राजधानी

स्थानिय विधायक बताये की 15 साल प्रदेश में उनकी सरकार रही तब भाठापारा में चिकित्सा के क्षेत्रों में विधायक ने क्या विकास कार्य किये है -सुशील शर्मा

भाठापारा-भाजपा विधायक शिवरतन शर्मा के दुवारा राज्य सरकार लगाये अनर्गल आरोप पर पलटवार करते वर्चुअल प्रेस कांफ्रेंस कर प्रदेश कांग्रेस सचिव और मारो नगर पंचायत के पर्वेक्षक सुशील शर्मा ने कहा कि उल्टा चोर कोतवाल को डांट लगाये वाली कहावत को चरितार्थ करते हुये भूपेश सरकार के खिलाफ इस भयंकर कोरोना संक्रमण काल मे अपनी उपस्तिथि दिखाने अपनी गाल बजाने से बाज नही आ रहे है,स्थानिय विधायक बताये की 15 साल प्रदेश में उनकी सरकार रही तब भाठापारा में चिकित्सा के क्षेत्रों में विधायक ने क्या विकास कार्य किये है उनके कार्यकाल में एक भी नये स्वस्थ केंद्र का निर्माण एवं टीकाकरण केंद्र का निर्माण नही किया गया,सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र की स्तिथि में कोई सुधार कार्य नही किया गया आज भी यह केंद्र मात्र रिफर सेंटर बनकर रह गया है,कोविड़-19 जैसे महामारी के शिकार लोगो को हो रही टिका, दवाई,आक्सीजन की कमी के लिये केंद्र की नरेंद्र मोदी की सरकार पूर्ण रूपेण जिम्मेदार है,मोदी सरकार के दुवारा नोट बंदी,जी एस टी, किसानों के लिये लाये काले कानून जैसे तुगलकी फैसलों की तरह कोविड़-19 के नियंत्रण में सरकार ने लगातार गलत फैसले लिये गये जिसका परिणाम आज पूरा देश और देश के साथ साथ छत्तीसगढ़ की जनता भी। भुगत रही है। जबकि राज्य में कांग्रेस की भूपेश बघेल की सरकार ने कोरोना महामारी को समाप्त करने के लिये प्रदेश में लॉक डाउन करना,सेनेटाइजर की व्यवस्था,माक्स की अनिवार्यता,दो गज की दूरी जैसे महत्वपूर्ण निर्णय कर जनता जनार्दन को इस महामारी से बचा कर रखा,केंद्र की मोदी सरकार ने इसकी तारीफ भी की और राज्य सरकार से कोविड़-19 से बचाव के फार्मूलों की जानकारी भी ली किन्तु उस पर गंभीरता पूर्वक अमल नही किया गया,आज भी राज्य की भूपेश सरकार इस संक्रमण काल मे महामारी से बचाव हेतु लगातार जनजागरण कर जनता को जागरूक करने में तन मन धन से लगी हुई है,इसके साथ ही सरकार ने सभी नगरीय निकाय क्षेत्रों और ग्राम पंचायत क्षेत्रों में कोरेन्टीन सेंटर सहित कोविड़-19 अस्पताल का निर्माण कर जनता की भलाई करने में लगी हुई है, छत्तीसगढ़ कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष मोहन मरकाम के नेतृत्व में पूरे प्रदेश में कोरोना महामारी के रोकथाम में सहयोग करने के लिये जिला और ब्लॉक स्तर पर कोरोना कंट्रोल रूम गठित कर कोविड़ से पीड़ितों को चिकित्सा,स्वास्थ,अस्पताल लाने और ले जाने,टेस्टिंग कराने, टिका कारण करवाने,बेड और आक्सीजन की व्ययस्था सहित जरूरत मन्दो को भोजन उपलब्ध कराने पूरे प्रदेश में कांग्रेस के कार्यकर्ता जी जान से लग कर कार्य कर रहे है। ऐसे संक्रमण काल के समय स्थानिय विधायक के दुवारा राज्य सरकार पर मिथ्या आरोप लगाना उनकी छपास रोग से ग्रसित मानसिकता को प्रदर्षित करती है,विधायक बताये की उनके दुवारा कोविड़-19 के पहले चरण में क्या योगदान दिया गया था,आज केंद्र सरकार के अति विस्वास और अदूरदर्शी निर्णय के चलते देश और प्रदेश की जनता को कोरोना महामारी के मामले में दूसरी बार भारी नुकसान उठाना पड़ रहा है,केंद्र सरकार के दुवारा लगातार छत्तीसगढ़ प्रदेश के साथ भेदभावपूर्ण की नीति अपनाई जा रही है,आज प्रदेश की इस गंभीर स्तिथि के लिये केंद्र की मोदी सरकार ही पूर्णता जिम्मेदार है। प्रदेश कांग्रेस सचिव सुशील शर्मा ने आगे कहा कि केंद्र सरकार यदि अपना टिका और वैक्सीन अन्य देशों को देने की अपेक्षा प्रदेशो को दिया होता तो आज प्रदेशो से कोरोना संक्रमण पूरी तरह समापन की ओर अग्रसर होता,कांग्रेस के नेताओ के दुवारा लगातार मांग करने पर अब जाकर 18 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के नागरिकों को टीकाकरण की अनुमति प्रदान की गई है,ऐसे महामारी के समय भी भूपेश सरकार ने गरीबो और मज़दूरो को जीवन निर्वाह करने रोजगार गारंटी के तहत कार्य प्रदान किया, किसानों को धान का बोनस दिया,रेलवेस्टेशन,बस स्टेण्ड से लेकर एयरपोर्ट तक सभी जगह आने और जाने वालों का कोरोना टेस्ट कराने की व्यवस्था करना जैसे महत्वपूर्ण कार्य मे प्रशासन तंत्र लगा हुवा है। ऐसे नाजुक संक्रमण काल के समय विधायक को अनर्गल मिथ्या आरोप न लगाकर जनता जनार्दन की सेवा और सहयोग करने में राज्य सरकार का साथ देना चाहिये और अपने जनप्रतिनिधि होने का दायित्व निभाना चाहिये।पूर्व में जब इस महामारी का जन्म हुवा था उस समय देश के प्रधानमंत्री ने जनता जनार्दन से थाली और ताली बजवाकर,शंख और घंटी बजवाकर,दीपक और मोमबत्ती जलवाकर कोरोना को भगाने की अपील की गई थी उंसके स्थान पर यदि दवाइयों,अस्पतालों और वैक्सीन के निर्माण पर गंभीरता पूर्वक धयान दिया जाता तो आज देश और प्रदेश से कोविड़-19 का विनाश निश्चिय हो जाता और इस महामारी से जनता को राहत मिल जाती,यह महामारी इसकदर नही फैलती,कांग्रेस के नेताओ पर गुटबाज़ी का आरोप लगाकर अपनी जवाबदेही से विधायक शिवरतन शर्मा बचना चाहते है, आपकी पार्टी में कितनी गुटबाज़ी है और आप स्वयं किस तरह गुटबाज़ी करते है इससे पूरा क्षेत्र भली भांति परिचित है। अंत मे सुशील शर्मा ने विधायक से कहा कि इस संक्रमण काल के समय राज्य सरकार पर आरोप लगाने से बचें और सरकार के साथ कदम से कदम मिलाकर क्षेत्र की जनता को इस महामारी से बचाने सहयोग करने आगे आकर सड़को पर जन सेवा करें।

