क्राइम

केरल: 50 लाख रुपए की नई करेंसी बरामद, तीन लोग गिरफ्तार

केरल से इनकम टैक्स विभाग ने शनिवार (14 जनवरी) को 50 लाख रुपए की नई करेंसी बरामद की। इनकम टैक्स विभाग ने पैसे ले जा रहे तीन लोगों को हिरासत में भी ले लिया है। गौरतलब है कि सरकार ने 8 नवंबर को नोटबंदी का ऐलान किया था। तब 500 और 1000 रुपए के नोटों को बंद कर दिया गया था। साथ ही 500 और 2000 रुपए के नए नोट भी तब ही लाए गए थे।

 

बेवफा होने के शक में पति को पत्नी ने गुंडों से पिटवाया, पांच लाख रुपये किए खर्च

पाकिस्तान में एक महिला ने अपने बेवफा पति को सबक सिखाने के लिए गुंडों से पिटवा दिया। महिला को इस बात का शक था कि उसके पति के संबंध किसी अन्य महिला से हैं। लुबना कमर रजा नाम की महिला को पुलिस ने इस संबंध में गिरफ्तार किया है। इस बात का शक है कि महिला का पति (रजा कमर इकबाल) उसे धोखा दे रहा था क्योंकि महिला के लगातार विरोध के बावजूद भी पति रात में देर से घर आता था। लुबना ने इस बात का जिक्र अपनी दोस्त कोसर के साथ किया, जिसने उसे बताया कि पेशावर में रहनेवाला उसका पति इकबाल को पिटवाने के लिए गुंडों का इंतजाम कर सकता है।
एक्सप्रेस ट्रिब्यून की खबर के मुताबिक, महिला ने अपने पति को सबक सिखाने के लिए गुंडों को पांच लाख रुपये दिए थे। भाड़े के गुंडों ने इस्लामाबाद पहुंचकर 15 अक्तूबर को लुबना के घर जाकर उसके पति की जम कर पिटाई कर दी। लुबना ने ही गुंडों को घर के मुख्य दरवाजे की चाबी भी दी थी। इस योजना पर से पर्दा उस समय हट गया जब इकबाल को पीटकर जा रहे गुंडों का सामना घर के ऊपरी हिस्से में रहनेवाले परिवार के अन्य सदस्य से हो गया। योजना का भेद खुल जाने के डर से गुंडों ने घर के एक व्यक्ति पर गोली चलाकर उसे गंभीर रूप से घायल कर दिया। यह मामला तत्काल पुलिस में दर्ज किया गया। पुलिस ने जांच के बाद लुबना को गिरफ्तार किया।

 

नोएडा में 18 लाख रुपये के नए नोट बरामद, तीन गिरफ्तार

नोएडा। नोएडा के सेक्टर 57 से 18 लाख रुपये के नए नोट जब्त किए गए और इस संबंध में तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने बताया कि उत्तर प्रदेश आतंकवाद रोधी दस्ता (एटीएस) और आयकर (आई-टी) विभाग के दल ने शनिवार शाम तीन आरोपियों- जींद से विनय कुमार और हिसार से महेंद्र कुमार और प्रवीण कुमार को गिरफ्तार किया।
उत्तर प्रदेश एटीएस (पश्चिम उत्तर प्रदेश शाखा) के पुलिस उपाधीक्षक अनूप सिंह ने बताया है कि ऐसी गुप्त सूचना मिली थी कि सेक्टर 57 के बिशनपुरा गांव में कुछ लोगों के पास बेहिसाब मात्रा में नकली मुद्रा हैं जिसके बाद ये गिरफ्तारियां हुईं।  उन्होंने बताया कि दल ने आरोपी की कार की तलाशी ली जिसमें से 2,000 रुपये के नोटों में 18 लाख रुपये के नए मुद्रा नोट मिले।
डीएसपी ने बताया कि उसके पास से कोई नकली मुद्रा या पुराने नोट बरामद नहीं हुए। कार को भी जब्त कर लिया गया है। उन्होंने बताया कि दल आरोपी से पूछताछ कर रहा है और उसकी सूचना के आधार पर अभी और गिरफ्तारियां तथा जब्ती किए जाने की संभावना है।

आखिर पकड़ी गई 11 अमीर लोगों को पति बना कर दौलत लूटने वाली महिला

कोच्चि के रहनेवाले लॉरेन जस्टिन ने अक्टूबर में अपनी पत्नी मेघा के खिलाफ केस दर्ज कराया था। केस में जस्टिन ने आरोप लगाया था कि शादी समारोह के कुछ समय बाद उसकी पत्नी करीब 15 लाख रुपये मूल्य के गहने लेकर फरार हो गई है।

