राज्य

अमेरिकन कॉलेज ऑफ़ सर्जन्स के अंतरराष्ट्रीय फेलो की उपाधि से छत्तीसगढ़ का मान बढ़ाया ,डाक्टर नितिन

रायपुर। छत्तीसगढ़ के युवा लेप्रोस्कोपिक सर्जन और चंदादेवी तिवारी अस्पताल, बलौदााबाज़ार के निदेशक डॉ नितिन तिवारी को  विगत दिनो संयुक्त राज्य अमरीका के सेनफ्रांसिस्को शहर में अमेरिकन कॉलेज ऑफ़ सर्जन्स के अंतरराष्ट्रीय फेलो की उपाधि प्रदान की गई। डाक्टर तिवारी ने छत्तीसगढ़ का मान विदेश में बढ़ाया है। उनकी इस उपलब्धि पर डाक्टर बिरादरी ने बधाई दी है। गौरतलब है कि शल्य चिकित्सा जगत में यह उपाधि उत्कृष्ट सर्जरी कौशल के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर दी जाती है तथा छत्तीसगढ़ से इससे नवाज़े जाने वाले डॉ नितिन तिवारी दूसरे सर्जन हैं। डॉ तिवारी अनेक कठिन सर्जरी कर चुके हैं। 

छत्तीसगढ स्थापना दिवस के अवसर पर छत्तीसगढ एक्सप्रेस का परिचालन उत्कृष्ट कोचों के साथ किया गया

रेलवे प्रशासन द्वारा उत्कृष्ट योजना के तहत नामित गाडियों के कोचों को यात्रियों को यात्रा के दौरान सुहाना सफर का एहसास दिलाने हेतु बेहतर सुविधायें उपलब्ध कराने के लिये कोच के अंदर एवं बाहर को अपग्रेड कर आकर्षक बनाया जा रहा है। इसी कडी में आज दिनांक 01 नवम्बर 2019 को छत्तीसगढ राज्य के स्थापना दिवस के अवसर पर 18237 छत्तीसगढ एक्सप्रेस का परिचालन उत्कृष्ट योजना के तहत अपग्रेड किये गये नये लुक एवं आकर्षक कोचों के साथ किया गया। इन कोचों के अंदर कई तरह के बदलाव किये गये हैं। गेट के आसपास अंदर के हिस्से में विनाइल रेपिंग किया गया है जो यात्रियों को गाडी में प्रवेश करते ही बेहतर एहसास दिलायेगी। कोचों के आंतरिक हिस्से में काफी फेरबदल करते हुए नई शक्ल दी गई है। डिब्बों के अंदर स्टेनलेस स्टील का डस्टबिन भी लगाया गया है। इन कोचों के शौचालयों में काफी बदलाव किया गया है। शौचालय के अंदर डेकोरेटिव ग्लास फेब्रिक्स प्लास्टिक शीट लगाया गया है तथा एपाक्सी फर्श बिछाया गया गया है। एसी कोचों के डोरवे क्षेत्र एवं शौचालय के अंदर कोरियन बाशबेसिन का प्रावधान किया गया है। बाथरूम में बड़े-बड़े शीशे लगाए गए हैं। साथ ही टॉयलेट क्षेत्र को गंध रहित बनाने के लिये आटो जेनिटर लगाये गये हैं। कोच के बाहरी दृश्य को भी रंगरोगन एवं सौंदर्यीकरण कर नया लुक दिया गया है।

राउरकेला-बिलासपुर-झारसुगुडा लाइन में आधुनिकीकरण कार्य रद्द रहेगी ये ट्रेने

राउरकेला-बिलासपुर-झारसुगुडा लाइन में आधुनिकीकरण कार्य के फलस्वरुप कुछ गाड़ियां प्रभावित रहेगी दक्षिण पूर्व रेलवे द्वारा रेलवे लाइन में आधुनिकीकरण का कार्य किया जा रहा है। इसके फलस्वरूप माह नवम्बर 2019 के दौरान प्रत्येक मंगलवार एवं शुक्रवार को दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे से गुजरने वाली कुछ सवारी गाड़ियों का परिचालन प्रभावित रहेगा। जिसका विस्तृत विवरण इस प्रकार है:-

रद्द होने वाली गाड़ियां:-

1 माह नवम्बर 2019 में प्रत्येक मंगलवार एवं शुक्रवार को टाटानगर से रवाना होने वाली गाडी संख्या 58113 टाटानगर-बिलासपुर पैसेंजर रद्द रहेगी।

