छत्तीसगढ़

शासन की नीति से खफा मिलर्स ,कलेक्टर को सौपा ज्ञापन

बेमेतरा  जिले के मिलर्स  ने राज्य शासन के मिलर्स नीति के विरोध में कलेक्टोरेट पहुँचकर शासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए  कलेक्टर को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन दिया।  मिलर्स ने मांगें  नही माने जाने पर 10 नवम्बर से अनिश्चितकालीन हड़ताल में जाने की चेतावनी दी है। 

छत्तीसगढ़: शव को बनाया बंधक

बिलासपुर | बिलासपुर  के किम्स अस्पताल में शव को बंधक बनाने का आरोप परिजनों ने लगाया है. मिली जानकारी के अनुसार जांजगीर के संतोष सूर्यवंशी का बिलासपुर के जरहाभाटा स्थित निजी अस्पताल किम्स में मंगलवार को मौत हो गई थी. मौत मंगलवार शाम को सात बजे हुई थी परन्तु बिल ने देने के कारण शव को मरच्यूरी में रखवा दिया गया. अगले दिन बुधवार दोपहर को परिजनों द्वारा बवाल करने पर शव दिया गया.

वहीं अस्पताल प्रबंधन का कहना है कि मरीज की मृत्यु के बाद शव को सुरक्षार्थ फ्रीजर में रखवाया गया था. पुलिस को सूचना दी गई थी. शव बंधक बनाए जाने की बात गलत है.

जांजगीर निवासी मोहन सूर्यवंशी का कहना है कि उसका भाई संतोष सूर्यवंशी 21 वर्ष रंग रोगन का कार्य करता था. रविवार को काम करते समय वह सीढ़ी से नीचे गिर गया. जिससे उसके सिर व हाथ में चोटें आईं. उसके दोनों हाथ टूट गए थे. उसे जांजगीर जिला अस्पताल ले जाया गया जहां से उसे सिम्स रिफर कर दिया गया. सिम्स के डाक्टर ने भी उसकी स्थिति को देखते हुए निजी हास्पिटल में इलाज कराने की सलाह दी.

रविवार अक्टूबर की शाम वह अपने भाई को इलाज के लिए किम्स लेकर गया. घायल संतोष सूर्यवंशी का परीक्षण कर प्रबंधन ने इलाज में 60 हजार रुपए खर्च आने की जानकारी दी. उन्होंने घायल भाई को स्वस्थ कर देने का आश्वान दिया. उसने किम्स में भाई को इलाज के लिए भर्ती कर दिया. उसे मंगलवार की शाम 7 बजे संतोष की मृत्यु होने की सूचना दी गई और शव मरच्यूरी में रख दिया गया.

उससे कहा गया कि इलाज में हुए खर्च के बिल का भुगतान कर दे. वह काउंटर में गया तो उसे 97 हजार रुपये का बिल थमा दिया गया. बिल का भुगतान करने पर शव देने की बात कही गई. उसने इतनी राशि का भुगतान कर पाने में असर्मथता जताई. इस पर प्रबंधन ने बिल की राशि भुगतान करने पर शव देने की बात कहते बंधक बना लिया.

बुधवार को मोहन भाई के शव के लिए प्रबंधन के सामने गिड़गिड़ाता रहा किन्तु प्रबंधन भुगतान पर अड़ा रहा. शव बंधक बनाने की खबर पर बड़ी संख्या में उसके रिश्तेदार व दोस्त हास्पिटल पहुंच गये. इन सभी ने अधिक बिल बनाने का आरोप लगाते हुये जमकर हंगामा मचाया. उसके बाद दोपहर में हास्पिटल की ओर से जीरो बिल पर शव परिजन को सौंपा गया.

पुलिस ने शव का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के बाद शाम 5 बजे परिजन को सौंपा. उसके बाद लोग शव लेकर जांजगीर रवाना हुये. हास्पिटल प्रबंधन के अड़ियल रवैये से मृतक का आज अंतिम संस्कार नहीं हो पाया.

(सीजी खबर से ) 

छत्तीसगढ़ राष्ट्रीय कृषि बाजार व्यवस्था से जुड़ा ,भाटापारा सहित पांच मंडी शामिल

 


रायपुर | : छत्तीसगढ़ राष्ट्रीय कृषि बाजार व्यवस्था से जुड़ गया है. छत्तीसगढ़ की पांच प्रमुख कृषि उपज मंडी नयापारा, भाटापारा, कवर्धा, राजनांदगांव और कुरूद इसमें शामिल हो गये हैं. इसी के साथ इन मंडियों में बुधवार से ही कृषि उपजों की ई-नीलामी शुरू हो गई. इसका शुभारंभ कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने बुधवार शाम नयापारा (राजिम) की कृषि उपज मंडी परिसर में आयोजित समारोह में किया.

बृजमोहन अग्रवाल ने नयापारा कृषि उपज मंडी में शेड निर्माण के लिए दो करोड़ रूपए, मंडी परिसर में रेजा और हमालों के लिए विश्राम गृह बनाने 15 लाख रूपए तथा नयापारा में हाट-बाजार विकसित करने 25 लाख रूपए की मंजूरी दी.

