बड़ी खबर

विकास यात्रा मुख्यमंत्री ने मस्तूरी में किया 217 करोड़ के 64 कार्यों का लोकार्पण-भूमिपूजन :

 जांजगीर चापा-  मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने प्रदेशव्यापी विकास यात्रा के दौरान  आज बिलासपुर जिले के मस्तूरी में आयोजित आम सभा को संबोधित किया। उन्होंने इस अवसर पर क्षेत्र के विकास के लिए लगभग 217 करोड़ 61 लाख रूपए की लागत के 64 कार्यों का लोकार्पण एवं भूमिपूजन किया। इनमें से लगभग 152.56 करोड़ के पूर्ण हुए 38 कार्यों का लोकार्पण और लगभग 65 करोड़ रुपए की लागत के स्वीकृत 26 नए कार्यों का भूमिपूजन हुआ। मुख्यमंत्री आम सभा में 21 हजार से अधिक हितग्राहियों को विभिन्न योजना के तहत सामग्री और सहायता राशि के चेक, 16 हजार 829 परिवारों को आबादी पट्टा, 13 हजार 340 किसानों को 17 करोड़ 92 लाख का धान बोनस और सूखा राहत के अंतर्गत 13 हजार 193 किसानों को 12 करोड़ 12 लाख रुपए की राशि वितरित की।  
मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि छत्तीसगढ़ इंटरनेट के माध्यम से एक नये युग में प्रवेश करने जा रहा है। भारत नेट के माध्यम से प्रदेश की दस हजार ग्राम पंचायतों को इंटरनेट के माध्यम से जोड़ने के लिए 6 हजार किलोमीटर केबल बिछाई जा रही है। राज्य में स्काई योजना के तहत माता-बहनों, किसानों और कॉलेज के विद्यार्थियों को 50 लाख स्मार्ट फोन भी वितरित करने जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि स्मार्ट फोन में शासकीय योजनाओं की जानकारी के लिए एप्लीकेशन होगा। इससे योजनाओं की जानकारी के अलावा किसानों को मंडी का रेट और मौसम की जानकारी भी मिलेगी। डॉ. सिंह आज प्रदेश व्यापी विकास यात्रा के दौरान मस्तूरी में आयोजित आम सभा को सम्बोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने आम सभा स्थल पर स्टेडियम निर्माण की घोषणा की। 
    मुख्यमंत्री ने आम सभा में क्षेत्र के विकास के लिए लगभग 217 करोड़ 61 लाख रूपए की लागत के 64 कार्यों का लोकार्पण एवं भूमिपूजन किया। इनमें से लगभग 152.56 करोड़ के पूर्ण हुए 38 कार्यों का लोकार्पण और लगभग 65 करोड़ रुपए की लागत के स्वीकृत 26 नए कार्यों का भूमिपूजन हुआ। मुख्यमंत्री आम सभा में 21 हजार से अधिक हितग्राहियों को विभिन्न योजना के तहत सामग्री और सहायता राशि के चेक, 16 हजार 829 परिवारों को आबादी पट्टा, 13 हजार 340 किसानों को 17 करोड़ 92 लाख का धान बोनस और सूखा राहत के अंतर्गत 13 हजार 193 किसानों को 12 करोड़ 12 लाख रुपए की राशि वितरित की।  
       मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार की प्राथमिकता में गांव गरीब और किसान शामिल हैं। सरकार द्वारा सभी वर्गों की बेहतरी के लिए योजनाओं के माध्यम से लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। माता-बहनों और बुजुर्गों के लिए चलाई जा रही योजनाओं का उल्लेख विस्तार से उल्लेख किया। उन्होंने कहा कि श्रमवीरों के चेहरे में खुशी लाने के लिए पंडित दीनदयाल अन्न सहायता योजना में पांच रूपए में भोजन उपलब्ध कराया जा रहा है। इसके अलावा उनके लिए सायकल सिलाई मशीन, औजार किट और इन परिवारों की कन्या विवाह,  विद्यार्थियों के लिए की शिक्षा के लिए छात्रवृत्ति सहित अनेक योजनाओं का संचालन किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि गरीब परिवारों के घर का अंधेरा दूर करने के लिए प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना (सौभाग्य ) में आगामी चार माह में हर घर में बिजली कनेक्शन मिल जाएगा।
       मुख्यमंत्री ने कहा विकास यात्रा में किसानों को 17 सौ करोड़ रूपए का धान का बोनस, सूखा राहत ,तेन्दूपत्ता बोनस, आबादी पट्टों का वितरण किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि किसानों को किसानों को सिंचाई सुविधा के लिए एकल सिंचाई पम्प में एक साल में साढे सात हजार युनिट बिजली निःशुल्क दी जा रही है, इससे  ज्यादा विद्युत खपत करने पर अब किसानों को फ्लेट रेट में भुगतान की सुविधा दी जा रही है। इसके साथ ही एक से अधिक पम्प होने पर या 5 हार्स पावर के अधिक पम्प होने पर भी फ्लेट रेट में भुगतान की सुविधा दी जा रही है। किसानों के पम्प कनेक्शन के लिए एक लाख रूपए के अनुदान को फिर से शुरू किया गया है। मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के द्वारा शुरू किए गए आयुषमान भारत योजना की जानकारी देते हुए कहा कि गरीब परिवारों को अब कैंसर, हार्ट और किडनी की गंभीर बीमारी होने पर चिंता करने की जरूरत नहीं है, इस योजना में  5 लाख रूपए की इलाज की सुविधा मिलेगी। छत्तीसगढ़ के 37 लाख गरीब परिवारों को इस योजना का फायदा मिलेगा।
    आम सभा में विधानसभा अघ्यक्ष  गौरी शंकर अग्रवाल, विधानसभा उपाध्यक्ष  बद्रीधर दीवान, पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री अजय चंद्राकर, नगरीय प्रशासन मंत्री  अमर अग्रवाल, लोकसभा सांसद   लखन लाल साहू, महिला आयोग की अध्यक्ष हर्षिता पाण्डेय, छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मंडल के अध्यक्ष  भूपेन्द्र सिंह सवन्नी, पूर्व विधानसभा अध्यक्ष धरमलाल कौशिक, जिला पंचायत बिलासपुर के अध्यक्ष  दीपक साहू, नगरनिगम बिलासपुर के महापौर  किशोर राय सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे। 

मुख्यमंत्री ने सिमगा में किया 154 करोड़ के 31 निर्माण कार्यों का लोकार्पण -भूमि पूजन : भाटापारा क्षेत्र के 15 हजार से अधिक किसानों को 21.26 करोड़ रूपए का धान बोनस

