मनोरंजन

जांजगीर-चांपा जिले में बनने जा रही छत्तीसगढ़ी फिल्म खून की होली का मुहूर्त खोखरा गांव स्थित मनका दाई मंदिर में हुआ सम्पन..!

BBN24@ जांजगीर-चांपा जिले में बनने जा रही छत्तीसगढ़ी फिल्म खून की होली का मुहूर्त खोखरा गांव स्थित मनका दाई मंदिर में हुआ। यह फिल्म पारिवारिक के अलावा एक्शन और कामेडी से भरपूर है। फिल्म के नायक के माता-पिता का खून होली के दिन हो जाता है। अपने माता-पिता के हत्यारों का बदला बड़ा होकर नायक लेता है। इस फिल्म के निर्माता तेजराम प्रधान और राकेश प्रताप है तो वहीं फिल्म के निर्देशक सालिक साहू है। इस फिल्म के कलाकार दिनेश चंद्रा, देव महिलांगे, भुरू अग्रवाल, डॉ. गबेल, रिजराम भारद्वाज, प्रिया लक्ष्मी, लता राही, रेखा वर्मा, शिवाजी, दीपा महंत आदि है। इस फिल्म में स्वर दिया है रिक्की गुप्ता और मनोज साहू ने। फिल्म के डायरेक्टर सालिक साहू का कहना है कि फिल्म अन्य छत्तीसगढ़ी फिल्मों से काफी हटकर है। यह फिल्म दर्शकों को काफी पसंद आएगा।

रजनीश झांझी इस बार पुलिस के रोल में टूरा चायवाला देखिए 25 जनवरी से

Vijay Tandon PRO रायपुर:- लीजेंड एक्टर सुपरस्टार रजनीश झांझी जी इन दिनों छलीवुड फिल्मो में अपना जलवा बिखेर रहे हैं। छत्तीसगढ़ी फिल्मों को दर्शकों ने खूब सराहा हैं । सुपरस्टार रजनीश झांझी की आने वाली बहु प्रशिक्षित छत्तीसगढ़ी फिल्म टूरा चायवाला फिल्म को लेकर रजनीश झांझी काफी उत्सुक हैं ।उन्होंने झन भुलव माँ बाप ला, हीरो No1 छत्तीसगढ़ मे धमाकेदार भूमिका निभाई। लंबे अरसे के बाद राजेश व आशीष के संयुक्त आसी फिल्म प्रोडक्शन के बैनर तले निर्मित छत्तीसगढ़ी फिल्म टूरा चायवाला में छोलीवुड कलाकार रजनीश झांझी जी पुलिस की भूमिका में नजर आएंगे, साथ ही इस फिल्म में माया नगरी की अभिनेत्री तेजल चौधरी नजर आएंगी। फिल्म का निर्देशन राजेश अवस्थी ने की और इस फिल्म में मुख्य अभिनेता के रूप में खुद नजर आएंगे। फिल्म 25 जनवरी से विभिन्न सिनेमाघरों में रिलीज होने जा रहा है। फिल्म का ट्रेलर गीत दर्शकों को रिझाने में कामयाब रही हैं। इस फिल्म में दर्शकों को फुल एक्शन, हाई स्पीड शॉर्ट, नई टेक्नोलॉजी और फुल पैकेज इंटरटेनमेंट देखने को मिलेगा।

मौलाना आज़ाद पर बनी पहली हिन्दी फिचर फिल्म 18 जनवरी, 2019 को रिलीज होगी

 मुंबई- मौलाना आज़ाद पर राजेंद्र फिल्म्स के बैनर तले निर्मित और श्रीमती भारती व्यास प्रस्तुत पहली हिन्दी फिचर फिल्म 18 जनवरी, 2019 को देशभर के सिनेमाघरों में रिलीज होने जा रही है। इस फिल्म के निर्माता, कथा, पटकथा, संवाद, गीत लेखक डॉ. राजेंद्र संजय हैं। इसके निर्देशक भी डॉ. राजेंद्र संजय और संजय सिंह नेगी हैं। फिल्म में संगीत दर्शन कहार ने दिया है जबकि आर्ट निर्देशक मनोज मिश्रा हैं। फिल्म के मुख्य पात्र की भूमिका लिनेश फणसे (मौलाना आज़ाद), सिराली (जुलैखा बेगम), सुधीर जोगलेकर, आरती गुप्ते, डॉ. राजेंद्र संजय, अरविंद वेकरिया, शरद शाह, केटी मेंघानी, चेतन ठक्कर, सुनील बलवंत, माही सिंह, चांद अंसारी और वीरेंद्र मिश्र  ने निभाया है।  