बृजमोहन अग्रवाल ने मंडी परिसर में निर्मित ई-नीलामी हाल का लोकार्पण भी किया. हाल में सर्व सुविधायुक्त लैब ग्रेडिंग कक्ष और ई-नीलामी कक्ष बनाए गए हैं. बृजमोहन अग्रवाल ने ऑनलाईन कर ई-नीलामी प्रक्रिया की शुरूआत की.

कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने इस अवसर पर अपने सम्बोधन में कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने वर्ष 2020 तक देश के किसानों की आय दोगुना करने के लक्ष्य रखा है. इस लक्ष्य को पाने की कार्ययोजना के तहत राष्ट्रीय कृषि बाजार व्यवस्था शुरू की गई है. राष्ट्रीय कृषि बाजार के प्रथम चरण में छत्तीसगढ़ के 14 कृषि उपज मंडियों को शामिल किया गया है. प्रथम चरण में आज प्रदेश की पांच मंडियों में ई-नीलामी शुरू हो गई है.

उन्होंने कहा कि ई-नीलामी से किसानों को उनकी उपज का सही दाम दिलाने में मदद मिलेगी. ई-नीलामी के तहत देश भर के व्यापारी अपनी पसंद के अनुसार कहीं से भी कृषि उत्पादों की खरीदी कर सकते हैं. इससे किसानों को अच्छा मूल्य मिलेगा. व्यापारी भी अपनी जरूरत के अनुरूप कृषि उत्पादों की खरीदी कर सकेंगे. ई-नीलामी से कृषि उत्पादों की विपणन व्यवस्था को विस्तार मिलेगा.

इस योजना के तहत छत्तीसगढ़ के सभी किसानों को आगामी फरवरी माह तक उनकी खेती की जमीनों के स्वास्थ्य कार्ड दिए जाएंगे. इससे किसानों को खेती की जमीन के प्रकार और गुणवत्ता के अनुरूप उचित फसल लेने में मदद मिलेगी. प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना हर खेत तक सिंचाई के लिए पानी पहुंचाने की महत्वाकांक्षी योजना है.

इस योजना के तहत ड्रिप और स्प्रिंकलर प्रणाली को बढ़ावा दिया जा रहा है. किसानों को हर प्रकार की प्राकृतिक आपदा में बीमा सुरक्षा मुहैया कराने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना शुरू की गई है. इस योजना के तहत फसल नुकसान होने पर अधिकतम 15 हजार रूपए तक की बीमा राशि मिलेगी.

छत्तीसगढ़ राज्य वित्त आयोग के अध्यक्ष चंद्रशेखर साहू ने अपने उद्बोधन में केन्द्र सरकार की कृषि नीति और योजनाओं को किसानों के लिए ऐतिहासिक कदम बताया. उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय कृषि बाजार व्यवस्था, वायदा कारोबार का एक विकल्प है. यह व्यवस्था किसानों, व्यापारियों, राईस मिलरों और मंडियों में काम करने वाले रेजा-हमालों के हित में हैं.

उन्होंने बताया कि प्रदेश सरकार ने छत्तीसगढ़ में किसानों के लिए मंडियों में स्थायी कोष रखने की व्यवस्था की है. अभनपुर विधायक धनेन्द्र साहू ने कहा कि राष्ट्रीय कृषि व्यवस्था के तहत नयापारा कृषि उपज मंडी में ई-नीलामी की प्रक्रिया शुरू होना, नयापारा क्षेत्र के किसानों के लिए बहुत बड़ी सौगात है. इससे किसानों को उनकी उपज का अब अच्छा मूल्य मिलेगा.

(सीजी खबर से ) 

छत्तीसगढ़: एसपी को हाईकोर्ट का नोटिस

बिलासपुर |  छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट ने जांजगीर-चांपा के पुलिस अधीक्षक को नोटिस जारी किया है. छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट ने 9 साल तक रेप के मामले में समंस की तामील न करा पाने के कारण जांजगीर-चांपा के पुलिस अधीक्षक को नोटिस जारी किया है.

अदालत ने नोटिस जारी करके पुलिस अधीक्षक से पूछा है कि समंस को तामील करने की ड्यूटी किसकी थी. उसके खिलाफ क्या कार्यवाही की गई है. इस पर तीन माह में शपथ-पत्र जमा करें.

उल्लेखनीय है कि पामगढ़ में 1 जनवरी 2007 को जमीन विवाद में दो पक्षों के बीच मारपीट हो गई थी. विरोद बढ़ता देख एक पक्ष भाग निकला परन्तु उनके साथ आई एक महिला भाग न पाई. जिसके साथ कथित तौर पर पप्पू, बहतरा, कालू, कलीराम, रामकुमार और राजेश साहू ने सामूहिक दुष्कर्म किया.

मामले की रिपोर्ट पामगढ़ थान में दर्ज कराई गई थी. सत्र न्यायालय ने 22 नवंबर 2007 को आरोपियों को दोषमुक्त कर दिया. सत्र न्यायालय के निर्णय के खिलाफ पीड़िता ने साल 2007 में ही छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट में अपील की.