 बलोदा बाजार भाटापारा  मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज प्रदेश व्यापी विकास यात्रा के दौरान बलौदाबाजार-भाटापारा जिले के सिमगा में आयोजित आमसभा में लगभग 154 करोड़ 54 लाख रूपए की लागत के 31 निर्माण कार्यो का लोकार्पण-भूमिपूजन किया। उन्होंने इनमें से 17 करोड़ 83 लाख़ रूपए की राशि से पूर्ण हो चुके 16 निर्माण कार्यों का लाकार्पण और 136 करोड़ 71 लाख रूपए की लागत के 15 नए निर्माण कार्यों का शिलान्यास एवं भूमिपूजन किया। मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम में 55 करोड 42 लाख रूपए की लागत से बनने वाली भाटापारा बायपास सड़क, 32 करोड़ रूपए की लागत से भाटापारा-चंदखुरी मार्ग का चौड़ीकरण एवं सुदृढीकरण कार्य और 11 करोड़ 60 लाख रूपए की लागत की केसला सौर सूक्ष्म सिंचाई योजना का भूमिपूजन और शिलान्यास किया। उन्होंने आम सभा में विभिन्न योजनाओं में 29 हजार 164 हितग्राहियों को लगभग 54 करोड रूपए की सामग्री और सहायता राशि का वितरण किया। उन्होंने 15 हजार 576 किसानों को 21 करोड़ 26 लाख रूपए का धान बोनस, प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के तहत 2392 परिवारों को मकान स्वीकृति पत्र और प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के तहत 150 महिलाओं को रसोई गैस कनेक्शन का भी वितरण किया। विधानसभा अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल, लोकसभा सांसद  रमेश बैस, विधायक और छत्तीसगढ़ अनुसूचित जाति विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष डॉ. सनम जांगडे़ और विधायक  शिवरतन शर्मा भी उपस्थित थे। 
              मुख्यमंत्री ने जिन निर्माण कार्यों का लोकार्पण किया, उनमें मुख्य रूप से 4 करोड़ 86 लाख रूपए की लागत से पूर्ण हुआ तरेंगा व्यपवर्तन का जीर्णोद्धार एवं नहर लाइनिंग कार्य, 3 करोड़ 25 लाख रूपए की लागत से निर्मित कोलिहा-मांढर सड़क, 2 करोड़ 65 लाख रूपए की लागत से रामपुर एनीकट का सुधार कार्य, 2 करोड 56 लाख रूपए की लागत से कोदवा, मोपर, दतरेंगी, चौरेंगा एवं रोहरा में नव-निर्मित मिनी स्टेडियम शामिल हैं। डॉ. सिंह ने इसके अलावा एक करोड़ 16 लाख रूपए की लागत से नगर पालिका भाटापारा में बने शापिंग काम्पलेक्स, बिटकुली जांगड़ा मार्ग पर जमुनईया नाला में 2 करोड 50 लाख रूपए की लागत से निर्मित पुल निर्माण, भाटापारा विधानसभा क्षेत्र में 16 लाख की लागत से निर्मित 10 स्मार्ट आंगनबाड़ी भवन, लगभग 19 लाख रूपए की लागत से रवान में पशु औषधालय भवन और मोपका में 19.39 लाख की लागत से बने अटल समरसता भवन का लोकार्पण भी किया।  
       मुख्यममंत्री ने जिन निर्माण कार्यों का शिलान्यास किया, उनमें एक करोड़ 83  लाख रूपए की लागत से सिमगा उद्वहन सिंचाई योजना का जीर्णोद्धार कार्य, 94.56 लाख की लागत से चौरेंगा से मनोहरा के बीच पुल निर्माण, एक करोड़ 47 लाख की लागत से चक्रवाय और चौरंेगा में बनने वाले हाई स्कूल भवन, मुख्यमंत्री ग्राम सड़क योजना में 5 करोड़ 49 लाख रूपए की लागत से राजाढार से गुर्रा और खैरघाट से धोबनी तक निर्मित सड़क, नगरपालिका भाटापारा में 25 करोड़ की लागत से सड़क नाली, पाइपलाइन विस्तार और बनने वाले शापिंग काम्पलेक्स, एक करोड़ 40 लाख रूपए की लागत से निपनिया और बिटकुली में बनने वाले प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र भवनों का किया।

विकास यात्रा मुख्यमंत्री लवन में करेंगे 199 करोड़ के निर्माण कार्यों का भूमिपूजन-शिलान्यास

बलोदा बाजार भाटापारा प्रदेश व्यापी विकास यात्रा के दौरान मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह 30 मई को लवन में आयोजित आमसभा में 199 करोड़ रूपए की लागत से 86 कार्यों का लोकार्पण और भूमिपूजन करेंगे। इनमें वे 94.39 करोड़ रूपए की लागत से पूर्ण हो चुके 27 निर्माण कार्यों का लोकार्पण एवं 105 करोड़ रूपए की लागत से 59 नए कार्यों का शिलान्यास करेंगे। वे इस मौके पर विभिन्न योजनाओं में 37 हजार 666 हितग्राहियों को 61 करोड़ रूपएकी सामग्री एवं सहायता राशि का वितरण करेंगे। मुख्यमंत्री आमसभा में कसडोल विधानसभा क्षेत्र के साढ़े 23 हजार किसानों को 32 करोड़ 53 लाख रूपए का धान बोनस, प्रधानमंत्री आवास योजना में 2 हजार परिवारों को आवास स्वीकृति पत्र देंगे।

       मुख्यमंत्री डॉ. सिंह जिन निर्माण कार्यों का लोकार्पण करेंगे, उनमें मुख्य रूप से 16 करोड़ 60.लाख रूपए की लागत से ताराशिव एनीकट, 26 करोड़ की लागत से बलार जलाशय के नहरों का जीर्णोंद्धार एवं नहर लाइनिंग, 11 करोड 90 लाख रूपए की लागत से लुटुडीह परसवानी मार्ग पर खोरसी नाला, सिरपुर बल्दाकछार कसडोल मार्ग पर कोसमसरा नाला और रोहांसी ओड़ान दतरंेगी मार्ग पर टंगना नाला और बायपास मार्ग पर खोरसी नाला पर पुल निर्माण, 76.58 लाख रूपए की लागत से गबौद और परसवानी में नलजल योजना का लोकार्पण करेंगे। इसके अलावा मुख्यमंत्री 7 करोड 25.लाख रूपए की लागत से निर्मित अमेरा-पुरेना-खपरी मार्ग, 3 करोड 38 लाख रूपए की लागत से बलौदा बाजार में लाईवलीहुड कॉलेज भवन, 21 करोड़ 82 लाख रूपए की लागत से दतान-पुरैना खपरी-कोसमंदी मार्ग, 73.73 लाख रूपए की लागत से सर्वा में हाई स्कूल भवन, 95.35 लाख रूपए की लागत से कटगी में उच्चतर माध्यमिक शाला भवन और नगर पालिका परिषद बलौदा बाजार में 2 करोड़ 82 लाख रूपए के 28 कार्यों जिनमें रामसागर तालाब सौंदर्यीकरण, रैन बसेरा आदि का लोकार्पण करेंगे।

