क्राइम

अटल चौक में अधेड़ ने लगाई फांसी

गिधौरी ग्राम पंचायत पुलेनी के अटल चौक में 52 वर्षीय अधेड़ व्यक्ति से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली प्राप्त जानकारी के अनुसार मेला राम पिता रमेश यादव 52 वर्ष कबीर 20 वर्ष से ग्राम पुलेनी में निवास कर मवेशियों को चराने का कार्य करता था शुक्र शनिवार की रात 12:00 बजे वह अपने घर से निकाल कर ग्राम पुलेनी में बने अटल चौक के लोहे की छोटे से पाइप में फांसी लगाकर आत्महत्या कर लिया घटना की जानकारी रात में गांव वालों को होते ही सनसनी फैल गई ग्रामीणों द्वारा सूचना मृतक के भाई गोरे लाल यादव को दी गई शनिवार सुबह गोरेलाल एवं ग्राम कोटवार थाना गिधौरी पहुचकर रिपोर्ट दर्ज कराया

सकलकर्मी कबाड़ी चढ़ा पुलिस के हत्थे.. कई मामलों में पहले भी जा चुका है सलाखों के पीछे.. शराब से लेकर चोरी के मामलों का रहा है सरगना..

बिलासपुर शहर के बाहर राष्ट्रीय राजमार्ग 30 पर पेंड्रीडीह चौक पर स्थित मुस्तकीम कबाड़ी के ठिकाने पर पुलिस ने छापेमार कर्रवाई करते हुए चोरी का सामान खरीदकर रखा हुआ 40 हजार की कीमत वाला 5 टन कबाड़ जिसमे वाहन का डिस्क, सेंट्रिंग पाइप, चैनल गेट, नल पाइप जैसे समान बरामद हुए.. सालों से चोरी के समान का धंधा चला रहे मुस्तकीम और उसके परिवार वाले शहर के बाहर दुकान होने का फायदा उठाकर कबाड़ के साथ अन्य संगीन कार्यों को अंजाम देते है.. सूत्रों द्वारा बताया जा रहा है कि.. जिस तरह किसी दुकानदार के दुकान में कर्मचारी काम करता है.. वैसे ही मुस्तकीम कबाड़ी अपने दुकान में चोरी कर कबाड़ एकत्रित करने के लिए चोर कर्मचारी को काम पर रखता है.. इससे पूर्व में भी मुस्तकीम और उसके पिता पर चोरी का सामान खरीदकर कबाड़ में खपाने के चक्कर में सलाखों की हवा खा चुके है.. पूर्व में जब न्यायधानी में लोहे की खरीद फरोख्त में बैन लगा था तब कबाड़ की दुकान में शराब की हेरा फेरी करने का आरोप भी मुस्तकीम कबाड़ी पर लगा था..

ज्वेलर्स दूकान के मालिक ने खुद चोरी कर फैलाई अफवाह, पुलिस ने किया गिरफ्तार

महासमुन्द:-कर्ज में डूबे सोने चांदी के व्यापारी ने अपनी ही दुकान में चोरी कर लाखों की चोरी की अफवाह फैलाने वाले आरोपी को तेंदुकोना पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। तेंदुकोना पुलिस को घटना दिनांक को सूचना मिलने के बाद दुकान की स्थिती देखने से यह शंका थी कि दुकान में चोरी नहीं बल्कि चोरी करवाई गई है। पुलिस के संदेह करने के पिछे का कारण था कि दुकान में लगे सटर के ताले टूटे नहीं थे। लॉकर जो 8 चाबियों से खुलता है उसे भी आरोपी ने चांबी से खोला था और पुलिस को गुमराह करने के लिए आसपास स्क्रुूड्राईवर छोड़ा था ताकि पुलिस को लगे कि ज्वेलर्स के दुकान में सच में चोरी हुई है। पुलिस ने आरोपी गणेश ज्वेलर्स के संचालक जितेन्द्र सोनी को गिरफ्तार कर उसके मौसेरे के भाई के घर से सोने चांदी के जेवरात बरामद कर लिया है। पुलिस को आरोपी जितेन्द्र सोनी ने जानकारी दी है कि वह अपने ही दुकान में चोरी किया क्योंकि कि वह अपने एक दोस्त की मदद करना चाहता था। पुलिस की जानकारी में यह बात सामने आई है कि वह कर्ज में डूबा हुआ है और कई लोगों से लाखों का कर्जदार है।

