छत्तीसगढ़

कैसे करें ई-ऑक्शन ? हमेशा डाउन रहता है सर्वर

      
राष्ट्रीय कृषि बाजार योजना का हाल,बेहाल
भाटापारा।  बडे़ ताम-झाम के साथ चालू हुई  राष्ट्रीय कृषि बाजार योजना चार कदम भी नही चल पाई और उसकी सांसें फूलने लगी हैं। पहले तो केवल चना का ही ई-ऑक्शन  की शर्त  ने हताश  किया अब इसके हमेशा  सर्वर डाउन होते रहने की शिकायत  से क्रेता और विक्रेता हलाकान हो रहे है। इधर मंडी में खरीफ फसल की आवक शुरू हो गई है और रबी की तैयारियों के बीच चना सहित दलहन की दूसरी किस्मों की आवक बढ रही है लेकिन चना में मांग का दबाव बना हुआ है ऐसे में इस जिंस का ई-ऑक्शन  मंडी प्रबंधन के लिए सिरदर्द बनने लगा है।
कोई एक सप्ताह पहले भाटापारा कृषि उपज मंडी को राष्ट्रीय  कृषि बाजार योजना से जोड़ते हुए ई-ऑक्शन  जैसी सुविधा मिली। योजना के तहत् देष के किसी भी कोने में बैठा कारोबारी इस मंडी में नीलामी बोल कर सीधी खरीदी कर सकता है। योजना लागू हुई। दलहन उत्पादक किसान 
खुश  हुए। उनकी कृषि उपज के अच्छे दाम मिलेंगे। कडी शर्तों  के बीच चालू की गई योजना में केवल चना को ही शामिल किए जाने से किसानोें की उम्मीदों पर एक झटके में पानी फिर गया। अब रही-सही कसर व्यवस्था में खामियां पूरी कर रही है। पिछले कुछ दिनों से इस व्यवस्था में सर्वर डाउन होने की शिकायत  आ रही है। ऐसे में कैसे करें ई-ऑक्शन ? यह सवाल मंडी प्रबंधन लगातार मुख्यालय से कर रहा है लेकिन जवाब अब तक नही मिल पाया है। फलस्वरुप यह काम फिलहाल ठंडा पडा हुआ है।

रबी की तैयारी और दलहन की आवक 
खरीफ फसल की आवक चालू हो गई है साथ-साथ रबी की तैयारी भी चल रही है। दलहन  मिलों  और बोनी की मांग का दबाव चना,मूंग,उड़द,तिवरा, बटरी और मसूर में लगातार बढ रहा है। ऐसे में प्रतिस्पर्धा के बीच ई-ऑक्शन  चना की तो अच्छी कीमत दिला पाता लेकिन आधी-अधूरी तैयारियों के बीच शुरू  हुई योजना से मंडी प्रबंधन और चना के विके्रता और के्रता फिलहाल तो कोई लाभ नही उठा पा रहें हैं।

महामाया नया की आवक चालू 
खरीफ फसल में नया महामाया धान की आवक होने लगी है।अनुमान के मुताबिक इस वक्त मंडी प्रागंण में  रोज दस हजार बोरा महामाया धान की आवक हो रही है। यह 1200 से 1350 रुपए, महामाया पुराना 1775 रुपए,सरना 1230 से 1330 रुपए,सियाराम 2200 से 2450 रुपए,विष्णु भोग 2500 से 3100 रुपए और एच.एम टी 2050 से 2100 रुपए क्विंटल की दर पर नीलाम हो रहा है।

ई-ऑक्शन  का काम मे  सर्वर डाउन की समस्या आ रही है। इसकी जानकारी मुख्यालय को भेजी जा कर व्यवस्था शीघ्र  सुधारने का आग्रह  किया गया है।
-आर.एस.तिवारी,सचिव कृषि उपज मंडी भाटापारा

बस्तर में 4 हजार मरीजों का इलाज हुआ

दंतेवाड़ा | लाइफ लाइन एक्सप्रेस के माध्यम से बस्तर के करीब 3600 मरीजो का इलाज किया गया. पांच अक्टूबर को दंतेवाड़ा पहुंची इस आधुनिक चिकित्सा से लैस विशेष रेल गाड़ी के माध्यम से 25 अक्टूबर तक दंतेवाड़ा, बीजापुर और सुकमा के मरीजों का मुफ्त इलाज किया गया.

