बड़ी खबर

मुख्यमंत्री सहायता कोष से कोरोना संकमण की रोकथाम हेतु जीवनदीप समिति के माध्यम से दी गई राशि का कलेक्टर स्वविवेक से कर सकते हैं उपयोग

रायपुर 18 अप्रैल 2021मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के दिशानिर्देश पर मुख्यमंत्री सहायता कोष से कोरोना संकमण की रोकथाम हेतु दी जाने वाली राशि का स्वविवेक से उपयोग करने की सभी जिला कलेक्टरों को अनुमति प्रदान की गई है। मुख्यमंत्री सचिवालय से सभी कलेक्टरों को इस संबंध में पत्र प्रेषित कर दिशानिर्देश दिए गए हैं। पत्र में उल्लेखित है कि नोवेल कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण की रोकथाम हेतु ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य विभाग की शासकीय अधोसंरचना को विकसित करने हेतु जीवनदीप समितियों के माध्यम से मुख्यमंत्री सहायता कोष से आबंटित राशि के उपयोग की अनुमति दी गई है। प्रदेश में वर्तमान में नोवेल कोरोना वायरस (कोविड-19) महामारी के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए जीवनदीप समितियों के माध्यम से आबंटित राशि के उपयोग की दी गई अनुमति में शिथिलता प्रदान करते हुए कोरोना महामारी की रोकथाम हेतु जिला कलेक्टर्स को उनके द्वारा अपने स्वविवेक से मुख्यमंत्री सहायता कोष द्वारा आबंटित राशि के उपयोग की अनुमति दी जाती है।

मुख्यमंत्री ने रेमडेसीवीर की सुचारू आपूर्ति सुनिश्चित करने वरिष्ठ अधिकारियों को हैदराबाद और महाराष्ट्र भेजने के दिए निर्देश

वाई मार्ग के साथ रेल से छत्तीसगढ़ आने वालों के लिए 72 घंटे के भीतर की आरटीपीसीआर निगेटिव रिपोर्ट होगी जरूरी 

बिना निगेटिव रिपोर्ट के आने वालों की होगी जांच, एसओपी के अनुसार क्वारेंटाईन सेंटर या आइसोलेशन में रखे जाएंगे

ऑक्सीजन और आईसीयू बेड तथा वेन्टीलेटर बढ़ाने विधायक निधि और औद्योगिक घरानों से ली जाएगी मदद

 रायपुर 12 अप्रैल 2021मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने हवाई मार्ग के साथ रेल मार्ग से अन्य राज्यों से छत्तीसगढ़ आने वाले यात्रियों के लिए आरटीपीसीआर टेस्ट की 72 घंटे के भीतर की निगेटिव रिपोर्ट को अनिवार्य करने के निर्देश अधिकारियों को दिए हैं। उन्होंने बिना निगेटिव रिपोर्ट के आने वाले यात्रियों की जांच और उन्हें एसओपी के अनुसार क्वारेंटिन, कोविड केयर सेंटर या अस्पताल में रखने की व्यवस्था भी करने कहा। उन्होंने प्रदेश में रेमडेसीवीर इंजेक्शन की सुचारू आपूर्ति के लिए मुख्य सचिव को निर्देश दिए हैं कि इस दवाई का उत्पादन करने वाली कम्पनियों के साथ समन्वय के लिए वरिष्ठ अधिकारियों को हैदराबाद और महाराष्ट्र भेजा जाए। मुख्यमंत्री ने ड्रग एसोसिएशन के अध्यक्ष से चर्चा कर उनसे अन्य राज्यों से रेमडेसीवीर इंजेक्शन की आपूर्ति बढ़ाने को कहा। मुख्यमंत्री ने प्रदेश में कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण से उत्पन्न परिस्थितियों पर चिकित्सा विशेषज्ञों से वीडियो कॉन्फ्रेंस से चर्चा के बाद ये निर्देश दिए। उन्होंने अस्पताल संचालकों, चिकित्सा विशेषज्ञों और इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के प्रतिनिधियों से चर्चा कर कोविड-19 के इलाज में आ रही दिक्कतों, ऑक्सीजन और जरूरी दवाईयों की आपूर्ति के संबंध में जानकारी ली। 