गौरतलब है कि 28 फरवारी को सुबह के वक्त गणेश ज्वेलर्स तेंदुकोना के दुकान में काम करने वाली लडक़ी जब दुकान पहुंची तो उसने देखा कि दुकान के ताले दुकान में लगे नहीं है और एक ताला सटर से गायब है। दुकान की कर्मचारी ने गणेश ज्वेलर्स के संचालक जितेन्द्र सोनी के भाई को मामले की जानकारी दी। सूचना मिलते ही वह दुकान पहुंचा तो उसे चोरी का संदेह हुआ और उसने तत्काल तेंदुकोना पुलिस को मामले की जानकारी दी। सूचना पर पुलिस पहुंची और दुकान के अंदर प्रवेश किया तो देखा की दुकान के लाकर में रखे सोने चांदी के जेवरात लॉकर में नहीं है और लॉकर खुला पड़ा है। इसके अलावा दुकान में लगे सीसीटीवी भी गायब है। पुलिस पूछताछ की तो दुकान में मौजूद कर्मचारियों ने जानकारी दी कि दुकान का मालिक अपनी पत्नी को लाने के लिए कल रात से ही नागपुर गया है। पुलिस ने दुकान के संचालक से मोबाइल पर बातचीत कर घटना की जानकारी दी और उसे तत्काल तेंदुकोना पहुंचने के लिए कहा। घटना की सूचना पाकर जितेन्द्र सोनी 28 फरवरी की शाम तेंदुकोना पहुंचा। पुलिस ने उससे पूछताछ की कि कितने कि ज्वेलरी लॉकर में रखी थी जो चोरी हो गई है तो वह पुलिस को गोलमोल जवाब देते हुए बताया कि वह बिल देखकर ही बता पायेगा। पुलिस को प्रांरभ से ही घटना पर शंका थी। पुलिस ने उसे बिल का मिलान करने का समय भी दिया लेकिन वह पुलिस को गोलमोल जवाब देता रहा। पुुलिस का संदेह यकीन में बदल गया और आरोपी जितेन्द्र सोनी को पुलिस थाने में बुलाकर पूछताछ की तो उसने खुद ही यह अपराध करना कबूल कर लिया है।

पुलिस को आरोपी ने जानकारी देते हुए बताया कि वह 27 फरवरी को रात्रि में ही अपने दुकान पहुंचा और दुकान का ताला खोला, लॉकर का ताला खोला और सोने चांदी को एक बैग में भरा साथ ही दुकान के सीसीटीवी को निकालकर बैग में रखा। दुकान से बाहर निकलकर आरोपी ने दुकान में चोरी हुई है ऐसे पुलिस को दिखाने के लिहाज से एक ताला फैंक दिया और दूसरा सटर पर ही छोड़ कर दुकान को थोड़ा सा खुला छोडक़र अपनी कार से दुर्ग के लिए निकल गया जहां उसका मौसेरे भाई का घर था। रात्रि में ही वह दुर्ग पहुंचा और अपने मौसेरे भाई को कहा कि कल सुबह तुम्हारी भाभी (अपनी पत्नी) को लाने नागपुर चलते है, कहते हुए आराम करने एक कमरे में चाल गया। सुबह वह अपने साथ लाये बैग को वहीं एक कमरे में छुपा दिया और नागपुर के लिए निकल गया। रास्ते में ही उसे अपने दुकान में चोरी की सूचना मिली तो वह वापस तेंदुकोंना लौट गया। पुलिस ने जब दुर्ग पहुंच कर उस घर की तलाशी ली तो बैग में रखे सोने चांदी के जेवरात जो वह अपने दुकान से लेकर गया था पुलिस ने बरामद कर ली है। आरोपी जितेन्द्र सोनी के मौसेरे भाई के परिवार को इस घटना की कोई जानकारी नहीं है।

मछली व्यवसायी हुआ लूट का शिकार, साढे सात लाख रुपए से भरा बैग छीनकर भागे बाइक सवार लूटेरे

कोरबा:-मानिकपुर चौकी थानांतर्गत आने वाले मुड़ापार क्षेत्र में मछली व्यवसायी लूटपाट का शिकार हो गया। बताया जा रहा है कि बाइक पर सवार दो लोगों ने मछली कारोबारी के हाथ से रुपये से भरा बैग छीन लिया और फरार हो गए। बैग में करीब साढ़े सात लाख रुपये थे। लूट को अंजाम देने के बाद लुटेरे शारदा विहार की तरफ भाग निकले। इस छीना झपटी के दौरान मछली व्यवसाई को चोट आई है। सुचना मिलने के बाद पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुंच चुके है। पुलिस जांच में जुटी हुई है। लुटेरों की धरपकड़ के लिए पुलिस ने नाकेबंदी शुरू कर दी है। सूत्रों की माने तो पूरी वारदात को तब अंजाम दिया गया जब व्यवसायी दूसरे कारोबारियों से पैसे कलेक्ट कर लौट रहा था।

