क्राइम

हार्डवेयर दुकान का शटर तोड़कर नगदी रकम 80,000/- रूपये की चोरी - 02 आरोपी गिरफ्तार

बीजापुर @ सेट्रल बैंक बीजापुर के पास स्थिति प्रिया एजेंसी हार्डवेयर दुकान के संचालक नरेन्द्र पाण्डे की दुकान में दिनांक 23-24/7/2020 की मध्य रात्रि को अज्ञात चोर द्वारा शटर तोड़कर दुकान अंदर गल्ले में रखे नगदी रकम कुल 80000/- चोरी कर ले गये । प्रार्थी नरेन्द्र पाण्डे की रिपोर्ट पर थाना बीजापुर में अपराध क्रमांक 76/2020 धारा 457, 380 भादवि कायम कर विवेचना में लिया गया । विवेचना के दौरान आवेदक नरेन्द्र पाण्डे द्वारा दुकान में अल्पकालीन काम करने वाले मजदूर ग्राम उसूर निवासी अजीत रेंगा के उपर शंका होना बताया गया । पुलिस अधीक्षक बीजापुर कमलोचन कश्यप के दिशा निर्देशन में थाना बीजापुर से टीम बनाकर आवेदक के बताये आनुसार संदेही *अजीत रेंग पिता समैया उम्र 19 वर्ष साकिन थाना पारा उसूर* के सकुनत पर दबिश देकर पकड़ा गया । पकड़े गये संदेही से बारिकी से पुछताछ पर दिनांक घटना को अपने साथी आरोपी *अमरजीत सिन्हा 21 निवासी राउतपारा बीजापुर* के साथ मिलकर योजना बनाकर दुकान का शटर तोड़कर दुकान में घुसकर गल्ले से नगदी 80000/- रकम चोरी करना बताये । पकड़े गये आरोपियों द्वारा अपराध करना स्वीकार किये जाने मेमोरण्डम कथन लिया जाकर अभियुक्त अजीत रेंगा के कब्जे से 11000/- नगद एवं 01 नग आईटेल कंपनी का स्मार्ट फोन कीमत 10000/- एवं अभियुक्त अमरजीत सिन्हा के कब्जे से 28100/- रूपये नगद बरामद किया गया । बीजापुर में विधिवत गिरफ्तारी उपरान्त आज न्यायालय बीजापुर के समक्ष पेश कर न्यायीक रिमाण्ड पर भेजा गया ।

मोटर सायकल चोर गिरोह के 04 आरोपी गिरफ्तार आरोपियों से 06 नग मोटर सायकल, 06 मोबाईल कुल कीमती 1,35,000 रू का.सामान किया गया जप्त

भाटापारा शहर थाना पुलिस ने 6 मोटर सायकल 06 नग मोबाईल को 04 आरोपियो से मोटर सायकल मोबाईल कीमती 1,35,000 बरामद करने में सफलता प्राप्त किए है।

प्रार्थी रामचंद साहू ने रिपोर्ट दर्ज कराया कि इसके मोटर सायकल को दिनांक 14.02.2020 को घटना स्थल मंडी रोड बालाजी इंजनीयरिंग दुकान के सामने से अज्ञात चोर द्वारा चोरी कर ले गया पता तलाश के दौरान आरोपी चंद्र कुमार ध्रुव उर्फ चंदु पिता दुकालु राम ध्रुव उम्र 22 साल पता पौंसरी अंबुजा सीमेंट कंपनी रवान के बगल को पकड कर थाना लाया गया, जो बताया दो साल पूर्व से रायपुर में काम करने दौरान गौरीशंकर निषाद, भूपेन्द्र साहू, संजय निषाद से जान पहचान हुई थी। गाडी चोरी करके अन्य जिला क्षेत्रो में बेचने का प्लान बनाये। जिसके मुताबिक तीन लोग चंद्रकुमार ध्रुव उर्फ चंदु, गौरी शंकर निषाद, भुपेन्द्र साहू के वाहन को चोरी करके संजय उर्फ सोनु निषाद के कब्जा में देकर रतनपुर में डंप करवाया जाता और उसे ग्राहक खोजकर बिक्री कर देते थे। बिक्री रकम शराब पीने, गांजा पीने, खाना पीने में खर्च कर देते थे। चंद्रकुमार ध्रुव के बताये अनुसार अन्य आरोपियों को जाकर पता तलाश कर उन लोग के कब्जा से कुल 06 नग मोटर सायकल (कीमती 120000 रू) , 06 नग मोबाईल (13000 रू ) को जप्त कर कार्यावाही किया गया है।

