राजधानी

नेता जी सुभाष चंद्र बोष जी की जयंती पर वेबिनार के जरिये डीजीपी ने एनआईटी रायपुर के छात्रों को दी नशे से दूर रहने की सलाह

रायपुर 23 जनवरी। आप योग्य बनिये, सफलता जरूर मिलेगी। सफलता के पीछे भागिये मत और ना ही तनाव लीजिये। आजकल युवा तनावपूर्ण जीवन जी रहे हैं। कुछ युवा तनाव के कारण ड्रग्स और अन्य नशा लेने लगते हैं। जो उनके करियर के साथ जीवन को भी बर्बाद कर देता है। जब भी तनावपूर्ण क्षण आएं तो अपनी समस्या परिवार से शेयर जरूर कीजिये। उक्त बातें डीजीपी श्री डीएम अवस्थी ने एनआईटी रायपुर द्वारा ड्रग्स के दुष्प्रभावों पर आयोजित वेबिनार के दौरान कहीं। अवस्थी ने कहा कि युवाओं के आदर्श नेता जी सुभाष चंद्र बोस होने चाहिये। जिन्होंने कभी भी विपरीत परिस्थितियों में हिम्मत नहीं हारी। अंग्रजों के खिलाफ लड़ाई के लिये उन्होंने इंडियन सिविल सर्विस से इस्तीफा तक दे दिया था। युवाओं में नेता जी जैसा जोश होना चाहिये। युवाओं को तनाव के दौरान भी नशे से दूर ही रहना चाहिये। ये आपके नर्वस सिस्टम को समाप्त कर देता है। जब भी अकेलापन महसूस करें, अपने माता-पिता परिवार से जरूर चर्चा करें। मुसीबत के समय परिवार ही साथ देता है। माता-पिता को भी बच्चों की भावनाएं समझनी चाहिये। बच्चों के लिये समय देना चाहिये। उन्हें अपना दोस्त समझेंगे तभी वे अपनी बातें आपसे शेयर करेंगे।

दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे से चलने वाली 04 जोड़ी स्पेशल गाड़ियों में मिली अतिरिक्त कोच की सुविधा

रेलवे प्रशासन द्वारा यात्रियों की बेहतर सुविधा व ज्यादा से ज्यादा यात्रियों को कंफ़र्म बर्थ उपलब्ध करने हेतु दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे से चलने वाली 04 जोड़ी स्पेशल गाड़ियों में अतिरिक्त कोच की सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है | विवरण इस प्रकार है -

1 गाड़ी संख्या 08426/08425 दुर्ग–पुरी दुर्ग स्पेशल गाड़ी में 01 अतिरिक्त स्लीपर कोच की सुविधा दुर्ग से 22 एवं 23 जनवरी 2021 को तथा पुरी से 23 एवं 24 जनवरी 2021 को प्रदान की जा रही है ।

2 गाड़ी संख्या 08215/08216 दुर्ग–ऊधमपुर-दुर्ग स्पेशल गाड़ी में 01 अतिरिक्त स्लीपर कोच की सुविधा दुर्ग से 27 जनवरी 2021 को तथा ऊधमपुर से 28 जनवरी 2021 को प्रदान की जा रही है ।

3 गाड़ी संख्या 08237/08238 कोरबा-अमृतसर-बिलासपुर स्पेशल गाड़ी में एक अतिरिक्त स्लीपर कोच की सुविधा कोरबा से 26, 27 एवं 29 जनवरी 2021 को तथा अमृतसर से 28, 29 एवं 31 जनवरी 2021 को दी जा रही है |

4 गाड़ी संख्या 08245/08246 बिलासपुर-बीकानेर-बिलासपुर स्पेशल गाड़ी में एक अतिरिक्त स्लीपर कोच की सुविधा बिलासपुर से 23 जनवरी 2021 को तथा बीकानेर से 26 जनवरी 2021 को दी जा रही है |

​​​​​​​आबकारी विभाग की बड़ी कार्रवाई: अन्य प्रान्त की मादिरा जब्त और शराब बनाने की नकली फैक्ट्री का किया भांडाफोड़ 860 लीटर ओपी बरामद, जिससे लगभग 10 लाख रुपये की शराब बनाई जा सकती थी