मौलाना आज़ाद का पूरा नाम अबुल कलाम मोहियुद्दीन अहमद था, जिनका बचपन बड़े भाई यासीन, तीन बड़ी बहनों ज़ैनब, फ़ातिमा और हनीफा के साथ कलकत्ता (कोलकाता) में गुज़रा। महज 12 साल की उम्र में उन्होंने हस्तलिखित पत्रिका ‘ नैरंग-ए-आलम ’ निकाली जिसे अदबी दुनिया ने खूब सराहा। हिंदुस्तान से अंग्रेजों को भगाने के लिए वे मशहूर क्रांतिकारी श्री अरबिंदो घोष के संगठन के सक्रिय सदस्य बनकर, उनके प्रिय पात्र बन गए। उन्होंने एक के बाद एक, दो पत्रिकाओं ‘ अल-हिलाल ’ औऱ ‘ अल बलाह’ का प्रकाशन किया जिनकी लोकप्रियता से डरकर अंग्रेजी हुकूमत ने दोनों पत्रिकाओं का प्रकाशन बंद कराकर, उन्हें कलकत्ता से तड़ी पार कर रांची में नज़रबंद कर दिया। चार साल बाद सन् 1920 में नजरबंदी से रिहा होकर वह दिल्ली में पहली बार महात्मा गांधी से मिले और उनके सबसे करीबी सहयोगी बन गए।

उनकी प्रतिभा और ओज से प्रभावित जवाहरलाल नेहरु उन्हें अपना बड़ा भाई मानते थे। पैंतीस साल की उम्र में आज़ाद कांग्रेस के सबसे कम उम्र वाले अध्यक्ष चुने गए। गांधी जी की लंबी जेल-यात्रा के दौरान आज़ाद ने दो दलों में बंट चुकी कांग्रेस को फिर से एक करके अंग्रेजों के तोड़ू नीति को नाकाम कर दिया। केंद्रीय शिक्षामंत्री के रुप में उन्होंने विज्ञान एवं तकनीक के क्षेत्र में क्रांति पैदा करके उसे पश्चिमी देशों की पंक्ति में ला बिठाया। हिंदू-मुस्लिम एकता के लिए जीवन भर संघर्ष करने वाले मौलाना आज़ाद जैसे सपूत के जीवन की दिलचस्प कहानी को रुपहले पर्दे पर देखिए।

फिल्म के निर्माता डॉ. राजेंद्र संजय ने कहा, ‘इस फिचर फिल्म का निर्माण मैंने मौलाना आज़ाद की जीवनी से प्रभावित होकर किया। मौलाना आज़ाद एक ऐसे व्यक्तित्व थे जिनके जीवन में काफी भावनात्मक उतार-चढ़ाव थे और स्वतंत्रता संग्राम में भी उनके कार्यों की गाथा अनूठी है। मौलाना आज़ाद पर बनने वाली भारत की यह पहली फिचर फिल्म है। इसके किरदारों का फिल्म के निर्माण के दौरान महत्वपूर्ण सहयोग रहा। उनकी तन्मयता और योगदान के लिए मैं उन्हें तहे दिल से धन्यवाद देता हूं।‘

उर्वशी साहू ने अभिनय से छत्तीसगढ़ी फ़िल्म जगत में बनाई खास जगह देश के कोने कोने तक पहुँचा रही रंगमंच के माध्यम से छत्तीसगढ़ की संस्कृति