टीको और दवाइयों की आपूर्ति में बिचौलियों और दलालों की उपस्थिति सुनिश्चित करने में संलिप्त मोदी सरकार

रायपुर । 20 अप्रेल 2021। छत्तीसगढ़ ही नहीं पूरे देश के युवा वर्ग को टीकाकरण के सुरक्षा चक्र से वंचित करने के मोदी सरकार के तुगलकी फैसले और 1 मई से शुरू करने पर केंद्र सरकार द्वारा युवाओं को सुरक्षा चक्र देने से इनकार करने पर तीखी आपत्ति व्यक्त करते हुए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है मोदी सरकार ने स्पष्ट कर दिया है 18 से 45 वर्ष की आयु के युवा वर्ग को फ्री वैक्सीन नहीं दी जाएगी। टीको और दवाइयों की आपूर्ति में बिचौलियों और दलालों की उपस्थिति सुनिश्चित करने का काम मोदी सरकार ने किया है। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने मोदी सरकार के इस युवाविरोधी जनविरोधी फैसले को दूरदर्शितापूर्ण बता कर भाजपा का वास्तविक चरित्र उजागर कर दिया है। समाज के कमजोर वर्गों और गरीबों के लिए मुफ्त वैक्सीन दिए जाने का कोई प्रावधान मोदी सरकार की टीकाकरण नीति में नहीं किया गया है जो मोदी सरकार के गरीब विरोधी और कमजोर वर्ग विरोधी चरित्र का जीता जागता प्रमाण है। मोदी सरकार द्वारा 18 से 45 वर्ष की आयु वर्ग के लिए घोषित टीकाकरण नीति टीका वितरण नीति नहीं टीका वितरण में अन्याय की नीति है। मोदी सरकार ने टीको के मूल्य निर्धारण करने या पीको की सही दर में उपलब्धता सुनिश्चित कराने से भी इंकार कर दिया है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि मोदी सरकार ने चतुराई से वैक्सीन अभि‍यान के सबसे बड़े चरण के वित्त व्यवस्था को राज्यों पर छोड़ दिया है। मोदी सरकार इस बारे में भी खामोश है कि वैक्सीन उत्पादन कैसे बढेगा,कब तक बढ़ेगा,कितनी आबादी को वैक्सीन मिलेगी? प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि देश का नौजवान पहले से बेरोजगार है और जिनके पास नौकरी थी उसे भी लॉकडाउन ने छीन लिया, व्यापार खत्म है, पेट्रोल डीजल गैस की बढ़ते दामों और सुरसा की मुंह की तरह बढ़ती महंगाई से देश घिरा हुआ है और मोदी जी कहते हैं कि 18 से 45 वर्ष के लोगों को टीकाकरण के लिए पैसा लगेगा। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि ऐसी मोदी सरकार पर धिक्कार है जो करोना की आपदा में लगातार अवसर खोज रही है। मोदी सरकार की रुचि ना वैक्सीन सही दामों में उपलब्ध कराने की है और ना ही टीकाकरण का सुरक्षा चक्र युवा पीढ़ी तक पहुंचाने में है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है की नई टीका नीति की जो जानकारी आई है उसके मुताबिक देश में टीका बनाने वाली अब तक की दो कंपनियों के उत्पादन का आधा हिस्सा केंद्र सरकार लेगी और उसे राज्यों में 45 वर्ष से ऊपर के लोगों को टीका लगाने के लिए देना जारी रखेगी। दूसरी तरफ 18 वर्ष से ऊपर के लोगों को अपनी मर्जी से टीका लगवाने की छूट दे दी गई है और देश की दोनों टीका कंपनियां अपना आधा उत्पादन राज्य सरकारों को या खुले बाजार में अस्पतालों को अपनी मर्जी के रेट पर बेच सकेंगे और अस्पताल उन्हें एक मुनाफा लेकर लोगों को लगा सकेंगे। 18 से 45 वर्ष के बीच के लोगों की संख्या हिंदुस्तान में 40 50 करोड़ से अधिक है जबकि देश में तिको की मऊ ज्यादा उत्पादन क्षमता हर महीने 6 - 7 करोड़ ही है. जिस आयु वर्ग के लिए टीका लगाने की नीति घोषित की है उसके लिए अगले 6 महीने में भी देश में पर्याप्त टीके नहीं बनने वाले हैं। ऐसे मिट्टी को को बाजार मूल्य के आधार पर छोड़ देना स्वाभाविक रूप से टीकाकरण के कार्यक्रम में मुनाफाखोरी और कालाबाजारी को बढ़ावा देगा। मोदी सरकार का यह फैसला सीधे-सीधे समाज के गरीब वर्गों कमजोर वर्गो और बस्तर सरगुजा और ग्रामीण अंचलों में रहने वाले लोगों के हितों के खिलाफ लिया गया फैसला है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जिस तरह से नोटबंदी और जीएसटी के फैसले लिए और उससे उत्पन्न अव्यवस्था से आज तक देश का व्यापारी उबर नहीं पाया उसी तरह से यह 18 से 45 साल की टीका नीति घोषित की गई है। जब करो ना के पहले चरण के बाद आनन-फानन में पूरे देश में लागू डाउन लगा था तो लोग हक्का-बक्का रह गए थे और करोड़ों मजदूर हजार हजार किलोमीटर पैदल चलकर अपने गांव तक पहुंचे अनेक लोग ट्रेन में कटकर मारे गए न जाने कितने लोग भूखे प्यासे मर गए और मोदी सरकार के पास आज तक आंकड़े तक नहीं है कि कितने लोग मरे। मोदी सरकार की टीका नीति एक बार फिर से देश में वैसी ही अव्यवस्था को जन्म देने जा रही है जैसा नोटबंदी जीएसटी और पहले लॉकडाउन में हुआ था । छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी मोदी सरकार के इन तुगलकी फैसलों का विरोध करती है और मांग करती है कि टीकाकरण की नीति राज्यों से और विपक्षी दलों से विचार करके सही ढंग से बनाई जाए और मोदी सरकार अपनी गलतियों को स्वीकार करके उन गलतियों को सुधारने में ध्यान दें।

भाजपा प्रदेशा उपाध्यक्ष भाटापारा विधायक शिवरतन शर्मा ने कोरोना को लेकर सरकार पर लगाये कई आरोप .....

