बड़ी खबर

हैदराबाद गैंगरेप के चारों आरोपी मारे गए, भागने की कोशिश कर रहे चारों का पुलिस ने किया एनकाउंटर

हैदराबाद गैंगरेप को चारों आरोपी मारे गए हैं. हैदराबाद पुलिस ने चारों आरोपियों का एनकाउंटर कर दिया है. बताया जा रहा है कि पुलिस इन चारों लोगों को वारदात की जगह ले जा रही है, जहां से इन चारों लोगों ने भागने की कोशिश की. इसके बाद पुलिस ने चारों आरोपियों का एनकाउंटर कर दिया.

हैदराबाद:- हैदराबाद गैंगरेप को चारों आरोपी मारे गए हैं. हैदराबाद पुलिस ने चारों आरोपियों का एनकाउंटर कर दिया है. बताया जा रहा है कि पुलिस इन चारों लोगों को वारदात की जगह ले जा रही है, जहां से इन चारों लोगों ने भागने की कोशिश की. इसके बाद पुलिस ने चारों आरोपियों का एनकाउंटर कर दिया. हैदराबाद के बाहरी इलाके शमशाबाद में 27 नवंबर की रात को चार ट्रक ड्राइवरों और क्लीनर ने मिलकर महिला डॉक्टर के साथ गैंगरेप और जलाकर मारने जैसे अपराध को अंजाम दिया था.

आईटीबीपी के जवानों के बीच फायरिंग, 6 की मौत 2 घायल

नारायणपुर:- नारायणपुर में 6 जवानों की मौत और 2 के घायल होने की खबर है। आईटीबीपी के जवानों के बीच आपस में फायरिंग में 6 जवानों की मौत हो गई है, जवानों में किसी बात को लेकर विवाद हुआ, जिसके बाद आपस मे फायरिंग शुरू हो गई, इस मामले में बीच बचाव करने आए जवान भी घायल हो गए हैं। मामला कडेनार इलाके का बताया जा रहा है। घायल जवानों को हॉस्पिटल लाने के लिए हेलीकॉप्टर भेजा जा रहा है, उन्हें इलाज के लिए रायपुर लाया जाएगा। घटना की वजहों का खुलासा नही हो सका है। एसपी मोहित गर्ग ने घटना की पुष्टि की है।

बिलासपुर नगर निगम चुनाव : भाजपा ने जारी की प्रत्याशियों की लिस्ट ...पढ़े पूरी खबर

बिलासपुर नगरीय निकाय चुनाव को लेकर बीजेपी कार्यलय में आज दिनभर मंथन का दौर चलता रहा।।नए परिसीमन को लेकर इस बार निकाय चुनाव में 70 वार्ड शामिल किए गए।।निगम सीमा में नए ग्रामीण क्षेत्रो को शामिल किए जाने के बाद।।और महापौर का चयन भी पार्षद दल के द्वारा ही किया जाना है।।इन सब को लेकर इस बार बीजेपी ने उन पुराने चेऐरो को इस बार मौका दिया।। वही आज शाम तक 70 वार्डो में 58 वार्डो के प्रत्याशी के नाम की घोषणा की है।।कल शेष 12 वार्डो की सूची लगभग आने की उम्मीद बताई जा रही।ऐसा बताया जा रहा है कि इस निकाय चुनाव में बीजेपी विधानसभा की करारी हार के बाद कोई भी चूक नही नही करना चाहति जिससे सामने वाला इसका फायदा उठा सके।।वही इस चयन समिति के लिए भी चेलेंज है ।।

न्यायधानी बिलासपुर में मानवता को शर्मशार करने का मामला आया सामने ,,प्रेमी से मिलने आई प्रेमिका के साथ गैंगरेप