केरल पुलिस ने नोएडा पुलिस की मदद से एक ऐसी युवती को गिरफ्तार किया है जिसने 11 अमीर युवकों से शादी की और उसकी दौलत लूटकर फरार हो गई। नोएडा के सेक्टर 120 स्ठित आम्रपाली जोडिएक सोसायटी से पुलिस ने 28 साल की मेघा भार्गव नाम की युवती को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने ठगने वाली लूटेरी दुल्हन के साथ-साथ उसकी बहन और जीजा को भी शनिवार को गिरफ्तार किया है। अब तक की जांच से ये खुलासा हुआ है कि इस युवती ने एक ही तरीके से 11 बार शादी करके दूल्हों को लाखों रुपये का चूना लगाया है।
नोएडा पुलिस के मुताबिक, आरोपी युवती सोसायटी के जेड टावर के फ्लैट नंबर 1104 में अपनी बहन प्राची भार्गव और जीजा देवेंद्र शर्मा के साथ रह रही थी। ये सभी मूलरूप से ग्वालियर (मध्य प्रदेश) के निवासी हैं। केरल में लाखों रुपये की ठगी के मामले में वहां की पुलिस इन्हें तलाश कर रही थी। इनकी लोकेशन मिलने पर केरल पुलिस एक सप्ताह से नोएडा में डेरा डाले हुए थी। फेज थ्री पुलिस के सहयोग से दबिश देकर तीनों को गिरफ्तार कर लिया गया। युवती ने केरल, मुंबई, पुणे, राजस्थान में वारदात को अंजाम दिया है। करीब डेढ़ महीने पहले ही इनलोगों ने सोसायटी में किराये पर फ्लैट लिया था।
दरअसल, कोच्चि के रहनेवाले लॉरेन जस्टिन ने अक्टूबर में अपनी पत्नी मेघा के खिलाफ केस दर्ज कराया था। केस में जस्टिन ने आरोप लगाया था कि शादी समारोह के कुछ समय बाद उसकी पत्नी करीब 15 लाख रुपये मूल्य के गहने लेकर फरार हो गई है। इसके करीब दो महीने बाद जांच करते हुए केरल पुलिस नोएडा आ पहुंची। जहां उसने स्थानीय पुलिस की मदद से इन तीनों को गिरफ्तार कर लिया। केरल में जस्टिन चौथे शख्स हैं जिसे मेघा ने दुल्हन बनकर लूटा है।
गिरफ्तारी के बाद मेघा ने पुलिस को बताया कि उसने पहले 3 शादियां की थी, लेकिन उसकी बनी नहीं और तलाक हो गया। इसके बाद चौथे से भी उसकी नहीं पटरी बैठी, तो उसे बिना तलाक दिए ही भाग निकली। अकेले केरल में ही उसने 5 शादियां की थीं। नोएडा एसपी सिटी दिनेश यादव ने बताया कि केरल पुलिस ने ठगी के इस मामले में नोएडा पुलिस से मदद मांगी थी। फेज थ्री पुलिस की मदद से केरल पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। जांच में सामने आया है कि युवती ने ठगी के लिए 11 शादियां की हैं। आरोपियों को केरल पुलिस कानूनी प्रक्रिया पूरी कर अपने साथ ले गई है।

मध्य प्रदेश में महिला से 36 घंटे तक 6 लोगों ने किया गैंगरेप, 13 किलोमीटर हांफते-कांपते पीड़िता पहुंची थाने

FIR दर्ज कराने के लिए भी पीड़ित महिला को कई थानों का चक्कर काटना पड़ा। हालत गंभीर होने पर जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया।
मध्य प्रदेश में एक आदिवासी महिला को 6 घंटे तक बंधक बनाकर गैंगरेप का मामला सामने आया है। मामला बैतूल जिले का है जहाँ एक आदिवासी विवाहिता का अपहरण कर 36 घंटे तक 6 लोगों ने मिलकर दुष्कर्म किया है। 36 घंटे तक दुष्कर्मियों के चंगुल में रही महिला को आरोपी बेहोसी की हालत में जंगल में छोड़ गए जिसके बाद वो 13 किलोमीटर पैदल चलकर बदहवाश हालत में बैतूल पहुंची। हद तो तब हो गई जब महिला रिपोर्ट दर्ज कराने थाने पहुंची तो पुलिस कर्मी उसे एक थाने से दूसरे थाने के चक्कर कटवाते रहे। महिला की हालत गंभीर होने पर उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।
महिला का आरोप है कि आमला के छः दबंगों ने पहले उसका अपहरण किया और फिर जंगल में ले जाकर सभी 6 लोगों ने बारी-बारी से उसका गैंगरेप किया। इज्जत को तार-तार करने के बाद आरोपी बदहवास और बेहोसी की हालत में उसे ठण्ड भरी रात में जंगल में छोड़ कर भाग खड़े हुए। इससे पहले भी इस महिला ने इन्हीं आरोपियों के खिलाफ छेड़छाड़ की शिकायत दर्ज कराई थी लेकिन पुलिस ने उस पर कोई कार्रवाई नहीं की थी। दबंग इस महिला पर छेड़छाड़ की शिकायत वापस लेने का दबाव बना रहे थे। जब पीड़िता ने ऐसा नहीं किया तो सभी दबंगों ने मिलकर उसके साथ गैंगरेप किया।
पीड़ित महिला आमला के इतवारी इलाके की रहने वाली है। इलाके के कुछ दबंगों से विवाद चल रहा है। महिला के साथ पिछले 27 नवंबर को एक पूर्व पार्षद और उसके साथियों ने छेड़छाड़ की थी। जिसकी आमला थाने में शिकायत भी की गई थी। आरोपी इस परिवार पर इसी शिकायत को वापस लेने का दबाव बना रहा था। पीड़ित महिला की सास और देवर की मानें तो 15 तारीख की रात उनके घर पहुंचे 6 बाइक सवारों ने घर का दरवाजा तोड़कर पीड़िता को जबरदस्ती बाइक पर बैठा लिया और अपहरण कर ले गये।
आरोपी महिला को रमली रेलवे चौकी की तरफ के जंगल में ले गए जहां बंधक बनाकर उसके साथ दुराचार किया और फिर 16 तारीख को रात 12 बजे बेहोसी की हालत में जंगल में छोड़ दिया। सुबह होश आने पर पीड़िता रेलवे ट्रैक के सहारे बैतूल रेलवे स्टेशन तक पहुंची और अपनी सास के मोबाइल पर फोन लगाया। जिसके बाद यह परिवार महिला को लेने पहुंचा और महिला को मामले की शिकायत हेतु महिला डेस्क पर लाया गया जहाँ से उसे अजाक थाने भेजा गया। अजाक पुलिस ने भी उसे आमला पुलिस थाने जाने की नसीहत दे डाली। इस बीच महिला की हालात काफी बिगड़ चुकी थी। वह अस्पताल पहुंची तो घंटों OPD के सामने पड़ी कांपती रही। बाद में मीडिया के हस्तक्षेप करने पर उसे भर्ती किया गया। (बैतूल से कीर्ति राजेश चौरसिया की रिपोर्ट)