जांजगीर चापा : ट्रक ड्राइवर ने नाबालिक बच्ची से ट्रक में किया दुष्कर्म....आरोपी गिरफ्तार

जांजगीर चाम्पा जिले के मुलमुला पुलिस ने स्कूल में पढ़ने वाली नाबालिक बच्ची से दुष्कर्म के मामले में एक आरोपी ट्रक ड्राइवर को अभिषेक चौहान पिता रामकृष्ण गिरिफ्तार कर लिया है वही आरोपी ट्रक ड्राइवर अभिषेक चौहान ग्राम शंकर पूरी जिला बलिया उतर प्रदेश का बताया जा रहा है गिरिफ्तार आरोपी को न्यायिक रिमांड में भेज दिया गया है । दरसअल ,,पुलिस के मुताबिक नाबालिक लड़की अपने घर जा रही थी की अचानक रास्ते मे लड़की को देख ट्रक ड्राइवर अभिषेक चौहान पिता रामकृष्ण ने गाड़ी रोक उससे पामगढ़ घुमाकर लाता हु बोल कर उससे ट्रक में बैठा किया वही पहले से थोड़ी जान पहचान होने के कारण नाबालिक ट्रक में बैठ गयी जिसके बाद आगे जाकर पकरिया मोड़ के पास आरोपी अभिषेक चौहान ने जान से मारने की धमकी देते हुए शीशे में कंबल लगा कर नाबालिक को जान से मारने की धमकी देकर उससे दुष्कर्म किया और उससे छोड़ कर चला गया जिसके बाद नाबालिक लड़की अपने परिजन के साथ थाना आकर रिपोर्ट दर्ज कराई वही रिपोर्ट दर्ज कर पुलिस ने विवेचना में लेते हुए वही पुलिस ने आरोपी अभिषेक चौहान को लाफार्ज सीमेंट के पास से गिरिफ्तार कर लिया है और आरोपी अभिषेक चौहान को न्यायिक रिमांड में भेजा गया गया है

अकलतरा : लापरवाही पूर्वक वाहन चलाना पड़ा महँगा आरोपी वाहन चालक को भादवि के विभिन्न धाराओं के अंतर्गत कारावास एवं अर्थण्ड की सजा

न्यायायिक दंडाधिकारी प्रथम श्रेणी न्यायालय अकलतरा श्रीमान आनंद बोरकर द्वारा उपेक्षा एवम लापरवाही पूर्वक बुलेरो वाहन चलाते हुए वाहन पलटाने के परिणामस्वरूप उसमे सवार 08 व्यक्तियों को उपहति एवम एक व्यक्ति की मृत्यु होने के आरोपी वाहन चालक संदीप देवांगन को भादवि के विभिन्न धाराओं के अंतर्गत कारावास एवं अर्थण्ड की सजा सुनाई गई। घटना दिनाँक 21.06.2014 को प्रार्थी गोविंद दास वैष्णव,कृष्णा यादव,शांतिलाल,सुमित, नवधादास,थानु साहू,गोपाल महंत, टेकराम,शिवकुमार सभी निवासी ग्राम बेलहाडीह ,थाना बाराद्वार शादी कार्यक्रम में ग्राम बेलहाडीह से ग्राम रायपुरा,थाना बाराद्वार निवासी आरोपी संदीप देवांगन द्वारा चालित बुलेरो वाहन से ग्राम दहकोनी, थाना बलौदा आये थे तथा शादी कार्यक्रम बाद दहकोनी से बेलहाडीह वापस जाते समय थाना बलौदा स्थित ग्राम रसौटा-दहकोनी मोड़ के पास पहुचे तब बुलेरो वाहन के चालक संदीप देवांगन ने वाहन उपेक्षा एवं लापरवाही पूर्वक चलाते हुये वाहन रोड में पलटा दिया जिससे वाहन में सवार प्रार्थी गोविंद वैष्णव के अलावा सवार सभी व्यक्तियों को भी चोटें आई । प्रार्थी की रिपोर्ट पर आरोपी संदीप देवांगन के विरुद्ध थाना बलौदा में धारा 279,337 भादवि के अंतर्गत अपराध पंजीबद्ध की गई,विवेचना दौरान घटना समय दुर्घटना कारित वाहन में सवार शिव कुमार साहू को आई चोट के इलाज दौरान फौत होने का साक्ष्य पाए जाने पर आरोपी के विरुद्ध धारा 304a भादवि भी जोड़ी गई एवम शेष विवेचना पूर्ण कर चालान विचारण हेतु माननीय न्यायिक दंडाधिकारी प्रथम श्रेणी न्यायालय अकलतरा में पेश किया गया। अकलतरा न्यायालय में चालान प्रस्तुति के पश्चात न्यायालय में गवाहों के परीक्षण-प्रतिपरीक्षण,तर्क के बाद माननीय न्यायिक दंडाधिकारी प्रथम श्रेणी न्यायालय अकलतरा श्रीमान आनंद बोरकर द्वारा आरोपी संदीप देवांगन के विरुद्ध लगाए गए आरोपो को सही पाते हुए उसे दोषी पाया एवम भादवि की धारा279 के तहत 01 माह का साधारण कारावास एवम 200 रुपये अर्थ दंड,धारा 337(08 बार)के अंतर्गत 01-01माह का साधारण कारावास एवं 100-100रुपये अर्थदंड तथा धारा 304a के तहत 03 माह का साधारण कारावास एवम 200 रुपये अर्थदंड की सजा सुनाई। शासन की ओर से प्रकरण में सहायक जिला लोक अभियोजन अधिकारी एस. अग्रवाल ने पैरवी की।

