर पर मिली ‘‘दुष्कर्म की धमकी’’ के संबंध में पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ यौन शोषण और आपराधिक धमकी का मामला दर्ज किया।
एलएसआर की छात्रा गुरमेहर कौर की तरफ से दिल्ली महिला आयोग में की गई शिकायत के संबंध में बुधवार (1 मार्च) को मामला दर्ज कर लिया गया। दिल्ली पुलिस के प्रवक्ता और विशेष पुलिस आयुक्त (दक्षिण-पश्चिम) दीपेंद्र पाठक ने कहा कि भारतीय दंड संहिता की धारा 354ए (यौन शोषण और यौन शोषण के लिए दंड), 506 (आपराधिक धमकी के लिए दंड) और आईटी एक्ट की धारा 67 के तहत अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

उन्होंने बताया कि बीस वर्षीय गुरमेहर अभी तक जांच में शामिल नहीं हुई हैं। अधिकारी ने बताया कि सोशल मीडिया के जिन अकाउंट से (बलात्कार की) धमकी दी गई थी उनकी पहचान करने की प्रक्रिया चल रही है। उसके बाद साइट्स से जानकारी लेने की प्रक्रिया शुरू की जाएगी। वरिष्ठ अधिकारियों ने कहा कि गुरमेहर ने फेसबुक पर आए एक संदेश का स्क्रीनशॉट उपलब्ध कराया है जिसमें एक शख्स ने उसके साथ ‘‘सामूहिक दुष्कर्म’’ और ‘‘उसका अश्लील वीडियो बनाने’’ की धमकी दी थी। पुलिस उस अकाउंट की भी जांच करेगी जिससे धमकी भरा संदेश गुरमेहर को भेजा गया है।

11 सूत्रीय मांगों को लेकर सरकारी बैंकों में कामकाज आज रहेंगे ठप, एक दिनी राष्ट्रव्यापी हड़ताल है पर कर्मचारी

आज देशभर के सरकारी बैंकों में कामकाज ठप रहेगा. क्योंकि बैंक कर्मचारियों की एक दिन की राष्ट्रव्यापी हड़ताल पर है. यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस की अगुवाई में बैंककर्मियों की 9 यूनियंस अपनी 11 सूत्रीय मांगों को लेकर हड़ताल पर जा रहे हैं. 
जिसमें नोटबंदी के दौरान किए गए एक्स्ट्रा काम का मुआवजा भी शामिल है. एसबीआई, पीएनबी और बैंक आफ बड़ौदा समेत ज्यादातर बैंकों ने प्रस्तावित हड़ताल के बारे में अपने ग्राहकों को सूचित किया है. UFBU नौ प्रमुख यूनियनों का शीर्ष संघ है. 
लेकिन भारतीय मजदूर संघ से सम्बद्ध नेशनल आर्गेनाइजेशन आफ बैंक वर्कर्स और नेशनल आर्गेनाइजेशन ऑफ बैंक ऑफिसर्स इस हड़ताल में भाग नहीं ले रहे हैं. दरअसल ऑल इंडिया बैंक एम्पलाइज एसोसिएशन और मुख्य श्रम आयुक्त के यहां हुई सुलह वार्ता विफल रही। जिसके बाद हड़ताल का फैसला लिया गया। बता दें कि देश में 27 सार्वजनिक बैंकों का कुल बैंकिंग कारोबार में लगभग 75 फीसदी हिस्सा है।