जिसमें से 01 मोटर सायकल को डी.डी गारमेंट भाटापारा से चोरी किया था, जिसमें वाहन स्वामी चंद्रशेखर चतुर्वेदी ने थाना भाटापारा शहर में, 01 मोटर सायकल सुहेला से चोरी किया था जिसका वाहन स्वामी संतोष कुमार साहू ने थाना सुहेला में रिपोर्ट दर्ज कराया गया है। चंदू उर्फ चंद्रकुमार ध्रुव के विरूद्ध थाना सिटी कोतवाली बलौदाबाजार में 03 प्रकरण, भुपेन्द्र साहू के विरूद्ध थाना सिटी कोतवाली बलौदाबाजार , थाना खरोरा, थाना आरंग में प्रकरण, गौरी शंकर निषाद के विरूद्ध थाना धरसीवा, थाना खमतराई व संजय निषाद के खिलाफ थाना पाली में चोरी का प्रकरण दर्ज होना पाया गया है ।

पुलिस टीम में भाटापारा शहर टी आई महेश ध्रुव ,पाली टीआई, उप‍ निरीक्षक रोशन राजपूत थाना प्रभारी सुहेला, ओम साहू, टी.आर.साहू , प्र आर यशवंत ठाकुर, युगल किशोर वर्मा, हितेन्द्र सोनी, नरेन्द्र निषाद , आर. भारत भूषण पठारी, गौरीशंकर कश्यप, उमेश वर्मा, तोपचंद कौशिक, गौकरण ध्रुव, प्रमोद पटेल, सायबर सेल कुमार जायसवाल, नेहा तिवारी का योगदान रहा है।

मुलमुला थाना क्षेत्र में दो लोगो ने की आत्महत्या

पंकज दुबे@ पहली घटना मुलमुला थाना क्षेत्र की है जहाँ सोनसरी गांव में 28 वर्षी महिला ने अपने उपर मिट्टी तेल डाल कर खुदकुशी कर ली है घटनाएं शुक्रवार की रात की है पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार सोनसरी निवासी रामकुमार यादव का परिवार रात में खाना खा कर सो गए पति अलग कमरे में सोया हुआ था और मृतिका अपने बच्चो के साथ अलग कमरे में सुबह पति रामकुमार यादव ने बच्चो के रोने की आवाज सुनकर दरवाजा खोलने की प्रयाश किया लेकिन असफल होने पर दरवाजा के चौखट तोड़ कर कमरे में दाखिल हुआ तब उसकी पत्नी जली हुई थी जिससे पति ने मुलमुला थाना को इसकी सूचना दी तब मुलमुला प्रभारी मौके पर पहुँच कर शव का पंचनामा कर पोस्टमार्टम केलिय भेज दिया । वही दूसरी घटना मुलमुला थाना क्षेत्र में खेत मे बाबुल के पेड़ पर सब्जी बेचने वाले ने फांसी का फंदा लगा कर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली है। मिली जानकारी के अनुसार मुलमुला थाना क्ष्रेत्र के मुलमुला गांव के कोसा नहर खेत फेरी लगा कर सब्जी बेचने वाले 50 वर्षी विनोद टंडन पिता संतु टंडन ने फांसी लगा कर खुदकुशी कर ली है मिली जानकारी के अनुसार व्यक्ति 4 दिनों से घर नही आया था । विनोद की लाश मुलमुला खार में मिली जो लटक कर जमीन को छू रही थीं । घर वालो का कहना था की विनोद शराब का आदि था ओर उसकी दिमागी हालात भी ठीक नही थी । मुलमुला पुलिस ने मामले में मर्ग कायम कर शव का पोस्टमार्टम कराया है।

एंटी करप्शन ब्यूरो का अफसर बताकर पटवारी से 5 लाख रिश्वत मांगने के आरोप में ASI विनोद वर्मा और आरक्षक गजानंद वर्मा सस्पेंड

बलौदाबाजार: रायपुर पुलिस के ASI और आरक्षक के खिलाफ बलौदा बाजार सिटी कोतवाली थाने में FIR दर्ज होने के बाद रायपुर SSP अजय यादव ने ASI विनोद वर्मा और आरक्षक गजानंद वर्मा को सस्पेंड कर दिया है. दोनों पुलिसकर्मी बलौदा बाजार के रिसदा पटवारी महेंद्र मधुकर से एंटी करप्शन ब्यूरो का अफसर बताकर 5 लाख रुपए की मांग कर रहे थे.

5 लाख से 50 हजार पर पहुंचा मामलाजानकारी के मुताबिक 6 जुलाई को ASI विनोद वर्मा ने खुद को एंटी करप्शन ब्यूरो का अधिकारी बताकर 5 लाख रुपए की डिमांड की थी और पैसे ना देने पर एंटी करप्शन ब्यूरो का छापा मारने की कार्रवाई करने की धमकी भी दी थी. पटवारी ने जब रिश्वत देने में असमर्थता दिखाई जिसके बाद ASI विनोद वर्मा और आरक्षक गजानंद वर्मा ने 8 जुलाई को पटवारी को फोन कर 50 हजार रुपए रिश्वत देने की बात कही.
 
