छत्तीसगढ़

धान खरीदी पर भाजपा के बयानों पर कांग्रेस का पलटवार- आलोक दुबे

Danteshwar kumar ( chintu) जगदलपुर । धान खरीदी पर, भाजपा के बयानो पर कांग्रेस ने कड़ी टिप्पणी की है। प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता आलोक दुबे ने कहा है कि 15 साल तक मुख्यमंत्री रहे डॉ. रमन सिंह ने तब किसानों की बिगड़ती आर्थिक स्थिति , खराब होती फसल और कर्ज में दबे किसानों की आत्महत्या की घटना के बाद कभी आंखों से आंसू नहीं बहाया था ।उस समय प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष रहते वर्तमान मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने किसानों के दर्द को, उनकी बेबसी को, उनकी लाचारी को नजदीक से देखा है और लगातार सड़क से लेकर सदन तक पूर्व की रमन सरकार की किसान विरोधी नीतियों के खिलाफ किसानों के हक की लड़ाई लड़ते रहें।इसका ही परिणाम है कि 15 साल तक किसानों का शोषण करने वाली, किसानों पर अत्याचार करने वाले, किसानों के साथ धोखा, छल करने वाली रमन सरकार को छत्तीसगढ़ की जनता ने सत्ता से बेदखल कर दिया। प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता आलोक दुबे ने कहा है मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार किसानों के प्रति संवेदनशील है, जागरूक है। इसका ही परिणाम है कि शपथ ग्रहण के तत्काल बाद किसानों का कर्ज माफी की घोषणा होती है और धान का 2500 रू. दाम दिया जाता है, दूसरी बार 2500 रू. देने में अड़ंगा लगाने वाले केंद्र की मोदी सरकार के साथ खड़े पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह किस मुंह से खुद को किसानों का शुभचिंतक बताकर घड़ियाली आंसू बहा रहे हैं ।भाजपा के छत्तीसगढ़ के नेता, किसानों के हम दर्द होने का स्वांग रच रहे हैं। धान खरीदी के लिये प्रदेश सरकार संकल्पित है। 2500 रू. धान का दाम, कांग्रेस की सरकार ने पिछले साल दिया। इस साल हमें केन्द्र सरकार द्वारा देने से रोका गया। कांग्रेस की सरकार पूरी तरह से कटीबद्ध है। लेकिन बारिश के बावजूद यदि सरकार पूरी व्यवस्था कर रही है तो विपक्षी दल को राजनीति करने के बजाय सहायता करनी चाहिए।

तेज रफ्तार का कहर महिला गंभीर रूप से घायल

बिलासपुर- बिलासपुर के राजीव गांधी चौक पर तेज रफ्तार स्विफ्ट वाहन ने महिला को अपनी चपेट में ले लिया हादसे में महिला गंभीर रूप से घायल हो गई ।. गंभीर हालत में महिला को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया जहाँ उसकी हालात नाजुक बनी हुई है। मिली जानकारी के अनुसार तेज रफ्तार गाड़ी ने महिला को जबरजस्त टक्कर मार दी है टक्कर इतनी तेज थी कि महिला बेसुध होकर सड़क पर पड़ी रही । हादसे को अंजाम देने के बाद वाहन चालक मौके से फरार हो गया । आसपास के लोगों ने तत्काल घटना की सूचना 112 को दी जिसके बाद मौके पर पहुची एम्बुलेंस की मदद से घायल महिला को इलाज के लिये सिम्स अस्पताल में भर्ती करवाया गया लेकिन लगातार बिगाडित हालात के बाद महिला को निजी अस्पताल में भर्ती करवाया गया है जहाँ उसका इलाज जारी है । वही चसमीददो के आधार पर मिले गाड़ी के नम्बर के आधार पर गाड़ी मालिक की तलाश में जुट गई है चश्मदीदों द्वारा बताया जा रहा है कि टक्कर मारने वाली गाड़ी काले कलर की स्विफ्ट कार है और उसका मालिक मंझवापारा का बताया जा रहा है। जबकि घायल महिला सरकण्डा की रहने वाली बताई जा रही है जो कि नर्स का काम करती है और जब वह काम के लिए जा रही थी उसी दौरान हादसे होने की बात कही जा रही है।

