बड़ी खबर

भीषण सड़क हादसे में 6 की मौत, ओवरटेक के चलते युवकों ने गंवाई जान

धमतरी:- नेशनल हाईवे पर एक भीषण सड़क हादसा हो गया। इसमें पांच लोगों की मौत हो गई। मिली जानकारी के अनुसार बस, टैंकर और कार में भिड़त हो गई। इसमें कार पर सवार तीन लोगों की मौके पर ही मौत हो गई और दो युवकों ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। बताया जा रहा है कि जगदलपुर की ओर से आ रही बस और रायपुर की ओर से जा रही ट्रक की चपेट में ओवर टेक करते समय कार टकरा गई और इसमें कार सवार हताहत हुए। सूचना मिलने पर कुरुद पुलिस घटना स्थल पहुंची। घायलों को कुरुद के अस्पताल रवाना किया गया। शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। हादसे की सूचना मिलने पर मार्ग से गुजर रहे प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष मोहन मरकाम भी घटना स्थल पहुचें है। मिली जानकारी के अनुसार हादसे में गंभीर रूप से घायल एक और युवक की मौत हो गई है। कार पर सवार सभी लोग बैकुंठपुर के रहने वाले बताया जा रहे हैं। इस तरह भीषण सड़क हादसे में मरने वालों की संख्या 6 हो गई है।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बिलासपुर के बृहस्पति बाजार में पूर्व विधयाक स्व.बी.आर.यादव की प्रतिमा के अनावरण के साथ शहर में आम जनता के लिए दस स्थानों में मुफ्त वाई फाई इंटरनेट सेवा का किया लोकार्पण ।

【अजीत मिश्रा : BBN24NEWS 】 --बिलासपुर के बृहस्पति बाजार में पूर्व विधयाक स्व.बी.आर.यादव की प्रतिमा का अनावरण के साथ शहर में आम जनता के लिए दस स्थानों में मुफ्त वाई फाई इंटरनेट सेवा का लोकार्पण किया।।इसी कड़ी में मंच से नगर निगम नगर पालिका के साथ नगर पंचायत में करोड़ो रूपये की सौगात देकर विकास कार्य का शिलानयन्स किया।। --अविभाजित मध्य्प्रदेश के समय बिलासपुर के पूर्व विधयाक और लंबे समय तक मंत्री रह चुके स्व.बिसाहू राम यादव की मूर्ति का अनावरण कार्यक्रम आयोजित किया था जिसमे शामिल होने प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के साथ छत्तीसगढ़ के विधानसभा के अध्य्क्ष चरणदास महंत के अलावा कई मंत्री और विधायक के साथ पूर्व मुख्यमंत्री और राज्यसभा के सांसद दिग्विजय सिंह और उनकी  उनकी धर्मपत्नी भी इस कार्यक्रम में शामिल हुई ।।वही मंच से स्व. बीआर यादव को सभी लोगो ने याद कर उनके व्यक्तिव और उनके उदारता के साथ उनके राजनीतिक जीवन सबके सामने रखा।और अमल करने की बात कही।।इस मौके में स्व.बीआर यादव की धर्मपत्नी और उनके बच्चे भी शामिल हुए।।

पीड़ितों को न्याय दिलाने में अधिवक्ताओं का महत्वपूर्ण योगदान- मुख्यमंत्री भूपेश बघेल

