राज्य

आवश्यक वस्तु से संबंधित, दुकानों का खुलने एवं बंद होने का समय सीमा तय

जांजगीर-चांपा । कलेक्टर श्री जनक प्रसाद पाठक ने कोविद 19 वायरस के संक्रमण के फैलने से रोकने आम जनता के स्वास्थ्य के हित मे आवश्यक वस्तुओ की दुकानंे खोलने एवं बंद करने का समय निर्धारित किया गया है। कोर कमेटी द्वारा लिए गये निर्णय के मुताबिक राशन की दुकांने दोपहर 12 बजे से शाम 6 बजे तक खुली रहेगी। राशन दुकान शाम 6 बजे अनिवार्य रूप से बंद करना होगा, अन्यथा संबंधित दुकान संचालक के खिलाफ एफ.आई.आर. दर्ज करने की कार्यवाही होगी। कलेक्टर के निर्देश का कड़ाई से पालन कराने के निर्देश पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी को दिए है। बैठक में पुलिस अधीक्षक श्रीमती पारूल माथुर, जिला पंचायत सी.ई.ओ. एवं कोविद 19 नियंत्रक नोडल अधिकारी श्री तीर्थराज अग्रवाल, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. एस. आर. बंजारे, संयुक्त कलेक्टर श्री पैकरा सहित कमेटी के अन्य सदस्य उपस्थित थे।

बिलासपुर में झारखंड हावडा केरल के फंसे मजदूरों की छत्तीसगढ़ सरकार करेगी मदद।सुबह से रेलवे स्टेशन पर लगभग 150 से 200 के संख्या में नागपुर से आयें मजदुर लाक डाउन के कारण फंसे हैं।जिसका प्रसाशन के द्वारा उनके राज्य के सिमा तक पहुचाने की हर संभव कोशिश कि जा रही

बिलासपुर में झारखंड हावडा केरल के फंसे मजदूरों की छत्तीसगढ़ सरकार करेगी मदद।सुबह से रेलवे स्टेशन पर लगभग 150 से 200 के संख्या में नागपुर से आयें मजदुर लाक डाउन के कारण फंसे हैं।जिसका प्रसाशन के द्वारा उनके राज्य के सिमा तक पहुचाने की हर संभव कोशिश कि जा रही है।वही लोकल समाजिक संगठन के कुछ लोगों के द्वारा इनकी फंसे होने की जानकारी शासन प्रसाशन तक पहुचाई थी जिसके बाद आज झारखंड सीएम हेमंत सोरेन ने ट्वीट करके मदद की मांग की थी।वही हेमंत सोरेन के ट्वीट पर सीएम भूपेश ने  लिखा-उनके भोजन आदि का इंतज़ाम कर दिया है।जब तक बिलासपुर में हैं उनका हम ध्यान रखेंगे।अधिकारी उन्हें झारखंड सीमा तक पहुंचाने की हर संभव मदद व व्यवस्था कर रहे हैं। बिलासपुर के रेलवे स्टेशन पर सुबह150 से 200 के आस पास मज़दूर फंसे हैं। जिसमे झारखंड, असम, बंगाल हावड़ा केरल के भी मजदुर फंसे हैं।जिसको स्थानिय जगह पर ले जाकर भोजन की व्यवस्था कर के उन्हे सिटी बस से उनके राज्य के सिमा तक पहुंचाने की प्रयास जारी है।

मध्य प्रदेश में फ्लोर टेस्ट से पहले मुख्यमंत्री कमलनाथ ने इस्तीफा देने का फैसला लिया

भोपाल  मध्य प्रदेश  में फ्लोर टेस्ट से पहले मुख्यमंत्री कमलनाथ ने इस्तीफा देने का फैसला किया है. इस्तीफे के ऐलान से पहले कमलनाथ ने भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) पर कांग्रेस सरकार को अस्थिर करने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि बीजेपी याद रखे कि कल और परसो भी आएगा. सब सच्चाई सामने आएगी बीजेपी पर कई आरोप लगाते हुए कमलनाथ ने कहा कि बीजेपी ने 22 विधायकों को बंधक बनाया और ये पूरा देश बोल रहा है. करोड़ों रुपये खर्च कर खेल खेला जा रहा है. एक महाराज और उनके 22 साथियों के साथ मिलकर साजिश रची. इसकी सच्चाई थोड़ी समय में सामने आएगी.