पूरे देश में लागू हो सकता है सिटीज़न कॉप मोबाइल एप्प : जीपी सिंह, एडीजी,,पढ़े इस एप्प की सबसे खास बात

छत्तीसगढ़ पुलिस का मोबाइल ऐप "सिटीजन कॉप" को माइक्रो मिशन -03 के तहत BPR&D नई दिल्ली द्वारा चयनित किया गया है। इसी परिप्रेक्ष्य में आज दिनांक 7/02/2020 को बीपीआरडी नई दिल्ली द्वारा सिटीजन कॉप के उपयोगिता एवम फीचर्स को बारीकी से जानने के लिए श् जीपी सिंह, एडीजी EOW को आमंत्रित किया गया था। जीपी सिंह द्वारा सिटीजन कॉप का लाइव डेमोस्ट्रेशन दिया गया। इस दौरान पुलिस अनुसंधान एवम विकास ब्यूरो, गृह मंत्रालय, नई दिल्ली के डीजी, एडीजी, आईजी एवम डीआईजी सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे। BPR&D नई दिल्ली के डीजी वीएसके कौमुदी द्वारा सिटीजन कॉप एप्प की सराहना की गई। BPR&D के वरिष्ठ अधिकारियों ने एप्प की उपयोगिता जानकर सिंह को बेहतर एप्प तैयार करवाने के लिए बधाई दी। संभव है इसे पूरे देश में लागू किया जा सकता है। उल्लेखनीय है कि सिटीजन कॉप मोबाइल एप्प को सिंह द्वारा रायपुर आईजी के कार्यकाल में दिनांक 08/09/2015 को रायपुर रेंज के 05 जिलों में लागू कराया गया था, जो वर्तमान में प्रदेश के 11 जिले में संचालित किया जा रहा है। वर्तमान में सिटीजन कॉप के छत्तीसगढ़ राज्य में लगभग 1.25 लाख यूजर्स सहित देश भर में 3.5 लाख से अधिक यूजर्स सक्रिय हैं। सिटीज़न कॉप मोबाइल एप्प के माध्यम से पुलिस ने लगभग 50 करोड़ रुपए कीमत के 35 हजार चोरी/गुम मोबाइल फोन रिकवर कर उनके मूल मालिकों को लौटाया गया है। सिटीजन कॉप को भारत सरकार द्वारा वर्ष 2016 में प्लेटिनम कैटेगरी में "डिजिटल इंडिया अवॉर्ड" एवम फिक्की द्वारा वर्ष 2015 में "स्मार्ट पोलिसिंग अवॉर्ड" से सम्मानित किया गया है। सिटीजन कॉप एप्प में हर राज्य के पुलिस की आवश्यकता के अनुरूप नित नए फीचर्स जोड़े और कस्टमाइज किए जा रहे हैं। इस एप्प की सबसे खास बात यह है कि पिछले साढ़े चार से संचालित एप्प को बनाने अथवा मेंटेनेंस करने में छत्तीसगढ़ सरकार अथवा पुलिस विभाग ने कोई आर्थिक लागत नहीं लगाया है, अर्थात ज़ीरो बजट में संचालित है यह एप्प।

