राजधानी

परिवहन विभाग के सांठगाठ से डीलर कर रहे है जनता की जेब ढ़ीली- कांग्रेस

परिवहन विभाग के सांठगाठ से डीलर कर रहे है जनता की जेब ढ़ीली- कांग्रेस 

रायपुर/ 12 अप्रेल 2017।  छत्तीसगढ़ शासन का परिवहन मत्रालय सुधरने का नाम ही नई ले रहा है कभी अनफीट गाड़ीयो को एन.ओ.सी देने तो कभी ड्राईविंग लाईसेसों के नाम से ज्यादा पैसा वसूली के मामले में प्रसिद्ध रहे परिवहन विभाग अब आटो मोबाईल डीलरो के साथ सांठगाठ कर आम उपभोक्ताओं से ट्रेड फीस एवं ट्रेड टैक्स की वसूली कर आम जनता की जबरिया जेब ढ़ीली कर रहा है। छत्तीसगढ़ के आटो मोबाईल शो-रूम परिवहन विभाग की सरपरस्ती में बेलगाम हो गये है। 
प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता मनीष दयाल ने बताया कि लंबे समय से वाहन डीलरों द्वारा ग्राहको से ट्रेड फीस और ट्रेड टैक्स वसूला जा रहा है। परिवहन विभागों के नियमों के अन्तरगत ट्रेड फीस एवं ट्रेड टैक्स का भूगतान डीलरो द्वारा परिवहन विभाग को देना पड़ता है। किन्तु आटो मोबाईल डीलर अपने पैसे बचाने के लिये ये शुल्क सीधे ग्राहको से वसूल रहा है। एक चार पहिया वाहन में ट्रेड फीस 1000 रू. तथा टैक्स 600 रू. लगता है, वही दुपहिया वाहन में ट्रेड फीस 500 रू. तथा ट्रेड टैक्स 30 रू.लगता है। पूरे छत्तीसगढ में हर माह लगभग 1500 से 1800 चारपहिया वाहनों तथा 4200 से 4500 दुपहिया वाहनों की बिक्री होती है यदि ट्रेड टैक्स जोड़ा जाये तो चारपहिये वाहन खरीदने वाले ग्राहको को लगभग 28 से 30 लाख रूपये तथा दुपहिया वाहन खरीदने वाले ग्राहको को लगभग 23 से 25 लाख रूपये से जेब ढ़ीली करनी पड़ती है। परिवहन विभाग के नियमों के अंर्तगत ट्रेड फीस एवं ट्रेड टैक्स का भुगतान डीलरो द्वारा किया जाना है न कि वाहन खरीदी करने वालो द्वारा फिर भी खुले आम डीलरो द्वारा आम जनता से ट्रेड फीस एवं  टैक्स वसूला जा रहा है। जिसके प्रति प्रशासन पूरी तरह से मौन नजर आ रहा है। डीलरो द्वारा खुले आम फीस एवं टैक्स वसूली करना परिवहन विभाग से डीलरो की सांठगाठ की संभावनाओं को जन्म दे रहा है। परिवहन विभाग आम जनता को लूटने के अलावा कोई और काम नही कर रहा है। कभी हेलमेट के नाम से अवैध वसूली तो कभी प्रदूषण के नाम से वसूली करता आ रहा है। कांग्रेस पार्टी ने डीलरो द्वारा जबरन ली जा रही ट्रेड फीस एवं टैक्स पर प्रतिबंध लगाने की मांग की है तथा ऐसे डीलरो पर कार्यवाही की मांग की है। ताकि छत्तीसगढ की जनता की जेब जबरन ढ़ीली न हो। 