【अजीत मिश्रा : BBN24NEWS 】 मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने किया वरिष्ठ अधिवक्ताओं का सम्मान★ महाधिवक्ता कार्यालय की वेबसाईट एवं मोबाईल एप का शुभारंभ■ छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट परिसर में आयोजित 50 वर्ष की विधि व्यवसाय की सेवा पूरी कर चुके अधिवक्ताओं के सम्मान समारोह में पहुंचे।मुख्यमंत्री ने वरिष्ठ अधिवक्ताओं को सम्मानित किया।और महाधिवक्ता कार्यालय की वेबसाईट, मोबाईल एप लोकार्पण और समस्त नस्तियों एवं दस्तावेजों के डिजिटलाईजेशन का शुभारंभ किया।उन्होंने पुरे सभा को शुरू से अंत तक छत्तीसगढ़ी में सम्बोधित किया। बघेल ने कहा कि पीड़ितों को न्याय दिलाने में अधिवक्ताओं का महत्वपूर्ण योगदान रहता है। आप सभी का सम्मान करके मैं खुद को गौरवान्वित महसूस कर रहा हूं। मुझे बहुत खुशी हुई कि मुझे आपका सम्मान करने का अवसर मिला । बघेल ने कहा कि वैसे तो कोर्ट, कचहरी का चक्कर कोई नहीं लगाना चाहता है। लेकिन यदि कोई पीड़ित कोर्ट आता है तो उसकी बात मजबूती से रखने का काम अधिवक्ता ही करता है। अधिवक्ताओं की वजह से पीड़ित के लिये न्याय प्रक्रिया सरल हो जाती है। मुख्यमंत्री ने कहा कि गरीबों को सस्ता न्याय कैसे मिले इस पर विचार करने की आवश्यकता है। गरीब पीड़ितों को सस्ता और सुलभ न्याय उपलब्ध हो सके इसके लिये भी कार्यशालाओं का आयोजन होना चाहिये। वही बघेल ने चुटीले अंदाज में कहा कि नेता, अधिवक्ता और डॉक्टर कभी रिटायर नहीं होते हैं। आप सभी ने लंबे समय तक पीड़ितों का पक्ष न्यायालय में रखा है। इसलिये मैं कामना करता हूं आप सभी वरिष्ठ अधिवक्ता सुखी एवं स्वस्थ्य जीवन जियें और पीड़ितों को न्याय दिलाते रहें। कार्यक्रम में मुख्य न्यायाधीश पी आर रामचंद्र मेनन ने कहा कि वरिष्ठों का सम्मान करना हमारी परंपरा है। जब मैंने वकालत की शुरुआत की तो हमेशा अपने वरिष्ठ अधिवक्ताओं का सम्मान किया। कोर्ट में अपनी बात रखने से पहले अधिवक्ताओं को बहुत तैयारी करनी पड़ती है। इसमें वरिष्ठ अधिवक्ताओं की महत्वपूर्ण भूमिका रहती है। वरिष्ठों से हमेशा न्याय प्रणाली की बारीकियां सीखने को मिलती हैं। सीखना एक अनंत प्रक्रिया है। किसी भी क्षेत्र में हों हमेशा अपने वरिष्ठों से सीखते रहना चाहिये। अपने से वरिष्ठों को हमेशा गुरु की तरह ही देखना चाहिये। आप सभी वरिष्ठ अधिवक्ताओं ने पचास साल तक जो पीड़ितों को न्याय दिलाया है वो प्रशंसनीय है। मैं आप सभी के स्वस्थ्य जीवन की कामना करता हूं। भूपेश बघेल ने हाईकोर्ट परिसर स्थित महाधिवक्ता कार्यालय में द्वतीय एवं तृतीय तल के निर्माण हेतु शिलालेख का अनावरण, महाधिवक्ता कार्यालय की वेबसाईट, मोबाईल एप लोकार्पण और समस्त नस्तियों एवं दस्तावेजों के डिजिटलाईजेशन का शुभारंभ किया। उन्होंने महाधिवक्ता कार्यालय में पुनर्रनिर्मित सभाकक्ष एवं नवनिर्मित विधि अधिकारी कक्षों का उद्घाटन भी किया। वरिष्ठ अधिवक्ताओं को शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि महाधिवक्ता कार्यालय की वेबसाईट और एप के शुरु होने से लोगों को प्रकरणों की जानकारी आसानी से मिल सकेगी। जिन विभागों के प्रकरण हाईकोर्ट में चल रहे हैं वे भी ऑनलाईन जानकारी देख सकेंगे।

बस्तर के सिपाही हैं मरकाम और हमें उम्मीद है कि छत्तीसगढ़ में बेहतर काम करेंगे : CM भूपेश बघेल

 

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल शनिवार को नए पीसीसी अध्यक्ष मोहन मरकाम के शपथ समारोह में शामिल हुए इस दौरान राजीव भवन में कहा कि हमने कांग्रेस की परिस्थिति में शामिल होकर कंधा मिलाकर काम किया और वर्ष 2018 में कांग्रेस की सरकार बनाई। कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने मुझे उस समय छत्तीसगढ़ पीसीसी अध्यक्ष नियुक्त किया था जब प्रदेश में कांग्रेस की सरकार भी नहीं थी।  फिर भी मैंने हमारे साथियों के साथ मिलकर काम किया और छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार बना कर दिखा दिया। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने विधायक मोहन मरकाम को पीसीसी अध्यक्ष नियुक्त किया है। विधायक मरकाम को आज से नई जिम्मेदारी दी जा रही है मरकाम बस्तर के सिपाही हैं और हमें उम्मीद है कि छत्तीसगढ़ में बेहतर काम करेंगे।