विधानसभा चुनावः यूपी 2017: 5वें चरण का मतदान आज ,

उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव में अवध क्षेत्र के 11 जिलों की कुल 52 में से 51 सीटों पर सोमवार को वोट डाले जा रहे हैं। एक सीट, आंबेडकरनगर जिले की आलापुर में सपा के उम्मीदवार चंद्रशेखर कनौजिया के निधन के कारण चुनाव आयोग ने यहां मतदान की तारीख नौ मार्च निर्धारित की है।  पांचवे चरण में सुबह 9 बजे तक 10.77 फीसदी मतदान हुआ है। गोंडा में सुबह 9 बजे तक 12 फीसदी वोटिंग, बलरामपुर में सुबह 9 बजे तक 11.5 फीसदी वोटिंग, सुलतानपुर में 9 फीसदी वोटिंग हुई।
– पांचवें चरण के मतदान में कई बहुचर्चित उम्मीदवारों और दिग्गजों की किस्मत वोट डालने की मशीनों में कैद हो जाएगी। पांचवे चरण में नेपाल से सटे पूर्वी उत्तर प्रदेश और तराई के जिलों बलरामपुर, गोंडा, फैजाबाद, आंबेडकरनगर, बहराइच, श्रावस्ती, सिद्धार्थनगर, बस्ती, संत कबीरनगर, अमेठी और सुल्तानपुर जिलों की सीटों पर मतदान हो रहे हैं, जिसके लिए सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए। नेपाल से लगी सीमा सील कर दी गई है। कई सीटों पर रोचक मुकाबला हो रहा है।

छ ग . में आज से शुरू होगा तीन चरणों में प्रदेश व्यापी लोक सुराज अभियान : मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने किया जनभागीदारी का आव्हान

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कल 26 फरवरी से तीन चरणों में आयोजित किए जा रहे प्रदेश व्यापी लोक सुराज अभियान में व्यापक जनभागीदारी का आव्हान किया है। उन्होंने प्रदेशवासियों के साथ ही सांसदों, विधायकों, पंच-सरपंचों, जनपद और जिला पंचायत अध्यक्षों और सदस्यों, नगरीय निकायों के महापौरों, अध्यक्षों और पार्षदों से भी अभियान में सक्रिय सहयोग की अपील की है।  
मुख्यमंत्री ने आज यहां जारी अपील में कहा है कि लोक सुराज अभियान राज्य में सुशासन के लिए लगातार किए जा रहे हमारे प्रयासों की एक महत्वपूर्ण कड़ी है। पिछले साल की तुलना में इस वर्ष के लोक सुराज अभियान में कुछ जरूरी बदलाव किए गए हैं, ताकि इसे समाधान की दृष्टि से और भी ज्यादा उपयोगी और सार्थक बनाया जा सके। डॉ. सिंह ने कहा है कि यह अभियान राज्य स्तरीय समाधान पर्व है। इसका ध्येय वाक्य ही ’लक्ष्य समाधान का’ रखा गया है। मुख्यमंत्री ने कहा-नये स्वरूप में इस बार का लोक सुराज अभियान तीन चरणों में आयोजित किया जा रहा है। डॉ. रमन सिंह ने कहा - पहला चरण कल 26 फरवरी से 28 फरवरी तक सम्पन्न होगा। इसके अंतर्गत प्रदेश के सभी, लगभग 11 हजार ग्राम पंचायत मुख्यालयों और 168 शहरी निकायों के वार्डों में निर्धारित स्थानों पर शिविर लगाकर नोडल अधिकारियों द्वारा लोगों से आवेदन संकलित किए जाएंगे। लोगों को आवेदन पत्रो की पावती भी दी जाएगी।
न्होंने कहा कि 26 से 28 फरवरी तक आवेदन संकलित करने के लिए लगाए गए शिविरों में लोग निर्धारित प्रारूप में अपनी समस्या के निराकरण के लिए आवेदन कर सकेंगे। आवेदन का प्रारूप अथवा फार्म संबंधित नोडल अधिकारी से प्राप्त किया जा सकता है। मुख्यमंत्री ने लोगों से अनुरोध किया है कि वे अपनी हर समस्या के लिए अलग-अलग आवेदन फार्म भरें, ताकि आवेदन पत्रों को  विभागवार अलग-अलग चिन्हांकित कर संबंधित विभागों को भेजा जा सके। इससे निराकरण में आसानी होगी। इसके अलावा सभी जिला मुख्यालयों और विकासखण्ड मुख्यालयों सहित ग्राम पंचायतों और नगरीय निकायों में ’समाधान पेटी’ रखी जा रही है। लोग तीन दिनों की इस अवधि में ’समाधान पेटियों में भी अपने आवेदन डाल सकते हैं। इसी अवधि में आवेदक अगर चाहे तो अपना आवेदन राज्य सरकार को वेबसाइट- ’डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यूडॉटसीजीडॉटएनआईसीडॉटइन/लोकसुराज’  में भी सीधे भेज सकते हैं। प्राप्त सभी आवेदन पत्रों को स्केन कर साफ्टवेयर में डाला कर उनका पंजीयन किया जाएगा। साथ ही सभी आवेदन पत्र भौतिक रूप से भी संबंधित विभागों के दफ्तरों को भेजे जाएंगे।