पटवारी मधुकर ने पिछले दिनों फोन पर हुई बातों को रिकॉर्ड कर लिया था. 9 जुलाई को जब ASI विनोद वर्मा और आरक्षक गजानंद वर्मा और पटवारी के घर रिश्वत लेने पहुंचे. उस दौरान पटवारी मधुकर ने सिटी कोतवाली को सूचित किया जिसके बीद पुलिस ने पहुंचकर ASI विनोद वर्मा और आरक्षक गजानंद वर्मा और एक उनके एक अन्य साथी अनिल वर्मा को गिरफ्तार कर लिया. ASI विनोद वर्मा और आरक्षक गजानंद वर्मा को कुछ दिन पहले ही एसीबी से रायपुर पुलिस में पदस्थ किया गया था.

गिरफ्तारी के बाद निलंबन
बलौदा बाजार सिटी कोतवाली में दोनों पुलिसकर्मियों पर FIR दर्ज होने के बाद शुक्रवार को रायपुर SSP अजय यादव ने विनोद वर्मा और गजानंद वर्मा को निलंबित कर दिया है.

भाटापारा एवं आसपास ग्रामीण क्षेत्रो मे लगातार लुट की वारदातो को अंजाम देने वाले चार आरोपी आए पुलिस की गिरफ्त मे

भाटापारा -  भाटापारा एवं आसपास के ग्रामीण क्षेत्रो मे लुट की वारदात की घटना बढ़ रही थी , सुनसान इलाको मे पैदल और सायकल से आने जाने वालो को लुटपाट करने वाले अपना टारगेट बनाते थे । और गायब हो जाते थे कई शिकायते पुलिस थानो मे मिली जिसकी पता तलाशी जारी थी उसी कड़ी मे ढाबाडीह की रहने वाली डागेश्वरी सोनवानी ने रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि 20 जुन सुबह 11 बजे के समय मोबाइल से बात करते हुए सायकल से अपने घर जा रही थी , लाॅकडाउन के कारण आवागमन नही हो रहा था सुनसान रास्ता देखकर दो अज्ञात ने बिना मोटर सायकल से डागेश्वरी की पीछे से आकर मोबाइल को लुट कर ले गए । अपराध पंजीबद्ध होने के बाद मामले को गंभीरता से संज्ञान मे लिया और जिला सायबर सेल की मदद ली गई एवं वही पीड़ीता के बताए हुलिए के द्वारा शहर मे भी नजर रखी जा रही थी

 पुलिस को पता चला कि भाटापारा के सुभाष वार्ड निवासी लाला मोबाइल बेचने के फिराक मे ग्राहक ढंूढ रहे है उसे पुलिस ने रंगे हाथ पकड़ा और पुछताछ करने पर सुनसान इलाके मे , रात मे अंधेरे की आड़ एवं लाॅकडाउन का फायदा उठाकर सायकल एवं पैदल अकेले आने जाने वाले को शिकार बनाने की बात कबूल कि साथ , लुट के समय बाइक चलाने वाले दोस्त अभिषेक वर्मा एवं लुट के मोबाइल के लिए ग्राहक ढुढने वाले एक नाबालिक देास्त एवं कुलदीप वर्मा को नाम बताया एवं पुलिस ने इस मामले मे 4 आरोपीयो को गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड मे पेश किया । आरोपीयो से लुट के समानो मे 3 मोबाइल , 2 मोटर सायकल एवं 1500 रूपए नगदी जप्त की।