VIJAY TANDON रायपुर:- उर्वशी साहू जहा फ़िल्म में अपनी दमदार एक्टिंग से जानी जाती है वही लोक मंच के जरिये छत्तीसगढ़ के लोक गीतों को देश प्रदेश में भी जाकर प्रस्तुत कर रही है उर्वशी साहू छत्तीसगढ़ में बंनाने वाली लगभग सभी फिल्मों में काम कर रही है अभी सबसे ज्यादा चर्चित सुंदरानी विडिवो वर्ल्ड की सुपर डुपर हिट फिल्म I Love You से उर्वशी साहू को एक अलग ही पहचान मिली इस फ़िल्म में दर्शोको ने कचरा बोदरा के रूप में उर्वशी साहू और उपासना की जोड़ी को खूब पसंद किया है। इससे पहले भी उर्वशी उपासना ने ऑटो वाले भाटो,राजा छत्तीसगढिया में काम कर अपनी अभिनय से खूब तारीफ बटोरी रही है आज उर्वशी साहू और उपासना हर डायरेक्टर, प्रोड्यूसर की पहली पसंद बन चुके है इसको देखकर कहानी लिखते है उर्वशी फ़िल्म के साथ साथ स्टेज प्रोग्राम भी करती है उनकी खुद की लोक मंच की टीम है मया के संदेश जिसमे लगभग 30 कलाकार है उर्वशी इस टीम की संचालिका व निर्देशिका है उर्वशी के निर्देशन में ये टीम देश के साथ साथ अन्य प्रदेश में भी अपनी लोक गीतों की प्रस्तुति करती है, अभी उर्वशी अपनी टीम मया के संदेश को लेकर देहरादून,उत्तरप्रदेश, लखनऊ,हरिद्वार,अंडमान निकोबार,केरल, कोच्चि,दिल्ली,असम गई थी अभी 4 जनवरी से 12 जनवरी उर्वशी अपनी टीम के साथ दिल्ली और 17 जनवरी से 22 जनवरी को इलाहाबाद कुम्भ में सेंट्रल गवर्मेंट की तरफ से जा रही है जहां कर्मा गीत निर्त्य की प्रस्तूति 16 कलाकार के साथ रवाना होगी उर्वशी स्टेज के साथ ही साथ बड़ी संख्या में फ़िल्म भी कर रही है जिसमे मोहन के बिहाव, संगी संगवारी,और I Love You 2 में भी नजर आएगी उर्वशी की बहुत से फ़िल्म रिलीज होने वाली है जनवरी में जिसमें सउत सउत के झगरा,राजाभैया,टुरा चाय वाला ,संगी रे,अतरंगी,सॉरी लव यू जैसी बड़ी फिल्मे है उर्वशी संगीत को साधना मानती है कहती है छत्तीसगढ़ को यहां की कला संस्कृति से जानी जाती है पर कलाकारों को अब तक अपने ही देश मे अच्छे से सम्मान नही मिला कुछ कलाकारों की रोजी रोटी का साधन ही कलाकारी है पर गाव के कलाकारों को कोई अच्छा पहचान नही मिलता उर्वशी फ़िल्म लोक मंच के साथ साथ समाज सेवा भी करती है जिससे उनको 2017 में कौशिल्या माता सम्मान मिला है उर्वशी कहती है मुझे बहुत बड़े बड़े सम्मान मिले पर देश को ताली और आशीर्वाद सबसे बड़ा सम्मान है उर्वशी हर किरदार बड़ी बखूबी से निभाती है चाहे वो माँ का हो या दादी का हो, या फ़िर मौसी का हो, चाहे खलनायिका, का हो कॉमेडियन के रूप में भी उर्वशी की एक्टिंग को काफी सराहा गया है जिसके लिए बेस्ट कॉमेडियन का आवर्ड भी मिला है बेस्ट एक्ट्रेस, बेस्ट खलनायिका अब तक बहुत सारे एवार्ड उर्वशी के नाम है उर्वशी कहती है मेरा पूरा परिवार कलाकार थे नाना चरणदास चोर के गीतकार और राइटर थे पापा तबला वादक और गीतकार थे गोदना गोदा ले गीत पापा के लिखे हुए थे मम्मी राजभारती आर्केस्ट्रा की सिंगर थी पर परिवार में कोई नही है अकेली कला यात्रा को आगे बढ़ते हुए स्टेज पे मर जाऊ बस यही तम्मना है उर्वशी कहती है संगीत ही मेरा जीवन है संगीत नई तो मैं नही क्योंकि मेरा नाम ही उर्वशी है जो इंद्र देव की नर्तकी थी एक्टिंग और डान्सिंग मेरा शौक है।

हमर पारा तुंहर पारा मास्टर सुनील मानिकपुरी फ़िल्म I love you से मिली पहचान कर रहे है बड़ी संख्या में फ़िल्म

