राजनीति

नगर पंचायत चुनाव का नतीजा घोषित भाजपा की अमृता प्रदीप कौशिक बैठेंगे अध्यक्ष की कुर्सी पर

चुनाव संपूर्ण होने के कुछ दिन बाद अध्यक्ष पद की दावेदारी करने उतरे दो प्रत्याशी जिसमें भाजपा से अमृता प्रदीप कौशिक और वहीं कांग्रेसी गीता संतोष गुप्ता ने अपनी दावेदारी पेश की 15 वार्डों में 9 सीट भाजपा ने दर्ज कराई वहीं 5 सीट कांग्रेसी ने अपने नाम किया एक सीट जनता कांग्रेस लेकर अपनी मौजूदगी का एहसास कराते हुए अपने नाम दर्ज कराया इसी के मद्देनजर अध्यक्ष पद की कुर्सी का फैसला होना था आम जनता यही सोचती रही की 9 सीट भाजपा के होने के बाद अमृता प्रदीप कौशिक ही अध्यक्ष पद की कुर्सी पर विद्वान होंगी जो कि उनको सूचना सही पर कहानी तब पलटी जब लोग नौ की जगह 11 वोट पाने के बात सुनाइ दी 9 सीट से जीतने के बाद अमृता प्रदीप कौशिक का वर्चस्व और भी ज्यादा बड़ा जब 9 की बजाए 2 वोट ज्यादा प्राप्त किया गया इससे लगता है कि जनता भी चाहती है कि अमृता प्रदीप कौशिक ही 5 साल नगर के विकास में अपना योगदान दें इस दौरान सुबह से ही नगर के थाना प्रभारी सुखनंदन पटेल के साथ एसडीओपी रश्मीत कौर चावला उपस्थित रही पूरी प्रक्रिया समाप्त होने के बाद अब कांग्रेस अपने विभीषण को तलाश करने में जुट जाएगी

बिलासपुर : रामशरण यादव बने निर्विरोध महापौर

रामशरण यादव निर्विरोध महापौर चुन लिए गए।बता दें, बिलासपुर नगर निगम में आज महापौर का चुनाव हो रहा है। कांग्रेस और भाजपा के बीच जोर आजमाइश चल रही है, क्रास वोटिंग से बचने के लिए अंतिम समय मे नाम की घोषणा की। दलीय आधार पर गौर करें तो 70 वार्ड वाले बिलासपुर नगर निगम में 37 सीट पर कांग्रेस और 32 सीट पर भाजपा के पार्षद हैं। परिणाम आने से पहले ही कांग्रेस के नेता शेख गफ्फार की मौत से एक सीट रिक्त हो गया है। गौरतलब है कि निकाय चुनाव में कांग्रेस के 35 और कांग्रेस के बागी तीन मिलाकर कुल 38 सीटें जीती हैं। ऐसे में भाजपा ने मेयर का चुनाव नहीं लड़ने का निर्णय लिया।

बिलासपुर के नवनिर्वाचित पार्षदों ने लिया शपथ। शपथ ग्रहण समारोह में कलेक्टर सहित तमाम पदाधिकारी रहे मौजूद। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता रविन्द्र चौबे और गिरीश देवांगन की मौजूदगी में हुआ शपथग्रहण। बिलासपुर के सभी 69 पार्षदों ने लिया शपथ । स्वर्गीय पार्षद शेख गफ्फार के लिए रखा गया मौन।

A REPORT BY : अजीत मिश्रा : छत्तीसगढ़ बिलासपुर

बिलासपुर में शहर सरकार बनाने के लिए कांग्रेस में अपनी एडी-चोटी का जोर लगा दी है, और आखिरकार शपथ ग्रहण समारोह के दिन विशेष डेकोरम देखने को मिला।  बिलासपुर के निर्वाचित सभी 69 वार्ड पार्षदों ने विधिवत तरीके से शपथ ग्रहण किया वहीं इस बीच बिलासपुर प्रभारी रविंद्र चौबे और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गिरीश देवांगन भी शपथ ग्रहण समारोह में मौजूद रहे।  कलेक्टर संजय अलंग ने सभी पार्षदों को शपथ ग्रहण दिलाया।  वहीं स्वर्गीय पार्षद शेख गफ्फार के आकस्मिक निधन को याद करते हुए 1 मिनट का मौन भी रखा गया।