'जनता कभी BJP को माफ नहीं करेगी'
सीएम कमलनाथ ने कहा कि हमने तीन बार विधानसभा में अपनी बहुमत साबित की. बीजेपी की ओर से जनता के साथ विश्वासघात किया जा रहा है और लोकतांत्रिक मूल्यों की हत्या की जा रही है, जनता इन्हें कभी माफ नहीं करेगी. कमलनाथ ने कहा कि बीजेपी ने मेरे कार्यकाल के दौरान हमारे कार्यों के खिलाफ साजिश की, पहले दिन से ये लोग हमारी सरकार गिराना चाहते थे.

कमलनाथ ने गिनाई अपनी उपलब्धियां
इस्तीफे के ऐलान से पहले मुख्यमंत्री कमलनाथ ने अपनी सरकार की उपलब्धियों को गिनवाया और कहा कि हमने आम लोगों के लिए काम किया, लेकिन ये भाजपा को रास नहीं आया. हमारी सरकार पर किसी तरह का आरोप नहीं लगा. बीजेपी ने किसानों के साथ धोखा कियास लेकिन हमें उनके लिए काम नहीं करने दिया.

क्या है पूरा मामला
इससे पहले कांग्रेस के 22 विधायकों ने इस्तीफा दे दिया था, जिसमें से 6 विधायकों का इस्तीफा स्पीकर ने स्वीकार कर लिया था और 16 विधायकों का इस्तीफा स्वीकार नहीं किया गया था. बीजेपी ने सरकार से सदन में बहुमत साबित करने की मांग की थी, लेकिन मांग को दरकिनार करते हुए स्पीकर ने 26 मार्च तक सदन को स्थगित किया गया था.

इसके बाद बीजेपी की ओर से सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की गई थी और तुरंत फ्लोर टेस्ट की मांग की गई थी. सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को स्पीकर को फटकार लगाई थी और 16 बागी विधायकों के इस्तीफे ना स्वीकारने का कारण पूछा और आज शाम 5 बजे तक फ्लोर टेस्ट कराने का आदेश दिया था. इसके बाद स्पीकार ने सभी 16 विधायकों का इस्तीफा स्वीकार कर लिया. विधायकों का इस्तीफा स्वीकार होने के बाद कमलनाथ सरकार अल्पमत में आ गई. अब कमलनाथ सरकार के पास सिर्फ 99 विधायक हैं, जबकि बहुमत के लिए 104 का आंकड़ा चाहिए. फ्लोर टेस्ट से पहले कमलनाथ ने इस्तीफे का ऐलान कर दिया है. यानी मध्य प्रदेश से कांग्रेस सरकार की विदाई हो गई है.

मौसम अलर्ट: राजधानी रायपुर समेत इन इलाकों में बारिश होने की संभावना

रायपुर:-छत्तीसगढ़ में मौसम फिर करवट लेने वाला है. राजधानी समेत बुधवार को कई इलाकों में गरज-चमक के साथ छीटे पड़ने की संभावना है. उत्तरी छत्तीसगढ़ में 20 और 21 मार्च को ओले भी गिर सकते है. मौसम विभाग को तामपान में विशेष परिवर्तन होने की उम्मीद नहीं है. देश भर में तेजी से फैल रहे कोरोना के संक्रमण के समय बारिश होने से खतरा और बढ़ सकता हैं।

तालाब में डूबने से 8 वर्षीय मासूम की  मौत

अजीत मिश्रा # बिलासपुर छत्तीसगढ़ तालाब में डूबने से 8 वर्षीय मासूम की  मौत हो गई।।घटना की जानकारी लगते ही रतनपुर पुलिस मौके पर पहुँच कर मामले की जांच शुरू कर बालक के पता साजी में जुट गई थी।।जानकारी के अनुसार बिलासपुर के  कोटा विधानसभा रतनपुर थाना अंतर्गत ग्रामीण अंचल रानीगांव के  8 वर्षीय मासूम शिवा यादव पिता सरवन यादव गोड़  रानीगांव का निवासी है। वह सोमवार के शाम को घर के पास ही  फुटहा तालाब की ओर गया था । जब वह काफी देर बाद भी घर नहीं लौटा तो परिजनों को चिंता हुई । वह आस-पास उसकी खोजबीन करने लगे । तो वह नहीं मिला । जब यह तालाब के पास पहुंचे । तो उसका कपड़ा वहां पर पड़ा हुआ मिला । तब उन्हें संदेह हुआ की उनके पुत्र की तालाब में डूबने से शायद मौत हो गई हो । बच्चे को खोजने के लिए गोताखोरों की मदद लिया गया । पर कुछ नहीं पता चला । तब उन्होंने इस मामले की सूचना रतनपुर पुलिस को दिया । रात हो जाने की वजह से रतनपुर पुलिस और गोताखोर बच्चे को ढूंढ नहीं पाए । सुबह जब परिजन मछुआरों की मदद लिया तो वह जाली में फंस कर बाहर निकला । जिसकी सूचना रतनपुर पुलिस को दिया गया । तब वह घटनास्थल पर पहुंची । जहां पर परिजनों से पूछताछ कर पंचनामा बयान लेने के उपरांत शव को पोस्टमार्टम के लिए रतनपुर मरचुरी भेज दिया । जहां पर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के डॉक्टर के द्वारा पीएम के पश्चात परिजनों को रतनपुर पुलिस ने अंतिम संस्कार के लिए शव को सौंप दिया है । वहीं फिलहाल वह इस मामले में मर्ग कायम कर जांच में जुटी है ।