2 माह नवम्बर 2019 में प्रत्येक मंगलवार एवं शुक्रवार को बिलासपुर से रवाना होने वाली गाडी संख्या 58114 बिलासपुर-टाटानगर पैसेंजर रद्द रहेगी।

आंशिक रद्द होने वाली गाड़ियां:-

1 माह नवम्बर 2019 में प्रत्येक प्रत्येक शनिवार को टाटानगर से रवाना होने वाली गाडी संख्या 58111 टाटानगर-इतवारी पैसेंजर को झारसुगुडा में समाप्त कर यहीं से 58112 इतवारी-टाटानगर पैसेंजर बनाकर एक घंटे देरी से टाटानगर के लिए रवाना की जायेगी। गाडी संख्या 58111 पैसेंजर झारसुगडा-इतवारी के मध्य तथा प्रत्येक शुक्रवार को इतवारी से रवाना होने वाली 58112 इतवारी-टाटानगर पैसेंजर इतवारी-झारसुगडा के मध्य रद्द रहेगी।

2 माह नवम्बर 2019 में प्रत्येक प्रत्येक बुधवार एवं शनिवार को टाटानगर से रवाना होने वाली गाडी संख्या 58113 टाटानगर-बिलासपुर पैसेंजर को झारसुगुडा में समाप्त कर यहीं से 58114 बिलासपुर-टाटानगर पैसेंजर बनाकर टाटानगर के लिए रवाना की जायेगी। गाडी संख्या 58113/58114 टाटानगर-बिलासपुर-टाटानगर पैसेंजर झारसुगडा-बिलासपुर-झारसुगडा के मध्य प्रत्येक गुरूवार एवं रविवार को रद्द रहेगी।

नक्सली घटना की दण्डााधिकारी जांच प्रारंभ

Danteshwar kumar (chintu)

बीजापुर - दिनांक 10 अक्टूबर 2019 को ग्राम टेकमेटला व पोलमपल्ली, भुषापूर थाना उसूर क्षेत्रांतर्गत पुुलिस नक्सली मुठभेड़ की घटना घटित हुई है, थाना उसूर से जिला बल एवं 229 वी वाहिनी एफ कम्पनी केरिपु के असिस्टेंट सुभाष चन्द्रा के हमराह में 45 नफर कुल 61 नफर बल साथ ग्राम टेकमेटला व पोलमपल्ली भुषापुर के जंगल पहाडी में सशस्त्र माओवादियों की उपस्थिति आसूचना प्राप्त पर पुलिस अधीक्षक बीजापुर के आदेशानुसार नक्सल गश्त सर्चिंग पर रवाना हुए थे, दिनंाक 11 अक्टूबर 2019 के लगभग प्रातः 7ः30 बजे घटना स्थल 62 किमी. दक्षिण ग्राम टेकमेटला व पोलमपल्ली  भुषापुर  के मध्य अज्ञात 15-20 सशस्त्र माओवादियों के द्वारा एक राय होकर पुलिस पार्टी को जान से मारने एंव हथियार लूटने के नियत से आईडी ब्लास्ट कर पुलिस पार्टी पर अंधाधुंध फायरिंग करने लगे। पुलिस पार्टी के द्वारा आत्मरक्षार्थ माओवादियों पर जवाबी फायरिंग किया गया। पलिस पार्टी के बढ़ते दबाव को देखकर माओवादी जंगल पहाड़ की आड लेकर भाग निकलने में सफल हो गए। फायरिंग बंद होने के उपरांत घटना स्थल की सर्चिंग करने पर 01 अज्ञात माओवादी का शव, 01 नग भरमार बंदूक, 01 नग टिफिन बम, कार्डेक्सन वायर, 02 नग डेटोनेटर, 04 नग एस.एल.आर. का खाली खोखा, 01 नग रेडियों , 01 नग बैटरी, 10 मीटर वायर, थैला नीले रंग का, गन पाउडर अन्य नक्सली साहित्य बरामद किया गया। कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी बीजापुर द्वारा उक्त घटना की दण्डााधिकारी जांच किए जाने हेतु अनुविभागीय अधिकारी भोपालपटनम को नियुक्त किया गया है। इस संबंध में जिस किसी को भी किसी प्रकार की जानकारी हो तो दिनांक 20 नवम्बर 2019 तक न्यायालय अनुविभागीय दण्डाधिकारी भोपालपटनम मुख्यालय जिला कार्यालय बीजापुर में उपस्थित होकर प्रस्तुत कर सकते है। 