बीस दिनों तक दंतेवाड़ा में रही लाइफ लाइन एक्सप्रेस में मोतियाबिंद के 985 सर्जरी, कटे-फटे होंठ वाले 10 बच्चों की सर्जरी की गई तथा 64 बच्चों को कृत्रिम अंग प्रदान किये गये.

इसके अलावा 172 मरीजों को श्रवण यंत्र प्रदान किये गये और 23 की सर्जरी की गई. दांत संबंधी 498 मरीजों का इलाज किया गया. इसके अलावा बाकी के मरीजों का इलाज ओपीडी में किया गया.

लाइफ लाइन एक्सप्रेस
लाइफ लाइन एक्सप्रेस 1991 से लगातार चल रही है. यह ट्रेन दूर-दूर रह रहे गाँवो तक जरुरी दवाइयों को पहुचाती है. जिन लोगों को चिकित्सा सेवा नहीं मिल पाती, उनके लिए ये बहुत अच्छी सेवा है. इस सेवा को शुरुआत में गैर सरकारी संस्था ने शुरू किया था. अब यह ट्रेन भारतीय रेल और स्वस्थ्या मंत्रालय द्वारा संचालित है.

लाइफ लाइन एक्सप्रेस लगभग पूरे देश में घूमती है. हर स्टेशन में यह लगभग 21 दिन तक रूकती है. जिससे वहां के सभी जरुरत मंद लोगों को इस सेवा का फ़ायदा मिल सके. अभी लाइफलाइन एक्सप्रेस ने 25 साल पूरे किये. इसने अभी तक लगभग 1,00,000 लोगों का इलाज करके उन्हें ठीक किया है. इस सेवा में अंधेपन, सुनने की परेशानी, मस्तिष्क संबंधी, और ह्रदय संबंधी बीमारियां ठीक की है.

इस ट्रेन की सबसे अच्छी बात यह है कि इलाज बिलकुल मुफ्त है. यहाँ दवाइयों के लिये कोई पैसा खर्च नहीं करना. इस सेवा में सरकार के आलावा कोई भी हिस्सेदार बन सकता है. अगर आप जन सेवा करना चाहते है. तो आप इस ट्रेन में निकल पड़िये और करिये ऐसे लोगों की जिन्हें आपकी ज्यादा जरुरत है.(सीजी खबर से ) 

वेतन-पेंशन छोड़ बाकी भुगतान पर रोक

रायपुर : छत्तीसगढ़ सरकार ने दीवाली तक भुगतान पर रोक लगा दिया है. छत्तीसगढ़ सरकार ने सरकारी कर्मचारियों के वेतन-भत्ते तथा पेंशन को छोड़कर अन्य भुगतानों पर दीवाली तक रोक लगा दी है. भुगतान पर इस रोक का असर राज्य के कर्मचारियों तथा अवकाश प्राप्त कर्मचारियों पर नहीं पड़ेगा.

छत्तीसगढ़ के वित्त-विभाग द्वारा जारी आदेश के अनुसार राज्य सरकार ने वेतन-भत्ता-पेंशन को छोड़कर अन्य भुगतान पर 1 नवंबर तक रोक लगा दी है.

उल्लेखनीय है कि राज्य सरकार ने पहले ही सरकारी कर्मचारियों को दीवाली से पहले वेतन देने का एलान कर दिया था. जिसके मुताबिक राज्य सरकार के कर्मचारियों को वेतन का 26-27 अक्टूबर तक भुगतान कर दिया जायेगा.