बिलासपुर छत्तीसगढ़ :: न्यायधानी बिलासपुर में मानवता को शर्मशार करने वाला मामला सामने आया है । जहाँ प्रेमी से मिलने आई प्रेमिका के साथ गैंगरेप हुआ। है । प्रेमी ने ही अपने दो दोस्तो के साथ मिलकर इस सामूहिक दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया। दरिदंगी का शिकार हुई युवती ने पूरे मामले की जानकारी महिला थाने में दर्ज करवाई जिसके बाद ततपरता दिखाते हुए सरकण्डा पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरिफ्तार कर लिया है ।पकड़े गए सभी आरोपी आदतन बदमाश है जो पहले भी लूट और डकैती की घटना को अंजाम दे चुके है और कुछ दिन पहले ही जमानत में जेल से छूट कर आये है मामला सरकंडा थाना क्षेत्र के नूतन चौक स्थित अटल आवास की है। 21 वर्षीया दुष्कर्म पीडिता जो कि अम्बिकापुर के रहने वाली है और रायपुर की एक प्राइवेट कंपनी में काम करती है। युवती को स्टेशन छोड़ने के बहाने कोनी क्षेत्र के सुनसान इलाके में ले जाकर पहले तो जमकर मारपीट की और फिर युवकों ने गैंगरेप किया । साथ ही पूरे मामले में किसी प्रकार की शिकायत पर जान से मारने की धमकी भी दी । बदहवाश में पीड़िता किसी तरह थाने पहचकर आपबीती सुनाई । पीड़िता की रिपोर्ट पर सरकंडा पुलिस ने प्रेमी युवक मासूम बेग व उनके दो साथी शशिकांत वैष्णव, रमेश साहू को किया गिरफ्तार कर लिया है।

बड़ी खबर : बिलासपुर में चली गोली , आरोपी ने इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहे छात्र..के ऊपर चलाई गोली...पढ़े पूरा मामला

बिलासपुर उसलापुर स्टेशन के पास एक युवक ने गोली मारकर इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहे छात्र को गंभीर रूप से घायल कर दिया।।जहाँ घायल का इलाज निजी अस्पताल में चल रहा है।।घटना की सूचना पर पहुंची सिविल लाइन पुलिस मामले की जांच कर रही है। सूत्रों के मुताबिक सिविल लाइन थाना क्षेत्र अंतर्गत उसलापुर स्टेशन के पास उस वक़्त हड़कम्प मच गया, जब गोली की आवाज गूंजी, जानकारी के अनुसार रात तकरीबन 8:30 बजे कार में बैठे विश्वजीत परिदा नामक युवक को अज्ञात आरोपी ने गाड़ी से उतरने बोला, और उस पर बंदूक से फायर कर फरार हो गया। घायल युवक का नाम विश्वजीत परिदा उम्र तकरीबन 22 साल है, जो सरकंडा के ड्रीम्स एम्पीरिया में रहता है। वह अपनी कार में उसलापुर स्टेशन के पास बैठा था, तभी आरोपी बाईक सवार युवक वहां पहुंचा, और उसे कार से उतरने कहा, जैसे ही विश्वजीत कार से उतरा आरोपी युवक ने उस पर फायर किया, और दौड़कर बाईक से भाग निकला, घटना जहां पर हुई वहां अंधेरा था, और आरोपी गमछे से मुंह बांधकर आया था, इसलिए उसकी पहचान नही हो सकी है, घायल युवक विश्वजीत के कंधे पर गोली लगी है, ऐसा बताया जा रहा है, उसे इलाज के लिए अपोलो हॉस्पिटल में भर्ती किया गया है। वही सिविल लाइन पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

बड़ी खबर : प्रदेश की भूपेश सरकार को हाई कोर्ट से परिसीमन को लेकर झटका।।राज्य सरकार द्वारा कराए गए परिसीमन को चुनौती। 17 पंचायतों ने परिसीमन को दी थी चुनौती ।

आपको बता दे की न्यायालय ने इनमें से 10 के परिसीमन को लेकर राज्य सरकार के नोटिफिकेशन को रद्द कर दिया है। साथ ही कोर्ट ने आदेश दिया है कि इन पंचायतों का चुनाव नोटिफिकेशन जारी होने से पहले की स्थिति के अनुसार ही कराए जाएंगे। राज्य सरकार को मामले में नए सिरे से नोटिफिकेशन जारी करने का खुला रास्ता भी प्रदान किया है। मामले की सुनवाई जस्टिस पी सैम कोशी द्वारा की गई

बैंक कर्मी बन कर बुजुर्ग पेंशनरों से धोखाधड़ी करने वाला गिरोह को पुलिस ने पकडने में सफलता हासिल की।।आरोपियों के द्वारा फोन में ओटीपी पूछ कर खाते से पैसा करते थे पार।।

