छत्तीसगढ़

ग्राम पंचायत सुलोनी के कोरेन्टीन सेंटर में मजदूरो के खाने में मिला मरा हुआ छिपकली जिम्मेदार रहते है नदारत

सूरज सिंह मस्तुरी

पचपेड़ी क्षेत्र के ग्राम पंचायत सूलौनी के कोरेन्टीन सेंटर में भोजन वितरण के दौरान दाल चावल व सब्जी सभी प्रवासिय मजदूरों को वितरण किया जा रहा था जिसमे मजदूरों ने पके हुए दाल में अचानक छिपकली देखा जिसके बाद सभी ने मिल कर इसकी शिकायत पंचयात प्रतिनिधियो से की और दाल में छिपकली होने की शिकायत किये जिसके बाद सभी को पंच सरपंच ने दाल नही खाने को कहा सरपंच ने बताया की सूलौनी पंचायत में पटवारी व सचिव की ड्यूटी लगाई गई हैं पर वो आते ही नही है और न ही किसी प्रकार की सहयोग उनके द्वारा किया जा रहा है न ही फोन कर के जानकारी लेते कोई जिम्मेदार अधिकारी कर्मचारी ड्यूटी पर नही रहते जबकि पटवारी, सचिव को नोडल अधिकारी बनाया गया है।मजदूर इस बात से भारी आक्रोस में है और भारी विरोध में उतर आये हैं उन्हें समझाने का प्रयाश पंचायत के लोगो के द्वारा लगातार किया जा रहा है

सत्ता पक्ष के विधायक और जिला प्रशासन के बीच सियासी दांवपेंच

रायपुरः बिलासपुर में फिर सत्ता पक्ष के विधायक और जिला प्रशासन के बीच पत्र व्यवहार को लेकर सियासी दांवपेंच देखने को मिल रहा है। नगर विधायक शैलेश पांडेय ने बिलासपुर के नवनियुक्त कलेक्टर के नाम पर जनता से जुड़ी समस्याओं को लेकर सोशल मीडिया में लंबा चौड़ा पत्र लिख कर यहाँ की राजनीति में एक नया मोड़ दे दिया है। इस पत्र के माध्य्म से जिला कलेक्टर का ध्यान आकर्षित करते हुए नदी किनारे बसे लोगो को अभी कोरोना महामारी के समय नही हटाने और उनको वही नया घर बना कर उसी जगह में देने की भी बात कही गई।

आपको बता दे कि पूर्व की रमन सरकार में इस योजना को मूर्त रूप देने के लिए यह योजना बनाई गई थी जिसमे नदी के दोनों के तरफ सड़क और नाला का निर्माण करके अरपा नदी में 12 माह पानी रहे है इसके लिए योजना बनाई गई थी जिसके के लिए प्रधिकरण भी बनाया गया था लेकिन सत्ता परिवर्तन के बाद प्रदेश में कांग्रेस की सरकार काबिज होने के बाद अब इस योजना को सरकार ने अपने हाथों में लेकर इसे क्रियान्वयन करने में जुट गई है।

अभी हाल में ही इस क्षेत्र में सर्वे का काम बड़ी तेजी से किया गया और ऐसा बताया जा रहा है कि कल से सभी को निगम से नोटिस जारी कर यहाँ से हटाया जाएगा और दूसरे अन्य क्षेत्रों में इनकी बसाहट की जाएगी। वही अटल आवास में हाल ही निगम के द्वारा रह रहे लोगो को भी हटाया जा रहा था जिसको भी लेकर इस पत्र में नगर विधायक शैलेश पांडेय ने जिक्र किया है अब देखना यह होगा कि नगर विधायक के इस पत्र को जिला प्रशासन कितना तवज्जो देते है।

अभिव्यक्ति एवं महिला काव्यमंच द्वारा आनलाइन काव्य गोष्ठी

भाटापारा _ संत कबीर जयंती व पर्यावरण दिवस उपलक्ष पर साहित्यिक संस्था अभिव्यक्ति एवम् महिला काव्य मंच के तत्वाधान में ऑनलाइन काव्य गोष्ठी आयोजित की गई!