    मुख्यमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ में कोविड-19 के मरीजों की बढ़ती संख्या चिंताजनक है। इस चुनौती का यदि हम योजनाबद्ध तरीके से सामना करेंगे तो अवश्य सफल होंगे। इसके लिए छत्तीसगढ़ की महाराष्ट्र से लगने वाली सभी सीमाओं पर यात्रियों की कड़ाई से जांच की जाए। एयरपोर्ट के साथ ही रेलवे स्टेशनों में भी छत्तीसगढ़ आने वाले यात्रियों की जांच की व्यवस्था की जाए। आवश्यकतानुसार यात्रियों को क्वारेंटाईन सेंटर और आईसोलेशन में रखने की व्यवस्था भी की जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस बार गांवों में भी संक्रमण फैल रहा है। इसे रोकने के लिए प्रदेश के बाहर से आने वालों की जांच कराना आवश्यक है। गांवों में क्वारेंटाईन सेंटर स्थापित करने के लिए राज्य शासन द्वारा निर्देश जारी किए जा चुके हैं। मुख्यमंत्री ने प्राईवेट अस्पतालों के संचालकों से कहा कि कोरोना मरीजों का बेहतर से बेहतर इलाज करें। इसके लिए राज्य सरकार भी जरूरी सहयोग देगी।  
    वीडियो कॉन्फ्रेंस में स्वास्थ्य मंत्री श्री टी.एस. सिंहदेव भी शामिल हुए। मुख्यमंत्री निवास में मुख्य सचिव  अमिताभ जैन, स्वास्थ्य विभाग की अपर मुख्य सचिव श्रीमती रेणु जी. पिल्ले, मुख्यमंत्री के सचिव  सिद्धार्थ कोमल परदेशी, संचालक स्वास्थ्य  नीरज बंसोड़, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की संचालक डॉ. प्रियंका शुक्ला और नियंत्रक खाद्य एवं औषधि प्रशासन श्री के.डी. कुंजाम भी उपस्थित थे। अपर मुख्य सचिव गृह श्री सुब्रत साहू सहित रायपुर, बिलासपुर और दुर्ग के अनेक चिकित्सा विशेषज्ञ, तीनों जिलों के कलेक्टर, इंडियन मेडिकल एसोसिएशन और ड्रग एसोसिएशन के प्रतिनिधि वीडियो कॉन्फ्रेंस से चर्चा में शामिल हुए। 
    मुख्यमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ टेंिस्ंटग के मामले में बड़ी आबादी वाले कई राज्यों से आगे है। प्रदेश में रोज 40 से 50 हजार टेस्ट किए जा रहे हैं। छत्तीसगढ़ सर्वाधिक वैक्सीनेशन करने वाला राज्य भी है। यहां की 13 प्रतिशत आबादी को कोरोना से बचाव का पहला टीका लगाया जा चुका है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में जल्दी ही चार और जिलों में  आरटीपीसीआर टेस्ट की सुविधा शुरू हो जाएगी। इससे रोजाना सेम्पल जांच की संख्या बढ़ने के साथ ही जांच रिपोर्ट भी जल्दी मिलने लगेगी। उन्होंने कहा कि आरटीपीसीआर के साथ एंटीजन टेस्ट भी करने होंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि ऑक्सीजन का उत्पादन करने वाले संयंत्रों को पहले छत्तीसगढ़ के शासकीय और निजी अस्पतालों में ऑक्सीजन की आपूर्ति करने के निर्देश जारी कर दिए गए हैं। निजी क्षेत्र के कुछ नये उद्योगों को भी मेडिकल ऑक्सीजन के उत्पादन की अनुमति दी गई है। इससे प्रदेश के सभी अस्पतालों में जरूरत के मुताबिक ऑक्सीजन की आपूर्ति की जा सकेगी। 
    मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना मरीजों को इलाज में कम से कम आर्थिक बोझ पड़े, इसके लिए स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी निजी क्षेत्र के अस्पतालों से चर्चा कर इलाज की दरों को पुनरीक्षित करें। उन्होंने कहा कि कोरोना के इलाज को भी डॉ. खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना से सम्बद्ध करें। उन्होंने जरूरत के मुताबिक नये अस्पतालों को भी इलाज की अनुमति प्रदान करने को कहा।  
    मुख्यमंत्री ने रायपुर, बिलासपुर और दुर्ग के कलेक्टरों को ऑक्सीजन और आईसीयू सुविधा वाले बिस्तरों तथा वेन्टीलेटर की संख्या बढ़ाने के लिए विधायकों से विधायक निधि की राशि के माध्यम से सहयोग करने का आग्रह करने कहा। उन्होंने औद्योगिक घरानों से भी इसके लिए सहायता लेने कहा। 
    एम्स के निदेशक डॉ. नितिन एम. नागरकर, डॉ. अजय बेहरा, रामकृष्ण केयर अस्पताल के डॉ. संदीप दवे, नारायणा अस्पताल के डॉ. सुनील खेमका, श्रीबालाजी अस्पताल के डॉ. देवेन्द्र नायक, डॉ. शशांक गुप्ता, आईएमए के डॉ.राकेश गुप्ता, डॉ. विकास अग्रवाल, ड्रग एसोसिएशन के श्री विनय कृपलानी, दुर्ग के डॉ. प्रतीक कौशिक, डॉ. आशीष मित्तल, डॉ. अरविंद प्रकाश सावंत, डॉ. खेरूल, बिलासपुर के डॉ. अखिलेश देवरस, डॉ. मनोज राय, सिम्स के डॉ. रवि शेखर, डॉ. श्रीकांत गिरी, डॉ. आशुतोष तिवारी भी वीडियो कॉन्फ्रेंस में शामिल हुए।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज रायपुर के पंडित जवाहर लाल नेहरू स्मृति चिकित्सा महाविद्यालय पहुंचकर कोविड-19 से बचाव के टीके का पहला डोज लिया..