लापता महिला को पुलिस ने मध्यप्रदेश के बैढ़न से खोज निकाला

BBN 24 NEWS BALRAMPUR आकाश साहू

पुलिस अधीक्षक के निर्देशन, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक एवं पुलिस अनुविभागीय अधिकारी वाड्रफनगर के मार्गदर्शन में मुस्कान अभियान के तारतम्य में माता-पिता के चेहरे में मुस्कान लाने बिछड़े हुए को मिलाने के उद्देश्य से विशेष अभियान के तहत थाना रघुनाथ नगर में दर्ज गुम इंसान क्रमांक 02/19 में दर्ज पिछले 1 साल से गुमशुदा महिला अनीता पिता शिवधारी निवासी सरना तथा उसके 4 साल के छोटे बच्चे को थाना रघुनाथ नगर की पुलिस टीम के द्वारा लगातार पता शादी करते हुए गुमशुदा महिला तथा उसके 4 वर्ष के बच्चे को मुखबीर सूचना पर बैढन मप्र से सकुशल बरामद कर परिजनों को सुपुर्द किया गया जिससे परिजनों के चेहरे पर खुशी जाहिर हुई तथा उन्होंने अपनी खुशी का इजहार पुलिस अधीक्षक को धन्यवाद देते हुए दिया उक्त कार्रवाई में थाना प्रभारी जे.पी.लकड़ा, समुदान, नारायण, प्रदीप, महेंद्र , महिला आरक्षक श्यामपति, प्रमिला ।

खुशखबरी : यात्रियों के लिए चलेगी होली स्पेशल ट्रेन

दुर्ग एवं पटना के मध्य एक फेरे के लिए होली स्पेशल ट्रेन की सुविधा

इस स्पेशन ट्रेन का भाटापारा स्टेशन में नया ठहराव की सुविधा

बिलासपुर- रेलवे द्वारा होली के अवसर पर दुर्ग-बिलासपुर एवं गया-पटना के मध्य गाड़ियों में होने वाली भीड़ को ध्यान में रखते हुए एक होली स्पेशल गाड़ी दुर्ग-पटना-दुर्ग के मध्य एक फेरे के लिये चलाई जायेगी एवं इस स्पेशन ट्रेन का भाटापारा स्टेशन में नया ठहराव की सुविधा प्रदान की गयी है। यह गाड़ी दुर्ग से 08295 नंम्बर के साथ तथा पटना से 08296 नम्बर के साथ चलेगी।

08295 दुर्ग-पटना होली स्पेशल दुर्ग से दिनांक 08 मार्च, 2020 (रविवार) तथा 08296 पटना-दुर्ग होली स्पेशल पटना से 11 मार्च, 2020र (बुधवार) को छुटेगी।

इस स्पेशल ट्रेन में 2 एस.एल.आर/एसएलआरडी, 02 सामान्य, 14 स्लीपर, 03 एसी-प्प्प्ए 01 एसी-प्प् श्रेणी सहित कुल 21 कोच रहेगी।

यात्री ध्यान देवे आवश्यक रखरखाव कार्य होने के कारण रदद होने वाली हे ये रेंल गाडियां

दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के बिलासपुर-रायपुर एवं दुर्ग-गोंदिया-कलमना रेल खंडो में आवश्यक रखरखाव कार्य होने के कारण कुछ गाड़ियों का परिचालन प्रभावित बिलासपुर : दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के बिलासपुर-रायपुर एवं दुर्ग-गोंदिया-कलमना रेल खंडो के बीच में डाउन, मिडिल एवं अप रेल लाइनों पर मशीन के द्वारा आवश्यक रखरखाव कार्य के फलस्वरूप, दिनांक 01 से 31 मार्च, 2020 (मार्च माह में) तक आवश्यक रखरखाव कार्य किया जायेगा।

इस कार्य के फलस्वरुप कुछ गाड़ियों को पूर्ननिर्धारित समय पर विलंब से रवाना की जाएगी, जिसकी जानकारी इस प्रकार है :-