शासकीय कोयला चोरी मामले में एसईसीएल का असिस्टेंट मैनेजर सहित 4 आरोपी गिरफ्तार

रायगढ़:-एसईसीएल जामपाली घरघोड़ा कोयला खदान के अधिकारी और ट्रांसपोर्टरों के मिलीभगत में शासकीय कोयला चोरी का मामला सामने आया है। मुखबिर से मामले की भनक लगते ही पूंजीपथरा थाना प्रभारी निरीक्षक अमित सिंह ने पुलिस अधीक्षक संतोष सिंंह को जानकारी दी। जांच के दौरान एसईसीएल के असिस्टेंट मैनेजर सहित 4 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया। मामले आरोपी ने एसईसीएल जामपाली खदान के असिस्टेंट मैनेजर सुमंता कुमारा से सांठगांठ कर शासन के कोयले को चोरी कर अवैध रूप से लाभ कमाया। वाहनों की जब्ती होने पर जानकारी मिली कि आरोपी असिस्टेंट मैनेजर सुमांता कुमारा ने अपने सहयोगी आरोपी छोटू मुंशी और यशवंत साहू के साथ मिलकर खदान के गेट पर लगे कैमरे का फुटेज डिलीट कराया था। फूटेज में वाहनों के प्रवेश और कोयला लेकर निकलने के साक्ष्य मौजूद थे। आरोपी छोटू मुंशी उर्फ ईश्वर ने ट्रांसपोर्टर फरार आरोपी त्रिलोचन उर्फ बबलू और दीपक कुमार से बातचीत कर उनके वाहन से कोयला चोरी करने के लिए खदान में असिस्टेंट मैनेजर सुमांता कुमारा व कुछ व्यक्तियों के साथ अपराधिक सांठगांठ किए थे। मामले में योगेश कुमार सिंह उर्फ शंभू खैरवार (27) निवासी जयराम नगर कछार थाना मस्तूरी जिला बिलासपुर, हाल हनुमान चौक घरघोड़ा व बूम बैरियर आॅपरेटर जाम पाली कोल माइंस, ईश्वर प्रसाद साहू उर्फ छोटू साहू (32) निवासी कूड़ेकेला थाना घरघोड़ा जिला रायगढ़,यशवंत कुमार (21) कोसमघाट थाना घरघोड़ा जिला और सुमांता कुमारा ( 40) निवासी देवगांव थाना ब्रजराजनगर जिला झाड़सुगुड़ा उड़ीसा को गिरफ्तार किया गया। अन्य आरोपी फरार हंै, जिनकी तलाश की जा रही है। प्रकरण को सामने लाने में निरीक्षक अमित सिंह थाना प्रभारी पूंजीपथरा, पूंजीपथरा के सहायक उपनिरीक्षक चंदन सिंह नेताम , एएसआई जीपी बंजारे, आरक्षक बालचंद राव, धर्मेंद्र सिंह, विनोद शर्मा भगवती प्रसाद रत्नाकर की विशेष भूमिका रही।

पुलिस ने चार मोटरसाइकिल चोरों को धर दबोचा: चोरी की 8 मोटर सायकिल बरामद

छतीसगढ़ : बिलासपुर : अजीत मिश्रा :