रायपुर, 22 जनवरी 2021आबकारी मंत्री कवासी लखमा के निर्देशन पर प्रदेश में मदिरा के अवैध बिक्री, भंडारण तथा परिवहन पर लगातार कड़ी कार्रवाई की जा रही है। इसी कड़ी में सचिव सह आबकारी आयुक्त निरंजन दास एवं प्रबंध संचालक श्री ए. पी.त्रिपाठी के निर्देशन एवं कलेक्टर रायपुर श्री डॉ एस. भारतीदासन तथा उपायुक्त आबकारी जिला रायपुर श्री अरविंद पाटले के मार्गदर्शन में 20 जनवरी को आबकारी विभाग रायपुर द्वारा ग्राम भूमिया थाना तिल्दा में रोड चेकिंग के दौरान बिलासपुर की तरफ से आ रही डिजायर कार सीजी 12 एएन 9211 में आरोपी अभिवास सिंग ठाकुर निवासी सिमरन सिटी संतोषी नगर रायपुर को 50 पेटी गोवा व्हिस्की मादिरा फॉर सेल इन मध्यप्रदेश कुल 450 लीटर मादिरा जप्त कर आरोपी के विरुद्ध आबकारी अधिनियम की धारा 34(2) का प्रकरण कायम कर विवेचना में लिया गया। गश्त टीम में आबकारी उप निरीक्षक नीलम किरण सिंह, पंकज कुजूर एवं अनिल मित्तल के साथ आबकारी मुख्य आरक्षक विक्रम सिंग, लखन लाल ओशले, आरक्षक संतोष दुबे के साथ ड्राइवर रितेश साहू, शुभंकर, संजू साहू साथ रहे। आरोपी के निशानदेही पर स्टेट फ्लाइंग स्क्वाड के आबकारी उप निरीक्षक डी डी पटेल, आरक्षक विजय वर्मा को हमराह लेकर बेमेतरा में ग्राम जेवरा (अंधियार खोल) थाना नवागढ़ में आरोपी अनिल वर्मा के फार्म हाउस में 20 पेटी गोवा फॉर सेल इन मध्यप्रदेश 180 लीटर मादिरा तथा 4 प्लास्टिक ड्रमों में भरी करीब 860 लीटर ओ पी (स्प्रीट) फार्म हाउस में बने मकान से जब्त की गई। फार्म हाउस में बने मकान के सामने खड़ी स्वराज माजदा क्रमांक बह 04 एचजेड 0834 में भरी 50 पेटी मध्यप्रदेश निर्मित गोआ शराब जब्त कर फार्म हाउस में कार्यरत चौकीदार कुलेश्वर गोस्वामी को गिरफ्तार कर प्रकरण विवेचना में लिया गया है।

Chhattisgarh : सार्वजनिक वाहनों में निर्भया फण्ड से पैनिक बटन तथा जीपीएस सिस्टम के द्वारा संकट के समय सत्काल सहायता पहुंचाने की योजना

रायपुर, 22 जनवरी 2021परिवहन तथा वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री मोहम्मद अकबर ने आज राजधानी स्थित अपने शासकीय निवास में पत्रकार वार्ता लेते हुए जानकारी दी कि सार्वजनिक वाहनों में केन्द्र शासन द्वारा जीपीएस लगाना अनिवार्य किया गया है। एक जनवरी 2019 से सभी नवीन वाहनों में जीपीएस के साथ पैनिक बटन भी लगाया जाना अनिवार्य है। जिससे किसी आपात स्थिति में पैनिक बटन को दबाकर सहायता चाहे जाने का संकेत दिया जा सके और वाहन तक आवश्यक सहायता शीघ्र अतिशीघ्र पहुंचाई जा सके। वाहनों में लगे जीपीएस को ट्रैक करने हेतु व्हीकल ट्रेकिंग प्लेटफार्म व कंट्रोल एण्ड कमांड सेंटर की स्थापना की जाएगी। इस योजना के क्रियान्वयन हेतु 15.40 करोड़ रूपए का बजट प्रावधान किया जा रहा है। जिसमें से 60 प्रतिशत केन्द्र शासन तथा 40 प्रतिशत राज्य शासन द्वारा वहन किया जाएगा। केन्द्र शासन द्वारा इस हेतु निर्भया फण्ड से 4.19 करोड़ रूपए प्राप्त हो चुका है। राज्य शासन द्वारा भी 6.16 करोड़ रूपए का बजट प्रावधान प्रस्तावित है। इस संबंध में मुख्य सचिव अध्यक्षता में गठित ‘इम्पावर्ड कमेटी’ की बैठक दिनांक 18 जनवरी में इस परियोजना हेतु नीतिगत अनुमोदन प्राप्त किया गया है। परियोजना के क्रियान्वयन की कार्यवाही परिवहन विभाग द्वारा चिप्स के माध्यम से की जा रही है।

​​​​​​​रायपुर वनवृत्त में लगभग 70 हजार रूपए के अवैध लकड़ी सहित वाहन की जप्ती

रायपुर, 22 जनवरी 2021वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री मोहम्मद अकबर के निर्देशानुसार राज्य में विभाग द्वारा जारी अभियान के तहत आज दोपहर रायपुर वनवृत्त के अंतर्गत लगभग 70 हजार मूल्य के अवैध लकड़ी सहित वाहन की जप्ती की गई। इनमें लकड़ी की अवैध परिवहन कर रहे वाहन क्रमांक सीजी 04 जी 8542 को वन विभाग की टीम द्वारा मुरा मोड़ में घेरा बंदी कर जप्ती की गई। जप्त लकड़ी में साजा, कहुआ और मिश्रित प्रजाति की लकड़ी शामिल हैं। मुख्य वन संरक्षक रायपुर श्री जे.आर. नायक के मार्गदर्शन और वन मंडलाधिकारी रायपुर विश्वेष कुमार झा के निर्देशानुसार संचालित इस अभियान में टीम द्वारा जांच के दौरान संलिप्त आरोपी ग्राम अमेरी निवासी अशोक कन्नौजे के पास कोई भी वैध दस्तावेज नहीं पाया गया। उक्त कार्रवाई में डिप्टी रेंजर दीपक तिवारी, प्रशांत, यदुराम, इन्दर, सौरभ, राधे आदि विभागीय अमला शामिल था।