रदद होने वाली गाडियांः-

ऽ दिनांक 06 एवं 20 मार्च, 2020 (शुक्रवार) को डोंगरगढ से छूटने वाली 68723 डांगरगढ-गोंदिया मेमू रदद रहेगी।

ऽ दिनांक 06 एवं 20 मार्च, 2020 (शुक्रवार) को बिलासपुर से छूटने वाली 68727 बिलासपुर-रायपुर मेमू रदद रहेगी।

ऽ दिनांक 06 एवं 20 मार्च, 2020 (शुक्रवार) को रायपुर से छूटने वाली 68729 रायपुर-डांगरगढ मेमू रदद रहेगी।

ऽ दिनांक 07 एवं 21 मार्च, 2020 (शनिवार) को डोंगरगढ से छूटने वाली 68730 डांगरगढ- रायपुर मेमू रदद रहेगी।

ऽ दिनांक 06 एवं 20 मार्च, 2020 (शुक्रवार) को रायपुर से छूटने वाली 68725 रायपुर-दुर्ग मेमू रदद रहेगी।

बीच में समाप्त होने वाली गाडियां :-

ऽ दिनांक 06 एवं 20 मार्च, 2020 (शुक्रवार) को रायपुर से छूटने वाली 68721 रायपुर-डोंगरगढ मेमू दुर्ग में ही समाप्त होगी।

ऽ दिनांक 07 एवं 21 मार्च, 2020 (शनिवार) को गोंदिया से छूटने वाली 68724 गोंदिया-रायपुर मेमू दुर्ग में ही समाप्त होगी।

बीच में नियत्रित होने वाली गाडियांः-

ऽ दिनांक 06 एवं 20 मार्च, 2020 (शुक्रवार) को गेवरारोड से छूटने वाली 18239 गेवरारोड-बिलासपुर एक्सप्रेस को 01 घंटे 45 मिनट नियत्रित की जायेगी। ऽ

दिनांक 06 एवं 20 मार्च, 2020 (शुक्रवार) को टाटानगर से छूटने वाली 58111 टाटानगर-इतवारी एक्सप्रेस को 02 घंटे 25 मिनट नियत्रित की जायेगी। देरी से छूटने वाली गाडियांः-

ऽ दिनांक 07 एवं 21 फरवरी, 2020 (शुक्रवार) को टाटानगर से छूटने वाली 58112 इतवारी- टाटानगर एक्सप्रेस को 02 घंटे 15 मिनट देरी रवाना होगी।

बिलासपुर एवं रायपुर के बीच पैसेंजर बनकर चलने वाली गाडींः-

ऽ दिनांक 06 एवं 20 मार्च, 2020 (शुक्रवार) को चलने वाली 18517 कोरबा-विशाखापटनम एक्सप्रेस को बिलासपुर एवं रायपुर के बीच पैसेंजर बनकर चलेगी।