बिलासपुर। शहर में मोटरसाइकिल चोरी की बढ़ती घटनाओं से आखिरकार पुलिस विभाग को एक बड़ी कामयाबी मिली है। पुलिस ने मुखबीर चार बाइक चोरों को धर दबोचने में सफलता हासिल की है। बाइक चोरी के आरोप में धरे गए  इन 4 लोगों में से दो बाइक चोर नाबालिग हैं। 22 फरवरी को तेलीपारा से एक्टिवा चोरी होने के बाद सक्रिय हुई पुलिस लगातार चोरों की तलाश कर रही थी। इसी दौरान पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि दो लड़के चोरी की मोटरसाइकिल बेचने की फिराक में ग्राहकों की तलाश कर रहे हैं ।सूचना पाने के बाद पुलिस ने गांधी चौक के पास घेराबंदी करते हुए तिफरा निवासी महेश उर्फ सोनू मानिकपुरी और अशोक नगर स्थित निवासी सतपाल उर्फ कोरा साहू को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो पता चला कि वे दोनों अपने  दो नाबालिग साथियों के साथ मिलकर शहर के अलग-अलग हिस्सों से मोटरसाइकिल और स्कूटी की चोरी कर रहे थे, जिन्हें उन्होंने अलग-अलग जगहों में छुपा कर रखा था। सिटी कोतवाली पुलिस ने महेश मानिकपुरी से तीन मोटरसाइकिल और सतपाल से एक मोटरसाइकिल जप्त की तो वही इनके दोनों नाबालिग साथियों के पास से चार स्कूटी और एक मोटरसाइकिल बरामद की गई है। चोरी की 8 मोटरसाइकिल और स्कूटर की कीमत 1 लाख 60 हज़ार के आसपास आंकी गई है ।पता चला कि ये सभी चारों आरोपी मौका पाकर टू व्हीलर पार किया करते थे ।जिन्हें कम कीमत पर लोगों को बेच दिया जाता था। इस मामले में दो आरोपियों को जेल भेज दिया गया है तो वही दो अन्य नाबालिगों को  बाल सुधार गृह भेज दिया गया है।

एक ही समय पर दो स्थानों पर शासकीय नौकरी करना पड़ा महँगा ...हुई कठोर कारावास एवं अर्थदण्ड की सजा

न्यायायिक दंडाधिकारी प्रथम श्रेणी न्यायालय पामगढ़ श्रीमान शिव प्रकाश त्रिपाठी द्वारा एक ही समय पर दो स्थानों पर शासकीय नौकरी कर दोनो स्थानों की उपस्थिति पंजी पर झूठा हस्ताक्षर कर छल करने के आरोपी मनोज कुमार साहू को भादवि की अलग2धाराओं में कठोर कारावास एवं अर्थदण्ड की सजा सुनाई गई। आरोपी मनोज कुमार साहू वर्ष 2010 से अप्रैल2013 तक जिला कोरबा,विकास खंड पोड़ी उपरोड़ा अंतर्गत पनगवा स्थित शा पूर्व माध्यमिक शाला में शिक्षाकर्मी के पद पर कार्यरत रहते हुए, जिला जांजगीर चाम्पा अंतर्गत खरौद स्थित लक्ष्णमेश्वर महाविद्यालय में विज्ञापित प्रयोगशाला परिचालक के पद पर आवेदन किया जिसमे फरवरी2013 को आरोपी का नियुक्ति आदेश जारी हुआ जिसमें आरोपी द्वारा 01 मार्च 2013 को पदभार ग्रहण कर कार्य प्रारम्भ किया गया,दूसरी ओर आरोपी पनगवा शाला में भी शिक्षाकर्मी के पद पर अप्रेल 2013 तक कार्यरत रहा तथा मार्च-अप्रेल2013 में उक्त दोनों संस्थाओं में से एक स्थान पर उपस्थित होता था परंतु दोनो संस्थाओं की उपस्थिति पंजी पर बाद में स्वयं का झूठा हस्ताक्षर कर अपनी उपस्थित दर्शा कर दोनो संस्थाओं से वेतन प्राप्त करता था। आरोपी के उक्त कृत्य की शिकायत प्राप्त होने पर थाना शिवरीनारायण द्वारा आरोपी के विरुद्ध धारा 420,467,468,471 भादवि के अंतर्गत अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना प्रारम्भ की गई,विवेचना दौरान दोनों संस्थाओं में विवादित समयावधि में आरोपी की उपस्थिति सम्बन्धी दस्तावेजो को जब्त कर परीक्षण किया गया एवं दोनो संस्थाओं में आरोपी के साथ विवादित समय पर कार्य करने वाले व्यक्तियों के कथन लिए गए जिसमें शिकायत सही पाई गई शेष विवेचना पूर्ण कर चालान विचारण हेतु माननीय न्यायिक दंडाधिकारी प्रथम श्रेणी न्यायालय पामगण में पेश किया गया। पामगढ़ न्यायालय में चालान प्रस्तुति के पश्चात न्यायालय में गवाहों-दस्तावेजो के परीक्षण-प्रतिपरीक्षण,तर्क के बाद माननीय न्यायिक दंडाधिकारी प्रथम श्रेणी न्यायालय पामगढ़ श्रीमान शिव प्रकाश त्रिपाठी द्वारा आरोपी मनोज कुमार साहू के विरुद्ध लगाए गए आरोपो को सही पाते हुए उसे दोषी पाया एवम भादवि की धारा420 के तहत 02 वर्ष कठोर कारावास,धारा 467 के तहत 03 वर्ष कठोर कारावास,468 के तहत 02 वर्ष कठोर कारावास एवम 471 तहत 06 माह कठोर कारावास एवम अर्थदंड की सजा सुनाई। शासन की ओर से प्रकरण में लोक अभियोजन अधिकारी,अकलतरा एस.अग्रवाल एवं पामगढ़ के नवनियुक्त सहायक जिला लोक अभियोजन अधिकारी अनिल सिंह ने पैरवी की।