हाईकोर्ट ने आरोपियों को नोटिस जारी करके जवाब मांगा परन्तु हर बार पुलिस आरोपियों के न मिलने की बात कहकर वारंट लौटा देती है.

9 वर्ष बाद भी वारंट की तामील न होने पर पीड़िता के वकील ने कहा कि आरोपियों के साथ पुलिस की सांठगांठ है. आरोपी गांव में ही हैं.

(सीजी खबर से )

सरायपाली . बी बी एन 24 न्यूज़ में खबर दिखाए जाने के बाद रेप के आरोपी ने किया आत्मसमर्पण

 खबर का असर सरायपाली 

एक शिक्षिका के साथ सहकर्मी शिक्षक चाकू की नोक पर डराधमका कर लगातार  बलात्कार करने की ख़बर प्रमुखता से दिखाए जाने के बाद आरोपी शमशाद खान ने किया आत्मसमर्पण 

2 माह पुर्व शिक्षिका की रिपोर्ट पर पुलिस ने आरोपी के खिलाफ भादवि 376 ए व 506 के तहत दर्ज किया गया  था  तब से था आरोपी फरार था 
   लेकिन  इस खबर  को  बी बी एन 24 न्यूज़ के द्वरा प्रमुखता से जगह दिया गया था जिस पर बसना पुलिस हरकत में आई और खोज बिन सुरु कर दी थी जिस पर आज आरोपी शिक्षक शमशाद खान ने एसडीओपी कार्यालय सरायपाली पंहुचकर अपने आप को  पुलिस के हवाले कर दिया 

नरहरपुर के किसान उठा रहे सीताफल परियोजना से पाॅच गुना लाभ

कांकेर। जिला प्रशासन एवं कृषि विभाग उ.ब. कांकेर के द्वारा ब्लाक नरहरपुर में किसानों को समुह गठन कराकर सीताफल कि तोड़ाई, मार्केटिंग, ग्रेडींग, मशीन के द्वारा सीताफल से गुदा निकालने के बारे में एवं सीताफल के छिल्का के द्वारा वर्मीकम्पोस्ट खाद तैयार करना तथा सीताफल के पत्तियों एवं बीज से जैविक कीटनाशक तैयार करने की विधि का प्रशिक्षण दिया गया है। इस परियोजना से कृषक समुह प्रशिक्षित होकर स्वयं जागरूक होकर सीताफल परियोजना सें जुड़कर कार्य कर रहें है, जिससे कृषक समुह एवं ग्राम के सभी किसानों को बहुत फायदा, लाभ एवं रोजगार कि प्राप्ति हुई है। किसान इस परियोजना से बहुत प्रशन्नित है, और इस कार्य को रूचि से कर रहे है।

Displaying 2.jpg

 

 

 

इस परियोजना के अंर्तगत ग्रामों में कृषक समुह तैयार कर अच्छे किस्म के सीताफलों को रायपुर, दुर्ग, भिलाई में कृषि विभाग कि सहायता सें किसान स्वयं विक्रय कर रहें है, और छोटे फल को ग्राम में हि जों जिला कलेक्टर श्रीमति शम्मी आबिदी एवं उप संचालक कृषि श्री चिरंजीव सरकार द्वारा मशीन दिया गया है उससे सीताफल का गुदा निकाला जा रहा है। इस परियोजना से सीधे लाभ किसानो कों मिल रहा है, बिचैलिये से छुटकारा मिला है और किसानों को पाॅंच गुना लाभ मिल रहा है। वर्ष 2015-16 की सफलताओं को दृष्टिगत रखते हुए वर्ष 2016-17 में इस परियोजना में किसान रूचि दिखाते हुए बढ़ चढ़ कर हिस्सा ले रहे है। नरहरपुर में जागृति महिला स्व सहायता समुह नावडबरी, माॅ भगवती ग्राम संगठन कोसुमपानी, श्रीराम सीताफल समिति किशनपुरी इन समुहों को तीन सीताफल गुदा निकालने का मशीन स्थापित किया गया है, जिसमें ब्लाक नरहरपुर के सभी जगहों से सीताफल यहा गुदा निकलवाने ला रहे है। सभी समुहो को विभाग द्वारा विक्रय हेतु वाहन, बाॅक्स, कैरेट, सैकेटियर, ग्रेडर, डीप फीजर, तकनिकी उपलब्ध कराया गया है। यह परियोजना नरहरपुर के चयनित ग्रामों में किया जा रहा है तथा इस परियोजना में ग्राम सरपंच, पंच, किसानो एवं समुहो द्वारा सहयोग दिया जा रहा है इस योजना का संचालन नरहरपुर ब्लाक में कृषि विभाग के वरिष्ट कृषि अधिकारी एस.आर. शोरी, ब्लॉक टेक्नालॉजी मैनेजर डॉ दीपक कुमार नाग, ए.टी.एम. सलमान खान कृषक प्रशिक्षण अधिकारी प्रशांत देहारी एवं भुनेश्वर सिन्हा द्वारा किया जा रहा है।

 