भाटापारा- भाजपा के प्रदेश। उपाध्यक्ष ने प्रदेश में जारी कोरोना महामारी के लिए प्रदेश सरकार और मुख्यमंत्री के गलत नीतियों को जिम्मेदार बताया। उन्होंने कहा कि कोवेक्सीन प्रदेश में केंद्र ने भेज दिया था लेकिन सरकार और उसके मंत्री उसे लेकर सिर्फ राजनीति करते रहे। यदि कोवेक्सीन समय पर लोगों को लगा दिया गया होता तो यह स्थिति नहीं आती। वर्तमान परिस्थिति एवं संक्रमण से बिगडते हालात के मद्देनज़र भाजपा द्वारा प्रदेश मे वर्चुवल प्रेस वार्ता का आयोजन किया गया जिसके तहत जिला स्तर पर भाजपा के नेताओं द्वारा प्रेस वार्ता का आयोजन किया गया, इसी कड़ी मे प्रदेश भाजपा उपाध्यक्ष एवं भाटापारा विधायक शिवरतन शर्मा द्वारा बलौदाबाजार भाटापारा जिला का प्रतिनिधित्व करते हुए वर्चुवल प्रेस वार्ता मे संक्रमण के हालात पर खुलकर चर्चा की गयी, एवं बिगडते हालात के लिए उनके द्वारा सरकार की खामियां गिनाई गई संक्रमण मे छत्तीसगढ़ पहले नंबर पर उन्होने कहा कि छत्तीसगढ़ भयंकरतम स्थिति से गुजर रहा है, भयावह स्थिति है, संक्रमितों का आंकड़ा 6लाख के निकट पंहुचनें वाला है, रिकवरी रेट गिरकर 74प्रतिशत पर पंहुच गया है, पांच हजार से अधिक लोग अपनी जान गवां चुके है, रोज सैकड़ो मौते हो रही हैं, ऐसे बिगडते हालात के बीच सरकार का रवैया सक्रियता के बजाय संवेदनहीनता का नजर आ रहा है, बदतर स्थिति का आलम यह है कि परिजनों को दो दो तीन तीन दिन तक लाश नहीं मिल रही है, साथ ही साथ डाक्टरों को घटिया मास्क और पीपीई कीट दिये जा रहें है, जिसके चलते उनके जोखिम का खतरा और भी ज्यादा बढ़ गया है, जिसके चलते उन्हे हड़ताल की चेतावनी भी देनी पड़ी, कुल मिलाकर छत्तीसगढ़ के हालात बद से बदतर हो रहा है, और सरकार हाथ पर हाथ धरे बैठी है टीके को बदनाम करने का पाप विधायक का कहना है कि छत्तीसगढ़ मे बिगडते हालत की अहम वजह है सरकार द्वारा परिस्थिति के मद्देनजर ठोस कदम उठाने के बजाय सियासी दांवपेंच मे उलझे रहना जिसके तहत उनके द्वारा भारतीय वैक्सीन को बदनाम करने का पाप भी किया गया है, जिस टीके की दुनियां भर मे तारीफ हो रही है, उसे बदनाम नहीं किया गया होता भ्रम की स्थिति नहीं पैदा की गयी होती तो आज ऐसी भयावह स्थिति निर्मित नहीं होती, और अभी शायद छत्तीसगढ़ मे वैक्सीनेशन की प्रक्रिया पूर्णता की ओर पंहुच चुकी होती। कालाबाजारी अक्षमता और भ्रष्टाचार विपदा के इस हालात मे नीरो की तरह चैन की बंशी बजाने जनता को अपने हाल मे छोड़ कर असम चुनाव मे मशगूल रहनें का मुख्यमंत्री पर आरोप लगाते हुए विधायक का यह भी कहना है कि सरकार इतनी संवेदनहीन हो चुकी है कि लगातार प्रदेश मे रेमडिसिविर इंजेक्शन की कमी और कालाबाजारी हो रही है, परंतु प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल एवं स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव इस विषय पर मौन है, और न ही ठोस कदम उठा रहें है, उल्टे दोनों की सियासी शीत युद्ध चर्चा का विषय बना हुआ है।और इन्ही विडम्बनाओं का खामियाजा पूरा प्रदेश भुगत रहा है, जिसकी बानगी कोविड जैसे महत्वपूर्ण बैठकों मे भी घृणित राजनीति के रुप मे सामनें आ रही है।