सत्ता का दुरुपयोग करके नगरीय निकाय चुनाव जीती है सरकार : बृजमोहन अग्रवाल

जगदलपुर। पंचायत चुनाव होने को है जिसको लेकर दोनों ही पार्टियों ने कमर कस ली है पूर्व मंत्री और भाजपा के विधायक बृजमोहन अग्रवाल ने शुक्रवार को जगदलपुर में एक प्रेस वार्ता ली। उन्होंने कहा है कि पंचायत चुनाव मैं वह अपने 15 साल के कामों को लेकर जनता के बीच जाएंगे। वहीं कांग्रेस की 1 साल की सरकार ने कोई भी विकास नहीं किया है। इसको लेकर के भी वह जाएंगे सबसे बड़ा मुद्दा है। धान खरीदी का किसान परेशान है और इस पंचायती चुनाव में जनता सरकार को सबक सिखाने तैयार है। बृजमोहन अग्रवाल ने कहा गांव में बिजली मिल नहीं रही पंद्रह पंद्रह दिन तक बिजली आती नहीं शिकायत के बाद भी सुधारा नहीं जाता और इस बार पंचायत चुनाव में हमारे ज्यादा से ज्यादा सरपंच सदस्य चुनकर आएंगे और यह सरकार धनबल का दुरुपयोग करके चुनाव जीती है। 1 साल में कांग्रेस का ग्राफ गिर रहा है। अब पंचायती चुनाव में भाजपा की ज्यादा से ज्यादा सीट जीतकर आएंगे और आज शाम तक नामों की घोषणा हो जाएगी।

जिला पंचायत सदस्य के 9 दावेदारों ने दाखिल किया नामांकन

अम्बिकापुर। त्रिस्तरीय पंचायत आम निर्वाचन 2019-20 के अंतर्गत जिला पंचायत सदस्य पद के लिए शुक्रवार को 9 दावेदारों के द्वारा नामांकन दाखिल किया। वहीं 20 दावेदारों ने नामांकन पत्र खरीदा। अब तक जिला पंचायत सदस्य पद के लिए 10 अभ्यर्थियों ने नामांकन दाखिल किया है।

मुख्यमंत्री को रविन्द्र चौबे ने छत्तीसगढ़ को मिले कृषि कर्मण का पुरस्कार सौंपा

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से शुक्रवार को उनके निवास कार्यालय में कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे ने मुलाकात कर छत्तीसगढ़ को मिले कृषि कर्मण के पुरस्कार को सौंपा। इस दौरान प्रदेश के दो प्रगतिशील कृषकों वीरेन्द्र कुमार साहू तथा अदिती कश्यप भी साथ थीं। मुख्यमंत्री ने कृषि मंत्री और दोनों किसानों को पुरस्कार के लिए अपनी बधाई और शुभकामनाएं दी। बघेल ने छत्तीसगढ़ को मिले कृषि कर्मण पुरस्कार के लिए हर्ष जताया और पुरस्कार को प्रदेश के अन्नदाता किसानों के नाम समर्पित किया। छत्तीसगढ़ को कृषि कर्मण पुरस्कार के रूप में पांच करोड़ रूपए की राशि, ट्रॉफी एवं प्रशस्ति पत्र से पुरस्कृत किया गया है। ज्ञातव्य है कि छत्तीसगढ़ को सर्वाधिक खाद्यान्न उत्पादन के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 2 जनवरी को कर्नाटक के तुमकुर में कृषि कर्मण पुरस्कार से सम्मानित किया। कृषि मंत्री रवीन्द्र चौबे ने राज्य की ओर से यह पुरस्कार ग्रहण किया। छत्तीसगढ़ को वर्ष 2016-17 में कुल खाद्यान्न उत्पादन श्रेणी-2 के अंतर्गत सर्वाधिक खाद्यान्न उत्पादन के लिए भारत सरकार द्वारा इस पुरस्कार के लिए चुना गया है। कर्नाटक में आयोजित पुरस्कार समारोह में प्रधानमंत्री ने प्रदेश के दो प्रगतिशील किसानों धमतरी जिले के अंतर्गत ग्राम बेलौरी के वीरेन्द्र कुमार साहू और विकासखण्ड कवर्धा के अंतर्गत ग्राम पालीगुड़ा के अदिती कश्यप को भी पुरस्कृत किया। पुरस्कार के तौर पर उन्हें दो-दो लाख रूपए की राशि एवं प्रशस्ति पत्र प्रदान किया गया। इस अवसर पर कृषि मंत्री के साथ संचालक कृषि टामन सिंह सोनवानी तथा अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

