बड़ी खबर

छत्तीसग़ढ : आईटीबीपी के जवान सर्चिग करते हुए जा रहे थे ढब्बा मतदान केंद्र नक्सलियों ने किया ब्लास्ट

सूर्यकान्त यादव @ BBN24 राजनांदगाँव लोकसभा सीट के लिए गुरुवार सुबह 7 बजे शाम 5 बजे तक मतदान चला..राजनांदगाँव लोकसभा सीट मे 8 विधानसभा  सीट आता है..जिसमे मोहला-मानपुर विधानसभा क्षेत्र नक्सली अतिसंवेदनशील क्षेत्र माना जाता...जिसेक कारण चुनाव आयोग ने यहा सुबह 7 बजे से 3 बजे तक मतदान करवाया....सुरक्षित और सुगम मतदान करवाने के लिए इन क्षेत्र मे भारी मात्रा मे फोर्स के जवान तैनात थे.......जिले के धुर नक्सल प्रभावित क्षेत्र मानपुर थाना के ढब्बा गाँव मे नक्सलीयो ने आईईडी ब्लास्ट किया जिसमे मतदान केंद्र का निरिक्षण करने जा रही आटीबीपी का एक जवान उसकी चपेट मे आ गया....घायल जवान मानसिंह को आनन-फानन मे मानपुर अस्पताल लाया गया जहा उसका प्राथमिक उपचार किया गया...घटना उस समय कि है,जब आईटीबीपी के जवान सर्चिग करते हुए ढब्बा मतदान केंद्र जा रहे थे...तभी नक्सलीयो ने फोर्स को नुकसान पहुचाने की नियत से ब्लास्ट किया...जसमे एक जवान उसकी चपेट मे आ गया...नक्सलीयो ने पहले से आईईडी बम प्लांट करके रखा था..बाकि के  जवान सुरक्षित मानपुर पहुच गए.....मतदान को प्रभावित करने के लिए नक्सलीयो ने इस तरह की घटना को अंजाम दिया....

बलौदाबाजार के भाटापारा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आम सभा को किया संबोधित

बलौदाबाजार के भाटापारा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आम सभा को संबोधित किया. पीएम नरेंद्र मोदी ने जय जोहार और जय छत्तीसगढ़ महतारी के साथ भाषण की शुरुआत की और भाजपा के प्रत्याशियों के लिए वोट मांगे. प्रधानमंत्री ने कांग्रेस को आड़े हाथों लिया साथ ही रायपुर लोकसभा एवं बिलासपुर तथा जांजगीर चांपा लोकसभा के प्रत्याशी भी मंच पर मौजूद थे मोदी ने उन सभी भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशियों के लिए जनता से वोट की अपील की तथा कांग्रेस को आड़े हाथों लिया उन्होंने अपनी सरकार की उपलब्धियों को जनता के सामने रखा कथा सर्जिकल स्ट्राइक और एयर स्ट्राइक जैसी उपलब्धियों को गिनाया सभा स्थल पर मौजूद जनता ने मोदी मोदी के नारों से प्रधानमंत्री का जोरदार अभिवादन किया तथा कांग्रेस को आड़े हाथों लेते हुए कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा सभा को पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह राजेश मुहूर्त विक्रम सैनी शिवरतन शर्मा आदि ने संबोधित किया

राजनांदगाँव जिले के धुर नक्सल प्रभावित क्षेत्र मानपुर थाना के खुर्सेकला मे एक बार फिर धधकने लगी पथलगढी की आग.... पढ़े पूरी खबर