        मुख्यमंत्री जिन नए कार्यों का शिलान्यास करेंगे उनमें 47 करोड़ 66 लाख रूपए की लागत से 9 सड़क निर्माण इनमें बोईरडीह-ओड़ान मार्ग, जारा से कुम्हारी मार्ग, पलारी-रसौट-कोसमंदी मार्ग, खर्वे से चक्रवाय, देवरीकला से देवरीखुर्द, दर्रा-गोरधा-कोट, कसडोल-चिपचोल, गैतरा से तेलासी, बेल्हा -परसाडीह, घुलघुल -तिल्दा मार्ग निर्माण शामिल है। इसके अलावा 7 करोड़ 71 लाख रूपए की लागत से 15 गांवों में पेयजल आवर्धन योजना और नलजल योजनाओं का शिलान्यास करेंगे। मुख्यमंत्री आम सभा में 14 करोड़ 86 लाख रूपए की लागत से खटियापाटी-सुढेला-मिश्राइनडीह मार्ग में खोरसी नाला, सिरपुर-कसडोल-बल्दाकछार मार्ग पर भोथाही नाला और रोहांसी-खैरा-अमेठी मार्ग पर खैरा नाला में पुल निर्माण, मुख्यमंत्री ग्राम सड़क योजना में 6 करोड़ 61 लाख की लागत से तीन गांवों के लिए सड़क, नगर पंचायत लवन में 4 करोड की लागत से गौरवपथ एवं सीसी रोड निर्माण, 5 करोड 87 लाख की लागत से 8 स्थानों में हाई स्कूल भवन, बलौदाबाजार में 5 करोड़ 31 लाख रूपए की लागत से तहसील कार्यालय भवन और 50 सीटर प्री-मेट्रिक कन्या छात्रावास भवन, पं. दीनदयाल सर्व समाज मांगलिक भवन, सीमेंट कांक्रीटीकरण सड़क, नाली निर्माण एवं बी.टी. कार्य का शिलान्यास करेंगे।

यह विकास यात्रा है विश्वास की यात्रा है और लोगों से मिले आशिर्वाद की वजह से ये मुझे तीर्थ यात्रा प्रतीत होता है- मुख्य मंत्री.....कांग्रेस पर किया पलटवार कांग्रेस की तुलना रावण से की

हुमेश जायसवाल

जांजगीर चाम्पा:-प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह आज जांजगीर-चांपा जिला के प्रवास पर रहे इस दौरान उन्होंने जैजैपुर विधान सभा क्षेत्र के  विकासखण्ड मुख्यालय बम्हनीडीह मे सभा को संबोधित किया। इस अवसर पर मुख्य मंत्री के साथ जिले के प्रभारी मंत्री अजय  क्षेत्रीय सांसद कमला देवी पाटले, पूर्व विधान सभा उपाध्यक्ष नारायण चंदेल, और विधायकों सहित हजारों की तादात मे जनप्रतिनिधि, कार्यकर्ता और आम जनता मौजूद रहे। इस दरौरान मुख्य मंत्री ने जिले वासियों के करोड़ो के सौगातों कर झड़ी लगा दी मुख्य मंत्री ने बम्हनीडीह के मंच से 302 करोड़ रूपये के विभिन्न विकास कार्यो का लोकार्पण और भूमिपूजन किया। जिसमे 132 करोड़ 51 लाख रूपये की लागत से निर्मित विभिन्न 10 विकास कार्यो लोकार्पण जिनमें प्रमुख रूप से 122 करोड़ रूपये के शिवरीनारायण-बिर्रा-चांपा मार्ग, 1 करोड़ 10 लाख रूपये की लागत से बनाये गये खैरझिटी के 33 बाई 11 केव्ही विद्युत उपकेन्द्र सहित अन्य कार्य शामिल हैं। वहीं कार्यक्रम में मुख्यमंत्री द्वारा 169 करोड़ 51 लाख रूपये के 17 विकास कार्य जिनमें प्रमुख रूप से 95 करोड़ की लागत के 32 किलोमीटर की सक्ती से टुण्ड्री मार्ग, 54 करोड़ रूपये की लागत केे 18 किलोमीटर छोटे सीपत-फरसवानी मार्ग एवं हसौद में 2 करोड़ 72 लाख रूपये से बनने वाले 100 सीटर बालक छात्रावास, गुचकुलिया में 01 करोड़ 62 लाख रूपये के अनुसूचित जनजाति बालक आश्रम तथा ओड़ेकेरा में 1 करोड़ 52 लाख रूपये से निर्मित होने वाले बालक छात्रावास आधारशिला मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने रखी। इस अवसर पर मुख्यमंत्री द्वारा 30 हजार 330 किसानों को 46 करोड़ 89 लाख रूपये के धान बोनस वितरण किया गया 10 हजार 369 लोगों को आबादी पट्टा वितरित किया तो वहीं श्रम विभाग के विभिन्न योजनाओ के तहत 2600 श्रमिकों को सायकल एवं 03 हजार 50 श्रमिकों को सुरक्षा उपकरण तथा 25 दिव्यांगजनों को मोटराईज्ड ट्राई सायकल का वितरण भी किया गया। इस अवसर पर मुख्य मंत्री ने हजारों की तादात मे मौजूद जनसमूह को संबोधित करते हुए कहा कि 44 डिग्री के तापमान मे इतनी बड़ी तादात मे मौजूद आपकी उपस्थिति इस बात को साबित करती है कि भाजपा की जीत को काई रोक नही सकता। मुख्य मंत्री ने विकस खोलने निकले प्रदेश के कांग्रेसियो ंमे पर कटक्ष करते हुए कहा कि अब कोंग्रेस पार्टी को खोजने की नौबत पैदा हो चुकी है। उन्होंने कहा कि पूरे  छत्तीसगढ़ मे भाजपा सरकार के द्वारा बनवाई गई चमचमाती सड़कों पर चलकर कांग्रेेस विकास खोज रही है यह अचरज का विषय है। उन्होंने कांग्रेस की तुलना रावध से करते हुए कहा कि धर्म युद्ध मे जीत हमेशा श्री राम की होती है रावण की नही। उन्होंने ने कहा कि यह विकास यात्रा है यह विश्वास की यात्रा है और जब जनता का आशिवार्द मिलता है तो मुझे यह यात्रा तीर्थ यात्रा प्रतीत होता है। उन्होंने कहा कि कांग्रेसी बोनस बोनास चिल्लाते हैं और आज जब धान का बोनस का वितरण हो रहा है तो अस सब बाद मे निकालोगे सबसे पहले कांग्रेस जाकर सुबह से बोनस की लाईन मे लगेंगे। बम्हनीडीह से दहिदा तक हसदेव नदी पर पुलिस बनाने की स्वीकृति मौके से दी वहीं एक स्टेडियम भी स्वीकृत किय जो कि डीएमएफ की राशि से बनाया जाएगा।   