रायपुर, 9 अप्रैल 2021 मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज रायपुर के पंडित जवाहर लाल नेहरू स्मृति चिकित्सा महाविद्यालय पहुंचकर कोविड-19 से बचाव के टीके का पहला डोज लिया। इस मौके पर स्वास्थ्य मंत्री  टी.एस. सिंहदेव, गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू, छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मंडल के अध्यक्ष  कुलदीप जुनेजा, स्वास्थ्य विभाग की अपर मुख्य सचिव श्रीमती रेणु जी. पिल्लै, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की संचालक डॉ. प्रियंका शुक्ला, चिकित्सा शिक्षा विभाग के संचालक डॉ. आर.के. सिंह, कलेक्टर डॉ. एस. भारतीदासन, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अजय यादव, रायपुर मेडिकल कॉलेज के डीन डॉ. विष्णु दत्त, डॉ. भीमराव अम्बेडकर अस्पताल के अधीक्षक डॉ. विनीत जैन और मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मीरा बघेल मौजूद थीं।

अस्पताल प्रबंधन बीमारी की गंभीरता के आधार पर मरीजों को अस्पताल में बिस्तर उपलब्ध कराएं न कि किसी सिफारिश या दबाव में – मुख्यमंत्री बघेल

रायपुर. 8 अप्रैल 2021 मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल ने आज विभिन्न समाज के प्रमुखों और सामाजिक संगठनों से वीडियो कॉन्फ्रेंस से हुई चर्चा के दौरान स्वास्थ्य विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे कोरोना संक्रमण की गंभीरता के हिसाब से मरीजों को अस्पताल में बिस्तर उपलब्ध कराने की प्रक्रिया निर्धारित करें। उन्होंने कहा कि मरीजों को किसी सिफारिश या दबाव के आधार पर बिस्तर न उपलब्ध कराएं जाए। इससे केवल जरूरतमंद मरीजों को ही बिस्तर उपलब्ध हो सकेंगे और अनावश्यक रूप से कोई बिस्तर नहीं ले सकेगा। श्री बघेल ने कहा कि ऑक्सीजन वाले बिस्तर और वेंटिलेटर तक इसकी वास्तविक जरूरत वाले मरीजों की पहुंच सुनिश्चित करें। ऐसे मरीज जिन्हें ऑक्सीजन सुविधा की आवश्यकता नहीं है उन्हें कोविड केयर सेंटर्स या सामान्य बिस्तरों पर भर्ती कर इलाज उपलब्ध कराएं। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में कोविड वैक्सीनेशन काफी तेजी से हो रहा है। कोरोना जांच की संख्या भी लगातार बढ़ाई जा रही है। प्रदेश की पॉजिटिविटी दर और रोज हो रही मौतें चिंताजनक है। उन्होंने लोगों से अपील की है कि वे अनावश्यक घरों से न निकलें। खरीदारी के लिए परिवार के सदस्यों को साथ न लेते हुए अकेले जाएं। आसपास कोरोना संक्रमित मिलने पर उनका सही मार्गदर्शन करें और आवश्यक सावधानियों के बारे में जागरूक करें।

गृह मंत्री अमित शाह ने शहीद जवानों को दी श्रद्धांजलि साथ ही मुख्यमंत्री भूपेश बघेल दे रहे है श्रद्धांजलि

जगदलपुर- गृह मंत्री अमित शाह ने शहीद जवानों को दी श्रद्धांजलि साथ ही मुख्यमंत्री भूपेश बघेल दे रहे है श्रद्धांजलि…

22 जवानों को शहादत को कर रहे हैं नमन

जगदलपुर के सिविल लाइन में दे रहे हैं श्रद्धांजलि

इसके बाद बासागुड़ा कैंप में जवानों से करेंगे मुलाकात

नक्सलियों के खिलाफ हाई लेवल मीटिंग में भी होंगे शामिल

उसके बाद रायपुर में गंभीर रूप से घायल जवानों से करेंगे मुलाकात

नक्सलियों के विरूद्ध आपरेशन जारी रहेंगे: मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल नक्सली अपनी आखिरी लड़ाई लड़ रहे हैं

रायपुर 5अप्रैल 2021/ मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल ने कहा कि नक्सलियों के विरूद्ध सुरक्षा बलों के आपरेशन जारी रहेंगे, नक्सलियों के प्रभाव क्षेत्र में कैम्पों की स्थापना का कार्य तेजी से किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने आज रायपुर वापस लौटने के बाद स्वामी विवेकानंद एयरपोर्ट पर राज्य के वरिष्ठ प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारियों से बीजापुर में पुलिस-नक्सल मुठभेड़ की घटना के संबंध में जानकारी ली। मुख्यमंत्री ने कहा कि लड़ाई में हमारे जवानों की शहादत हुई है, लेकिन वे बहादुरी से लड़े हैं। मैं उनकी शहादत को नमन करता हूं।
 
मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारे सुरक्षा बल बुलंद हौसलों के साथ नक्सलियों से उनकी मांद में घुसकर लड़ाई लड़ रहे हैं। बीजापुर में सुरक्षा बलों और नक्सलियों के बीच हुई इस लड़ाई में नक्सलियों का काफी नुकसान हुआ है। हमें जानकारी मिली है कि नक्सली 4 ट्रेक्टर में भरकर घटना स्थल से मृत एवं घायल नक्सलियों को ले गए। उन्होंने कहा कि 4 घंटे तक चली इस लड़ाई के दौरान सुरक्षा बलों के हौसलें बुलंद थे और उन्होंने नक्सलियों के प्रभाव वाले क्षेत्र में अंदर घुसकर बहादुरी से लड़ाई लड़ी।
 
उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ में नक्सलियों का प्रभाव लगातार सिमट रहा है और उनका असर अब केवल एक बहुत सीमित क्षेत्र में रह गया है। इससे बौखलाकर वो अपनी उपस्थिति दर्ज कराने के लिए इस तरह की घटनाएं कर रहे हैं। हम उनके प्रभाव क्षेत्र में लगातार पुलिस कैम्प स्थापित कर रहे हैं और आगे भी यह कार्य जारी रखेंगे।

बीजापुर मुठभेड़ में 21 जवान लापता नक्सल हादसे का शिकार होने की आशंका 8 DRG, 6 STF और 7 CRPF के कोबरा जवान लापता

बीजापुर 4 अप्रैल 2021। बीजापुर नक्सल हमले में 21 जवान लापता हैं। मुठभेड़ के करीब 15 घंटे बाद भी जवानों तक पुलिस पार्टी नहीं पहुंच सकी है। मुठभेड़ के इतने घंटे बाद भी जवानों से संपर्क ना हो पाना आशंकाओं की तरफ इशारा कर रहा है। आशंका हैै कि सभी लापता जवान नक्सल हादसे का शिकार हो गये है। हालांकि पुलिस की तरफ से आधिकारिक रुप से कुछ नहीं कहा जा रहा है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक 21 जवान अब तक लापता हैं। आशंका है कि ये सभी नक्सल हादसे का शिकार हो गए हैं। हालांकि सुबह 6 बजे से ही पुलिस पार्टी मौके के लिए रवाना हो चुकी है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक लापता जवानों में 8 DRG के,6 STF के, 7 CRPF के कोबरा जवान शामिल है। अब तक 2 की बॉडी रिकवर की जा चुकी है। जिसमे 1 कोबरा और 1 DRG के जवान शहीद है। सुबह से ही रेस्क्यू पार्टी मौके के लिए रवाना कर दी गयी है। अभी भी एम्बुश की आशंका है, लिहाज़ा। फूंक फूंक कर फोर्स आगे बढ़ रही।

जवानों और नक्सलियों के बीच चल रही है मुठभेड़

बीजापुर- जवानों और नक्सलियों के बीच चल रही है मुठभेड़। जवानों और नक्सलियों की ओर से चल रही है जबरदस्त मुठभेड़। मुठभेड़ अभी भी है जारी। मुठभेड़ में जवानों के घायल होने की आ रही है खबर। DRG के 4 और CRPF के 1 जवान के घायल होने की आ रही खबर। सिलगेर के जंगलो में चल रही है मुठभेड़। पुलिस-माओवादियों के बीच चल रहा बड़ा मुठभेड़। जवानों और माओवादियों के बीच घने जंगलों में पिछले 3 घंटे से चल रहा मुठभेड़। मुठभेड़ में शामिल जवानों की वस्तुस्थिति की नहीं मिल पा रही वास्तविक जानकारी। पुलिस के आला-अधिकारियों ने एनकाउंटर पर बनाया हुआ है नज़र। “चल रहा बड़ा एनकाउंटर, कुछ देर बाद दूंगा एनकाउंटर से जुड़ी जानकारी- कमलोचन कश्यप, SP, बीजापुर”।

राज्य निर्वाचन आयुक्त ने 13 नगरीय निकायों में निर्वाचन की प्रारंभिक तैयारियों की समीक्षा की

रायपुर. 1अप्रैल 2021 राज्य निर्वाचन आयुक्त ठाकुर रामसिंह ने प्रदेश के 13 नगरीय निकायों में आम निर्वाचन की प्रारंभिक तैयारियों की समीक्षा की। उन्होंने नवा रायपुर स्थित राज्य निर्वाचन आयोग के कार्यालय में आज संबंधित जिलों के उप जिला निर्वाचन अधिकारियों के साथ बैठक कर इस संबंध में आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने समय रहते नगरीय निकाय निर्वाचन के लिए सभी आवश्यक तैयारियां पूर्ण रखने कहा। राज्य निर्वाचन आयोग के सचिव श्री आर. एक्का भी बैठक में उपस्थित थे।