हत्या के प्रयास ‌ के मुख्य आरोपी गिरफ्तार

बलरामपुर चौकी बलंगी के गांव करी में दिनांक ‌5/6/2020 को शासकीय वन विभाग की जमीन पर कब्जा कर खपडेल नुमा झोपड़ी बनाने के ‌बिबाद पर आरोपी गण द्वारा एक राय होकर लाठी टांगी में मारपीट करने पर अपराध कायम कर बिवेचना में लिया गया था, आहतो का मेडिकल जांच कराई गई थी मिशन अस्पताल अंबिकापुर में भर्ती थे, छुट्टी मिल गई , आहतो का एक्स-रे सिटी स्कैन मिलने पर आरोपी गण कि पता सजी की जा रही थी जो घटना दिनांक से फरार हो गए थे, पुलिस महानिरीक्षक रतन लाल डागी के मार्ग दर्शन , पुलिस अधीक्षक टी आर कोशिमा के निर्देश पर, Asp प्रशांत कतलम व Sdop बाडफनगर डा- ध़ुवेश जायसवाल के नेतृत्व में आरोपी गण जो मप्र सीमा क्षेत्र में लुक छुप कर रहते थे, कभी चोरी छुपे घर आते थे। मुखबिर की सूचना मिलने पर आरोपी गण आ रहे सीमा बाडर में आज आते समय पकड़ा गया, पूछताछ कर गांव करी से मवेशी घर में छुपा कर रखे लाठी,टागी को बरामद किया गया जिसमें खून के धब्बे मिला है, आरोपी सूरज लाल पिता हरीपसाद 28साल, मेहीलाल यादव पिता हरीपसाद 25साल, कृपाराम पिता हरीपसाद 22साल सभी निवासी ग्राम करी को अप कमाक 45/2020धारा 341,294,506,307,147,148,149,323, भादंवि में गिरफ्तारी किया गया अन्य आरोपी फरार है,तीन मुख्य आरोपीयों को गिरफ्तार कर जुडिशियल रिमांड पर माननीय न्यायालय भेजा गया उक्त कार्यवाही में थाना प्रभारी जेपी लफड़ा, चौकी प्रभारी बलंगी सी पी तिवारी,स उ निरी सुमेश्वर टोप्पो,राम मिलन मिश्रा, प्रधान आरक्षक शिव शरणपैकरा , निर्मल सिंह,आरक्षक ,रोसन विसेन,‌सलीम, गौतम मरकाम,अमर साय,मानसाय सरोता,श्रवण मराबी,मूलधर,पदुमन मानिकपुरी,शीलानद, रघुबीर सिंह, महिला आर सगीता,व गीता सैनिक सुदर्शन यादव सकीय रहे।

रिश्तो को किया शर्मसार, चचेरे भाई ने 14 वर्षीय बहन से किया दुष्कर्म

रायपुरः छत्तीसगढ़ की राजधानी में भाई-बहन के संबंधों को तार-तार करने वाली एक घटना सामने आई है। 19 वर्षीय चचेरे भाई ने अपनी 14 वर्षीय नाबालिग बहन के साथ बलात्कार किया है। घटना खखोरा थाना क्षेत्र की है। 

आरोपी चचेरे भाई ने मासूम को घर पर अकेला पाकर उसके साथ इस घिनौने कृत्य को अंजाम दिया। बलात्कार के बाद उसने मासूम को डराया-धमकाया, ताकि वह किसी को कुछ न बताये, जिससे मासूम बहुत डर गई। तीन दिन तक पीड़िता मानसिक प्रताड़ना झेलती रही। अंत में घटना के 3 दिन बाद 21 जून की रात को पीड़िता ने अपने आपको एक कमरे में बंद कर लिया। घरवाले उसे ढूढ़ने के लिए बाहर घर से बाहर निकले, मगर वो कहीं नहीं मिली। 

कमरे में बंद नाबालिग ने आत्मग्लानि और डर से अपने शरीर में आग लगाकर आत्महत्या करने की कोशिश की। आग लगने के बाद किशोरी के चीखने की आवाज सुनकर उसके परिजन तत्काल कमरे में पहुंचे और उसके शरीर पर लगी आग पर काबू पाया। उसे तुरंत अस्पताल ले जाया गया।

पुलिस ने बताया कि किशोरी का इलाज रायपुर के सरकारी अस्पताल में चल रहा है। उसके शरीर का 20 से 30 प्रतिशत हिस्सा बुरी तरह से जल गया है। पीड़िता की हालत नाजुक बताई जा रही है। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ केस दर्ज कर, मामले की छानबीन शुरू कर दी है। 

शिक्षाकर्मी सहित एक की हुआ गिरफ्तार , 8 अभी भी फरार

वाड्रफनगर विकासखंड के रघुनाथनगर थाना अंतर्गत दो पक्षों में हुए खूनी झड़प के फरार आरोपियों में दो की हुई गिरफ्तारी पीड़ित पक्ष के द्वारा पुलिस अधीक्षक बलरामपुर से न्याय की गुहार लगाते हुए मांग की गई थी कि पीड़ित को इंसाफ नहीं मिल रहा है जिस पर एसपी बलरामपुर टीआर कोशिमा ने मामले की जांच बसंतपुर थाना प्रभारी राजकुमार लहरें को विवेचना अधिकारी नियुक्त कर जांच का जिम्मा सौंपा साथ ही नियमानुसार कार्रवाई करने के भी निर्देश दिए जिस पर त्वरित कार्रवाई करते हुए बसंतपुर थाना प्रभारी के द्वारा मामले के मुख्य आरोपी शिक्षाकर्मी रामनरेश साहू एवं जगन्नाथ साहू की गिरफ्तारी करते हुए अन्य  फरार सह आरोपियों की भी गिरफ्तारी बहुत जल्द करने की बात कही मामला जमीन विवाद से जुड़ा हुआ है