बिलासपुर (cg) : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल रविवार को विभिन्न कार्यक्रमों में होंगे शामिल

bbn24news
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल 30 जून को शहर में आयोजित विभिन्न कार्यक्रमों में शामिल होंगे। मुख्यमंत्री बघेल सुबह 11 बजे हाईकोर्ट परिसर में आयोजित 50 वर्ष की विधि व्यवसाय की सेवा पूर्ण कर चुके वरिष्ठ अधिवक्ताओं के सम्मान समारोह में शामिल होंगे। इसके साथ वे महाधिवक्ता कार्यालय में द्वितीय एवं तृतीय तल के निर्माण हेतु शिलालेख का अनावरण करेंगे। मुख्यमंत्री बघेल महाधिवक्ता कार्यालय की वेबसाईट, मोबाईल एप लोकार्पण और समस्त नस्तियों एवं दस्तावेजों के डिजिटलाईजेशन का शुभारंभ करेंगे। मुख्यमंत्री महाधिवक्ता कार्यालय में पुनर्निर्मित सभाकक्ष एवं नवनिर्मित विधि अधिकारी कक्षों का उद्घाटन भी करेंगे। कार्यक्रम में अतिविशिष्ट अतिथि मुख्य न्यायाधिपति श्री पी.आर.रामचन्द्र मेनन एवं समस्त न्यायमूर्तिगण उपस्थित रहेंगे। विशिष्ट अतिथि के रूप में छत्तीसगढ़ शासन के मंत्री श्री रविन्द्र चौबे एवं श्री मोहम्मद अकबर उपस्थित रहेंगे। कार्यक्रम की अध्यक्षता महाधिवक्ता श्री सतीशचन्द्र वर्मा करेंगे। मुख्यमंत्री दोपहर 12.10 बजे रामभाटा जिला रायगढ़ के लिये हेलीकॉफ्टर से रवाना होंगे। वहां से वे दोपहर 2 बजे वापस बिलासपुर पहुंचेंगे। श्री बघेल अपरान्ह 3 बजे बृहस्पति बाजार स्थित स्व.श्री बी.आर.यादव की प्रतिमा के अनावरण कार्यक्रम में शामिल होंगे। शाम 4 बजे मुख्यमंत्री बिलासपुर से रायपुर के लिए रवाना होंगे।

BIG ब्रेकिंग NEWS : मोहन मरकाम बने छत्तीसगढ़ कांग्रेस के नये प्रदेश अध्यक्ष

छतीसगढ़ के कोंडागांव विधायक मोहन मरकाम को छत्तीसगढ़ कांग्रेस का प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया है. आपको बतादे कि दिल्ली से इनके नाम को लेकर अधिकारिक पुष्टि हुई है। वही कांग्रेस के आलाकमान ने मरकाम के नाम को हरी झंडी दे दी है। बहरहाल,आपको बता दे की मरकाम पहले बस्तरिहा पीसीसी प्रेसिडेंट होंगे। वही राज्य बनने के बाद बस्तर के किसी नेता को पीसीसी अध्यक्ष बनने का अवसर नहीं मिला है।

छत्तीसग़ढ : नक्सली कैप पर पुलिस का हमला ...पढ़े पूरी खबर

सूर्यकान्त यादव @ BBN24 : राजनांदगांव -- नक्सली कैप पर पुलिस का हमला नक्सल और पुलिस के बीच जबरदस्त मुठभेड़ पुलिस को भारी पड़ता देख नक्सली मोर्चा छोडने भाग खड़े हुए... मौके से 01 नग 303 रायफल, 02 नग 12 बोर, 01 नग भरमार, 01 नग एयर गन, वायरलेस सेट, 03 टेन्ट एवं भारी मात्रा में दैनिक उपयोग के सामान बरमद...राजनांदगांव-कांकेर-गढ़चिरौली जिले के सीमा पर स्थित ग्राम कोहकाटोला की पहाड़ी की घटना थाना औधीं...मुठभेड़ में कई नक्सलियों के घायल होने एवं मारे जाने की सम्भावना...जिला पुलिस बल, डीआरजी, एसटीएफ एवं आईटीबीपी की सयुक्त कार्यवाही सर्चिंग जारी।

पुलिस विभाग में बड़ा फेरबदल, एसपी ने प्रधान आरक्षक समेत 50 आरक्षकों का किया तबादला

BBN24NEWS: बलौदाबाजार। पुलिस विभाग में एक बार फिर बड़ा फेरबदल हुआ है. एसपी नीतूकमल ने प्रशासनिक कसावट लाने के लिए जिले के थानों और चौकियों में पदस्थ प्रधान आरक्षक समेत 50 आरक्षकों का तबादला कर दिया है. देखिए किसका कहा किया गया तबादला.

