राजधानी

विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर श्री रावतपुरा सरकार ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशन नवा रायपुर में वृक्षारोपण किया गया

रायपुर - विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर श्री रावतपुरा सरकार ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशन नवा रायपुर में वृक्षारोपण किया गया जिसमे करण, अर्जुन, गुलमोहर ,नीम के साथ लगभग पचास पौधे लगाए गए इस अवसर पर श्री रावतपुरा सरकार ग्रुप ऑफ इंस्टीटूशन्स नवा रायपुर की ओर से विश्व पर्यवरण दिवस की हार्दिक बधाई व शुभकामनाएं दी गई । साथ ही कहा गया की प्रकृति जीवन का दर्पण हैं प्रकृति अनुरूप जीवन जीना ही सुखमय जीवन का राज है। पर्यावरण दिवस पर संकल्प लिया गया कि पर्यवरण विरोधी कार्य नही करेंगे और पर्यावरण संतुलन और शुद्धता के लिए हर संभव प्रयास करेंगे। वृक्षारोपण कार्यक्रम में डॉ. मिथिलाश सिंह प्राचार्य (श्रीटेक) एवं प्रभारी निदेशक सुनील शर्मा सहायक। प्रो. मेक) राजकुमार भारती नरेश खुंटे मुकेन्द्र साहू, विजय गुप्ता, पुष्पेंद्र साहू ,चित्रसेन वर्मा दीपक फुताने गजेंद्र वर्मा संतोष पाल उमाशंकर साहू ,रवि कुमार शर्मा , ललित कुमार बार्ले सहित सभी स्टाफ मौजूद रहे

मदर टेरेसा कॉलेज ऑफ नर्सिंग में विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर टाइम टू रीइमेजिन, रीक्रिएट एंड रिस्टोर आयोजन किया

रायपुर- मदर टेरेसा कॉलेज ऑफ नर्सिंग ने विश्व पर्यावरण दिवस, 2021 के अवसर पर पाठ्येतर गतिविधियों का आयोजन किया, टाइम टू रीइमेजिन, रीक्रिएट एंड रिस्टोर थीम रहा। छात्रों ने आज की थीम पर पोस्टर प्रेजेंटेशन और वीडियो मेकिंग में हिस्सा लिया। पाठ्येतर गतिविधियों के साथ, पूरे कुम्हारी परिसर के कर्मचारियों ने वृक्षारोपण अभियान में सक्रिय रूप से भाग लिया, जिसकी अध्यक्षता परिसर निदेशक एमके श्रीवास्तव ने की ,इस पौधरोपण अभियान में निदेशक महोदय, श्री विजय सगोरिया, रजिस्ट्रार, डॉ. चंचल दीप कौर, प्राचार्य एसआरआईपी, डॉ. प्रीति गुरनानी, बी.एड कॉलेज प्राचार्य, श्रीमती के. दीपा, प्राचार्य एमटीसीएन, श्री शिव नारायण के साथ , प्रशासनिक अधिकारी श्री अनिल वैष्णव, मानव संसाधन सह प्रवेश प्रभारी एवं परिवहन प्रभारी एवं समस्त कर्मचारियों ने भाग लिया।

ए एसआई से एसआई पद पर हुआ प्रमोशन डीजीपी डीएम अवस्थी ने जारी किया आदेश पुलिस के 106 परवारों में खुशी की लहर, देखिए ए एसआई से एसआई पद पर किसे मिला प्रमोशन

रायपुर 5 जून । पुलिस मुख्यालय द्वारा जारी हुये प्रमोशन आदेश से 106 पुलिसकर्मियों के परिवारों में खुशियां आई है। डीजीपी श्री डीएम अवस्थी के निर्देश पर आज पुलिस मुख्यालय से एएसआई से एसआई पद के लिये पदोन्नति सूची जारी कर दी गई। प्रदेश की विभिन्न इकाईयों में पदस्थ 106 एएसआई को पदोन्नत कर एसआई बनाया गया है। उल्लेखनीय है कि बीते साल भी सौ से अधिक एएसआई को एसआई पद पर प्रमोशन दिया था। बीते साल आरक्षक से प्रधान आरक्षक के पद पर 126, प्रधान आरक्षक से सहायक उप निरीक्षक के पद पर 166, सहायक उप निरीक्षक से उप निरीक्षक के पद पर 116, उप निरीक्षक से निरीक्षक के पद पर 76 अधिकारियों को पदोन्नति प्रदान की गयी थी। इन्हें मिला प्रमोशन- श्री देवनारायण राम श्रीमतीकमला यादव श्रीप्रदीपकुमारमिश्रा श्रीगुहारामवर्मा श्रीरामअवतार यदु श्रीमती शैल शर्मा श्रीगिरजाषंकर यादव श्रीसुषीलकुमारवर्मा ज्योतिराजपुत श्रीमती शारदाबंजारे श्रीगोवर्धन सिंह ठाकुर श्रीचिरौंजीलालसाहू श्रीनारायण प्रसादवर्मा श्रीविष्णुप्रसादचौबे श्रीमहेन्द्रकुमारटंडन श्रीअलेक्जेण्डर खेस श्रीविरेन्द्र धरदीवान श्रीचन्दरू रामजायसवाल श्रीभदरसाय पैकरा श्रीजगदीशचंद्रपाटीदार श्री शत्रुघननाग श्रीसूर्यकांततिवारी श्रीनित्यप्रकाशगोयल श्रीबलदाऊचन्द्राकर श्रीलखमूराम यादव श्रीहुलाससाहू श्रीसंतुरामपोयाम श्रीपवन यादव श्रीउमेन्द्र सिंह ठाकुर श्रीगेंदसिंहसोरी श्रीहेमंतकुमारसाहू श्रीअथनासियुस मिंज श्री के. सूर्यनारायण राजू श्री यादवकुमारसाहू श्री शोभितरामसाहू श्रीमहेन्द्रकुमारसाहू श्रीसुनीलकुमारढाबरे श्रीनरेश सिंह श्री शंकरपाल श्रीजगतपाल सिंह श्रीरमेशकुमारमरकाम श्रीरामकुमारजैन श्रीरोहितकुमारडहरिया श्रीदिलीपमेश्राम श्रीकुमार सिंह सिन्हा श्रीबाबूलालसाहू श्रीउनियरकुमारचांदने श्रीदेवनारायण श्रीवास्तव श्रीपरवासी यादव श्रीगंगाप्रसादबंजारे श्रीजयद्रथप्रसादसोनी श्रीनारायण सिंह धु्रव श्रीकृष्णा सिंह धु्रर्वे श्रीगोपाल सिंह राजपूत श्रीभुवनलालसाहू श्रीविनय कुमार सिंह श्रीश्रवणकुमारगायकवाड़ श्रीसुभाष सिंह मंडावी श्रीछन्नूलालजांगड़े श्रीबल्दूरामराणा श्रीगौकरण सिंह कोरेटी श्रीगेंदलालसाहू श्रीरमाशंकरतिवारी श्रीसंतोषसोम श्रीदीनूरामसेठिया श्री कृष्णपाल सिंह श्रीविमलेशकुमार सिंह श्रीकमलदासबनर्जी श्रीभागवत सिंह नायकर श्रीसुबल सिंह श्रीसंतोष सिंह श्रीरामसाय रामभगत श्रीसतउरामनेताम श्रीदेवादासभारती, बेबीनंदा, श्रीफत्तेहबहादुर श्रीभागवतठाकुर श्रीदया शंकरमिश्रा श्रीमानकरामसोनकर श्रीरेवारामसाहू श्रीकैलाशकुमारसाहू श्री शम्भुरामसिन्हा श्रीकुंभकरणराजवाड़े श्रीसोनाधर कश्यप श्रीअखिलानंदसाहू श्रीउत्तमकुमारजैन श्रीसुषेणकुमारपाल श्रीनरसिंहसाहू श्रीमतीआशाश्यामल श्री द्वारिकामिश्रा श्रीफागूरामलहरे श्रीबुधरामसाहू श्रीटेक सिंह राजपूत श्री घनश्याममरकाम श्रीविनोद सिंह ठाकुर श्रीबिदेशीरामबिनिया श्रीपरसरामदेवदास श्रीहृदय शंकरप्रजापति श्रीशिवकुमारसाहू श्रीव्यास सिंह परमार श्रीमदनलालसिन्हा श्रीरघुराम यादव श्रीरहसलालडहरिया श्रीभूपेशराठौर श्रीभेलारामराजपूत श्रीबसंतमिश्रा