राज्य निर्वाचन आयुक्त ने नगरीय निकाय निर्वाचन वाले नौ जिलों के उप जिला निर्वाचन अधिकारियों के साथ निर्वाचक नामावलियों के अंतिम प्रकाशन, मतदान सामग्री की व्यवस्था, मतदान कार्य एवं दलों के लिए वाहन व्यवस्था, मतदान केंद्रों के निर्धारण, स्थापना, निरीक्षण एवं सत्यापन, सेक्टर मजिस्ट्रेट, सेक्टर अधिकारी, मतदान दल, मतगणना कर्मी एवं निर्वाचन व्यय संपरीक्षक की व्यवस्था, निर्वाचन के लिए अधिकारियों-कर्मचारियों की उपलब्धता एवं प्रशिक्षण, मतपत्र छपाई के लिए मुद्रणालयों के चयन, कंट्रोल रूम की व्यवस्था एवं वहां सुरक्षा के इंतजाम के बारे में चर्चा की। उन्होंने मतपेटियों की व्यवस्था एवं रखरखाव, स्ट्रांग रूम एवं मतगणना स्थल के चिन्हांकन, नामांकन दाखिले की ऑनलाइन व्यवस्था, मतदान के लिए लोगों को प्रेरित करने ‘जाबो’ कार्यक्रम के प्रचार-प्रसार एवं मतगणना की ऑनलाइन व्यवस्था के संबंध में विस्तार से चर्चा की और आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए मतदान केंद्रों एवं मतगणना स्थलों में बचाव के उपायों और सभी दिशा-निर्देशों के पालन की भी व्यवस्था करने कहा।

राज्य निर्वाचन आयुक्त ठाकुर रामसिंह ने बीजापुर जिले के भैरमगढ़ और भोपालपटनम नगर पंचायत, रायपुर के बिरगांव नगर निगम, कांकेर के नरहरपुर नगर पंचायत, दुर्ग के भिलाई व रिसाली नगर निगम तथा जामुल नगर पालिका, राजनांदगांव के खैरागढ़ नगर पालिका, बेमेतरा के मारो नगर पंचायत, कोरिया के बैकुंठपुर व शिवपुर-चरचा नगर पालिका, सूरजपुर के प्रेमनगर नगर पंचायत तथा सुकमा के कोंटा नगर पंचायत में निर्वाचन की तैयारियों के संबंध में अधिकारियों से चर्चा की।

राज्य निर्वाचन आयुक्त ने 13 नगरीय निकायों में निर्वाचन की प्रारंभिक तैयारियों की समीक्षा की

रायपुर. 1अप्रैल 2021 राज्य निर्वाचन आयुक्त ठाकुर रामसिंह ने प्रदेश के 13 नगरीय निकायों में आम निर्वाचन की प्रारंभिक तैयारियों की समीक्षा की। उन्होंने नवा रायपुर स्थित राज्य निर्वाचन आयोग के कार्यालय में आज संबंधित जिलों के उप जिला निर्वाचन अधिकारियों के साथ बैठक कर इस संबंध में आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने समय रहते नगरीय निकाय निर्वाचन के लिए सभी आवश्यक तैयारियां पूर्ण रखने कहा। राज्य निर्वाचन आयोग के सचिव श्री आर. एक्का भी बैठक में उपस्थित थे।

राज्य निर्वाचन आयुक्त ने नगरीय निकाय निर्वाचन वाले नौ जिलों के उप जिला निर्वाचन अधिकारियों के साथ निर्वाचक नामावलियों के अंतिम प्रकाशन, मतदान सामग्री की व्यवस्था, मतदान कार्य एवं दलों के लिए वाहन व्यवस्था, मतदान केंद्रों के निर्धारण, स्थापना, निरीक्षण एवं सत्यापन, सेक्टर मजिस्ट्रेट, सेक्टर अधिकारी, मतदान दल, मतगणना कर्मी एवं निर्वाचन व्यय संपरीक्षक की व्यवस्था, निर्वाचन के लिए अधिकारियों-कर्मचारियों की उपलब्धता एवं प्रशिक्षण, मतपत्र छपाई के लिए मुद्रणालयों के चयन, कंट्रोल रूम की व्यवस्था एवं वहां सुरक्षा के इंतजाम के बारे में चर्चा की। उन्होंने मतपेटियों की व्यवस्था एवं रखरखाव, स्ट्रांग रूम एवं मतगणना स्थल के चिन्हांकन, नामांकन दाखिले की ऑनलाइन व्यवस्था, मतदान के लिए लोगों को प्रेरित करने ‘जाबो’ कार्यक्रम के प्रचार-प्रसार एवं मतगणना की ऑनलाइन व्यवस्था के संबंध में विस्तार से चर्चा की और आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए मतदान केंद्रों एवं मतगणना स्थलों में बचाव के उपायों और सभी दिशा-निर्देशों के पालन की भी व्यवस्था करने कहा।

राज्य निर्वाचन आयुक्त ठाकुर रामसिंह ने बीजापुर जिले के भैरमगढ़ और भोपालपटनम नगर पंचायत, रायपुर के बिरगांव नगर निगम, कांकेर के नरहरपुर नगर पंचायत, दुर्ग के भिलाई व रिसाली नगर निगम तथा जामुल नगर पालिका, राजनांदगांव के खैरागढ़ नगर पालिका, बेमेतरा के मारो नगर पंचायत, कोरिया के बैकुंठपुर व शिवपुर-चरचा नगर पालिका, सूरजपुर के प्रेमनगर नगर पंचायत तथा सुकमा के कोंटा नगर पंचायत में निर्वाचन की तैयारियों के संबंध में अधिकारियों से चर्चा की।