महाराष्ट्र में मिली भाजपा को बड़ी कामयाबी आज देशभर में मनाएगी विजय दिवस

शिवसेना से नाता तोड़ने के बाद भाजपा को महाराष्ट्र में बड़ी कामयाबी मिली.. जिससे उत्साहित BJP आज पूरे देश में विजय दिवस मनाएगी..  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसे नोटबंदी पर मुहर बताया.. और विजय दिवस मनाने का ऐलान किया.. हालांकि BMC में 82 सीटें हासिल कर वो दूसरे नंबर पर जरूर रही, लेकिन सत्ता की चॉबी उसी के हाथ है। वहीं दस में से आठ निकायों में भाजपा सबसे बड़ी पार्टी बनकर सामने आई है.. साल 2012 में हुए चुनाव की तुलना में भाजपा को BMC में 31 के मुकाबले इस बार 82 सीटें मिली हैं। यानी उसे महाराष्ट्र में हुए पूरे चुनाव में 74 फीसदी से 175 फीसदी तक फायदा हुआ है। शिवसेना 84 सीटें जीतकर पहले नंबर की पार्टी जरूर बन गई है, लेकिन बहुमत के आंकड़े से वो काफी दूर है और बिना दूसरी पार्टी के समर्थन के वो सत्ता की कुर्सी पर नहीं बैठ सकती..

रायपुर : निर्माणाधीन भवन हादसा में मुख्यमंत्री ने दिए जाच के आदेश रायपुर के अनुविभागीय दण्डाधिकारी को सौंपी गई जांच : रिपोर्ट 45 दिनों में देंगे

रायपुर के नवीन विश्राम भवन परिसर में आज अपरान्ह निर्माणाधीन कन्वेनशन हॉल की नी छत ढलाई के दौरान अचानक गिर गई। इसमें 15 मजदूर घायल हुए। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के निर्देश पर हादसे की दण्डाधिकारी जांच का आदेश कलेक्टर और जिला दण्डाधिकारी श्री ओ.पी. चौधरी ने शाम को यहां जारी कर दिया। उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री इस हादसे की जानकारी मिलते ही घायल मजदूरों को देखने शाम को अम्बेडकर अस्पताल पहुंचे थे, जहां उन्होंने प्रत्येक घायल के लिए 25 हजार रूपए की सहायता की घोषणा करते हुए हादसे की दण्डाधिकारी जांच करवाने का भी ऐलान किया था। अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी श्री डोमन सिंह ने बताया कि हादसे में 15 श्रमिक घायल हुए हैं। मुख्यमंत्री के निर्देश पर रायपुर जिला प्रशासन की ओर से अधिकारियों ने अस्पताल में सभी 15 घायल श्रमिकों को उनके इलाज के लिए 25-25 हजार रूपए की सहायता राशि का वितरण शुरू कर दिया।
कलेक्टर और जिला दण्डाधिकारी श्री ओ.पी. चौधरी ने दण्डाधिकारी जांच का आदेश जारी कर रायपुर के अनुविभागीय दण्डाधिकारी (नगर) श्री आर.बी. देवांगन को जांच अधिकारी नियुक्त किया है। उन्हें जांच रिपोर्ट 45 दिनों में प्रस्तुत करने के निर्देश दिए गए हैं। दण्डाधिकारी जांच के आदेश में कहा गया है कि आज अपरान्ह 3.30 बजे न्यू सर्किट हाउस रायपुर के परिसर में निर्माणाधीन कन्वेनशन हॉल की छत ढलाई के दौरान यह दुर्घटना हुई। आदेश में इसके कारणों की जांच के लिए बिन्दु भी तय कर दिए गए हैं, जो इस प्रकार हैं: (1) किन परिस्थितियों में निर्माणाधीन कन्वेनशन हॉल की छत ढलाई के दौरान गिरी ? (2) छत गिरने के क्या कारण है ? (3) छत गिरने के लिए कौन जिम्मेदार हैं ? (4) निर्माण के दौरान निर्धारित मापदण्डों का पालन किया जा रहा था या नहीं ? (5) अन्य बिन्दु, जो जांच अधिकारी उचित समझें।
 

