बड़ी खबर

रायपुर : शासकीय सेवकों एवं उनके परिजनों के इलाज के लिए देश और प्रदेश के 127 अस्पतालों को मान्यता @bbn24


रायपुर. 30 अप्रैल 2021

छत्तीसगढ़ शासन ने शासकीय सेवकों और उनके आश्रित परिजनों के इलाज के लिए राज्य के 87 और राज्य के बाहर स्थित 40 अस्पतालों को मान्यता दी है। शासकीय कर्मियों के इलाज के लिए चालू वित्तीय वर्ष 2021-22 में कुल 127 अस्पतालों को मान्यता मिली है। लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण तथा चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री टी.एस. सिंहदेव के अनुमोदन के बाद चिकित्सा शिक्षा विभाग ने मान्यता प्राप्त अस्पतालों की सूची मंत्रालय से जारी की है। चिकित्सा शिक्षा विभाग ने राज्य शासन के सभी विभागों, राजस्व मंडल बिलासपुर के अध्यक्ष, सभी विभागाध्यक्षों, संभागायुक्तों और कलेक्टरों को मान्यता प्राप्त अस्पतालों की सूची प्रेषित की है।

छत्तीसगढ़ स्थित मान्यता प्राप्त चिकित्सालय

बिहान हॉस्पिटल, सड्डू, रायपुर. बाल गोपाल चिल्ड्रन हॉस्पिटल, बैरन बाजार, रायपुर. श्री नारायणा हॉस्पिटल, देवेन्द्र नगर, रायपुर. श्री मां शारदा आरोग्यधाम, डी.डी. नगर, रायपुर. रायपुर स्टोन क्लीनिक, कचहरी चौक, रायपुर. फरिश्ता नर्सिंग होम, कटोरातालाब, रायपुर, मित्तल इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस, अंवति बाई चौक पंडरी, रायपुर. किम्स सुपरस्पेशियालिटी हॉस्पिटल, अग्रसेन चौक के पास, बिलासपुर. श्री बालाजी मल्टीस्पेशियालिटी हॉस्पिटल, टिकरापारा, रायपुर. धमतरी क्रिश्चियन हॉस्पिटल, रायपुर रोड, धमतरी. चंदूलाल चन्द्राकर स्मृति हॉस्पिटल, नेहरू नगर चौक, भिलाई. श्री मेडिशाइन हॉस्पिटल, न्यू राजेन्द्र नगर, रायपुर. श्री बालाजी सुपरस्पेशियालिटी हॉस्पिटल, मोवा, रायपुर. ओम नेत्र केन्द्र, पंडरी, रायपुर. यशवंत हॉस्पिटल, तात्यापारा चौक, रायपुर. नारायणा हृदयालय एम.एम.आई., लालपुर, रायपुर. विद्या हॉस्पिटल एंड किडनी सेंटर, शंकर नगर, रायपुर. श्री अरबिंदो नेत्रालय, पचपेड़ी नाका, रायपुर. आशादीप हॉस्पिटल, न्यू राजेन्द्र नगर, रायपुर. वी.वाय. हॉस्पिटल, कमल विहार सेक्टर-12, रायपुर. भवानी डायग्नोस्टिक सेंटर, फाफाडीह चौक, रायपुर. लाइफवर्थ डायग्नोस्टिक सेंटर, समता कॉलोनी, रायपुर. अपोलो हॉस्पिटल, सीपत रोड, बिलासपुर. मार्क हॉस्पिटल, ब्रिलिएंट स्कूल कैंपस, बिलासपुर. मूंदड़ा हॉस्पिटल, मंगला चौक, बिलासपुर. श्री बालाजी ट्रामा एंड सुपरस्पेशियालिटी हॉस्पिटल, कोसाबाड़ी, कोरबा. श्री रेटिना केयर सुपरस्पेशियालिटी आई हॉस्पिटल, शंकर नगर चौक, रायपुर. आर.एस. पॉलिक्लीनिक एंड डायग्नोस्टिक सेंटर, टाटीबंध, रायपुर. ओम हॉस्पिटल, महादेव घाट रोड रायपुरा, रायपुर. श्री कृष्णा हॉस्पिटल, न्यू राजेन्द्र नगर, रायपुर. केयर एंड क्योर सुपरस्पेशियालिटी हॉस्पिटल, प्रताप चौक, बिलासपुर. श्रीराम केयर हॉस्पिटल, नेहरू नगर, बिलासपुर. न्यू कोरबा हॉस्पिटल, मंगलम विहार कोसाबाड़ी, कोरबा. वी केयर सुपरस्पेशियालिटी हॉस्पिटल, जीटीबी प्लाजा तेलीबांधा, रायपुर. जैन डेंटल हॉस्पिटल, न्यू राजेन्द्र नगर, रायपुर. रायपुर इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस, ग्राम गोढ़ी, रायपुर. राजधानी सुपरस्पेशियालिटी हॉस्पिटल, एस.एस. टॉवर, पचपेड़ी नाका के पास, रायपुर. माता लक्ष्मी नर्सिंग होम एंड इन्वेस्टीगेशन सेंटर, अनुपम नगर, रायपुर. अग्रसेन हॉस्पिटल, समता कॉलोनी, रायपुर. संजीवनी सीबीसीसी यूएसए कैंसर हॉस्पिटल, दावड़ा कॉलोनी पचपेड़ी नाका, रायपुर. अपोलो डायग्नोस्टिक सेंटर, कचहरी चौक, रायपुर. सार्वा ट्रामा हॉस्पिटल, तात्यापारा, रायपुर. स्पाइन एंड स्किन क्लीनिक, टी.