न्यायधानी बिलासपुर में चोरों का आतंक.... पुलिस के रात्रि गस्त कि खुली पोल

बिलासपुर - प्रदेश की न्यायधानी बिलासपुर में चोरों का आतंक थमने का नाम नही ले रहा है । चोरों के हौसले इतने बुलन्द है कि खुलेआम पुलिस को चुनोती देते हुए अज्ञात चोरों ने थाने से कुछ दूरी पर स्तिथ मोबाइल दुकान में लाखों की चोरी की वारदात को अंजाम दे दिया । रात्रि गस्त का लाख दावा करने वाली पुलिस के दावो की हवा खोलते हुए चोरों ने तेलीपारा इलाके में रात के अंधेरे में एस मोबाइल कैम्पस दुकान को चोरो ने अपना निशान बनाया, और बड़ी आसानी से दुकान में रखे मोबाइल फोन सहित नगदी रकम को ले उड़े।सुबह दुकान खुलने पर चोरी की जानकारी पर मौके पर पहुच कर पुलिस ने घटना का जायजा लिया । चोरों ने अपनी पहचान को छुपाने के लिए दुकान में लगे सीसीटीवी से भी छेड़छाड़ की और घटना को अंजाम देकर रिकार्ड डिवाइस भी साथ ले गए । फिलहाल प्राथी की रिपोर्ट पर पुलिया ने मामला दर्ज कर लिया है और अज्ञात चोरों की पातसाजी में जुट गई है ।

धान खरीदी केंद्र में खरीदी नही होने से आक्रोशित किसानों ने किया चक्कजाम- बीजापुर

Danteshwar kumar ( chintu) ‌बीजापुर : उसूर ब्लॉक के बासागुड़ा, आवापल्ली ओर उसूर क्षेत्र के धान खरीदी केंद्र में बारदाना नही होने की वजह से किसानों को टोकन नही दिया जा रहा है और न ही किसानों का धान खरीदा जा रहा है। जानकारी के अनुसार कुछ दिन पूर्व उसूर ब्लॉक के सैकड़ों किसानों ने कलेक्टर कार्यालय पहुंचकर समस्याओं को लेकर प्रशासन से गुहार लगाई किंतु आज पर्यन्त तक धान खरीदी को लेकर समस्या का कोई हल नही निकला। जिसके बाद आज आवापल्ली जिला मुख्यालय में धान खरीदी की सीमा बढ़ाने और बारदाने की मांग को लेकर किसान सड़कों पर चक्काजाम करने उतर आये। । किसानों ने स्टेट हाईवे पर चक्काजाम कर दिया । किसानों ने इतना ही नही मांग पूरी नहीं होने से आत्महत्या करने की भी दी धमकी। सड़क के दोनों तरफ सैंकड़ों यात्री फसे रहे, प्रशासनिक अधिकारी के कर्मचारियों के आश्वासन के बाद भी आंदोलन पर अड़े रहे किसान , मांग पूरी नही होने पर किसानों ने दी उग्र आंदोलन की चेतावनी। किसानों का कहना है कि पिछले 1 माह से बारदाना की परेशानी से जूझ रहे किसानों को टोकन ही नही दिया जा रहा है। पिछले 15 दिनों से लगातार क्षेत्र में धान खरीदी नही होने की वजह से आज लगभग 2500 किसानों ने आवापल्ली गांधी चौक के पास सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर लामबंद हुए । वही आवापल्ली से नव निर्वाचित भाजपा समर्थित जिला पंचायत सदस्य जानकी कोरसा ने सम्बोधित करते हुए कहा कि सरकार की खोखली विचारधारा से आक्रोशित किसानों ने आज ब्लॉक मुख्यालय में मांगो को लेकर धरना दिया पिछले कई दिनों से लगातार किसानों की मांग को लेकर क्षेत्र के आंदोलन कर रहे हैं पर आज पर्यन्त तक कोई निराकरण नही किया गया। जानकी कोरसा ने कहा की सरकार ने 15 फरवरी तक ही धान खरीदी की समय सीमा के अदंर सैकड़ों किसानों का नही खरीदा गया तो आंदोलन का समर्थन करेंगी । किसानों का कर्ज की समस्या का भी डर सर पर मंडरा रहा है । भाजपा संगठन ने समर्थन करते हुए कहा की समय सीमा के भीतर समस्या का निराकरण नही हुआ तो जारी रखेंगे आंदोलन । इस अवसर पर भाजपा के जिला अध्यक्ष श्रीनिवास मुदलियार, पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष सुखलाल पुजारी व संगठन के प्रतिनिधि मौजूद रहे।

बिलासपुर - फरार हुए हत्या के आरोपी को 12 घंटे के भीतर ही गिरफ्तार करने में पुलिस को मिली सफतला