कार्यक्रम का शुभारंभ सरस्वती वंदना व स्वागत गीत से किया गया, जिसे अन्नपूर्णा पवार व स्वर्ण लता त्रिवेदी जी ने प्रस्तुत किया।

सर्वप्रथम ओजस्वी कवियित्री अन्नपूर्णा पवार जी ने अपनी ओजकविता से सबका मन मोह लिया."अब मर्दन की बारी है ,दिखला दे सफल विश्व को जगदीश "हीरा" जी ने बेहतरीन कविता प्रस्तुत की, जिस के कुछ अंश,

मैं देश का वह लाल बन जाऊं ...नहीं बन सका दरिया तो मैं वह ताल बन जाऊं ...सबको तो नहीं बदल सकता पर... मैं खुद के लिए ही एक मिसाल बन जाऊं, हमारी नन्ही कवियत्री मुस्कान शर्मा

ने पर्यावरण पर बहुत सुंदर कविता प्रस्तुत की,,,

आओ !मानवता का पौधा रोपें

पश्चात् इसी क्रम में कविता शर्मा

ने अपनी छत्तीसगढ़ी मीठी बोली में सभी को मंच से बांध लिया... सुन ले रे संगवारी अब बाजे है मोबाइल अउ गूगल गुरुजी

ख्यातिलब्थ ज्योतिष एवं साहित्यकार

तेजस्वी शर्मा

सब मिलके हमला करना है सेवा.... भुंइया ला बचाना है... दूरिहा बनाकर रहना है ,,,अब सुरक्षा के बेरा है,

स्वर्णलता त्रिवेदी,"मैं वृक्ष सा अटल रहूं,,, फल -फूल से आल्हादित रहूं,

वरिष्ठ साहित्यकार अजय साहूजी ने दो मुक्तक सुनाएं,

अंत में आभार प्रकट करते हुए कार्यक्रम की संचालिका वंदना गोपाल शर्मा "शैली" द्वारा

विश्व गुरु भारत जैसे देश में साक्षर राज्य केरल में जो हैवानियत हुई जिससे मानवता शर्मसार हुई है,

गर्भवती हथिनी पर संवेदना प्रकट करते हुए मुक्त काव्य सुनाया सभी भावविभोर हो उठे।

क्वॉरेंटाइन अवधि पूरा करने पर कुटीघाट रेडजोन क्वॉरेंटाइन सेंटर से 121 महिला एवं पुरुष श्रमिको को प्रमाण पत्र देकर घर विदा किया गया

जांजगीर जिला के कुटीघाट रेड जोन सेन्टर से क्वारंटीन अवधी पूरा करने वाले श्रमिको को प्रमाण पत्र एवं अभिवादन करके उनके घर केलिए भेजा गया है। क्वारंटीन सेंटर में 121 महिला एवं पुरुष क्वारंटीन थे जो अन्य राज्य गुजरात महाराष्ट्र उडीसा. राजस्थान. से आये थे जिनहे जिला प्रशासन ने कुटीघाट उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में रखा गया था 14 दिन पूरा करने के पश्चात इन्हें स्कूल परिसर में उपस्थित स्वास्थ्य विभाग की टीम के द्वारा सामान्य शारिक जांच कर घर में 14 क्वॉरेंटाइन रहने की हिदायद दी गई है।

विश्व पर्यावरण दिवस पर स्काउट गाइड वाटिका बनाने का संकल्प

कोटमी सोनार। शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय अमोरा की स्काउट गाइड ने विद्यालय परिसर के समीप पुष्प वाटिका बनाने का संकल्प किया है। स्काउट गाइड के राज्य मुख्य आयुक्त श्री सेवन लाल चंद्राकर विधायक महासमुंद , राज्य सचिव श्री कैलाश सोनी , जिला संगठक श्री एम एल कौशिक के निर्देशन पर शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय अमोरा के स्काउट गाइड ने सोशल डिस्टेंसिग का पालन करते हुए ग्राम की युवा सरपंच सुश्री अंजनी भानू एवम उपसरपंच श्रीमती सुधा नवल सिंह ,पंच श्रीमती अर्चना पूरी गोस्वामी के आतिथ्य में वृक्षरोपण कर्यक्रम संम्पन किया। अतिथियों स्वयं सेवकों एवम शाला के स्काउट गाइड ने बादाम,गुलमोहर नीम करंज पौधों का रोपण किया गया।सुश्री भानु ने अपने उद्बोधन में वृक्षो के संरक्षण हेतु प्रयास करने तथा पुष्प वाटिका हेतु संसाधन उपलब्ध कराने की बात कही गयी। श्रीमती सुधा नवल सिंह ने विद्यालय के स्वयं सेवकों द्वारा करौना के समय प्रशासन के निर्देश पर ग्रामीण इलाकों मेंकिये गए कार्यों की मुक्तकंठ से प्रसंशा की गई ।ए एल टी स्काउट संजय कुमार यादव ने बताया कि वृक्षारोपण के पूर्व चिन्हित जगहों पर पूर्व में ही गड्ढा खोद कर पानी से भर दिया गया था तथा दो दिवस पूर्व खाद युक्त मिट्टी तैयार कर वृक्षारोपण की तैयारी स्वयं सेवकों द्वारा कर ली गयी थी ऐसा इसलिए किया गया था कि वृक्षोँ की जड़े ठीक से अवशोषण कर सकें उन्होंने बताया कि रोपित वृक्षो को संरक्षित रखने की जिम्मेदारी एक स्काउट,एक गाइड एवम एक स्वयं सेवक को दी गयी है।साथ ही वाटिका की परिकल्पना भी अतिथियों के सामने रखी। प्राचार्य आशीष मिश्र ने वाटिका निर्माण के उद्देश्य और लाभ के बारे में चर्चा की। इस अवसर पर श्री नवल सिंह, मोनू गोस्वामी,नेतराम साहू,सुनील जांगड़े,दुर्गेश लहरे,कान्हा निर्मलकर एवम पूर्व छात्र सहित समस्त स्काउट गाइड उपस्थित थे।