वी. टॉवर रोड शंकर नगर, रायपुर. डॉ. के. गुरूनाथ हॉस्पिटल, प्रियदर्शिनी परिसर सुपेला, भिलाई. आरबी (aarBee) इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल सांइसेस, स्वर्णजयंती नगर, बिलासपुर. श्री शंकराचार्य इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेस, जुनवानी, भिलाई. गुप्ता हॉस्पिटल, मल्टीस्पेशियालिटी रिसर्च एंड मैटरनिटी सेंटर, रत्नाबांधा रोड, धमतरी. डॉ. जाउलकर ईएनटी हॉस्पिटल, चौबे कॉलोनी, रायपुर. कालड़ा कॉस्मेटिक सर्जरी एंड बर्न सेंटर, राजकुमार कॉलेज के सामने, रायपुर. श्री बालाजी मेट्रो हॉस्पिटल, कौहाकुंदा, रायगढ़. रामकृष्ण केयर हॉस्पिटल, पचपेड़ी नाका, रायपुर. सुयश हॉस्पिटल, गुढ़ियारी रोड कोटा, रायपुर. विवेकानंद आई हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर, बूढ़ा तालाब गार्डन के पास, रायपुर. ए.एस.जी. आई हॉस्पिटल, शक्ति नगर, रायपुर. स्पर्श मल्टीस्पेशियालिटी हॉस्पिटल, सिरसा रोड रामनगर, भिलाई. श्री शिशुभवन, ईदगाह रोड, मध्यनगरी चौक के पास, बिलासपुर. उपाध्याय हॉस्पिटल, महोबा बाजार, रायपुर. सर्वोदय हॉस्पिटल एंड प्रसूति केन्द्र, दुबे कॉलोनी मोवा, रायपुर. कालड़ा बर्न एंड प्लास्टिक सर्जरी सेंटर, पचपेड़ी नाका, रायपुर. अपेक्स सुपरस्पेशियालिटी हॉस्पिटल एंड आईव्हीएफ सेंटर, अटल चौक, रायगढ़. अग्रवाल हॉस्पिटल, आर.के.सी, कॉम्प्लेक्स के सामने जी.ई. रोड, रायपुर. श्री गणेश विनायक आई हॉस्पिटल, लालपुर, रायपुर. विशारद हॉस्पिटल, सुभाष स्टेडियम के सामने, रायपुर. बी.एम. शाह हॉस्पिटल एंड मेडिकल रिसर्च सेंटर, शास्त्री नगर सुपेला, भिलाई. महादेव सुपरस्पेशियालिटी हॉस्पिटल, व्यापार विहार रोड, बिलासपुर. आरोग्य हॉस्पिटल, शंकर नगर, रायपुर. फोर्टिस ओ.पी. जिंदल हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर, खरसिया रोड, रायगढ़. विनायक नेत्रालय, लिंक रोड, बिलासपुर. सिटी हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर, चौबे कॉलोनी, रायपुर. श्री संकल्प हॉस्पिटल, सरोना, रायपुर. स्टार चिल्ड्रन हॉस्पिटल, अग्रसेन चौक, बिलासपुर. सोनी मल्टीस्पेशियालिटी हॉस्पिटल एंड मैटरनिटी होम, बड़े उरला, अभनपुर. माखीजा हॉस्पिटल, अग्रसेन चौक के पास, बिलासपुर. बालको मेडिकल सेंटर, सेक्टर-36, नया रायपुर. नमन हॉस्पिटल (डेंटोफेसियल ट्रॉमा एंड ओरल कैंसर केयर), शंकर नगर, रायपुर. पेटल्स न्यू बोर्न एंड चिल्ड्रन हॉस्पिटल, समता कॉलोनी, रायपुर. कंवर नर्सिंग होम, अनुपम नगर, रायपुर. आशीर्वाद लेजर फेको आई हॉस्पिटल, नेहरू चौक, बिलासपुर. चंदादेवी तिवारी हॉस्पिटल, भाटापारा रोड, बलौदाबाजार. संजीवनी हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर, वेयर हाउस रोड, बिलासपुर. सनशाइन मल्टीस्पेशियालिटी हॉस्पिटल, वसुन्धरा नगर भिलाई-3, चरोदा, दुर्ग. एस.आर.एस. हॉस्पिटल, पचपेड़ी नाका, रायपुर. जीवन ज्योति हॉस्पिटल, दर्रीपारा, अंबिकापुर. साईं बाबा आई हॉस्पिटल, फाफाडीह, रायपुर. तिवारी नर्सिंग होम, सिविल लाइन, रायपुर. असीम सुपरस्पेशियालिटी डेंटल हॉस्पिटल संतोषी नगर चौक, रायपुर. चन्द्रानी सरदारी लाल स्पेशियालिटी आई एंट ईएनटी हॉस्पिटल, शांति नगर, रायपुर. एसएमसी हॉर्ट इंस्टीट्यूट एंड आईवीएफ रिसर्च सेंटर, वीआईपी इस्टेट, रायपुर.