आखिर क्यों लेना पड़ा कांग्रेस के दिग्गज नेता की पत्नी को सोशल मिडिया का सहारा

 

 रायपुर:-  सोशल मीडिया में  कुशाभाऊ ठाकरे पत्रकारिता विश्वविद्यालय के कुलपति अमृता राय के नाम आने का फर्जी खबर सामने आया जिसके बाद खुद अमृता राय को फेसबुक के माध्यम से इस फर्जी खबर का खंडन करना पड़ा. एक निजी वेब पोर्टल ने कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह की पत्नी अमृता राय को  कुशाभाऊ ठाकरे पत्रकारिता विश्वविद्यालय की कुलपति इस माह के अंतिम तक ऐलान  की खबर को प्रकशित किया था .जिसके बाद अमृता राय को फेसबुक के माध्यम से इस फर्जी खबर का खंडन किया .देखे फेसबुक पोस्ट 

बिलासपुर स्टेशनों में किलाबंदी टिकट चेकिंग अभियान से 2,04,745 रूपये की वसूली

टिकट लेकर यात्रा करने वाले यात्रियों की सुविधा एवं बिना टिकट यात्रा करने वाले यात्रियों की रोकथाम हेतु लगातार टिकट चेकिंग अभियान मंडल वाणिज्य विभाग द्वारा चलाया जा रहा है। इसी संदर्भ में 11 अक्टूबर 2019 को वरि.मंडल वाणिज्य प्रबंधक(समन्वय) श्री पुलकित सिंघल के मार्गदर्शन में तथा मंडल वाणिज्य प्रबंधक श्री किशोर निखारे व सहायक वाणिज्य प्रबंधक श्री के.सी.स्वाइन के नेतृत्व में बिलासपुर स्टेशन में किलाबंदी टिकट चेकिंग अभियान चलाया गया। इस अभियान में वाणिज्य निरीक्षक, सीटीआई टीटीई एवं आरपीएफ स्टाफ भी शामिल थे। अभियान के दौरान 30 गाड़ियों में यात्रियों की टिकट की जांच की गई तथा बिना टिकट एवं अनियमित टिकट के साथ यात्रा करते पाये गये यात्रियों पर नियमानुसार जुर्माने की कार्यवाही की गई। इस अभियान में कुल 859 मामलों से 2,04,745 रूपये जुर्माना वसूला गया। जिसमें बिना टिकट के 130 मामलों से 72,985 रूपये, अनियमित टिकट के 183 मामलों से 81,185 रूपये, बिना बुक किये गये लगेज के 543 मामलों से 50,225 रूपये, धूम्रपान के 01 मामले से 200 रूपये तथा गंदगी फैलाने के 02 मामलों से 150 रूपये शामिल हैं।

खरसियां से कोरीछापर तक 44 किलोमीटर लंबी नवनिर्मित रेल लाइन पर पहली मालगाड़ी का सफलतापूर्वक परिचालन ।

खरसियां-धरमजयगढ़ (102 कि.मी.) नई रेल लाइन परियोजना के अंतर्गत खरसियां से कोरीछापर तक 44 किलोमीटर लंबी रेल लाइन का निर्माण कार्य पूर्ण ।

नई लाइनों के निर्माण से छत्तीसगढ़ के सुदूर एवं रेल विहीन क्षेत्रों में आर्थिक व सामाजिक विकास को मिलेगी एक नई गति ।

बिलासपुर 12 अक्टूबर, 2019

दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे में महत्वपूर्ण रेल कारीडोर परियोजनाओं पर कार्य किए जा रहे है । इसी के अंतर्गत ईस्ट रेल परियोजना के प्रथम चरण में खरसियां से गरे पेलमा सहित धरमजयगढ़ तक 102 किलोमीटर लंबी रेल लाइन का निर्माण किया जा रहा । इस परियोजना के अंतर्गत खरसियां से कोरीछापर तक 44 किलोमीटर लंबी रेल लाइन का निर्माण कार्य पूर्ण कर शुरुआती दौर में इस लाइन को मालगाड़ी के परिचालन के लिए अधिकारियों के निरीक्षण पश्चात फिट दिया गया है ।