ऐतिहासिक बना जिला पंचायत के पदाधिकारियों का प्रथम सम्मिलन व शपथ ग्रहण- बीजापुर

Danteshwar kumar ( chintu) : बीजापुर- जिला पंचायत के नवनिर्वाचित पदाधिकारियों का प्रथम सम्मिलन व शपथ ग्रहण समारोह जिला बीजापुर के लिए एक ऐतिहासिक प्रथम सम्मिलन रहा। क्योंकि पहली बार ऐसा हुआ कि जिला पंचायत का यह आयोजन किसी ग्राम के आदर्श गौठान में किया गया। ग्राम नुकनपाल के आदर्श गौठान में आयोजित इस कार्यक्रम में नवनिर्वाचित पदाधिकारियों के कार्यभार ग्रहण करने के इस अवसर पर जिला स्तर के अधिकारी, पत्रकार के अलावा कई प्रतिष्ठित व्यक्ति उपस्थित रहे। कार्यक्रम की शुरूआत में नवनिर्वाचित पदाधिकारियों एवं विषेष आमंत्रित अतिथियों को पुष्पगुच्छ भेंटकर अभिनंदन किया गया। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी एवं संविधान निर्माता डाॅ. भीमराव अंबेडर के तैल-चित्र पर दीप प्रज्जवलित कर छत्तीसगढ़ के राज्यगीत का सामुहिक गायन किया गया इस तरह कार्यक्रम की शुरूआत की गई। तत्पष्चात नवनिर्वाचित पदाधिकारियों ने पंचायती राज अधिनियम के अनुरूप अपने पद एवं कर्तव्य का शपथ लिया। सर्वप्रथम जिला पंचायत अध्यक्ष शंकर कुड़ियम, उपाध्यक्ष कमलेश कारम के बाद जिला पंचायत सदस्यों ने क्रमशः बसंत राव ताटी तिमेड़, श्रीमती सरिता चापा मद्देड़, सोमारू राम कश्यप बेदरे, श्रीमती संतकुमारी मण्डावी जांगला, बुधराम कश्यप नेलसनार, श्रीमती बी. पुष्पाराव गंगालूर, श्रीमती नीना रावतिया उद्दे तोयनार, सुश्री जानकी कोरसा आवापल्ली ने ली। शपथ ग्रहण के बाद कलेक्टर बीजापुर के.डी. कुंजाम द्वारा नवनिर्वाचित पदाधिकारियों को भारत का सविधान एवं पंचायती राज अधिनियम आदि की पुस्तक भेंट कर शुभकामनाएं दी गई। जिला पंचायत मुख्य कार्यपालन अधिकारी पोषण लाल चंद्राकर ने शुभकामनाऐं देते हुए कहा कि गांधी जी के विचारों को आत्मसात कर हमारे मुख्यमंत्री भूपेष बघेल ने नरूवा, गरूवा घुरूवा और बाड़ी योजना को मुर्तरूप दिया। आज उसी आदर्श गौठान में हमारे नवनिर्वाचित पदाधिकारी अपनी जिम्मेदारियों का शपथ ले रहे हैं, जो एक अविस्मरणीय अनुभव है। मैं सभी पदाधिकारियों को उनके नवीन कार्यकाल की शुभकामनाएं देता हूं। उन्होंने पिछले वित्तीय वर्ष के दौरान जिले में पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग अंतर्गत किये गए महत्वपूर्ण कार्य एवं उपलब्धियों को भी बताया। नवनिर्वाचित जिला पंचायत अध्यक्ष शंकर कुड़ियम ने अपने अभिभाषण में कहा कि हम सभी सदस्यों एवं जिले के सभी विभाग के अधिकारियों से समन्वय बनाकर जिले के ग्रामीण क्षेत्र के विकास के लिए बेहतर कार्य करेंगे। जिला पंचायत उपाध्यक्ष कमलेश कारम ने अपने संबोधन में कहा कि गांव के ग्रामीण और आमजन की समस्याओं को हल करने के लिए हम कटिबद्ध है। जनता ने हमें जो जिम्मेदारी दी है, उसे हम निभाने के लिए बेहतर कार्य करना हमारी प्राथमिकता होगी। कार्यक्रम में विशेष रूप से आमंत्रित कलेक्टर के.डी. कुंजाम ने नवनिर्वाचित पदाधिकारियों को शुभकामनाऐं देते हुए कहा कि शासन और प्रशासन को मिलकर सौहार्द भाव से काम करना चाहिए, हम जनप्रतिधियों से समन्वय स्थापित कर जिले के विकास के लिए कार्य करेंगे। ग्राम पंचायत प्रशासन की सबसे निचली कड़ी होती है, और ग्राम सभा को अधिनियम में अपने क्षेत्र के निर्णय लेने का पूर्ण अधिकार दिया गया है। कार्यक्रम के अंत में उपसंचालक पंचायत उमेश पटेल ने सभी का आभार व्यक्त किया। समारोह में विशेष आमंत्रित अतिथि जनपद पंचायत बीजापुर अध्यक्ष श्रीमती राधिका तेलम, जनपद पंचायत भैरमगढ़ दशरथ कुंजाम, जनपद पंचायत भोपालपटनम अध्यक्ष श्रीमती निर्मला मरपल्ली जनपद पंचायत उसूर अध्यक्ष श्रीमती अनिता तेलम, नगर पंचायत अध्यक्ष बीजापुर बेनहूर रावतिया, डीआईजी सीआपीएफ कोमल सिंह, पुलिस अधीक्षक दिव्यांग पटेल के अलावा प्रदेष सचिव कांग्रेस अजय सिंह, जिला अध्यक्ष कांग्रेस कमेटी लालू राठौर के अलावा कार्यक्रम में बड़ी संख्या में जिला स्तर व जनपद के अधिकारी, कर्मचारी और आमजन उपस्थित थे।