बिलासपुर छत्तीसगढ़ / बिलासपुर की सिविल लाइन्स पुलिस ने कोर्ट परिसर से फरार हुए हत्या के आरोपी को 12 घंटे के भीतर ही गिरफ्तार करने में सफतला हासिल की है । पुलिस ने आरोपी को मुखबिर की सूचना पर बिलासपुर के बहतराई उसके साले के मकान से गिरफ्तार किया है। भारी बारिश में पुलिस छुन्नू के ससुराल में शुबह 4 बजे से डेरा डाल कर बैठी रही, सुबह 6 बजे के आस पास आरोपी के पहुचते ही सिविल लाइन पुलिस ने शातिर आरोपी को अपनी गिरफ्त में ले ही लिया है । मस्तूरी चुनाव के चंद पैसो के चलते एक व्यक्ति की निर्मम हत्या कर शव जलाने के मामले में आरोपी को मस्तूरी पुलिस ने गिरफ्तार किया था और कल पेशी के दौरान हत्या के इस आरोपी को जब पुलिस ने कोर्ट में पेश किया उसी दौरान लिफ्ट की मदद से कैदी चकमा देकर फरार हो गया था । जिसके बाद बिलासपुर एसपी के निर्देश के बाद सिविल लाइन टीआई परिवेश तिवारी के नेतृत्व में गठित टीम को मुखबिर से मिली सूचना के बाद फरार कैदी को गिरिफ्तार कर लिया है।।

छत्तीसगढ़ के खाद्य व संस्कृति मंत्री अमरजीत भगत ने पीएम नरेंद्र मोदी और केंद्रीय ग्रह मंत्री अमित शाह पर जमकर हमला बोला।NRC और CAA को लेकर दिया बड़ा बयान...कहा...

कोरिया - छत्तीसगढ़ के खाद्य व संस्कृति मंत्री अमरजीत भगत ने पीएम नरेंद्र मोदी और केंद्रीय ग्रह मंत्री अमित शाह पर जमकर हमला बोला।NRC और CAA को लेकर दिया बड़ा बयान ।भारत सरकार व प्रधानमंत्री का हठधर्मिता है जो काम के लिए जनता ने चुना था वह काम छोड़कर सब काम कर रहे हैं । सड़क, बिजली ,रोजगार ,महगाई पर छोड़कर उल्टा सीधा काम कर रहे हैं ।असली काम छोड़कर हिंदू मुस्लिम की बात करते हैं झूठ बोलने में लफ्फा बाजी में माहिर है नरेंद्र मोदी । इनको 2014 लोकसभा चुनाव जीतने के बाद कौन कहा था नोटबंदी करो लोगों ने नोटबंदी के लिए वोट नहीं दिया था जनता ने तो नहीं कहा था नोटबंदी करो । NRC, CAA ले कर बोले मंत्री 2019 में लोकसभा में जीत के बाद ना इनके घोषणा पत्र में ना था नाइन के लोगों ने मांग की NRC ,CAA लव । देश में शांति पूर्वक चल रहा था । जनता के बीच में इस तरह का बखेड़ा खड़ा करना मैं उचित नहीं मानता हूं। जहां दुनिया में भारत के लोगों को हिंदू मुस्लिम सिख ईसाई आपस में भाई-भाई माना जाता है । इसमें इस प्रकार विश्व घोलने का उचित नहीं है । सभी भगवान उनको सद्बुद्धि दे ताकि देश के विकास के काम में आगे बढ़ाएं । बाइट-अमरजीत भगत ( छत्तीसगढ़ के खाद्य व संस्कृति मंत्री ) कोरिया दौरे पर है आज मंत्री अमरजीत भगत

जिला पंचायत अध्यक्ष और उपाध्यक्ष पद के चुनाव के लिए कांग्रेस ने पर्यवेक्षकों की नियुक्ति ....देखे सूची