सूर्यकान्त यादव @ BBN24 NEWS-- राजनांदगाँव जिले के धुर नक्सल प्रभावित क्षेत्र मानपुर थाना के खुर्सेकला मे पथलगढी की आग एक बार फिर धधकने लगी है...आदिवासी समाज के द्वारा तीन वर्ष पुर्व इसकी शुरूवात की गई थी...जो आज फिर एक बडा रूप लेने लगा है.....कुर्सेकला के आस पास के 23 गाँव के ग्रामीण के लोग यहा एकत्रित हुए और इस आन्दोलन को बडा रूप देने की तैयारी मे है,,,इस आयोजन मे महिला,पुरूष और नवजवान सहित बच्चे बी शामिल थे....आदिसावीस समाज के नेता सरजु टेकाम का कहना है,कि पहले लिखित सविधान नही था..और हमारे पुरखे के लोग पत्थर गाढ कर सीमा निर्धारण करते थे.....वही जल,जंगल,जमीन हमारी है,जिसमे हमारा अधिकार है...जो पंचायत तय करेगी,...इन पुरे मामले को लेकर आदिवासी परंपरिक महाग्राम सभा का आयोजन किया गया है... - जिला मुख्यालय से लगभग एक सौ तीस किलोमीटर दुर नक्सल प्रभावित गाँव खुर्सेकला गाँव मे सैकडो की संख्या मे आदिवासी समाज के लोग जुटे जा यह तय किया गया कि,जल,जंगल जमीन हमारी है...इसे लेकर आदिवासी समाज लाबंध हो रहा है..जिसमे 23 गाँव के ग्रामीण शामिल हुए....जिसमे आदिवासी समाज के लोगो के द्वारा पारंपरिक तरीके से पुजा पाठ कर इस बैठक की शुरूवात हुई..जहा आदिवासी समाज के नेता गरजे औरक कहा कि जल,जंगल जमीन हमारी है..जिसमे हमारा अधिकार है.....और संविधान मे बी इसका उल्लेख है....जहा समाज के लोग तीर कमाल और बाजे गाजे के साथ इस बैठक मे पहुचे..... - आदिवासी समाज के नेता का कहना है,कि ग्राम सभा का सविधान और आदिवासी समाज का सविधान पुर्व से ही है,लेकिन लिखीत मे नही रहा और जिससे  हमारी अनदेखी की गई... हम कन्ही से गलत नही है,हम सरकार के सामने अपने अधिकार के लिए आवाज उठा रहे है,जो हमारा अधिकार है,पत्थलगढी आन्दोलन एक बार फिर बडा रूप ले रहा है,जो सीधे सरकार को चुनौत दे रहा है...वही पुरे मामले मे नक्सलीयो के इसारे से यह आन्दोलन तो नही हो रहा है....ये संभावनाओ भी बन रही है...बहरहाल आन्दोलन क्या रूप लेता है..और नक्सलीयो की क्या भुमिका है..यह सरकार के जाँच का विषय है..... ---पुरा आन्दोन समाज के सभी लोग इस, आन्दोलन मे शामिल होते है,तो यह आन्दोनल जन आन्दोलन का रूप न ले ले..जिससे प्रदेश सरकार और कंद्रे सरकार के लिए नया सिर दर्द पैदाकर सकता है.....वही जंगल के अंदर यह आयोजन होने से नक्सली दहशत के कारण