पूरा मामला बिलासपुर के सिविल लाइन थाना क्षेत्र का है थाना क्षेत्र के अंतर्गत रहने वाले रिटायर्ड कर्मी प्रयागदत्त दीक्षित के खाते से 10 नवंबर के दिन तीन किस्तों पर पैसे ₹47000 पार हो गए जिसकी जानकारी होते ही ने सिविल लाइन थाने में मामला दर्ज कराया क्योंकि मामला एटीएम फ्रॉड से जुड़ा हुआ था इसलिए तकनीकी पहलुओं पर ध्यान देते हुए मोबाइल फोन का लोकेशन ट्रेस किया गया जोकि झारखंड के गिरिडीह का निकला।जिसके बाद सिविल लाइन थाने के सब इंस्पेक्टर शैलेंद्र सिंह की अगुवाई में एक टीम झारखंड गई और वहां चुनावी माहौल के चलते चुनाव प्रचारक और चुनाव अधिकारी बन पूरे जगह की रेकी की गई जिसके बाद आरोपियों की शिनाख्त हो पाई और उन्हें गिरफ्तार कर छत्तीसगढ़ लाया गया पूछताछ के दौरान आरोपी शहाबुद्दीन अंसारी और मोहम्मद अंसारी ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है दोनों आरोपी के पास से आठ मोबाइल फोन भी जप्त किए गए हैं कार्रवाई पूरी करने के बाद दोनो आरोपियों को कोर्ट में पेश किया गया जहां से उन्हें रिमांड पर जेल भेज दिया गया।।

छत्तीगढ़ के 168 निकायों में नगरीय निकाय चुनाव के लिए आज शाम से लग जाएगी आचार संहिता

रायपुर-  छत्तीसगढ़ में नगरीय निकाय चुनाव के लिए तारीख़ों का ऐलान से आज हो जाएगा. आज शाम से आदर्श चुनाव आचार संहिता लग जाएगी. राज्य निर्वाचन आयोग ने चुवान को लेकर अपनी तैयारी पूरी कर ली है. आयोग की ओर से मिल रही जानकारी के मुताबिक आयुक्त ठाकुर राम सिंह शाम 3 बजे प्रेसवार्ता कर चुनाव तारीख़ों की घोषणा करेंगे.
संभावना है कि दिसंबर महीने में मतदान की प्रकिया पूरी करा ली जाएगी. वहीं दो चरणों में चुनाव होगा. इसके साथ ही इस बार ईवीएम की बजाय मतपत्रों के साथ चुनाव होगा लिहाजा यह महत्वपूर्ण रहेगा. आपको बता दे कि कुल 168 निकायों में चुनाव होने हैं. इसमें 13 नगर निगम, 44 नगर पालिका और 111 नगर पंचायत शामिल है.

विधानसभा : शीतकालीन सत्र का आज से आगाज, दो पूर्व मुख्यमंत्री, दो पूर्व केंद्रीय मंत्री, पूर्व सांसद और पूर्व विधायक को दी गई श्रद्धांजलि,

रायपुर छत्तीसगढ़ विधानसभा के शीतकालीन सत्र का आज से आगाज हो रहा है. सत्र की शुरुआत में आज पहले दिन 6 दिवंगत नेताओं को श्रद्धांजलि दी  . जिन नेताओं को सदन में श्रद्धांजलि दी  गई उनमें-  पूर्व मुख्यमंत्री कैलाश जोशी, बाबू लाल गौर, पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली, सुषमा स्वराज और पूर्व सांसद बंशीलाल महतो, पूर्व विधायक मानूलाल सिंघानिया के नाम शामिल हैं.
पहले दिन सत्र में जानिए क्या खास-
जुलाई 2019 के सत्र के प्रश्नों के अपूर्ण उत्तरों के संकलन को पटल पर रखा जाएगा.
नियम 267 क के अधीन जुलाई, 2019 सत्र में सदन में पढ़ी गई सूचनाओं तथा उनके उत्तरों का संकलन पटल पर रखा जाएगा.
सभापति तालिका की घोषणा
नियम 38 (1) के अधीन दो ध्यानाकर्षण
1. भाजपा विधायक अजय चंद्रकार, बृजमोहन अग्रवाल और शिवरतन शर्मा की ओर से शक्तिवर्धक इंजेक्शन की अवैध बिक्री का मामला उठाएंगे.
2. भाजपा विधायक सौरभ सिंह राष्ट्रीय राजमार्ग-49 में अनियमिता का मामला उठाएंगे.
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल वित्तीय वर्ष 2019-20 के द्वितीय अनुपूरक अनुमान का उपस्थापन करेंगे.