VIJAY TANDON रायपुर:- सुनील मानिकपुरी सिंगर हमर पारा तुंहर पारा गीत छत्तीसगढ़ के हर कोने के साथ-साथ दूसरे प्रदेश में भी काफी चर्चित में रही है हर फग्सन,स्कूल,शादी,डीजे में इस गीत ने धूम मचा दी है, और इस गीत से सुनील ने हर किसी के दिलो में अपनी जगह बनाई है सुनील मूलतः सरगुजा क्षेत्र के चिरमिरी के रहने वाले है मास्टर सुनील ने अपनी कला यात्रा सन 2011 से शुरु की जिसने अपनी खुद की एक देवी जागरण की एक टीम बनाई जिसमे हिंदी छत्तीसगढ़ी गीतों के माध्यम से प्रस्तुति देने लगे सुनील जहां देवी जागरण करते है, वहीं लोक गीत कर्मा गीतों के मास्टर भी है सुनील सिंगर एक अच्छे गीतकार भी है मास्टर सुनील लगभग सभी अपनी गाए हुए गीतों की रचना खुद करते है, हमर पारा तुंहर पारा उनकी खुद की रचना है जब सुनील के गीत छत्तीसगढ़ की फेमस कैसेट कंपनी सुंदरानी विडिवो वर्ल्ड से निकली तो पूरे छत्तीसगढ़ में धूम मच गई इसी के साथ सुनील का एक और नया रूप सामने आया जब सुंदरानी विडिवो वर्ल्ड से इस साल की सबसे सुपर डुपर हिट फिल्म I Love You में बतौर मेन खयनायक के रूप में काम करने का मौका मिला फ़िल्म में सुनील ने राकेश के किरदार में जान डाल दी जहां लोगों ने मन कुरैशी को पसंद किया वही सुनील के एक्टिंग को काफी सराहा गया सुनील ने साबित कर दिया कि वो एक अच्छे सिंगर के साथ-साथ बहुत ही अच्छे एक्टर भी है इस फ़िल्म के बाद हर प्रोड्यूसर डायरेक्टर की पसंद बन गए मास्टर सुनील स्टेज शो के साथ-साथ अब फिल्में भी कर रहे है उनके पास अभी लगभग 4 फिल्मे है जिसमे वो काम करेंगे। सुनील कहते है उनका सपना है अनुज शर्मा के अपोजिट काम करु सुनील ये भी कहते है मैं फ़िल्म करने में जल्दबाजी नई करता अच्छे डायरेक्टर, प्रोड्यूसर और अच्छी कहानी हो और दमदार कैरेक्टर हो तो ही करना चाहता हूँ दर्शको से सीधा स्टेज के माध्यम से जुड़कर प्यार और आशीर्वाद लेना चाहता हूं। सुनील के गीत झारखंड के कैसेट कंपनी सुंदरानी विडिवो वर्ल्ड के माध्यम से यू ट्यूब में आप देख सकते है सुनील के गीत कोन पारा गढ़े हवे करमाकर डार, मया दे दे टुरा, ये वो मोर मनीषा, और आने वाली नई गीत छत्तीसगढ़ लगे मइया मोर है सुनील कोरिया जिला से होने की वजह से ज्यादा फ़िल्म नई कर पा रहे है कहते है छोलीवुड फ़िल्म की हर फिल्म में हर तरह के किरदार करने की तम्मना है, सुनील का इस्टाइल उनका अन्दाज हर कलाकार से हटकर उसकी पहचान बनता है सुनील गायक, डांसर और एक अच्छा एक्टर भी है ये उसने अपनी पहली फ़िल्म I love you में साबित कर दिया है पहली ही फ़िल्म से सुनील को काफी उपलब्धि मिली सुनील का भाग्य बहुत बुलंद है जो हर अन्दाज में अपनी छाप जल्द छोड़ देता है दर्शको के बीच सुनील मानिकपुरी ने फ़िल्म I Love you भी गीत गाये देख के टुरी तोर जावानी होंगे जी बेहाल ये गीत सुनील ने खुद लिखे भी है साथ ही इस गीत पे डांस भी किये है कुल मिलाकर सुनील एक मल्टीटेलेंट कलाकार है जिसके अंदर बहुत से गुण है।