मनीष दयाल 
प्रवक्ता 

लोक सुराज अभियान 2017 : मुख्यमंत्री दो दिन कांकेर-दुर्ग जिले के दौरे पर

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह लोक सुराज अभियान के तहत 12 अप्रैल को कांकेर और 13 अपै्रल को दुर्ग जिले का दौरा करेंगे। मुख्यमंत्री 12 अप्रैल को राजधानी रायपुर से हेलीकाप्टर द्वारा सवेरे नौ बजे रवाना होंगे और किन्हीं दो गांवों का आकस्मिक दौरा करने के बाद दोपहर एक बजे कांकेर पहुंचेंगे। वे शाम चार बजे वहां कलेक्टोरेट के सभाकक्ष में आयोजित बैठक में जिले की विकास योजनाओं की समीक्षा करेंगे। वे इस बैठक के बाद शाम 6 बजे से 6.30 बजे तक स्थानीय पत्रकारों से चर्चा करेंगे। डॉ. सिंह इसके बाद सर्किट हाउस में जिले के जनप्रतिनिधियों, वरिष्ठ नागरिकों से भी मुलाकात करेंगे। मुख्यमंत्री कांकेर में रात्रि विश्राम करेंगे और अगले दिन 13 अप्रैल को सवेरे सर्किट हाऊस में कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक से चर्चा करेंगे और इसके बाद 9.15 बजे कांकेर से प्रस्थान करेंगे और दो गांवों का आकस्मिक दौरा करने के पश्चात दोपहर 1.40 बजे दुर्ग जिले पहंुचेंगे। वहां शाम चार बजे कलेक्टर सभाकक्ष में दुर्ग और बेमेतरा जिले की संयुक्त रूप बैठक लेंगे जिसमें दोनों जिलों के विकास कार्यो की समीक्षा करेंगे। वे इस बैठक के बाद शाम 6 बजे से 6.30 बजे तक स्थानीय पत्रकारों से चर्चा करेंगे। मुख्यमंत्री उसके पश्चात जनप्रतिनिधियों और नागरिकों से भेंट करेंगे और दुर्ग में ही रात्रि विश्राम करेंगे। डॉ. रमन सिंह अगले दिन 14 अपै्रल को सवेरे कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक से चर्चा करेंगे। उसके उपरांत सवेरे नौ बजे दुर्ग से प्रस्थान करेंगे और 9.20 को रायपुर लौट आएंगे।

पुलिस अपनी मर्दानगी तीन सवारी करने वाले मासूम नौजवान पर दिखाने में लगी है सुरेंद्र शर्मा

बलोदा बाजार में पुलिस हिरासत में रिक्की सलूजा की मौत पुलिस के निरंकुश ब्यवहार का सिर्फ नमूना मात्र है । छत्तीसगढ़ प्रदेशकांग्रेस प्रवक्ता सुरेंद्र शर्मा ने कहा एक तरफ सरकार झीरम के हत्यारों को आज तक खोज नही पाई । पूर्व विधायक शिव डहरिया की माता के हत्यारे ओर पिता पर जानलेवा हमला करने वाले खुला घूम रहे है । बिलासपुर में पत्रकार पाठक पर गोली चलाने वालों का पता नही है । इसलिए पुलिस अपनी मर्दानगी तीन सवारी करने वाले रिक्की सलूजा जैसे मासूम नौजवान पर दिखाने में लगी है । जिस तरह का बर्ताव ट्रैफिक पुलिस द्वारा रिक्की सलूजा के साथ किया गया वैसा बर्ताव तो घोर अपराधियों के साथ भी नही किया जाता । दोषियों को निलंबित कर न्यायिक जांच का आदेश दिया जा चुका है ।घर वाले जिम्मेदार अधिकारियों के विरुद्ध एफ आई आर करने की मांग की जा रही है जो किया जाना चाहिए । सामान्य नियम है किसी को हिरासत में लेते समय उसके परिजन अथवा उसके बताये ब्यक्ति को सूचित किया जाना चाहिए और उसकी मांग पर चिकित्सीय जांच कराने का नियम है,जिसका पालन नही किया गया शहर की जनता में भारी आक्रोश है । समूचा घटनाक्रम सरकार के कार्य प्रणाली की पोल खोलता क्योकि सरकार शराब दुकान खुलवाने में ब्यस्त है और पुलिस सड़क पर चलने वालों से वसूली में मस्त है । सुरेंद्र शर्मा का कहना है कुल मिलाकर सब अस्त ब्यस्त है ।

छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने कहा रमन राज में पुलिस हुई बर्बर - आनंद मिश्रा ने रिक्की सलूजा के मौत को बताया बहुत ही शमर्नाक घटना

रायपुर छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता आनंद मिश्रा ने जारी विज्ञप्ति में कहा कि बलौदाबाजार में यातायात पुलिस की बर्बर मारपीट से रिक्की सलूजा की मौत बहुत ही शमर्नाक घटना है। नागरिको को सुरक्षा देने वाली पुलिस अब नीरीह व्यक्ति के इस अमानवीय रूप से मारपीट करती है कि उसकी मौत हो जाती है।  मिश्रा ने कहा कि सलूजा का अपराध भी इतना बड़ा नहीं था कि उसे आदतन अपराधी की तरह वहशियाना ढंग से मारपीट करना आवश्यक होता। भाजपा सरकार में कभी हेलमेट, कभी प्रदूषण, कभी गाड़ी के कागजात के नाम पर जनता से यातायात पुलिस से आमजन परेशान हो रहे है। पुलिस अत्याचार में हुई मौत की संख्या के आंकड़े भी विचलित कर देने वाले है।  मिश्रा ने कहा कि बस्तर और आदिवासी क्षेत्रों में पुलिस अत्याचार की कहानी भी चरम पर है।  कांग्रेस नागरिको पर हो रहे अत्याचार की घोर निंदा करती है

रायपुर में मालवीय रोड स्थित दुकान में लगी आग, 4 लोगों की मौत फायर ब्रिगेड की 15 गाड़ियां मौके पर पहुंची हैं और आग बुझाने की कोशिश जारी

रायपुर में मालवीय रोड पर स्थित दुकान और लॉज में सुबह ​3​ बजे  आग लग गई है। आग लगने से 4 लोगों की मौत हुई है। फायर ब्रिगेड की  १५ गाड़ियां मौके पर पहुंची हैं और आग बुझाने की कोशिश जारी है। फायर ब्रिगेड की गाड़ियां भिलाई से मंगवाई गई हैं। आग लगने के कारणों का खुलासा नहीं हो सका है।

रमन सिंह ही हैं सबसे बड़े कोचिया भूपेश बघेल कोचिया हटाने का वादा लेकिन भाजपा के लोग ही कोचिया बन रहे हैं

रायपुर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल ने कहा है कि शराब बेच रही भाजपा सरकार के सबसे बड़े कोचिया तो खुद मुख्यमंत्री रमन सिंह ही हैं क्योकि वे भी शराब बेचकर अवैध कमाई करने जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि उनके एक मंत्री ने ही बताया है कि शराब बेचकर 1500 करोड़ रुपए का कमीशन आएगा जिसका हिसाब रखने का कोई तरीका नहीं है। उन्होंने पिछले सात दिनों के अनुभव से यह भी जाहिर हुआ है कि भाजपा के नेता ही शराब की जमाखोरी करके कोचियागिरी कर रहे हैं।

बघेल ने कहा कि मंत्रिमंडल की बैठक में एक वरिष्ठ मंत्री ने सवाल उठाए थे कि शराब बेचने से 1500 करोड़ रुपए का जो कमीशन आएगा उसे किस खाते में डाला जाएगा। उन्होंने कहा कि न तब मुख्यमंत्री ने इसका जवाब दिया था और न अब तक दे पाए हैं। जाहिर है कि कमीशन की यह राशि मुख्यमंत्री रमन सिंह और आबकारी मंत्री अमर अग्रवाल के बीच ही बंटेगी। तो यही काम तो शराब ठेकेदार और कोचिया भी कर रहे थे। इस नाते रमन सिंह प्रदेश के सबसे बड़े कोचिया हो गए।