विकास यात्रा के दौरान मुख्यमंत्री 27 और 28 मई को कबीरधाम, बलौदाबाजार, महासमुंद और रायगढ़ सहित पांच जिलों का करेंगे दौरा

रायपुर, मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह आज से  27 और 28 मई को प्रदेशव्यापी विकास यात्रा के दो दिवसीय दौरे पर रहेंगे। डॉ. सिंह इस दौरान कबीरधाम, बलौदाबाजार-भाटापारा, महासमुंद, जांजगीर-चांपा और रायगढ सहित पांच जिलों का दौरा करेंगे।
डॉ. सिंह निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार  आज  27 मई को रायपुर से सवेरे 11 बजे हेलीकॉप्टर द्वारा रवाना होकर पूर्वान्ह 11.30 बजे कबीरधाम जिले के पंडरिया और 1.30 बजे बलौदाबाजार-भाटापारा जिले के ग्राम भटगांव में आम सभा को सम्बोधित करेंगे। मुख्यमंत्री अपरान्ह 4.35 बजे बलौदाबाजार-भाटापारा जिले के ग्राम सरसींवा, 5.20 बजे महासमुंद जिले के ग्राम लंबर और 5.55 बजे सागरपाली में आयोजित स्वागत सभाओं में शामिल होंगे। वे शाम 6.45 बजे सराईपाली में आमसभा को सम्बोधित करेंगे। डॉ. सिंह रात्रि विश्राम सराईपाली में करेंगे।

      मुख्यमंत्री अगले दिन 28 मई को सराईपाली में सवेरे 9.30 बजे प्रेस कॅान्फ्रेंस के बाद हेलीकॉप्टर द्वारा रवाना होकर पूर्वान्ह 11.30 बजे जांजगीर-चांपा जिले के बम्हनीडीह़ और 1.30 बजे रायगढ़ जिले के ग्राम छाल में आम सभा को सम्बोधित करेंगे। मुख्यमंत्री अपरान्ह 3.50 बजे घरघोड़ा, 4.40 बजे बंजारी मंदिर और 5.25 गेरवानी में आयोजित स्वागत सभाओं में शामिल होंगे। मुख्यमंत्री शाम 6.20 बजे रायगढ़ पहुंचकर रोड शो में शामिल होंगे इसके बाद आम सभा को सम्बोधित करेंगे। डॉ. सिंह रायगढ़ में रात्रि विश्राम करेंगे।

मुख्यमंत्री ने अस्पताल जाकर अजीत जोगी के स्वास्थ्य की जानकारी ली : शीघ्र स्वास्थ्य लाभ के लिए दी शुभकामनाएं

रायपुर, मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज रात राजधानी रायपुर के एक प्राईवेट अस्पताल में जाकर वहां राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी से मुलाकात की । उनकी सेहत का हाल-चाल पूछा और उन्हें जल्द स्वास्थ्य लाभ के लिए शुभकामनाएं दी। डॉ. सिंह ने चिकित्सकों से श्री जोगी के स्वास्थ्य की जानकारी ली और उनसे कहा कि श्री जोगी का बेहतर से बेहतर इलाज किया जाए। इस अवसर पर श्री अजीत जोगी की धर्मपत्नी और विधायक डॉ.  रेणु जोगी और उनके पुत्र तथा विधायक अमित जोगी भी उपस्थित थे।

नया रायपुर स्मार्ट सिटी परियोजना को मिला राष्ट्रीय पुरस्कार : मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह और आवास एवं पर्यावरण मंत्री राजेश मूणत ने दी बधाई

रायपुर छत्तीसगढ़ सरकार की नया रायपुर स्मार्ट सिटी परियोजना  को राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह और आवास एवं पर्यावरण मंत्री   राजेश मूणत ने इस उपलब्धि के लिए नया रायपुर विकास प्राधिकरण को बधाई दी है। 
नया रायपुर स्मार्ट सिटी परियोजना को सर्वश्रेष्ठ स्मार्ट सिटी इनिशिएटिव अवार्ड नई दिल्ली के प्रगति मैदान में आयोजित चौथे स्मार्ट सिटीज इंडिया एक्सपो में दिया गया। परियोजना को यह राष्ट्रीय पुरस्कार नया रायपुर विकास प्राधिकरण के अंतर्गत स्मार्ट सिटी के क्षेत्र में की जा रही अभिनव पहल और कन्ट्रोल एंड कमांड सेंटर के सफल संचालन के लिए दिया गया है। तीन दिवसीय एक्सपो का उद्घाटन कल केन्द्रीय वाणिज्य एवं उद्योग राज्य मंत्री  सी.आर. चौधरी और केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री श्री अश्विनी कुमार चौबे ने किया। 
    नया रायपुर को यह ‘ बेस्ट स्मार्ट सिटी इनिशिएटिव’ अवार्ड अपने अनोखे स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के लिए दिया गया। एनआरडीए द्वारा नया रायपुर को पहले ग्रीन फील्ड इंटीग्रेटेड स्मार्ट शहर के रूप में विकसित किया गया है। यहां इंटीग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर की स्थापना की गयी है, जिसके माध्यम से परिवहन, निगरानी, नागरिकों के आवेदनों का निराकरण, बिजली-पानी प्रबंधन और एकीकृत भवन प्रबंधन किया जाएगा। इन सभी का लाभ सीधे नया रायपुर के रहवासियों को मिल सकेगा। कमांड सेंटर शहर प्रबंधन के लिए सेंट्रल हब है। इस सेंटर के माध्यम से सभी सेवाएं निर्बाध रूप से संचालित की जा सकेगी और कोई भी खराबी होने अथवा शिकायत आने पर त्वरित समाधान सुनिश्चित किया जा सकेगा। यहां के रहवासी बिजली-पानी, सुरक्षा और परिवहन जैसी महत्वपूर्ण सेवाओं से जुड़े आवेदनों अथवा शिकायतों का त्वरित ऑनलाइन निराकरण प्राप्त कर सकेंगे।
     नया रायपुर में स्मार्ट सिटी पहल में कुशल भूमि और शहरी नियोजन, ग्रीन बिल्डिंग और पैदल मार्ग, जलाशयों का संरक्षण एवं संवर्धन, एकीकृत शहरी विकास, बीआरटी प्रोजेक्ट, जीआईएस मैपिंग, एससीएडीए प्रोजेक्ट, परिवहन प्रणाली आदि शामिल हैं। नया रायपुर इससे पहले भी कई पुरस्कार अपने नाम पर कर चुका है जिनमें स्मार्ट लाइटिंग के लिए एशिया स्मार्ट सिटी अवॉर्ड सिंगापुर-2017, नेशनल अवार्ड फार एक्सीलेंस इन स्मार्ट सिटीज एंड स्मार्ट अर्बन डेव्हलपमेंट 2017, आईबीसी अवार्ड फार एक्सीलेंस 2014-15 और न्यू टाउनशिप डेव्हलपमेंट अवार्ड 2014-15 आदि जैसे कई अवार्ड शामिल हैं।