बड़ी खबर : छत्तीसगढ़ : हावड़ा मुंबई मेल से 33 बच्चों को ले जाया जा रहा था महाराष्ट्र , आरोपी चढ़े पुलिस के हत्थे, पुलिस और RPF की टीम प्लेटफॉर्म में कर रही कार्रवाई

सूर्यकान्त यादव @ BBN24 NEWS : राजनांदगाँव रेलवे स्टेशन मे उस समय हडकंप मच गया,जब हावडा से मुम्बई जा रही ट्रेन हावडा मुम्बई मेल के एस 5 और एस-7 डिब्बे को पुलिस और आरपीएफ के द्वारा जाँच किया गया तब ट्रेन से 33 बच्चो और अन्य तीन लोगो को पुलिस ने ट्रेन से नीचे उतारा...इन बच्चो को बिहार के भागलपुर जिले के तिरपैती नामक गाँव से महाराष्ट्र के नंदुरबार ले जाया जा रहा था...ट्रेन मे बैठी एक वकील ने बच्चो और अन्य लोगो को संदीग्घ स्थिति मे देखा और इसकी सुचना पुलिस को दी....पुलिस ने सुचना पर तुरंत कार्रवाई करते हुए.....पुलिस के अधिकारी और जवान रेलवे स्टेशन पहुचे जहा प्लेटफार्म नम्बर दो मे हावडा से मुम्बई जा रही ट्रेन के स्टेशन मे रूकने के बाद एस-5 और एस-7 से 33 बच्चो को उतारा गया था..साथ ही अन्य तीन जो बच्चो को लेकर जा रहे थे....उन्हे भी उतारा गया.....सभी बच्चे 7 साल से लेकर 13 साल तक के उम्र के है....सभी को मदरसा ले जा रहे है.ऐसा कहना था,जो बच्चो को लेकर जा रहे थे...उनका लेकिन किसी प्रकार का दस्तावेज नही दिखा पाने के करण पुलिस ने सभी को पुलिस लाईन ले कर गए और पुछताछ जारी है...मानव तस्करी की संभावना से भी इस मामले मे इनकार नही किया जा सकता....वही पुरे मामले मे पुलिस ने जाँच शुरू कर दिया है....जाँच के बाद ही मामला स्पष्ट हो पायेगा की मामला क्या है.....सभी बच्चे एक ही समुदाय के है....मामले मे जो बच्चो को लेकर जा रहे है,वो बच्चो से गलत काम भी करवा सकते है,या बच्चो को दुसरे गलत काम मे भी झोका जा सकता है...ये सारी असंकाये भी है...

डीकेएस अस्पताल में सभी सेवाओं के लिए होगा नया टेंडर मरीजों के परिजनों के रूकने की होगी व्यवस्था, प्राध्यापकों की होगी भर्ती

रायपुर. 26 जून 2019
स्वास्थ्य मंत्री  टी.एस. सिंहदेव ने आज यहां नवीन विश्राम भवन में डीकेएस पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टीट्यूट एवं रिसर्च सेंटर के व्यवस्थाओं की समीक्षा की। उन्होंने स्वशासी समिति की बैठक में सुपरस्पेशियालिटी अस्पताल के अनुरूप लोगों को इलाज उपलब्ध कराने और व्यवस्थाएं सुधारने के निर्देश अस्पताल प्रशासन को दिए। उन्होंने एजेंसियों के माध्यम से वहां ली जा रही सुविधाओं के लिए नया टेंडर जारी करने कहा। स्वशासी समिति की बैठक में चिरायु योजना के तहत ऑपरेशन के लिए डीकेएस अस्पताल को फर्स्ट रेफरल सेंटर के रूप में मान्यता देने का निर्णय लिया गया।  

स्वास्थ्य मंत्री ने बैठक में कहा कि डीकेएस अस्पताल में नई शुरूआत की जरूरत है। वहां सभी व्यवस्थाओं को सुदृढ़ करने नए सिरे से काम करना होगा। उन्होंने कहा कि लोगों को कम खर्च में उत्कृष्ट इलाज की सुविधा मिले, इसके लिए वहां उच्च स्तरीय व्यवस्था जरूरी है। श्री सिंहदेव ने वहां पूर्व में बिना विभागीय अनुमोदन और प्रक्रिया के किए गए कार्यों को निरस्त करने कहा। उन्होंने इस संबंध में किसी भी तरह का भुगतान नहीं करने के निर्देश अस्पताल प्रबंधन को दिए। उन्होंने अनावश्यक खर्चों और गैरजरूरी मानव संसाधन को खत्म करने के निर्देश दिए।  