छत्तीसगढ़ी पारिवारिक फ़िल्म ससुराल का मुहुर्त सम्पन्न हुआ

शिवरीनारायण:- टेम्पल सिटी शिवरीनारायण में कामना फ़िल्म के बैनर तले बनने जा रही छत्तीसगढ़ी पारिवारिक फ़िल्म ससुराल का मुहूर्त सम्पन्न हुवा कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में सतीश जैन उपस्थित रहे इस कार्यक्रम का सुभारम्भ माँ सरस्वती के छाया छिद्र पर माल्यार्पण एवं दिप प्रजवलित कर किया गया तत्पश्चात अतिथियों का स्वागत किया गया इस फ़िल्म में परिवरिक रिश्तों में गलत फहमी से बिखराव की स्थिति पैदा हो जाती है और परिवार टूटने की कगार पर आ जाती है इस परिस्तिथि में कुछ ऐसे मार्गदर्शन मिलते है जो रिश्तों को मजबूत करने का सम्बल मिलता है और अपने परिवार को एक माला की तरह पिरोकर प्यार एवं स्नेह का फिर से एक मंदिर निर्माण होता है फ़िल्म एक पारिवारिक एवं सामाजिक रूप से समाज मे एक नया वातावर्ण एवं सन्देश देने की कोशिश की गई है इस अवसर पर मुख्य अतिथि फ़िल्म निर्माता सागर केशरवानी, मदन लाल कहरा डायरेक्टर, छत्तीसगढ़ के सुप्रसिद्ध अभिनेता करन खान, अभिनेत्री सोनाली सहारे, प्रगति राव,मनीषा वर्मा,आशीष शेन्द्रे,सलीम अंसारी,टीकम सिंह,पुष्पेंद्र सिंह एवं फ़िल्म के PRO विजय टंडन और दिलीप नाम पल्लीवार उपस्थित रहे।

अर्जुन कपूर और मलाइका अरोड़ा की शादी अगले साल

बॉलीवुड के गलियारों में अर्जुन कपूर और मलाइका अरोड़ा के रिश्ते की खबरें पिछले कुछ समय से चर्चा में हैं. सलमान खान के भाई अरबाज की पूर्व पत्नी मलाइका और बोनी कपूर के बेटे अर्जुन कपूर पार्टियों से लेकर डेट पर साथ-साथ नजर आ रहे हैं.

पहले तो दोनों का छिप-छिपाकर मिलना होता था, लेकिन अब तो ऐसा लगता है कि इस प्रेमी जोड़े को किसी का डर नहीं. इधर, सूत्रों के हवाले से खबरें ऐसी आ रही हैं कि बोनी कपूर, अनिल कपूर और संजय कपूर के परिवार ने मलाइका अरोड़ा को अपने परिवार में स्वीकार कर लिया है. यानी कपूर परिवार में उनके रिश्ते का कोई विरोध नहीं है. परिवार के लोग भी दोनों के संग-साथ को अपनी मंजूरी दे चुके हैं.

जय भोले माया म डोले 2019 मई में होगी रिलीज

PRO विजय टंडन रायपुर:- एक लंबे इंतजार के बाद छत्तीसगढ़ के दर्शकों को ठहाके मार के हंसने पर मजबूर कर देने वाली बहुत ही स्वस्थ पारिवारिक हंसी से भरपूर कॉमेडी फिल्म "जय भोले मया म डोले" मई 2019 में आपके नजदीकी सिनेमाघरों में प्रदर्शित होने जा रही है इससे पहले निर्देशक अमन हुसैन ने अपनी पहली कॉमेडी फिल्म "पठौनी के चक्कर" से ही दर्शकों के दिलों में अपनी एक अलग ही जगह बना ली है उनकी आगामी कॉमेडी फिल्म "जय भोले मया म डोले" भी सिनेमा हॉल में दर्शकों को शुरू से लेकर अंत तक हंस हंस के लोटपोट होने पर मजबूर कर देगी .. मई 2019 में आपके नजदीकी सिनेमाघरों में प्रदर्शित होने जा रही है जिसमे छत्तीसगढ़ी कलाकार लीजेंड एक्टर सुपरस्टार रजनीश झांझी, सुपरस्टार संजय महानंद, केवल राम वर्मा, ज्योत्सना ताम्रकार, हेमा शुक्ला ,प्रदीप शर्मा, संतोष निषाद (बोचकू) विनय अंबस्डर, अरुण भांगे जैसे दिग्गज कलाकार इस फ़िल्म में अपने अभिनय से दर्शकों को हंसाने आ रहे हैं ।