BBN24 न्यूज की खबर का असर,,2 साल से बहिष्कृत परिवार को मिला न्याय,,गाँव और समाज ने उस परिवार को फिर से अपनाया,,

नीलकमल सिंह ठाकुर

मुंगेली- BBN24 न्यूज़ की खबर का एक बार फिर बड़ा असर देखने को मिला है. 2 साल से समाज एवं गांव से बहिष्कृत परिवार को समाज में फिर से वापस सम्मान मिला है. खबर प्रकाशित होने के बाद बहिष्कृत परिवार को ना सिर्फ न्याय मिला है. बल्कि अब वह सामान्य व्यक्ति की तरह समाज में और गांव में रहने लगा है. वहीं पीड़ित संतन ने BBN24 से टेलीफोनिक चर्चा में मीडिया के दखल के बाद न्याय मिलने पर संतुष्टि जाहिर करते हुए रुंधे गले से BBN24 को उनकी आवाज बनने के लिए धन्यवाद दिया है.

दरअसल मुंगेली जिले के पथरिया में साकेत चौकी अंतर्गत घटोलीपारा निवासी सन्तन निर्मलकर एवं उनके परिवार को समाज के ठेकेदारों एवं गांव के दबंगों ने 2 साल पूर्व न सिर्फ समाज से बल्कि गांव से बहिष्कृत कर दिया था. इस तुग़लकी फरमान का गांव में इस कदर हावी था कि संतन और उसके परिवार के सदस्यों से न तो कोई बातचीत करता था, ना कोई रोजी रोटी के लिए उन्हें काम देता और न ही गांव के दुकानदारों के द्वारा उसे और उसके परिवार के सदस्यों को किराना सामग्री दिया जाता था. यही वजह है कि संतन और उसके परिवार को जरूरत के सामान व रोजी रोटी के लिए पड़ोसी गांवो पर निर्भर रहना पड़ता था .जिसके चलते दाने-दाने को मोहताज संतन एवं उनके परिवार की स्थिति काफी दयनीय हो गई थी. वहीं पुलिस एवं प्रशासन के अधिकारियों से गुहार लगाने के बाद भी उन्हें न्याय नहीं मिला.

इस पूरे मामले को BBN24 ने हाल ही में प्रमुखता से खबर प्रकाशित किया. जिसके बाद हरकत में आए प्रशासन एवं पुलिस के अधिकारियों ने घटोलीपारा गांव का रुख किया. जिसके बाद प्रशासन एवं पुलिस के अधिकारियों ने लगातार ग्रामीणों की बैठक लेकर इस पूरे मामले की जानकारी ली गई और उन्हें समझाइश भी दी गई. जिसके बाद समाज के लोगों एवं ग्रामीणों ने लिखित में सन्तन एवं उनके परिवार के साथ सामान्य व्यवहार करने संबंधी पत्र प्रशासन एवं पुलिस को सौंपा है.

इस पूरे मामले में मुंगेली कलेक्टर डॉ सर्वेश्वर नरेंद्र भूरे ने BBN24 से बातचीत में कहा है कि प्रशासनिक अधिकारियों को गांव में भेजकर पूरे मामले की जानकारी ली गई वहीं ग्रामीणों को समझाइश देकर पीड़ित सन्तन एवं उसके परिवार को उचित न्याय दिलाया गया. और अब वह आम आदमी की भांति गांव में जीवन यापन कर रहा है

वहीं एडिशनल एसपी सीडी तिर्की ने कहा है कि पीड़ित पक्ष के शिकायत के आधार पर पूरे मामले की जांच कराई गई जिसके बाद सामने आए तथ्यों के आधार पर दोनों पक्ष को समझाइश दी गई बहरहाल स्थिति सामान्य है एवं पीड़ित परिवार सामान्य जीवन यापन कर रहा है. वहीं ग्रामीणों के द्वारा उनके साथ समान व्यवहार करने संबंधी एक पत्र भी दिया गया है. पीड़ित पक्ष ने वैधानिक कार्यवाही चाहने के पक्ष में इंकार करते हुए बहिष्कृत जीवन बहाल करने की मांग की गई. जिसके आधार पर उनके द्वारा चाही गई उचित न्याय मुहैया कराई गई है।