कोटमी सोनार में निर्विरोध उपसरपंच बने सुनीता नमर्दा रात्रे

कोटमी सोनार। उपसरपंच चुनाव को लेकर गाँवो में सरगर्मी तेज थी वही ग्राम कोटमी सोनार में पंचो ने एकजुटता दिखाते हुए सुनीता नर्मदा रात्रे को निर्विरोध उपसरपंच चुने। चुनाव अधिकारी द्वारा निर्धारित समय में निर्विरोध निर्वाचित उपसरपंच की घोषणा की गई । इस दौरान ग्राम पंचायत के 20 पंच सहित सरपंच शामिल हुए।चुनाव सम्पन्न कराने पीठासीन अधिकारी पाटले जी ,ग्राम पंचायत सचिव हेमलाल सिंह ,रोजगार सहायक अभिमन्यु बंजारे उपस्थित रहे। नवनिर्वाचित उपसरपंच को ग्रामीणों द्वारा रंग गुलाल लगाकर बधाई दीए। इस अवसर पर सरपंच रामिन बलराम नेताम,पूर्व सरपंच सन्तकुमार नेताम ,सुबोध थवाईत , नर्मदा रात्रे, गोल्डी डहरिया, अजीम मोहम्मद,वदूद खान, मेलाराम यादव ,केजू निर्मकलर, कन्हैया बंजारे,शेखर पटेल, मोहन यादव, संजय केवट सहित अन्य उपस्थित थे।

विशेष संरक्षा अभियान के तहत कर्मचारियों को दी जा रही है आवश्यक जानकारी

मंडल संरक्षा विभाग द्वारा कर्मचारियों को आगजनी एवं सडक दुर्घटना के दौरान ली जाने वाली सावधानियों एवं अग्निशमन यंत्रों का प्रयोग करने से संबंधित जानकारियां देने एवं उन्हें प्रशिक्षित करने हेतु विशेष अभियान चलाया जा रहा है। इसी संदर्भ में मंडल संरक्षा विभाग के नागरिक सुरक्षा निरीक्षक श्री घनश्याम विश्वकर्मा के मार्गदर्शन में वरि. अनुभाग अभियंता टेªक मशीन कार्यालय में कार्यरत सुपरवाइजर, कर्मचारियों एवं आरपीएफ बैरक प्रशिक्षण केन्द्र में प्रशिक्षार्थियों को आग से होने वाली दुर्घटनाओं को रोकने के लिए ली जाने वाली सावधानियों के बारे में विस्तारपूर्वक बताया गया। उन्हें बताया गया कि फायर सेफ्टी के नियमों का पालन कर जान-माल के नुकसान को कम किया जा सकता है। आग लगने की स्थिति में अग्निशमन यंत्रों का प्रयोग करने की विधियों के बारे में भी जानकारी देकर उन्हें प्रशिक्षित किया गया। इसके अलावा सड़क, रेल एवं अन्य प्रकार के दुर्घटना के दौरान मानव शरीर पर चोट लगने से चोट के स्थान पर त्रिकोणीय पट्टी के माध्यम से सुरक्षा प्रदान करने के बारे में भी विस्तृत जानकारियां दी गई। आग लगने के दौरान पास के अग्निशमन केन्द्रों का संपर्क न. एवं फायर ब्रिगेड का नं. 101 मुंह जुबानी याद रखने की भी सलाह दी गई।

पढ़े रेल सुरक्षा बल द्वारा किए गए सराहनीय कार्य।

( बिलासपुर / छतीसगढ़ )

रेलवे सुरक्षा बल दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे बिलासपुर के क्षेत्राधिकार में रेल सम्पत्ति की सुरक्षा के साथ-साथ यात्री एवं यात्री परिसर की सुरक्षा जैसी महत्वपूर्ण जिम्मेदारी एवं उत्तरदायित्व को निर्वहन करते हुए जो महत्वपूर्ण कार्य किये गये जो इस प्रकार हैः-