नया रायपुर में बनेगा मंडी बोर्ड का मुख्यालय भवन कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने मंडी बोर्ड द्वारा किए जा रहे निर्माण कार्यो की समीक्षा

रायपुर - छत्तीसगढ़ राज्य कृषि विपणन (मंडी) बोर्ड का नया मुख्यालय भवन नया रायपुर में 41 करोड़ रूपए की लागत से बनेगा। कृषि मंत्री एवं मंडी बोर्ड के अध्यक्ष बृजमोहन अग्रवाल ने मंडी बोर्ड द्वारा किए जा रहे विभिन्न निर्माण कार्यो की समीक्षा बैठक में मुख्यालय के नये भवन के लिए निविदा की कार्रवाई जल्द से जल्द पूरा करने के निर्देश दिए। श्री अग्रवाल ने बैठक में अन्य सभी निर्माण कार्यो में गति लाने के निर्देश दिए। 
  अग्रवाल ने प्रदेश के 37 मंडी और उपमंडी प्रागंणों में बनाए जाने वाले गोदामों की निविदा की कार्रवाई 15 जून तक करने के निर्देश दिए। बैठक में रायपुर में प्रस्तावित किसान भवन एवं कन्वेनशन सेंटर, बिलासपुर, दुर्ग, राजनांदगांव और रायगढ़ में प्रस्तावित कोल्ड स्टोरेज, रायपुर और महासमंुद में प्रस्तावित एग्रीमॉल, राजधानी रायपुर के पंडरी के कृषि उपज मंडी प्रागंण में 25 एकड़ जमीन पर प्रस्तावित मेला ग्राउण्ड, प्रदेश के विभिन्न स्थानों पर निर्माणाधीन 108 हाट बाजार और सड़कों तथा पुल-पुलियों की प्रगति की समीक्षा की। अग्रवाल ने निर्माण कार्यो की धीमी गति पर नाराजगी जाहिर करते हुए अधिकारियों को तत्परता से कार्य करने के लिए निर्देशित किया। 
      बैठक में अधिकारियों ने बताया कि प्रदेश में अलग-अलग 109 स्थानों पर हाट बाजार विकसित करने की स्वीकृति दी गई है। उनमें से 11 पूर्ण हो चुके हैं। 76 हाट बाजारों का निर्माण चल रहा है। कृषि मंत्री श्री अग्रवाल ने हाट बाजारों में पहंुच मार्ग, बिजली, पानी, शौचालय की समुचित व्यवस्था करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि पेयजल के लिए सोलर पंप लगाए जाएं। सोलर प्लेटों भी सुरक्षा की भी समुचित व्यवस्था होनी चाहिए। श्री अग्रवाल ने हाट बाजारों में दूध और फल-फूलों की खरीदी-बिक्री के लिए पांच-पांच दुकानें बनाने के निर्देश दिए। 
      अधिकारियों ने बताया कि छः स्थानों पर किसान उपभोक्ता बाजार बनाए जा रहे हैं। इनमें से धमतरी किसान उपभोक्ता बाजार शुरू हो गया है। नवीन मंडी प्रागंण पंडरी रायपुर, पुराना मंडी प्रागंण रायपुर, बिलासपुर, बरमकेला , उपमंडी चिखली(रायगढ़), बेमेतरा और बसंतपुर राजनांदगांव में किसान उपभोक्ता बाजार का निर्माण चल रहा है। श्री अग्रवाल ने किसान उपभोक्ता  बाजारों मे एटीएम वॉटर कूलर लगाने के निर्देश दिए। इसके अलावा इन बाजारों में छोटा कुलिंग प्लांट लगाने के लिए निर्देशित किए गए। कृषि मंत्री ने प्रदेश की बड़ी मंडियों में जैविक उत्पादों की खरीदी-बिक्री के लिए अलग से फड बनाने की जरूरत पर जोर दिया। उन्होंने पत्थल गांव, सूरजपुर, लुड़ेग और सिलफिली में फल-सब्जी मंडी निर्माण की प्रगति की समीक्षा भी की। 
      बैठक में कृषि विभाग के अपर मुख्य सचिव एवं कृषि उत्पादन आयुक्त श्री सुनील कुजूर, कृषि विभाग के सचिव अनूप श्रीवास्तव, मंडी बोर्ड के प्रबंध संचालक अभिजीत सिंह सहित कृषि विभाग और मंडी बोर्ड के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे

रेरा में रजिस्ट्रेशन के लिए नहीं बढ़ेगी समय-सीमा 31 मई के बाद नहीं होगा रियल एस्टेट की सभी चालू और नई परियोजनाओं का पंजीयन

रायपुर, छत्तीसगढ़ भू-सम्पदा नियामक प्राधिकरण (रेरा) में रियल एस्टेट की सभी चालू और नई परियोजनाओं के रजिस्ट्रेशन के लिए 31 मई, 2018 की समय-सीमा तय की गई है। निर्धारित समय-सीमा में अब और कोई वृद्धि नहीं की जाएगी। छत्तीसगढ़ भू-संपदा विनियामक प्राधिकरण की स्थापना के पूर्व रजिस्टेªशन हेतु आवेदन प्रस्तुत करने के लिए शासन द्वारा नगर तथा ग्राम निवेश कार्यालयों में वैकल्पिक व्यवस्था की गई थी। 
    प्राधिकरण के रजिस्ट्रार अजय अग्रवाल ने आज यहां बताया गया कि अपनी स्थापना के तुरंत बाद फरवरी, 2018 से रजिस्टेªशन की कार्यवाही प्रारंभ कर इस हेतु दिनांक 31 मई, 2018 तक की समयावधि प्रमोटर्स को प्रदान की थी। छत्तीसगढ़ रेरा ने यह स्पष्ट किया है, चूँकि प्रोजेक्ट रजिस्टेªशन हेतु प्रमोटर्स को पर्याप्त समयावधि प्रदान की जा चुकी है, अतः अब इस निर्धारित समय-सीमा में किसी प्रकार की कोई वृद्धि नहीं की जावेगी। निर्धारित समयावधि तक रजिस्टेªशन हेतु आवेदन प्रस्तुत न करने पर प्राधिकरण द्वारा संबंधित प्रमोटर्स पर अधिनियम की धारा 59 के तहत् शास्ति आरोपित की जावेगी। छत्तीसगढ़ शासन ने रेरा के पूर्व नियमों में चालू प्रोजेेक्ट संबंधी दी गई परिभाषा को विलोपित कर नवम्बर, 2017 में संशोधन कर दिया गया है अर्थात् अब की स्थिति में रेरा में वर्णित प्रावधान के अनुसार ऐसे सभी प्रोजेेक्ट्स जिन्हें 01 मई, 2017 के पूर्व सक्षम प्राधिकारी से विधिवत् पूर्णता प्रमाण-पत्र प्राप्त नहीं हुये है, उनका रेरा में रजिस्ट्रेशन अनिवार्य है। रेरा ने परिपत्र के माध्यम से यह भी स्पष्ट कर दिया है कि बंधक मुक्ति संबंधी दस्तावेज को पूर्णता प्रमाण-पत्र नहीं माना जाएगा।   
    प्राधिकरण की ओर से रजिस्ट्रार  अग्रवाल ने यह भी बताया कि विभिन्न परिपत्रों के माध्यम से बिल्डर्स के मध्य व्याप्त तमाम शंकाओं व जिज्ञासाओं का निराकरण करते हुए प्रोजेेक्ट रजिस्टेªशन हेतु मानक संचालन प्र्रक्रिया ;ैव्च्द्ध भी निर्धारित कर दी है। रेरा द्वारा जारी सभी परिपत्र छत्तीसगढ़ रेरा की वेबसाईट पर प्रदर्शित कर दिए गए हैं। प्रमोटर्स के सुविधा के दृष्टिकोण से रजिस्ट्रेशन के समय प्रस्तुत की जाने वाली विभिन्न जानकारियों के प्रारूप भी निर्धारित कर रेरा की वेबसाईट पर उपलब्ध कराये गये हैं। प्रोजेक्ट रजिस्ट्रेशन को सुगम बनाने के उद्देश्य से छत्तीसगढ़ रेरा ने व्यवस्था की है कि यदि प्रमोटर्स को रियल एस्टेट प्रोजेक्ट हेतु पृथक बैंक खाते खोलने में समय लग रहा हो तो वे एनेक्शर-21 में वर्णित प्रारूप में अंडरटेकिंग देकर भी प्रोजेक्ट रजिस्ट्रेशन हेतु आवेदन जमा कर सकते हैं। इसी तरह निवेशकों व प्लॉट डेवलपमेंट प्रोजेक्ट में मकान निर्माण करने वाले प्रमोटर्स के संबंध में भी विस्तृत दिशा-निर्देश वेबसाईट पर उपलब्ध हैं।