शटर बन्द कर बेच रहे थे सामान आधा दर्जन दुकानों को किया नगर निगम ने किया सील

रायपुर :- लालपुर फल मार्केट की भी तालाबंदी की गई विक्रेताओं को ठेले या टाटा एस जैसे वाहनों से घूम घूमकर सामान बेचने की हिदायत दी गई रायपुर नगर निगम की सभी अलग अलग जोनों में कोरोना प्रोटोकाल नियमों के तहत आज अलग अलग मामलों में कार्यवाही की गई लालपुर फल मार्केट को कल सुबह पुलिस की मदद से बन्द करवा दिया गया वहीं शटर बन्द कर सामान बेच रहे आधा दर्जन दुकानदारों पर भी कार्यवाही करते हुए उनकी दुकानों को सील कर दिया गया निगम के जोन क्रमांक 10 के कार्यपालन अभियंता शीबू पटेल ने बताया कि लालपुर स्थित थोक फल मार्केट में आज फल बेचने वाले विक्रेताओं की भीड़ लग गई थी कुछ लोग मार्केट के बाहर भी सड़क पर बैठकर फल बेचने लगे थे पुलिस की मदद से मार्केट के बाहर के दरवाजे को बन्द कर सील कर दिया गया वहीं सड़क पर बैठे विक्रेताओं को बैठकर व्यवसाय नहीं कर ठेले या टाटा एस जैसे वाहनों से घूम घूमकर फल या सब्जी की हिदायत दी गई इधर निगम के जोन क्रमांक 2 द्वारा मौदहापारा स्थित एक दुकान को सील किया गया जोन के नगर निवेश विभाग के उप अभियंता सोहन गुप्ता ने बताया कि दुकानदार बन्द शटर के भीतर से सामान बेच रहा था क्षेत्र में जो ठेले वाले एक जगह खड़े होकर व्यवसाय कर रहे थे उन्हें भी एक जगह खड़े ना रहकर घूम घूम कर व्यवसाय करने की समझाइश दी गई जोन दो के इंसिडेंट कमांडर द्वारा डब्ल्यू आर एस वर्क शाप के चीफ को आज दूसरी बार नोटिस भेजी गई उनसे कहा कि वहां के कर्मियों की कोरोना संक्रमित होने की खबरें लगातार आ रही है इस वजह से कर्मचारियों को सीमित संख्या में बुलाई जाए। साथ ही कार्य शुरू करने से पहले उनके स्वास्थ्य की जांच की जाए इधर निगम के जोन क्रमांक 3 के उप अभियंता निशा निराला ने बताया कि बीटीआई ग्राउंड शंकर नगर मोवा और पंडरी रोड पर सड़क पर बैठकर फल और सब्जी बेच रहे थे उन्हें ठेलों लगाकर घूम घूम कर बेचने की हिदायत देकर हटाया गया मोवा में एक सब्जी दुकान को सील भी कर दिया गया इसी तरह की कार्यवाही जोन क्रमांक 5 द्वारा डंगनिया और चंगोराभाठा के दो दुकानदारों के खिलाफ भी की गई जोन के जोन कमिश्नर चंदन शर्मा ने बताया कि दुकानदार दुकान की शटर को थोड़ी थोड़ी देर में सामान बेच रहे थे निगम प्रशासन द्वारा विक्रेताओं से लगातार अपील की जा रही है कि ठेले या टाटा एस जैसे वाहनों से घूम घूमकर व्यवसाय करें ताकि कहीं पर भीड़ इकट्ठी ना हो सके व्यवसायी छोटे छोटे चौपहिया वाहनों में लेकर अपनी सेवाएं डोर टू डोर भी दे सकते हैं फल और सब्जी विक्रेताओं को भी इसी तरह की समझाइश लगातार दी जा रही है

देश की 65% आबादी युवा वर्ग से आखिर मोदी सरकार को कौन सा बैर है

रायपुर। 19 अप्रेल 2021। पीआईबी द्वारा जारी किए गए प्रेस नोट के बाद जो तथ्य सामने आए हैं उसे देखते हुए कॉन्ग्रेस के प्रदेश संचार प्रमुख शैलेश नितिन त्रिवेदी ने केंद्र सरकार की आज की घोषणाओं पर सवालिया निशान खड़े करते हुए कहा है कि देश की आबादी का 65% युवा वर्ग से आखिर मोदी सरकार का कौन सा बैर है ? आज भी राज्यों को केंद्र सरकार 45 वर्ष से अधिक आयु के सभी व्यक्तियों के लिए वैक्सीन उपलब्ध नहीं करा पा रही है। वर्तमान में देश के वैक्सीन निर्माताओं का पूरा उत्पादन मिलकर भी 45 वर्ष से अधिक आयु के लोगों के लिए टीकाकरण की जरूरतों को पूरा नहीं कर पा रहा है। ऐसी स्थिति में केंद्र सरकार ने 1 मई से 18 साल की आयु तक टीकाकरण की अनुमति तो दी है लेकिन वैक्सीन इसके लिए कैसे उपलब्ध होंगे इस बारे में केंद्र सरकार द्वारा आज लिए गए फैसले पूरी तरह से युवा विरोधी है। आज के फैसलों के मुताबिक 18 साल से अधिक की आयु के युवाओं के लिए राज्य सरकार को टीका खरीदना होगा। युवाओं के लिए वैक्सीन केंद्र सरकार द्वारा उपलब्ध नहीं कराई जाएगी। मार्केट में आज कोई वैक्सीन उपलब्ध नहीं है। वैक्सीन की वैसे ही कमी बनी हुई है। इस कमी को देखते हुए आज 19 अप्रैल को केंद्र सरकार ने वैक्सीन निर्माताओं को इंसेंटिव देने का निर्णय लिया है। यह बहुत देर से लिया गया निर्णय है और इसके परिणाम स्वरूप वैक्सीन का उत्पादन बढ़ने में काफी देर लगेगी। 45 वर्ष से 18 वर्ष की आयु तक के लोगों का लिए वैक्सीन केंद्र सरकार द्वारा नहीं दी जाएगी और राज्य सरकार को इसकी खरीद करने के लिए आज के आदेश में कहा गया है । इस प्रकार 45 वर्ष से 18 वर्ष तक की आयु के लोगों के लिए वैक्सीन मार्केट से खरीदने का फैसला करके केंद्र कि मोदी सरकार ने युवाओं के टीकाकरण से अपनी जिम्मेदारी से बच निकलने का निर्णय लिया है जो पूरी तरीके से गलत और युवा विरोधी फैसला है। मार्केट में वैक्सीन की उपलब्धता है भी नहीं। 6 करोड़ वैक्सीन मोदी जी पहले ही कथित वैक्सीन डिप्लोमेसी के तहत विदेशों को दे चुके हैं। प्रदेश कांग्रेस के संचार प्रमुख शैलेश नितिन त्रिवेदी ने मोदी सरकार से पूछा है कि आखिर मोदी सरकार को देश की 65% आबादी युवा वर्ग से आखिर कौन सा बैर है ? दो करोड़ रोजगार हर साल देने की बात करके विगत 7 वर्षों से युवाओं को 14 करोड़ रोजगार के अवसरों से वंचित किया गया । पहले तो युवा वर्ग को टीकाकरण के सुरक्षा चक्र से बाहर ही रखा गया और अब 1 मई से टीकाकरण शुरू करने का फैसला तो लिया है लेकिन टीके उपलब्ध कराने की अपनी जिम्मेदारी से केंद्र ने पूरी तरह से पीछा छुड़ा लिया है। टीका शुरू करने की बात तो केंद्र सरकार कर रही है लेकिन टीके आएंगे कहां से इस पर खामोश है । टीका निर्माताओं को इंसेंटिव का रूप क्या होगा कैसे दिया जाएगा और इसके परिणाम बड़े हुए उत्पादन के रूप में कब तक सामने आएंगे यह मोदी सरकार नहीं बता रही है। 1 मई से 18 वर्ष तक के युवाओं के लिए टीकाकरण की मोदी सरकार की घोषणा कहीं 20 लाख करोड़ के करोना पैकेज की तरह हवाहवाई ही ना साबित हो जाए।