शिक्षा के संस्थान बन रहे लूट की दुकान

_________________________ विश्वगुरु का खिताब प्राप्त कर चुका हिन्दुस्तान एक समय मे दुनियाभर मे शिक्षा का अहम केंद्र था, नालंदा तक्षशिला जैसे विश्व विद्यालय सारी दुनियां को सर्वांग शिक्षा प्रदान करने के संस्थान के रुप मे जाने जाते थे, किन्तु गुलामी दर गुलामी ने भारत की सारी व्यवस्था को छिन्न भिन्न कर दिया और उसमे सबसे ज्यादा आहत हुई शिक्षा व्यवस्था तथा यह कार्य अंग्रेजों द्वारा सुनियोजित तरीके से किया गया, क्योंकि उन्हे मालूम था कि इस देश की असली ताकत है यहाँ कि शिक्षा व्यवस्था जो लोगों को ज्ञान के माध्यम से एक दूसरे से जोड़ती है और स्वालंबी बनाती है, और इसी स्वालंबन एवं एकजुटता पर वार करने के लिए उनके द्वारा बाबू बनाओ शिक्षा पद्धति लायी गयी जो स्वालंबन नही निर्भरता का पाठ पढ़ाती है,आजादी के बाद बहुत कुछ बदला किन्तु शिक्षा पद्धति नही बदली, _________________________ प्रारंभ मे शासकीय नियंत्रण _________________________ आजाद भारत मे बाबू बनाओ शिक्षा के जरिए ही नये भारत का सफर शुरू हुआ, और पूरी तरह शिक्षा शासकीय नियंत्रण मे थी जिसके चलते एक तरह से सेवा एवं वास्तविक ज्ञानार्जन का माहौल नजर आता था, वैसे उस समय बेरोजगारी ने अपने पर उतने नही फैलाए थे इसलिए इस शिक्षा की विडम्बना उतनी नजर नही आती थी, किन्तु नब्बे का दशक आते आते बेरोजगारी विकराल दशा की ओर बढ़ने लगी और यहीं से शुरू हुआ शिक्षा पर सवालिया निशान लगने का सिलसिला जिसे बड़ी चालाकी से बाजारवाद ने अपने कब्जे मे लिया और अंग्रेजी शिक्षा मे सुनहरे भविष्य का ख्वाब दिखाते हुए निजी स्कूलों का जाल फेंक दिया गया, जिसमे सरलता से आमजन इस जाल में फंसते चले गये और धीरे धीरे यह व्यवस्था मनमानी फीस एवं आडम्बर मय शिक्षा के रुप मे जनमानस को लूट की राह ले जाने लगी, _________________________ फीस कापी किताब मनमानी बेहिसाब _________________________ जिस सब्जबाग के चलते जनमानस निजी विद्यालयों के जरिए नई शिक्षा की ओर आकर्षित हुई उसमे नया कुछ नही है महज माध्यम का बदलाव है क्योंकि पद्धति तो वही है लिहाजा बेरोजगारी की कतार कम नही हुई वरन बढ़ती ही जा रही है, लेकिन इतना जरुर हुआ कि शिक्षा बेतहासा मंहगाई के रुप मे आगे बढ़ रही है और धीरे धीरे यह फीस से लेकर कापी किताबों मे भी लूट के रुप मे नजर आ रही है, बताया जाता है कि नर्सरी से लेकर आठवीं तक की पांच सौ से छः सौ मे एन सी ई आर टी की जो किताबें मिल जाती है वही किताबें विद्यालयों द्वारा निजी प्रकाशको की तीन हजार से चार हजार मे दी जाती है और ड्रेस नोट बुक मे भी इसी तरह की लूट की जानकारी पालकों के माध्यम से प्राप्त हो रही है, भाटापारा मे भी यह गोरखधंधा धडल्ले से चल रहा है बताया जाता है कि बकायदा इसके लिए विद्यालय अपने विद्यालय से या पसंदीदा स्टेशनरी दुकानों से इस लूट को अंजाम दे रहें है, चूंकि अभी नये सत्र का आगमन हो रहा है इसलिए इस तरह की विडम्बनाए खुलकर सामने आ रहीं है, _________________________ व्यवस्था एवं जनता की लाचारी _________________________ मुनाफाखोरी एवं कमीशनखोरी के जाल मे फंसती एवं पालकों को आर्थिक रुप से डसती इस विडम्बना के बारे मे व्यवस्था को पूरी जानकारी है, इसिलिए शिक्षा का अधिकार कानून लाया गया जिसमे इन विडम्बनाओं से निपटने के लिए प्रावधान तय है किन्तु उसका सही ढंग से क्रियान्वयन नही होना अवश्य ही व्यवस्था की लाचारी को प्रकट कर रही है, उसी तरह निजी विद्यालयों के शिक्षित पालकों को इस लूट का भान हैं किन्तु उनकी चुप्पी शायद उसी लाचारी को प्रकट करती है की कहीं इन विडम्बनाओं का विरोध उनके बच्चों के शैक्षणिक अवरोध का कारण न बन जाए, और इसी लाचारी का ये निजी संस्थान जमकर फायदा उठाते नजर आ रहें है, और इस लाचारी और मनमानी आचरण का प्रभाव पूरी तरह समाज पर पढ़ता नजर आ रहा है जिससे शिक्षा की सुचिता प्रभावित होकर प्रदूषित हो रही है