जनक डनसेना के जिला पंचायत सदस्य दावेदारी से लोगों में खुशी का लहर

खरसिया कांग्रेस के कद्दावर नेता बरभौना सोनिया शक्ति केंद्र को परिवार की तरह पिरोकर रखने वाले जनता के हर सुख दुख में खड़े रहने वाले जनक डनसेना के जिला पंचायत सदस्य क्षेत्र क्रमांक 16 खरसिया 3 से दावेदारी करने से राजनीतिक हलचल तेज हो गई है क्षेत्र में जहां लोगों का भरपूर समर्थन मिल रहा है वहीं इनके पिता मुनुराम डनसेना ने भी अविभाजित धर्मजयगढ़ विधानसभा से ही कांग्रेसका निष्ठावान जमीनी कार्यकर्ता रहते आए साथ ही ग्राम पंचायत में लगातार सदस्य रहते हुए कई बार उपसरपंच का दायित्व निभाते हुए गांव गरीब के सुख दुख में हमेशा खड़े हुए एवं कांग्रेश परिवार की नींव को मजबूत रखने में अहम भूमिका निभाए वहीं उनके पुत्र युवा कांग्रेस से ही सक्रिय राजनीति में आए व उनके कार्यशैली को देखते हुए तत्कालीन विधायक नन्दकुमार पटेल ने ब्लाक युवा कांग्रेस के महामंत्री पद की नियुक्ति करते हुए कार्यक्रम में बुलाकर सोनिया शक्ति केन्द्र बरभौना की जिम्मेदारी भी सौंपी| तब से क्षेत्र में कांग्रेस पार्टी को और मजबूती मिली जिससे आज इस क्षेत्र को कांग्रेस का गढ कहा जाता है और शहीद नन्दकुमार पटेल के चहेते माने जाने वाले डनसेना कई वर्षों से शिक्षा के क्षेत्र में अध्यापक रहे तथा उनके शिक्षा के प्रकाश से कई छात्र - छात्राओं का भविष्य उज्जवल हुए पटेल को राजनीतिक गुरु मानते हुए कांग्रेस का बागडोर संभाले तथा उनके शहीद होने के उपरांत मंत्री उमेश पटेल के भी बेहद करीबी माने जाते हैं वहीं उन्होंने भी ब्लाक कांग्रेस का सचिव की जिम्मेदारी दिये जिसे बखूबी निभाते हुए क्षेत्र में कांग्रेस के विपरीत परिस्थिति में भी कांग्रेस का साथ नहीं छोड़ते हुए सत्य निष्ठा के साथ पंजा के झण्डा को बुलन्द रखे | जनक डनसेना के जिला पंचायत के लिए नाम सामने आने से लोगों में अति उत्साह देखा जा रहा है लोगों में लोगों में चर्चा का विषय बना हुआ है यदि इन्हें कांग्रेस पार्टी प्रत्यासी बना कर मैदान में उतारती है तो इनकी जीत प्रचण्ड मतों से सुनिश्चित मानी जा रही है|

बिलासपुर नगर निगम के परिणाम घोषित होने के बाद प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महामंत्री अटल श्रीवास्तव के निवास पर पर सभी 70 उम्मीदवारों के लिए भोज का किया गया आयोजन