लोक कल्याण है भारतीय पत्रकारिता का प्राण : प्रो. बलदेव भाई शर्मा

रायपुर- कुशाभाऊ ठाकरे पत्रकारिता एवं जनसंचार विश्‍वविद्यालय, रायपुर के कुलपति प्रो. बलदेव भाई शर्मा ने कहा है कि लोक कल्याण और नैतिकता भारतीय पत्रकारिता का प्राण है. राष्ट्रीय जागरण एवं लोक कल्याण भारतीय पत्रकारिता का ध्येय रहा है. प्रो. शर्मा महात्‍मा गांधी अंतरराष्‍ट्रीय हिंदी विश्‍वविद्यालय, वर्धा के मानविकी एवं सामाजिक विज्ञान विद्यापीठ के अंतर्गत जनसंचार विभाग द्वारा हिंदी पत्रकारिता दिवस पर ‘पत्रकारिता की बदलती प्रवृत्तियाँ’ विषय पर आयोजित ऑनलाइन राष्‍ट्रीय वेबिनार को बतौर मुख्य अतिथि संबोधित कर रहे थे. प्रो. शर्मा ने कहा कि जनजागरण ही भाषाई पत्रकारिता का ध्येय रहा है. उन्होंने कहा कि पत्रकारिता में सजगता, जागरूकता, निर्भयता, लोक जागरण, सत्यान्वेषण और मानवीय संवेदना का होना आवश्यक है. उन्होंने कहा कि पत्रकारिता की ताकत का इस्तेमाल समाज के हित में करना चाहिए. इस अवसर पर विशिष्‍ट अतिथि के रूप में विचार रखते हुए भारतीय जनसंचार संस्‍थान, दिल्‍ली के महानिदेशक प्रो. संजय द्विवेदी ने कहा कि कोरोना काल में पत्रकारिता में काफी परिवर्तन आए हैं. यह समय पत्रकारों के लिए अनेक चुनौतियों से भरा रहा है. उन्होंने कहा कि इस बदले हुए दौर में पत्रकारिता के विद्यार्थियों को डिजिटल ट्रांसफार्मेशन के लिए तैयार करना होगा. अध्यक्षीय उद्बोधन में हिंदी विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. रजनीश कुमार शुक्ल ने कहा कि पिछले 25-30 वर्षों में जो परिवर्तन आया है वह पत्रकारिता की प्रवृत्तियों का परिवर्तन है. उन्होंने कहा कि राष्ट्र की दिशा क्या होगी, इस पर भविष्य की पत्रकारिता को देखना होगा. मुद्रित माध्यमों के सामाजिक असर की चर्चा करते हुए प्रो. शुक्ल ने कहा कि सभ्यता दृष्टि को विकसित करने में मुद्रित माध्यम बड़ी भूमिका निभा सकता है. संगोष्ठी को सम्बोधित करते हुए वरिष्‍ठ पत्रकार पदम पति शर्मा ने कहा कि निष्पक्षता ही पत्रकारिता की पहचान है. उन्होंने स्वातंत्र्योत्तर भारत और बाद के दिनों में पत्रकारिता आए बदलाव और बदलती गयी भूमिका की चर्चा की. दैनिक जागरण, वाराणसी के संपादकीय प्रभारी भारतीय बसंत कुमार ने कहा कि पत्रकारिता हमें चुनौतियों के बीच समाधान का रास्ता भी देती है. उन्होंने उदाहरण के साथ सकारात्मक पत्रकारिता की पढ़ाई की आवश्यकता जताते हुए नैतिक मूल्यों की बात की. जी न्‍यूज बिहार-झारखंड के संपादक स्‍वयं प्रकाश ने कहा कि बाजारवाद का युद्ध जीतना हो तो पत्रकारिता में मूल्य और सिद्धांत की पढ़ाई आवश्यक है. इसके लिए हमें गांधी और कृष्ण की विचार दृष्टि को सामने रखना चाहिए. प्रभात खबर, कोलकाता के संपादक कौशल किशोर त्रिवेदी ने कहा कि वर्तमान समय में पत्रकारिता की प्रवृत्तियां बदली हैं तो पाठकों की भी प्रवृत्तियां बदली हैं. उन्होंने कहा कि पत्रकारिता ने रोज़गार के साधन निर्मित किए हैं. पत्रकारिता ने प्रभावित भी किया है और खुद भी प्रभावित हुई है. आरम्भ में जनसंचार विभाग के प्रोफेसर अनिल कुमार राय ने स्वागत भाषण दिया. कार्यक्रम का संचालन मानविकी एवं सामाजिक विज्ञान विद्यापीठ के अधिष्‍ठाता प्रो. कृपाशंकर चौबे ने किया. धन्‍यवाद जनसंचार विभाग के सहायक प्रोफेसर डॉ. अख्‍तर आलम ने ज्ञापित किया. डॉ. वागीश राज शुक्ल ने मंगलाचरण प्रस्तुत किया. विश्वविद्यालय के कुलगीत से कार्यक्रम का प्रारंभ किया गया. संगोष्ठी में अध्यापक, शोधार्थी तथा विद्यार्थियों ने आनलाइन माध्यम से बड़ी संख्या में सहभागिता की.