बिलासपुर : डॉक्टर ने शादी का झांसा दे कर नर्स का किया , दैहिक शोषण , मामला दर्ज

बिलासपुर : डॉक्टर द्वारा शादी का झांसा देकर करीब डेढ़ साल से नर्स का दैहिक शोषण किया जाता रहा। इस मामले में सिविल लाइन थाने में मामला दर्ज कर लिया गया है। सिविल लाइन थाने में दर्ज प्राथमिकी के अनुसार मंगला चौक स्थित कृष्णा अस्पताल में कार्यरत रिंग रोड क्रमांक 2 निवासी डॉ दीपक बंजारे ,कृष्णा अस्पताल में ही कार्यरत 24 वर्षीय गंगानगर निवासी नर्स को मोहब्बत के जाल में फंसा कर उसके साथ लगातार शारीरिक संपर्क बनाता रहा। डॉक्टर ने नर्स से शादी का वायदा किया था ।बताया जा रहा है कि 23 अगस्त 2018 से डॉक्टर लगातार नर्स के साथ जिस्मानी रिश्ते कायम कर रहा था, लेकिन जब भी नर्स उसे शादी की बात कहती तो वह टाल जाता । इसके बाद डॉ का व्यवहार बदल गया। खुद के छले जाने का एहसास होने पर नर्स ने सिविल लाइन थाने में बलात्कार का मामला दर्ज कराया है । इस मामले में सिविल लाइन पुलिस ने बलात्कार के आरोपी डॉक्टर दीपक बंजारे को फिलहाल हिरासत में ले लिया है , वही आरोप लगाने वाली नर्स का मुलाहिजा किया जा रहा है।

मोटर सायकल चोरी करके भागे दो चोर को पुलिस ने किया गिरफ्तार

छतीसगढ़ : मुलमुला : मुलमुला ग्राम सेवईडिह निवासी रामभरोस फरिश्ता. और उसके दोस्त जयपाल सूर्यवंशी.देवेन्द्र सूर्यवंशी. तीनों जो फोरलेन में गार्ड का काम करता था रोज कि तरह रात्रि में काम पर आया और अपने मोटर सायकल को सडक किनारे खडा करके अपने अपने काम में चला गया। काम से जब वापस आए तो देखा मोटरसाइकिल गायब था । उसके बाद थाना मुलमुला में मोटरसाइकिल चोरी होने का रिपोर्ट दर्ज कराया पुलिस के द्वारा पतासाजी करने पर दिनांक 23.02. 2020 को ग्राम पकरिया निवासी राहुल केंवट एवं जितेंद्र केंवट को चोरी के मोटरसाइकिल सहित पकड़ा गया जिसमें रिमांड पर जेल भेज दिया गया

चलती ट्रेन में चाय बेचने की आड़ में चोरी की घटना को देते थे अंजाम..पुलिस ने ऐसे किया खुलासा