 बघेल ने कहा है कि मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह पिछले एक हफ्ते से फतवे जारी कर रहे हैं कि कोचियों को टांग देंगे, एसपी को हटा देंगे आदि आदि। .वे वादा तो कर रहे हैं कि कोचिया पूरे प्रदेश से हट जाएंगे लेकिन पिछले सात दिनों में भाजपा नेता ही कोचियागिरी करते पकड़े गए हैं।

चार दिन पहले पेंड्रा में भाजपा पार्षद के पोल्ट्री फॉर्मसे बड़ी मात्रा में शराब पकड़ी गई थी और कल पाटन में भाजपा के नगर पंचायत अध्यक्ष कृष्णा भाले के समधी रामरतन देवांगन के घर से बड़ी मात्रा में शराब जब्त की गई है। इसमें कई ब्रांड की विदेशी शराबें हैं। ऐसी छोटी मोटी खबरें पूरे प्रदेश से आ रही हैं।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा है कि कांग्रेस को इस बात पर कोई संदेह नहीं था कि भाजपा सरकार शराब क्यों बेच रही है। लेकिन अब जनता भी समझ जाएगी कि भाजपा की असली मंशा कोचियों को हटाकर खुद कोचियों का काम करना है ताकि पूरी कमाई भाजपा से जुड़े लोगों की जेब में जाए। महिलाएं रमन सरकार के लिए भीख मांग रही हैं लेकिन सरकार को शर्म नहीं आ रही है।

 बघेल ने कहा है कि भारतीय परंपराओं और संस्कारों की बात करने वाली भाजपा और उनकी मातृ संस्था आरएसएस इसलिए चुप हैं क्योंकि 1500 करोड़ रुपयों का कमीशन उन तक भी तो पहुंचेगा।

डॉ. रमन सिंह ने सुप्रीत कौर के हौसले को किया सलाम हादसे में पति की मौत की खबर को भी टीव्ही पर अविचलित होकर पढ़ी एंकर ने

रायपुर मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक 53 पर महासमुंद जिले में पिथौरा के पास सड़क हादसे में दुर्ग राजधानी रायपुर के एक प्राइवेट टेलीविजन चैनल ‘आईबीसी-24’ की समाचार वाचिका सुप्रीत कौर के पति  हर्षद गावड़े सहित दुर्ग जिले के तीन युवाओं की आकस्मिक मृत्यु पर गहरा दुःख व्यक्त किया है। मुख्यमंत्री ने तीनों दिवंगत युवकों के शोक संतप्त परिवारों के प्रति अपनी संवेदना प्रकट की है। डॉ. सिंह ने समाचार वाचिका  सुप्रीत कौर के हौसले को सलाम करते हुए कहा है कि वह अपने न्यूज चैनल में इस हादसे की खबर पढ़ते हुए जरा भी विचलित नहीं हुई, जबकि उन्होंने इस दुर्घटना में अपने पति को खो दिया था, लेकिन  सुप्रीत ने अपार दुःख की इस घड़ी में भी पत्रकारिता के अपने कर्त्तव्य को पूरी दृढ़ता के साथ निभाया। मुख्यमंत्री ने हादसे में घायल युवाओं के जल्द स्वास्थ्य लाभ की कामना की है। ज्ञातव्य है कि महासमुंद जिले में पिथौरा के पास  सवेरे कार को पीछे से एक तेज रफ्तार ट्रक की टक्कर लगने के फलस्वरूप यह दुर्घटना हुई। इसमें कार सवार दुर्ग और भिलाई निवासी तीन युवकों की मृत्यु हो गई और दो घायल हो गए। कार में ये लोग रायपुर से सरायपाली की ओर जा रहे थे। 

सुकमा जिले के चिंतागुफा में जवानों द्वारा नाबालिग से किये गये दुष्कर्म की जांच हेतु समिति का गठन