अस्पताल में आग लगने से हुई 6 की मौत, पुलिस ने दर्ज की FIR, पढ़िए पूरा मामला

रायपुर । राजधानी अस्पताल में आग लगने का मामले में एक और मरीज की आज मौत हो गई। 20 वर्षीय युवती को दूसरे अस्पताल में शिफ्ट किया गया था। आज उपचार के दौरान सांस थम गई।बता दें कि शनिवार को राजधानी अस्पताल में आग लगने से बड़ा हादसा हुआ था। मौके पर 5 लोगों की मौत हो गई जबकि अन्य को दूसरे अस्पताल में शिफ्ट किया गया था। एक और मौत के बाद अब मृतकों की संख्या बढ़कर 6 हो गई है।
रायपुर । राजधानी अस्पताल में आग लगने का मामले में एक और मरीज की आज मौत हो गई। 20 वर्षीय युवती को दूसरे अस्पताल में शिफ्ट किया गया था। आज उपचार के दौरान सांस थम गई।बता दें कि शनिवार को राजधानी अस्पताल में आग लगने से बड़ा हादसा हुआ था। मौके पर 5 लोगों की मौत हो गई जबकि अन्य को दूसरे अस्पताल में शिफ्ट किया गया था। एक और मौत के बाद अब मृतकों की संख्या बढ़कर 6 हो गई है।

प्रदेश में पहुंची 2 लाख डोज कोविशील्ड वैक्सीन

रायपुर। छत्तीसगढ़ में रविवार को कोविशील्ड वैक्सीन की दो लाख डोज पहुंची है। एयरपोर्ट में सुबह मुंबई से पहुंची फ्लाइट से 17 बॉक्स उतारे गए थे।  वैक्सीन के बॉक्स को स्वास्थ्य विभाग ने रिसीव कर लिया है। यह जानकारी राज्य टीकाकरण अधिकारी डॉ. अमर सिंह ठाकुर ने दी है। बता दें कि 16 अप्रैल को 6 लाख वैक्सीन के डोज प्रदेश को मिले थे। इनमें कोविशील्ड वैक्सीन के 4 लाख डोज और को-वैक्सीन के 2 लाख डोज मिले थे।

लू से बचाव करना जरूरी: लू से बचाव एवं प्रबंधन के लिए दिशा निर्देश

रायपुर, 31 मार्च 2021 राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग की सचिव एवं राहत आयुक्त सुश्री रीता शांडिल्य ने राज्य के सभी जिलों के कलेक्टरों को पत्र जारी कर इस साल भीषण गर्मी की संभावना को देखते हुए लू से बचाव एवं प्रबंधन करने आवश्यक कार्यवाही सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। राहत आयुक्त ने इस संबंध में सभी कलेक्टर्स को अपने-अपने जिले में एक वरिष्ठ अधिकारी को नोडल अधिकारी नियुक्त करने तथा प्रतिदिन लू से प्रभावितों की जानकारी राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग को प्रेषित करने के निर्देश दिए हैं। राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा कलेक्टरों को अपने जिलों में लू से बचाव के लिए लोगों को जागरूक करने के लिए सभी आवश्यक कार्यवाही करने के लिए निर्देश दिए गए हैं।
    प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों में गर्मी के इस मौसम में तापमान और बढ़ने की संभावना है। गर्मी के मौसम में लोगों को लू से प्रभावित होने की संभावना रहती है। सूर्य की तेज गर्मी के दुष्प्रभाव से शरीर पर के विपरीत प्रभाव पड़ता है। जिसके कारण शरीर का तापमान अनियंत्रित हो जाता हैं। शरीर की जैविक क्रियाओं को प्रभावित करता हैं। इस स्थिति को लू लगना (हीट स्ट्रोक) के नाम से जाना जाता है। जिसके कारण लू लगने की अधिक संभावना होती है।
    लू के विभिन्न लक्षण जैसे - सिर में भारीपन और दर्द का अनुभव होना, तेज बुखार के साथ मुंह का सूखना, चक्कर और उल्टी का आना, कमजोरी के साथ शरीर में दर्द होना। साथ ही शरीर का तापमान अधिक होने पर पसीना आना एवं भूख कम लगना, बेहोश होना।      लू लगने का प्रमुख कारण तेज धूप और गर्मी में ज्यादा देर तक रहने के कारण शरीर में पानी की कमी हो जाती हैं। इससे बचाव के लिए यह ध्यान रखना जरूरी है कि अधिक पसीना आने की स्थिति में ओ.आर.एस. घोल पीयें, बहुत अनिवार्य न हो तो घर से बाहर ना जावें, धूप में निकलने से पहले सर व कानो को कपड़ें से अच्छे से बांध ले, पानी अधिक मात्रा में पीयें, अधिक समय तक धूप में न रहें, गर्मी के दौरान नरम, मुलायम सूती के कपड़े पहनने चाहिए ताकि हवा और कपडें पसीने को सोखते रहे। चक्कर आने, मितली आने पर छाया दार स्थान पर आराम करें तथा शीतल पेयजल अथवा उपलब्ध हो तो फल का रस, लस्सी, मठा आदि का सेवन करें। उल्टी, सर दर्द, तेज बुखार की दशा में मरीज को निकट के अस्पताल अथवा स्वास्थ्य केन्द्र में तत्काल लेकर जाना चाहिए।
    लू लगने पर किया जाने वाला प्रारंभिक उपचार:- बुखार पीड़ित व्यक्ति के सर पर ठंडे पानी की पट्टी लगावें। अधिक पानी व पेय पदार्थ पिलावें जैसें कच्चे आम का पन्ना, जलजीरा आदि, पीड़ित व्यक्ति को पंखें के नीचे हवा में लेटा देवें, शरीर पर ठंडे पानी का छिड़काव करते रहे, पीड़ित व्यक्ति को शीघ्र ही किसी नजदीकी चिकित्सक, अस्पताल या स्वास्थ्य केन्द्र में मरीज को पहुंचाना चाहिए, प्रारंभिक सलाह के लिए आरोग्य सेवा केन्द्र दूरभाष नंबर 104 पर तत्काल निःशुल्क परामर्श लिया जा सकता है।
     
 

राज्य सरकार की अनेक सफलताओं के चलते आज राज्य में बेरोजगारी की दर घटी हैं और लोगों को रोजगार प्राप्त हुआ है :- निखिल द्विवेदी