रायपुर: जिला पंचायत अध्यक्ष और उपाध्यक्ष पद के चुनाव के लिए कांग्रेस ने पर्यवेक्षकों की नियुक्ति कर दी है। कांग्रेस ने छत्तीसगढ़ के सभी जिलों के पर्यवेक्षकों का चुनाव किए जाने के बाद सूची जारी कर दी है। पर्यवेक्षकों की नियुक्ति के लिए प्रदेश कांग्रेस प्रभारी पीएल पुनिया के निर्देशनुसार पीसीसी चीफ मोहन मरकाम ने की है।

भाटापारा सिविल अस्पताल के मुख्य दरवाजे से लगे दीवार को तोड़ने के बाद भूल गए जिम्मेदार

भाटापारा :- भाटापारा सिविल अस्पताल के मुख्य दरवाजे से लगे दीवार को तोड़ने के बाद भूल गए जिम्मेदार, अस्पताल में आए मरीजो,परिजनों व सड़क पर चलने वालों को स्वच्छ साफ जल कम दाम में उपलब्ध हो जाए इसलिए कूलर वाटर सेंटर बनाने के लिए सिविल अस्पताल के दीवार को तोड़ा गया था, और सेंटर बनाने का काम भी चालू हो गया था, चबूतरे का निर्माण कर काम बंद कर दिया गया, लगभग 9 माह बीत गया लेकिन इस चबूतरे पर सेंटर निर्माण कार्य चालू करने के लिए कोई सुध लेने वाले सामने नही आ रहे है,

अब जनता भी सिविल अस्पताल के मुख्य दरवाजे के बगल में बने चबूतरे को देख कर पूछने लगी हैं , यह क्या है ? जनता पूछे सवाल यह क्या है सरकार ?

आपको बता दें कि यह चबूतरे पर अब रोज सुबह शाम असामाजिक तत्वों का डेरा देखने को मिलता हैं, यही नहीं अस्पताल के कुछ कर्मचारियों के द्वारा नाम नही छापने की शर्त पर बताए कि कुछ लोगों के द्वारा यहां खुलेआम शराब खरीद व बिक्री की जाती हैं और इसी चबूतरे पर बैठकर शराब सेवन भी किया जाता हैं तथा महिला मरीज व उनके परिजनों के साथ छीटा कशी भी की जाती हैं , लोकलाज के डर से सब जनसुनकर अनदेखा करना पड़ता हैं, यही नहीं दीवार नही होने से सिविल अस्पताल परिसर में कौन क्या कर रहा है आप सीधे मुख्य सड़क से देख सकते है,

आपको बता दें कि जब इस मामले में बी एम ओ डॉ राजेश अवस्थी से बात की गई तो उन्होंने बताया कि नगर पालिका प्रशासन के द्वारा वाटर ए टी एम बनवाने के लिए तोड़ा गया था, नगर पालिका काम क्यो रोक कर रखी है मुझे नहीं मालूम ,कितने की लागत से कौन ठेकेदार के द्वारा बनाया जा रहा है नगर पालिका अधिकारी ही बता सकते है,

वही जब इस सम्बंध में नगर पालिका सी एम ओ आशीष तिवारी से बात की गई तो उन्होंने ने कहा कि मुझे इस मामले की जानकारी नहीं है,कल पूछताछ करके ही बता पाऊंगा,

अब सवाल यह उठता है कि आखिर जिम्मेदारो को ही नहीं मालूम तो नगर पालिका के हालातों का अंदाजा लगाया जा सकता है कि किसी तरह ढुल मूल रव्वैया से शहर की जिम्मेदारी सम्भालते होंगे

चन्द रुपयों की लालच में पटवारियों ने की बड़ी बेईमानी....शिकायत के बाद कारवाही का इंतजार,सौ से अधिक सागौन के पेड़ों को रिकार्ड से हटाकर पांच पेड़ दर्शाए..