विश्व पर्यावरण दिवस मनाने से कुछ नही होगा अपितु वृक्षारोपण ही इसका सटीक उपाय

विश्व पर्यावरण दिवस के उपलक्ष्य में एके गुरूकुल रानी लक्ष्मीबाई उच्च माध्यमिक विद्यालय में हर साल की तरह इस साल भी अनेक पेड़ पौधों को लगाया गया साथ ही पहले से लगे हुए वृक्षोँ को अच्छे से सुरक्षित किया गया एवं पर्यावरण पर विचार विमर्श किया गया। छात्राओं ने ऑनलाइन माध्यम से पर्यावरण संरक्षण पर विचार पेश किए और लोगों को अधिक से अधिक पौधे लगाने के लिए प्रेरित किया। विद्यालय के सभी सदस्यों ने छात्राओं को पर्यावरण संरक्षण का संदेश दिया और परिसर में पौधे लगाए सोशल डिस्टेन्स का पालन करते हुए । एके कंप्यूटर्स कोरबा के छात्रों व शिक्षकों तथा कर्मचारियों के द्वारा ऑनलाइन माध्यम से शैक्षिक चर्चा कराई गई, जिसमें जल के दुरुपयोग, नदियों में नालों के गंदे पानी का गिरना, वनों की अंधाधुंध कटाई, वाहनों से बढ़ता ध्वनि प्रदूषण आदि कई कारणों से पर्यावरण प्रदूषित होना बताया गया। प्राचार्य अक्षय कुमार दुबे ने बताया कि पृथ्वी के मुख्य घटक जल, वायु, ध्वनि तथा पृथ्वी खतरनाक स्तर तक प्रदूषित हो चुके हैं। इस मौके डॉ राधा सिंह,बबिता यादव,विमल मानिकपुरी आदि ऑनलाइन माध्यम से अपनी उपस्थिती देते रहे। एके गुरुकुल रानी लक्ष्मी बाई उच्च माध्यमिक विद्यालय ढेलवाडीह शिक्षण संस्थान में आयोजित छोटा सा कार्यक्रम में पर्यावरण की स्थिति बहुत खराब होने पर चर्चा हुई। प्राचार्य श्री अक्षय कुमार दुबे ने कहा कि पर्यावरण के प्रति सचेत रहना होगा, नहीं तो जिस तरह से ग्लोबल वार्मिंग का प्रभाव बढ़ रहा है, यह मानव के लिए चिंता का विषय है। प्रवक्ता रामफल ने कहा कि नए पौधे लगाने के साथ ही पुराने वृक्षों की रक्षा करनी होगी। इस मौके पर पवन यादव,संजय,सूरज और नेहा परवीन उपस्थित रहे। वार्ड नं 20 काशीनगर पार्षद नारायण दास महंत ने कोरबा आरामशीन तरल संशाधन सेंटर में 21 पौधों को रोपित किया और कहा कि पर्यावरण का दूषित होना दुनिया की गंभीर समस्याओं में एक है। इस समस्या का निवारण वृक्ष ही कर सकते हैं, जबकि वार्ड में अनेक सम्मानीय महिलाओं एवं पुरुषों ने भी पौधरोपण किए। इसी तरह से विद्यालय परिसर में प्रचार्य अक्षय कुमार दुबे ने पौधे लगाए और वृक्षों के जीवनदाता की भूमिका को रेखांकित किया। इस अवसर पर छात्र छात्राओं ने पूरे वर्ष विद्यालय में पौधे लगाने का प्रण लिया , इस मौके पर कुमकुम ,जागृति , विकास , याष्मीन, डॉली,आदि उपस्थित रहीं।