अजीत मिश्रा

बिलासपुर:-जिले के तोरवा थाना क्षेत्र के पावर हाउस रोड में दो आरोपी के पास से चोरी का माल नगद रकम एक एयर पिस्टल और  लाखो रुपये का माल के साथ  तोरवा पुलिस ने धर दबोचा,जिनको हिरासत में लेकर और पूछताछ की जा रही है।। इस मामले का खुलासा करते हुए सिविल लाइन सीएसपी राम नारायण यादव और तोरवा थाना प्रभारी जेपी गुप्ता ने बताया कि पेट्रोलिंग कर रही पुलिस को सूचना मिली कि दो लोग पावर हाउस रोड में सोने और चांदी के जेवरात को बेचने में लगे है इस सूचना पर तोरवा थाना प्रभारी जेपी गुप्ता ने टीम बनाकर उनसे ग्राहक बन कर  संपर्क साधा और उनके पास रखे समान को देखने के बाद माल सहित थाना ले आया गया।।जहाँ उनसे पूछताछ की गई तो चोरी का माल होना स्वीकार किया और आरोपी मुकेश पटेल उर्फ पांतलु के पास से सोने चांदी के जेवरात और नगद रकम 40000 रुपए और एक एयर पिस्टल बरामद हुआ।।वही दूसरा आरोपी राजेन्द्र साहू जिसके पास से इलेक्ट्रॉनिक वैट मसीन सोने चांदी के जेवरात और नगद 60000 रुपये बरामद हुआ।।दोनो आरोपी तोरवा थाना क्षेत्र के ही और येलोग ट्रैन में चाय बेचने का काम करते थे और वही मौका पाकर ये लोग चोरी की घटना को अंजाम देते थे।।सभी चोरी बिलासपुर से जयपुर जाने वाले मार्ग की ट्रेन में ही चोरी की घटना को अंजाम दिए है।।वही अभी पुलिस इनसे और पूछताछ में लगी है ऐसा बताया जा रहा है कि इनसे और माल बरामद होने की आंशका है।।

जी॰पी॰एम॰ पुलिस द्वारा 24 घंटे के भीतर लूट का किया गया ख़ुलासा

( बिलासपुर / छतीसगढ़ )


सभी आरोपी गिरफ़्तार, कुल मशरूका बरामद

 दिनांक 17.02.2020 दोपहर 02:40 बजे पर कल्चरी नगर पीपल के पेड़ के पास प्राइवेट टीचर चाँदनी जायसवाल अपने स्कूल से पढ़ा कर वापस लौट रही थीं कि बाइक सवार तीन नवयुवक पास से गुज़रे फिर थोड़ी दूरी पर बाइक रोक कर वापस आए और उनका पर्स छीनकर भाग गए।

पर्स मे 2000 नगद और 12000 रुपए क़ीमत का मोबाइल रखा हुआ था। इसकी सूचना चाँदनी ने थाना गौरेला पुलिस को दी। जिसपर पुलिस ने तत्काल हरकत मे आते हुए अपराध दर्ज किया और वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देशन में विवेचना शुरू कर दी। पर्याप्त पतासाजी कर अपराध में लिप्त तीनो आरोपियों अतुल गुप्ता पिता अंजनी गुप्ता उम्र 19 वर्ष विनय केवट पिता दुःखरन उम्र 20 वर्ष और योगेश सोनवानी संतराम सोनवानी उम्र 19 वर्ष ( तीनो पेंडरा थाना क्षेत्र निवासी ) को सीसीटीवी फूटेज से पहचान करवाके गिरफ़्तार कर लिया गया और अपराध 38/2020 धारा 392 आई॰पी॰सी॰ में न्यायिक रिमांड पे भेज दिया गया। 

अपराधियों के पास से चाँदनी की निशानदेही का लाल लेडिस पर्स और उसमें रखे 2000 नगद और 12000 क़ीमत का मोबाइल फोन बरामद करने के साथ साथ घटना में प्रयुक्त TVS अपाचे बाइक भी ज़ब्त कर ली गई है।

बिलासपुर : नाबालिक को अपने घर लेजाकर उसके साथ किया दुष्कर्म, आदतन आरोपी कई बार जा चुका है जेल , पुलिस ने किया गिरफ्तार

( बिलासपुर / छतीसगढ़ )