 

देखिए विडियों

छत्तीसगढ़ के बाहर स्थित मान्यता प्राप्त चिकित्सालय

सर गंगाराम हॉस्पिटल, राजेन्द्र नगर, नई दिल्ली. स्पंदन हार्ट इंस्टीट्यूट एंड रिसर्च सेंटर, धनतोली, नागपुर. प्लेटिना हार्ट हॉस्पिटल, सीताबुल्दी, नागपुर. शेल्बी मल्टीस्पेशियालिटी हॉस्पिटल, विजय नगर, जबलपुर. मेदांता द मेडिसिटी, सेक्टर-28, गुड़गांव. जसलोक हॉस्पिटल, मुंबई. सी.एम.सी. वेल्लोर, शंकर नेत्रालय, चेन्नई, अपोलो हॉस्पिटल, चेन्नई. एस्कार्ट हार्ट इंस्टीट्यूट, नई दिल्ली. बत्रा हॉस्पिटल, नई दिल्ली. अपोलो हॉस्पिटल, हैदराबाद. लीलावती हॉस्पिटल, मुंबई. मेट्रो हॉस्पिटल, नोएडा, दिल्ली. चोईथराम हॉस्पिटल, इंदौर. यशोदा हॉस्पिटल, हैदराबाद. फोर्टिस एंड लाफ्रेस फोर्टिस हॉस्पिटल – दिल्ली तथा राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में स्थित हॉस्पिटल की सभी शाखाएं. मैक्स देवकी हार्ट एंड वास्कुलर इंस्टीट्यूट, सुपरस्पेशियालिटी हॉस्पिटल - दिल्ली तथा राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में स्थित हॉस्पिटल की सभी शाखाएं. प्राईमस सुपरस्पेशियालिटी हॉस्पिटल, चाणक्यपुरी, नई दिल्ली. मैक्स सुपरस्पेशियालिटी हॉस्पिटल, साकेत, नई दिल्ली. मेडिट्रिना इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस, रामदासपेठ, नागपुर. अपोलो हॉस्पिटल्स, हेल्थ सिटी, आरोलोवा, चिनगाधिली, विशाखापटनम. मेदांता सुपरस्पेशियालिटी हॉस्पिटल, इंदौर. शेल्बी हॉस्पिटल सुपरस्पेशियालिटी केयर, इंदौर. शेल्बी मल्टीस्पेशियालिटी हॉस्पिटल, अहमदाबाद, बासवाताराकम इंडो-अमेरिकन कैंसर हॉस्पिटल एंड रिसर्च इंस्टीट्यूट, बंजारा हिल्स, हैदराबाद. कोकिलाबेन धीरूभाई अंबानी हॉस्पिटल एंड मेडिकल रिसर्च इंस्टीट्यूट, मुंबई. बॉम्बे हॉस्पिटल, मुंबई. नानावटी हॉस्पिटल मुंबई. इंद्रप्रस्थ अपोलो हॉस्पिटल, दिल्ली. पंडालिया कॉर्डियो-थोरेसिक फाउंडेशन, चेन्नई. एशियन इंस्टीट्यूट ऑफ गैस्ट्रोएंट्रोलॉजी, हैदराबाद, मेडविन हॉस्पिटल, हैदराबाद. सेवन हिल्स हॉस्पिटल विशाखापटनम. केयर हॉस्पिटल, विशाखापटनम. स्योरटेक हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर, नागपुर. एच.सी.एम.सी.टी. मनिपाल हॉस्पिटल्स, नई दिल्ली. ओमनी आरके सुपरस्पेशियालिटी हॉस्पिटल, रामनगर, विशाखापटनम. नीति क्लिनिक्स, रामदासपेठ, नागपुर. ग्लेनीग्ल्स ग्लोबल हॉस्पिटल्स, हैदराबाद.

Chhattisgarh : एंबुलेंस चालको और मालिकों पर ज्यादा किराया वसूलने की शिकायत पर तीन एंबुलेंस पर पुलिस ने की सख्त कार्यवाही