कांकेर क्षेत्र में एक महिला सहित दो नक्सलियों ने सरेंडर कर दिया।

कांकेर : आज कांकेर क्षेत्र में एक महिला सहित दो नक्सलियों ने सरेंडर कर दिया। सरेंडर करने वालों में जनमिलिशिया कमांडर सरिता उर्फ़ सोनती शामिल है। वो कई वारदातों में शामिल था। नक्सलियों ने पखांजुर कैंप में सरेंडर किया। 

रेक पाईंट के विरोध मे उतरे परिवहन संघ ,कलेक्टर के नाम सौंपा ज्ञापन


कांकेर। रेक पाईंट के विरोध करने आज हाहालद्दी, चाहचाड़ परिवहन संघ दुर्गूकोंदल परिवहन संघ भानुप्रतापपुर, परलकोट परिवहन संघ पंखाजूर ने कांकेर कलेक्टर के नाम अपर कलेक्टर ज्ञापन सौपा गया। ज्ञापन में बजरंग आयरन इस्पात लिमिटेड के द्वारा हाहालद्दी माईंस से लौह अयस्क का परिवहन रेक पाईंट कुसुमकसा (दल्ली) जिला बालोद में डंप कर रेल से परिवहन करना चाहती है, रेक पाईंट में लौह अयस्क डंप  कर रेल के माध्यम से परिवहन करने पर स्थानीय ट्रक मालिकों को आर्थिक क्षति होगी, ट्रक व्यवसाय से जुड़ने के लिए संघ बनाकर ट्रक खरीदी किया है, कि लौह अयस्क खदान खुलने से परिवहन का कार्य मिलेगा, आर्थिक स्थिति भी मजबूत होगी, लेकिन माईंस में खनन कार्य प्रारंभ होने के बाद प्रबंधन ने हाहालद्दी माईंस के लौह अयस्क को कुसुमकसा में डंप कर रेल के माध्यम से परिवहन करने के निर्णय के बाद से परिवहन संघ के समस्त ट्रक मालिकों व सदस्यों के समक्ष मुसीबत खड़ी हो गई है, पूर्व में जन सुनवाई के दौरान प्रबंधन के द्वारा स्थानीय लोगों को मजदूरी, परिवहन का कार्य देने की बात कही गई थी, रेल्वे के माध्यम से परिवहन करने का एजेंडा नहीं था, फिर भी रेक पाईंट व रेल्वे के माध्यम से परिवहन करने का निर्णय कर माईंस प्रबंधन के द्वारा स्थानीय ट्रक मालिकों की उपेक्षा की जा रही है, जिससे संघ के सभी ट्रक मालिक कर्ज लद जाने के लिए आहत हो गये हैं। हाहालद्दी क्षेत्र छ.ग. के अनुसूचित/अधिसूचित क्षेत्र के अंतर्गत आता है, जहां पर भारत के संविधान के अंतर्गत 5 वीं अनुसूची लागू है, जिसके प्रावधानों के अनुसार तथा अनुसूचित क्षेत्र में पंचायती राज व्यवस्था (पेसा) के अनुसार क्षेत्रीय निवासियों को बिना अनुमति के व्यापार या समागत नहीं किया जा सकता। उपरोक्त प्रावधान क्षेत्रीय निवासियों के संरक्षण हेतु बनाए गए हैं। बजरंग आयरन इस्पात लिमिटेड द्वारा रेल के माध्यम से परिवहन किए जाने पर क्षेत्रीय निवासियों द्वारा परिवहन संघ के अनुसूचित जाति/ जनजाति के सदस्यों को आर्थिक / मानसिक व षारीरिक रूप से क्षति कारित होने की संभावना है। स्थानीय परिवहन संघ के लोगों के हित को ध्यान में रखते हुए हाहालद्दी माईंस से लौह अयस्क का परिवहन रेक लाईंट में डंप कर रेल्वे के माध्यम से परिवहन न किया जाये, और ट्रको के माध्यम से परिवहन कर संघ दुर्गूकोंदल, भानुप्रतापपुर, पंखाजूर के ट्रक मालिकों को परिवहन कार्य दिया जाये, अन्यथा रेल्वे के माध्यम से लौह अयस्क परिवहन करने पर परिवहन संघ विरोध करने को बाध्य होगी। ज्ञापन सौपने क्षेत्र के जनप्रतिनिधि, व परिवहन संघ के पदाधिकारी मौजूद थे।

 

एक महिला सहित दो नक्सलियों ने किया सरेंडर

कांकेर ।
 एक महिला सहित दो नक्सलियों ने किया सरेंडरएजनमिलिशिय कमांडर और सरिता उर्फ़ सोनती ने इे िऔर पुलिस के समक्ष किया सरेंडरएकई वारदातो में था शामिलएपखांजूर इे िकैम्प में किया सरेंडर।

कोरबा : स्कुल जा रही बच्ची को ट्रक ने रौंदा, मौके पर ही हुई बच्ची की मौत, हरदीबाजार में हुआ हादसा