राजनांदगांव पुलिस द्वारा चलाये जा रहे एंटी नक्सल ऑपरेशन में पुलिस को मिली बड़ी सफलता

 

सूर्यकान्त यादव-BBN24NEWS.COM

 

राजनांदगांव पुलिस द्वारा चलाये जा रहे एंटी नक्सल ऑपरेशन में उस समय पुलिस को बड़ी सफलता मिली जब जिला पुलिस,एसटीएफ और डीआरजी की सयुक्त सर्चिंग पार्टी मानपुर थाना के बुकमरका के जंगल मे सर्चिंग पर निकली। पुलिस पार्टी को देख नक्सलियो ने अंधाधुन फायरिंग शुरू कर दी। फोर्स ने भी नक्सलियो को मुहतोड जवाब दिया । फोर्स को हावी होता देख नक्सली भाग खडे हुए। फोर्स को सूचना मिली कि नक्सली  कैम्प करके बुकमरका के जंगल मे  है। फोर्स ने नक्सली कैम्प को ध्वस्त कर दिया। घटना स्थल से 5 कुकर बम,2 पाइप बम,देशी रॉकेट लांचर,नक्सली साहित्य और भारी मात्रा में दैनिक उपयोग की चीजें बरामद हुई है।

 

फोर्स और नक्सलियो के बीच एक घण्टे तक फायरिंग चली फोर्स को हावी होता देख नक्सली महाराष्ट्र की ओर भाग खड़े हुए। फोर्स ने लोकसभा चुनाव के मद्देनजर जिले के नक्सल प्रभावित क्षेत्र में सर्चिंग तेज कर दी है। इसी कड़ी में महाराष्ट्र पुलिस,मध्यप्रदेश पुलिस और छत्तीसगढ़ की राजनांदगांव पुलिस सयुक्त सर्चिंग कर रही है। वंही लोकसभा चुनाव को लेकर राजनांदगांव पुलिस एलर्ट है। वंही दंतेवाड़ा में विधायक भीमा मंडावी के काफिले में हमला करने के बाद नक्सलियो ने विधायक को मौत के घाट उतार दिया। और पुलिस के जवान भी शहीद हुए। जिसके बाद राजनांदगांव पुलिस ने नक्सलिय पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया।और जिले में सर्चिंग तेज कर दिया है।

नक्सलियों ने की विधायक भीमा मंडावी की हत्या, डीआईजी ने की विधायक के मौत की पुष्टि

दंतेवाड़ा में नक्सलियों ने हमला कर दिया . जानकारी के अनुसार नकुलनार के पास विधायक भीमा मंडावी के काफिले पर नक्सलियों ने हमला कर दिया . नक्सलियों ने भीमा मंडावी के काफिले की एक गाड़ी को ब्लास्ट कर उड़ा दिया है. लोकसभा चुनाव के पूर्व हुए इस हमले में एक पीएसओ समेत 5 जवानों के शहीद होने की खबर मिल रही है. कहा जा रहा है अभी तक दोंनो तरफ से फायरिंग जारी है. जानकारी मिल रही है कि नक्सलियों के इस हमले में विधायक भीमा मंडावी की मौत हुई है. कहा जा रहा है कि नक्सलियों ने विधायक भीमा मंडावी की हत्या कर दी है. हालाँकि इस खबर की आधिकारिक पुष्टि नहीं हो सकी है. पुनः सूचना मिल रही है कि विधायक भीमा मंडावी की हत्या हो गई है. डीआईजी ने मौत की पुष्टि की है.