पर्यावरण ,प्राकृतिक संसाधन और अधोसंरचना से संबंधित पुंछी आयोग की अनुशंसा पर राज्य सरकार की सहमति

अन्तर्राज्यीय परिषद की स्थायी समिति की बैठक में वाणिज्यिक
कर मंत्री  अमर अग्रवाल ने रखा छत्तीसगढ़ का पक्ष

रायपुर, 25 मई 2018 छत्तीसगढ़ ने केन्द्र और राज्यों के बीच पर्यावरण, प्राकृतिक संसाधन और अधोसंरचना से संबंधित पुंछी आयोग की अनुशंसाओ पर अपनी सहमति प्रदान कर दी हैं। छत्तीसगढ़ ने यह सहमति आज नई दिल्ली के विज्ञान भवन में आयोजित अंतर्राज्य परिषद की स्थायी समिति की बैठक में दी। बैठक की अध्यक्षता केन्द्रीय गृह मंत्री  राजनाथ सिंह ने की। बैठक में केन्द्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गड़करी , वित्त मंत्री पीयूष गोयल , विधि मंत्री   रविशंकर प्रसाद और अन्य केन्द्रीय मंत्री तथा राज्यों के मंत्री उपस्थित थें।
        बैठक में वाणिज्य कर मंत्री   अमर अग्रवाल ने सामाजिक आर्थिक विकास, पब्लिक पॉलिसी और सुशासन तथा इससे जुडे़ अन्य विषयों पर भी छत्तीसगढ़ राज्य की संस्तुति से स्थायी समिति को अवगत कराया। बैठक में पुंछी आयोग की रिपोर्ट के वाल्यूम 6 और 7 में की गयी अनुशंसाओ पर राज्यों का मत लिया गया था। बैठक में मुख्य सचिव  अजय सिंह औरआवासीय आयुक्त   संजय कुमार ओझा भी उपस्थित थे।

जीरम घाटी से शुरू हुई कांग्रेस की संकल्प यात्रा, पुनिया, बघेल, सिंहदेव सहित वरिष्ठ नेता हुए शामिल

 रायपुर  25 मई  को आज ही के दिन जीरम घाटी कांड 5वीं बरसी पर नक्सली हमले में शहीद नेता नंदकुमार पटेल, महेन्द्र कर्मा, उदय मुदलियार एवं शहीद हुये अन्य नेताओं के पुण्यतिथि को कांग्रेस प्रदेश भर में शहादत दिवस के रूप में मनायेगी। 
प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने झीरम कांड के 5वीं बरसी पर  आज 25  मई को झीरम घाटी से अपने संकल्प यात्रा की शुरुआत की। यात्रा की कमान नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव ने संभाली। वे खुद कांग्रेस के छत्तीसगढ़ प्रभारी पीएल पुनिया,  पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल और अन्य नेताओं को वाहन में बैठाकर ड्राइविंग सीट पर बैठे। दूसरी ओर पुलिस प्रशासन ने यात्रा को पर्याप्त सुरक्षा देने की बात कही है।
इस दौरान अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता एवं छत्तीसगढ़ प्रभारी पी.एल. पुनिया, प्रभारी सचिव अरूण उरांव एवं चंदन यादव, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल, कांग्रेस विधायक दल के नेता टी.एस. सिंहदेव, चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष एवं पूर्व केन्द्रीय मंत्री चरणदास महंत, पूर्व नेता प्रतिपक्ष रविन्द्र चौबे, पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष धनेन्द्र साहू, पूर्व मंत्री सत्यनारायण शर्मा, कांग्रेस कार्यकारी अध्यक्ष डॉ. शिवकुमार डहरिया, रामदयाल ऊइके, पूर्व मंत्री मो. अकबर, राज्यसभा सदस्य छाया वर्मा, कांग्रेस विधायक दल के उपनेता कवासी लखमा, पूर्व सांसद, करूणा शुक्ला मां दंतेश्वरी के दर्शन करने के पश्चात शहीद नेता महेन्द्र कर्मा के गांव जाकर उनके मूर्ति का मार्ल्यापर्ण कर श्रद्धांजिल अपित करेंगे। वहां सभी नेतागण जीरम घाटी पहुंचकर, वहां की माटी को नमन कर संकल्प यात्रा शुरू करेंगे एवं चित्रकोट (केसलूर) जगदलपुर में संकल्प शिविर के कार्यक्रम विधानसभा स्तरीय प्रशिक्षण कार्यक्रम में शामिल होंगे। 
प्रदेश के सभी जिला एवं ब्लाक मुख्यालयों में शहादत दिवस का कार्यक्रम आयोजित किया जायेगा, कार्यक्रम में शहीद नेताओं के व्यक्तित्व-कृतित्व एवं प्रदेश के सर्वागीण विकास हेतु दिये गये योगदान पर गोष्ठी एवं परिचर्चा कर प्रकाश डालते हुये सम्मानपूर्वक श्रद्धांजलि अर्पित करेंगे। कार्यक्रम में जिले के स्थानीय प्रदेश पदाधिकारियों, सांसद, पूर्व सांसद प्रत्याशी, विधायक, पूर्व प्रत्याशी, पूर्व विधायकों, एआईसीसी एवं पीसीसी सदस्यों, जिला कांग्रेस कमेटी के पदाधिकारियों, ब्लाक कांग्रेस के अध्यक्ष एवं पदाधिकारियों, मोर्चा संगठन, प्रकोष्ठ, विभाग के जिला एवं ब्लाक पदाधिकारियों, सोशल मीडिया के प्रशिक्षित सदस्यों, नगरीय-निकाय, त्रि-स्तरीय पंचायत के निर्वाचित जनप्रतिनिधियों, सहकारिता क्षेत्र के पदाधिकारियों, कार्यकर्ता शामिल होगे