हल्के लक्षण दिखते ही तुरंत कोरोना की जांच कराएं बुजुर्गों का विशेष ध्यान रखें

रायपुर 31मार्च 21कोरोना संक्रमण के मामले पूरी दुनिया सहित भारत में फिर बढ़ रहे हैं। इस समय सभी को सतर्क रहना अत्यंत आवश्यक है। चिकित्सक ,विश्व स्वास्थ्य संगठन ,यूनीसेफ सभी बार -बार आगाह कर रहे हैं कि हल्के लक्षण दिखने पर भी तुरंत कोरोना जांच कराना चाहिए। जल्दी जांच और दवाइयां समय पर मिलने से रिकवरी तेजी से होताी है। संक्रमण से बचने के लिए अभी सार्वजनिक स्थलों में मास्क पहनना, दूसरों से दो गज की सुरक्षित दूरी रखना,भीड़ से बचना और हाथों की साबुन पानी से सफाई करना जरूरी है। राज्य शासन द्वारा एक अप्रैल से 45 वर्ष से अधिक उम्र के सभी व्यक्तियों को कोविड 19 वैक्सीन लगाई जाएगी। इसके लिए विभाग द्वारा प्रदेश में वैक्सीनेशन केन्द्रों और वैक्सीनेटरों की संख्या बढ़ाए जाएगी। विभाग ने सभी पात्र लोगों से वैक्सीन लगाने की अपील की है।

     वर्तमान में 60 वर्ष से अधिक उम्र के बुजुर्गाें और 45 साल से अधिक के ऐसे व्यक्तियों जिन्हे अन्य कोई गंभीर बीमारी जैसे किडनी,डायबिटीज, कैंसर , सांस की तकलीफ और हृदय की बीमारी है ,उन्हे खास ध्यान रखने की जरूरत है क्योंकि इसी आयु समूह में 72 कोमार्बिड व्यक्तियों की मृत्यु हुई है। राज्य में गत सप्ताह के डेथ आडिट रिव्यू में यह तथ्य सामने आया कि एक सौ पांच मृतकों में उन्चास व्यक्ति कोमार्बिड और 60 वर्ष से अधिक उम्र के थे जबकि तेईस व्यक्ति 45 से 59 आयु समूूह के थे और दूसरी गंभीर बीमारी से ग्रस्त थे।

   समिति के सदस्य डाॅ सुंदरानी ने कहा कि इसीलिए बार बार सभी को आगाह किया जाता है कि बुजुर्ग और ऐसे व्यक्ति जिन्हे किसी भी प्रकार की अन्य कोई बीमारी है उन्हे विशेष रूप से ध्यान रखना चाहिए। उन्होने कहा कि युवा एवं बच्चों को बुजुर्गाें से दूरी रखनी चाहिए क्योंकि वे स्वयं यदि संक्रमित होंगे तो बिना लक्षण वाले हो सकते हैं और प्रतिरोधक क्षमता अधिक होने के कारण ठीक भी हो जाते हैं लेकिन बुजुर्ग उनसे आसानी से संक्रमित हो सकते हैं। उन्होने कहा कि टी बी ,सांस की बीमारी,अधिक रक्त चाप, डायबिटीज ,कैंसर आदि गंभीर बीमारी वाले व्यक्तियों के परिजनों केा भी उनका ध्यान रखना चाहिए और हल्के लक्षण दिखने पर भी तुरंत कोरोना जांच कराना चाहिए। जल्दी जांच और दवाइयां समय पर मिलने से रिकवरी तेजी से होताी है।

  महासमुंद जिले के 49 वर्ष के पुरूष जिन्हे डायबिटीज थी, को 12 मार्च से बुखार, कमजोरी लक्षण थे लेकिन उन्होने तुरंत कोरोना जांच नही कराई । 21 मार्च को एंटीजेन की रिपोर्ट पाजिटिव आने पर जिला अस्पताल में भर्ती कराया। लेकिन 23 मार्च को सांस की गंभीर तकलीफ हुई और उसी दिन उनकी मृत्यु हो गई |

अकलतरा - पेट्रोल पंप खुलवाने के नाम पर 2.50 लाख की ठगी करने वाले दंपत्ति को 03 वर्ष कारावास

न्यायिक दंडाधिकारी प्रथम श्रेणी न्यायालय अकलतरा श्रीमान आनंद बोरकर द्वारा स्वयं को सेलटैक्स अधिकारी होने का झूठा विश्वास एवम दिल्ली में ऊंची पहुच होने का आश्वासन दिलाकर पेट्रोल पंप खुलवाने के नाम पर कुल 2.50लाख रुपये की ठगी करने वाले दंपत्ति एलेक्स एडवर्ड कुजूर एवम मोनिका एलेक्स कुजूर को 03वर्ष के कारावास एवं अर्थदंड की सजा सुनाई।