जिसमें दो पक्षों के बीच कई बार वाद विवाद हुआ करता था इसी दौरान विगत कुछ दिन पूर्व आरोपी पक्षों के द्वारा पीड़ित पक्ष को बेरहमी से मारपीट किया गया जिससे पीड़ित को गंभीर स्थिति में अस्पताल में भर्ती कराया गया एवं पीड़ित पक्ष की शिकायत पर आरोपियों के विरूद्ध रघुनाथनगर थाने में धारा 147, 148, 149, 294,  323, 336, 342, 307 भा द वि तहत के अपराध पंजीबद्ध किया गया दोनों आरोपियों को न्यायिक रिमांड पर न्यायालय में प्रस्तुत किया गया जहां से आरोपियों को जेल भेज दिया गया इस कार्यवाही में विवेचना अधिकारी राजकुमार लहरे, एसआई अशोक कुमार पांडे आरक्षक अनिल पांडे ,भूपेंद्र मराबी व अन्य स्टाफ शामिल रहे

पुलिस प्रताड़ना से तंग आकर युवक ने पिया जहर, अस्पताल में लड़ रहा जिंदगी की जंग

बलरामपुर - बेहतर पुलिसिंग के लिए जिन पुलिस कर्मियों को सरगुजा आई जी व प्रदेश के डीजीपी द्वारा सम्मानित करने की बात कहते है।उन्ही पुलिश कर्मियों का अमानवीय चेहरा सामने आ रहा है।जहाँ पर पुलिस प्रताड़ना के बाद युवक ने जहर सेवन कर लिया और हास्पिटल में जिंदगी की जंग लड़ रहा है।

पूरा मामला जिले के रघुनथनागर थाना अंतर्गत ग्राम पंचायत सरना का है। जहां पर बंसबहादुर पिता भुनेस्वर 30 वर्ष के पारिवारिक विवाद को लेकर उसकी बहन व बंसबहादुर द्वारा थाने में शिकायत की गई थी।शिकायत के एसआई अस्वनी दीवान द्वारा पीड़ित पर लगातार पैसे का दबाव बनाया जा रहा था।
पीड़ित बंसबहादुर ने बताया कि 17 जून की शाम रघुनाथनगर थाना में पदस्त एसआई अस्वनी दीवान विवेचना के लिए मेरे घर अन्य पुलिस कर्मियों के साथ आये और घर मे घुसते ही मुझे डंडे से पीटने लगे साथ ही मेरी पत्नी को भी बाल पकड़ कर खीचते हुए घर से बाहर निकल दिए और मुझे गाड़ी में बैठा कर ले जाने लगे और बोले कि सुबह तुमको झुटे केश में फसा कर जेल भेज देंगे।इसी दौरान डर से मैं गाड़ी से कूद कर भाग गया। पीड़ित युवक ने बताया कि  झुटे केश में फ़साने और पिटाई के डर से मैं जहर सेवन कर खुद को समाप्त करना चाहता था क्योंकि दीवान जी के द्वारा मुझे पूर्व में भी काफी प्रताड़ित किया गया है।
फिहल पीड़ित युवक जिंदगी और मौत के बीच लड़ाई लड़ रहा है।
आपको बता दे कि रघुनाथनगर थाना क्षेत्र असमाजिक तत्वों गढ़ बन गया है पुलिश की शह पर कई अवैध धन्धे फल फूल रहे है।पुलिस द्वारा फरियादियो से अवैध पैसे की मांग की जा रही है।ऐसे में लोग पुलिस से न्याय की उमीद न करें तो ठीक है।अन्यथा पुलिश की लाठी या झूठे केश मे फसा दिया जाएगा।
इस संबंध में जिले के पुलिस अधिक्षक  टी आर कोसीमा ने बताया कि अतिरिक्त पुलिश अधीक्षक को जांच हेतु टीम बनाने को निर्देशित किया गया है जाँच कर कार्यवाही की जाएगी।

पुलिस को मिली बड़ी सफलता, दुर्लभ वन्य जीव पैंगोलिन के साथ 3 तस्करों को किया गिरफ्तार