ओडिशा : गर्म सरिए से इलाज कर रहा था तांत्रिक, मर गई बच्ची

बच्ची के भाई को भी गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

देश में अंधविश्वास अब भी जारी है और लोग कहीं न कहीं मेडिकल साइंस की अनदेखी कर तांत्रिकों के चक्कर में पड़ जाते हैं। एेसी ही एक घटना ओडिशा में हुई जहां एक आठ साल की बच्ची की रविवार रात उस वक्त मौत हो गई जब एक तांत्रिक ने दस्तों का इलाज करने के लिए उसके पेट पर गर्म लोहे का सरिया रख दिया। बच्ची के जुड़वां भाई के साथ भी यही किया गया था और उसे गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इस साल कई बच्चों की मौत तांत्रिकों से इलाज कराने के कारण हो चुकी है। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि कालाहांडी जिले के बाराखामा गांव के रहने वाले नबीन और भारती दिगल के दोनों बच्चे अकसर पेट दर्द और दस्तों से पीड़ित रहते थे।
स्थानीय लोगों के मुताबिक बच्चों के मां-बाप उन्हें स्थानीय प्राथमिक चिकित्सा केंद्र भी लेकर गए थे, लेकिन उनकी स्थिति में कोई सुधार नहीं हो पाया। इसके बाद एक स्थानीय तांत्रिक झूनू ने भारती को सलाह दी कि वह गर्म लोहे के सरिया से बच्चों का इलाज करता है। शनिवार की रात जब नबीन घर पर नहीं था तो झूनू उसके घर पहुंचा और उसकी करतूतों के कारण रविवार सुबह बच्ची को बलिगुडा सब डिविजनल हॉस्पिटल में मृत घोषित कर दिया गया।
हॉस्पिटल में बच्ची का इलाज कर रहे डॉक्टर जगदीश चंद्र जेना ने कहा कि बच्ची की मौत सेप्टीसीमिया (खून में इन्फेक्शन) के कारण हुई थी। उन्होंने कहा कि बच्ची के भाई के शरीर में भी गर्म सरिए के कारण इन्फेक्शन फैल गया है।
बता दें कि इस साल एेसे कई हादसे हुए हैं जिनमें माता-पिता के अंधविश्वास के कारण कई बच्चों की मौत हुई है। इसी साल मार्च में राउरकेला की रहने वाली एक 65 वर्षीय महिला को एक महीने के बच्चे का गर्म चूड़ियों से इलाज करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। बाद में उस बच्चे की मौत हो गई थी। इसी महीने में मलकागिरी जिले में एक 4 साल के बच्चे की मौत तब हो गई जब उसके दादा ने गर्म लोहे से उसका इलाज करने की कोशिश की। मार्च में ही नबरंगपुर के नंदाहांडी ब्लॉक में एक महीने की बच्चे के पेट और छाती पर गर्म सरिया रखने से मौत हो गई थी।

पत्नी की हत्या के आरोपी जज ने दहेज़ में लिया था फ्लैट, दो कारें, सोने के 101 सिक्के और भी बहुत कुछ