शहीदों को CM भूपेश बघेल ने दी विनम्र श्रद्धांजलि

हमारे विधायक साथी भीमा मंडावी और चार जवान नक्सली हमले का शिकार हुए हैं। झीरम हमले के बाद संसदीय लोकतंत्र पर यह एक और बड़ा और अत्यंत निंदनीय हमला है। मैं बेहद विचलित हूं, स्तब्ध हूं। दुःख व्यक्त करने के लिए मेरे पास शब्द नहीं हैं। इस पीड़ा को हमसे ज्यादा कौन समझेगा जिन्होंने अपने नेताओं की एक पूरी पीढ़ी एक बड़े नक्सल हमले में खो दी थी। हमारी सरकार बस्तर सहित पूरे छग में आदिवासी जनता का विश्वास जीतने के लिए सतत काम कर रही है। इस बात से नक्सली बौखला रहे हैं। यह जघन्य वारदात उनकी इसी बौखलाहट का नतीजा है। हम एक बार फिर दृढ़ता के साथ संसदीय लोकतंत्र को मजबूत करने की अपनी लड़ाई के प्रति अपनी प्रतिबद्धता को दोहराते हैं। मैं शीर्ष अधिकारियों के साथ घटना की समीक्षा कर रहा हूं। मैंने अधिकारियों के लिए निर्देश दोहराया है कि नक्सली गोलियों का जवाब उनकी भाषा में ही दिया जाए।

लोकसभा चुनाव के पहले दहशत फैलाने नक्सली कर रहे हमले, आज किया चौथा बड़ा हमला

BBN24  रायपुर- 11 अप्रैल को लोकसभा चुनाव के पहले चरण के मतदान के ठीक दो दिन पहले मंगलवार को दंतेवाड़ा में तीसरा बड़ा नक्सली हमला हुआ है। इस हमले में बस्तर के एकमात्र भाजपा विधायक भीमा मंडावी की मौत और सीआरपीएफ के पांच जवान शहीद हो गए हैं। बता दें कि लोकसभा चुनाव के पहले नक्सलियों का यह तीसरी बार बड़ा हमला है। जिसमें उन्होंने फोर्स को काफी नुकसान पहुंचाया है। इस घटना के कुछ कुछ दिन पहले ही कांकेर में नक्सली हमले में बीएसएफ के चार जवान शहीद हो गए थे। वहीं दूसरा नक्सली हमला धमतरी में हुआ जिसमें मध्यप्रदेश का एक जवान शहीद हो गया था। इसके अलावा राजनांदगांव जिले में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के चुनावी दौरे के पहले नक्सलियों ने तीन बार विस्फोट कर फोर्स को नुकसान पहुचाने का प्रयास किया था। गौरतलब हो कि छत्तीसगढ़ में इससे पहले भी कई बार नक्सलियों ने केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के जवानों को निशाना बनाया है। जुलाई 2018 में नक्सलियों ने छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले में बीएसएफ के जवानों पर हमला किया था, इस हमले में बीएसएफ के 2 जवान शहीद हुए थे। इससे पहले 13 मार्च 2018 को सुकमा जिले में सीआरपीएफ की 212वीं बटालियन के जवानों पर हमला हुआ था।

बीजेपी ( BJP ) के घोषणा पत्र की 10 बड़ी बातें --- BBN24NEWS.COM

BJP के घोषणा पत्र की 10 बड़ी बातें


1. गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले परिवारों की संख्या को घटाकर 10% से भी कम करना. 5 किलोमीटर के दायरे में बैंकिंग सुविधाएं.

2. तीन तलाक, निकाह हलाला जैसी प्रथाओं को प्रतिबंधित व समाप्त करने को विधेयक.

3. सभी आंगनबाड़ी और आशा कार्यकर्ता को आयुष्मान भारत के तहत लाना

4. वर्ष 2024 तक एमबीबीएस और स्पेशलिस्ट डॉक्टरों की संख्या दोगुनी करना

5. 200 नए केंद्रीय विद्यालयों और नवोदय विद्यालयों का निर्माण 

6. राष्ट्रीय व्यापार आयोग का गठन किया जाएगा और छोटे दुकानदारों को 60 साल की उम्र के बाद पेंशन दी जाएगी.

7. 6000 रुपये सालाना आर्थिक मदद अब केवल दो हेक्टेयर जमीन वाले किसानों को ही नहीं, बल्कि देश के सभी किसानों को मिलेगी

8. छोटे एवम खेतिहर किसानों को 60 साल की उम्र के बाद पेंशन दी जाएगी.