रायपुरः महासमुंद पुलिस ने एक ऐसे गिराह का पर्दाफाश किया है जो दुर्लभ वन्य जीवों की तस्करी में लिप्त हैं। मुखबिरों से मिली जानकारी के आधार पर पुलिस ने दुर्लभ वन्य जीव पैंगोलिन के साथ 3 तस्करों को गिरफ्तार किया है। पुलिस के अनुसार उन्हें बहुत दिनों से इन तस्करों की तलाश थी। पुलिस के मुखबिर इन तस्करों के पीछे कई दिन से लगे हुए थे। इन मुखबिरों की खबर पर दोनों तस्करों को विलुप्तप्रायः दुर्लभ वन्य जीव पैंगोलिन के साथ बलोदाबाजार से गिरफ्तार किया गया। पैंगोलिन वन्यजीव संरक्षण अधिनियम के तहत एक संरक्षित प्रजाति है और दुनिया में सबसे अधिक कारोबार वाली वन्यजीव प्रजातियों में से एक है। पैंगोलिन में बड़े, सुरक्षात्मक कवच होते हैं, जो उनकी त्वचा को ढंकते हैं। वे इस सुविधा के साथ एकमात्र ज्ञात स्तनपायी हैं। वे प्रजातियों के आधार पर खोखले पेड़ों या बूर में रहते हैं। पैंगोलिन के आहार में मुख्य रूप से चींटियों और दीमक होते हैं, जिन्हें वे अपनी लंबी जीभ का उपयोग करके पकड़ लेते हैं। वे एकांतवासी जानवर होते हैं। पैंगोलिन की तस्करी मुख्य रूप से उनके स्केल के लिए की जाती है, जो माना जाता है कि पारंपरिक चीनी चिकित्सा (टीसीएम) में विभिन्न स्वास्थ्य सुधार में इलाज में आती है। वियतनाम और चीन में पैंगोलिन को एक लक्जरी भोजन के रूप में खाया जाता है। अफ्रीका में, पंगोलिन को रस्म या आध्यात्मिक उद्देश्यों के लिए, बुशमीत के रूप में बेचा जाता है, और पारंपरिक अफ्रीकी चिकित्सा में इसा उपयोग किया जाता है। पैंगोलिन के इन्हीं गुणों के कारण इसकी तस्करी की जाती है। इसीलिए अन्य प्रदेशों में ये विलुप्त होने के कगार पर है।

फर्जी पुलिस अधिकारी बन कर वसूली करना पड़ा भारी बिलासपुरपुलिस ने दो लोगों को किया गिरफ्तार

बिलासपुर -  फर्जी पुलिस अधिकारी बन  कर वसूली करना पड़ा भारी ग्रामीणों की शिकायत के बाद पुलिस ने दो लोगों को किया गिरफ्तार।।दरअसल पूरा मामला बिलासपुर जिले के सीपत क्षेत्र का है जहां दो लोग जिनमें से एक आशीष पांडेय  और दूसरी नुपूर शर्मा है। फर्जी पुलिस अधिकारी बनकर ग्रामीण क्षेत्रों में घूम घूम कर लोगों से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न करने, मास्क न लगाने आदि के नाम पर वसूली कर रहे थे शक होने के बाद ग्रामीणों ने पुलिस को सूचना दी जिसके बाद पुलिस ने इन दोनों को गिरफ्तार कर लिया। दोनों आरोपी  बिलासपुर के  सरकंडा क्षेत्र के है। आरोपियों के पास से 8000 से अधिक की नगद रकम साथ ही साथ दुकानों से जप्त की गई सामग्री और किराए में  ली गई गाड़ी जिसमें घूम घूम कर वसूली का काम कर रहे थे उसे भी जप्त कर लिया गया।

बिलासपुर : तारबाहर थाना क्षेत्र के पुराने तेल डिपो के पास एक गार्ड की मिली लाश ...

बिलासपुर :: तारबाहर थाना क्षेत्र के पुराने तेल डिपो के पास एक गार्ड की लाश मिलने की सूचना पर तारबाहर पुलिस मौके पर पहुंच शव का पंचनामा की कार्यवाही कर पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भेजा है।वहीं मामले में पुलिस मर्ग कायम कर जांच शुरू कर दी है।दरअसल बुधवार की सुबह व्यापार विहार के पास पुराने तेल डिपो ऑफिस में गार्ड की लाश मिलने से आसपास में सनसनी फैल गई । लाश की शिनाख्त झोपड़ापारा निवासी रमेश दास के रूप में हुई। रमेश दास बतौर सुरक्षा गार्ड काम करता था।सूचना पर पुलिस शव को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भेजा है।वहीं परिजनों ने घटना पर हत्या की आशंका जताई है।फिलहाल पुलिस मामले में सभी पहलुओं पर जांच पड़ताल करते हुए पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आने का इंतजार कर रही।

क्वारेंटाइन सेंटर निकल कर महिला की हत्या ..फिर वापस पहुंच गए क्वारेंटाइन सेंटर

 कोरिया जिले के बैकुंठपुर के ग्राम सुरमी चौक पर होटल का संचालन करने वाली महिला की हत्या के मामले में बैकुंठपुर कोतवाली पुलिस ने महिला के पोते व उसके दोस्त को गिरफ्तार कर लिया है। दोनों नशे के आदी थे और 4 और 5 जून की दरमियानी रात होटल में पैसे चुराने की नियत से पहुंचे थे।

होटल संचालिका की नींद खुल जाने पर दोनों ने उसका मुंह और नाक दबा दिया था, इससे उसकी मौत हो गई थी। इस मामले में भारी लापरवाही यह सामने आई है कि दोनों आरोपी  ग्राम सुरमी क्वारेंटाइन सेंटर में रह रहे थे।

ग्राम सुरमी क्वारेंटाइन सेंटर से रात में निकलकर दोनों ने वारदात को अंजाम दिया था फिर वापस पहुंच गए। ऐसे में सवाल यह उठता है कि क्वारेंटाइन सेंटर की देखरेख करने वाले लोगों ने दोनों को बाहर कैसे निकलने दिया?