 सिंहदेव ने डीकेएस अस्पताल के स्वशासी समिति की बैठक में मरीजों के परिजनों के रूकने के लिए तथा केन्द्रीय दवा भंडार के लिए नए भवन के निर्माण की स्वीकृति दी। डीकेएस पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टीट्यूट में व्याख्याताओं-प्राध्यापकों के रिक्त पदों पर भर्ती की मंजूरी भी दी गई।  सिंहदेव ने अस्पताल परिसर में संचालित फॉर्मेसी सहित अन्य दुकानों को तत्काल खाली कराते हुए उनके दोबारा आबंटन की प्रक्रिया शुरू करने कहा। उन्होंने अस्पताल की आय बढ़ाने के लिए पारदर्शी तरीके से इन्हें आबंटित करने कहा। उन्होंने प्रमाणित एजेंसी से अस्पताल में अग्नि सुरक्षा और विद्युत सुरक्षा संबंधी ऑडिट यथाशीघ्र कराने के निर्देश दिए।

स्वास्थ्य मंत्री ने अस्पताल में मानव संसाधन, उपकरण, जांच, दवाई और अन्य व्यवस्थाओं पर हर महीने होने वाले खर्च का ब्यौरा मांगा। उन्होंने अस्पताल को शासन से और विभिन्न सेवाओं के एवज में मरीजों से मिलने वाली राशि की भी जानकारी मांगी। उन्होंने अस्पताल प्रबंधन से आय-व्यय की जानकारी एक सप्ताह में उपलब्ध कराने कहा। बैठक में स्वास्थ्य विभाग की सचिव श्रीमती निहारिका बारिक सिंह, आयुक्त स्वास्थ्य सेवाएं   भुवनेश यादव, संचालक चिकित्सा शिक्षा एवं डीकेएस अस्पताल के अधीक्षक डॉ. एस.एल. आदिले, वित्त विभाग व जिला प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ स्वशासी समिति के सदस्य मौजूद थे।

रायपुर : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज दुर्ग जिले के पाटन विकासखंड के उच्चतर माध्यमिक विद्यालय मर्रा में आयोजित शाला प्रवेश उत्सव कार्यक्रम में हुए शामिल स्कूली बच्चों के साथ किया मध्यान्ह भोजन :

रायपुर - मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल ने आज दुर्ग जिले के ग्राम मर्रा (विकासखण्ड पाटन) के शासकीय पूर्व माध्यमिक शाला में बच्चों के साथ जमीन पर बिछी दरी पर बैठकर गरमा-गरम स्वादिष्ट मध्यान्ह भोजन किया। इस दौरान उन्होंने बच्चों से बड़े ही अपनत्व और स्नेह के साथ बातचीत की और उनकी पढ़ाई-लिखाई की जानकारी ली। मुख्यमंत्री ने बच्चों से पूछा रोज ऐसा ही खाना बनता है, बच्चों ने बताया हां दाल, चावल, सब्जी और आचार और समय-समय पर खीर भी परोसी जाती है।
    शाला के कक्षा 8वीं के युगल किशोर, पूजा और कक्षा 7वीं की सुरुचि कोसले सहित अनेक बच्चों ने मुख्यमंत्री के साथ बैठ कर भोजन किया और मुख्यमंत्री को अपना परिचय दिया। बच्चों ने बताया कि मुख्यमंत्री के साथ भोजन करके उन्हें बेहद अच्छा लगा। स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम, विधायक श्री आशीष छाबड़ा और स्कूल शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव श्री गौरव द्विवेदी ने भी इस अवसर पर उनके साथ जमीन पर बैठकर भोजन किया। 
    मर्रा के इस स्कूल में 170 बच्चे दर्ज हैं। मध्यान्ह भोजन में बच्चों को हर दिन अलग-अलग मेनू में भोजन परोसा जाता है। आज मंगलवार को बच्चों को चावल- अरहर की दाल के साथ आलू-परवल और आलू-चना की सब्जी और खीर परोसी गई।
    मुख्यमंत्री ने शाला परिसर में नीम का पौधा रोपा। अतिथियों ने भी परिसर में नीम के साथ आंवला, करंज, जामुन, आम और अमलतास के पौधे रोपित किए। शाला परिसर में बच्चों ने एक बाड़ी भी लगाई है, जिसमें लौकी, भाटा,टमाटर और मिर्ची जैसी सब्जियां और केला, पपीता और कटहल के फलदार पौधे लगाए गए हैं। दुर्ग संभाग के कमिश्नर श्री दिलीप वासनिकर, शासकीय पूर्व माध्यमिक शाला मर्रा के प्रधान पाठक श्री गंगूराम साहू इस अवसर पर उपस्थित थे।