विकास यात्रा 2018 : राजनांदगांव की जनता से जो मान-सम्मान और आशीर्वाद मिला जीवन भर सेवा करूं तो भी कम: डॉ. रमन सिंह

 मुख्यमंत्री ने किया ऐलान: राजनांदगांव के 200 तालाबों का होगा गहरीकरण 

मुख्यमंत्री ने किया 329 करोड़ रूपए  के निर्माण कार्यों का लोकार्पण-भूमिपूजन  लगभग 82 हजार किसानों को 83 करोड़ रूपए का धान बोनस और 54 हजार परिवारों मिला आबादी पट्टा

जिले के 41 हजार श्रमिकों को सामग्री एवं चेक का वितरण

 राजनादगांव - मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने विकास यात्रा के दौरान आज रात राजनांदगांव की विशाल आम सभा को संबोधित करते हुए कहा कि यहां की जनता से इतना मान-सम्मान और प्रेम मिला कि जीवन भर सेवा करूँगा, तो भी कम है। उन्होंने 14 सालों में राजनांदगांव में किए गए महत्वपूर्ण कार्यों की जानकारी जनता को दी। डॉ. सिंह ने सभा में राजनांदगांव के दो सौ तालाबों के गहरीकरण की घोषणा की। यह कार्य सीएसआर से कार्य कराये जाएंगे। उन्होंने कहा कि राजनांदगांव जिले में मेडिकल कॉलेज हास्पिटल की स्थापना, अंतरराष्ट्रीय हॉकी स्टेडियम, दिग्विजय स्टेडियम, बड़ी सिंचाई परियोजनाएँ जैसे बड़े कामों से अधोसरंचना के क्षेत्र में ठोस काम हुआ है। इस बार सूखा पड़ा लेकिन प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के चलते किसानों को बड़ी राहत मिली। अकेले राजनांदगांव जिले में खरीफ में प्रभावित किसानों को 4 सौ करोड़ रुपए बीमा राशि का भुगतान किया गया। जिले में 35 हजार से अधिक प्रधानमंत्री आवास स्वीकृत हुए। प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के अंतर्गत एक लाख 30 हजार महिलाओं को निःशुल्क गैस सिलेंडर दिए गए। लोगों के जीवन में बड़ा बदलाव इन योजनाओं से आ रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राजनांदगांव में हजारों हितग्राहियों को श्रम विभाग की योजनाओं का लाभ आज विकास यात्रा के दौरान दिया गया है। श्रम विभाग की योजनाओं के बेहतर क्रियान्वयन से श्रमिकों की स्थिति बेहतर हो रही है।
    लोकसभा सांसद   अभिषेक सिंह ने इस अवसर पर कहा कि विकास यात्रा के दौरान जनता का अभूतपूर्व उत्साह देखने को मिला। उन्होंने कहा कि 14 वर्षों में राजनांदगांव में काफी विकास कार्य हुए हैं। चाहे कृषि का क्षेत्र हो या स्वास्थ्य सुविधाओं को बेहतर करना हो। हर योजना में प्रभावी काम हो रहा है इससे जिले में विकास की गति तेज हुई है। इस मौके पर जिले के प्रभारी मंत्री   राजेश मूणत, राजनांदगांव के महापौर   मधुसूदन यादव एवं अन्य विशिष्ट अतिथि मौजूद थे। 

कुपोषण मुक्ति में छत्तीसगढ़ को एक बार फिर राष्ट्रीय पुरस्कार राज्य के 17 जिलों में चल रही इस्निप परियोजना को मिला पुरस्कार

रायपुर  केन्द्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्रालय और विश्व बैंक ने कुपोषण मुक्ति अभियान में छत्तीसगढ़ को शानदार उपलब्धियों के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया है। प्रदेश सरकार को यह पुरस्कार इस्निप परियोजना के लिए मिला है। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह और महिला एवं बाल विकास मंत्री रमशीला साहू ने इस उपलब्धि पर इस्निप परियोजना में शामिल जिलों की जनता को और वहां के आंगनबाड़ी केन्द्रों  की कार्यकर्ताओं और सहायिकाओं को बधाई दी है। 
नई दिल्ली में आयोजित समारोह में आज छत्तीसगढ़ सरकार के महिला एवं बाल विकास विभाग को इस पुरस्कार से नवाजा गया। केन्द्र सरकार के महिला एवं बाल विकास मंत्रालय के सचिव  राकेश श्रीवास्तव और विश्व बैंक की प्रेक्टिस मैनेजर सुश्री रेखा मेनन के हस्ताक्षर से आज के समारोह में छत्तीसगढ़ राज्य को प्रशस्ति पत्र भी दिया गया। 
     महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारियों ने आज रायपुर में बताया कि इस्निप परियोजना विश्व बैंक की सहायता से एकीकृत बाल विकास सेवाओं को सुदृढ़ बनाने और पोषण की स्थिति को सुधारने के लिए छत्तीसगढ़ के 27 में से 17 जिलों में विगत चार वर्षों से (वर्ष 2014 से) चल रही है। यह पुनर्गठित परियोजना जून 2018 तक चलेगी। इस परियोजना में राज्य के महासमुन्द, कोरबा, दुर्ग, कवर्धा, जशपुर, कांकेर, दंतेवाड़ा, बीजापुर, बस्तर, नारायणपुर, रायपुर, बेमेतरा, बालोद, सुकमा, कोण्डागांव, गरियाबंद और बलौदाबाजार-भाटापारा जिले शामिल हैं। इन चयनित जिलों की 134 एकीकृत बाल विकास परियोजनाओं के अंतर्गत 28 हजार 682 आंगनबाड़ी केन्द्रों में इस्निप परियोजना का संचालन किया जा रहा है। 
  

छत्तीसगढ़ की लोक संस्कृति की पहचान स्थापित करने में अर्जुन्दा का महत्वपूर्ण योगदान विकास यात्रा 2018 बालोद जिले को मिली नयी ऊंचाईयां: डॉ. रमन सिंह