आतंकवाद विरोधी दिवस के अवसर पर राज्य निर्वाचन आयोग के अधिकारी-कर्मचारियों ने ली शपथ

रायपुर 21 मई 2021 राज्य निर्वाचन आयोग के अधिकारी कर्मचारियों द्वारा आज कोविड 19 के सभी सुरक्षात्मक नियमों का पालन करते हुए अपने अपने कक्ष में आतंकवाद विरोधी दिवस की शपथ ली गई।इस दौरान किसी भी प्रकार की गैदरिंग का आयोजन नहीं किया गया। राज्य निर्वाचन आयुक्त श्री ठाकुर रामसिंह,सचिव श्री रिमिजियुस एक्का,उप सचिव श्री दीपक कुमार अग्रवाल,डॉ संतोष देवांगन, अवर सचिव श्री आलोक कुमार श्रीवास्तव एवं प्रणव कुमार वर्मा सहित आयोग के सभी अधिकारी कर्मचारियों ने अपने कक्ष में ही शपथ ली। उल्लेखनीय है कि भारत के भूतपूर्व प्रधानमंत्री स्व राजीव गाँधी की पुण्यतिथि 21 मई आतंकवाद विरोधी दिवस के रूप में मनाई जाती है। आतंकवाद विरोधी दिवस मनाने का उद्देश्य इसके कारण आम जनता को हो रहे कष्टों तथा आतंक अथवा हिंसा से राष्ट्रीय हितों पर पड़ने वाले प्रभाव से आम जनता खासकर युवाओं को आतंक और हिंसा से दूर रहने के लिए जागरुक करना है। उल्लेखनीय है कि राज्य शासन द्वारा इस वर्ष कोविड 19 संक्रमण के कारण प्रदेश के सभी शासकीय कार्यालयों को इस संबंध में दिशा निर्दश जारी हुए थे कि किसी भी प्रकार की सोशल गैदरिंग के बगैर शपथ लेनी है। राज्य शासन द्वारा डिजिटल एवं सोशल मीडिया के माध्यम से भी आतंकवाद विरोधी दिवस के अवसर ओर हिंसा एवं आतंक से दूर रहने के संदेश प्रसारित किए गए।

कुशाभाऊ ठाकरे पत्रकारिता एवं जनसंचार विश्वविद्यालय के विद्यार्थी कोरोना जागरूकता कार्यक्रम में ले रहे बढ़-चढ़कर हिस्सा

रायपुर, 7 मई 2021, प्रदेश में बढ़ते कोरोना के संक्रमण को देखकर हर कोई चिंतित है। ऐसे में सभी शैक्षणिक संस्थाएं बंद हैं। विद्यार्थी घर बैठे ऑनलाइन माध्यम से पढ़ाई कर रहे हैं। कोरोना जागरूकता में विद्यार्थियों की महत्वपूर्ण भूमिका हो सकती है। इसी संबंध में राज्यपाल अनुसुईया उइके ने सभी विश्वविद्यालयों को पत्र जारी कर कहा कि कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण से बचाव के लिए छात्र-छात्राओं एवं शिक्षकों के माध्यम से आमजनों को जागरूक करने के कार्यक्रम चलाये जाएं। साथ ही कोरोना महामारी से बचाव के लिए सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन का पालन किए जाने के संबंध में जागरूकता अभियान चलाया जाए।

इन निर्देशों के संबंध में कुशाभाऊ ठाकरे पत्रकारिता एवं जनसंचार विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. बल्देव भाई शर्मा ने सभी विभागाध्यक्षों को निर्देशित किया है कि विद्यार्थियों के द्वारा कोरोना जागरूकता को लेकर ऑनलाइन कैम्पेन चलाया जाए। साथ ही विश्वविद्यालय के कम्युनिटी रेडियो स्टेशन 90.8 एफएम "रेडियो संवाद" पर कोरोना जागरूकता के कार्यक्रम अधिक से अधिक प्रसारित किए जाएं। इलेक्ट्रॉनिक मीडिया विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ. नरेन्द्र त्रिपाठी ने बताया कि विश्वविद्यालय के विद्यार्थी इस कोरोना जागरूकता कार्यक्रम में बढ़-चढ़कर हिस्सा ले रहे हैं। विद्यार्थी कोरोना जागरूकता को लेकर रेडियो प्रोग्राम बना रहे हैं। विद्यार्थियों द्वारा कोरोना विषय पर रेडियो वार्ता, रेडियो संदेश, रेडियो परिचर्चा, रेडियो साक्षात्कार, रेडियो ड्रामा, रेडियो जिंगल, रेडियो पर कहानी औऱ कविताएं कोरोना जागरूकता विषय पर बनाकर बहुत ही रोचक ढंग से प्रसारित कर रहे हैं।

अभी तक कोरोना जागरूकता विषय पर 20 से अधिक रेडियो कार्यक्रम विद्यार्थियों द्वारा तैयार किए गए जो रेडियो पर प्रसारित किए जा रहे हैं। इसी के साथ विद्यार्थियों ने सोशल मीडिया पर कोरोना जागरूकता अभियान छेड़ रखा है। कोरोना विषय पर पोस्टर मेकिंग ऑडियो और वीडियो के माध्यम से कोरोना जागरूकता अभियान चला रहे हैं । विद्यार्थियों द्वारा बनाए गए रेडियो कार्यक्रमों को कम्युनिटी रेडियो 90.8 एफएम "रेडियो संवाद" पर दिन के 11 से 03 बजे के बीच सुना जा सकता है। विद्यार्थियों द्वारा बनाए गए कोरोना जागरूकता पोस्टर को विश्वविद्यालय की वेबसाइट सहित सभी सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर प्रसारित किया जा रहा है। विद्यार्थियों ने शहर के प्रमुख चिकित्सकों के ऑडियो एवं वीडियो साक्षात्कार तैयार किए हैं। इन वीडियो को सोशल मीडिया प्लेटफार्म के साथ यूट्यूब पर प्रसारित किया जा रहा है। इसके अलावा विद्यार्थी सक्सेस स्टोरी पर आधारित रेडियो प्रोग्राम बना रहे हैं, जसमें रोचक तरीके से यह बताने का प्रयास किया जा रहा है कि किस प्रकार कोरोना की जंग जीतकर लोग अपने घर आ रहे हैं। एमएससी इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के छात्र मनीष साहू ने बताया कि विश्वविद्यालय द्वारा हमें कोरोना जागरूकता अभियान से जोड़ा गया है।

हम बहुत ही रोचकता से कोरोना जागरूकता के लिए रेडियो प्रोग्राम एवं पोस्टर बना रहे हैं। इसी क्लास के शिवांकर द्विवेदी ने बताया कि उन्होंने कोरोना के ऊपर शार्ट फ़िल्म तैयार की है। इस फ़िल्म में कोरोना से बचाव हेतु जवाहरलाल मेडिकल कॉलेज के प्रोफेसर डॉ. निर्मल वर्मा का साक्षात्कार बहुत ही प्रमुखता से दिखाया गया है। शिवांकर द्विवेदी द्वारा कोरोना से जागरूकता के सम्बंध में 6 पोस्टर भी तैयार किए हैं। कुशाभाऊ ठाकरे पत्रकारिता विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों द्वारा कोरोना जागरूकता अभियान में प्रमुख रूप से नेहा यादव, अनिल कुमार, ऋषिका सोनी, अंजली, अमरनाथ तिवारी, अश्विनी मालाकार, मदालसा दुबे, हिमांशु शर्मा, मुस्कान शर्मा, प्रेरणा वर्मा, दीप्ति, कृति, लक्ष्मी चंद्राकर, अरविंद मिश्रा, सुधांशु देवांगन ओर प्रतीक साहू ने बेहतरीन रेडियो कार्यक्रम एवं पोस्टर तैयार किए हैं।