छत्तीसगढ़ के भाजपा नेताओं ने अपना धान बेच लिया और दूसरों की धान ख़रीदी में बाधा डालने में लगे हुए हैं भाजपा आंदोलन नहीं, अपने किसान विरोधी चरित्र के लिये प्रायश्चित करे : कांग्रेस

रायपुर/bbn24/जनवरी 2021। धान खरीदी पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि भाजपा को छत्तीसगढ़ में किसानों के लिए आंदोलन नहीं बल्कि प्रायश्चित करना चाहिए. उन्होंने कहा है कि अगर भाजपा नेताओं को लगता है कि निजी मंडियों में फसलों की अधिक कीमत मिल सकती है तो उन्होंने अपना धान किसी निजी मंडी में अधिक कीमत में बेचकर किसानों के सामने उदाहरण पेश क्यों नहीं किया।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि वे छत्तीसगढ़ के भाजपा नेताओं को चुनौती देते हैं कि वे अभी भी अपना बचा हुआ धान देश के किसी भी निजी मंडी में ले जाएं और समर्थन मूल्य से अधिक मूल्य पर धान बेचकर दिखा दें। उन्होंने कहा है कि अगर वे मूल्य पा भी जाएं तो राजीव गांधी किसान न्याय योजना से मिलने वाली राशि कहां से जुटाएंगे यह भी बता दें।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि भाजपा को आंदोलन नहीं बल्कि अपने किसान विरोधी नीतियों के लिए प्रायश्चित करें क्योंकि आज भी धान खरीदी में भाजपा की केन्द्र सरकार बाधायें डालने में ही लगी है। भाजपा धान खरीदी के मुद्दे पर सिर्फ विरोध के नाम पर विरोध कर रही है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि किसानों को गुमराह करने के लिये भाजपा आंदोलन कर रही है।

भाजपा के बड़े नेताओं के दोहरे चरित्र पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि सभी बड़े नेताओं ने दिसंबर में ही अपना धान बेच लिया और किसानों की धान खरीदी में केन्द्र सरकार से बाधायें डलवा रहे हैं।

तीनों किसान कानूनों पर बड़ा सवाल खड़े करते हुये प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने पूछा है कि भाजपा के सारे नेताओं ने छत्तीसगढ़ में सरकारी खरीद में ही अपना धान बेचा। भाजपा नेता को अपना धान ट्रक 407, मैटाडोर, छोटा हाथी में भरवाकर देश के किसी अन्य राज्य में छत्तीसगढ़ से ज्यादा दाम में धान बेचकर उदाहरण प्रस्तुत करती है। जबकि भाजपा के बड़े-बड़े नेता बार-बार किसान को देश के किसी भी राज्य में अपने कृषि उत्पाद मिलने की छूट का गुणगान कर रहे हैं।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने पूछा है कि जब एक बार केंद्र सरकार की ओर से 60 लाख मीट्रिक टन चावल खरीदी की बात कही गई थी तो अब सिर्फ 24 लाख मीट्रिक टन की ही अनुमति क्यों दी गई है? हमें अगर अपनी मांग के अनुसार केंद्र से वादा ना मिल गया होता तो धान खरीदी और सुव्यवस्थित हो पाती।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि भाजपा सरकार ने अपने अंतिम कार्यकाल के वर्ष 17-18 में सिर्फ 12 लाख किसानों का धान खरीदा। 19.36 लाख हेक्टेयर रकबे का धान खरीदा जबकि 15 लाख किसान किसानों का पंजीयन था। कांग्रेस की सरकार इस साल अभी तक जब धान खरीदी के 10 दिन बचे हुए हैं 18.28 लाख किसानों का धान खरीद चुकी है। भाजपा सरकार के समय से 6.28 ज्यादा और 20.68 हेक्टेयर रकबा का धान रकबा का खरीद चुकी है। अभी तक धान खरीदी की जा रही है। पंजीयन में 21.52 किसानों का हुआ है। भाजपा की सरकार के मुकाबले इस साल 82 टन धान खरीदा जा चुका है जबकि उस साल पूरे समय में 56.88 लाख धान की खरीदी हुई है। इसे स्पष्ट है कि इन सारी चुनौतियों के बाद कांग्रेस की सरकार, भूपेश बघेल की सरकार बेहतर तरीके से ज्यादा धान खरीदी कर रही है।

पूर्व कृषिमंत्री बृजमोहन अग्रवाल नौसिखिया नेताओ जैसा झूठे एवं भ्रामक आंकड़े बता कर प्रदेश की जनता को गुमराह करने का प्रयास कर रहे है बृजमोहन अग्रवाल को खुली चुनौती अपने बताये गये आकड़ो के दस्तावेज प्रस्तुत करें नही तो माफी मांगे - विकाश तिवारी