इसी कड़ी में आज दिनांक 12 अक्टूबर, 2019 को इस नवनिर्मित रेल लाइन पर पहली मालगाड़ी का सफलतापूर्वक परिचालन किया गया । आज प्रातः 7.05 बजे खरसियां स्टेशन से 58 वैगन की एक खाली मालगाड़ी को कोरीछापर के लिए रवाना किया गया, जो कि 9.00 बजे कोरीछापर रेलवे स्टेशन पहुँची । वापसी में इस मालगाड़ी में कोयला लोड कर दोपहर 13.40 बजे कोरीछापर स्टेशन से कुम्हारी स्टेशन के लिए रवाना किया गया जो कि दोपहर 15.35 बजे खरसियां स्टेशन पहुँची एवं आगे गंतव्य के लिए रवाना की गई ।

ईस्ट रेल कारीडोर परियोजना के अंतर्गत प्रथम चरण में खरसियां-घरघोड़ा-कोरीछापर- धरमजयगढ़ सहित घरघोड़ा से डोंगा महुआ, गरे पेल्मा तक 102 किलोमीटर नई रेल लाइन का निर्माण किया जा रहा है । नई रेल लाइन परियोजना के अंतर्गत खरसिया से धरमजयगढ़ तक गुरदा, छाल, घरघोड़ा, कोरीछापर, कुरुमकेला, धरमजयगढ़, भालूमाड़ा एवं गरे पेलमा में 09 रेलवे स्टेशन बनाने की योजना है । इस परियोजना के प्रथम चरण की वर्तमान अनुमानित लागत लगभग 3055 करोड़ है एवं इस परियोजना की कुल लागत का एसईसीएल.64%, इरकान.26%ए एवं छत्तीसगढ़ शासन के द्वारा 10% की राशि संयुक्त रूप से साझा की जा रही है । ईस्ट रेल कारीडोर परियोजना के दूसरे चरण के अंतर्गत धरमजयगढ़ से उरगा तक 62.5 किलोमीटर रेल लाइन का निर्माण किया जाएगा ।

इन रेल लाईनों के निर्माण से न सिर्फ माल परिवहन को बढ़ावा मिलेगा बल्कि छत्तीसगढ़ के सुदूर एवं रेल विहीन क्षेत्रों के निवासियों को रेल आवागमन की सुविधा भी उपलब्ध हो सकेगी । साथ ही इन क्षेत्रों में आर्थिक व सामाजिक विकास को भी एक नई गति मिलेगी ।

अब से उत्कल एक्सप्रेस में यात्रियों को मिलेगी 02 अतिरिक्त अस्थायी कोच की सुविधा।

अजीत मिश्रा ll रेलवे प्रशासन द्वारा गाडियों में त्यौहारों के दौरान यात्रियों की होने वाली अतिरिक्त भीड़़़ को ध्यान में रखते हुए विभिन्न गाडियों में अतिरिक्त कोचों की सुविधा प्रदान की जा रही है। इसी कडी में गाडी संख्या 18477/18478 पुरी-हरिद्वार-पुरी उत्कल एक्सप्रेस में 01 अतिरिक्त एसी-3 एवं 01 शयनयान कोच की सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है। एसी-3 कोच की सुविधा यात्रियों को पुरी से दिनांक 11 अक्टूबर 2019 से 12 अक्टूबर 2019 तक एवं हरिद्वार से दिनांक 14 अक्टूबर 2019 से 13 अक्टूबर 2019 तक तथा शयनकोच कोच की सुविधा पुरी से दिनांक 13 अक्टूबर 2019 से 14 अक्टूबर 2019 तक एवं हरिद्वार से दिनांक 16 अक्टूबर 2019 से 17 अक्टूबर 2019 तक प्राप्त होगी। इन अस्थायी अतिरिक्त कोचों की उपलब्धता से इस गाडी के अधिकाधिक यात्रियों को कंफर्म सीट की सुविधा प्राप्त होगी।


421 सीसीटीवी कैमरे की मदद से कि जा रही है दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के विभिन्न स्टेशनों में सुरक्षा की निगरानी ।