एनएसयूआई द्वारा चलाए जा रहे अभियान मोदी टीका दो का आज तीसरा दिन

रायपुर एनएसयूआई द्वारा चलाए जा रहे अभियान मोदी टीका दो लगातार तीन दिन से अलग-अलग माध्यमों से इस अभियान को चलाया गया है आज इस अभियान के अंतिम दिन प्रदेश अध्यक्ष आकाश शर्मा ने रायपुर दक्षिण के विधायक बृजमोहन अग्रवाल के घर पर धरना दिया एवं पूरे प्रदेश के बीजेपी के 9 सांसद एवं 14 विधायक के घर पर एनएसयूआई के पदाधिकारी ने उनसे अनुरोध किया कि केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार राज्य सरकार को एक दाम में टीका एवं कोरोना की वैक्सीन उपलब्ध कराएं इसको लेकर आज पूरे प्रदेश में बीजेपी के निर्वाचित सांसद एवं विधायकों के निवास का घेराव किया गया।

इस कड़ी में रायपुर राजधानी में प्रदेश अध्यक्ष आकाश शर्मा प्रदेश उपाध्यक्ष भावेश शुक्ला एवं जिला अध्यक्ष अमित शर्मा ने दक्षिण के विधायक बृजमोहन अग्रवाल के निवास के बाहर धरना प्रदर्शन किया एवं सांसद सुनील सोनी के घर के बाहर प्रदेश सचिव हनी बग्गा जिला कार्यकारिणी अध्यक्ष कृष्णा सोनकर, विनोद कश्यप द्वारा घेराव किया गया।।

प्रदेश अध्यक्ष आकाश शर्मा ने कहा केंद्र की मोदी सरकार जिस प्रकार राज्यों के साथ दोहरी नीति अपना रही है उसके खिलाफ आज हम मोदी टीका दो अभियान के तहत लगातार तीन दिनों से विभिन्न तरीकों से नरेंद्र मोदी सरकार को अपनी आवाज पहुंचाई और मोदी जी से आग्रह किया की नरेंद्र मोदी जी राज्यों को एकदाम एवं पर्याप्त रूप से वैक्सीन उपलब्ध कराएं जिस प्रकार छत्तीसगढ़ के जिस वर्ग को अभी टीका लगना है लगभग व 1.5 करोड़ लोग लोगों को टीका लगना है और राज्य के पास डेढ़ लाख व्यक्ति नहीं आ पाई है इसके लिए आज हमने बीजेपी के 14 विधायक एवं 9 सांसदों के घर पर धरना दिया और उन से विनम्र अपील की कि मोदी जी आपकी बात सुनते हैं तो उनसे यह आप अनुरोध कीजिए कि राज्यों को सही दाम पर वैक्सीन और जनसंख्या के अनुरूप वैक्सीन उपलब्ध कराएं और आज मैंने रायपुर दक्षिण के विधायक बृजमोहन अग्रवाल जी से भी यही मांग की कि आप मोदी जी से विनम्र निवेदन करें और राज्य को राज्य का हक दिलाएं।। प्रदेश सचिव हनी बग्गा आज "मोदी टीका दो" अभियान के तहत रायपुर के सांसद सुनील सोनी के घर के बाहर आज हमने धरना प्रदर्शन किया प्रदेश अध्यक्ष आकाश शर्मा जी के निर्देश पर पूरे प्रदेश में यह अभियान चलाया गया और आज हमने सांसद जी से अनुरोध किया कि राज्य को टीका उपलब्ध कराएं और केंद्र को जिस दाम पर टीका उपलब्ध हो रहा है उसी दाम पर राज्य को भी उपलब्ध कराएं।।

श्री रावतपुरा सरकार यूनिवर्सिटी रायपुर के कंप्यूटर साइंस विभाग द्वारा कैरियर काउंसलिंग एंड गाइडेंस विषय पर एक दिवसीय राष्ट्रीय वेबिनार का आयोजन

रायपुर, 7 मई 2021- श्री रावतपुरा सरकार यूनिवर्सिटी रायपुर के कंप्यूटर साइंस विभाग द्वरा कैरियर काउंसलिंग एंड गाइडेंस विषय पर एक दिवसीय राष्ट्रीय वेबिनार का आयोजन किया गया । कार्यक्रम की शुरुआत प्रेरणास्रोत कुलाधिपति महोदय श्री रविशंकर जी महाराज जी के आशीर्वाद से, माँ सरस्वती के वंदन से किया गया। कार्यक्रम के मुख्यवक्ता श्री ओ.पी. चौधरी पूर्व-आईएएस अधिकारी रहें. विशिष्ट वक्ता के रूप में यूनिवर्सिटी के प्रति-कुलाधिपति श्री राजीव माथुर रहे एवं कार्यक्रम की अध्यक्षता यूनिवर्सिटी के कुलपति प्रो. (डॉ.) राजेश कुमार पाठक ने किया। कार्यक्रम के मुख्यवक्ता श्री ओ.पी. चौधरी पूर्व-आईएएस अधिकारी ने अपने वक्तव्य में कहा कि जीवन में खुशियां हासिल करने के लिए एक बेहतरीन करियर का होना आवश्यक है।

साथ ही उन्होंने बताया कि अगर विद्यार्थी भाषा, समसामयिक घटनाओं पर नजर, लेखन शैली, बोलने की शैली एवं तेज गति से लेखन कर सफलता की नई इबारत लिख सकते हैं। विशिष्ट वक्ता प्रति-कुलाधिपति, श्री राजीव माथुर ने कहा कि श्री ओ.पी. चौधरी ने अपने पहले ही प्रयास में आईएएस बनकर न केवल छत्तीसगढ़ का नाम रोशन किया अपितु उन धारणाओं को भी तोड़ा की सफल होने के लिए जरुरी नहीं है कि आप बड़ें शहरों में रहते हो, अच्छी अंग्रेजी बोलते हो, अपितु सफलता का एक मात्र मूल मंत्र आप के द्वारा ईमानदारी से किया गया प्रयास है। यूनिवर्सिटी के कुलपति प्रो. (डॉ.) राजेश कुमार पाठक ने अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में कहा कि छात्रों के लिए कैरियर परामर्श बहुत जरूरी है। इससे उनको सही दिशा और सही कैरियर चुनने में मदद मिलती है, जिससे छात्र आसानी से आगे बढ़ सकते हैं।

उक्त कार्यक्रम श्री कोमल यादव विभागाध्यक्ष, कंप्यूटर साइंस विभाग के संयोजन एवं श्री विवेक वर्मा सहायक प्राध्यापक के सह-संयोजन में आयोजित किया गया। कार्यक्रम का संचालन प्रो. (डॉ.) शोभना झा, अधिष्ठाता, कला संकाय द्वारा किया गया। आभार प्रदर्शन सुश्री स्तुति सिंह सहायक प्राध्यापक, वाणिज्य विभाग द्वारा किया गया. इस अवसर प्रदेश व अन्य राज्यों के महाविद्यालयों, विश्वविद्यालयों के प्राध्यापकों, शोधार्थियों, इंटरनेशनल स्कूल एवं नर्सिंग इंस्टीट्यूट के प्राचार्या व विद्यार्थियों, यूनिवर्सिटी परिवार के विद्यार्थियों एवं 500+ प्रतिभागियों की सक्रीय सहभागिता रहीं।