रायपुर - एंबुलेंस वाहन चालको और मालिकों द्वारा अस्पतालों से शव ले जाने के लिए और मरीजों के परिवार वालों से मरीजों को लाने ले जाने के लिए बहुत ज्यादा किराया वसूल रहे हाल ही में 2 दिन पूर्व प्रशासन ने एंबुलेंस वाहन चालकों को सही किराया लेने के लिए एक आदेश पारित किया था साफ लिखा था ,कि तय किराए से ज्यादा ना लवे है एंबुलेंस वाहन का क्या किराया होगा यह सब एक आदेश जारी करा था उसके बावजूद भी एंबुलेंस वाले मनमानी कर रहे थे और तय किराए से ज्यादा किराया ले रहे थे, सूचना मिलने पर पुलिस उप महानिरीक्षक और वरिष्ट पुलिस अधीक्षक श्री अजय कुमार यादव ने गंभीरता से लेते हुए पुलिस राजपत्र अधिकारियो एवं थाना प्रभारियों को त्वरित वैधानिक कार्यवाही करने के आदेश दिए थे जिसके तहत आम जनता को हर संभव मदद मिले इसी तात्पर्य से थाना सिविल लाइन और थाना खम्हारडीह ने कार्रवाई करते हुए एंबुलेंस वाहन क्रमांक सीजी 07एम 3142 एंबुलेंस क्रमांक सीजी 04एचडी8420 खम्हारडी पुलिस द्वारा सीजी04 एच डी 8646 उक्त एंबुलेंस वाहनों को पकड़कर मोटर व्हीकल अधिनियम के तहत कार्यवाही किया गया है। तो किराए से ज्यादा किराया लेने पर एंबुलेंस वाहन मालिकों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करते हुए उन वाहनों को पकड़े कर कठोर कार्रवाई की जाएगी आगे भी निरंतर इस तरह की कार्रवाई जारी रहेगी और परिवहन विभाग को पत्र लिखकर उन वाहनों का पंजीयन निरस्त किया जाए ऐसा पत्र भेजा जाएगा

महाराष्ट्र : 18+ को 1 मई से नहीं लगेगी वैक्‍सीन, कड़े प्रतिबंध 15 दिन के लिए बढ़ाए गए......पढ़े पूरी खबर

महाराष्ट्र में लागू कड़े प्रतिबंध 15 दिन के लिए और बढ़ाए गए हैं. पहले एक मई तक कड़े प्रतिबंध लगाए गए थे जो अब 15 मई तक लागू रहेंगे. दूसरी तरफ महाराष्ट्र में 18-45 वर्ष की उम्र के लोगों का वैक्सिनेशन 1 मई से शुरू नहीं हो पाएगा. महाराष्ट्र में 18-45 की आयु के करीब 5.71 करोड़ लोग हैं. इनके लिए करीब 12 करोड़ डोज की जरूरत होगी. इसके लिए राज्य सरकार को करीब 6500 करोड़ खर्च करने होंगे.

 

ऑक्सीजन टैंकरों की ढुलाई मे वायुसेना ने झोंकी ताकत, दुबई से लाए गए छह क्रायोजनिक टैंकर

कोरोना की दूसरी प्रचंड लहर के बीच ऑक्सीजन की कमी दूर करने के लिए भारतीय वायुसेना ने देश और विदेश से विशेष ऑक्सीजन टैंकर जुटाने की रफ्तार तेज कर दी है। इस क्रम में वायुसेना का मालवाहक विमान सी-17 ग्लोबमास्टर दुबई से छह विशेष क्रायोजिनक ऑक्सीजन टैंकर लेकर सोमवार रात बंगाल के पानागढ स्थित एयरबेस पर पहुंच गया। वायुसेना मंगलवार को भी छह क्रायोजिनक टैंकर दुबई से भारत लाएगी। वायुसेना के विमान देश में उन स्थानों पर टैंकरों को पहुंचाने में जुटे हैं जहां कोरोना मरीजों को ऑक्सीजन की कमी का संकट झेलना पड़ रहा है। दुबई से लाए जा रहे इन खाली टैंकरों में ऑक्सीजन भर कर देश भर में पहुंचाई जाएगी। वायुसेना जरूरत के हिसाब से भरे हुए ऑक्सीजन टैंकर निकट के एयरबेस तक पहुंचाएगी।

वरिष्ठ कांग्रेस नेता करुणा शुक्ला का कोविड से निधन ,रायपुर के एक निजी अस्पताल में इलाज के दौरान हुआ निधन

रायपुर पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की भतीजी और कांग्रेस नेता करुणा शुक्ला का सोमवार देर रात निधन हो गया। कोरोना संक्रमण के कारण वे रायपुर के रामकृष्ण अस्पताल में भर्ती थीं। यहीं देर रात 12.40 बजे उनका निधन हुआ।

मिली जानकारी अनुसार उनका अंतिम संस्कार मंगलवार को बलौदाबाजार में किया जाएगा। करुणा शुक्ला वर्तमान में समाज कल्याण बोर्ड की अध्यक्ष थीं। इससे पहले वह लोकसभा सांसद भी थीं। वह भाजपा की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सहित तमाम बड़े पदों पर रहीं।

2013 में करुणा शुक्ला भाजपा छोड़कर कांग्रेस में शामिल हो गई थीं

2013 में कांग्रेस में शामिल हुईं करुणा शुक्ला टिकट न मिलने के कारण नाराज होकर वर्ष 2013 के विधानसभा चुनाव के दौरान भाजपा छोड़कर कांग्रेस में शामिल हो गई थीं।

अब फिर से सक्रिय हो रहा पश्चिमी विक्षोभ, देश के इन राज्यों में आंधी-तूफान के साथ बारिश का अलर्ट