रायपुर सुकमा जिले के चिंतागुफा ईलाके में फोर्स के जवानों द्वारा एक 14 वर्षीय नाबालिग लड़की से दुष्कर्म किये जाने की घटना की शिकायत प्राप्त हुई है। इस मामले को गंभीरता से लेते हुये छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष भूपेश बघेल  ने सुकमा के विधायक कवासी लखमा के संयोजकत्व में 8 सदस्यीय जांच दल का गठन किया है। 
जांच दल समिति में सुकमा जिला अध्यक्ष करण देव, पीसीसी उपाध्यक्ष शांति सलाम, कार्य समिति के सदस्य दिपक कर्मा, महामंत्री मलकित सिंह गैदू, कोंटा के जनपद अध्यक्ष सोयम मंगमा, नगर पंचायत अध्यक्ष मौसम जया, युवा कांग्रेस के दुर्गेश राय है। 
जांच दल के सदस्य तत्काल घटना स्थल का दौरा कर पीडित परिजन एवं ग्रामवासियों से भेंटकर, घटना की वस्तुस्थिति से अवगत होवें एवं आवश्यक कार्यवाही करते हुये अपना रिपोर्ट एक सप्ताह के भीतर प्रदेश कांग्रेस कमेटी को प्रेषित करेगें। 

गर्मी झेलने के लिए रहिए तैयार आसमान से बरस रही है आग

अप्रैल शुरू होते ही गर्मी ने अपने रंग दिखाने शुरू कर दिए हैं. लोगों को मार्च में ही तपिश और गर्म हवाओं का एहसास हो गया था. जिस तेजी से तापमान ऊपर चढ़ रहा है उस हिसाब से अप्रैल में लू से बचने के लिए आपको पूरा इंतजाम कर लेने चाहिए.
 झुलसाती गर्मी ने  छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर सहित प्रदेश के मैदानी इलाकों में बीते कई दिनों से भीषण गर्मी का प्रकोप जारी है। पश्चिमी विक्षोभ भी मैदानी राज्यों का मौसम बदलने में नाकाम रहे हैं। इस समय पाकिस्तान के मध्य भागों और राजस्थान के रेगिस्तानी इलाकों से आने वाली शुष्क और गर्म हवाओं के तेज प्रवाह के चलते तापमान में लगातार वृद्धि की गई है। इन दिनों मौसम लगातार गर्म होते जा रहा है। चिलचिलाती धूप भी तापमान में बढ़ोत्तरी के मुख्य कारणों में से एक है।

लालपुर स्थित मौसम विज्ञान केंद्र के अनुसार प्रदेश के अलग-अलग जगहों पर गर्मी की लहर का प्रकोप होन से से लू का कहर जारी है। 24 घंटे के दौरान शुष्क मौसम प्रबल होने की संभावना सबसे गर्मी अधिक पड़ने वाली है। शनिवार को रायपुर व माना में 42 डिग्री तो बिलासपुर 43 डिग्री तापमान दर्ज किया गया है। रात में 26.4 डिग्री तापमान राजधानी का है। दिन व रात के तापमान में 3 डिग्री की वृद्धि दर्ज की गई है।

मौसम विभाग से मिली जानकारी के अनुसार वर्ष 2009 में 30 अप्रैल को गर्मी 45 डिग्री तक दर्ज की गई थी। दस सालों में ऐसा पहली बार है कि अप्रैल के पहले सप्ताह व मार्च के अंतिम सप्ताह में ही गर्मी कई सारे रिकार्ड तोड़ रहा है।  सहायक मौसम वैज्ञानिक गोपाल राव ने बताया, दक्षिण ओडिशा व पश्चिम बंगाल के ऊपरी हवा के आसपास बने चक्रवाती सिस्टम की वजह से प्रदेश में नमी की मात्रा आ रही है।  राजस्थान, पश्चिमी मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, उड़ीसा, झारखंड, दक्षिणी बिहार, पूर्वी उत्तर प्रदेश और महाराष्ट्र के विदर्भ क्षेत्र तथा गुजरात के कुछ भागों में भीषण लू का प्रकोप जारी रहेगा। छत्तीसगढ़ में भी लू ने लोगों को समय से पहले ही परेशान करना शुरू कर दिया है।