30 वर्षीय गीतांजलि को पंचकुला के सेक्टर आठ स्थित पुलिस लाइंस परेड ग्राउंड में 17 जुलाई 2013 को गोली मार दी गई थी।
पत्नी की हत्या के आरोप में गिरफ्तार जज रावनीत गर्ग ने दहेज में दो कारें, सोनिपत में एक फ्लैट, 101 सोने के सिक्के और 51 लाख रुपये नकद लिए था। गर्ग को सेवा से निलंबित कर दिया गया है। उन पर अपनी पत्नी गीतांजलि की हत्या के लिए मुकदमा चल रहा है। गीतांजलि की साल 2013 में हत्या कर दी गई थी। पिछले हफ्ते सीबीआर्ई द्वारा अदालत में दायर किए गए आरोपपत्र के अनुसार गर्ग के परिवार ने गीतांजलि के माता-पिता पर बार-बार दहेज लेने के लिए दबाव डाला था। आरोपपत्र के अनुसार गीतांजलि के माता-पिता को दहेज देने के लिए कई बार लोन लेना पड़ा। सीबीआई के आरोपपत्र के अनुसार गर्ग को दहेज में स्कोडा सुपर्ब, स्कोडा लौरा कारें और सोनीपत में एक ओमैक्स फ्लैट लिया था।
30 वर्षीय गीतांजलि को पंचकुला के सेक्टर आठ स्थित पुलिस लाइंस परेड ग्राउंड में 17 जुलाई 2013 को गोली मार दी गई थी। गर्ग उस समय गुड़गांव के चीफ जूडिशियल मजिस्ट्रेट के रूप में नियुक्त थे। सीबीआई ने गर्ग को दहेज हत्या के मामले में इस साल आठ जुलाई को गिरफ्तार किया था। गर्ग के पिता केवल कृष्ण गर्ग और माता रचना गर्ग भी मामले में आरोपी हैं। रावनीत गर्ग इस समय न्यायिक हिरासत में हैं। अदालत ने नवनीत गर्ग के माता-पिता की गिरफ्तारी पर अगली नोटिस तक रोक लगा रखी है।
सीबीआई के आरोपपत्र के अनुसार, “नवनीत और उसके माता-पिता ने गीतांजलि के माता-पिता से भारी दहेज मांगा….उन्होंने 51 लाख रुपये नकद, 101 सोने के सिक्के, घरेलू सामान और स्कोडा लौरा कार दहेज के रूप में दिया था…” आरोपपत्र के अनुसार सीबीआई को जांच में मौखिक और दस्तावेजी सबूत मिले हैं कि गर्ग परिवार ने गीतांजलि के परिवार से 2008 में नवदीप गर्ग (नवनीत के छोटे भाई) की शादी के समय स्कोडा सुपर्ब कार (करीब 21,63,000 रुपये कीमत) मांगी। गर्ग परिवार की मांग मानने के लिए गीतांजलि के माता-पिता ने अपनी कंपनी मेसर्स अग्रवाल रिफ्रैक्टरी प्राइवेट लिमिटेड से 21,63,000 रुपये दिए थे।
आरोपपत्र के अनुसार गर्ग परिवार लगातार दहेज की मांग करता रह रहा था। गर्ग परिवार सभी खास मौकों और त्योहारों पर दहेज की मांग करता था जिसे उसके माता-पिता पूरी करते ताकि उसका वैवाहिक जीवन सुचारू रूप से चलता रहे। सीबीआई की जांच के अनुसार रावनीत गर्ग और रचना गर्ग ने गीतांजलि को बेटे को जन्म देने के लिए लिंग भ्रूण परीक्षण कराया था जिसकी वजह से वो लगातार मानसिक तनाव में रहती थी। साल 2011 में गर्ग के माता-पिता ने गीतांजलि के परिजनों से सोनीपत में जमीन मांगी थी। गीतांजलि के माता-पिता ने ओमैक्स सिटी के ब्लॉक सी में गीतांजलि के नाम से एक प्लॉट खरीदा। सीबीआई के अनुसार रावनीत गर्ग ने गीतांजलि की मौत से नौ दिन पहले इस प्लॉट को अपने नाम करवा लिया था।
सीबीआई के अनुसार रावनीत गर्ग और उसके माता-पिता ने गीतांजलि के माता-पिता से पंचकुला सेक्टर 25 में एक घर खरीदने के लिए 50 लाख रुपये मांगे थे। हालांकि गीतांजलि के माता-पिता ये मांग पूरी नहीं कर सके थे। सीबीआई के अनुसार रावनीत गीतांजलि के भाई-बहनों से भी पैसे मांगा करते थे।

जयपुर में 15% के कमीशन पर बदले जा रहे थे 2-2 हजार के नए नोट, 58 लाख जब्त

राजस्थान की राजधानी में एक बैंक में कालेधन पर आयकर छापेमारी के बाद अब सीआईडी सीबी ने 15% के कमीशन पर 2-2 हजार के नए नोट बदलने के धंधे का पर्दाफाश किया है.
जानकारी के अनुसार सीआईडी सीबी ने नोट एक्सचेंज करने के रैकेट की भनक लगने पर एक गिरोह पर कार्रवाई करते हुए 64 लाख रुपए की नई करेंसी जब्त की है. इस कार्रवाई में 3 आरोपियों को गिरफ्तार भी किया गया है.
सीआईडी सीबी के अनुसार उनकी टीम के सदस्यों ने मुखबिर से मिली सूचना के बाद पुराने नोट बदलवाने वाले ग्राहक के रूप में आरोपियों से डील की थी. आरोपी 15% के कमीशन पर पुराने नोट बदलने को तैयार हुए थे. इस डील के मुताबिक जयपुर के वैशाली नगर में हाईवे के पास यह सौदा होना था.