छत्तीसगढ़ में कॉलेज की परीक्षाएं होगी ऑनलाइन,उच्च शिक्षा विभाग ने जारी किया आदेश

रायपुर- छत्तीसगढ़ में कोरोन संकट के बावजूद कॉलेज-यूनिवर्सिटी की परीक्षाएं होगी। राज्य सरकार ने परीक्षा को लेकर गाइडलाइन जारी कर दी है। उच्च शिक्षा विभाग ने इस बाबत आदेश जारी कर दिया है। जारी आदेश के मुताबिक स्नातक और स्नातकोत्तर की अंतिम वर्ष और अंतिम सेमेस्टर की परीक्षा ऑफलाइन होगा। जबकि अन्य परीक्षा ऑनलाइन होगी।

स्थानिय विधायक बताये की 15 साल प्रदेश में उनकी सरकार रही तब भाठापारा में चिकित्सा के क्षेत्रों में विधायक ने क्या विकास कार्य किये है -सुशील शर्मा

भाठापारा-भाजपा विधायक शिवरतन शर्मा के दुवारा राज्य सरकार लगाये अनर्गल आरोप पर पलटवार करते वर्चुअल प्रेस कांफ्रेंस कर प्रदेश कांग्रेस सचिव और मारो नगर पंचायत के पर्वेक्षक सुशील शर्मा ने कहा कि उल्टा चोर कोतवाल को डांट लगाये वाली कहावत को चरितार्थ करते हुये भूपेश सरकार के खिलाफ इस भयंकर कोरोना संक्रमण काल मे अपनी उपस्तिथि दिखाने अपनी गाल बजाने से बाज नही आ रहे है,स्थानिय विधायक बताये की 15 साल प्रदेश में उनकी सरकार रही तब भाठापारा में चिकित्सा के क्षेत्रों में विधायक ने क्या विकास कार्य किये है उनके कार्यकाल में एक भी नये स्वस्थ केंद्र का निर्माण एवं टीकाकरण केंद्र का निर्माण नही किया गया,सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र की स्तिथि में कोई सुधार कार्य नही किया गया आज भी यह केंद्र मात्र रिफर सेंटर बनकर रह गया है,कोविड़-19 जैसे महामारी के शिकार लोगो को हो रही टिका, दवाई,आक्सीजन की कमी के लिये केंद्र की नरेंद्र मोदी की सरकार पूर्ण रूपेण जिम्मेदार है,मोदी सरकार के दुवारा नोट बंदी,जी एस टी, किसानों के लिये लाये काले कानून जैसे तुगलकी फैसलों की तरह कोविड़-19 के नियंत्रण में सरकार ने लगातार गलत फैसले लिये गये जिसका परिणाम आज पूरा देश और देश के साथ साथ छत्तीसगढ़ की जनता भी। भुगत रही है। जबकि राज्य में कांग्रेस की भूपेश बघेल की सरकार ने कोरोना महामारी को समाप्त करने के लिये प्रदेश में लॉक डाउन करना,सेनेटाइजर की व्यवस्था,माक्स की अनिवार्यता,दो गज की दूरी जैसे महत्वपूर्ण निर्णय कर जनता जनार्दन को इस महामारी से बचा कर रखा,केंद्र की मोदी सरकार ने इसकी तारीफ भी की और राज्य सरकार से कोविड़-19 से बचाव के फार्मूलों की जानकारी भी ली किन्तु उस पर गंभीरता पूर्वक अमल नही किया गया,आज भी राज्य की भूपेश सरकार इस संक्रमण काल मे महामारी से बचाव हेतु लगातार जनजागरण कर जनता को जागरूक करने में तन मन धन से लगी हुई है,इसके साथ ही सरकार ने सभी नगरीय निकाय क्षेत्रों और ग्राम पंचायत क्षेत्रों में कोरेन्टीन सेंटर सहित कोविड़-19 अस्पताल का निर्माण कर जनता की भलाई करने में लगी हुई है, छत्तीसगढ़ कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष मोहन मरकाम के नेतृत्व में पूरे प्रदेश में कोरोना महामारी के रोकथाम में सहयोग करने के लिये जिला और ब्लॉक स्तर पर कोरोना कंट्रोल रूम गठित कर कोविड़ से पीड़ितों को चिकित्सा,स्वास्थ,अस्पताल लाने और ले जाने,टेस्टिंग कराने, टिका कारण करवाने,बेड और आक्सीजन की व्ययस्था सहित जरूरत मन्दो को भोजन उपलब्ध कराने पूरे प्रदेश में कांग्रेस के कार्यकर्ता जी जान से लग कर कार्य कर रहे है। ऐसे संक्रमण काल के समय स्थानिय विधायक के दुवारा राज्य सरकार पर मिथ्या आरोप लगाना उनकी छपास रोग से ग्रसित मानसिकता को प्रदर्षित करती है,विधायक बताये की उनके दुवारा कोविड़-19 के पहले चरण में क्या योगदान दिया गया था,आज केंद्र सरकार के अति विस्वास और अदूरदर्शी निर्णय के चलते देश और प्रदेश की जनता को कोरोना महामारी के मामले में दूसरी बार भारी नुकसान उठाना पड़ रहा है,केंद्र सरकार के दुवारा लगातार छत्तीसगढ़ प्रदेश के साथ भेदभावपूर्ण की नीति अपनाई जा रही है,आज प्रदेश की इस गंभीर स्तिथि के लिये केंद्र की मोदी सरकार ही पूर्णता जिम्मेदार है। प्रदेश कांग्रेस सचिव सुशील शर्मा ने आगे कहा कि केंद्र सरकार यदि अपना टिका और वैक्सीन अन्य देशों को देने की अपेक्षा प्रदेशो को दिया होता तो आज प्रदेशो से कोरोना संक्रमण पूरी तरह समापन की ओर अग्रसर होता,कांग्रेस के नेताओ के दुवारा लगातार मांग करने पर अब जाकर 18 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के नागरिकों को टीकाकरण की अनुमति प्रदान की गई है,ऐसे महामारी के समय भी भूपेश सरकार ने गरीबो और मज़दूरो को जीवन निर्वाह करने रोजगार गारंटी के तहत कार्य प्रदान किया, किसानों को धान का बोनस दिया,रेलवेस्टेशन,बस स्टेण्ड से लेकर एयरपोर्ट तक सभी जगह आने और जाने वालों का कोरोना टेस्ट कराने की व्यवस्था करना जैसे महत्वपूर्ण कार्य मे प्रशासन तंत्र लगा हुवा है। ऐसे नाजुक संक्रमण काल के समय विधायक को अनर्गल मिथ्या आरोप न लगाकर जनता जनार्दन की सेवा और सहयोग करने में राज्य सरकार का साथ देना चाहिये और अपने जनप्रतिनिधि होने का दायित्व निभाना चाहिये।पूर्व में जब इस महामारी का जन्म हुवा था उस समय देश के प्रधानमंत्री ने जनता जनार्दन से थाली और ताली बजवाकर,शंख और घंटी बजवाकर,दीपक और मोमबत्ती जलवाकर कोरोना को भगाने की अपील की गई थी उंसके स्थान पर यदि दवाइयों,अस्पतालों और वैक्सीन के निर्माण पर गंभीरता पूर्वक धयान दिया जाता तो आज देश और प्रदेश से कोविड़-19 का विनाश निश्चिय हो जाता और इस महामारी से जनता को राहत मिल जाती,यह महामारी इसकदर नही फैलती,कांग्रेस के नेताओ पर गुटबाज़ी का आरोप लगाकर अपनी जवाबदेही से विधायक शिवरतन शर्मा बचना चाहते है, आपकी पार्टी में कितनी गुटबाज़ी है और आप स्वयं किस तरह गुटबाज़ी करते है इससे पूरा क्षेत्र भली भांति परिचित है। अंत मे सुशील शर्मा ने विधायक से कहा कि इस संक्रमण काल के समय राज्य सरकार पर आरोप लगाने से बचें और सरकार के साथ कदम से कदम मिलाकर क्षेत्र की जनता को इस महामारी से बचाने सहयोग करने आगे आकर सड़को पर जन सेवा करें।