रायपुर लोक निर्माण विभाग के निर्माणाधीन बहुमंजिले भवन की ऊपरी मंजिल का छत गिरा 13 मजदुर हुए घायल घटना पर मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने दुःख व्यक्त किया

रायपुर मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने राजधानी रायपुर में आज नवीन विश्राम भवन के बाजू में लोक निर्माण विभाग के निर्माणाधीन बहुमंजिले भवन की ऊपरी मंजिल की छत गिर गिरने से हुई दुर्घटना पर गहरा दुःख व्यक्त किया है। उन्होंने छत ढलाई के समय हुई इस दुर्घटना में घायल मजदूरों के जल्द स्वास्थ्य लाभ की कामना की है और जिला प्रशासन को उनका बेहतर से बेहतर इलाज करवाने के निर्देश दिए हैं। डॉ. रमन सिंह ने इस दुर्घटना को गंभीरता से लिया है और लोक निर्माण विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों को जांच के भी निर्देश दिए हैं। इस हादसे की जानकारी मिलते ही लोक निर्माण विभाग के सचिव श्री सुबोध कुमार सिंह और रायपुर जिले के कलेक्टर श्री ओ.पी. चौधरी सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी तत्काल घटना स्थल पर पहुंचे। अधिकारियों ने घायल मजदूरों को अस्पताल पहुंचाने की व्यवस्था करवाई और घटना स्थल का निरीक्षण किया। लोक निर्माण विभाग के सचिव श्री सिंह ने बताया कि उन्होंने घटना की तकनीकी जांच के निर्देश दिए हैं। लोक निर्माण विभाग के तकनीकी अधिकारियों की टीम पूरे मामले की जांच करेंगी। मुख्यमंत्री के निर्देश पर घायलों का समुचित इलाज यहां डॉ. भीमराव अम्बेडकर अस्पताल में किया जा रहा है। दुर्घटना में 13 श्रमिक घायल हुए हैं।

छत्तीसगढ़ के बाबूलाल को सीबीआई ने लिया हिरासत में डेढ़ करोड़ रुपये घूस देने का था मामला