हरियाणा नंबर की गाड़ी में पहुंचे आरोपी:
सौदा तय होने पर हरियाणा नंबर की गाड़ी में तीन आरोपी मौके पर पहुंचे. यहां सीआईडी सीबी की टीम नेतीनों आरोपियों को दबोच लिया. उनके पास से 64 लाख रुपए की करेंसी मिली. इसमें 2-2 हजार के नोट के रूप में 58 लाख और 100-100 के नोट में 6 लाख रुपए मिले.

जयपुर का फैक्ट्री मालिक भी धरा गया:
सीआईडी सीबी के हाथों पकड़ में आए इन आरोपियों में से एक जयपुर स्थित एक फैक्ट्री का मालिक भी बताया गया है. जबकि एक टोंक का कारोबारी भी है. एक अन्य युवक के साथ इन दोनों को सीआइडी सीबी ने वैशाली नगर पुलिस के हवाले कर दिया है. अब पुलिस पूरे मामले में तीनों से पूछताछ कर रही है.

जयपुर आर्ट समिट में महिला की न्यूड पेंटिग पर हंगामा, आयोजकों से हाथापाई

जयपुर। जयपुर में चल रहे आर्ट समिट में न्यूड पेंटिंग को लेकर लाल शक्ति सेना के कार्यकर्ताओं ने हंगामा कर दिया। यहां लगी पेंटिंग को उतार दिया। इतना ही नहीं आयोजकों से भी इनकी हाथापाई हो गई। इनका आरोप है कि आर्ट समिट में महिला की न्यूड पेंटिंग दर्शकों को दिखाई जा रही है, जो हमारी देश की संस्कृति के ख़िलाफ़ है। अब दोनों पक्षों ने पुलिस में एक दूसरे के ख़िलाफ़ शिकायत दर्ज कराई है।
जयपुर आर्ट समिट में महिला की नग्न पेटिंग दिखाने पर जमकर बवाल हुआ। 7 दिसंबर से शुरू हुए जयपुर आर्ट समिट में राधा बिनोद शर्मा नाम के कलाकार ने अपनी पेंटिंग एक महिला को नग्न दिखाया। इतना ही नहीं प्रदर्शनी में बाईस्कोप मे नग्न तस्वीरों पर टेप लगाकर दिखाने की खबर जैसे शहर में फैली, विवाद शुरू हो गया।एक सामाजिक संगठन लाल शक्ति सेना के कार्यकर्ता जयपुर के रविद्र रंग मंच पर प्रदर्शनी में पहुंचे और पेंटिंग उतार दी। इसके बाद कलाकारों और महिला शक्ति सेना के बीच झड़प हो गई। एक दूसरे के खिलाफ मामला दर्ज कराने के लिए कलाकार और महिला शक्ति सेना की कार्यकर्ता पुलिस थाने पहुंच गए। इससे पहले 2005 में भी गाय की डमी को लेकर आर्ट समिट में विवाद हो चुका है।

44 लाख कैश के साथ टीवी एक्टर गिरफ्तार, कार पर लिखा था प्रेसिडेंट, एंटी करप्शन सोसायटी

नोटबंदी के बाद से मोटे कमीशन पर 500 और 1000 के पुराने नोटों को बदलने का खेल पूरे देश भर में जारी है।
नोटबंदी के बाद काले धन को सफेद करने का सिलसिला बदस्तूर जारी है। पुलिस ने मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में होशंगाबाद तिराहे पर चेकिंग के दौरान एक इनोवा कार से 43 लाख 60 हजार रुपये बरामद किए हैं। कार पर प्रेसिडेंट, एंटी करप्शन सोसायटी का नेम प्लेट लगा हुआ था। इसके साथ ही पुलिस ने कार से तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार लोगों में एक शख्स का नाम राहुल चेलानी है जो इटारसी का रहने वाला है। राहुल चेलानी रियल एस्टेट में काम करता है। वह सोनी टीवी पर प्रसारित होने वाला क्राइम पेट्रोल सीरियल में काम करता है। फिलहाल पुलिस तीनों आरोपियों से कड़ी पूछताछ कर रही है कि ये पैसे किसके हैं और कहां ले जाए जा रहे थे। पुलिस को शक है कि ये लोग पुराने नोटों को मोटे कमीशन पर बदलवाने के लिए कहीं जा रहे थे लेकिन बीच में ही पुलिस का शिकार हो गए।
गौरतलब है कि नोटबंदी के बाद से कमीशन पर 500 और 1000 के पुराने नोटों को बदलने का खेल पूरे देश भर में जारी है। जगह-जगह से पुलिस और आय कर विभाग के अधिकारी छापेमारी कर इस गोरखधंधे में शामिल लोगों को गिरफ्तार कर रहे हैं। कल ही बिहार के गया में चलती ट्रेन में तीन बैग में 35 लाख रुपये बरामद किए गए थए। ये सभी 500 के पुराने नोट थे।
आज भी चेन्नई में आयकर विभाग के अधिकारियों ने दो बिजनेसमैन के ठिकानों पर से 90 करोड़ रुपये कैश बरामद किए हैं। इनमें से 70 करोड़ रुपये नए नोट हैं। बाकी पु्राने नोट हैं। आय कर विभाग के अधिकारियों ने ये बरामदगी आठ ठिकानों पर छापेमारी के बाद की है। करेंसी के अलावा अधिकारियों ने 100 किलो सोना भी जब्त किया है।
गौरतलब है कि 8 नवंबर को नोटबंदी के ऐलान के बाद से ही आयकर विभाग और प्रवर्तन निदेशालय की कई टीमें देशभर में छापेमारी कर रही हैं। विभाग ने बताया कि 6 दिसंबर तक 130 करोड़ रुपए की नकदी और ज्‍वेलरी जब्‍त की जा चुकी है। इसके अलावा 2000 करोड़ की बेनामी संपत्ति की बात भी करदाताओं ने कबूली है। छापेमारी में पांच करोड़ रुपए से ज्यादा की नई नकदी पकड़ी गयी है।