जून 2019 को जब प्रार्थी जगदीश प्रसाद साहू निवासी अकलतरा ज्ञानेश्वरी सुपरफ़ास्ट ट्रैन में रॉयपुर से बिलासपुर आ रहा था तब ट्रैन में ही एलेक्स एडवर्ड एवं मोनिका एलेक्स से उसका परिचय हुआ जिनके द्वारा अपना परिचय प्रार्थी को सेलटैक्स अधिकारी दिल्ली में पदस्थ होने के रूप में देते हुए दिल्ली में ऊंची पहुंच होना बताया बातचीत दौरान दम्पत्ति द्वारा प्रार्थी को अपने प्रभाव में लेकर उसे अकलतरा में पेट्रोल पंप, उसके लिए जमीन इत्यादि दिलवा देने का आश्वासन देकर मोबाइल नम्बरो का आदान प्रदान कर लिया गया।

आरोपीगणों के बातों से प्रभावित होकर उनकी बातों को सत्य मानते हुए प्रार्थी फ़ोन द्वारा आरोपीगणों से सम्पर्क जारी रखा और पेट्रोल पंप खुलवाने के एवज में विभिन्न अवसरों पर कुल मिलाकर 2.50लाख रुपये आरोपीगणों के खातो में जमा कर कर दिया गया। कुछ दिनों बाद प्रार्थी के मोबाइल नंबर पर थाना जोरबंगला,दार्जलिंग से फ़ोन आया कि आरोपी दंपत्ति वंहा ठगी के अपराध में गिरफ्तार किए गए है उनके मोबाइल में आपका नंबर है आप उन्हें कैसे जानते हो तब प्रार्थी को आरोपीगण द्वारा उसके साथ ठगी कर लिए जाने की जानकारी हुई।

उक्त पूरी घटना की प्रार्थी द्वारा थाना अकलतरा में लिखित शिकायत दी गई जिसके आधार पर थाना अकलतरा में आरोपी दंपत्ति के विरुद्ध धारा 420,34भा द वि का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना प्रारम्भ की गई विवेचना दौरान आरोपीगण के विरुद्ध धारा 419भादवि भी जोड़ी गई विवेचना पूर्ण कर अभियोग पत्र न्यायिक दण्डाधिकारी प्रथम श्रेणी अकलतरा में पेश किया गया।

अकलतरा न्यायालय में विचारण दौरान आरोपी दंपत्ती की ओर से जमानत आवेदन एवं आरोपी एलेक्स एडवर्ड कुजूर के साथ राजीनामा सम्बन्धी पेश आवेदन आपत्ति होंने से खारिज होकर निर्णय दिनाँक तक दोनो आरोपीगण न्यायिक अभिरक्षा में रहे।

न्यायालय में गवाहों के परिक्षण प्रतिपरीक्षण बाद न्यायिक दंडाधिकारी प्रथम श्रेणी अकलतरा श्रीमान आनंद बोरकर द्वारा आरोपी दंम्पत्ति एलेक्स एडवर्ड कुजूर एवं मोनिका एलेक्स कुजूर को धारा 419,420,34भादवि में दोषी पाते हुए दोनो आरोपीगण को धारा 419भादवि में 01-01वर्ष कारावास एवम धारा420 भादवि में 03-03 वर्ष कारावास साथ ही अर्थदंड की सजा सुनाई अर्थदंड अदा न करने पर अतिरिक्त कारावास का आदेश दिया।

प्रकरण में शासन की ओर से सहायक जिला लोक अभियोजन अधिकारी एस.अग्रवाल ने पैरवी की।

स्वास्थ्य विभाग ने होम आइसोलेशन संबंधी नए निर्देश जारी किए…दिए ये निर्देश…

रायपुर- कोरोना संक्रमण बढ़ने के बाद स्वास्थ्य विभाग की ओर से होम आइसोलेशन संबंधी  नए निर्देश जारी किए गए हैं। सभी जिलों के होम आइसोलेशन के नोडल अधिकारियों को गत दिवस वीडियो कान्फे्रन्सिंग के माध्यम से निर्देश दिए गए कि संक्रमितों को होम आइसोलेशन के लिए अनुमति तभी दी जाए जब प्रभारी यह आश्वस्त हो जाएं कि मरीज घर में रहकर कोविड प्रोटोकाल,आइसोलेशन के नियमों का पालन करेगा। अनुमति देने के बाद मरीज के घर तत्काल दवाई पहुंचानी चाहिए। 60 वर्ष से अधिक उम्र के और अन्य गंभीर बीमारी वाले व्यक्तियों को यह अनुमति नही दी जानी चाहिए। मरीज या उनकी देखभाल करने वाला व्यक्ति यदि  आॅक्सीजन स्तर की जांच ,तापमान आदि  ले पाने में सक्षम नही हो तो उन्हे अस्पताल में ही भर्ती कराना चाहिए। दूर-दराज के इलाकेां में जहां पास में स्वास्थ्य सुविधा नही हो उन्हे भी अस्पताल में ही भर्ती करने की सलाह देनी चाहिए।
    मरीजों केा होम आइसोलेशन कंट्रोल रूम के फोन नंबर , चिकित्सकों के नंबर देना चाहिए। जिस चिकित्सक को मरीज की जिम्मेदारी दी जाती है वह नियमित रूप से मरीज से बात करे । यदि मरीज फोन से नही बात कर रहा है तब उसके घर जाकर उसकी स्थिति पता करने का दायित्व भी नोडल अधिकारी का होता है।
   होम आइसोलेशन वाले मरीजों को यह जरूर बताना चाहिए कि खतरे के चिन्ह कौन-कोैन से है जैसे आॅक्सीजन का स्तर 95 से कम हो या लगातार बुखार हो आदि। उस स्थिति में तुरंत अस्पताल रिफर करना चाहिए।
    सामान्यतः कुल मरीजों में से लगभग 70 प्रतिशत मरीज होम आइसोलेशन में रहते हैं इसलिए इसका समुचित प्रबंधन अत्यंत महत्वपूर्ण है और यह मृत्यु दर को कम करने में भी सहायक होता है।
 