रायपुर - युवा कांग्रेस के मीडिया विभाग चेयरमैन श्री निखिल द्विवेदी रायपुर में कांग्रेस पार्टी के प्रदेश कार्यालय राजीव भवन में रोजगार को लेकर विस्तृत रूप से प्रेस वार्ता की इस प्रेस वार्ता में प्रमुख रूप से राज्य की सरकार जो रोजगार उपलब्ध करा रही है 2020 में जब पूरी दुनिया कोरोना महामारी से अस्त व्यस्त थी उस परिस्थिति में राज्य की भूपेश सरकार राज्य के लोगों को रोजगार उपलब्ध कराने का कार्य कर रही थी साथ ही साथ निखिल द्विवेदी ने केंद्र की मोदी सरकार के खिलाफ जमकर हमला किया और जिस प्रकार सारी सरकारी संपत्तियों को केंद्र सरकार भेज दे रही है उसको लेकर हमला किया।

रायपुर के भगत सिंह चौक में युवा कांग्रेसी कार्यकारी अध्यक्ष महेंद्र गंगोत्री एवं चेयरमैन निखिल द्विवेदी ने भगत सिंह की मूर्ति के नीचे लोगों को शपथ दिलाई इस मोदी सरकार के खिलाफ युवा कांग्रेस खड़ी है और आगे की लड़ाई लड़ेगी उसके पश्चात नवनियुक्त चेयरमैन जी का भव्य स्वागत किया गया कार्यकर्ताओं द्वारा।।

 ▪️ छत्तीसगढ़ देश में 10 वा सर्वाधिक निजी निवेश प्राप्त करने वाला राज्य बन गया है।

▪️ राज्य में उद्योग स्थापित करने के लिए 104 समझौता ज्ञापन (एमओयू) किया।

▪️ छत्तीसगढ़ में मनरेगा में 29 लाख  81 हजार परिवारों को प्रतिदिन औषध 42 दिनों का रोजगार दिया।

▪️ 50 से अधिक वनों पशुओं को न्यूनतम समर्थन मूल्य में खरीदना राज्य सरकार की उपलब्धियां।।

▪️ गोधन या योजना जैसी योजनाओं से राज्य ही नहीं पूरे देश में एक अलग पहचान बनाई और गांव के लोगों का आर्थिक रूप से और मजबूती देने का कार्य राज्य सरकार ने किया।

मीडिया विभाग के प्रमुख निखिल द्विवेदी ने कहा की आज मैं राज्य एवं केंद्र सरकार की सफलता और असफलताओं को आपके सामने प्रस्तुत करने उपस्थित हुआ हूं जिस प्रकार केंद्र की सरकार लगातार युवाओं और आम लोगों के साथ दूर व्यवहार और रोजगार छीनने का कार्य कर रही है उसी तरफ राज्य की सरकार लगातार रोजगार उपलब्ध करा रही है आज गोदाना योजना हो या फिर किसानों का धान 25 00 क्विंटल खरीदना हो या आदिवासियों का वनोपज जैसे तेंदूपत्ता को 2000 मानक बोरा से 4000 मानक बोरा राज्य सरकार ने किया है राज्य सरकार को बहुत-बहुत बधाई देना चाहूंगा.
जिस प्रकार आज पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह ट्वीट करके वर्तमान के मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल को कह रहे हैं कि आप असम में रोजगार की बात कर रहे हैं बल्कि छत्तीसगढ़ में लोग बेरोजगार घूम रहे हैं मेरा तो सिर्फ पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह से एक ही कहना है कि जब से आप के पुत्र सांसद पद से हटे हैं तब से आप को रोजगार की चिंता होने लग गई है क्योंकि आपके पुत्र ही बेरोजगार हो गए हैं तो आपको आज रोजगार की फिक्र हो रही है पहले 15 वर्षों में छत्तीसगढ़ के युवाओं की फिकर की होती तो छत्तीसगढ़ के युवा के पास रोजगार होता।।

प्रेस कॉन्फ्रेंस में मुख्य रूप से मीडिया विभाग के चेयरमैन निखिल द्विवेदी कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र गंगोत्री राष्ट्रीय प्रवक्ता संजीव शुक्ला , एनएसयूआई प्रदेश अध्यक्ष आकाश शर्मा युवा कांग्रेस उपाध्यक्ष रेणु मिश्रा, युवा नेता आसिफ मेमन, प्रदेश सचिव गौरव दुबे, गौरव सिंह जिला अध्यक्ष नितिन चौरसिया, प्रिंस शर्मा, अमित बांद्रा, विधानसभा अध्यक्ष नितेश सिंह ठाकुर प्रदेश उपाध्यक्ष भावेश शुक्ला चेयरमैन तुषार गुहा आदि।।


 

श्री रावतपुरा सरकार शारीरिक शिक्षा महाविद्यालय के छात्र दुलामनी प्रावीण्य सूची में शामिल

रायपुर -  श्री रावतपुरा सरकार शारीरिक शिक्षा महाविद्यालय के छात्र दुलामनी प्रावीण्य सूची में शामिल होकर अपने माता पिता ही नहीं बल्कि श्री रावतपुरा सरकार शारीरिक शिक्षा महाविद्यालय का नाम रोशन किया है| छात्र दुलामनी ने पं. रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित बी.पी.एड परीक्षा सत्र - 2018-20 की प्रावीण्य सूची में तृतीय स्थान प्राप्त किया है | उनकी इस सफलता पर घर परिवार में खुसी का मौहोल है छात्र दुलामनी के  पिता बिदुआ राम ने  खुशी जाहिर करते हुए  महाविद्यालय के सभी स्टाफ को बधाई दी है | वही श्री रावतपुरा सरकार ग्रुप ऑफ इंस्टीटूशन्स के  उपाध्यक्ष डॉ. जे. के. उपाध्याय और नया रायपुर कैंपस के डायरेक्टर  ऐ. के. श्रीवास्तव एवं प्राचार्य डॉ. कर्मिष्ठ शंभरकर ने बधाइयाँ देते हुए उज्ज्वल भविष्य की कामना की है |

ग्रामीण इलाकों में गश्त करे पुलिस, चौपाल लगाकर सुनें पीड़ितों की समस्याएं- अवस्थी

महिला विरुद्ध अपराधों पर तत्काल कार्रवाई सुनिश्चित करें डीजीपी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग कर की सभी जिलों के अपराधों की समीक्षा