चोरी करने घुसा बालक, म‍हिला ने पकड़कर चाय में पिलाई चूहामार दवाई

बैकुंठपुर। सोनहत थाना अंर्तगत परसाबहार गांव में बीते 18 नवम्बर से लापता 9 वर्षीय बालक दुर्गेश्वर पिता पूरन का शव गांव के पास के तालाब में मिलने के बाद मामले में सोनहत पुलिस ने आरोपी मानमति पति उजागीर लोहार उम्र 45 वर्ष निवासी परसाबहार सलगवां नामक महिला को गिरफ्तार किया है। महिला को उसके घर से ही हिरासत में लिया गया। उसने अपना जुर्म कबूल भी कर लिया है।

सोनहत पुलिस का कहना है कि महिला ने अपना अपराध भी स्वीकार कर लिया है। घटना के सबंध में पुलिस का कहना है कि आरोपी महिला एक छोटा सा किराना दुकान चलाती थी और घर पर अपने बूढ़ी सास के साथ रहती थी । उसका पति दिवाली से ही कहीं दूसरे स्थान पर जाकर रह रहा है। महिला ने घर में चोरी की नीयत से घुसे बालक को चाय में चूहाें को मारने में उपयोग की जाने वाली दवाई पिलाकर उसे मार डाला था।

ऐसे मिला सुराग

सोनहत पुलिस की मानें तो उनके पास हत्या के दो ही सबूत था जिसमें एक नारियल का बोरा और दूसरा बोरे के उपर लपेटी हुई शॉल। इसी आधार पर जब पुलिस ने छानबीन की तो ग्रामीणों का कहना था पहले यह शॉल आरोपी महिला ही ओढती थी। बाद में उसे अपने घर के टीवी को ढंकने के काम में लेती थी। दूसरा नारियल का बोरा जो कि लोगों ने उसके ही किराना के दुकान में नारियल से भरा देखा था । यह मृतक के लापता दिवस से ही दुकान से गायब था और नारियल जमीन पर बिखरे हुए थे।

हां मैंने की हत्या

हत्या के सबंध में आरोपी महिला ने पुलिस को अपने बयान में कहा है कि उस दिन बालक उसके घर चोरी करने के उद्देश्य से घुसा था । शाम जब महिला ने घर का दवाजा खोला तो किसी के भागने की आहट हुई। इस पर महिला ने दौडकर देखा तो मृतक बालक उसके आंगन के 7 फीट ऊंचे अहाते को लांघने का प्रयास कर रहा था।

इस पर महिला ने उसके पैर पकडकर नीचे खींचा इस कारण बालक नीचे रखी ईंट पर गिर पड़ा और उसके माथे से खून बहने लगा। यह देख महिला घबरा गई और उसे जैसे तैसे घर में लाई । उसके बाद उसे होश में लाने का प्रयास किया।

कुछ देर बाद बालक होश में आ भी गया । इसके बाद महिला ने बालक का सर जख्मी और पुलिस केस हो जाने डर से बालक के लिए चाय बनाई और उसमें घर में रखी चूहा मार दवाई मिलाकर बच्चे को पीने के लिए दे दी। इसके बाद कुछ देर बाद जब बच्चा तड़पने लगा तो उसने बालक के सर पर डण्डे से भी एक जोरदार वार कर दिया। इससे बालक का सर फट गया और उसकी मौत हो गई।

गांव के बाहर अकेले ले गई बच्चे का शव

उसी रात में महिला मानमति मर चुके बच्चे को नारियल के बोरे में भर कर शॉल में लपेटकर अपने पीठ पर लादकर घर से सुनसान रास्ते 500 मीटर की दूर पर स्थित तालाब के पास ले गई। उस शॉल में फिर दो-तीन वजनदार पत्थर से बांधकर शव को तालाब में डाल दिया। पुलिस को इस बात पर संदेह है कि महिला ने अकेले यह काम किया होगा।

इन धाराओं के तहत हुई गिरफतारी

आई पी सी की धारा 363, 302,, 201 के तहत सोनहत पुलिस ने आरोपी महिला मानमति के खिलाफ अपराध कायम कर उसे हिरासत में ले लिया है। हत्या में इस्तेमाल किया गया ग्लास, डंडा, शॉल व नरियल के बोरे को अपने कब्जे में ले लिया है।(नई दुनिया से )