छत्तीसगढ़ के सीनियर आईएएस अधिकारी और राज्य के प्रधान सचिव को सुबह दस बजे की फ्लाइट से बाबूलाल को दिल्ली ले जाया गया. इससे एक दिन पहले बाबूलाल अग्रवाल अपनी सरकारी गाड़ी से भिलाई पहुंचे थे, जहां उन्होंने सीबीआई के कार्यालय में अपना बयान दर्ज़ करवाया था. बाबूलाल ने दावा किया था कि उन्होंने जो बयान सीबीआई को दिया है, उसकी एक प्रति राज्य सरकार को भी सौंपी है.
छत्तीसगढ़ के सीनियर आईएएस अधिकारी और राज्य के प्रधान सचिव बाबूलाल अग्रवाल  को सीबीआई ने हिरासत में ले लिया है. अग्रवाल को डेढ़ करोड़ रुपये घूस देने के मामले में हिरासत में लिया गया है. सीबीआई प्रधान सचिव से पूछताछ कर रही है.सीबीआई की एक टीम मंगलवार सुबह प्रधान सचिव बाबूलाल अग्रवाल को रायपुर से दिल्ली लेकर आई है. सीबीआई ने घूस देने के मामले में अग्रवाल और दो अन्य लोगों पर केस दर्ज किया है. फिलहाल  बाबूलाल अग्रवाल से पूछताछ जारी है.
इसके पहले अग्रवाल के ठिकानों पर साल 2008 और 2010 में छापेमारी कर चुका है. इस दौरान अग्रवाल के घर से आयकर विभाग को 220 बैंक पासबुक मिली थी. वहीं विभाग को अग्रवाल और उनके परिजनों के नाम पर 100 करोड़ रुपये से भी ज्यादा की संपत्ति दर्ज मिली थी.
जिसके चलते  अग्रवाल को सस्पेंड कर दिया गया था. उसके बाद बाद उन्होंने राज्य सरकार के इस फैसले को हाई कोर्ट में चुनौती दी थी. गौरतलब है कि आय से अधिक संपत्ति के मामले में अग्रवाल ने जांच प्रभावित करने के लिए संबंधित अधिकारियों को डेढ़ करोड़ रुपये रिश्वत देने की पेशकश की थी.
सूत्रों की मानें तो रिश्वत की यह रकम उन्होंने दो किलो सोने और कैश के रूप में दी थी. गौरतलब है कि दो दिन पहले ही सीबीआई ने बी. बाबूलाल अग्रवाल के घर पर छापेमारी की थी.  
 

मतदान करने पहुंचे अखिलेश यादव, कहा- तीसरे चरण में भी हम आगे हैं यूपी विधानसभा चुनाव 2017

लखनऊ: मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव ने आज इटावा में अपने पैतृक गांव सैफई में वोट डालने के बाद कहा कि सपा आने वाले समय में आगे बढ़े इसलिए समाजवादी पार्टी को वोट दिया है.

राज्य के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने अपना वोट डाल दिया है। इस मौके पर उन्होंने कहा कि सपा सरकार सत्ता में पहुंच रही है। अखिलेश यादव से जब शिवपाल को वोट देने के बारे में पूछा गया तो उन्होंने घुमाते हुए जवाब दिया कि उन्होंने साइकिल को वोट दिया है।
उमा भारती भी लखनऊ में अपना वोट डालने पहुंची। प्रतीक यादव ने भी सेफई में अपना मत डाला और कहा कि पार्टी में कोई विवाद नहीं है। गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने भी अपना वोट डाल दिया है। लखनऊ में वह अपना मतदान करने पहुंचे और उन्होंने कहा कि बीजेपी राज्य में पूरी बहुमत के साथ आ रही है। वहीं बीएसपी सुप्रीमों मायावती भी वोट डालने पहुंची थीं। उन्होंने मीडिया से कहा कि बसपा 300 सीट जीतेगी। उनसे पहले भारतीय जनता पार्टी की नेता रीता बहुगुणा जोशी ने वोट डालने के बाद कहा कि मुलायम सिंह यादव की इमोशनल स्पीच देखकर साफ पता लगता है कि अपर्णा यादव हार रही हैं। उनसे पहले भारतीय जनता पार्टी के नेता सुधांशु त्रिवेदी भी वोट डालने पहुंचे। हालांकि, उन्होंने मीडिया से बात नहीं की। इससे पहले सपा नेता रामगोपाल यादव मतदान करने पहुंचे थे। वोट डालने के बाद  उन्होंने कहा कि कांग्रेस-सपा का गठबंधन 300 से ज्यादा सीटें जीतेगा। उन्होंने सैफई में वोट डाला। 9 बजे तक 12 फीसद मतदान हो चुका है।
उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के तीसरे चरण में रविवार (19 फरवरी) को सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी का गढ़ माने जाने वाले इलाकों में वोट डाले जा रहे हैं। तीसरे चरण में 12 जिले की 69 सीटों पर मतदान हो रहा है। जिसके लिए कुल 826 उम्मीदवार मैदान में हैं। इनमें से 106 महिलाएं हैं। इस दंगल में चार ऐसी सीटें हैं, जहां यादव परिवार की प्रतिष्ठा दांव पर मानी जा रही है। जसवंतनगर, लखनऊ कैंट, सरोजिनीनगर और रामनगर में यादव परिवार के सदस्य चुनाव लड़ रहे हैं। सपा में मची रार के बाद कार्यकर्ताओं में सिर-फुटौव्वल की स्थिति है।