रायपुर 16 फरवरी। डीजीपी डीएम अवस्थी ने आज पुलिस मुख्यालय में सभी जिलों के अपराधों की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से समीक्षा की। बैठक में श्री अवस्थी ने कहा कि सभी जिले ग्रामीण इलाकों में घटित अपराधों में तीव्र कार्रवाई करें। इसके लिये थाना क्षेत्र के ग्रामों में भ्रमण करें साथ ही टीआई ग्रामों में पहुंचकर चौपाल का आयोजन करें। वहां पीड़ितों ,ग्रामीणों से मुलाकात करें और उनकी समस्याओं का निराकरण करें, साथ ही ग्राम से संबंधित दस्तावेजों को अद्यतन करें । इस व्यवस्था का पुलिस अधीक्षक भी स्वयं औचक निरीक्षण करें। ग्रामीण इलाकों के साथ बड़े शहरों में भी बीट सिस्टम के अनुरूप मोहल्लों एवं कॉलोनियों में जाकर बैठक आयोजित करें

तथा नागरिकों से संवाद स्थापित कर अपराधों पर नियंत्रण स्थापित करने हेतु प्रभावी पुलिसिंग करें । 
डीजीपी ने कहा कि महिला विरूद्ध, हत्या, लूट, डकैती जैसे गंभीर प्रकृति के अपराधों में तत्काल कार्रवाई करें। महिला एवं बाल विरुद्ध अपराधों में लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। रायगढ़ एवं जशपुर सहित सभी जिले महिला एवं बाल तस्करों के विरूद्ध कड़ी कारर्वाई करें। 

समीक्षा बैठक में डीजीपी ने कहा कि बेसिक, विजिबल और इंपैक्टफुल पुलिसिंग पर सभी पुलिस अधीक्षक जोर दें। नागरिकों को पुलिसिंग होते हुये दिखना चाहिये, इसके लिये सामुदायिक पुलिसिंग पर विशेष जोर दें। शिकायतकर्ता से पुलिस अधीक्षक स्वयं मिलें। पीड़ितों को त्वरित न्याय दिलाना पुलिस का कर्तव्य है। आपराधिक मामलों में तेजी से चालान पेश करने के साथ ही आरोपियों को सजा दिलाकर पीड़ित को न्याय दिलाना भी प्राथमिकता होनी चाहिये। 
 अवस्थी ने कहा कि छत्तीसगढ़ पुलिस पूरे देश में दूसरे स्थान पर आई है। इसका श्रेय भी सभी पुलिस अधिकारियों को जाता है। आप सभी अच्छा कार्य कर रहे हैं। पुलिसिंग के सभी क्षेत्रों में ध्यान दिया जा रहा है।  अवस्थी ने निर्देश दिये कि पुलिस सड़क दुर्घटनाओं में कमी लाने के प्रयास करे। 
बैठक में एडीजी  हिमांशु गुप्ता, डीआईजी   एससी द्वेदी,  हिमानी खन्ना, सभी आईजी एवं पुलिस अधीक्षक उपस्थित रहे।

बसंत पंचमी के अवसर पर बिलासा ब्लड बैंक द्वारा महारक्त दान और निःशुल्क नेत्र जांच शिविर का आयोजन

रायपुर - बसंत पंचमी के अवसर पर  बिलासा ब्लड बैंक द्वारा महारक्त दान और निःशुल्क नेत्र जांच शिविर का आयोजन किया गया इस आयोजन में शिवनाथ मोटर्स महिंद्रा शोरूम का विशेष योग दान रहा मेगा सर्विस कैंप के दौरान शिविर में कंपनी के युवा कर्मचारियों और ग्राहकों ने बढ़-चढ़कर किया रक्त दान ।
शिवनाथ मोटर्स महिंद्रा शोरूम के डायरेक्टर मनीष कुमार गुप्ता सर्विस जनरल मैनेजर ओंकार नंदा  के आयोजन में शिविर की शुरुआत विधानसभा रोड मोवा स्थित शोरूम और भनपुरी स्थित कमर्शियल रेंज के शोरूम में दीप प्रज्ज्वलन और गणपति वंदना के साथ  किया गया । इसके बाद उत्साही युवाओं के शिविर में आने लगे और एक के बाद एक  लगातार चलता रक्त दान देने का क्रम चलता रहा  शिविर में  लगभग 60 से अधिक लोगों ने पंजीकरण करवाया और 50 यूनिट के रक्त संगृहीत किया गया।
 रक्त दान के दौरान लोगों को स्वास्थ्य सम्बन्धी जानकारियां भी दी और कोरोना से बचाव के उपाय भी बताये गए । कार्यक्रम में सोशल डिस्टेंसिंग , मास्क और सनेटाइजर्स के उपयोग का भी खास ध्यान रखा गया और कोरोना गाइडलाइन्स का सम्पूर्ण रूप से पालन किया गया ।

Chhattisgarh : डीजीपी डीएम अवस्थी ने आदिवासियों पर दर्ज प्रकरण वापसी पर ली समीक्षा बैठक

रायपुर 29 जनवरी 2021  । मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देश पर आज यहां पुलिस मुख्यालय में आदिवासियों पर दर्ज प्रकरण वापसी पर समीक्षा बैठक आयोजित की गई। बैठक में डीजीपी डीएम अवस्थी ने प्रकरण वापसी के लिए स्पीडी ट्रायल चलाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि प्रकरण वापसी में लापरवाही बर्दास्त नहीं की जाएगी। मैं शीघ्र ही वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संबंधित जिलों की समीक्षा करूंगा। डीजीपी ने प्रकरणों की शीघ्र सुनवाई हेतु 08 जिलों क्रमशः जगदलपुर, दंतेवाड़ा, बीजापुर, कोण्डागांव, कांकेर, सुकमा, नारायणपुर एवं राजनांदगांव में नोडल अधिकारी नियुक्त किए। बैठक में सभी प्रकरणों की समीक्षा की गई।

       अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक गोरखनाथ बघेल, जिला कांकेर, उप पुलिस अधीक्षक शिल्पा साहू, जिला दंतेवाड़ा,  आदित्य पाण्डेय, उप पुलिस अधीक्षक (ऑप्स), जिला जगदलपुर, उप पुलिस अधीक्षक आशा सेन, जिला सुकमा,  दीपक मिश्रा, उप पुलिस अधीक्षक, जिला कोण्डागांव, उप पुलिस अधीक्षक उन्नति ठाकुर, जिला नारायणपुर,मिर्जा जियारत बेग, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, जिला बीजापुर,  कविलाश टण्डन, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, जिला राजनांदगांव का नोडल अधिकारी बनाया गया।

       संबंधित पुलिस अधीक्षकों को यह भी निर्देशित किया गया कि अत्यावश्यक परिस्थितियों को छोड़कर उक्त नोडल अधिकारियों से कोई भी अन्य कार्य न लिया जायें।