रायगढ़:- जिला मुख्यालय में राजस्व विभाग की भर्राशाही चरम पर है।। भ्रष्टाचार का ऐसा आलम है कि आप पैसों के बल पर जो चाहो वो करवा लो। आम लोगो के बीच मे यह चर्चा आम है कि पटवारी से बिक्री नकल बनवाने में 10 से 15 हजार रु खर्च करने पड़ते है।। वही रिकार्ड दूरुस्ती और सीमांकन का खर्च 5 से 35 हजार रु तंक पहुंच चुका है।। बेईमानी और भ्रष्टाचारी की मिसाल बन चुके पटवारियों ने राजस्व विभाग की विश्वसनियता पर ही प्रश्न चिन्ह लगा दिया है।।

ताज़ा मामला जिले के पुसौर तहसील अंतर्गत ग्राम बिंजकोट पटवारी हल्का नम्बर आठ खसरा कर्माणकब138/1 रकबा 0.809 से जुड़ा है। उक्त भूमि का बिक्री नकल जारी करने वाले पटवारी का नाम क्रमशः किशन देवांगन जिसने उक्त भूमि में 100 से अधिक छोटे बड़े सागौन के पेड़ों की संख्या अपने मन से बिना मौका मुयायना के या जान बूझकर दिनांक 24 अक्टूबर 2019 को बनाये बिक्री नकल में 18 पेड़ दर्शाया, जो वास्तविक संख्या से काफी कम थी। इस तरह पहली बार किशन देवांगन ने शासकीय रिकार्ड में हेराफेरी कर शासन को न केवल राजश्व की क्षति पहुंचाई बल्कि स्व लाभ अर्जित कर बेईमानी की नीयत से कूटरचना की जो कि दण्डनीय अपराध था। इस तरह उसके स्थानान्तरण के पश्चात नए पटवारी के रुप मे इस हल्के में नूतन कुमार मिरी की पदस्थापना हुई। उक्त पटवारी ने विक्रेता आनंदराम पिता रणमत सिदार (जिसकी भूमि की वास्तविक कीमत से अधिक उसकी रजिस्ट्री का खर्चा आ रहा था, जिसमे करीब सौ से अधिक सागौन के परिपक्व वृक्ष और उतने ही अर्धविकसित पेड़ लगे है उसे बेच नही पा रहा था)से आपराधिक साझेदारी करते हुए विक्रेता को लाभ पहुंचाने की नीयत से पुनः भयंकर षड्यंत्र करते हुए कुछ पैसों की लालच में उक्त भूमि के रिकार्ड से पूरे 95 पेड़ गायब कर मात्र पांच पेड़ दर्शा कर बिक्री दस्तावेज तैयार कर दिए।। जो स्वत् लाभ कमाने की नीयत जानबूझकर किया गया अक्षम्य अपराध था को कारित किया। पुनः सरकारी दस्तावेजों में काटछांट करने के बाद उसके द्वारा जारी किए गए बिक्री दस्तावेजों के आधार पर विक्रेता आनंदराम ने क्रेता चंद्रभान की जानकारी के बगैर उसे देखा देते हुए उक्त भूमि का पंजीयन 4 दिसम्बर 2019 को करवा दिया। कालांतर में उक्त विवादित भूमि के नामांतरण भी इन्ही फ़र्ज़ी दस्तावेजो के आधार पर उक्त बेईमान पटवारी नूतन मिरी ने आनन-फानन में कर दिया। हालांकि दोनो पटवारियो के उक्त पाप(कुकृत्य) की जानकारी स्थानीय ग्रामीणों सहित आर टी आई कार्यकर्ता को हो गई।। उन्होंने इस मामले की शिकायत मय दस्तावेजों के साँथ कलेक्टर रायगढ, एस डी एम रायगढ़ सहित थाना प्रभारी चक्रधरनगर से की है।। अब उन्हें उक्त शिकायत में कार्यवाही का इंतजार है।। इस विषय मे जब हमने sdm रायगढ से बात करनी चाही तो उन्होंने हाइ कोर्ट बिलासपुर में होने की जानकारी दी। सम्भवतः इस मामले में ग्रामीण आगामी दो दिनों के भीतर पुलिस अधीक्षक रायगढ से अतिरिक्त शिकायत करने जाएगे।।