कोरिया जिले के बैकुंठपुर कोतवाली अंतर्गत ग्राम अमरपुर निवासी 60 वर्षीय फुलमनिया उर्फ फुलमन  ग्राम सुरमी चौक पर होटल चलाती थी। 4 जून की रात करीब 9 बजे वह दुकान बंद कर सो गई थी ।

5 जून की सुबह उसकी होटल में लाश मिली थी। सूचना पर पुलिस ने स्नेफर डॉग व फिंगर एक्सपर्ट की मदद से मामले की जांच की थी। स्नेफर डॉग ग्राम पंचायत अमरपुर के ग्राम सुरमी क्वारेंटाइन सेंटर में जाकर रुक गया था।

इस दौरान वहां रह रहे एक युवक ने बताया था कि यहां के 2 युवक 4 जून की रात निकलकर कहीं गए थे और देर रात तक नहीं लौटे थे। इस पर पुलिस की शक की सुई दोनों पर घूम रही थी। इन युवकों में मृतिका का पोता भी था।

पीएम रिपोर्ट आने के बाद पकड़े गए आरोपी

पुलिस ने महिला का शव पीएम पश्चात परिजन को सौंप दिया था। पीएम रिपोर्ट में डॉक्टर ने सांस रुकने से मौत की पुष्टि की। इसके बाद एसपी चंद्रमोहन  के निर्देश, एएसपी डॉ. पंकज शुक्ला व धीरेंद्र पटेल के मार्गदर्शन में कोतवाली प्रभारी विमलेश दुबे ने टीम के साथ मामले की जांच की।

शक के आधार पर पुलिस ने क्वारेंटाइन सेंटर से ग्राम आमगांव निवासी मृतिका के पोते अविनाश किंडो उर्फ गोलू उर्फ जॉनी  उसके दोस्त ग्राम फूलपुर हाल मुकाम एसईसीएल बैकुंठपुर निवासी संजय जीवन कुजूर  को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो दोनों ने हत्या की बात स्वीकार कर ली।इसके बाद पुलिस ने दोनों को धारा 302 के तहत गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। पुलिस ने होटल से चुराए गए 13 हजार 100 रुपए भी उनसे बरामद किया है।

पेड़ पर मिला बुजुर्ग महिला का शव

गिधौरी- समीपस्थ बसे ग्राम पंचायत पुलेनी मे एक बुजुर्ग 65वर्षीया महिला ने अज्ञात कारण से परसा पेड पर फांसी लगाकर आत्महत्या करने का मामला प्रकाश मे आया.है। ग्राम पंचायत पुलेनी मे रविवार को शिवनाथ वर्मा ने अपनी पत्नी श्रीमती जीत बाई वर्मा को पानी टंकी पर पानी भरने को कहा गया जिसपर पत्नी जीत बाई वर्मा के बीच मे तू तू मै की हो गया जिसमे बुजुर्ग महिला जीत बाई ने गुस्से मे आकर घर से रविवार को निकलकर कहीं चला गया ।था और सोमवार सुबह ग्रामीण टिभलु पिता बरातु वर्मा 56 वर्ष ने महानदी किनारे खेत पर काम करने गया हुआ था ग्राम पंचायत पुलेनी एवं ग्राम पंचायत घटमडवा सीमा के बीच महिला बुजुर्ग की शव परसा पेड पर लटके हुये थे ।और नजदीक जाकर देखा तो महिला शिनाख्त ग्राम पुलेनी के जीत बाई पति शिवनाथ वर्मा पहचान हुआ और सुबह सोमवार घटना जानकारीआग की तरह फैल गया ।घटना की जानकारी मृतिका का पति शिवनाथ वर्मा को दिया गया ।और गिधौरी थाना मे जाकर घटना की जानकारी दी गई । पुलिस ने मर्ग कायम कर मौके पर पहुंचे और पुलिस ने शव को उतारकर पंचनामा किया मृतक महिला लाल कलर की पहनी हुई थी और लायलौन गेरवा.रस्सी तथा साडी मे फांसी लगाया हुआ था और शव को पोस्टमार्टम के लिये कसडोल भेजा गया.है इधर मृतक महिला की पति शिवनाथ वर्मा से पुछने पर बताया गया की रविवार पानी टंकी पर पानी भरने के लिये बोला गया जिसमे दोनो बीच तू तू मै हो गया था घर से गुस्से मे आकर कही चले गये थे जिसकी खोज खबर शाम किया नही मिले थे और सोमवार को घटना की जानकारी हुई है। फोटो चस्पा करे जीडीआर 1