देश में पिछले कई दिनों से पहाड़ी इलाकों में हुई बर्फबारी के चलते मैदानी इलाकों में हल्की बारिश दर्ज की गई। मौसम विभाग के मुताबिक, कल यानी 27 अप्रैल, 2021 से पश्चिमी हिमालय क्षेत्र में एक ताजा पश्चिमी विक्षोभ बनेगा, जिसके चलते जम्मू-कश्मीर, लद्दाख, गिलगित, बाल्टिस्तान, मुजफ्फराबाद, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में 27-30 अप्रैल के दौरान गरज और तेज हवाओं के साथ भारी बर्फबारी और बारिश हो सकती है। फिलहाल आज इन इलाकों में बारिश के आसार नहीं जताए जा रहे हैं। 

कोरोना को रोकने में Social Distancing नहीं कारगर! शोध में दावा, 6 Feet की दूरी पर भी Infection का खतरा

विश्व स्वास्थ्य संगठन इस बात पर जोर देता आया है कि कोरोना वायरस से बचाव के लिए 6 फीट की दूरी है जरूरी. यानी दो लोगों के बीच यदि 6 फीट की दूरी होगी, तो उन्हें संक्रमण का खतरा अपेक्षाकृत कम रहेगा. WHO की इस गाइडलाइन पर पूरी दुनिया अमल कर रही है, लेकिन एक अध्ययन ने इस गाइडलाइन पर सवाल खड़े कर दिए हैं. मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (MIT) के शोधकर्ताओं का कहना दूरी मायने नहीं रखती, फिर चाहे वह 6 फीट हो या 60 फीट. खासतौर पर तब जब व्यक्ति घर जैसी इनडोर जगहों पर हों.  

मध्यप्रदेश : हरदा देश का प्रथम जिला, जहाँ प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना के सभी दस्तावेज तैयार

किसान-कल्याण तथा कृषि विकास मंत्री श्री कमल पटेल ने प्रसन्नता व्यक्त की है कि हरदा जिला राष्ट्रीय पंचायत दिवस के अवसर पर प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना अंतर्गत ग्रामीणों को आबादी का मालिकाना हक प्रदान करने सम्बन्धी सभी आवश्यक दस्तावेज वितरण के लिए तैयार तैयार करने वाला देश का प्रथम जिला  बन गया है। उन्होंने इस संबंध में मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान, केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री श्री नरेंद्र सिंह तोमर और प्रधानमंत्री कार्यालय को भी अवगत करा दिया है। श्री पटेल ने राष्ट्रीय पंचायत दिवस के अवसर पर प्रदेशवासियों को हार्दिक शुभकामनाएँ प्रेषित की है।

   मंत्री श्री पटेल ने कहा कि प्रधानमंत्री  श्री नरेंद्र मोदी ने गत वर्ष 24 अप्रैल 2020 को ग्रामीण आबादी को मालिकाना हक देने की घोषणा करते हुए प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना का शुभारंभ किया था। हरदा जिला प्रशासन ने परिश्रम कर एक वर्ष की अवधि में जिले के सभी 402 राजस्व गाँवों के  ग्रामीण आबादी के मालिकाना दस्तावेज वितरण के लिए तैयार कर लिए है। हरदा जिला इस कार्य को पूर्ण करने वाला देश का पहला जिला बन गया है। उन्होंने बताया कि इसकी शुरुआत भी 2008 में हरदा जिले से हुई थी। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने  2 अक्टूबर 2008 को मुख्यमंत्री आवास योजना अधिकार पुस्तिका वितरित कर योजना की शुरुआत की थी। योजना में हरदा जिले के   ग्राम मसनगाँव और ग्राम भाट परेठिया सर्वप्रथम लाभन्वित हुए थे। श्री पटेल ने बताया कि कालान्तर में इस योजना को केंद्रीय स्तर पर स्वीकृति मिली और प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना के रूप में 24 अप्रैल 2020 को सारे देश मे इसे प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा लागू किया गया।
 मंत्री श्री पटेल ने  हर्ष व्यक्त किया कि प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना से सबसे पहले हरदा जिला ही लाभान्वित हुआ। जिले के अबगाँवकला के श्री रामभरोसे विश्वकर्मा ऐसे हितग्राही हैं, जिन्हें कुँए, फलदार वृक्ष और मकान की जमीन के एवज में 21 लाख 14 हजार 949 रुपये की मुआवजा राशि प्रदान की गई थी। उन्होंने ग्रामीणों को आबादी का मालिकाना हक  प्रदान करने प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना के  प्रारंभ करने और उससे  ग्रामीणों को लाभान्वित करने के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी, केंद्रीय कृषि विकास एवं किसान कल्याण मंत्री श्री नरेन्द्र सिंह तोमर और मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान का ह्रदय से आभार व्यक्त किया है। श्री पटेल ने हरदा जिला प्रशासन को भी बधाई दी है।

जगदलपुर : कोरोना काल में भी स्वच्छता कर्मी प्रतिदिन कर रहे डोर-टू-डोर कचरा कलेक्शन कोरोना के खिलाफ जंग में निगम के कर्मचारी दे रहे महत्वपूर्ण योगदान

 