9. हमारी कोशिश होगी की सौहार्दपूर्ण वातावरण में जल्द से जल्द राम मंदिर का निर्माण किया जाए.

10. अवैध घुसपैठ को रोकने के लिए जितनी सख्ती करनी होगी करेंगे

EDIT BY :  YASH  LATA

माओवाद प्रभावित क्षेत्र मानपुर में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सभा से ठीक पहले नक्सलियों ने किया आईईडी ब्लास्ट ...पढ़े पूरी खबर

सूर्यकान्त यादव @BBN24.COM

माओवाद प्रभावित क्षेत्र मानपुर में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सभा से ठीक पहले नक्सलियों ने रविवार को  आईईडी ब्लास्ट कर दिया एक के बाद एक दो आईईडी ब्लास्ट में आईटीबीपी का एक जवान गंभीर रूप से घायल हो गया है..राजनांदगांव के धुर नक्सल प्रभावित थाना मानपुर के ख्वास फड़की गाँव मे नक्सलियों ने दो आईईड़ी ब्लास्ट किया जिसमें आईटीबीपी का एक जवान घायल हो गया सर्चिंग पर निकली आईटीबीपी और पुलिस टीम को नुकसान पहुचने के उद्देश्य से नक्सलियों ने ब्लास्ट किया ब्लास्ट इतना जबरदस्त था कि घटना स्थल में गड्ढे हो गए है..वहीं कई और जवानों के भी घायल होने सूचना मिल रही है लोकसभा चुनाव के मद्देनजर  मुख्यमंत्री मानपुर में एक बड़ी रैली के बाद जनसभा को संबोधित करेंगे इसके पहले ही नक्सलियों ने तीन धमाके करके अपनी सशक्त मौजदूगी का एहसास एक बार फिर करा दिया है..

वहीं पुलिस के सुरक्षा व्यवस्था पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं सीएम की सभा से महज 5 से तीन किलोमीटर दूर ख्वासफड़की सुरक्षा में तैनात जवान सुबह सर्चिंग पर निकले थे रोड ओपनिंग पार्टी के साथ सड़कों पर सुरक्षा सुनिश्चित करने जवान सर्च कर रहे थे इसी बीच एक के बाद एक तीन आईईडी ब्लास्ट नक्सलियों ने कर दिया..ब्लास्ट के बाद जिला पुलिस बल के साथ आईटीबीपी के जवान जंगल में घुसकर सर्चिंग अभियान चला रहे है।सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार चुनाव बहिष्कार का चिपकाए है बैनर पोस्टर नक्सलियों ने मानपुर से सटे गांव में बीती रात बड़ी संख्या में दल बल के साथ पहुंचकर चुनाव बहिष्कार का बैनर पोस्टर भी चिपकाए है..वहीं घायल जवान का इलाज जारी है घटनास्थल पर पुलिस की टीम पहुंचकर सर्चिंग तेज कर दी है।

दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे द्वारा सधन टिकट चैकिंग अभियान से वर्ष (2018-19) में बतौर भाडा एवं जुर्माना वसूले गए 34.23 करोड रूपये