कोरबा : कोरबा में आज सुबह स्कुल जा रही बच्ची को एक ट्रक ने रौंद दिया जिससे  मौके पर ही हुई बच्ची की मौत हो गई। यह दर्दनाक हादसा हरदीबाजार क्षेत्र में हुआ। हादसे के बाद लोगों ने की ट्रक चालक की पिटाई की पिटाई कर दी। गुस्साए भीड़ ने कुछ देर के लिए सड़क जाम कर दिया था।  पुलिस मौके पर पहुंचकर मामलें की जाँच कर रही है। 

 

कसडोल लूट की गुत्थी सुलझी ,एक महिला सहित तीन लुटेरे गिरफ्तार , मोहतरा में हुई थी 8 अक्टूबर को लूट की वारदात

 

 by सुनील साहू 

कसडोल। विगत 8 अक्टूबर को समीपस्थ ग्राम मोहतरा मे हुए दिन दहाड़े लूट की वारदात की गुत्थी  कसडोल पुलिस ने मात्र 10 दिनों मे ही सुलझाने मे सफलता हासिल कर ली।लूट के माल सहित एक महिला एवं तीन लूटेरों को पुलिस ने गिरफ्तार कर न्यायालय मे पेश किया।
            विगत 8 अक्टूबर को कसडोल के समीपस्थ ग्राम मोहतरा मे प्रमोद कुमार साहू के घर मे प्रातः करीब 11 बजे तीन लोग टी वी बनाने वाले हैं कहकर घर मे घुस आए और प्रमोद साहू के हाथ को उसी के कमीज से पीछे बांध दिए और घर मे रखे सोने चाँदी के जेवरात सहित नगदी लूटकर ले गए।कसडोल क्षेत्र मे हुए दिन दहाड़े हुए लूट की अपनी तरह की पहली घटना से पुरे कसडोल क्षेत्र मे सनसनी फैल गई क्षेत्र वासी सहित पुलिस भी इस अप्रत्याशित घटना से सकते मे आ गई।पीड़ित प्रमोद कुमार साहू की रिपोर्ट पर कसडोल पुलिस ने अपराध क्र  383 /2016 धारा 394 कायम कर थाना प्रभारी प्रणाली वैद्य ने मामले की जानकारी तत्काल जिला पुलिस अधीक्षक आरिफ शेख़ तथा एस डी ओ पी एस एस शर्मा को दी।दिन दहाड़े घर मे घुसकर हुए लूट की घटना को गम्भीरता से लेते हुए थाना प्रभारी  एवं उसकी टीम ने पुलिस अधीक्षक एवं एस डी ओ पी के निर्देशन मे सबसे पहले कसडोल नगर एवं आसपास के थाना क्षेत्रों के सभी सीसीटीवी फुटेज को खंगालना शुरू कर दिया जिसमें पीड़ित द्वारा बताए गए लूटेरों के हुलिया मिला।इसी आधार पर पुलिस ने अपना तफ्सिश  जारी रखा और मात्र एक हफ्ते की कड़ी मेहनत मे आरोपियों  ज्वाला सिंह पिता युद्धवीर सिंह (23) वर्ष ,अंकित बिसेन पिता मुन्नालाल बिसेन (20)वर्ष ,दीपक ठाकरे पिता अनूप ठाकरे (19)वर्ष तथा दीक्षा त्रिवेदी पति रवींद्र त्रिवेदी को भा दं वि की धारा 394 ,120 बी ,एवं414 के तहत लूट के माल सोने चांदी के जेवरात नगदी 18 हजार एवं घटना मे प्रयुक्त मोटरसाइकिल क्र सी जी 07 -पी एल 1424 सहित गिरफ्तार कर 

सीसीटीवी कैमरा से मिला सुराग 

लूट की घटना की सूचना मिलते ही टी आई प्रणाली वैद्य ने उच्च अधिकारियों को सूचना देते ही सबसे पहले कसडोल नगर के मोहतरा मार्ग वाले गुरु घांसीदास चौक मे लगे सी सी टी वी फुटेज का बारीकी से निरीक्षण किया जिसमें एक लाल रंग के  हीरो स्टनर मोटरसाइकिल मे तीन लोग सवार जिनका हुलिया पीड़ित द्वारा बताए गए लुटेरों के हुलिए से मिल रहाथा।इसकी जानकारी उन्होंने पुलिस अधीक्षक एवं एस डी ओ पी को दी तथा उनके निर्देशन मे मोबाईल टॉवर डम्प करवाकर क्राइम ब्रांच के साथ मिलकर घटना की विवेचना मे जी जान से जुटे रहे।अंततः मात्र एक हफ्ते की कड़ी मेहनत मे पुलिस ने आरोपियों को कबीर नगर रायपुर से धर दबोचा।सभी आरोपी कबीर नगर रायपुर के रहने वाले हैं।