जगदलपुर, 26 अप्रैल 2021

कोरोना के संक्रमण से जहाँ पूरा विश्व भयभीत है, वहीं इस विपदा की घड़ी में स्वच्छता कर्मियों ने अपना दायित्व पूरी निष्ठा के साथ निभाकर नगर को आपदा से बचाने के कार्य मे जी जान से जुटी हुई हैं।
कोरोना के संक्रमण को देखते हुए लगाए गए  लॉकडाउन में सब अपने घरों में घिर गए है परंतु ऐसे समय में नगर की सफाई का दायित्व स्वच्छता कर्मियों ने बखूबी निभाया है ।वे सामान्य दिनों के समान लॉक डाऊन की अवधि में भी अपने कर्तव्य के प्रति समर्पित हो कर प्रतिदिन नागरिकों के घर-घर दस्तक दे रही हैं और डोर-टू-डोर कचरा कलेक्शन कर कर रही हैं। इसके साथ ही सड़कों की साफ-सफाई और घरों से उठाए गए कचरे के प्रबंधन के कार्य को भी अंजाम दे रही हैं। पूरे शहर की साफ-सफाई के लिए प्रतिबद्ध होकर वे कोविड-19 की इस विषम परिस्थितियों में समर्पित भाव से अपनी सेवाएं दे रही हैं। जगदलपुर नगर निगम अंतर्गत 48 वार्डों में 663 स्वच्छता कर्मियों द्वारा जगदलपुर शहर की साफ-सफाई का कार्य किया जा रहा है।
जहाँ कोरोना के प्रकरण सामने आते हैं, वहाँ सबसे अधिक भय का वातावरण निर्मित होता है, वहां भी निगम का स्वच्छता दल ही क्षेत्र की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए सेनेटाइज करने का कार्य किया जा रहा है। सेनेटाईजर के लिए समर्पित एक दल कार्यालयों तथा होम आईसोलेशन में रह रहे मरीजों के घरों को सेनेटाईज करने का कार्य कर रही है। इसके अलावा 48 वार्ड में दवाई छिड़काव मशीन (नीला बक्सा) भी प्रदाय किया गया है। आॅफिस कोरोना के बढ़ते प्रकरण को देखते हुए शहर के जागरूक पार्षद द्वारा भी मोहल्लों में सेनेटाईज करने के लिए स्वयं निगम के स्वच्छता कर्मियों की सेवाएं ले रहे हैं।
इसके साथ ही निगम के अमले द्वारा कोरोना संक्रमित व्यक्ति के शव का अंतिम क्रियाकर्म भी परम्पराओं के अनुसार पूरे सम्मान के साथ कर समाज को महत्वपूर्ण योगदान दिया जा रहा है। कोरोना वायरस ने ऐसी परिस्थिति निर्मित कर दी है कि कोरोना मरीज की यदि मृत्यु हो गई तो उसे प्रोटोकॉल के आधार पर ही अंतिम संस्कार किया जा रहा है। इस कार्य के लिए निगम के कर्मचारियों का सहयोग स्वास्थ्य विभाग, राजस्व- पुलिस विभाग और जिला रेडक्रास सोसायटी के द्वारा किया जा रहा है। कई बार परिवार के सदस्य उपस्थित नहीं होने की दशा में निगम के कर्मचारी के द्वारा ही मुखाग्नि दी जा रही है।
निगम जगदलपुर द्वारा इस लॉकडाऊन अवधि में शहर के नागरिकों को रोजमर्रा की आवश्यक सामग्रियों की आवश्यकता की पूर्ति के लिए राशन, किराना,फल, दवाई दुकानों से संपर्क कर उन व्यापारियों का संपर्क नम्बर वार्डवार साझा किया गया है ताकि लोंग जरूरत के सामानों के लिए शहर में इधर-उधर भटकना नहीं पड़े और लॉकडाऊन के नियम का उल्लंघन नहीं हो। साथ ही कालाबाजारी और मुनाफाखोरी रोकने के लिए भी सम्पर्क नम्बर जारी किया गया है। मुनाफाखोरी को नियंत्रण हेतु निगम द्वारा हरी सब्जी और फलों की दर प्रतिदिन निर्धारित किया गया है।इसका प्रचार- प्रसार के लिए सोशल मीडिया का उपयोग किया जा रहा है।
कोरोना की इस विकराल परिस्थिति से भविष्य को सुरक्षित रखने के लिए कोरोना टीकाकरण में भी महत्वपूर्ण योगदान दिया जा रहा है। इसके लिए नगर निगम के वार्ड स्तरीय कोरोना दल के द्वारा घर-घर जाकर कोरोना टीका का सर्वे कर जानकारी इकट्ठा किया जा रहा है कि हेल्थ केयर वर्कर, फ्रंट लाईन वर्कर और 45 वर्ष पूर्ण कर चूके कितने लोगों ने अब तक कोरोना टीका लगाया है। जो लोग कोरोना टीका लगाने के लिये पात्र हैं लेकिन अभी तक टीका नहीं लगाये हैं उन्हे तत्काल टीका लगाने हेतु प्रेरित किया जा रहा है।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल वीडियो कॉन्फ्रेंस से बिलासपुर, सरगुजा और बस्तर संभाग के नगर पालिका अध्यक्षों और मुख्य नगर............