छत्तीसगढ़ी फिल्म "बी ए सेकंड ईयर" को युट्युब में एक करोड़ व्युज के आंकड़े तक पहुंचने वाली राज्य की पहली फिल्म बन चुकी है

PRO विजय टंडन रायपुर:- छत्तीसगढ़ी फ़िल्म इंड्रस्ट्री में नया रिकॉर्ड बीए सेकंड ईयर को मिला एक करोड़ का व्युज छत्तीसगढ़ी फिल्मों के दर्शक छत्तीसगढ़ी फ़िल्म को बहुत अधिक मात्रा में देख रहे है इस फ़िल्म में लेजेंट सुपर स्टार रजनीश झांझी और फ़िल्म के हीरो मन कुरैशी फ़िल्म की हिरोइन शोनाली सहारे, जयंती मनहर, दादू साहू जैसे दिग्गज कलाकार ने अपना अभिनय से सभी छत्तीसगढ़ के दर्शकों का दिलजीत लिये है। और इस फ़िल्म के डायरेक्टर प्रणव झा अपनी आगामी फिल्म बीए फाइनल के लिए जुटे हुए है, और इस फिल्म को छत्तीसगढ़ के टॉप जगहों पर इसकी शूटिंग की जायेगी।

छत्तीसगढ़ी फिल्म जय भोले मया मा डोले KRV फिल्म्स के बैनर तले बनने जा रही

रायपुर:- छत्तीसगढ़ी फिल्मों एक और नया फिल्म का निर्माण छत्तीसगढ़ के डेविड धवन कहलाने वाले निर्देशक अमन हुसैन चार पांच साल के अंतराल के बाद अपनी एक नई कहानी पर हास्य फ़िल्म जय भोले मया मा डोले बनाने की तैयारी में जुट गए हैं। अमन हुसैन को छत्तीसगढ़ के डेविड धवन इसलिए कहा जाता है जब छत्तीसगढ़ में 1 घंटे की सीडी फिल्में बना करती थी।तब उन्होंने एक से बढ़कर एक हास्य फिल्म दर्शकों को दी है। उसमें से कुछ नाम समधिन पट गे, टुरी के चक्कर, बीवी घोटाला, दमान्द चाही फोकट में, संगी तोर गांव म, ऐसी कई फिल्में है जो आज छत्तीसगढ़ में गांव गांव तक जानी जाती है। जिसमें से समधिन पट गे छत्तीसगढ़ में मील का पत्थर साबित हुई जहां से निकले 2 नाम ओचकू बोचकू यानी हेमलाल कौशल और संतोष निषाद जो आज छत्तीसगढ़ी फिल्म इंडस्ट्री में कॉमेडी में अपनी एक अलग पहचान बनाई हुई है। और इसके बाद निर्देशक अमन हुसैन ने आर.बी क्रिएशन के बैनर तले अपनी पहली कॉमेडी फिल्म छत्तीसगढ़ी फीचर फिल्म बनाई पठौनी के चक्कर जिसे दर्शकों का खूब प्यार मिला उसके बाद उनकी दो और फिल्में भी रिलीज हुई फुलवारी और सिधवा सजन आप लोगों की जानकारी के लिए बता दे कि हाल ही में 1 साल पहले अमन हुसैन ने एक सिंधी फिल्म ससु सेर नू सवा सेर यानी सास शेर तो बहू सवा शेर कॉमेडी फिल्म डायरेक्ट की है और अभी उनका पूरा ध्यान जय भोले मया में डोले फिल्म में है जिसकी कास्टिंग पूरी हो चुकी है कलाकारों में केवल राम वर्मा, ज्योत्सना ताम्रकार, हेमा शुक्ला, संजय महानंद, रजनीश झांजी, पूरन साहू राजू चंद्रवंशी और गप्पू भाई आदि कलाकार इस फिल्म में किरदार निभा रहे हैं और निर्देशक अमन हुसैन का कहना है कि दर्शक जब इस फिल्म को पर्दे पर देखेंगे तो पूरी फिल्म के दौरान ठहाके मार मार कर हंसेगे और अपने सारे दुख दर्द भूल जाएंगे।