विधायकों की जनसम्पर्क राशि चार लाख से बढ़ाकर छह लाख करने की घोषणा

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने प्रदेश के दो लाख 60 हजार से अधिक सरकारी कर्मचारियों को आगामी वित्तीय वर्ष 2017-18 से सातवें वेतनमान का लाभ देने की घोषणा की है। डॉ. सिंह ने आज शाम यहां विधानसभा में नये वित्तीय वर्ष 2017-18 के लिए विनियोग विधयेक पर सदन में हुई चर्चा का जवाब देते यह घोषणा की। इसे मिलाकर उन्होंने आज सदन में पांच नई घोषणाएं की। उन्होंने कहा-विधायकों की मांग के आधार पर हमने उनकी जनसम्पर्क राशि को चार लाख से बढ़ाकर छह लाख करने का निर्णय लिया है, ताकि वे अपने दायित्वों का निर्वहन आसानी से कर सकें। 
मुख्यमंत्री ने यह भी ऐलान किया कि जंगलों की रक्षा के लिए कर्त्तव्य निर्वहन के दौरान अपने प्राणों की आहूति देने वाले वन विभाग के कर्मचारी श्री दौलतराम लदेर की स्मृति में राज्य शासन द्वारा कर्त्तव्य परायणता पुरस्कार शुरू किया जाएगा, जो प्रतिवर्ष वनों, वन्यप्राणियों और वनोपजों की सुरक्षा, उनके संरक्षण और संवर्धन के लिए सर्वश्रेष्ठ कार्य करने वाले एक वन कर्मचारी को दिया जाएगा। इस वर्ष पुरस्कार के रूप में श्री दौलत राम लदेर को मरणोपरांत एक लाख रूपए का नकद पुरस्कार और प्रशस्ति पत्र देने की घोषणा मुख्यमंत्री द्वारा की गई। उन्होंने कहा कि यह पुरस्कार उनकी धर्मपत्नी श्रीमती पुष्पा लदेर को दिया जाएगा। 
डॉ. रमन सिंह ने प्राथमिक वनोपज सहकारी समितियों के प्रबंधकों के पारिश्रमिक में 25 प्रतिशत वृद्धि करने की भी घोषणा की। उन्होंने कहा-अब इन प्रबंधकों को हर महीने 10 हजार रूपए के स्थान पर 12 हजार 500 रूपए का पारिश्रमिक मिलेगा। उनके भविष्य की सुरक्षा और आपातकालीन परिस्थितियों में उनके परिवार को सहायता देने के लिए प्रबंधक कल्याण निधि बनाई जाएगी, जिसमें लघु वनोपज संघ द्वारा प्रारंभिक रूप से एकमुश्त राशि जमा की जाएगी तथा प्रबंधकों द्वारा हर महीने 500-500 रूपए जमा किए जाएंगे। उन्हें बीमा योजना का भी लाभ मिलेगा। उनके अंशदान का सहयोग लेकर वर्तमान बीमा योजना में बीमा की राशि एक लाख रूपए से बढ़ाकर चार लाख रूपए कर दी जाएगी। प्रबंधक कल्याण निधि के उपयोग के लिए नियमावली तैयार की जाएगी। मुख्यमंत्री ने विनियोग विधेयक पर अपने जवाब में सरकार के सभी प्रमुख विभागों की विभिन्न योजनाओं और उपलब्धियों पर विस्तार से प्रकाश डाला। मुख्यमंत्री के जवाब के बाद सदन में विनियोग विधेयक 2017 ध्वनि मत से पारित कर दिया गया। इससे अब राज्य सरकार को नये वित्तीय वर्ष 2017-18 के लिए राज्य की संचित निधि में से 80 हजार 959 करोड़ 27 लाख 44 हजार रूपए खर्च करने की अनुमति मिल गई।