मुख्यमंत्री ने बालोद में किया 75 करोड़ की लागत के  74 निर्माण कार्यो का लोकार्पण-भूमिपूजन 
जिले के 92 हजार से अधिक किसानों को मिला 115.27 करोड़ का बोनस   जिले के 70 हजार से अधिक परिवारों को मिला आबादी पट्टा

बालोद - मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह  ने कहा है कि बालोद जिले के गठन से इस क्षेत्र के विकास को नयी ऊंचाईयां मिली हैं। आम जनता की सुविधा के लिए यहां नया कलेक्टोरेट भवन बना और विभिन्न विभागों के कार्यालय प्रारंभ हुए, क्षेत्र की जनता को नया जिला अस्पताल मिला। नया जिला बनने के बाद यहां विकास के कई बड़े काम पूरे हुए हैं। 

मुख्यमंत्री आज प्रदेशव्यापी विकास यात्रा के दौरान बालोद जिले के ग्राम अर्जुंदा (विकासखण्ड-गुण्डरदेही) में आयोजित विशाल आम सभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि अर्जुंदा गांव की अपनी विशिष्ट पहचान है। इस गांव ने छत्तीसगढ़ की लोक संस्कृति को पहचान दिलाने में महत्वपूर्ण योगदान दिया है। इस क्षेत्र के कण-कण में छत्तीसगढ़ की लोक कला का वास है। डॉ. ंिसंह ने आमसभा में जिले की जनता को 74.94 करोड़ रूपए लागत के 74 विभिन्न निर्माण कार्यों की सौगात दी। उन्होंने इनमें से 25.57 करोड़ रूपए की लागत के 40 निर्माण कार्यों का लोकार्पण और 49.37 करोड़ रूपए  के 34 निर्माण कार्यों का शिलान्यास  किया।

मुख्यमंत्री ने आम सभा को संबेाधित करते हुए कहा कि जल्द ही गांव-गांव में इंटरनेट कनेक्टिविटी मिलेगी और मनरेगा में काम करने वाले मजदूरों, खेतों में काम करने वाली महिलाओं, कॉलेज के विद्यार्थियों, किसानों और ग्रामीणों के हाथ में जल्द ही स्मार्ट फोन होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि सूचना क्रांति योजना के अंतर्गत पूरे प्रदेश में 55 लाख स्मार्ट फोन निःशुल्क बांटे जाएंगें। इसके लिए रजिस्ट्रेशन शुरू कर दिया गया है। इंटरनेट कनेक्टिविटी देने के लिए भारत नेट परियोजना के अंतर्गत लगभग 3000 करोड़ रूपए की लागत से 3600 किलोमीटर ऑप्टिकल केबल बिछाने का काम प्रारंभ कर दिया गया है। मोबाईल कनेक्टिविटी के लिए गांव-गांव में टॉवर लगाये जाएंगें। डॉ. सिंह ने कहा कि आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत प्रदेश के 37 लाख परिवारों को 5 लाख रूपए तक के इलाज की सुविधा मिलेगी। इस राशि से गरीब परिवारों के लिए दिल, लिवर, किडनी और कैंसर जैसी गंभीर बीमारियों का इलाज कराना आसान होगा
उन्होंने कहा कि पिछले 15 वर्षो में उन्हें जनता का भरपूर सहयोग, समर्थन और आशीर्वाद मिला है। आने वाले 5 वर्षो में प्रदेश की विकास की गति और भी अधिक तेज होगी। कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री भीषण गर्मी में आम जनता से मिलने और जनता को विकास की योजनाओं से जोड़ने के लिए निकले हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने गरीबों को भूख से मुक्ति दिलाई है, गांव-गांव में सड़क, बिजली, पानी और शिक्षा की व्यवस्था की गई है। किसानों के लिए अनेक योजनाएं प्रारंभ की गई है। लोकसभा सांसद  विक्रम उसेण्डी ने भी आम सभा को संबोधित किया।
        डॉ. सिंह जिन निर्माण कार्यों का शिलान्यास किया, उसमें लगभग 21 करोड़़ रूपए लागत से ग्राम कुथरेल-भाठागॉव-औरी-परसाही तक बनने वाली सड़क, तीन करोड़ 80 लाख रूपए लागत से अछोली से संजारी मार्ग पर बनने वाले पुल, दो करोड़ 46 लाख रूपए लागत से चौरेल से मोहलाई मार्ग पर पुल निर्माण, दो करोेड़ 41 लाख रूपए लागत से भिलाई से तिलखैरी मार्ग पर  पुल निर्माण और दो करोड़ 32 लाख रूपए लागत से मेन रोड से मोंगरी मार्ग पर पुल निर्माण के कार्य शामिल हैं। इस अवसर पर विधायक राजेन्द्र राय, बीस सूत्रीय कार्यक्रम क्रियान्वयन समिति के उपाध्यक्ष  खूबचंद पारख, पूर्व विधायक वीरेन्द्र साहू, प्रीतम साहू, श्री लाल महेन्द्र सिंह टेकाम और   कुमारी बाई साहू सहित अनेक जनप्रतिनिधि, वरिष्ठ अधिकारी और बड़ी संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे। 

 

आज मुख्यमंत्री अंतागढ़ में 60 करोड़ 43 लाख रूपये की लागत के 125 कार्यों का करेंगे लोकार्पण और भूमिपूजन

रायपुर  मुख्यमत्री डॉ रमन सिंह प्रदेश व्यापी विकास यात्रा के दौरान कल 23 मई को कांकेर जिले के तहसील मुख्यालय अंतागढ़ में आयोजित आमसभा में 60 करोड़ 43 लाख रूपये की लागत के 125 कार्यों का लोकार्पण और भूमि पूजन करेंगे। वे इनमें से लगभग तीन करोड़ रूपए के लागत के 18 कार्यों का लोकार्पण और 57 करोड़ 38 लाख रूपये की लागत के 107 कार्यों का भूमिपूजन और शिलान्यास करेंगे। इस अवसर पर मुख्यमंत्री शासन की विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के अंतर्गत हितग्राहियों को लगभग 77 लाख रूपए की सामग्री और सहायता राशि के चेक वितरित करेंगे। 
    डॉ. सिंह कृषि विभाग द्वारा किसानों को उड़ावनी पंखा, अरहर और तिल के मिनीकिट, वन विभाग की ओर से 319 हितग्राहियों को सायकल, 30 हितग्राहियों को मिनी राईस मिल, श्रम विभाग की योजना में श्रमिकों को 1100 सायकल, 344 औजार किट और 32 सिलाई मशीन, प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना में 100 महिलाओं को रसोई गैस कनेक्शन, 7871 किसानों को आबादी पट्टे और 10 हितग्राहियों को सौभाग्य योजना अंतर्गत बिजली कनेक्शन प्रमाण पत्र वितरित करेंगे।