टीको और दवाइयों की आपूर्ति में बिचौलियों और दलालों की उपस्थिति सुनिश्चित करने में संलिप्त मोदी सरकार

रायपुर । 20 अप्रेल 2021। छत्तीसगढ़ ही नहीं पूरे देश के युवा वर्ग को टीकाकरण के सुरक्षा चक्र से वंचित करने के मोदी सरकार के तुगलकी फैसले और 1 मई से शुरू करने पर केंद्र सरकार द्वारा युवाओं को सुरक्षा चक्र देने से इनकार करने पर तीखी आपत्ति व्यक्त करते हुए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है मोदी सरकार ने स्पष्ट कर दिया है 18 से 45 वर्ष की आयु के युवा वर्ग को फ्री वैक्सीन नहीं दी जाएगी। टीको और दवाइयों की आपूर्ति में बिचौलियों और दलालों की उपस्थिति सुनिश्चित करने का काम मोदी सरकार ने किया है। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने मोदी सरकार के इस युवाविरोधी जनविरोधी फैसले को दूरदर्शितापूर्ण बता कर भाजपा का वास्तविक चरित्र उजागर कर दिया है। समाज के कमजोर वर्गों और गरीबों के लिए मुफ्त वैक्सीन दिए जाने का कोई प्रावधान मोदी सरकार की टीकाकरण नीति में नहीं किया गया है जो मोदी सरकार के गरीब विरोधी और कमजोर वर्ग विरोधी चरित्र का जीता जागता प्रमाण है। मोदी सरकार द्वारा 18 से 45 वर्ष की आयु वर्ग के लिए घोषित टीकाकरण नीति टीका वितरण नीति नहीं टीका वितरण में अन्याय की नीति है। मोदी सरकार ने टीको के मूल्य निर्धारण करने या पीको की सही दर में उपलब्धता सुनिश्चित कराने से भी इंकार कर दिया है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि मोदी सरकार ने चतुराई से वैक्सीन अभि‍यान के सबसे बड़े चरण के वित्त व्यवस्था को राज्यों पर छोड़ दिया है। मोदी सरकार इस बारे में भी खामोश है कि वैक्सीन उत्पादन कैसे बढेगा,कब तक बढ़ेगा,कितनी आबादी को वैक्सीन मिलेगी? प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि देश का नौजवान पहले से बेरोजगार है और जिनके पास नौकरी थी उसे भी लॉकडाउन ने छीन लिया, व्यापार खत्म है, पेट्रोल डीजल गैस की बढ़ते दामों और सुरसा की मुंह की तरह बढ़ती महंगाई से देश घिरा हुआ है और मोदी जी कहते हैं कि 18 से 45 वर्ष के लोगों को टीकाकरण के लिए पैसा लगेगा। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि ऐसी मोदी सरकार पर धिक्कार है जो करोना की आपदा में लगातार अवसर खोज रही है। मोदी सरकार की रुचि ना वैक्सीन सही दामों में उपलब्ध कराने की है और ना ही टीकाकरण का सुरक्षा चक्र युवा पीढ़ी तक पहुंचाने में है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है की नई टीका नीति की जो जानकारी आई है उसके मुताबिक देश में टीका बनाने वाली अब तक की दो कंपनियों के उत्पादन का आधा हिस्सा केंद्र सरकार लेगी और उसे राज्यों में 45 वर्ष से ऊपर के लोगों को टीका लगाने के लिए देना जारी रखेगी। दूसरी तरफ 18 वर्ष से ऊपर के लोगों को अपनी मर्जी से टीका लगवाने की छूट दे दी गई है और देश की दोनों टीका कंपनियां अपना आधा उत्पादन राज्य सरकारों को या खुले बाजार में अस्पतालों को अपनी मर्जी के रेट पर बेच सकेंगे और अस्पताल उन्हें एक मुनाफा लेकर लोगों को लगा सकेंगे। 18 से 45 वर्ष के बीच के लोगों की संख्या हिंदुस्तान में 40 50 करोड़ से अधिक है जबकि देश में तिको की मऊ ज्यादा उत्पादन क्षमता हर महीने 6 - 7 करोड़ ही है. जिस आयु वर्ग के लिए टीका लगाने की नीति घोषित की है उसके लिए अगले 6 महीने में भी देश में पर्याप्त टीके नहीं बनने वाले हैं। ऐसे मिट्टी को को बाजार मूल्य के आधार पर छोड़ देना स्वाभाविक रूप से टीकाकरण के कार्यक्रम में मुनाफाखोरी और कालाबाजारी को बढ़ावा देगा। मोदी सरकार का यह फैसला सीधे-सीधे समाज के गरीब वर्गों कमजोर वर्गो और बस्तर सरगुजा और ग्रामीण अंचलों में रहने वाले लोगों के हितों के खिलाफ लिया गया फैसला है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जिस तरह से नोटबंदी और जीएसटी के फैसले लिए और उससे उत्पन्न अव्यवस्था से आज तक देश का व्यापारी उबर नहीं पाया उसी तरह से यह 18 से 45 साल की टीका नीति घोषित की गई है। जब करो ना के पहले चरण के बाद आनन-फानन में पूरे देश में लागू डाउन लगा था तो लोग हक्का-बक्का रह गए थे और करोड़ों मजदूर हजार हजार किलोमीटर पैदल चलकर अपने गांव तक पहुंचे अनेक लोग ट्रेन में कटकर मारे गए न जाने कितने लोग भूखे प्यासे मर गए और मोदी सरकार के पास आज तक आंकड़े तक नहीं है कि कितने लोग मरे। मोदी सरकार की टीका नीति एक बार फिर से देश में वैसी ही अव्यवस्था को जन्म देने जा रही है जैसा नोटबंदी जीएसटी और पहले लॉकडाउन में हुआ था । छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी मोदी सरकार के इन तुगलकी फैसलों का विरोध करती है और मांग करती है कि टीकाकरण की नीति राज्यों से और विपक्षी दलों से विचार करके सही ढंग से बनाई जाए और मोदी सरकार अपनी गलतियों को स्वीकार करके उन गलतियों को सुधारने में ध्यान दें।

भाजपा प्रदेशा उपाध्यक्ष भाटापारा विधायक शिवरतन शर्मा ने कोरोना को लेकर सरकार पर लगाये कई आरोप .....