अजीत मिश्रा ll बिलासपुर 11 अक्टूबर, 2019 ll दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के तीनो मंडलों के सैकड़ों स्टेशनों में प्रतिदिन हजारों की संख्या में यात्री एक स्थान से दूसरे स्थानों के लिए यात्रा कराते है । प्रतिदिन यात्री रेल के द्वारा सफ़र करने के लिए स्टेशनों में पहुचते है और उनके सामान एवं बच्चों सहित सभी यात्रियों की सुरक्षा की व्यवस्था को बनाए रखने की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी रेल सुरक्षा बल एवं जीआरपी के जवानो के ऊपर रहती है, जिसके लिए वे चौबीसों घंटों निगरानी में तैनात रहते है । इस काम को सुचारू रूप से करने के लिए रेल सुरक्षा बल एवं जीआरपी के जवानो द्वारा स्टेशनों के चप्पे चप्पे पर अपने जवानो को तैनात करते है इसके साथ ही स्टेशनों में लगे हुए सीसीटीवी कैमरा के द्वारा भी एक-एक गतिविधियों पर नज़र रखी जाती है । दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के तीनो मंडलों के रेल सुरक्षा बल के द्वारा यात्रियों की शत-प्रतिशत सुरक्षा को सुनिश्चित करने के लिए 17 महत्वपूर्ण स्टेशनों में 421 सीसीटीवी कैमरे लगाये गए है, जिनकी मदद से स्टेशनों के प्लेटफार्मों एवं पूरे स्टेशन परिसरों पर नज़र रखी जाती है । सीसीटीवी कैमरे की मानीटरिंग में किसी भी प्रकार के संदेहास्पद व्यक्ति या घटना के सामने आते ही तुरंत ही उस पर संज्ञान लेते हुए कार्यवाही की जाती है | दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे द्वारा सुरक्षा के लिए 421 सीसीटीवी कैमरा विभिन्न 17 स्टेशनों में लगाये गए है जिनका मंडल एवं स्टेशनवार विवरण इस प्रकार है – बिलासपुर मंडल के 5 महत्वपूर्ण स्टेशनों में लगाये गए है जिनमें रायगढ़ में – 9, चम्पा में – 8, बिलासपुर में – 85, शहडोल स्टेशन में - 8 एवं कोरबा स्टेशन में 8 इस प्रकार बिलासपुर मंडल के 5 महत्वपूर्ण स्टेशनों में कुल 118 सीसीटीवी कैमरा लगाये गए है ।


इसी प्रकार रायपुर मंडल के रायपुर स्टेशन में -75 कैमरे, दुर्ग स्टेशन में - 26 कैमरे एवं डीआरएम ऑफिस परिसर में 07 कैमरे लगाये गए है, इस प्रकार रायपुर मंडल के रायपुर, दुर्ग स्टेशन एवं डीआरएम ऑफिस परिसर में कुल 108 सीसीटीवी कैमरा लगाये गए है । नागपुर मंडल के 9 महत्वपूर्ण स्टेशनों में सीसीटीवी कैमरे लगाये गए है जिनमें इतवारी में –19, काम्पटी में 13, तुमसर में 13, गोंदिया में 87, बालाघाट में 12, डोंगरगढ़ में 15, राजनांदगांव में 15, भंडारा में 13 एवं छिंदवाडा में 8 है । इस प्रकार नागपुर मंडल के 9 महत्वपूर्ण स्टेशनों में कुल 195 सीसीटीवी कैमरा लगाये गए है । इस प्रकार दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे द्वारा सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए बिलासपुर,रायपुर एवं नागपुर मंडल के 17 स्टेशनों में कुल 421 सीसीटीवी कैमरा लगाये गए है ।

साकेत रंजन ने दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के उपमहाप्रबंधक (सामान्य) का पदभार ग्रहण किया

अजीत मिश्रा ।। बिलासपुर : साकेत रंजन ने उपमहाप्रबंधक (सामान्य) के पद का कार्यभार आज दिनांक 11 अक्टूबर, 2019 को ग्रहण किया। साकेत रंजन भारतीय रेलवे ट्रैफिक सेवा (प्त्ज्ै) के 2011 बैच के अधिकारी है एवं पूर्व में बिलासपुर मंडल में मंडल परिचालन प्रबंधक (सीआईसी) के पद पर भी कार्य कर चुके है। उन्होने भारतीय रेल परिवहन प्रबंधक संस्थान, लखनऊ से यातायात योजना और कार्यक्रम प्रबंधन में प्रशिक्षण प्राप्त किया है। सामान्य प्रशासन विभाग में स्थापना से पहले श्री साकेत रंजन बिलासपुर मंडल में मंडल परिचालन प्रबंधक (सीआईसी), बिलासपुर के पद पर कार्यरत थे। रवीश कुमार सिंह की पदस्थापना बिलासपुर मंडल में वरिष्ठ मंडल परिचालन प्रबंधक (समन्वय) के पद पर ही गई है।