जोगी ने कहा राज्य में सरकार नाम की चीज नहीं,आदिवासियों को कीड़े मकोड़ों की तरह मार रहे

सरायपाली : छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी ने कहा है कि प्रदेश में सरकार नाम की कोई चीज नही है। जोगी ने कहा 2018 मे छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस की सरकार बनेगी। जनता चाहती है कि हमारे फैसले छत्तीसगढ़ में हो दिल्ली से नही उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ में सरकार नाम की चीज ही नहीं है जो चाहे वो करता है बस्तर मे आदिवासियों को कीड़े -मकोड़े की तरह मार रहे हैं। जोगी ने सरायपाली में एक जनसभा को  संबोधित किया। सभा के दौरान  करीब 300 लोगो ने उनकी पार्टी में प्रवेश किया।  वहीँ विधान मिश्रा ने  भुपेश बघेल को आड़े हाथों  लेते कहा कि उन्हें   शालीनता से पेश आना चाहिए। किसी की औकात के बारे में बोलने से पहले भुपेश बघेल खुद की औकात को देख ले  . भुपेश बघेल ब्लैकमेलिंग  की राजनीति  कर रहे हैं। उन्होंने महेन्द्र बहाहुर सिंह के तन से और मन से जोगी कांग्रेस मे होने की बात कही है।  

छत्तीसगढ़: 1 नवंबर को जेल भरो आंदोलन

रायपुर |  छत्तसीगढ़ में कांग्रेस 1 नवंबर के दिन राज्यभर में जेल भरो आंदोलन करेगी. मंगलवार को रायपुर में हुई कांग्रेस की बैठक में तय किया गया है कि इस दिन राज्यभर में 1 लाख कार्यकर्ता रमन सरकार से वादा निभाओं की मांग पर जेल भरो आंदोलन में शिरकत करेंगे. गौरतलब है कि 1 नवंबर से छत्तीसगढ़ का राज्योत्सव शुरु हो रहा है. इस दिन सरकारी तौर पर कई कार्यक्रम आयोजित किये जा रहें हैं.

कांग्रेस का जेल भरो आंदोलन जिला एवं ब्लॉक स्तरों पर होगा. इसे सफल बनाने के लिये जिलाध्यक्षकों को जिम्मेदारी सौंपी गई है.

उल्लेखनीय है कि भाजपा ने अपने चुनावी घोषणा पत्र में किसानों से वादा किया था कि उन्हें धान पर प्रति क्विंटल 300 रुपये बोनस तथा 2100 रुपये का समर्थन मूल्य दिया जायेगा. जिसे आज तक पूरा नहीं किया गया है. कांग्रेस इसी के आधार पर रमन सरकार से वादा निभाओं की मांग कर रही है.

इसके अलावा किसानों से हस्ताक्षर लेकर कोर्ट में एक याचिका भी दायर की जायेगी.

मंगलवार की बैठक में विधायक डॉ. रेणु जोगी शामिल हुई लेकिन सियाराम कौशिक ने बैठक में भाग नहीं लिया.

बैठक में मुख्यमंत्री तथा बस्तर के आईजीपी कल्लूरी के खिलाफ निंदा प्रस्ताव लाया गया. निंदा प्रस्ताव में कहा गया है कि विधायक देवती कर्मा के खिलाफ अपहरण का जो झूठा मामला दर्ज किया गया है, उसके विरोध में निंदा की जाती है.

बैठक में छत्तीसगढ़ कांग्रेस के अध्यक्ष भूपेश बघेल, नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव, पूर्व नेता प्रतिपक्ष रविन्द्र चौबे, मोहम्मद अकबर तथा पदाधिकारियों ने भाग लिया. (सीजी खबर से ) 

सांसद रमेश बैस ने ली बैठक

 