 bbn 24 न्यूज़ 

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल वीडियो कॉन्फ्रेंस से बिलासपुर, सरगुजा और बस्तर संभाग के नगर पालिका अध्यक्षों और मुख्य नगर पालिका अधिकारियों से वहां कोरोना संक्रमण की स्थिति, नियंत्रण के उपायों और टीकाकरण की प्रगति की समीक्षा कर रहे हैं।नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया, मुख्य सचिव श्री अमिताभ जैन, मुख्यमंत्री के अपर मुख्य सचिव श्री सुब्रत साहू, सचिव श्री सिद्धार्थ कोमल परदेशी और नगरीय प्रशासन विभाग की सचिव श्रीमती अलरमेलमंगई डी. भी वीडियो कॉन्फ्रेंस में शामिल हैं।

राजधानी के इस अस्पताल की दूसरी मंजिल से कूदे कोरोना मरीज की इलाज के दौरान मौत

रायपुर| छत्तीसगढ़ में कोरोना कहर जारी हैं, इसी बीच आज रायपुर के सरोना स्थित संकल्प हॉस्पिटल में एक कोरोना के मरीज ने खुदकुशी की कोशिश की। मिली जानकारी के मुताबिक कोरोना मरीज ने अस्पताल के दूसरे फ्लोर से नीचे कूद गया जिससे उसके सिर पर गंभीर चोट आई है जिसके बाद उसे इमरजेंसी वार्ड में शिफ्ट कर ईलाज किया जा रहा इसी दौरान उसकी मौत हो गई|

बड़ी खबर: रायपुर जशपुर में 5 मई तक बढ़ाई लॉक डाउन

रायपुर- राजधानी रायपुर के बाद जशपुर जिले मे भी लॉकडाउन को 5 मई सुबह 6 बजे तक बढ़ा दिया गया है।कलेक्टर महादेव कांवरे ने इस बाबत 29 बिन्दुओ का आदेश जारी कर दिया है।मिली जानकारी अनुसार इस अवधि मे जिले की सभी सीमा सील रहेंगी।किराना दुकान मे खाद्य सामग्री परिवहन के माध्यम से अनलोडिंग का काम रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक करने की अनुमति रहेगी।

मुख्यमंत्री ने सभी जिला पंचायत अध्यक्षों से कोरोना संक्रमण के नियंत्रण एवं बचाव के उपायों के संबंध में की चर्चा

रायपुर - मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज यहां अपने निवास कार्यालय में आयोजित वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग के माध्यम से सभी जिला पंचायत अध्यक्षों से राज्य के ग्रामीण इलाकों में कोरोना संक्रमण की स्थिति, इसके नियंत्रण एवं बचाव के उपायों केे बारे में विस्तार से चर्चा की और उनसे सुझाव मांगे। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने कहा कि कोरोना संक्रमण की पिछली लड़ाई हमने राज्य में सभी लोगों की भागीदारी से जीती थी। वर्तमान लड़ाई भी हम सावधानी और सभी लोगों के सहयोग से जीतेंगे। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण का वर्तमान दौर ज्यादा घातक है, हमें बेहद सावधानी बरतने की जरूरत है। उन्होंने ग्रामीण क्षेत्रों में कोविड के प्रारंभिक लक्षण वाले लोगों को स्वास्थ्य विभाग द्वारा अनुशंसित दवाओं का सेवन तत्काल शुरू कराए जाने की बात कही, ताकि कोरोना संक्रमण को गंभीर होने से रोका जा सके। मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा राज्य के ग्रामीण अंचलों में भी कोरोना की दवाओं की आपूर्ति शुरू कर दी गई है। स्वास्थ्य विभाग के मैदानी अमले एवं मितानिनों के माध्यम से लक्षण वाले मरीजों को पर्ची और दवाएं (कोविड किट) उपलब्ध कराई जा रही है। जिसका सेवन संबंधित लोग पर्ची में लिखी मात्रा के अनुसार कर सकेंगे। बैठक में गृह मंत्री श्री ताम्रध्वज साहू, पंचायत एवं ग्रामीण विकास तथा स्वास्थ्य मंत्री श्री टी.एस. सिंहदेव, मुख्य सचिव श्री अमिताभ जैन, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य श्रीमती रेणु जी. पिल्ले, पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के सचिव श्री प्रसन्ना आर., मुख्यमंत्री के सचिव श्री सिद्धार्थ कोमल सिंह परदेशी, संचालक पंचायत श्री मोहम्मद कैसर अब्दुल हक उपस्थित थे। जिला पंचायतों के अध्यक्ष एवं कलेक्टर, मुख्य कार्यपालन अधिकारी सहित अन्य जनप्रतिनिधि वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बैठक में शामिल हुए। मुख्यमंत्री ने बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि जैसे ही किसी व्यक्ति को सर्दी, खांसी, बुखार और कोरोना संक्रमण का लक्षण मालूम पड़े उसे कोरोना जांच की रिपोर्ट का इंतजार किए बिना प्रारंभिक तौर पर तयशुदा दवाएं लेनी शुरू कर देनी चाहिए। उन्होंने जिला पंचायत अध्यक्षों एवं ग्रामीण जनप्रतिनिधियों से इस संबंध में लोगों को जागरूक करने और समझाईश देने की भी अपील की। मुख्यमंत्री ने इस दौरान एक-एक कर सभी जिला पंचायत अध्यक्षों से उनके जिले में कोरोना संक्रमण की स्थिति, अन्य राज्यों से आने वाले श्रमिकों एवं लोगों के स्वास्थ्य की जांच-पड़ताल, क्वारेंटीन सेंटर की व्यवस्था, रोजगार मूलक कार्याें के संचालन सहित अन्य मामलों की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि संकट की इस घड़ी में प्रदेश सरकार आप सबके साथ है। हम सब मिलकर कोरोना की रोकथाम की लड़ाई लड़ेगे और जीतेंगे।