सरपंच की लापरवाही कीडायुक्त दाल खिला रहे प्रवासियो को कोरेन्टीन के लोगो को नही दिए मास्क,साबुन,सेनेटाइजर

सूरज सिंह मस्तुरी

मस्तुरी ब्लॉक के ग्राम पंचायत अमलड़िहा में सरपंच पति सीताराम चौहान के द्वारा किया जा रहा भारी लापरवाही लगभग पिछले 20 दिनों से कोरेन्टीन में रखे गए लोगो को भर पेट खाना कहने को दे रहे है यह पूरा मामला तब सामने आया जब कोरेन्टीन किये गए मजदूरो ने गांव वालों को बताया कोरेन्टीन किये गए लोगो का आरोप है कि यहाँ के कोरेन्टीन सेंटर में दाल व सब्जी एक साथ नही दिया जाता जब दाल देते है तो सब्जी नही देते और सब्जी देते है तो दाल नही देते दाल के साथ सब्जी तो बहुत दूर की बात है एक मिर्च भी देने से सरपंच ने मना कर दिया है यहाँ कीड़े युक्त दाल भी लोगो को परोसा जा रहा है जब किसी ने खाते वक्त कीड़े को देखा तो दाल से सारे मरे हुये कीड़े को चम्मच निकाल कर उसी दाल को फिर से परोसा गया और ऊपर से लोगो को धमकी भी देते है कि जिसको रहना है रहो जिसको नही रहना वो जा सकते है मामला यही खत्म नही होता कोरेन्टीन में रखे गए लोगो को न साबुन दिया गया हैं न मास्क न ही सेनेटाइजर इस बारे में पंचायत के सचिव राजकुमार बावरे का कहना है कि मुझे सरपंच जब जब बोलते है पैसे की जरूरत है मैं सी ओ साहब से अनुमति मांग कर पैसे निकाल कर देता हूँ और वो क्यों लोगो को सब्जी और भी जरूरी सामान नही दे रहा वो ही जाने गांव के लोग मुझे भी इस बारे में कई बार बोल चुके है और मेरे कहने कहने से ही पिछले 6 दिनों से लोगो को नास्ता दिया जा रहा है अभी तक 90 हज़ार निकाल कर सरपंच को दे चुका हूं वहीं इस पूरे मामले में सरपंच पति सीताराम चौहान का कहना है कि मेरे पास पैसे की कमी थी जिसके वजह से मैंने सब्जी दाल व अन्य चीजों में कटवती किया अभी भी मेरा कर्जा क्लियर नही हुआ है वही इस पूरे मामले को ले कर गांव वालों में भारी आक्रोस देखी जा रही है अब जरा सोचिए कि क्या किसी भी गांव के मुखिया को ऐसा करना चाहिए क्या जो लोग कोरेन्टीन में रह रहे है वो इंसान नही है या पैसे की चमक के आगे इंसानियत भी खत्म हो जाती है सोचने वाली बात है अब देखना ये होगा कि आला अधिकारी इस मामले में कोई कार्यवाही करते है या नही

नगर पालिका बीजापुर के जनप्रतिनिधियों ने किया वृक्षारोपण- बीजापुर

Danteshwar kumar ( chintu) बीजापुर - विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर नगर पालिका परिषद के जनप्रतिनिधियों ने नगर के श्मशान घाट में वृक्षारोपण किया और वन संरक्षण के लिए जनता को सन्देश दिया । विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर पार्षद नंद किशोर राणा ने कहा कि आज जिस तरह से धड़ल्ले से वनों की कटाई अवैध तरीके से हो रही है इस पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा साथ ही कहा कि जंगलो में मानवीय संसाधन का विस्तार बढ़ाता जा रहा है जबकि जंगलों में जानवरों के हिस्से का जमीन में भी लोग अपने कब्जे में लेते जा रहे हैं ऐसी हालात रही तो जंगली पशुओं के लिए चिंता का विषय है, इसलिए ही जानवर गांव की ओर आ रहे है। साथ ही कहा ही आज हम पूरी सुख सुविधा के लिए पर्यावरण को नुकसान पहुंचा रहे है हम भुल गये हैं कि पर्यावरण रहेगा तो हम जीवित रहेंगे। वन विभाग को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि नगर के चारो ओर मुरुम खनन कर ठेकेदारों के द्वारा वनों को नुकसान पहुंचाया जा रहा है जबकि खनन ठेकेदारों से पौधा रोपण करना चाहिए पर विभाग ठेकेदारों को सरक्षंण दे रहा है। विभाग के उच्चाधिकारियों को शिकायत करने के बाद भी कार्यवाही नही करते है।जिसके वजह से जंगलो में रहने वाले जीव जंतु का अंत हो रहा है सिर्फ हमे कहानियों में सुने मिलेगा न कि देखने।विश्व पयार्वरण दिवस के अवसर में नगर पालिका के श्मशान घाट में वृक्षों रोपण किया है वृक्षारोपण के दौरान क्षेत्रीय विधायक विक्रम मंडावी, नगर पालिका अध्यक्ष बेनूर रावतिया, पार्षद घासीराम नाग, पार्षद संजय गुप्ता, कलेक्टर अग्रवाल, जिला पंचायत सी ओ पोषण चंद्रकार, जिला पंचायत सदस्य नीना रावतिया उद्दे, नगर पालिका सी एम ओ पवन मेडिया, नगर पालिका विभाग के कर्मचारी मौजूद थे