घटना में शामिल महिला का मायका मोहतरा है

घटना मे जो महिला शामिल है उसका मायका कसडोल है तथा आज से करीब 5 वर्ष पूर्व रायपुर के एक ब्राह्मण लड़के के साथ भागकर शादी कर ली थी।हालाकि उक्त ब्राह्मण लड़के से उसका अनबन हो जाने से वह कबीर नगर रायपुर मे रहने लगी।इसी बीच कबीर नगर रायपुर मे ही रह रहे फतेहपुर (उ प्र ) निवासी ज्वाला सिंह के सम्पर्क मे आ गई और दोनों के बीच अंतरंग सम्बन्ध भी स्थापित हो गया।उक्त महिला शासकीय नौकरी की तलाश मे थी जिसके लिए उसे रुपये की जरूरत थी।चूंकि उक्त महिला का बचपन मे पीड़ित के घर आना जाना लगा रहता टीथा और वह पूर्णतः आश्वस्त थी कि उनके घर से सोना चांदी और नग़द मिलेगा इसलिए उसने घटना की साजिश रची और अंजाम तक पहुंचाया।


विदेश मे रहकर भी पुलिस अधीक्षक लगातार मामले की जानकारी लेते रहे

बलौदाबाजार जिले के नव पदस्थ पुलिस अधीक्षक मो आरिफ शेख़ वर्तमान मे कम्युनिटी पुलिसिंग का अवार्ड लेने विदेश प्रवास पर हैं, परन्तु कसडोल नगर जैसे शांत क्षेत्र मे दिन दहाड़े घर घुस कर हुए इस लुट की घटना ने उन्हें बेचैन कर दिया था क्योंकि इस घटना के बाद कसडोल नगर सहित पुरे जिले मे पुलिस की विश्वसनीयता पर लोग उंगली उठाने लगे थे।विदेश मे रहकर भी वे घटना की लगातार जानकारी लेते रहे और कसडोल पुलिस एवं क्राइम ब्रांच को आवश्यक निर्देश देते रहे।आरोपियों के पकड़े जाने पर उन्होंने मामले को सुलझाने मे जुटे पुरे टीम को बधाई भी दी।

तीन वर्षीय बालिका हुई अनाथ 

लूट की इस वारदात मे एक महिला भी शामिल है जो आज से करीब 5 साल पहले रायपुर के एक ब्राह्मण जाति के लड़के के साथ भाग गई थी, जिससे उसकी एक तीन वर्ष की बालिका है।लूट के आरोप मे माँ के जेल चले जाने से मासूम बालिका को बाल कल्याण आश्रम रायपुर भेजा गया।

छत्तीसगढ़: मासूम से रेप के बाद तनाव

भिलाई : मासूम से रेप के बाद स्कूल में तनाव उत्पन्न हो गया. छत्तीसगढ़ के भिलाई में मासूम से रेप के बाद स्कूल परिसर में तनाव की स्थिति बन गई थी. जिसके बाद भारी संख्या में पुलिस ने वहां पहुंचकर छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस के युवा नेताओँ को शांत किया. जब एसडीएम ने भरोसा दिलाया कि आरोपी हिरासत में है तथा जांच के बाद कार्यवाही की जायेगी तब जाकर स्कूल का माहौल शांत हुआ.

मिली जानकारी के अनुसार भिलाई के स्मृति नगर स्थित माइल स्टोन स्कूल में मंगलवार को मासूम के साथ रेप हुआ था. स्कूल प्रबंधन मामले को दबाने का प्रयास कर रहा था. मामले की खबर लगते ही बड़ी संख्या में अभिवाहक वहां पहुंचे. उसके बाद छत्तीसगढ़ जनका कांग्रेस के युवा नेता उपेन्द्र मंडल अपने कार्यकर्ताओं के साथ वहां पहुंचे.

जब जोगी कांग्रेस के लोगों को लगा कि स्कूल की प्रिंसपल ममता शुक्ला मासूम से रेप की बात को दबाना चाह रही है तो उन्होंने कथित तौर पर स्कूल में तोड़-फोड़ शुरु कर दी. मामले को अनियंत्रित होता देख स्कूल प्रबंधन ने पुलिस को सूचना दी.

स्कूल में तोड़-फोड़ की खबर मिलते ही एसएसपी, एसडीएम, तहसीलदार के साथ सूपेला थाना, स्मृति नगर चौकी व वैशाली नगर चौकी से पुलिस बल वहां पहुंच गया. पुलिस तथा प्रशासन ने युवाओं से शांत रहने की अपील की. जब एसडीएम ने जोगी कांग्रेस के युवा नेता उपेन्द्र मंडल को भरोसा दिलाया तब जाकर युवाओँ में तोड़ी शांति बनी.

छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस के युवा टीम स्कूल में बैठी है और स्कूल की मान्यता रद्द करने की मांग कर रही है.
लगभग काफ़ी संख्या में बच्चों के अभिभावक भी वहां मौजूद है.

भारी पुलिस बल की तैनाती स्कूल में कर दी गई है किसी को अंदर-बाहर आने जाने नहीं दिया जा रहा है.