रायपुर/ जनवरी 2021। छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव एवं प्रवक्ता विकास तिवारी ने भारतीय जनता पार्टी के नेताओं द्वारा किए गए प्रेस वार्ता पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि पूर्व कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल नौसिखिया नेताओ जैसा बयान बाजी कर रहे है।उनके द्वारा दिया गया बयान पूर्णता भ्रामक और कुंठा से ग्रसित है, पंद्रह सालो तक सत्ता में रहने के बाद विपक्ष की भूमिका अदा नहीं कर पा रहे हैं। पूर्वकृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि प्रदेश में 13 सौ करोड़ का धान सड़ चुका है यह आंकड़ा पूर्णता फर्जी और भ्रामक है प्रदेश भाजपा ने पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह के स्थान पर कब्जा करने हेतु पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल प्रदेश की जनता को दिग्भ्रमित करने का प्रयास कर रहे हैं जबकि आंकड़ों सहित हकीकत यह है कि-

खरीफ़ विपणन वर्ष 2019-20 में कुल 83.94 लाख मेट्रिक टन धान का उपार्जन किया गया था।

उक्त उपार्जित धान में से अब तक 80.37 लाख मेट्रिक टन धान का निराकरण कस्टम मिलिंग के माध्यम से किया जा चुका है।

वर्तमान स्थिति में लगभग 3.57 लाख मेट्रिक टन धान का निराकरण हेतु शेष है।

राज्य की उसना मिलिंग क्षमता सीमित होने, कोविड-19 की वैश्विक महामारी और राज्य में असामयिक वर्षा के कारण कस्टम मिलिंग का कार्य प्रभावित हुआ था।

खरीफ़ विपणन वर्ष 19-20 में एफसीआई में 28.10 लाख मे. टन में से 26.10 लाख मे टन चावल जमा किया जा चुका है, जो विगत वर्षों में जमा सीएमआर की तुलना में सर्वाधिक है ।

भारतीय खाद्य निगम में शेष सीएमआर जमा हेतु दिनांक 18.01.2021 को भारत सरकार द्वारा 31 जनवरी 2021 तक की समयावृद्धि प्रदान की गई है।

उक्त शेष धान के निराकरण हेतु कस्टम मिलिंग का कार्य प्रगतिरत है।18.1.2021 को समय वृद्धि के पश्चात 74000 मैट्रिक टन का डीओ जारी किया गया है, धान उठाव प्रगतिरत है।

प्रवक्ता विकास तिवारी ने कहा कि प्रदेश में वर्तमान में किसी भी स्थान में धान के सड़ जाने की जानकारी नही है तो किस आधार पर पूर्व कृषिमंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने तेरह सौ करोड़ के आंकड़े जारी किये है उन्हें प्रदेश की जनता को बताना चाहिये साथ ही झूठे और नौसिखिया नेताओ जैसा आंकड़े बताने के लिये माफी मांगनी चाहिये।

मुलाकात: पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन दिल्ली रवाना , जेपी नड्डा से करेंगे मुलाकात , छत्तीसगढ़ प्रदेश के सियासी हाल पर रणनिती बनाने पर हो सकती है चर्चा...

छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह मंगलवार को दिल्ली के लिए रवाना हो गए। एयरपोर्ट पर मीडिया से रूबरू होते हुवे उन्होंने जानकारी दी डॉ रमन सिंह ने कहा कि करीब 8 महीने बाद वह दिल्ली जा रहे हैं। कुछ पारिवारिक काम भी हैं। सबसे महत्वपूर्ण यह है कि उन्होंने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष से मुलाकात का समय लिया है। पार्टी प्रमुख जेपी नड्‌डा से मिलकर संगठन की गतिविधियां और छत्तीसगढ़ के सियासी हाल पर वो बातचीत करेंगे।

रमन सिंह में साहस है तो अपना और परिवार के सदस्यों का खाता सार्वजनिक करें, जिसमें न्याय-धान खरीद का पैसा आया

प्रधानमंत्री से सवाल पूछने का हौसला दिखाएं कि छत्तीसगढ़ के साथ बारदाना देने में सौतेला व्यवहार क्यों?

छत्तीसगढ़ में किसानों को बोनस देने में अड़ंगा क्यों ?

रायपुर/ जनवरी 2021। छत्तीसगढ़ कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह अपनी खोई हुई ताकत और जमीन को हासिल करने की लचर कोशिश कर रहे हैं। छत्तीसगढ़ की भूपेश बघेल सरकार उनकी 15 साल की नाकामियों से राज्य को उबारने की कोशिश कर रही है, तो यह गरीब व किसान विरोधी रमन सिंह और भाजपाइयों को रास नहीं आ रही है। वे लगातार जनता को गुमराह करने की कोशिश कर रहे हैं। पूर्व मुख्यमंत्री को यह बताना चाहिए कि राज्य की जिन कृषि योजनाओं का वे विरोध कर रहे हैं, उससे उन्हें खुद और उनके परिवार के लोगों को कितना लाभ हुआ है ? डॉ रमन सिंह में साहस है तो वे अपने और परिवार के सदस्यों का खाता सार्वजनिक करें, जिसमें न्याय योजना और धान खरीदी का पैसा पहुंचा है। रमन सिंह को खुद यह चुनौती को स्वीकार करनी चाहिए।