क्वॉरेंटाइन सेंटर में पूरा हुआ 14 दिन

दरअसल मामला खरसिया ब्लाक के अंतर्गत आने वाले ग्राम सोंडका का है जहां विभिन्न राज्यों से आने वाले 24 लोगों को बालक छात्रावास सोंडका को क्वॉरेंटाइन सेंटर बनाया गया था और वहां रखा गया था जहां जिले से आए हुए डॉ के द्वारा सैंपल लिया गया जिनकी रिपोर्ट आनी अभी बाकी है मगर डॉक्टर की सतत निगरानी में कोरोना के कोई भी लक्षण नहीं दिखने के कारण और 14 दिन क्वॉरेंटाइन मे बिताने के बाद उन्हें उनके घर भेजा गया और क्वॉरेंटाइन सेंटर में जितने भी लोग थे उन्होंने वहां की उत्तम व्यवस्था को देखते हुए सरपंच महोदया गंगाबाई तथा उपसरपंच सुलोचना चौहान और सचिव रामेश्वर पटेल को धन्यवाद ज्ञापित किए तथा सरपंच, उपसरपंच, सचिव और डॉ. B.N मेहर प्रभारी चिकित्सा अधिकारी के द्वारा साफ हिदायत दी गई की आप लोग 14 दिन होम आइसोलेशन में रहे और पंचायत की तरफ से गाड़ी करके उन्हें उनके निवास स्थान में छोड़ा गया

खरसिया से कृष्ण गोपाल डनसेना की रिपोर्ट

मनरेगा मजदूरों के लिए सुरक्षा कवच तैयार कोरोना संक्रमण से सुरक्षा के लिए 12 बिन्दुओं में "क्या करें क्या नहीं" निर्देश जारी

मनरेगा कार्यस्थल पर सुरक्षा शपथ का होगा वाचन

Danteshwar kumar ( chintu)

बीजापुर- वैश्विक महामारी कोविड -19 के संक्रमण की रोकथाम के लिए राज्य शासन ने महात्मा गांधी नरेगा अंतर्गत कार्यस्थलों पर क्या करे और क्या नहीं का 12 बिंदुओं में दिशा -निर्देश जारी किया है। देशव्यापी लॉक डाउन की स्थिति में महात्मा गाधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना अंतर्गत प्रदेश भर में व्यापक स्तर पर काम शुरु किए गए हैं । इसी कड़ी में जिले में भी पर्याप्त मात्रा में रोजगारमूलक कार्यो को प्राथमिकता में लेते हुये कार्य स्वीकृत किये गए हैं। सोसल डिस्टेसिंग का पालन करते हुए बड़ी संख्या में इन कार्यो में मजदूर कार्य कर रहे हैं। ऐसी स्थिति में नोवल कोरोना वायरस ( कोविड -19 ) से निपटने और इसके संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए जन - जागृति के संदेशों का महात्मा गांधी नरेगा के कार्य - स्थल पर वाचन मजदूरों के प्रति शासन की संवेदनशीलता को दर्शाता है ।

मुख्य कार्यपालन अधिकारी पोषण चंद्राकर ने बताया कि कलेक्टर रितेश अग्रवाल ने वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण की प्रसार व रोकथाम के लिए लगातार समीक्षा कर निर्देश दिए हैं। लॉकडाउन के दौरान ग्रामीण श्रमिकों को स्थानीय स्तर पर रोजगार मुहैया कराना शासन की प्राथमिकता में है। ऐसी स्थिति में कार्य स्थल पर सावधानियां बरतने के लिए शासन से क्या करे क्या नही दिशा निर्देश जारी किये गए है। जिसका जिले में मनरेगा कार्य स्थल पर सप्ताह में एक दिन सुरक्षा शपथ के रुप में वाचन किया जाएगा।