सिरगिट्टी पुलिस ने मुस्तैदी दिखाते हुए महज 6 घण्टे के भीतर दोबारा किया गिरफ्तार

दरअसल पूरा मामला सिरगिट्टी थाना क्षेत्र के तिफरा का है जिसमे बीते दिनों राजा वैष्णव नामक युवक ने पास में ही रहने वाली नाबालिक को अपने घर लेजाकर उसके साथ दुष्कर्म करने की कोशिश की। जिसके बाद नाबालिक वहाँ से भागते हुए अपने घर पहुँची और पूरी घटना की जानकारी अपने पिता को दी। माता पिता के द्वारा दर्ज fir के बाद सिरगिट्टी पुलिस ने लड़के को गिरफ्तार कर गहन पूछताछ के बाद उसने चोरी के एक अन्य मामले में भी अपनी संलिप्तता स्वीकारी। इससे पहले की पुलिस दोनो मामले में कागजी कार्यवाही कर पाती राजा वैष्णव मौके का फायदा उठाते हुए थाने से चकमा देकर फरार हो गया। मामले की गंभीरता को देखते हुए सिरगिट्टी थाना के टी आई यू एन शांतकुमार व टीम ने बड़ी मुस्तैदी से पूरे इलाके की छानबीन की और आरोपी को मजह 6 घंटो के भीतर दोबार गिरफ्तार कर लिया। जहां उसकी होशियारी धरी की धरी रह गई। बाद में आरोपी के ऊपर पंजीबद्ध धाराओं में थाने से भागने का धारा जोड़ी गयी। इस तरह आरोपी के ऊपर कुल 3 अलग अलग धाराओं के तहत मामला दर्ज कर उसे न्यायालय के समक्ष पेश किया गया।

बिलासपुर पुलिस को 103 नग गुम हुवे मोबाईल,बरामद करने में मिली सफलता

पुलिस अधीक्षक बिलासपुर  प्रशांत अग्रवाल (भा.पू.से.) द्वारा जिले में गुम हुये मोबाईलो की तलाश कराकर उनके वास्तविक स्वामी को वापस कराने के उददेश्य से सायबर सेल बिलासपुर की टीम को दिशा निर्देश दिये जिसके परिपालन में उप पुलिस अधीक्षक सायबर सेल बिलासपुर  विश्व दीपक त्रिपाठी के नेतृत्व मंे सायबर सेल की टीम द्वारा विगत करीब 01 माह में लगातार कार्यवाही करते हुये गुमे हुये मोबाईलो की तलाश में लगे हुये थे इस दौरान कुल 103 नग गुमे हुये मोबाईल को बरामद करने में बिलासपुर पुलिस को सफलता प्राप्त हुई है। उक्त बरामद किये हुये मोबाईल फोन को पुलिस अधीक्षक बिलासपुर द्वारा सायबर सेल बिलासपुर में समारोह आयोजित कर उनके वास्तविक स्वामियो को वापस प्रदाय किया गया।
गुमे हुये मोबाईल को सायबर सेल की टीम द्वारा जिला एवं राज्य के अलावा दिगर राज्य के कलकत्ता, रिवा, अनूपपूर आदि स्थानो से भी काफी परिश्रम के बाद मोबाईल बरामद किया गया है इस दौरान मोबाईल प्राप्त करने आये हुये लोगो ने पुलिस के इस प्रयास की काफी सराहना किया तथा लम्बे समय से गुमे हुये अपने मोबाईल को बिलासपुर पुलिस की मदद से प्राप्त करने पर काफी हर्षित हुये तथा बिलासपुर पुलिस को साधूवाद देते हुये भविष्य में भी इसी प्रकार सराहनीय कार्य करने के लिये शुभकामनायें ज्ञापित किये। 
 बिलासपुर जिले में कार्यरत सायबर सेल विगत 2008 से लगातार कार्य करते हुये महत्वपुर्ण अपराधो को सुलझाने में विशेष भुमिका का निर्वाहन किया है विगत कुछ वर्षो से तारबाहर थाना परिसर के भवन में सायबर सेल कार्यालय संचालित था जिसमें रखरखाव एवं बैठक व्यवस्था समुचित न होने से कार्यरत कर्मचारियों को काफी असुविधा हो रही थी तथा बारिश के मौसम में भी कार्यालय के छत से पानी का रिसाव होने से उपकरणो के रख रखाव में समस्या होती थी तथा विभाग के कई महत्वपुर्ण उपकरण के खराब हो जाने की संभावना बनी रहती थी । पुलिस अधीक्षक बिलासपुर  प्रशांत अग्रवाल (भा.पू.से.) द्वारा सायबर सेल का भ्रमण कर उपरोक्त समस्याओ से रूबरू होकर उनके निराकरण हेतु अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर एवं ग्रामिण बिलासपुर तथा उप पुलिस अधीक्षक यातायात/सायबर सेल बिलासपुर  विश्व दीपक त्रिपाठी एवं सुबेदार  सोनू वर्मा को निर्देश देकर शीध्र कार्यालय के पुर्ननिर्माण मे कार्य प्रारम्भ करने का निर्देश दिये थे जिसके  परिपालन में लगातार कार्य सम्पादित कर आज दिनाॅक 17 फरवरी 2020 को सायबर सेल कार्यालय का पुर्न-लोकार्पण नवीन साज-सज्जा तथा नवीन उपकरणो के साथ पुलिस अधीक्षक बिलासपुर प्रशांत अग्रवाल (भा.पू.से.) के कर कमलो से सम्पादित हुआ ।