भाजपा नेता नरेश देवागन उपाध्यक्ष नगर पंचायत बिलाईगढ सहित 6 आरोपियों को पुलिस ने किया गिरफ्तार ....पढ़े क्या है पूरा मामला

■ भाजपा नेता नरेश देवागन उपाध्यक्ष नगर पंचायत बिलाईगढ सहित 6 आरोपियों को सरसीवा पुलिस ने रंगे हाथों जुवा खेलते धर दबोचा..

■ आरोपियों के कब्जे से नगदी 124270/ रुपए एवं एक स्कार्पियो वाहन सहित चार मोटर साइकिल जप्त..

■ आरोपियों को गिरफ्तार कर भेजा गया न्यायिक रिमांड पर...

पुलिस अधीक्षक बलौदाबाजार प्रशांत ठाकुर द्वारा जिले के समस्त थाना प्रभारियों को अपने-अपने थाना क्षेत्र में चल रहे अवैध जुआ, सट्टा में संलिप्त लोगो के विरुद्ध सख्त कानूनी कार्यवाही करने हेतु निर्देशित किए जाने पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक महोदय बलौदाबाजार निवेदिता पाल एवं अनुविभागीय अधिकारी पुलिस बिलाईगढ़ संजय तिवारी के कुशल मार्गदर्शन में थाना प्रभारी सरसीवा जी.एस. देशमुख को आज 07जून 2020 को जरिए मुखबीर से सूचना मिला कि कुछ जुआड़ियान सराईपाली रोड किनारे अजय साहू के कांप्लेक्स के पास तासपत्ती से रुपए पैसे की दाव लगाकर जुआ खेल रहे हैं कि सूचना पर तत्काल हमराह स्टाफ के मौके पर पहुंचकर रेड कार्यवाही कर आरोपियान कपूर चंद अग्रवाल, सुनील कुमार सिंघानिया, बलराम देवांगन, अशोक साहू, नरेश देवांगन, प्रहलाद कुमार साहू, गौतम सिंह ठाकुर के कब्जे से नगदी 124270/ रुपए, ताश पत्ती एवं मौके से एक स्कार्पियो वाहन एवं चार नग मोटर साइकिल को समक्ष गवाहन विधिवत जप्त किया गया तथा आरोपियों के द्वारा कोविड-19 के तहत धारा 144 लागू होना जानते हुए भी शासन के नियमों को अनदेखा करते हुए एक ही स्थान पर लाक डाउन का उल्लंघन करते हुए बिना सोशल डिस्टेंसिंग एवं बिना मास्क लगाए हुए जुआ खेलते पाए जाने से आरोपियों के विरुद्ध अपराध क्रमांक 201/2020 धारा 13 जुआ एक्ट, 188, 34 भा.द.वि. पंजीबद्ध कर आरोपियों को गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड पर भेजा गया।

■ गिरफ्तार आरोपियों का नाम पता -

(1) सुनील कुमार सिंघानिया पिता बैजनाथ सिंघानिया उम्र 48 वर्ष निवासी बिलाईगढ़ (02) बलराम देवांगन पिता रेशम लाल देवांगन उम्र 42 वर्ष निवासी बिलाईगढ़

(03) नरेश देवांगन पिता ईश्वरी प्रसाद देवांगन उम्र 36 वर्ष निवासी बिलाईगढ़

(04) कपूर चंद अग्रवाल पिता स्वर्गीय ताराचंद अग्रवाल उम्र 62 वर्ष निवासी सरसीवा।

(05) अशोक साहू पिता विजय राम साहू उम्र 54 वर्ष निवासी सरसीवाः

(06) प्रहलाद कुमार साहू पिता खुनुराम साहू उम्र 62 वर्ष निवासी सरसीवा।

(07) गौतम सिंह ठाकुर पिता रूपसिंह ठाकुर उम्र 65 वर्ष निवासी पेंड्रावन थाना सरसीवा।

उपरोक्त कार्यवाही में थाना प्रभारी सरसीवा जी.एस. देशमुख, सउनि मनोहर सिंह राजपूत, प्रधान आरक्षक नवीन शुक्ला, कौशल प्रसाद पैकरा, राजकुमार ठाकुर आरक्षक मुकेश रात्रे, सत्यप्रकाश खरे, अनिरुद्ध भगत, प्रमोद सरदार, विजय नारग, रूपेश साहू, अजय, रथराम साहू पंकज शर्मा का विशेष योगदान रहा है।