एक नवम्बर तक ठोस अपशिष्ट के डिस्पोजल नियमों का अक्षरक्ष पालन सुनिश्चित करें रायपुर नगर निगम - न्यायमूर्ति श्री धीरेन्द्र मिश्रा

  रायपुर, 25 जून 2019 राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण (एन.जी.टी.) नई दिल्ली के निर्देशों पर नगरीय ठोस अपशिष्ट नियम, 2016 के पालन पर की जा रही कार्यवाही की समीक्षा के लिये गठित राज्य स्तरीय समिति की बैठक सेवानिवृत्त न्यायमूर्ति धीरेन्द्र मिश्रा की अध्यक्षता में आज नवीन विश्राम गृह में हुई।    बैठक को सम्बोधित करते हुए श्री मिश्रा ने कहा कि इस नियम के पालन की जिम्मेदारी जिन विभागों को दी गई है वे उसे पूरी तरह निभाएं। रायपुर नगर निगम एक नवंबर तक ठोस अपशिष्ट के प्रबंधन के संबंध में जारी नियमों का अक्षरक्षः पालन करना सुनिश्चित करें। उन्होंने बिलासपुर नगर निगम को 31 दिसंबर तक नियमों के तहत सभी व्यवस्थाएं पूर्ण करने के निर्देश दिए। 

    न्यायमूर्ति श्री धीरेन्द्र मिश्रा ने सभी निर्माण एजेंसियों को निर्देशित किया कि वे किसी भी प्रकार का निर्माण करते समय नगरीय निकायों से अनुमति के समय ही निर्माण एवं विध्वंस अपशिष्ट के प्रबंधन पर एक्शन प्लान जमा करें। श्री मिश्रा ने रेलवे द्वारा कचरे के निष्पादन पर नियम के अनुसार कार्यवाही न किये जाने पर नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने कहा कि रेलवे प्रबंधन 15 जुलाई तक एक्शन प्लान जमा करे। उन्होंने रेलवे प्रबंधन को निर्देश दिया कि वे सोर्स पर ही कचरे का पृथककरण सुनिश्चित करें एवं कम्यूनिटी डस्टबिन सिस्टम को भी तत्काल हटायें। 

    इसी प्रकार बैठक में एस.ई.सी.एल को भी कचरे के निस्पादन पर तत्काल कार्रवाई करते हुए कार्ययोजना जमा करने के निर्देश दिए गए। उन्होंने कहा कि एसईसीएल प्रबंधन खतरनाक ठोस अपशिष्ट प्रबंधन की उचित व्यवस्था करें। बैठक में जीव चिकित्सा अपशिष्ट प्रबंधन के लिये संयुक्त उपचार सुविधा स्थापित किये जाने की प्रगति की समीक्षा की गई। 

    बैठक में अध्यक्ष, छत्तीसगढ़ पर्यावरण संरक्षण मण्डल, श्रीमती संगीता पी, विशेष सचिव आवास एवं पर्यावरण विभाग, श्रीमती अलरमेलमंगई डी, सचिव नगरीय प्रशासन विभाग, श्री ए.एस. राठौर, प्रभारी सदस्य सचिव सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

रायपुर : शंकर नगर रेल्वे ओव्हर ब्रिज का लोकार्पण : दो लाख लोगों को यातायात के दबाव से मिलेगी मुक्ति : भूपेश बघेल

   रायपुर, 23 जून 2019 मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल ने आज शाम रायपुर के शंकर नगर रेल्वे ओव्हर ब्रिज का लोकार्पण किया। शंकर नगर से वी.आई.पी. कॉलोनी मार्ग के रायपुर-विशाखापटनम् रेल्वे लाईन पर लगभग 68 करोड़ रूपए की लागत से इस ब्रिज का निर्माण किया गया है। 
    
कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने कहा कि लगभग 10 वर्षों की प्रतीक्षा के बाद इस रेल ओव्हर ब्रिज के निर्माण का कार्य पूरा हुआ है। इससे रायपुर शहर के लगभग दो लाख लोगों को सुगम यातायात की सुविधा उपलब्ध हो गई है। उन्होंने कहा कि राज्य निर्माण के पूर्व व्हीआईपी कॉलोनी शहर के अंतिम छोर में गिना जाता था, लेकिन आज की स्थिति में यह रायपुर शहर का हृदय स्थल हो गया है। इस क्षेत्र में जनसंख्या में वृद्धि के कारण यातायात का अत्याधिक दबाव बढ़ गया था। उन्होंने रेल्वे ओव्हर ब्रिज के नीचे पानी निकासी के लिए पक्की नाली निर्माण करने और अशोका रत्न के पीछे बहने वाले कच्चे नाले को पक्का निर्माण किए जाने की भी घोषणा की।