पत्‍नी मोबाइल पर अधिक बात करती थी तो पति ने ऐसी सजा

भानुप्रतापपुर। तीन दिन पूर्व राजा तालाब में मिली महिला की लाश की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है। पति ने ही अपनी पत्नी की हत्या की थी। आरोपी पति ने पत्नी को मोबाइल पर अधिक बात करने और चरित्र पर संदेह के चलते घर में रखे सिलबट्टा पत्थर से मारकर हत्या कर दी और लाश को घर से लगे लालाब में फेंक दिया था। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया जहां से जेल भेज दिया गया है।

पुलिस के अनुसार राजा तालाब में गुरुवार की दोपहर एक महिला की तैरती लाश मिली। शव सतवती ठाकुर (30) पति शंकर वार्ड नं. 8 की थी। महिला के शव में चोट के निशान भी थे। पीएम रिपोर्ट के आधार पर पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर कार्रवाही शुरू की। पुलिस के पहले से ही पति शंकर ठाकुर पर शक था। कड़ाई से पूछताछ करने पर आरोपी पति ने अपनी पत्नी की हत्या करना स्वीकार किया।

उसने बताया कि वे राज मिस्त्री का काम करते हैं। पत्नी सतवती काम पर भी नहीं जाती थी और दिनभर मोबाइल में किसी के साथ बात करती थी। जिससे दोनों के बीच आए दिन झगड़ा होते रहता था। इससे वह परेशान था। घटना के दिन 28 नवम्बर को रात्रि लगभग 10 बजे भी इसी बात को लेकर विवाद हुआ। जिसके बाद मैंने घर में रखे सिलबट्टा पत्थर को उनके सिर पर पटक दिया था जिससे उसकी मौत हो गई। लाश को मकान से लगे तालाब में फेंक दिया था। मृतका और आरोपी पति का एक पुत्र दीपक ठाकुर कक्षा तीसरी में पढ़ता है। पुलिस ने उसे मृतका की बहन सरिता ठाकुर को सौंप दिया है।

पंजाब: स्‍टेज पर साथ में नाचने से इनकार किया तो प्रेग्‍नेंट डांसर को मार दी गोली

महिला का कसूर सिर्फ इतना था कि उसने स्‍टेज पर उस व्‍यक्ति के साथ डांस करने से इनकार कर दिया था।
पंजाब के भटिंडा में एक गर्भवती डांसर को एक सिरफिरे ने गोली मार दी। उसका कसूर सिर्फ इतना था कि उसने स्‍टेज पर उस व्‍यक्ति के साथ डांस करने से इनकार कर दिया था। महिला की उम्र 22 साल बताई जा रही है। शादी समारोह में डांस समारोह का आयोजन किया गया था। वहां पर एक शख्‍स ने डांसर से स्‍टेज पर साथ नाचने को कहा, मगर उसने मना कर दिया। घटना के वीडियो में दिख रहा है कि शख्‍स अचानक उठकर स्‍टेज पर नांच रही डांसर पर फायर कर देता है। टीवी रिपोर्ट के अनुसार, चार आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 302 के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है। एसएचओ दलजीत सिंह ने एएनआई को बताया कि आरोपी फरार है, उन्‍हें ढूंढने की कोशिश की जा रही है। भटिंठा के एसएसपी ने कहा कि आरोपी शराब के नशे में था। 4 लोगों (आरोपी, उसके दो दोस्‍तों और बैंक्‍वेट हॉल के मालिक) के खिलाफ मामला दर्ज किया है। विस्‍तृत रिपोर्ट की प्रतीक्षा है।

छग में नोट बदलने के बड़े खेल का फूटा भांडा

रायपुर। हजार पांच सौ के नोट बंद होने के बाद आम आदमी जहां दिन-दिनभर बैंकों में कतार में खड़ा है, वहीं अमीरों का पैसा बदलने के बड़े खेल चल रहे हैं। राजधानी रायपुर में महिंद्रा ट्रैवल्स के ठिकानों पर आयकर विभाग के छापे से जो दस्तावेज मिले हैं, उनसे इस बात की पुष्टि हो रही है।

छापे में एक बंडल में विभिन्न् नामों की 750 आईडी तथा नोट बदलवाने के भरे हुए फार्म मिले हैं। आयकर विभाग का कहना है कि इतने फार्म व आईडी से एक ही बार में 30 लाख के नोट बदलवाए जा सकते हैं। यह काम बिना बैंकों की मिलीभगत के संभव नहीं है। हालांकि किन बैंकों की इसमें संलिप्तता है, यह अभी पता नहीं चल पाया है। आयकर विभाग ने सभी बैंकों इस बारे में पत्र लिखकर जवाब मांगा है।