  • दिनांक 17-02-2020 को रेलवे सुरक्षा बल टाॅस्क टीम बिलासपुर-2 के अधिकारी व जवानों द्वारा पेंडाª रोड रेलवे स्टेशन चेकिंग के दौरान एक व्यक्ति- रमजान अली पिता स्व बरकत अली उम्र 45 वर्ष निवासी राजनगर थाना राजनगर जिला अनूपपुर (म.प्र) को यात्रिंयों का सामान उठाने का प्रयास कर रहा था। उसे गिरफ्तार कर आगे की कारवाई के लिए जीआरपी/ पेंडाª रोड को सौंप दिया गया, जंहा जीआरपी/ पेंडाª रोड द्वारा आरोपी के विरूध अपराध क्रमांक 14@02@2020 दिनांक 17-02-2020 धारा  41(2),109 सीआरपीसी दर्ज कर जाॅच में लिया गया।
  • दिनांक 17-02-2020 को रेलवे सुरक्षा बल पोस्ट चापा एवं टाॅस्क टीम बिलासपुर-1 के अधिकारी व जवानों द्वारा सक्ती रेलवे स्टेशन बुकिंग रिजर्वेशन काउंटर में रेलवे टिकट के खिलाफ छापा मारा गया और आरक्षण क्लर्क नाम-बालाराम रजक पिता स्व मुनुआ उम्र 40 वर्ष निवासी काॅव्टर नंबर 6 टी-2 स्टेशन रोड बिलासपुर थाना तोरवा जिला बिलासपुर (छ.ग) को रेलवे आरक्षण टिकटों की बिक्री के अवैध कारोबार में सलिप्तता में 14 नंबर रेलवे टिकट पास से जारी किया हुआ तथा नगद 25,600/-जप्त कीया गया इस संबध में रेलवे सुरक्षा बल पोस्ट चापा में अपराध क्रमांक 88@2020 दिनांक 17-02-2020 धारा 143 रेलवे अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया।
  • दिनांक 29.02.2020 को एक यात्री नाम वीरेंद्र सिंह नेताम ने बिलावुर में रेलवे सुरक्षा बल हेल्पलाइन-182 को सूचित किया कि यात्रा के दौरान उनका एक पीठू बैग किमत 1,000@-रूपये जिस में प्रमाण पत्र जो बिलासपुर रेलवे स्टेशन के प्रतीक्षालय में छूटगया है। सूचना पाते ही त्वरीत रेलवे सुरक्षा बल पोस्ट के अधिकारी व जवानों द्वारा कार्यवाही करते हुये पीठू बैग को अपने कब्जे में लेकर पीठू बैग के मालिक दिनांक 17-02-2020 के आने पर सत्यापन उपरांत सही सलामत सौप दिया गया।

करने जा रहे है सफर तो ये खबर है आपके लिए ये ट्रेन होने जा रही है रद्द....देखे पूरी लिस्ट

( बिलासपुर / छतीसगढ़ )

बिलासपुर मंडल के जामगा, दघोरा, हिमगीर एवं बेलपहाड़ स्टेशनों में तीसरीलाइन कनेक्टीविटी का कार्य किया जा रहा है। इसके फलस्वरुप कुछ और गाडियों का परिचालन प्रभावित रहेगा। रेलवे प्रशासन द्वारा अधोसंरचना विकास हेतु दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के बिलासपुर मंडल के अंतर्गत जामगा-दघोरा-हिमगीर एवं बेलपहाड़ स्टेशनों में तीसरीलाइन कनेक्टीविटी हेतु दिनांक 15 फरवरी से 27 फरवरी 2020 तक प्री नान-इंटरलाकिंग/नान इंटरलाकिंग का कार्य किया जा रहा है। इस कार्य के फलस्वरूप कुछ यात्री गाड़ियों का परिचालन प्रभावित है साथ ही यात्रियों की सुविधा हेतु कुछ गाडियों को पैसेंजर के रूप में चलाई जा रही है तथा विभिन्न स्टेशनों में अस्थायी ठहराव की सुविधा भी प्रदान की गई है। इसके अलावा विभिन्न दिवसों में निम्न गाडियों का परिचालन भी प्रभावित रहेगा। विवरण इस प्रकार हैः-

 प्रभावित होने वाली गाडियां:-
 1) दिनांक 21 फरवरी 2020 को उदयपुर से रवाना होने वाली गाडी संख्या 19660 उदयपुर-शालीमार एक्सप्रेस रद्द रहेगी।
 2) दिनांक 23 फरवरी 2020 को शालीमार से रवाना होने वाली गाडी संख्या 19659 शालीमार- उदयपुर एक्सप्रेस रद्द रहेगी। 
 3) दिनांक 22 फरवरी 2020 को शालीमार से रवाना होने वाली गाडी संख्या 22830 शालीमार-भुज एक्सप्रेस रद्द रहेगी। 
 4) दिनांक 25 फरवरी 2020 को भुज से रवाना होने वाली गाडी संख्या 22829 भुज-शालीमार एक्सप्रेस रद्द रहेगी। 
 5) दिनांक 22 फरवरी 2020 को माल्दा से रवाना होने वाली गाडी संख्या 13425 माल्दा-सूरत एक्सप्रेस रद्द रहेगी।
 6) दिनांक 24 फरवरी 2020 को सूरत से रवाना होने वाली गाडी संख्या 13426 सूरत-माल्दा एक्सप्रेस रद्द रहेगी।
         

मिशन एवं झाराडीह समपार आवश्यक रखरखाव हेतु बंद

( बिलासपुर / छतीसगढ़ ) 