भाटापारा- भाजपा के प्रदेश। उपाध्यक्ष ने प्रदेश में जारी कोरोना महामारी के लिए प्रदेश सरकार और मुख्यमंत्री के गलत नीतियों को जिम्मेदार बताया। उन्होंने कहा कि कोवेक्सीन प्रदेश में केंद्र ने भेज दिया था लेकिन सरकार और उसके मंत्री उसे लेकर सिर्फ राजनीति करते रहे। यदि कोवेक्सीन समय पर लोगों को लगा दिया गया होता तो यह स्थिति नहीं आती। वर्तमान परिस्थिति एवं संक्रमण से बिगडते हालात के मद्देनज़र भाजपा द्वारा प्रदेश मे वर्चुवल प्रेस वार्ता का आयोजन किया गया जिसके तहत जिला स्तर पर भाजपा के नेताओं द्वारा प्रेस वार्ता का आयोजन किया गया, इसी कड़ी मे प्रदेश भाजपा उपाध्यक्ष एवं भाटापारा विधायक शिवरतन शर्मा द्वारा बलौदाबाजार भाटापारा जिला का प्रतिनिधित्व करते हुए वर्चुवल प्रेस वार्ता मे संक्रमण के हालात पर खुलकर चर्चा की गयी, एवं बिगडते हालात के लिए उनके द्वारा सरकार की खामियां गिनाई गई संक्रमण मे छत्तीसगढ़ पहले नंबर पर उन्होने कहा कि छत्तीसगढ़ भयंकरतम स्थिति से गुजर रहा है, भयावह स्थिति है, संक्रमितों का आंकड़ा 6लाख के निकट पंहुचनें वाला है, रिकवरी रेट गिरकर 74प्रतिशत पर पंहुच गया है, पांच हजार से अधिक लोग अपनी जान गवां चुके है, रोज सैकड़ो मौते हो रही हैं, ऐसे बिगडते हालात के बीच सरकार का रवैया सक्रियता के बजाय संवेदनहीनता का नजर आ रहा है, बदतर स्थिति का आलम यह है कि परिजनों को दो दो तीन तीन दिन तक लाश नहीं मिल रही है, साथ ही साथ डाक्टरों को घटिया मास्क और पीपीई कीट दिये जा रहें है, जिसके चलते उनके जोखिम का खतरा और भी ज्यादा बढ़ गया है, जिसके चलते उन्हे हड़ताल की चेतावनी भी देनी पड़ी, कुल मिलाकर छत्तीसगढ़ के हालात बद से बदतर हो रहा है, और सरकार हाथ पर हाथ धरे बैठी है टीके को बदनाम करने का पाप विधायक का कहना है कि छत्तीसगढ़ मे बिगडते हालत की अहम वजह है सरकार द्वारा परिस्थिति के मद्देनजर ठोस कदम उठाने के बजाय सियासी दांवपेंच मे उलझे रहना जिसके तहत उनके द्वारा भारतीय वैक्सीन को बदनाम करने का पाप भी किया गया है, जिस टीके की दुनियां भर मे तारीफ हो रही है, उसे बदनाम नहीं किया गया होता भ्रम की स्थिति नहीं पैदा की गयी होती तो आज ऐसी भयावह स्थिति निर्मित नहीं होती, और अभी शायद छत्तीसगढ़ मे वैक्सीनेशन की प्रक्रिया पूर्णता की ओर पंहुच चुकी होती। कालाबाजारी अक्षमता और भ्रष्टाचार विपदा के इस हालात मे नीरो की तरह चैन की बंशी बजाने जनता को अपने हाल मे छोड़ कर असम चुनाव मे मशगूल रहनें का मुख्यमंत्री पर आरोप लगाते हुए विधायक का यह भी कहना है कि सरकार इतनी संवेदनहीन हो चुकी है कि लगातार प्रदेश मे रेमडिसिविर इंजेक्शन की कमी और कालाबाजारी हो रही है, परंतु प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल एवं स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव इस विषय पर मौन है, और न ही ठोस कदम उठा रहें है, उल्टे दोनों की सियासी शीत युद्ध चर्चा का विषय बना हुआ है।और इन्ही विडम्बनाओं का खामियाजा पूरा प्रदेश भुगत रहा है, जिसकी बानगी कोविड जैसे महत्वपूर्ण बैठकों मे भी घृणित राजनीति के रुप मे सामनें आ रही है।

शटर बन्द कर बेच रहे थे सामान आधा दर्जन दुकानों को किया नगर निगम ने किया सील

रायपुर :- लालपुर फल मार्केट की भी तालाबंदी की गई विक्रेताओं को ठेले या टाटा एस जैसे वाहनों से घूम घूमकर सामान बेचने की हिदायत दी गई रायपुर नगर निगम की सभी अलग अलग जोनों में कोरोना प्रोटोकाल नियमों के तहत आज अलग अलग मामलों में कार्यवाही की गई लालपुर फल मार्केट को कल सुबह पुलिस की मदद से बन्द करवा दिया गया वहीं शटर बन्द कर सामान बेच रहे आधा दर्जन दुकानदारों पर भी कार्यवाही करते हुए उनकी दुकानों को सील कर दिया गया निगम के जोन क्रमांक 10 के कार्यपालन अभियंता शीबू पटेल ने बताया कि लालपुर स्थित थोक फल मार्केट में आज फल बेचने वाले विक्रेताओं की भीड़ लग गई थी कुछ लोग मार्केट के बाहर भी सड़क पर बैठकर फल बेचने लगे थे पुलिस की मदद से मार्केट के बाहर के दरवाजे को बन्द कर सील कर दिया गया वहीं सड़क पर बैठे विक्रेताओं को बैठकर व्यवसाय नहीं कर ठेले या टाटा एस जैसे वाहनों से घूम घूमकर फल या सब्जी की हिदायत दी गई इधर निगम के जोन क्रमांक 2 द्वारा मौदहापारा स्थित एक दुकान को सील किया गया जोन के नगर निवेश विभाग के उप अभियंता सोहन गुप्ता ने बताया कि दुकानदार बन्द शटर के भीतर से सामान बेच रहा था क्षेत्र में जो ठेले वाले एक जगह खड़े होकर व्यवसाय कर रहे थे उन्हें भी एक जगह खड़े ना रहकर घूम घूम कर व्यवसाय करने की समझाइश दी गई जोन दो के इंसिडेंट कमांडर द्वारा डब्ल्यू आर एस वर्क शाप के चीफ को आज दूसरी बार नोटिस भेजी गई उनसे कहा कि वहां के कर्मियों की कोरोना संक्रमित होने की खबरें लगातार आ रही है इस वजह से कर्मचारियों को सीमित संख्या में बुलाई जाए। साथ ही कार्य शुरू करने से पहले उनके स्वास्थ्य की जांच की जाए इधर निगम के जोन क्रमांक 3 के उप अभियंता निशा निराला ने बताया कि बीटीआई ग्राउंड शंकर नगर मोवा और पंडरी रोड पर सड़क पर बैठकर फल और सब्जी बेच रहे थे उन्हें ठेलों लगाकर घूम घूम कर बेचने की हिदायत देकर हटाया गया मोवा में एक सब्जी दुकान को सील भी कर दिया गया इसी तरह की कार्यवाही जोन क्रमांक 5 द्वारा डंगनिया और चंगोराभाठा के दो दुकानदारों के खिलाफ भी की गई जोन के जोन कमिश्नर चंदन शर्मा ने बताया कि दुकानदार दुकान की शटर को थोड़ी थोड़ी देर में सामान बेच रहे थे निगम प्रशासन द्वारा विक्रेताओं से लगातार अपील की जा रही है कि ठेले या टाटा एस जैसे वाहनों से घूम घूमकर व्यवसाय करें ताकि कहीं पर भीड़ इकट्ठी ना हो सके व्यवसायी छोटे छोटे चौपहिया वाहनों में लेकर अपनी सेवाएं डोर टू डोर भी दे सकते हैं फल और सब्जी विक्रेताओं को भी इसी तरह की समझाइश लगातार दी जा रही है