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए लोक निर्माण मंत्री  ताम्रध्वज साहू ने कहा कि इस ब्रिज के निर्माण से शंकर नगर मार्ग से बलोदाबाजार मार्ग हेतु विधानसभा जाने-आने के लिए सुगम मार्ग उपलब्ध हो गया है। उन्होंने बताया कि पुरानी छोटी रेल्वे लाईन के स्थान पर निर्मित एक्सप्रेस-वे का लोकार्पण भी एक माह के भीतर किया जाएगा।

    कार्यक्रम में कृषि मंत्री   रविन्द्र चौबे, वन मंत्री मोहम्मद अकबर, आदिम जाति तथा अनुसूचित जाति विकास मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह, सांसद  दीपक बैज, विधायक सर्वश्री सत्यनारायण शर्मा, बृजमोहन अग्रवाल, कुलदीप सिंह जुनेजा, विकास उपाध्याय और नगर निगम रायपुर के महापौर  प्रमोद दुबे विशेष अतिथि के रूप में उपस्थित थे।

इस अवसर पर लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों ने बताया कि लगभग 703.03 मीटर लम्बे और 13 मीटर चौड़े इस ओव्हर ब्रिज शुरू होने से रेल्वे क्रॉसिंग के दोनों ओर बसे खम्हारडीह, वी.आई.पी कॉलोनी, शंकर नगर, अनुपम नगर, श्री राम नगर, अशोका रतन से आने-जाने वाली लगभग दो लाख की आबादी लाभान्वित होगी। ओव्हर ब्रिज के प्रारम्भ होने से लोधीपारा चौक में अक्सर होने वाले ट्रैफिक जाम से भी लोगों को राहत मिलेगी और शंकर नगर से बलौदाबाजार मार्ग होते हुए विधानसभा जाने के लिए सुगम मार्ग उपलब्ध होगा। रेल्वे ओव्हर ब्रिज के शंकर नगर की ओर 106 मीटर और व्हीआईपी कॉलोनी की ओर 135 मीटर लम्बा पहुंच मार्ग बनाया गया है। 

विधायक का फर्जी हस्ताक्षर कर मंत्री एंव मंत्रियों के सचिवओ को मांग पत्र भेजने का फर्जीवाड़ा आया सामने...... पढ़े ये पूरी खबर

गुलाब दीवान @ BBN24NEWS बिलाईगढ़ :-विधायक की लेटरपैड पर बिलाईगढ़ विधायक चंद्र देव राय के नाम पर फर्जी हस्ताक्षर कर मंत्री एंव मंत्रियों के सचिवओ को मांग पत्र भेजने का फर्जीवाड़ा प्रकाश में आया है. फर्जीवाड़ा करने वाले विधायक के ही कार्य करने वाले है, जिसे खुद ही विधायक चंद्र देव राय ने पुलिस को सौप दिया है. विधायक ने बताया की फर्जी हस्ताक्षर कर फर्जीवाड़ा करने वालों में एक निज सहायक रोशन मिश्रा और दूसरा कम्यूटर आपरेटर राजू यदु है। दोनों ने मिलकर विधायक के 90 लेटरपेड को गायब कर दिया है. और फिर उस लेटरपेड पर फर्जी हस्ताक्षर कर करोड़ों की स्वीकृति की मांग किया है. इस मामले में बिलाईगढ़ विधायक चंद्रदेव राय ने सिविल लाईन रायपुर में रिपोर्ट दर्ज करायी है. और दोनों आरोपियों को पुलिस के हवाले भी किया है. रिपोर्ट के बाद सिविल लाईन पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। विधायक ने बताया की दो दिन पहले पंचायत मंत्री के दफ्तर से फोन पर जब विधायक के नाम पर पत्र आने की बात कही गयी, तो विधायक चंद्रदेव राय का संदेह हुआ और फिर मामले की जांच की गयी, तो फर्जीवाड़े का पता चला। दोनों ने मिलकर विधायक के पंचायत निधि से भी इस लेटरपेड पर फर्जी हस्ताक्षर कर फर्जीवाड़ा किया है. विधायक ने बताया कि पंचायत विभाग में क्षेत्र की समस्याओ की मांग के फंड के लिए एक लेटर विभाग को भेजा था. पर विभाग के पास पहले से ही एक और लेटर मिला हुआ था. जो की फर्जी था. एक लेटर पहले से फ़र्ज़ी हस्ताक्षर कर लेटरपैड पहुँच चुका था। पता करने पर दोनों हस्ताक्षर का मिलान नहीं किया गया. लेकिन हस्ताक्षर फर्जी निकला. बिलाईगढ़ विधायक चंद्रदेव राय ने जब इसकी अंदरूनी जांच की तो पता चला की 90 लेटर पेड गायब हैं. विधायक ने इसमें गिरोह होने की संदेह भी जताई है.