प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा कि डॉ रमन सिंह और उनकी पार्टी भाजपा का किसान विरोधी चेहरा सामने आ गया है। सिंघु बार्डर में पिछले 50 दिनों से कड़कड़ाती सर्दी में लाखों किसान डटे हुए हैं और भाजपा की केन्द्र सरकार तीनों काले कानूनों को अमल में लाने के लिए षडयंत्र कर रही है। दूसरी तरफ छत्तीसगढ़ के मुखिया भूपेश बघेल सरकार बनने के पहले घंटे से किसानों की चिंता कर रहे हैं। उनके हर दिन की शुरुआत किसानों की चिंता से शुरु होती है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शपथ लेने के एक घंटे के भीतर किसानों और गांव की अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिए जो फैसले लिए हैं, उसका असर दिखने लगा है। रमन सिंह ने राज्य की आर्थिक और सामाजिक बुनियाद को खोखला कर दिया था। ये तमाम नाकामियां रमन सिंह के खाते में दर्ज हैं। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल वहां से राज्य को उबारने की कोशिश कर रहे हैं, तो वे जनता को गुमराह करने की कोशिश कर रहे हैं। कांग्रेस ने कहा है कि रमन सिंह शक्ति-क्षीण नेता हो गए हैं, अन्यथा वे हौसले के साथ देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से सवाल करते कि छत्तीसगढ़ के साथ बारदाना देने में सौतेला व्यवहार क्यों? छत्तीसगढ़ में किसानों को बोनस देने में अड़ंगे क्यों लगाए जा रहे हैं?

गुणवत्ताहीन निर्माण कार्य कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा : लोक निर्माण मंत्री साहू

​​​​​​​मुख्यमंत्री सुगम सड़क योजना के तहत बेरोजगार इंजीनियरों को दिया जाएगा काम

रायपुर१ दिसम्बर 202 लोक निर्माण एवं गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू ने आज धमतरी जिले के प्रवास के दौरान विभागीय बैठक ली। उन्होंने लोक निर्माण विभाग के निर्माण कार्यों की समीक्षा करते हुए कहा कि सड़क एवं भवन निर्माण में अनिवार्य रूप से गुणवत्ता लाएं। यदि कोई कार्य गुणवत्ताहीन पाया जाता है तो संबंधित अधिकारियों के विरूद्ध उच्चस्तरीय विभागीय जांच कराई जाएगी और इसमें अगर शिकायत सही पाई जाती है तो संबंधित अधिकारी के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी। लोक निर्माण मंत्री ने बताया कि मुख्यमंत्री सुगम सड़क योजना के तहत छोटी लम्बाई के सड़कों का निर्माण कार्य किया जाएगा, जिसमें होने वाली ई-टेंडरिंग में बेरोजगार इंजीनियरों को प्राथमिकता दी जाएगी।

    रेस्टहाउस में आयोजित बैठक में मंत्री  साहू ने जिले में चल रहे निर्माण कार्यों की जानकारी लेते हुए कहा कि जिले में जितने भी निर्माण कार्य चल रहे हैं, उनका स्थल निरीक्षण अधिकारी स्वयं करें और वहां की जमीनी हकीकत से अवगत होवें। अगर निर्माण कार्य में किसी प्रकार की अनियमितता पाई जाती है तो दोषी लोगों के विरूद्ध विभागीय जांच की कार्रवाई की जाएगी। मंत्री श्री साहू ने कहा कि मुख्यमंत्री सुगम सड़क योजना के तहत कम दूरी वाली नई सड़कें जिनकी लागत 20 लाख रूपए तक की हैं, के निर्माण की स्वीकृति जिले में मिली हुई है, ऐसे कार्यों की निविदा प्रक्रिया में बेरोजगार इंजीनियरों को अवसर प्रदान किया जाए। इसी तरह सेतु निर्माण कार्यों की समीक्षा करते हुए लोक निर्माण मंत्री ने कहा कि पुल निर्माण के कार्यों का प्राक्कलन तैयार कर भेजा गया है, उनमें कतिपय संशोधन की आवश्यकता है। उन्होंने बताया कि पुल का स्तर या तो अधिक है या अधिक नीचे, ऐसे कामों की पुनः समीक्षा करने अधिकारी स्थल निरीक्षण करें और सड़क के लेवल के अनुसार फिर से एस्टीमेट तैयार कर भेजें।

    बैठक में कार्यपालन अभियंता ने रत्नाबांधा रेस्ट हाउस के पुराने भवन के नवीनीकरण की मांग पर मंत्री   साहू ने कहा कि फिलहाल नए भवन की स्वीकृति नहीं दी जाएगी, किन्तु एक अतिरिक्त कक्ष और बैठक कक्ष निर्माण के लिए प्रस्ताव तैयार कर भेजें। इसके अलावा जिले में जितने भी पुराने रेस्ट हाउस हैं, उनके नवीनीकरण के लिए भी प्रस्ताव भेजने के निर्देश लोक निर्माण मंत्री ने दिए।