देश की 65% आबादी युवा वर्ग से आखिर मोदी सरकार को कौन सा बैर है

रायपुर। 19 अप्रेल 2021। पीआईबी द्वारा जारी किए गए प्रेस नोट के बाद जो तथ्य सामने आए हैं उसे देखते हुए कॉन्ग्रेस के प्रदेश संचार प्रमुख शैलेश नितिन त्रिवेदी ने केंद्र सरकार की आज की घोषणाओं पर सवालिया निशान खड़े करते हुए कहा है कि देश की आबादी का 65% युवा वर्ग से आखिर मोदी सरकार का कौन सा बैर है ? आज भी राज्यों को केंद्र सरकार 45 वर्ष से अधिक आयु के सभी व्यक्तियों के लिए वैक्सीन उपलब्ध नहीं करा पा रही है। वर्तमान में देश के वैक्सीन निर्माताओं का पूरा उत्पादन मिलकर भी 45 वर्ष से अधिक आयु के लोगों के लिए टीकाकरण की जरूरतों को पूरा नहीं कर पा रहा है। ऐसी स्थिति में केंद्र सरकार ने 1 मई से 18 साल की आयु तक टीकाकरण की अनुमति तो दी है लेकिन वैक्सीन इसके लिए कैसे उपलब्ध होंगे इस बारे में केंद्र सरकार द्वारा आज लिए गए फैसले पूरी तरह से युवा विरोधी है। आज के फैसलों के मुताबिक 18 साल से अधिक की आयु के युवाओं के लिए राज्य सरकार को टीका खरीदना होगा। युवाओं के लिए वैक्सीन केंद्र सरकार द्वारा उपलब्ध नहीं कराई जाएगी। मार्केट में आज कोई वैक्सीन उपलब्ध नहीं है। वैक्सीन की वैसे ही कमी बनी हुई है। इस कमी को देखते हुए आज 19 अप्रैल को केंद्र सरकार ने वैक्सीन निर्माताओं को इंसेंटिव देने का निर्णय लिया है। यह बहुत देर से लिया गया निर्णय है और इसके परिणाम स्वरूप वैक्सीन का उत्पादन बढ़ने में काफी देर लगेगी। 45 वर्ष से 18 वर्ष की आयु तक के लोगों का लिए वैक्सीन केंद्र सरकार द्वारा नहीं दी जाएगी और राज्य सरकार को इसकी खरीद करने के लिए आज के आदेश में कहा गया है । इस प्रकार 45 वर्ष से 18 वर्ष तक की आयु के लोगों के लिए वैक्सीन मार्केट से खरीदने का फैसला करके केंद्र कि मोदी सरकार ने युवाओं के टीकाकरण से अपनी जिम्मेदारी से बच निकलने का निर्णय लिया है जो पूरी तरीके से गलत और युवा विरोधी फैसला है। मार्केट में वैक्सीन की उपलब्धता है भी नहीं। 6 करोड़ वैक्सीन मोदी जी पहले ही कथित वैक्सीन डिप्लोमेसी के तहत विदेशों को दे चुके हैं। प्रदेश कांग्रेस के संचार प्रमुख शैलेश नितिन त्रिवेदी ने मोदी सरकार से पूछा है कि आखिर मोदी सरकार को देश की 65% आबादी युवा वर्ग से आखिर कौन सा बैर है ? दो करोड़ रोजगार हर साल देने की बात करके विगत 7 वर्षों से युवाओं को 14 करोड़ रोजगार के अवसरों से वंचित किया गया । पहले तो युवा वर्ग को टीकाकरण के सुरक्षा चक्र से बाहर ही रखा गया और अब 1 मई से टीकाकरण शुरू करने का फैसला तो लिया है लेकिन टीके उपलब्ध कराने की अपनी जिम्मेदारी से केंद्र ने पूरी तरह से पीछा छुड़ा लिया है। टीका शुरू करने की बात तो केंद्र सरकार कर रही है लेकिन टीके आएंगे कहां से इस पर खामोश है । टीका निर्माताओं को इंसेंटिव का रूप क्या होगा कैसे दिया जाएगा और इसके परिणाम बड़े हुए उत्पादन के रूप में कब तक सामने आएंगे यह मोदी सरकार नहीं बता रही है। 1 मई से 18 वर्ष तक के युवाओं के लिए टीकाकरण की मोदी सरकार की घोषणा कहीं 20 लाख करोड़ के करोना पैकेज की तरह हवाहवाई ही ना साबित हो जाए।

अस्पताल में आग लगने से हुई 6 की मौत, पुलिस ने दर्ज की FIR, पढ़िए पूरा मामला

रायपुर । राजधानी अस्पताल में आग लगने का मामले में एक और मरीज की आज मौत हो गई। 20 वर्षीय युवती को दूसरे अस्पताल में शिफ्ट किया गया था। आज उपचार के दौरान सांस थम गई।बता दें कि शनिवार को राजधानी अस्पताल में आग लगने से बड़ा हादसा हुआ था। मौके पर 5 लोगों की मौत हो गई जबकि अन्य को दूसरे अस्पताल में शिफ्ट किया गया था। एक और मौत के बाद अब मृतकों की संख्या बढ़कर 6 हो गई है।
रायपुर । राजधानी अस्पताल में आग लगने का मामले में एक और मरीज की आज मौत हो गई। 20 वर्षीय युवती को दूसरे अस्पताल में शिफ्ट किया गया था। आज उपचार के दौरान सांस थम गई।बता दें कि शनिवार को राजधानी अस्पताल में आग लगने से बड़ा हादसा हुआ था। मौके पर 5 लोगों की मौत हो गई जबकि अन्य को दूसरे अस्पताल में शिफ्ट किया गया था। एक और मौत के बाद अब मृतकों की संख्या बढ़कर 6 हो गई है।