बलौदा बाजार-भाटापारा: जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति दिशा की बैठक रायपुर लोकसभा क्षेत्र के सांसद श्री रमेश बैस की अध्यक्षता में कलेक्टोरेट सभाकक्ष में आयोजित की गई। बैठक में राज्य सभा सांसद श्री भूषण लाल जांगड़े, छत्तीसगढ़ खनिज विकास निगम अध्यक्ष एवं विधायक भाटापारा श्री शिवरतन शर्मा, उपाध्यक्ष अनुसूचित जाति विकास प्राधिकरण एवं विधायक बिलाईगढ़ डाॅ.सनम जांगड़े, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती पूनम मारकण्डे, नगरीय निकाय अध्यक्ष एवं समिति के सदस्यों की उपस्थिति में केन्द्र शासन द्वारा संचालित योजनाओं के क्रियान्वयन की समीक्षा की गई। सांसद रायपुर श्री रमेश बैस ने जनप्रतिनिधियों द्वारा शासकीय योजनाओं के क्रियान्वयन के संबंध में दी गई जानकारियों को विभागीय अधिकारियों को गंभीरता से लेने के लिए कहा गया। उन्होंने कहा कि जनप्रतिनिधियों के सहयोग से ही प्रदेश एवं जिला के विकास कार्यों में गति आएगी। उन्होंने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना एवं केन्द्रीय योजनाओं से संबंधित होर्डिग्स ग्राम पंचायत स्तर पर प्रदर्शित कर ग्रामीणों को जागरूक करने के निर्देश दिए। उपस्थित जनप्रतिनिधियों ने क्षेत्र के विकास कार्यो की जानकारी ली। 
    रायपुर सांसद श्री रमेश बैस ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की मंशा है कि केन्द्र की जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ अंतिम व्यक्ति तक पहुंचे। बैठक में केन्द्र एवं राज्य की जनकल्याणकारी योजनाओं के क्रिन्यावनय के संबंध में विस्तार से चर्चा की गई। सांसद श्री रमेश बैस ने शिक्षित युवकों को आटोमोबाइल कोर्स कराने के लिए निर्देशित किया ताकि प्रशिक्षण के उपरांत युवक स्वरोजगार कर सकेंगे। उन्होंने कृषकों को जानकारी एवं दस्तावेज तहसीलदार के डिजिटल हस्ताक्षर के माध्यम से देने के निर्देश दिये। कलेक्टर डाॅ.बसवराजु एस. ने जिले में मनरेगा के आधारभूत जानकारी, जल संरक्षण व संवर्धन कार्यो के तहत डबरी निर्माण की प्रगति, स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण), प्रधानमंत्री आवास योजना, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, प्रधानमंत्री मुद्रा योजना, दीनदयाल अंत्योदय योजना, कौशल विकास योजना एवं अन्य योजनाओं के संबंध में विस्तृत रूप से जानकारी दी। उन्होंने कहा कि जिले में संचालित योजनाओं का समन्वय कर जनता के हित के कार्यों को प्राथमिकता से पूर्ण किया जा रहा है। मुख्यमंत्री कौशल विकास योजना के तहत वित्तीय वर्ष 2016-17 में 3100 को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। जिले में 867 लोगों को रोजगार दिया जा चुका है। इसी तरह भू-अभिलेखों का कम्प्यूटरीकरण के माध्यम से कृषकों को बी-1, खसरा का शत-प्रतिशत एवं नक्शा का 83 प्रतिशत अपडेशन किया गया है। जिले में 9826 हैण्डपंप कार्यरत है। लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग द्वारा पेयजल की शुद्धीकरण का कार्य किया जा रहा है। समाज कल्याण विभाग संचालित योजनाओं के तहत 82811 हितग्राहियों को लाभान्वित किया जा चुका है। शिक्षा गुणवत्ता अभियान के तहत स्मार्ट क्लास के तहत प्रतिबिम्ब योजना के अंतर्गत कोचिंग प्रारंभ किया गया है। समीक्षा बैठक में विभागीय अधिकारियों ने विभागीय कार्यो की प्रगति के संबंध में विस्तृत रूप से जानकारी दी। जिला पंचायत मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्रीमती शारदा वर्मा ने पूर्व की ‘‘दिशा’’ बैठक के पालन प्रतिवेदन के संबंध में विस्तृत रूप से जानकारी दी। बैठक में पुलिस अधीक्षक श्री आरिफ एच शेख, वनमंडलाधिकारी श्री जेे.आर.नायक, अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री अनुज पटेल एवं संबंधित प्रभारी अधिकारी उपस्थित थे।   

भाटापारा में कटार लहराता युवक गिरफ्तार

 