 
          दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे द्वारा टिकट धारियों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए सघन टिकट चेकिंग अभियान लगातार चलाई जाती है। इस दौरान बिना टिकट के रेल यात्रा कर रहे यात्रियों को यात्रा के लिए पर्याप्त टिकट न होने पर बतौर भाडा एवं जुर्माने की राशि वसूली जाती है। ताकि रेल में यात्रा कर रहे टिकट धारी रेल यात्रियों को पर्याप्त सुविधा प्राप्त हो सके।
         इसी बात को ध्यान में रखते हुए दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के तीनों रेल मंडलों बिलासपुर, रायपुर एवं नागपुर में विभिन्न रेल खंडों पर लगातार सघन टिकट चेंिकंग अभियान चालाई जाती है। यह अभियान श्री एम. रवि. बाबू, प्रधान मुख्य वाणिज्य प्रबंधक दपूम रेलवे के आदेशानुसार एवं श्री अजय शंकर झा, मुख्य वाणिज्य प्रबंधक के दिशानिर्देश पर समय-समय पर चलाया जाता है। 
          इसी कडी में वर्तमान वित्तीय वर्ष 2018-19 में पूरे दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे में टिकट चेंिकग के दौरान कुल 13.03 लाख मामले पकडे गये है। जिनसे बतौर भाडा एवं जुर्माने के 
34. 23 करोड रूपये वसूले गये। जबकि विŸाीय वर्ष 2017-18 में 10.80 लाख मामलो से 26.21 करोड रूपये वसूले गए थे। इसी प्रकार वर्तमान विŸाीय वर्ष में पिछले वर्ष की इसी अवधि की तुलना में 20.60 प्रतिशत अधिक मामलो से बतौर भाडा एवं जुर्माने के रूप में 30.58 प्रतिशत अधिक वसूले गये।
          उपरोक्त मामलों एवं वसूली गयी राशि में बिना टिकट के एवं अनियमित/अपर्याप्त  टिकट के मद में 6.18 लाख मामलों से 27.62 करोड रूपये बतौर भाडा एवं जुर्माने के वसूले गए, जबकि पिछले वर्ष की इसी अवधि में बिना टिकट के एवं अनियमित/अपर्याप्त  टिकट की तुलना में इस वर्ष 30.94 प्रतिशत मामलों में एवं 35.43 प्रतिशत की अधिक राशि वसूली गयी है। इसी प्रकार वित्तीय वर्ष 2018-19 में बिना बुक किये गये 6.86 लाख मामले पकडे गए जिनसे बतौर जुर्माना व भाडा के 6.61 करोड रूपये वसूले गए, जबकि वित्तीय वर्ष की तुलना में वर्तमान वित्तीय वर्ष में 13.60 प्रतिशत अधिक राशि वसूली गयी एवं 12.58 प्रतिशत अधिक मामले पकडे गये।
           वर्तमान वित्तीय वर्ष 2018-19 में पूरे दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे में बिना टिकट, अनियमित टिकट एवं बिना बुक किये गये लगेज सहित दिनों मामलो में रेलवे बोर्ड के द्वारा दिये गये लक्ष्य से 5.28 प्रतिशत अधिक मामले है एवं 2.22 प्रतिशत अधिक की राशि प्राप्त की गयी।

रेलवे की वर्तमान समय सारणी की वैद्यता 30 जून, 2019 तक एवं नई समय सारणी 01 जुलाई, 2019 से लागू होगी।

यात्रियों की सुविधा के लिए ट्रेनों का आवागमन एवं प्रस्थान समय एवं रेलवे नियमों की जानकारी के लिए प्रकाशित कि जाने वाली रेलवे की वर्तमान समय सारणी ‘‘ट्रेन एट ए ग्लान्स‘‘ एवं जोनल रेलवे पब्लिक समय सारणी एवं वर्किंग समय सारणी की वैद्यता 30 जून, 2019 तक है। 
         नयी समय सारणी 01 जुलाई, 2019 से लागू एवं प्रकाशित होगी। ट्रेनों का आवागमन एवं प्रस्थान समय वर्तमान रेलवे समय सारणी ‘‘ट्रेन एट ए ग्लान्स‘‘ एवं जोनल रेलवे पब्लिक समय सारणी एवं वर्किंग समय सारणी के अनुसार ही 30 जून, 2019 तक रहेगी।

BIG BREAKING NEWS पखांजूर में बड़ा नक्सली हमला,बीएसएफ के 4 जवान शहीद, 2 घायल...