छत्तीसगढ़ में नहीं है रेबीज़ की दवाइयां .... सबसे बुरी स्थिति है बिलासपुर शहर की..पढ़े ये खास रिपोर्ट ...देखे क्या कहना बिलासपुर विधायक शैलेश पांडेय,का

 

अजीत मिश्रा @ BBN24NEWS

प्रतिदिन ओपीडी में 30 मरीज आते हैं

वेक्सीन की संख्या 5 से 6 ही होती है।

मजबूरी में महंगे दामों में खरीदनी पड़ती है दवाइयां ।

सरकारी अस्पताल प्रबंधन असहाय ।

शहर के विधायक भी कुछ कर पाने में है असमर्थ। 

 दवाइयों की लोकल परचेज इन में होता है खेल

सरकार जितना भी चाहे स्वास्थ्य विभाग को सुधारने का प्रयास कर ले, लेकिन यह विभाग सुर्खियां पा ही लेता है। इस बार मामला रेबीज के इंजेक्शन को आपूर्ति से जुड़ा है। शहर के सरकारी अस्पतालों में हर महीने हज़ारों मरीज कुत्तों के काटने से घायल हो इलाज कराने आते हैं। लेकिन यहां दवाइयां उपलब्ध ही नही होती। इस पर अस्पताल प्रबंधन कुछ कर पाने की स्थिति में नही है और शहर के जिम्मेदार विधायक भी अपना पल्ला झाड़ने में लगे हैं। इन सब के बीच शहर का गरीब मरीज़ मारने को मजबूर है। 

देखे  क्या कहना बिलासपुर विधायक शैलेश पांडेय का देखिए  विडियों  

सिम्स मेडिकल कॉलेज में ही रोजाना औसतन 30 मरीज डॉग बाईट वाले इलाज के लिए आते हैं। जबकि एन्टी रेबीज इंजेक्शन की आपूर्ति आधे से भी कम है। सिम्स के एम एस सुप्रिटेन्डेट डॉ आरती पांडे की माने तो उनके पास रोजाना 5 से 6 रेबीज की दवाइयां उपलब्ध होती हैं और यह दवाइयां पहले आओ पहले पाओ के तर्ज पर मरीजों को लगा दी जाती है इसके बाद जो मरीज यहां पहुंचते हैं उन्हें उसी दवाई के लिए बाजार में मोटी रकम चुकानी पड़ती है। ऐसे में समझा जा सकता है बाकी मरीजों का हाल क्या होता होगा। लेकिन अस्पताल प्रबंधन को भला इससे क्या सरोकार।

 इस पूरे मामले में शहर के विधायक शैलेश पांडे ने भी अपना पल्ला झाड़ते हुए यह कह दिया कि आखिरकार जब दवाइयां उपलब्ध ही नहीं है तो वह क्या कर सकते हैं। दवाइयों के लोकल परचेसिंग के नाम पर जो कुछ होता है वह सभी जानते हैं ऐसे में हेलो एक विधायक क्या करें। 

 जब दवाइयां कम हो और मरीज ज्यादा तो जाहिर सी बात है इसे मैनेज करने के लिए अस्पताल प्रबंधन को कई तरह के हथकंडे अपनाने पड़ते हैं। इन्हीं हथकंडों में से एक है। अस्पताल में लगी है यह अलग-अलग पर्चियां अस्पताल के दीवारों में चस्पा की गई ये पर्चियां। जिनमे साफ-साफ लिखा है यहां सिर्फ इंजेक्शन लगाया जाता है ओपीडी में डॉक्टर का सील और साइन होना अनिवार्य है । इसके अलावा यहां ड्रेसिंग या अन्य कार्य नहीं किया जाता। इतना ही नहीं चस्पा की गई इन पर्चियों में कई महत्वपूर्ण दस्तावेजों के फोटो कॉपी भी मांगे जाते हैं जिनके बिना एंटी रेबीज इंजेक्शन नहीं लगाया जाएगा। कुल मिलाकर देखा जाए तो सरकारी अस्पताल में रेबीज के इंजेक्शन लगवा पाना आम लोगों के लिए इतना कठिन बना दिया गया है कि इससे बेहतर वह पैसे खर्च कर निजी अस्पताल में अपना इलाज कराना बेहतर समझते हैं।

(Edited By : YASH LATA)