नोडल अधिकारियों को दी गई ये जिम्मेदारीः-

विचारण  हेतु संबंधित न्यायालय/न्यायालय के शासकीय अभिभाषक तथा कोर्ट मोहर्रिर से समन्वय कर पार्याप्त समयापूर्व साक्षियों के समंस जारी एवं तामिली करायेंगे एवं पेशी दिनांक को आरोपी एवं साक्षियों की उपस्थिति सुनिश्चित करेंगे। पेशी दिनांक के पूर्व साक्षियों की सूची का परीक्षण करेंगे एवं ऐसे साक्षी जो शासकीय सेवक हैं एवं अन्य जिलों में स्थानांतरित या सेवानिवृत्त हो गए हैं उनके समय पर सम्पर्क कर उनकी पेशी दिनांक को उपस्थिति सुनिश्चित करेंगे। उक्त प्रकरणों में एफ.एस.एल. एवं अन्य विशेषज्ञ की रिपोर्ट यदि अप्राप्त है तो समन्वय कर प्राप्त करेंगे।

डीजीपी ने वीरता एवं पुलिस सराहनीय सेवा पदक से सम्मानित होने वाले पुलिस अधिकारियों/कर्मचारियों का किया उत्साहवर्धन

रायपुर। डीजीपी डीएम अवस्थी ने आज ट्रांजिट मेस में आयोजित कार्यक्रम में गणतंत्र दिवस पर वीरता एवं पुलिस सराहनीय सेवा पदक से सम्मानित होने वाले पुलिस अधिकारियों/कर्मचारियों का उत्साहवर्धन किया। उन्होंने कहा कि आपकी वीरता पर विभाग को गर्व है। इन पदकों को प्राप्त करने के लिए प्रदेश भर से कई मापदंड पर खरा उतरने वाले जवानों को ही सम्मान प्राप्त होता है। आपके साहस एवं वीरता में आपके परिवार का भी योगदान रहता है, इसलिए आपके परिजनों को भी कार्यक्रम में आमंत्रित किया गया है। आप इन मेडल से संतुष्ट मत होइए, आपके वीरतापूर्ण कार्यों के लिए इससे भी बड़े पदक प्राप्त हों ऐसा लक्ष्य बनाकर रखिए। विगत 15 अगस्त को निम्नलिखितअधिकारियों को पुलिस वीरता पदक और राष्ट्रपति सराहनीय सेवा पदक देने की घोषणा की गई थी। पुलिस वीरता पदक : श्री अभिषेक मीणा, पुलिस अधीक्षक कोरबा, श्री मालिक राम, निरीक्षक  नारायणपुर, श्री महेंद्र सिंह ध्रुव, उप निरीक्षक कांकेर   राष्ट्रपति सराहनीय सेवा पदक : सहायक पुलिस महानिरीक्षक श्री राजेश अग्रवाल, सेनानी श्री विजय कुमार अग्रवाल, सहायक सेनानी श्री संजय कुमार दीवान, निरीक्षक श्री मोहम्मद याकूब, सहायक उप निरीक्षक श्रीमती सुनीता साहु, सहायक उप निरीक्षक संजय सिंह राजपूत,  ऐपीसी हरविलाश जाटव, प्रधान आरक्षक जयसिंह स्वादू, प्रधान आरक्षक बंदुराम नेताम, प्रधान आरक्षक अरविंद कुजूर और प्रधान आरक्षक स्वर्ण कुमार एक्का।

श्री रावतपुरा सरकार यूनिवर्सिटी के प्रति कुलाधिपति के पद पर आसीन हुए भूतपूर्व आईपीएस राजीव माथुर

रायपुर। श्री रावतपुरा सरकार यूनिवर्सिटी रायपुर को यूनिवर्सिटी के कुलाधिपति पूज्य रविशंकर जी महाराज (श्री रावतपुरा सरकार) के द्वारा प्रति कुलाधिपति के पद पर भूतपूर्व आईपीएस राजीव माथुर को नियुक्त किया गया. राजीव माथुर का एक लंबे प्रशासनिक कार्य अनुभव का लाभ यूनिवर्सिटी को प्राप्त होगा. राजीव माथुर ने इलाहाबाद विशवविद्यालय से एमएससी फीजिक्स और एमए हिस्ट्री किया है. विश्वविद्यालय के टॉपर होने पर Chancellor’s Gold Medal से सम्मानित हैं. आप छत्तीसगढ़ पुलिस के एडिशनल डी.जी. एडमिन और इंटेलीजेंस भी रहे हैं. आपने अमेरिका, इंग्लैंड, स्कॉटलैंड, आयरलैंड, फ्रांस, इटली, जर्मनी, स्वीट्जरलैंड, बेल्जियम, सिंगापुर का भ्रमण किया है. उनका प्रशिक्षण इंग्लैंड में हुआ था. राष्ट्रपति के अति विशिष्ट सेवा मेडल से अलंकृत किया जा चुका है. आपने पुलिस विभाग के विभिन्न पदों में रहते हुए कार्य किया, जिसमें सरदार बल्लभ भाई पटेल राष्ट्रिय पुलिस अकादमी हैदराबाद में डायरेक्टर, DG RPF, DG NCRB रहे हैं. साथ ही पूर्व में इंदौर, सागर तथा ग्वालियर ,सतना में एसपी और रायपुर रेंज के प्रथम आईजी रहे. आप छत्तीसगढ़ पुलिस के एडिशनल डीजी एडमिन और इंटेलीजेंस भी रहे हैं. पुत्री पारुल माथुर जांजगीर चांपा की पुलिस अधीक्षक है. इस नियुक्ति पर पूज्य महाराज श्री ने अपना आशीर्वाद प्रेषित किया और यूनिवर्सिटी के सतत विकास के लिए शुभकामनाएं दी. इस मौके पर नव नियुक्त प्रति कुलाधिपति राजीव माथुर ने सभी संकायों को संबोधित करते हुए उन्हें उत्कृष्ट रिसर्च एवं श्रेष्ठ गुणवत्ता वाली शिक्षा देने हेतु प्रेरित किया. कुलपति डॉ राजेश कुमार पाठक ने इस नियुक्ति पर हर्ष प्रकट करते हुए शुभकामनाएं प्रेषित की और कहा कि राजीव माथुर के विशाल अनुभवों का लाभ यूनिवर्सिटी को उत्कृष्ट बनाने प्राप्त होगा. यूनिवर्सिटी के निदेशक अतुल कुमार तिवारी एवं प्रभारी कुलसचिव वरुण गंजीर ने भी अपनी शुभकामनाएं दी. सभी विभागों के विभाग प्रमुख तथा शैक्षिणिक एवं गैर शैक्षिणिक स्टाफ ने हर्ष प्रकट करते हुए उन्हें शुभकामनाएं दीं.