(सीजी खबर )

सरायपाली के ग्रामीण अंचल में संचालित एक स्कूल से इस सत्र में 50 छात्रों ने निकाल ली टीसी ,शिक्षक की व्यवस्था नही होने से छात्रों ने छोडा स्कूल

सरायपाली के ग्रामीण अंचल में संचालित एक स्कूल से इस सत्र में 50 छात्रों ने निकाल ली टीसी ,शिक्षक की व्यवस्था नही होने से छात्रों ने छोडा स्कूल ,बंद हो गयी दसवीं कक्षा की पढ़ाई ,सरायपाली के ग्राम सिरबोडा के शासकीय हाईस्कूल का मामला

 

by संदीप अग्रवाल

सरायपाली : छत्तीसगढ़ सरकार जहाँ एक ओर पूरे प्रदेश  में शिक्षा गुणवत्ता अभियान चलाकर संचालित सभी शासकीय शालाओं  में बेहतर शिक्षा देने का दावा कर रही है तो वहीं जमीनी हकीकत कुछ और ही बयां कर रही है। ताजा मामला सरायपाली ब्लाॅक के दूरस्थ  वनांचल क्षेत्र में स्थित ग्राम सिरबोड़ा के हाईस्कूल का है जहां शासन द्वारा हाईस्कूल की नई बिल्डिंग  तैयार कर उसे चालू तो कर दिया गया लेकिन उस हाईस्कूल भवन में पढने वाले छात्रों के लिए आज तक विषय शिक्षकों की नियुक्ति नही की गई इसका परिणाम यह रहा कि बीतें सत्र में इस स्कूल में 62 छात्र-छात्राएं अध्ययनरत थे और पर्याप्त शिक्षक नहीं  होने से हो रहे नुकसान को देखते हुए पालकों ने लगभग 50 बच्चों की टी सी निकलवाकर अपने बच्चों को अन्य स्कूलों में दाखिला करवा दिया जिसके चलते वर्तमान में कक्षा 10 वीं का कमरा पूर्णतः खाली हो गया और वहां अब सिर्फ ताला लटका हुआ नज़र आ रहा है।  यदि इस सत्र में ही जिम्मेदार अधिकारी शिक्षकों की कमी को दूर नही कर पाते है तो हो सकता है आने वाले सत्र में पूरे स्कूल भवन में ताला लगता नज़र आए। हालांकि अब अधिकारी जल्दी ही शिक्षक की व्यवस्था करने की बात कह रहे है।

क्या है पूरा मामला

वर्ष 2011 से संचालित शासकीय हाईस्कूल सिरबोड़ा में शिक्षकों की पदस्थापना नही होने से यहां पढने वाले छात्र टीसी निकालकर दूसरे स्कूलों में चले गए। स्कूल में शासकीय रिकार्ड के अनुसार एक प्राचार्य सहित सात शिक्षकों की पदस्थापना की गई है लेकिन उसमें संस्कृत के दो और हिन्दी का एक शिक्षक ही पदस्थ है। जिसमें एक को प्रभारी प्राचार्य बनाया गया है। स्कूल को अन्य विषयों के एक भी शिक्षक नही है। जिससे यहां करीब 50 बच्चे इस सत्र टीसी निकालकर दूसरे स्कूलों में चले गए। वर्तमान में स्कूल में सिर्फ 9वीं कक्षा के ही 15 ऐसे बच्चे शेष रह गए है जिनके बाद दूसरे स्कूलों में पढ़ने जाने कोई सुविधा नही है। शिक्षक नही होने से पिछले साल स्कूल में पढ़ने वाले 9 वीं के 27 और 10वीं के 35 बच्चे अनुत्तीर्ण हो गए। स्कूल के प्रभारी प्राचार्य गुप्तेश्वर सेठ का कहना है कि शिक्षक की कमी की रिपोर्ट हर महीने उच्च अधिकारियों तक भेजी जाती है लेकिन आज  तक शिक्षक की व्यवस्था नही हुई है।  वहीं विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी देवनारायण दीवान ने जानकारी मंगवाकर शिक्षक की व्यवस्था करने की बात कही है। अब देखना यह है कि आगामी सत्र में शिक्षकों की व्यवस्था होती है या फिर स्कूल में पूर्ण तालाबंदी की नौबत आती है।

 

बसना में एक और दुष्कर्म का मामला , आरोपी दो माह से फरार , पीड़िता ख़ुदकुशी का भी कर चुकी प्रयास , पुलिस की गंभीर लापरवाही , महिला आयोग से की फरियाद

बसना में एक और दुष्कर्म का मामला
आरोपी दो माह से फरार
पीड़िता ख़ुदकुशी का भी कर चुकी प्रयास
पुलिस की गंभीर लापरवाही
महिला आयोग से की फरियाद