भाटापारा : भाटापारा के ग्रामीण क्षेत्र टिकुलिया में एक युवक को कटार लहराते गिरफ्तार किया गया है। युवक कटार लहराते ग्रामीणों को डरा धमका रहा था। ग्रामीणों की शिकायत पर आरोपी युवक लालू उर्फ़ लाला पिता कृपाराम साहू को पुलिस ने गिरफ्त में लिया है। युवक पर आर्म्स एक्ट के तहत धारा 225 ,27 के तहत जुर्म दर्ज कर न्यायालय में पेश कर जेल भेज दिया गया है। 

रायपुर में कानून व्यवस्था फेल- अमित जोगी

रायपुर : मरवाही के विधायक अमित जोगी ने कहा है कि रायपुर में पुलिसिंग पूरी तरह से फेल हो गई है. अमित जोगी ने कहा कि रायपुर पुलिस अधीक्षक रेंज में बीते 7 माह में 6 बार गोली चली है. इसके अलावा 5 माह में 3 दुष्कर्म के मामले सामने आये हैं.

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार कानून व्यवस्था के मोर्चे पर पूरी तरह से फेल हो गई है. अमित जोगी ने आरोप लगाया कि नया रायपुर नाकाम पुलिसिंग की पहचान बन गई है.

वहीं, छत्तीसगढ़ कांग्रेस के प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला कहा कि राजधानी में हर हफ्ते गोलीबारी की घटना हो रही है. पुलिस कुछ नहीं कर पा रही है.

उन्होंने कहा कि कानून व्यवस्था इतनी लचर हो गई है कि जिस नया रायपुर में प्रधानमंत्री का कार्यक्रम होना है वहां सात दिन पहले युवक की गोली मारकर हत्या कर दी जाती है तथा युवती के साथ रेप कर दिया जाता है. उन्होंने सवाल किया है कि कब जागेगी सरकार. ( सीजी खबर ) 

ABVP नेता के हत्यारे गिरफ्तार

अंबिकापुर | छत्तीसगढ़ के सरगुजा के रामचंद्रपुर के abvp नेता के हत्यारे गिरफ्तार कर लिये गये है. पुलिस ने तत्परता दिखाते हुये रामचंद्रपुर के एबीवीपी नेता विनय ठाकुर के हत्यारों को गिरफ्तार कर लिया है. गौरतलब है कि विनय ठाकुर की लाश नग्न हालत में झुमका पहाड़ी के पास शुक्रवार को मिली थी.

पुलिस ने विनय के हत्या के आरोप में उसकी प्रेमिका सरवरी बानो, जय सिंह तथा देवनारायण को गिरप्तार किया है.

विनय ठाकुर की हत्या गमछे से गला घोंटकर की गई थी. हत्या की योजना में विनय की प्रेमिका तथा उसके दूसरे प्रेमी शामिल थे. प्रेमिका ने ही विनय को फोन करके रात को बुलाया था. हत्या करके विनय की लाश को पहाड़ी के झाड़ियों में फेंक दिया गया था.

उल्लेखनीय है कि विनय ठाकुर की हत्या के विरोध में आसपास के कॉलेजों में बंद हुआ था तथा छात्रों ने सड़के भी जाम की थी. एबीवीपी की इस कार्यवाही का एनएसयूआई ने भी समर्थन किया था.

शुक्रवार को विनय ठाकुर की लाश मिलने के बाद से रामचंद्रपुर गांव में तनाव का माहौल था. विनय उसी गांव का रहने वाला था. तनाव के हालात देखकर पुलिस ने थाने में पुलिस बल तैनात कर दिया था.

मिली जानकारी के अनुसार 24 वर्षीय विनय ठाकुर बुधवार की रात 8:30 बजे अपने दो दोस्तों दिनेश प्रजापति तथा जितेन्द्र के साथ बाइक पर बैठकर तीन किलोमीटर दूर स्थित अनिरुद्धपुर अपने प्रेमिका से मिलने गया हुआ था. प्रेमिका के घर से थोड़ी दूर पर वह बाइक से यह कहते हुये उतर गया कि मैं पांच मिनट में फोन करता हूं तब आना.