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा- शहीद हुए जवान की शहादत को मेरा प्रणाम.. छत्तीसगढ़ में किसी भी तरह की हिंसा बर्दाश्त नहीं की जाएगी.. हमारे जवान निपटने में सक्षम हैं और वे समुचित कार्रवाई करेंगे.. कांकेर। लोकसभा चुनाव के पहले एक बार फिर नक्सलियों ने बड़ी वारदात को अंजाम दिया है। हमले में BSF के चार जवान शहीद हो गये हैं। शहीद जवानों में 1 ASI और 3 जवान शामिल हैं। ये हमला कांकेर के पखांजूर से 35 किलोमीटर दूर मोहल्ला जंगल की है। मिली जानकारी अनुसार, BSF के जवान सुबह जंगल की ओर सर्चिंग में निकले थे। जहां नक्सलियों ने जवानों पर फायरिंग शुरू कर दी। करीबन 3 घंटे से यह फायरिंग जारी है। मौके पर बैकअप टीम रवाना कर दी गई है। नक्सल आपरेशन के डीआईजी पी सुंदरराज ने पुष्टि की। फिलहाल इलाके में बैकअप पार्टी ने मोर्चा संभाल रखा है और लगातार सर्चिंग चल रही है। जवानों पर नक्सलियों ने घात लगाकर हमला किया, जिसके बाद दोनों तरफ से गोलीबारी हुई। अचानक हुए हमले में चार बीएसएफ के जवान शहीद हो गये, वहीं कुछ जवान के घायल होने की भी खबर है।

कांकेर में बीएसएफ के 4 जवान शहीद, नक्सलियों से मुठभेड़ जारी

रायपुर। कांकेर में गुरुवार को सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हुई। इस मुठभेड़ में बीएसएफ के चार जवान शहीद हो गए हैं। जबकि, दो अन्य जवान घायल हुए हैं। घायल जवानों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बता दें कि जवानों की एक टीम सर्चिंग के लिए निकली थी, तभी नक्सलियों के साथ उनकी मुठभेड़ शुरू हो गई। जानकारी के मुताबिक, पखांजूर के प्रतापपुर थाना अंतर्गत ग्राम मौला के जंगलों में नक्सलियों और पुलिस की जबरदस्त मुठभेड़ हुई। घटना की सूचना मिलने के बाद मौके पर अतिरिक्त फोर्स को भेजा गया है। इलाके में पुलिस और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ अब भी जारी है।

डाक मतपत्र के लिए आवेदन की अंतिम तारीख 5 अप्रैल

लोकसभा चुनाव के लिए डाक मतपत्र के जरिए मतदान करने के लिए आवेदन करने की अंतिम तिथि 5 अप्रैल निर्धारित की गई है। चुनाव ड्यूटी में लगे अधिकारी-कर्मचारियों के लिए निर्वाचन आयोग द्वारा डाक मतदान की सुविधा प्रदान की गई है। जिले के कार्यक्रम अधिकारी और पोस्टल बैलेट के प्रभारी श्री विपिन जैन ने बताया कि इच्छुक आवेदक जिला कार्यालय के प्रथम तल पर महिला एवं बाल विकास विभाग के कमरा नम्बर 84 पर आवेदन कर सकते हंै। उन्हंे ड्यूटी आदेश के साथ अपना इपिक कार्ड साथ लेकर निर्धारित समय पर आने कहा गया है। श्री जैन ने कहा कि डाक मतपत्र के लिए फार्म-12 में आवेदन करना होता है। मतदान अधिकारियों के प्रथम प्रशिक्षण में सभी अधिकारियों को फार्म-12 उपलब्ध कराई गई और आवेदन भी भराए गए। बावजूद इसके यदि कोई अधिकारी छूट गए हों तो इसके लिए अतिरिक्त टाईम उपलब्ध कराई गई हैं, ताकि एक भी मतदाता अपने मताधिकार से वंचित ना हो। श्री जैन ने बताया कि जो अधिकारी इस जिले में काम करते हैं, लेकिन उनका नाम कोई अन्य जिले की मतदाता सूची में शामिल हैं, उनका नाम अनुशंसा सहित संबंधित जिले के निर्वाचन अधिकारी को भेज दिया गया है। बलौदाबाजार जिले से लगभग एक हजार 614 कर्मचारियों के नाम आस-पास के जिलों को भेज दिए गए हैंै। वहां के जिला निर्वाचन अधिकारी उनके लिए बैलट पत्र इश्यू करेंगे। इसी तरह अन्य जिलों के अधिकारियों के आवेदन भी अपने जिले को मिल रहे हैं।