अमित शाह का प्रियंका गांधी पर हमला, बोले- उनसे जुड़े सवाल प्रवक्‍ता से करो, यह मेरा लेवल नहीं

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह रायबरेली में प्रियंका गांधी द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर किए गए हमले का सवाल टाल गए. गोरखपुर में प्रेसवार्ता में पत्रकारों ने जब प्रियंका के हमलों पर बीजेपी का जवाब जानना चाहा तो अमित शाह ने कहा कि ये बताने का मेरा लेवल नहीं है.
  शाह ने गोरखपुर में पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा कि प्रियंका गांधी से जुड़े सवालों पर जवाब भाजपा के प्रवक्‍ता देंगे। उनसे पूछा गया था कि उत्‍तर प्रदेश के विधानसभा चुनावों में प्रचार करते हुए प्रियंका ने कहा था कि यूपी को विकास के लिए गोद लिए बेटे की जरुरत नहीं है। इस पर शाह ने हंसते हुए जवाब दिया, ”इस बारे में भाजपा प्रवक्‍ताओं से पूछें। उनके बयान पर पार्टी का कोर्इ प्रवक्‍ता जवाब दे देगा। उनके बारे में बात करने का मेरा लेवल नहीं है।” गौरतलब है कि प्रियंका ने 17 जनवरी को रायबरेली में प्रचार के दौरान कहा था कि उत्‍तर प्रदेश को विकास के लिए गोद लिए बेटे की जरुरत नहीं है। उनका यह बयान पीएम मोदी के खुद को यूपी का गोद लिया बेटा बताने के बाद आया था।
गोरखपुर में प्रेस कांफ्रेंस के दौरान शाह ने कहा कि उत्‍तर प्रदेश में भाजपा की लहर चल रही है। जैसे-जैसे पार्टी पूर्वांचल की ओर पहुंच रही है सभी दल उसकी सुनामी में बह जाएंगे। उन्‍होंने दावा किया कि भाजपा गोवा, उत्‍तराखंड और उत्‍तर प्रदेश में बहुमत से सरकार बनाने जा रही है। कांग्रेस और सपा के गठबंधन के बारे में उन्‍होंने कहा कि यह भ्रष्‍टाचारी कुनबों का गठबंधन है। दोनों सत्‍ता के लिए एक हुए हैं। गठबंधन के जरिए अखिलेश यादव ने हार स्‍वीकार कर ली है। भाजपा के प्रचार के बारे में शाह ने बताया कि अब तक की वोटिंग के अनुसार लोग परिवर्तन चाह रहे हैं। दो-तिहार्इ बहुमत से भाजपा सरकार बनने जा रही है। भाजपा हर सीट पर पहले नंबर पर है। हर जगह भाजपा को जोरदार बढ़त है।
अखिलेश यादव सरकार पर हमला बोलते हुए उन्‍होंने कहा कि पूरे उत्‍तर  प्रदेश में अपराध चरम पर हैं। किसान, व्‍यापारी, युवा और महिला सभी असुरक्षित महसूस कर रहे हैं। अखिलेश ने विकास के नाम पर धोखा दिया है। बिजली और कानून व्‍यवस्‍था पर वे कोई जवाब नहीं दे रहे हैं। केंद्र सरकार ने अन्‍य राज्‍यों की तुलना में उत्‍तर प्रदेश को एक लाख रुपये ज्‍यादा दिए लेकिन इस पैसे का इस्‍तेमाल कहां हुआ, यह नहीं बता रहे।