क्या करें और क्या नहीं में शामिल बिन्दु

1. सार्वजनिक स्थानों पर तंबाकू खैनी इत्यादि न चबाएं और न ही थूकें ।

2. सार्वजनिक स्थानों पर न्यूनतम 1 मीटर की भौतिक / शारीरिक दूरी बनाए रखे ।

3. स्वसन और हाथ की स्वच्छता सहित व्यक्तिगत स्वच्छता बनाए रखें ।

4 . हाथ से बने एवं पुनः उपयोग में लाये जा सकने वाले मास्क से हर समय चेहरा डकें ।

5. मास्क न होने पर साफ - सुथरे कपड़े / गमछे से चेहरा ढकें।

6 . आंखों , नाक और मुह को छूने से बचे । छीकते और खांसते समय अपनी नाक और मुंह को ढके।

7 . अपने हाथों को बार - बार साबुन और पानी से धोएं । साबुन और पानी उपलब्ध न हो तो , कम से कम 60 प्रतिशत अल्कोहल - आधारित हैंड सेनिटाइजर का उपयोग करें ।

8. घर के अंदर या बाहर स्वच्छता नियमित रखें और स्पर्श वाली सतहों को कीटाणुरहित करें ।

9 . अनावश्यक यात्रा से बचें ।

10. कोरोना को हराने वालों या उससे लड़ने वालों को स्वीकार करे , उनका तिरस्कार न करें ।

11. सामाजिक आयोजन और भीड़-भाड़ वाली जगह से दूर रहें।

12. बिना हाथ मिलाये और गले मिले, हाथ जोड़कर अभिवादन करें और स्वीकारें।

अन्नदाता किसान भाइयों को नहीं मिल पा रहा किसान सम्मान निधि योजना का लाभ

सुबोध थवाईत / कोटमी सोनार। गांव के कृषकों द्वारा आफ लाइन आवेदन पटवारी हल्का न 15 के पास आवेदन जमा किया गया है वही कुछ किसान ऑनलाइन आवेदन ग्राहक सेवा केंद्र के माध्यम से किये है इसके बाद भी कोटमी सोनार के लघु एंव सीमांत कृषकों को लाभ नही मिल रहा है। किसानों द्वारा पटवारी से सम्पर्क करने पटवारी हल्का न 15 द्वारा किसान सम्मान निधि योजना का लाभ दिलाने पैसे की मांग करने की बात कह रहे है।जबकि केंद्र सरकार द्वारा किसानों के सम्मान में यह योजना को लागू किया गया है गांव के किसान गंगाराम ,रामाधीन मल्होत्रा ने बताया कि मेरे द्वारा ऑनलाइन आवेदन किया गया है पटवारी हल्का न 15 द्वारा एक सप्ताह में योजना की राशि दिलाने की एवज में पैसे की मांग करने की बात सामने आ रही है ।किसान सम्मान निधि का कुछ किसानों को पहला और दूसरा किस्त मिल चुका है परंतु आधे से अधिक किसनो को पहला क़िस्त नही मिल पा रहा है जबकि एक साथ शासन द्वारा शिविर लगाए गए थे तो आवेदन जमा किये गए है। पटवारी हल्का नम्बर 15 कोटमी सोनार पटवारी का अपने मुख्यालय में नही रहने से किसानों को भटकना पड़ रहा है वही सप्ताह में एक दिन आने की जानकारी मिली है जबकि कोटमी सोनार गांव जनसंख्या के साथ साथ बड़ा रकबा वाला गांव है यहां प्रतिदिन कुछ न कुछ काम जमीन से सम्बंधित लगा रहता है।ग्रामीणों ने कलेक्टर महोदय से पटवारी को मुख्यालय में निवास कराने की मांग किये है । पीएम किसान योजना में शिकायत के लिए टोल फ्री नंबर क्या है? प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना के लिए प्रधानमंत्री द्वारा एक टोल फ्री नंबर जारी किया गया है जिस पर डायल करके कोई भी किसान अपनी किसी भी प्रकार की शिकायत दर्ज करा सकता है। टोल फ्री नंबर:- 155261 और 1800115526