    गृहमंत्री श्री साहू ने पुलिस विभाग की समीक्षा करते हुए जिले में शांति एवं कानून व्यवस्था बनाए रखने के सतत् निगरानी करने के निर्देश दिए। साथ ही जुंआ, सट्टा, अवैध शराब जैसी सामाजिक बुराइयों पर नियंत्रण के लिए कारगर रणनीति तैयार कर सख्ती से कार्रवाई करने तथा अपराधों पर नियंत्रण के लिए कम्युनिटी पुलिसिंग जैसे सकारात्मक कार्यों को जारी रखने के लिए निर्देशित किया। बैठक में पुलिस अधीक्षक श्री बी.पी. राजभानू, उप पुलिस अधीक्षक श्रीमती मनीषा ठाकुर, अपर कलेक्टर श्री दिलीप अग्रवाल सहित विभागीय अधिकारीगण उपस्थित थे।

मरवाही उपचुनाव के पहले बघेल सरकार ने 11 IAS अफसरों को किया इधर से उधर

bbn24news: मरवाही विधानसभा सीट के लिए होने वाले उपचुनाव से पहले बड़ी प्रशासनिक सर्जरी की गई है. 11 वरिष्ठ आईएएस अफसरों के पद में बदलाव की सूचना आई है. आईएएस ए. कुलभूषण टोप्पो को छत्तीसगढ़ प्रशासन अकादमी के संचालक की जिम्मेवारी सौंपी गई है. सचिव धनंजय देवांगन को तकनीकी शिक्षा एवं रोजगार विभाग का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है. इसी तरह सचिव उमेश कुमार अग्रवाल को ऊर्जा विभाग का अतिरिक्त प्रभार संभालना होगा. एससी-एसटी, पिछड़ा वर्ग और अल्पसंख्यक विकास विभाग की विशेष सचिव नीलम नामदेव एक्का को संचालक विमानन का अतिरिक्त प्रभार मिला है. अलरमेलमंगई डी वित्त विभाग के सचिव बनाए गए हैं जबकि हिमशिखर गुप्ता बतौर प्रबंध संचालक मंडी बोर्ड का काम देखेंगे.

डीजीपी 1 सितंबर को पुलिसकर्मियों और उनके परिजनों को करेंगे वीडियो कॉल : बिना तनाव करें ड्यूटी, सभी समस्याओं का होगा समाधान: अवस्थी

रायपुर 28 अगस्त 2020 डीजीपी  डीएम अवस्थी स्पंदन योजना के तहत 1 सितम्बर को पुलिसकर्मियों और उनके परिजनों से वीडियो कॉल पर बात करेंगे। डीजीपी वीडियो कॉल के जरिये ही उनकी समस्याएं सुनेंगे और तत्काल निराकरण करेंगे। हाल ही में 19 अगस्त को पहली बार डीजीपी के द्वारा वीडियो कॉल के जरिये पुलिसकर्मियों और परिजनों से चर्चा की गई थी। जिसमें स्थानांतरण, पदस्थापना, अनुकम्पा नियुक्ति जैसी  समस्याओं को तत्काल हल कर उसी समय सम्बन्धित कर्मचारी को आदेश भी व्हाट्सएप कर दिए गए थे। इस पहल से पुलिसकर्मियों में उत्साह का माहौल है और बड़ी संख्या में डीजीपी से अपनी बात करने के लिए व्हाट्सएप नम्बर पर मैसेज आ रहे हैं। प्राथमिकता के आधार पर पुलिसकर्मियों और उनके परिजनों को आगामी 1 सितंबर को डीजीपी खुद वीडियोकॉल कर उनकी समस्याओं का निराकरण करेंगे। वर्तमान कोरोना संक्रमण को देखते हुए डीजीपी द्वारा ये अभिनव पहल की गई है। जिससे पुलिकर्मियों और उनके परिजनों को पुलिस मुख्यालय तक ना आना पड़े। पुलिसकर्मियों को तनाव रहित रखने के लिए स्पंदन योजना की शुरूआत की गई है।

छत्तीसगढ़ के नए विधानसभा भवन का भूमिपूजन एवं शिलान्यास समारोह 28 अगस्त को नवा रायपुर में मुख्यमंत्री ने सोनिया गांधी और राहुल गांधी को भेजा न्यौता।

 

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए शामिल होने का किया आग्रह

रायपुर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने नवा रायपुर में बनने वाले छत्तीसगढ़ विधानसभा के नये भवन के भूमिपूजन एवं शिलान्यास समारोह में शामिल होने के लिए  सोनिया गांधी और  राहुल गांधी को न्यौता भेजा है।  बघेल ने पत्र लिख कर  गांधी से इस समारोह में मुख्य अतिथि के रुप में और  राहुल गांधी को अतिविशिष्ट अतिथि के रुप में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए शामिल होने का आग्रह किया है। छत्तीसगढ़ विधानसभा के नये भवन का भूमिपूजन एवं शिलान्यास समारोह 28 अगस्त को दोपहर 12 बजे आयोजित किया जा रहा है।

मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल ने  सोनिया गांधी और  राहुल गांधी को लिखे पत्र में कहा है कि इस समारोह में आपकी उपस्थिति हमें आनंदित करने के साथ प्रोत्साहन भी देगी। उन्होंने पत्र में यह भी लिखा है कि 1 नवंबर 2000 को राज्य निर्माण के साथ ही सर्व सुविधायुक्त नये विधानसभा भवन की लगातार आवश्यकता महसूस की जा रही है, जो राज्य की प्रगति और आकांक्षाओं के अनुरूप हो। इस आवश्यकता को पूरा करने के उद्देश्य से छत्तीसगढ़ सरकार ने नवा रायपुर में छत्तीसगढ़ विधानसभा के नए भवन के निर्माण का निर्णय लिया है।

मुख्यमंत्री ने पत्र में लिखा है कि इस नये भवन में छत्तीसगढ़ की समृद्ध संस्कृति और परंपरा की झलक दिखेगी। यह भवन स्टेट आफ दी आर्ट तकनीक से सुसज्जित होगा। इस भवन को विधानसभा और उसके सदस्यों की वर्तमान और भविष्य की प्रशासनिक आवश्यकता को देखते हुए डिजाईन किया गया है।

ट्राइबल टूरिज्म रिसार्ट में दिखेगी जनजातीय संस्कृति, कला और ग्रामीण परिवेश की झलक: मुख्यमंत्री बघेल मुख्यमंत्री ने कुरदर, सरोधा दादर और धनकुल के इको-एथनिक रिसॉर्ट का किया ई-लोकार्पण

रायपुर, 15 अगस्त 2020 मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज यहां अपने निवास कार्यालय में आयोजित कार्यक्रम में छत्तीसगढ़ में ट्रायबल टूरिज्म को बढ़ावा देने के लिए नवनिर्मित तीन रिसार्ट बिलासपुर जिले के कुरदर हिल इको रिसॉर्ट, कबीरधाम जिले के सरोधा दादर बैगा एथनिक रिसॉर्ट और कोण्डागांव जिले में नवनिर्मित धनकुल एथनिक रिसॉर्ट का वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से ई-लोकार्पण किया। राज्य सरकार के पर्यटन विभाग द्वारा भारत सरकार की स्वदेश दर्शन योजना के तहत इन रिसार्टों का निर्माण किया गया है।

मुख्यमंत्री बघेल ने इस अवसर पर कहा कि छत्तीसगढ़ की आदिवासी संस्कृति और उनसे जुड़े महत्वपूर्ण स्थलों के लिए आज का दिन महत्वपूर्ण है। आदिवासी कला, संस्कृति और इनके वैभव से पर्यटकों को परिचित कराने के लिए ’’ट्राइबल टूरिज्म सर्किट’’ का विकास किया जा रहा है। भारत सरकार की स्वदेश दर्शन योजना के तहत 13 जनजातीय बाहुल्य स्थलों में पर्यटकों के लिए स्थानीय ट्राइबल एवं इको टूरिज्म थीम पर आधारित सुविधाएं विकसित की जा रही है। उन्होंने कहा कि पर्यटक इन स्थानों पर रूककर यहां की सदियों पुरानी जनजातीय संस्कृति, कला एवं ग्रामीण परिवेश को नजदीक से देख और समझ सकेंगे।


मुख्यमंत्री ने कहा कि पर्यटकों में अपनी सांस्कृतिक धरोहर को सुरक्षित रखने, स्थानीय संस्कृति का सम्मान करने और प्रकृति में प्रदूषण कम करने का भाव जागृत होगा। पर्यटन से राज्य की पहचान स्थापित होने के साथ ही स्थानीय लोगों के लिए रोजगार के अवसर निर्मित होंगे। आदिवासी अंचल में प्रकृति ने न सिर्फ दिल खोलकर नैसर्गिक खूबसूरती दी है बल्कि स्थानीय संस्कृति के रूप में अनेक कलाएं भी दी हैं, जो किसी भी इंसान को अपने प्रकृति के सबसे खूबसूरत स्वरूप से परिचित कराती हैं।


    मुख्यमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ में राम वन गमन पथ आस्था और संस्कृति का केन्द्र बनेगा। यह परिपथ आदिवासी अंचलों में हमारी संस्कृति के बिखरे मोतियों को जोड़कर ऐसी खूबसूरत माला बनेगी जो लोगों के जीवन में आस्था और संस्कार को मजबूत करेगी। छत्तीसगढ़ भगवान राम के ननिहाल के रूप में जाना जाता है। भगवान राम वनवास के दौरान छत्तीसगढ़ के 75 स्थानों पर गए थे तथा 51 स्थल पर विश्राम किए थे, इनमें से प्रथम चरण में 9 स्थानों का सौंदर्यीकरण एवं विकास विभिन्न विभागों के समन्वय से किया जा रहा है। राम वन गमन पर्यटन परिपथ के विकास कार्य का शुभारंभ चंदखुरी के कौशल्या माता मंदिर से किया गया है। उन्होंने कहा कि भगवान श्रीराम के प्रति छत्तीसगढ़ के जनमानस की भावनाओं को ध्यान में रखते हुए जनसहयोग के लिए ’राम वनगमन पर्यटन परिपथ विकास कोष’ का शीघ्र गठन किया जाएगा। इसके माध्यम से आमजन भी आर्थिक सहयोग का पुण्य सुअवसर प्राप्त कर सकेंगे।