रेलवे प्रशासन द्वारा दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे बिलासपुर मंडल के अंतर्गत चांपा-नैला स्टेशनों के मध्य किमी. 666/20-22 पर स्थित मानव सहित समपार संख्या 338 (मिशन फाटक) को, दिनांक 20.02.20 (गुरूवार) प्रातः 08 बजे से शाम 06 बजे तक आवश्यक मरम्मत कार्य हेतु सड़क यातायात के लिए बंद करने का निर्णय लिया गया है। उक्त समपार पर मरम्मत कार्य के दौरान यातायात के लिए वैकल्पिक व्यवस्था पास में ही किमी 667/17-19 में स्थित रोड अंडरब्रिज से उपलब्ध है। 
इसीप्रकार झाराडीह यार्ड किमी. 624/08-10 पर स्थित मानव सहित समपार संख्या 316 (झाराडीह फाटक) को, दिनांक 20 फरवरी 2020 (गुरूवार) रात 08 बजे से दिनांक 21 फरवरी 2020 (शुक्रवार) प्रातः 08 बजे तक मरम्मत कार्य हेतु सड़क यातायात के लिए बंद करने का निर्णय लिया गया है।

 

कुपोषण मुक्ति अभियान में मैदानी अमले सक्रियता से करें कार्य : अनिला भेंड़िया

रायपुर। महिला बाल विकास मंत्री अनिला भेंड़िया ने कहा है राज्य में महिलाओं और बच्चों में कुपोषण और एनीमिया को दूर करने के लिए मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान चलाया जा रहा है। राज्य सरकार द्वारा तय किए गए लक्ष्य अनुरूप आगामी तीन वर्ष में राज्य में कुपोषण दूर किया जाना है। इस लक्ष्य की प्राप्ति के लिए मैदानी स्तर के सभी अधिकारी और कर्मचारी सक्रियता से जुट जाए। उन्होंने कहा कि सुपोषण अभियान में लापरवाही पाए जाने पर कड़ी कार्यवाही की जाएगी। वे आज राजधानी के न्यू सर्किट हाउस में मैदानी स्तर पर कार्य करने वाले विभागीय अधिकारियों की समीक्षा बैठक को संबोधित कर रही थीं।  

महिला एवं बाल विकास मंत्री भेंड़िया ने कहा कि सभी आंगनबाड़ी केन्द्रों में कुपोषित बच्चों का चिन्हांकन कर लिया जाए, गंभीर रूप से कुपोषित बच्चों को पोषण पुर्नवास केन्द्रों में भर्ती कराया जाए। उन्होंने कहा कि कुपोषित बच्चों के पहचान के लिए नियमित रूप से वजन लेना जरूरी है। पोषण पखवाड़े के दौरान सभी आंगनबाड़ी केन्द्रों में 8 से 22 मार्च तक केन्द्र में दर्ज बच्चों का वजन अनिवार्य रूप से लिया जाए। कोई भी बच्चा वजन लेने से न छूटे। उन्होंने कहा कि यह सुनिश्चित करें कि हर गर्भवती शिशुवती माताओं को रेडी-टू-इट आहार का वितरण किया जाए। इसी प्रकार बच्चों को गर्म भोजन और नास्ता बदल-बदलकर दिया जाए, जिससे कि बच्चों को यह रूचिकर लगे। उन्होंने कहा कि पोषण पखवाड़ा के दौरान जनभागीदारी से भी बच्चों के लिए नए-नए व्यंजन तैयार किए जा सकते हैं, इसके लिए स्थानीय स्तर पर पहल की जाए। ग्रामीण क्षेत्रों में पोषण संबंधी जागरूकता के लिए पोषण रथ, जिला और विकासखण्ड स्तर पर पोषण मेला आयोजित किए जाए। मुख्यमंत्री कन्या दान योजना का लाभ अधिक से अधिक दिलाने के लिए सभी अधिकारी प्रयास करें।

महिला एवं बाल विकास विभाग के सचिव सिद्धार्थ कोमल सिंह परदेशी ने बैठक में कहा कि सुपोषण चौपाल में महिला एवं बाल विकास, स्वास्थ्य और समाज कल्याण विभाग का आपस में बेहतर समन्वय होना चाहिए। वजन त्यौहार मिशन मोड में अभियान संचालित किया जाए। सुपोषण मित्र योजना के तहत प्रत्येक कुपोषित बच्चे की मॉनिटरिंग की जाए। परदेशी ने पोषण पखवाड़ा की तैयारियों, आंगनबाड़ी केन्द्रों का संचालन, कार्यकर्ताओं और सहायिकाओं के भरे एवं रिक्त पदो की समीक्षा की। बैठक में महिला एवं बाल विकास विभाग के आयुक्त जन्मेजय महोबे सहित सभी जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद थे।