कलेक्टर ने कृषि विज्ञान केन्द्र का किया आकस्मिक निरीक्षण- बीजापुर

Danteshwar kumar ( chintu) बीजापुर - कृषि विज्ञान केन्द्र की गतिविधियों से अवगत होने आज कलेक्टर श्री रितेश कुमार अग्रवाल ने कृषि विज्ञान केन्द्र बीजापुर का आकस्मिक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान कलेक्टर श्री अग्रवाल ने साल भर की कार्य योजना बनाकर कार्य करें और अधिक से अधिक किसानों को योजनाओं से जोड़ने और श्रमिकों को रोजगार दिलाने के निर्देश कृषि विज्ञान केन्द्र के प्रभारी अधिकारी अरूण सकनी को दिए। कृषि विज्ञान केन्द्र के प्रभारी अधिकारी श्री सकनी ने बताया कि 26 हेक्टेयर क्षेत्र में है। उसके पश्चात कलेक्टर श्री अग्रवाल ने कहा कि इसमें धान, कन्दमूल, रागी, कुल्थी एवं विभिन्न प्रकार के फसल लगाने के लिए कहा। कलेक्टर श्री अग्रवाल ने केन्द्र चारों तरफ का अवलोकन करते हुए कहा कि अलग-अलग प्रकार के फलदार वृक्ष लगाने के भी निर्देश दिए। उन्होेंने मशरूम, कुक्कुट पालन, मछली पालन, बकरी पालन को बढ़ावा देने को कहा। निरीक्षण के दौरान मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत पोषणलाल चन्द्राकर, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद प्रदीप वैद्य उपस्थित थे।

आगामी मानसून में बाढ़ आदि विपत्तियों से निपटने आवश्यक व्यवस्था करने अधिकारियों को दिए निर्देश- बीजापुर

Danteshwar kumar ( chintu) बीजापुर - जिले में बाढ़ आदि नैसर्गिक विपत्तियो से निपटने के लिए गठित आपदा प्रबंधन समिति की बैठक जिला कार्यालय के सभा कक्ष में कलेक्टर रीतेश कुमार अग्रवाल की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई। बैठक में आगामी मानसून में बाढ़ एवं वर्षा से उत्पन्न विपत्तियों से निपटने की तैयारियों के संबंध में विस्तार से चर्चा की गईं। बैठक में जिला एवं तहसीलस्तर पर बाढ़ नियंत्रण कक्ष सहित आपदा प्रबंधन के लिए कार्य योजना के संबंध में विस्तार से विचार विमर्श किया गया। कार्य योजना के तहत विभिन्न विभागों के अधिकारियों को सौपे गए दायित्व की समीक्षा की गई। बैठक में अनुविभागीय दण्डाधिकारी एवं प्रभारी आपदा प्रबंधन ए आर राना ने बताया कि बाढ़ एवं नैसर्गिक विपत्तियों में निपटने के लिए बाढ़ नियंत्रण कक्ष की स्थापना कर दी गई है। इसी तरह पर तहसील स्तर कक्ष की स्थापना किए जाने के निर्देश कलेक्टर ने दिए।बैठक में विपत्तियों से निपटने हेतु विभिन्न विभागों की जिम्मेदारी तय की गई है। इसमें खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति निगम को पहुचविहीन क्षेत्रों में बाढ़ की स्थिति में जहां पहुच पाना संभव नहीं होता है।वहां पर्याप्त मात्रा में खाद्य सामग्री नमक केरोसीन जीवन रक्षक दवाए आदि पहले से ही संग्रहित करने की जिम्मेदारी दी गई है। लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग द्वारा पेयजल की शुद्धता रखते हुए, कुआ, हेण्डपंप और अन्य पेयजल स्त्रोंतों के लिए बिलीचींग पाउडर इत्यादि की व्यवस्था किए जाने के निर्देष दिए गए। जिन क्षेत्रों में प्रति वर्ष बाढ़ आती है। उन क्षेत्रों में सतत् निगरानी रखने की विशेष व्यवस्था की जाएगी और आवश्यकता पड़ने पर ऐसे क्षेत्र के लोेगों से सुरक्षित स्थानों पर पहुचाने एवं ठहरने के लिए कैम्प आदि का सम्पूर्ण कार्य योजना तैयार कर आवश्यक कार्यवाही करने की जिम्मेदारी तहसीलदारों को दी गई है। नगर सेना को जिम्मेदारी दी गई है कि वे बाढ़ से बचाव से संबंधित जो भी उपकरण जिले में उपलब्ध है उनकी दुरस्त कराए। नागरीय विभाग के नगर पालिका अधिकारी को निर्देशित किया गया है कि वे अपने संबंधित नगरीय निकाय क्षेत्र में तमाम नाले व नालियों की निरतर साफ सफाई करवाए। नगरीय क्षेत्र में जर्जर भवनों की पहचानकर आवश्यकतानुसार मानसून के दौरान भवनों की निगरानी करे तथा उन मकानों में निवासरत परिवारों को अन्यत्र बसाए जाने की व्यवस्था करें। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग की जिम्मेदारी यह होगी कि बाढ़ की स्थिति में संक्रामण बीमारियों की संभावनाआंे को दृष्टिगत रखते हुए बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में चिकित्सा दल का गठन कर आवश्यक जीवन रक्षक दवाओं की व्यवस्था सुनिश्चित की जाएगी। बैठक में अनुविभागीय दण्डाधिकारी डाॅ हेमेन्द्र भूआर्य, ए आर राणा सुरेन्द्र ठाकुर सहित सभी तहसीलदार नगरपालिका अधिकारी व जनपदों के मुख्य कार्यपालन अधिकारी उपस्थित थे।