बिलासपुर नगर निगम के परिणाम घोषित होने के बाद प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महामंत्री अटल श्रीवास्तव के निवास पर पर सभी 70 उम्मीदवारों के लिए भोज का आयोजन किया गया। भोज के राजनीति के बहाने निगम में पदों के की रणनीति पर ज्यादा चर्चा की गई । तो हार चुके कांग्रेसी पार्षदो की शिकायतो का भी जल्द समाधान करने पर भी बातचीत हुई । साथ ही नगर निगम में कांग्रेस की सरकार बनना तय होने के बाद से महापौर के चयन को लेकर भी इस भोज में गहमगमी का माहौल दिखा । गौरतलब है कि 70 वार्डो में से 35 पार्षदो की जीत और 4 निर्दलीय के निःशर्त कांग्रेस को समर्थन की घोषणा के बाद से महापौर की कुर्सी के लिए खींचतान का दौरा भी चालू हो गया है । निर्दलीयों के समर्थन के बाद महापौर के लिए 5 दावेदार सामने आ चुके है । और अपने अपने लिए लॉबिंग भी शुरू कर दी है ।जहाँ एक तरफ नेता प्रतिपक्ष शेख नजरुदीन रामशरण यादव ,राजेश शुक्ला ,रविंद्र सिंह और विष्णु यादव पार्टी के प्रति निष्ठा और निगम की राजनीति में अनुभव के आधार पर अपनी दावेदारी ठोक रहे है तो वही दूसरी ओर पहली बार पार्षद का चुनाव जीत कर आये जिला ग्रामीण अध्य्क्ष विजय केशरवानी भी दावेदारी कर रहे है । विजय केशरवानी का संगठन में दखल और उच्च मंत्रियों के करीबी होने की वजह से अनुभवी पार्षद भी उन्हें अपनी दावेदारी के लिए बड़ा रोड़ा मान रहे है । इसलिए खुल कर किसी अनुभवी पार्षद को ही मेयर बनाने का राग अलापते नजर आए । जबकि सीएम के सबसे करीबी प्रदेश महामंत्री अटल ने पर्यवेक्षक रविंद्र चौबे की सभी पार्षदो की रायशुमारी के बाद जल्द बिलासपुर निगम के नए महापौर की बात कही है ।

बैलेट पेपर से पारदर्शी तरीके से हुए नगरी निकाय के चुनाव में भाजपा चारों खाने चित

जनता पर नही डॉ. रमन सिंह और भाजपा को ईवीएम पर था भरोसा

 बैलेट पेपर से हुए चुनाव में भाजपा की पोल खुली

रायपुर/25 दिसंबर 2019। पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह एवं भाजपा सांसद सुनील सोनी के बयान पर कांग्रेस ने पलटवार किया प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहां की बैलेट पेपर से पारदर्शी तरीके से हुए मतदान से नगरी निकाय चुनाव में भाजपा चारों खाने चित हो गई। नगरीय निकाय चुनाव में जनसमर्थन जुटाने में असफल डॉ. रमन सिंह और सुनील सोनी जैसे भाजपा नेता भाजपा की हार से तिलमिला गये हैं। चुनाव परिणाम के बाद भाजपा नेताओं के तिलमिलाहट से स्पष्ट हो गया भाजपा को जनता पर नहीं कि ईवीएम मशीन पर भरोसा था। बैलेट पेपर से हुये चुनाव से भाजपा की पोल खुल गई। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के 1 साल के काम के बदौलत कांग्रेस कार्यकर्ताओं के मेहनत और वरिष्ठ नेताओं के मार्गदर्शन में कांग्रेस ने बेहतर प्रदर्शन नगरी निकाय चुनाव में किया है, जिसके अच्छे परिणाम प्राप्त हुए हैं। कांग्रेस सरकार के खिलाफ निरंतर झूठ फरेब भ्रम फैलाने का काम भाजपा के नेताओं ने किया है। भाजपा के भ्रम को जनता ने अस्वीकार कर दिया है। भाजपा के द्वारा जो लगातार कांग्रेस सरकार के खिलाफ एक झूठ का माहौल तैयार करने की कोशिश की गयी उसे मतदाताओं ने नकार दिया है। छत्तीसगढ़ के किसानों, नौजवानों, महिलाओं, युवाओं में भाजपा के प्रति गहरी नाराजगी है। भाजपा को जनता के आक्रोश का सामना करना पड़ा। भाजपा के प्रति जनता का आक्रोश कांग्रेस के पक्ष में मतदान में परिवर्तित हुआ।