by संदीप अग्रवाल

रायपुर /सरायपाली : पिछले दिनों बसना में हुए वीभत्स गैंगरेप के बाद फिर से उसी क्षेत्र में एक और दुष्कर्म का मामला सामने आया है। लगातार दुष्कर्म की शिकार पीड़िता द्वारा दो माह पूर्व ही आरोपी के खिलाफ थाना भंवरपुर चौकी में नामजद रिपोर्ट दर्ज कराने के बाद भी आज तक आरोपी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है। पुलिस जहां उसे फरार बता रही है वहीँ आरोपी दुस्साहस दिखाते हुए पीड़िता के पति को लगातार धमकियाँ देते हुए रिपोर्ट वापस लेने के लिए दबाव बना रहा है। पीड़िता आशा (बदला हुआ नाम ) जहाँ पेशे से शिक्षिका है वहीँ आरोपी शमशाद खान भी सहकर्मी शिक्षक है। पीड़िता ने आरोप लगाया है कि आरोपी ने उनके साथ चाकू की नोक पर दुष्कर्म किया और इसका वीडियों भी बनाया और इसी आधार पर वो लगातार ब्लैकमेल कर उनका दैहिक शोषण करता रहा । पीड़िता न्याय मिलने में हो रही देरी और आरोपी के द्वारा गुंडे भेजकर उसे और उसके पति को प्रताडित किए जाने से परेशान होकर एक बार ख़ुदकुशी  का प्रयास भी कर चुकी है. इसी माह की पांच तारीख को पीड़िता ने सरायपाली एसडीओपी कार्यालय के बाहर आत्मदाह का प्रयास किया था। इस पुरे मामलें में पुलिस की गंभीर लापरवाही और अमानवीयता सामने आ रही है। पुलिस द्वारा पीड़िता को सुरक्षा मुहैया कराते हुए एक महिला आरक्षक  की डयूटी सुरक्षा के लिए लगाई थी लेकिन आरक्षक पिछले आठ दिनो से अपने कर्तव्यों का निर्वहन नही कर रही है। पीड़िता ने न्याय के लिए पुलिस थाने से लेकर एसपी, कलेक्टर और राज्य महिला आयोग तक  गुहार लगाई हैं।


पीड़िता ने संवाददाता को अपनी पूरी आपबीती बताई। पीड़िता ने बताया कि आरोपी शमशाद खान अपने घर -परिवार के सदस्यों से मिलाने के नाम पर उनके साथ लगातार दुष्कर्म किया। उन्होंने बताया कि लगातार आरोपी द्वारा हवस का शिकार बनाये जाने और आरोपी द्वारा ब्लैकमेल से तंग आकर उन्होंने दो माह पूर्व ही भंवरपुर चौकी थाना में रिपोर्ट दर्ज कराने पहुंची थी। जहाँ चौकी प्रभारी ने अपने क्षेत्र का मामला न होना बताकर रिपोर्ट लिखने से इंकार कर दिया। इसके बाद पीड़िता ने अपने पति के साथ महासमुंद एसपी कार्यालय पहुंचकर एडिशनल एसपी राकेश भट्ट को अपनी आपबीती बताई। एडिशनल एसपी ने तुरंत संज्ञान लेते हुए रिपोर्ट दर्ज करने का निर्देश दिया तब कहीं जाकर 14 अगस्त मामला दर्ज हुआ। इसके बावजूद आरोपी पुलिस के रिकॉर्ड में अब तक फरार है। पीड़िता ने बताया कि 17 अक्टूबर को आरोपी ने दो नकाबपोश गुंडे भेज उन्हें मामला वापस लेने के लिए धमकी दी ,उन्होंने इसकी शिकायत भी थाने में दर्ज कराई है।

महिला आयोग ने दिया निर्देश

इधर पीड़िता की शिकायत पर तुरंत संज्ञान लेते हुए छत्तीसगढ़ राज्य महिला आयोग ने एसपी महासमुंद से जवाब तलब की है। आयोग की अध्यक्ष हर्षिता पांडेय ने संवाददाता को बताया कि वे पीड़िता मानसिक और सामाजिक प्रताड़ना को समझती है। उन्होंने कहा कि हर महिला को अपने सुरक्षा का अधिकार है।

छत्तीसगढ़ राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष हर्षिता पांडेय

 


पुलिस ने कहा ,आरोपी की तलाश में भेजे है टीम

पीड़िता के द्वारा ऊपर तक शिकायत और किरकिरी के बाद पुलिस भी अब अपना दामन बचाने में लगी है। संवाददाता के साथ बातचीत में थाना प्रभारी नरेन्द्र यादव ने कहा कि प्रार्थिया की रिपोर्ट पर अपराध दर्ज किया गया है और आरोपी की खोजबीन की जा रही है। उन्होंने बताया कि पुलिस की टीम आरोपी की तलाश में सारंगढ़ ,अंबिकापुर और रायपुर भेजी गई है। साथ ही लगातार छापामारी की जा रही है।

थाना प्रभारी नरेन्द्र यादव

 

नम्रता गाँधी बनी कांकेर की नई जिला पंचायत सीईओं

 


कांकेर।कांकेर जिला पंचायत के तत्कालीन सीईओ शिव अनन्त तायल द्वारा पिछले दिनों अपने फेसबुक आई डी  में पं. दीनदयाल उपाध्याय  के उपलब्धियों  पर पोस्ट किये जाने के बाद विवाद और शिकायतों के बाद राज्य शासन ने उन्हें वहां से हटाकर मंत्रालय अटैच किया था । कांकेर में शिव अनंत तायल  के जाने  के बाद से उक्त पद खाली था । राज्य शासन ने आज जारी आदेश में सुश्री नम्रता गांधी अनुविभागीय अधिकारी पेण्ड्रा रोड़ जिला रायपुर को मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत कांकेर के पद पर पदस्थ किया है।