मुख्य आयकर आयुक्त केसी घुमरिया ने पत्रकारवार्ता में बताया कि विभाग को लगातार सूचना मिल रही थी कि राजधानी में महिंद्रा ग्रुप कमीशन पर पुराने नोटों को बदलवाने का काम कर रहा है। आईटी अफसरों ने महिंद्रा ग्रुप के पांच ठिकानों महिंद्रा ट्रैवल्स, महिंद्रा होटल, सतलज महिंद्रा, जीवन महिंद्रा संस्थानों व उनके फार्म हाउस पर छापा मारा तो ऐसे दस्तावेज मिले जिनसे पता चलता है कि महिंद्रा ग्रुप बैंकों की मिलीभगत से पुराने नोटों को बदलवाने में लगा है।

उन्होंने बताया कि महिंद्रा ग्रुप के पास दूसरे राज्यों से भी भारी मात्रा में पुराने नोट भेजे जाने की सूचना है। हालांकि अब तक रकम बरामद नहीं हो पाई है। छापे में मिले दस्तावेजों से पता चला है कि महिंद्रा ग्रुप ने 93 करोड़ की संपत्ति एकत्र की है।

महिंद्रा ग्रुप पर छापे में राजधानी के राजातालाब इलाके में सलीम नर्सिंग होम के संचालक डॉक्टर कैसर सलीम का नाम भी सामने आया है। उक्त डॉक्टर ने महिंद्रा वालों की मदद से 20 लाख के पुराने नोट बदलवाए थे। पूछताछ में डॉक्टर ने कबूल कर लिया है।

ज्वेलर्स के खिलाफ एफआईआर पर विचार

दो दिन पहले रायपुर में चार ज्वेलर्स पर छापे के दौरान सर्वे टीम से हुज्जत के मामले में संबंधितों पर एफआईआर दर्ज कराई जा सकती है। आयुक्त ने बताया कि जांच में पता चला है कि ज्वेलर्स पर छापे के दौरान असामाजिक तत्वों ने आयकर टीम के काम में बाधा डालने की कोशिश की थी। दोषियों पर एफआईआर कराने पर विचार चल रहा है।

शीला दीक्षित के दामाद 2 दिन की पुलिस हिरासत में, पत्नी की संपत्ति की चोरी और हेरफेर का आरोप

लतिका ने आरोप लगाया था कि दिल्ली विधानसभा में उनकी मां शीला दीक्षित की हार के बाद इमरान का रवैया उनके (लतिका) प्रति बदल गया।

दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के दामाद को पत्नी की संपत्ति की चोरी तथा हेरफेर के आरोप में एक स्थानीय अदालत ने मंगलवार (15 नवंबर) को दो दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया। बेंगलुरु से गिरफ्तार सैयद मोहम्मद इमरान को ट्रांजिट रिमांड पर यहां लाने के बाद मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट पंकज शर्मा के समक्ष पेश किया गया जिन्होंने उसे 17 नवंबर तक पुलिस हिरासत में भेज दिया। दिल्ली पुलिस ने यह कहते हुए इमरान की दो दिन की हिरासत मांगी कि उसे वे चीजें बरामद करनी हैं जिनकी उसने कथित तौर पर चोरी की है। इमरान की ओर से पेश हुए वकीलों…पी. बनर्जी तथा नीरज कुमार ने पुलिस के इस अनुरोध का विरोध किया और कहा कि जांच एजेंसी ने सीआरपीसी के प्रावधानों का उल्लंघन किया है और उनके मुवक्किल को हिरासत से रिहा किया जाना चाहिए। वकील ने तर्क दिया कि इस मामले में आरोपी की गिरफ्तारी आवश्यक नहीं है और पुलिस को उसे सक्षम अधिकारी के समक्ष पेश होने का नोटिस देना चाहिए था। पुलिस के अनुसार शीला दीक्षित की बेटी लतिका ने अलग रह रहे पति पर यह भी आरोप लगाया था कि उसने उनके साथ हिंसा की।
लतिका और इमरान की शादी 1996 में हुई थी, लेकिन वे पिछले 10 महीने से अलग रह रहे हैं। जून में दायर अपनी शिकायत में लतिका ने आरोप लगाया था कि दिल्ली विधानसभा में उनकी मां शीला दीक्षित की हार के बाद इमरान का रवैया उनके (लतिका) प्रति बदल गया और वह आक्रामक तथा अशिष्ट हो गया। लतिका ने आरोप लगाया था कि मई में उनके बार-बार मना करने के बावजूद नैनीताल में उनके स्वामित्व वाली जमीन के कागजात इमरान ले गया। पुलिस के अनुसार उन्होंने यह आरोप भी लगाया कि मध्य दिल्ली में हेली रोड स्थित उनके घर में रखी कुछ चीजें गायब हो गईं तथा जब भी उन्होंने पूछा, इमरान टालमटोल करता रहा। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि वह जेवरात तथा अन्य महंगी चीजों को वहां से ले गया। लतिका ने यह भी आरोप लगाया कि उनकी एक महिला रिश्तेदार की इमरान के साथ ‘मिलीभगत’ है। इमरान के खिलाफ भादंसं की धाराओं…403 (संपत्ति के बेईमानी से हेरफेर), 120बी (आपराधिक साजिश), 201 (सबूतों को नष्ट करना) तथा 420 (धोखाधड़ी) और आईटी एक्ट की धारा 66 के तहत मामला दर्ज किया गया था।