 प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा कि भाजपा के नेताओं को अपने गिरेबान में झांकना चाहिए जब मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार सहित प्रदेश के किसानों के हित की बात कर रहे थे ऐसे में भाजपा के नेता और भाजपा के सांसद छत्तीसगढ़ के किसानों के हितों के विरोध में खड़े थे जिसका परिणाम नगरी निकाय चुनाव में इनको भुगतना पड़ा है।

प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के सरकार के जन हितेषी जनकल्याणकारी फैसलों के खिलाफ खड़ी भाजपा को छत्तीसगढ़ की जनता ने नकार दिया है। किसानों के कर्ज माफी उनके उपज का 2500 रू. मूल्य बिजली बिल हाफ आदिवासियों के जमीन लौटाने तेंदूपत्ता का मानक दर 2500 रू. से बढ़ाकर 4000 रू. प्रति बोरा करने 15 वनोपज का समर्थन मूल्य में खरीदने की नीति बनाने जाति प्रमाण पत्र का सरलीकरण छोटे भूखंडों की रजिस्ट्री पर लगे बैन को हटाना आंगनबाड़ी मितानिन कार्यकर्ताओं के मानदेय को बढ़ाना सहित शासकीय कर्मचारियों के हक में जो फैसला भूपेश बघेल की सरकार ने लिया है, उसका लाभ कांग्रेस पार्टी को मिला है। 

आपसी गुटबाजी में बटी कांग्रेस ने कड़े मुकाबले में दो दशक बाद बिलासपुर में लहराया अपना परचम

अजीत मिश्रा

बिलासपुर-नगर निगम के परिसमन के बाद बिलासपुर नगर निगम में कांग्रेस ने शानदार प्रदर्शन करते हुए पूर्ण बहुमत हासिल कर लिया है । टिकट बटवारे के बाद आपसी गुटबाजी में बटी कांग्रेस ने कड़े मुकाबले में दो दशक बाद बिलासपुर में अपना परचम लहराया । छत्तीसगढ़ बीजेपी निकाय प्रभारी अमर अग्रवाल के गढ़ में बीजेपी को पटखनी देते हुए कांग्रेस ने 70 वार्डो में पूर्ण बहुमत 36 पर कब्जा किया तो बीजेपी 29 सीटो पर ही जीत हासिल कर सिमट गई।। जबकि 5 निर्दलीय पार्षदो ने कामयबाई पाई । चुनाव परिणाम निकाय चुनाव 2019 में मंगलवार को मतगणना की प्रकिया पूरी की गई, जिसके लिए बिलासपुर नगर निगम के 70 वार्डो के मतों की गिनती गवर्मेन्ट कॉलेज कोनी में बनाये गए स्ट्रॉग रूम की गई। सुबह 9 बजे से मतों की गणना शुरू की गई और बूथ वार काउंटिंग की गई, जिसमें दोपहर बाद परिणाम सामने आने लगे। शुरुआत में भाजपा को वार्डो से बढ़त मिल रही थी, जैसे ही दोपहर बाद गिनती शुरू हुई, कांग्रेस के पक्ष में परिणाम आने लगे। और अंत मे कांग्रेस ने पूर्ण बहुमत पा कर अपना महापौर बनाने का रास्ता भी साफ कर लिया। कांग्रेस के शहर अध्यक्ष नरेंद्र बोलर, पूर्व नेता प्रतिपक्ष बसंत शर्मा, तैय्यब हुसैन, तजम्मुल हक, शैलेन्द्र जायसवाल जैसे कद्दावर नेताओं को हार का सामना करना पड़ा, बावजूद इसके कांग्रेस की जीत भूपेश सरकार के एक साल के काम पर मुहर है।।