 

दक्षिण पूर्व मध्य रेल्वे से चलने वाली 04 स्पेशल ट्रेनों के परिचालन में विस्तार

रायपुर – 22 मार्च, 2021 रेल यात्रियों की सुविधा एवं मांग को ध्यान में रखते हुए रेल प्रशासन के द्वारा दक्षिण पूर्व मध्य रेल्वे से होकर चलने वाली चार स्पेशल ट्रेनों के परिचालन में विस्तार किया गया है । इन सभी गाड़ियो में कोविड -19 के सभी नियमो का पालन करना बहुत जरूरी है एवं इन गाड़ियो में कनफर्म टिकट यात्रियो को ही यात्रा करने की अनुमति दी जायेगी ।  जिसकी विस्तृत जानकारी इस प्रकार है 

कोल स्टॉक को आग से बचाने में खानापूर्ति टैंकर से पानी छिड़कने की कोशिश....एसइसीएल चिरमिरी क्षेत्र के कोल स्टॉक व ओसीपी में पिछले 5 दिन से धधक रही आग

 3 साल पहले  कंपनी की लापरवाही से फायर प्रोजेक्टर में जलता कोयला डंपर में मशीन से डम करने से दो ट्रक जलकर राख हो गए थे ,वही एक अन्य हादसे में कोयले की अंगार पर पानी डालते दो श्रमिक फायर स्लाइड होने से इनकी चपेट में आ गए थे इसमें एक कर्मचारी बिलासपुर में इलाज के दौरान मौत हो गई थी  
कोरिया-  सरवर अली  एसइसीएल ओपन कास्ट प्रोजेक्ट में लगी भीषण आग को बुझाने में भारी लारवाही बरती जाने लगी है। ओसीपी माइंस व कोल में लगी आग को बुझाने के नाम पर सिर्फ टैंकर से पानी छिड़काव कर खानापूर्ति कर रहे हैं। माइंस में आगजनी के बीते शुक्रवार की रात से कोल में जगह-जगह आग की लपटें नजर आ रही है।
 आप को बता दें कि एसइसीएल चिरमिरी समूह के ओपन माइंस प्रोजेक्ट से कोयला उत्खनन कर रही है वही कोयला उत्खनन करने को प्राइवेट कंपनी आनंद कार्गो को भी सौंपा गया है। जहा सुरक्षा नियम को ताक पर रखकर कोयला उत्खनन कर रही है। चिरमिरी माइंस के अंदर से ही आग धधक रही है। कोल माइंस में लगी आग को बुझाने कोई समुचित उपाय नहीं किया गया है। जिससे आज तक माइंस में आग लगी हुई है।चिरमिरी ओपन माइंस समूह और प्राइवेट कंपनी पोकलेन मशीन से धधकती आग के बीच कोल उत्पादन कर रही है। हालाकि उत्खनन के बाद कोयले में पानी का छिड़काव करते हैं। एसइसीएल ने पाइपलाइन बिछाई है और टैंकर से पानी छिड़काव की व्यवस्था कराई है। बाजवूद कोल स्टॉक में लगी आग के पांचवें दिन टैंकर से पानी छिड़काव कर खानापूर्ति कर रहे हैं। कोल स्टॉक में लगी आग के कारण दिन में धुआं उठता है और रात में अंगार दिखाई देता है। भीषण आग धीरे-धीरे कोल स्टॉक व माइंस को अपने चपेट में लेने लगा है। आगजनी पर काबू नहीं पाने पर ओपन माइंस से कोयला उत्पादन पूरी तरह से ठप  हो सकता है।

चिरमिरी एसइसीएल ऑफिसर(सेफ्टी) अरुण कुमार स्टाफ कहना है किमाइंस में वर्षों पहले से आग लगी हुई है। जिससे कोयला उत्खनन करते समय कभी-कभी कोयला के साथ अंगारे निकलते है।जिसे बाहर कोल स्टॉक में रखने से पहले पानी का भरपूर छिड़काव कर आग बुझाया जाता है। आग लगने के कारण यह हो सकता है, कि जलते कोयले पर सही तरीके से पानी का छिड़काव नहीं हुआ होगा ।माइंस में टैंकर सहित पाइप लाइन से पानी का छिड़काव कराया जा रहा है।