    समारोह में पर्यटन मंत्री  ताम्रध्वज साहू ने कहा कि छत्तीसगढ़ पर्यटन की दृष्टि से समृद्ध राज्य है। आने वाले समय में विश्व के नक्शे में छत्तीसगढ़ का स्थान बनेगा। उन्होंने कहा कि भारत सरकार की स्वदेश दर्शन योजना के तहत छत्तीसगढ़ में यहां की आदिवासी एवं जनजातीय संस्कृति से पर्यटकों को परिचित कराने के लिए ट्रायबल टूरिज्म सर्किट की परियोजना स्वीकृति कराई गई। लगभग 96 करोड़ रूपए की इस परियोजना में प्रदेश के आदिवासी बाहुल्य 13 क्षेत्रों-जशपुर, कुनकुरी, मैनपाट, कमलेश्वरपुर (मैनपाट), महेशपुर, कुरदर, सरोधा दादर, गंगरेल, नथियानवागांव, कोण्डागांव, जगदलपुर, चित्रकोट एवं तीरथगढ़ शामिल किया गया है।


    मुख्यमंत्री निवास में आयोजित ई-लोकार्पण समारोह में कृषि मंत्री  रविन्द्र चौबे, संस्कृति मंत्री  अमरजीत भगत, ग्रामोद्योग मंत्री गुरू रूद्र कुमार, संसदीय सचिव  विकास उपाध्याय, विधायक  मोहन मरकाम, पर्यटन सचिव अन्बलगन पी., मुख्यमंत्री के सचिव  सिद्धार्थ कोमल सिंह परदेशी, प्रबंध संचालक पर्यटन मंडल  इफ्फत आरा सहित पर्यटन विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।

रायपुर : माता कौशल्या मंदिर में मंत्री डॉ. शिव डहरिया ने टेका माथा

BBN24NEWS
नगरीय प्रशासन और श्रम मंत्री डॉ. शिव कुमार डहरिया ने रायपुर जिले के विकासखण्ड आरंग अंतर्गत ग्राम चंदखुरी में प्रभु श्री राम की माता कौशल्या के मंदिर में माथा टेका और पूजा-अर्चना कर प्रदेशवासियों की सुख-समृद्धि की कामना की। उन्होंने इस दौरान चंदखुरी में स्थित बजरंग बली मंदिर में श्री राम भक्त हनुमान की भी आराधना की। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में माता कौशल्या की जन्म स्थली चंदखुरी में भव्य मंदिर का निर्माण होगा। उन्होंने बताया कि भगवान श्री राम वनवास के दौरान छत्तीसगढ़ के जिन-जिन स्थलों से पद यात्रा किए हैं, उन यादों को सहेजने के लिए संबंधित स्थानों को चिन्हांकित कर राम-वन-गमन-पथ के रूप में विकसित किया जाएगा।
    डॉ. डहरिया ने कहा कि राज्य सरकार मर्यादा पुरूषोत्तम श्री रामचंद्र के पद चिन्हों पर चलकर ही जनहित में कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि प्रभु श्री रामचंद्र जी ने अपने वनवास काल का बहुत समय छत्तीसगढ़ में व्यतीत किए हैं। उन संबंधित स्थानों को पर्यटन स्थल के रूप में भी विकसित करने की योजना है। प्रथम चरण में 09 स्थलों का चयन किया गया है। इन स्थलों में सीतामढ़ी-हरचौका (कोरिया), रामगढ़ (अम्बिकापुर), शिवरीनारायण (जांजगीर-चांपा), तुरतुरिया (बलौदाबाजार), चंदखुरी (रायपुर), राजिम (गरियाबंद), सिहावा-सप्तऋषि आश्रम (धमतरी), जगदलपुर (बस्तर), रामाराम (सुकमा) शामिल हैं। प्रस्तावित 09 स्थलों को लेते हुए पर्यटन विभाग द्वारा एक कॉन्सेप्ट प्लान तैयार किया गया है, जिसकी लागत 137.45 करोड़ रूपए है।
    मंत्री डॉ. डहरिया ने कहा कि छत्तीसगढ़ भगवान श्रीराम का ननिहाल है। यहां कण-कण में भगवान राम रचे-बसे हुए हैं। चंदखुरी में स्थित माता कौशल्या का मंदिर दुनिया में एकमात्र मंदिर है, इस मंदिर का भव्य निर्माण होने से निश्चित ही राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पहचान बनेगी। इस अवसर पर मंदिर समिति के अध्यक्ष श्री देवेन्द्र वर्मा, जनपद सदस्य श्री दिनेश ठाकुर, श्रीमती नेहा वर्मा, श्रीमती रानी ढीवर सहित समाज सेवी श्री आनंद गिलहरे, श्री राजेन्द्र महेश्वरी तथा आसपास के पंचायत प्रतिनिधि उपस्थित थे।