बड़ी खबर : 27 से 30 अप्रैल के बीच होने वाली JEE Mains परीक्षा स्थगित

नई दिल्ली -केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने बताया कि 27 से 30 अप्रैल के बीच होने वाली इंजीनियरिंग की प्रवेश परीक्षा जेईई-मेन्स को कोविड-19 के बढ़ते मामलों के मद्देनजर स्थगित कर दिया गया है। निशंक ने ट्वीट किया, ‘कोविड-19 संबंधी मौजूदा हालात के मद्देनजर, मैंने राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी (NTA) के महानिदेशक को जेईई (मेन्स)- अप्रैल सत्र स्थगित करने की सलाह दी है।‘ उन्होंने कहा कि मैं यह दोहराना चाहता हूं कि हमारे छात्रों की सुरक्षा और उनका अकादमिक करियर बचाना मेरी और शिक्षा मंत्रालय की प्राथमिकता है। एनटीए के आधिकारिक आदेश में कहा गया है कि कोविड-19 संबंधी मौजूदा हालात और परीक्षार्थियों एवं परीक्षा संबंधी पदाधिकारियों की सुरक्षा एवं कुशलता को ध्यान में रखते हुए जेईई-(मेन्स) अप्रैल सत्र को स्थगित करने का फैसला किया गया है। आदेश में कहा गया, ‘संशोधित तारीखों की घोषणा बाद में और परीक्षा से कम से कम 15 दिन पहले की जाएगी।‘ गौरतलब है कि इस वर्ष से छात्रों की सुविधा के लिए यह प्रवेश परीक्षा साल में चार बार आयोजित की जायेगी और छात्रों को अपना स्कोर बेहतर करने का एक मौका मिल सकेगा। इसके तहत पहला सत्र फरवरी में आयोजित किया गया था और मार्च में दूसरा सत्र । अगला सत्र अप्रैल एवं मई में आयोजित होना था। पहले सत्र में 6.2 लाख उम्मीदवार उपस्थित हुए थे जबकि परीक्षा के दूसरे सत्र मे 5.5 लाख छात्र बैठे थे। इस सप्ताह में सीबीएसई ने 10वीं कक्षा की बोर्ड परीक्षा को रद्द कर दिया था जबकि 12वीं कक्षा की परीक्षा को स्थगित कर दिया था। इसी प्रकार से सीआईएससीई बोर्ड एवं कई राज्यों के बोर्ड ने या तो परीक्षा रद्द कर दी या स्थगित कर दिया। गौरतलब है कि स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के रविवार के आंकड़ों के अनुसार, भारत में कोविड-19 संक्रमण के एक दिन में 2,61,500 मामले दर्ज किए गए । देश में सक्रिय मामलों की संख्सर 18 लाख को पार कर गई है।

होम आइसोलेशन वाले मरीजों को स्वास्थ्य विभाग की सलाह


मुंगेली 19 अप्रैल 2021 bbn24news.com

स्वास्थ्य विभाग द्वारा होम आइसोलेशन में रहने वाले मरीजो को सलाह दी गई है और उनके द्वारा कोरोना पीड़ित मरीजों को जरूरी दवाइयों की किट उपलब्ध कराई जा रही है। किट में दवा कैसे लेनी है, इसकी जानकारी से युक्त पर्ची भी सलंग्न होती है। सामान्य तौर से पांच दिन की दवाइयों का कोर्स है। लेकिन विटामिन सी, जिंक टेबलेट और केल्सियम की गोली को आगे 10-15 दिन तक सेवन अच्छा माना गया है। बुखार आने पर मरीज को पैरासिटामाल की गोली लिया जाना है। सर्दी होने पर सिट्रीजन गोली लेना है। यदि किसी को दस्त की समस्या हो तो दूरभाष से सम्पर्क कर चिकित्सक की सलाह लें। ओआरएस एवं इलेक्ट्रॉल युक्त जल का सेवन बार-बार किया जाना चाहिए। खाने-पीने में कोई कमी नहीं रखनी चाहिए। प्रोटीन युक्त भोजन ज्यादा उचित होगा। इससे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ेगी। कुछ दिन शरीर में कमजोरी रह सकती है, जो कि धीरे-धीरे ठीक हो जाती है। शरीर का तापमान और ऑक्सीजन लेवल सुबह-शाम लेते रहना चाहिए। किसी भी प्रकार की असहज स्थिति उपजने पर जिला स्तर पर स्थापित नियन्त्रण कक्ष (9589427852) से संपर्क कर उचित सलाह ले सकते हैं।