बलौदाबाजार जिले के बिलाईगढ़ ब्लाक एवं कसडोल मे मिला कोरोना पोजिटिव

कोरोना संक्रमितो संख्या बढ रही है कोरोना का कहर बिलाईगढ़ ब्लाक तथा कसडोल ब्लाक मे प्रवासी मजदूर कोरोनटाईन से छुट्टी होने के बाद रिपोर्ट पोजिटिव निकलने का मामला सामने आया हुआ. है जिसमे बिलाईगढ़ ब्लाक के 9मजदूर मिले जिसमे 5लोग ग्राम पंचायत पुरगांव कोरोनटाईन सेंटर से छुट्टी हो गया था छुट्टी होने के बाद होम कोरोनटाईन मे थे उसके बाद रिपोर्ट पोजटिव निकला । से तथा 2लोग ग्राम लुकापारा से और 2लोग ग्राम मनपसार से सभी को रात मे ही ईलाज हेतु रायपुर ले गये है इसी तरह से कसडोल ब्लाक के गिधौरी थाना अंतर्गत ग्राम पंचायत नरधा 5लोगो मे महिला … संक्रमण पाया गया जिनमे से 1जम्मूकश्मीर से लौटा हुआ था बाकी 4लोग की ट्रैवेल हिस्ट्री खंगाली जा रही है बताया जा रहा है की सभी भाटापारा स्टेशन सेआये हुये थे ग्राम नरधा मे पोजटिव मिलने से नरधा के महंत लाल दास स्कुल मे सभी विभाग के अधिकारी एवं कर्मचारी पहुंचे हुये थे और .पोजिटिव संक्रमण को 108संजीवनी इमरजेंसी मेडिकल टेक्नीशियन महेंद्र कुमार कश्यप 108 पायलट राजकुमार साहू के द्वारा क्वॉरेंटाइन नरधा के पास केस पॉजिटिव को एम्स रायपुर ले जाया गया। बलौदाबाजर जिले मे अब कुल आकडा लगभग 50लगभग पहुंच चुका है । लेकिन सभी कोरोनटाईन सेंटर मे प्रवासी मजदूरो का स्वास्थ्य विभाग कम लोगों का जांच करने से और बाद रिपोर्ट आने से मजदूर परेशान है नरधा मे एक महिला का 14 माह के बच्चे है और 108पर रायपुर जाते समय रो रो कर बिलखते रहे ।महिलाओं का पति बच्चे सहित कोरोनटाईन समय सेंटर पर है। पोजिटिव वही ग्राम पुरगांव तथा नरधा इन क्षेत्रों को कंटेन्मेंट जोन घोषित कर दिया गया है। और लभभग दो सौ मीटर तक रास्ते दोंनों तरफ बंद कर दिया गया है ।

तेज रफ़्तार ट्रक ने बाइक सवार को मारी ठोकर

बिलासपुर मस्तूरी मुख्यालय से महज 3 किलोमीटर दूर पर स्थित ग्राम पंचायत वेद परसदा में तेज रफ्तार से जा रही 10 चक्का ट्रक से प्लैटिना मोटरसाइकिल बाइक क्रमांक CG/10/EF/9653 मे सवार दो लड़की डॉक्टर से इलाज करवा कर अपने घर की ओर जा रही थी। जो की वेद परसदा बस स्टैंड पर ट्रक की चपेट में आने से एक लड़की जिसे गहरी चोट आई थी। एवं साथ में रहे बाइक चला रहे दूसरे लड़की सही सलामत है। । एवं मोटरसाइकिल के पीछे में बैठी ज्योति साहू उम्र 17 वर्ष पिता जगेश्वर साहू को एक्सीडेंट होने के पश्चात गहरी चोट आई थी जिसे आनन-फानन में मस्तूरी स्वास्थ्य केंद्र लाया गया जहां उसे मृत घोषित कर दिया है। ज्योति साहू बचपन से अपने मामा गजानंद साहू के यहां पढ़ाई लिखाई करने को रह रही थी। मौके पर मस्तूरी पुलिस पहुंचकर दुर्घटनाग्रस्त ट्रक एवं मोटरसाइकिल को अपने कब्जे में लेकर आगे की कार्रवाई कर रही है।