काफी देर तक विनय के न लौटने पर उसके दोनों दोस्त परेशान होकर लौट गये. परिजनों ने गुरुवार को विनय ठाकुर के लापता हो जाने की खबर रामचंद्रपुर थाने में दी थी. (सीजी खबर से ) 

आज शाम केशकाल घाटी बंद रहेगा

 


केशकाल : केशकाल घाटी मे आज शाम 4बजे से शाम 6 बजे तक आवागमन पुर्णत:बंद रहेगा।इस दरम्यान चारपहिया वाहन बाईक से लेकर साईकिल तथा पैदल भी आने जाने पर रोक लगा दिया जावेगा। क्योंकि इस दरम्यान घाटी के खतरनाक मोडों  के विशाल पत्थरों को तोडने बारूद लगा कर विस्फोट किया जावेगा ।जन धन हानि न हो और अनावश्यक परेशानी न हो इसलिये इस समयावधि में   घाटी मे न जायें और अगर यात्रा पर निकलना जरूरी हो.तो इस समय.का खास ध्यान रखते पहले निकल जायें या फिर रुककर बाद मे सफर करें। 

छत्तीसगढ़ सरकार नक्सलियों से वार्ता करने तैयार

रायपुर : छत्तीसगढ़ सरकार नक्सलियों से बातचीत करने के लिये तैयार है. छत्तीसगढ़ सरकार नक्सल समस्या के समाधान के लिये लोकतंत्र और संविधान के दायरे में बातचीत करने के लिये तैयार है. छत्तीसगढ़ के गृहमंत्री रामसेवक पैकरा ने रविवार यहां मीडिया को जारी बयान में कहा है कि परस्पर संवाद ही लोकतन्त्र का आधार है. उन्होंने कहा कि नक्सल समस्या निराकरण के लिए राज्य सरकार माओवादियों सहित किसी भी पक्ष से बातचीत के लिए खुले दिल से हमेशा तैयार है. बातचीत के लिए सरकार के दरवाजे हमेशा खुले हुए हैं लेकिन यह बातचीत लोकतन्त्र और संविधान के दायरे में होनी चाहिये.

 

उन्होंने कहा, “मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह कई बार कह चुके हैं कि अगर नक्सली हिंसा और हथियार छोड़ कर सरकार से वार्ता के लिए आना चाहते हैं तो हम उनसे जरूर बातचीत करेंगे. मुख्यमंत्री ने तो यहां तक कह दिया है कि हिंसा का रास्ता छोड़कर शान्तिपूर्ण जीवन जीने और विकास की मुख्य धारा से जुड़ने वाले नक्सलियों को हम गले लगाने को भी तैयार रहेंगे.”

छत्तीसगढ़ के गृहमंत्री रामसेवक पैकरा ने कहा कि आत्मसमर्पण कर शांतिपूर्ण जीवन यापन करने के इच्छुक नक्सलियों के लिये राज्य सरकार ने आकर्षक पुनर्वास नीति भी बनाई है. इससे प्रभावित होकर बड़ी संख्या में नक्सली आत्मसमर्पण कर रहे हैं और उन्हें पुनर्वास नीति का लाभ मिल रहा है.

गृहमंत्री पैकरा ने यह भी कहा, “नक्सल समस्या के स्थायी समाधान के लिए सरकार की नीति और नीयत बिलकुल साफ़ है.”

उल्लेखनीय है कि शुक्रवार को बस्तर के ताड़मेटला आगजनी की सुनाई करते हुये सुप्रीम कोर्ट की जस्टिस मोहन बी ठाकुर और आदर्श गोयल की बेंच ने सरकार को शांति स्थापित करने व नक्सलियों से बातचीत शुरु करने का जिक्र किया था.

इस पर सॉलिसीटर जनरल तुषार मेहता ने कोर्ट से कहा था कि वे बातचीत की जरूरत को उच्च स्तर पर पर उठायेंगे. हालांकि इससे तात्कालिक समाधान निकल सकता है, जरूरत स्थायी शांति की है.

छत्तीसगढ़ के गृहमंत्री रामसेवक पैकरा के ताजे बयान सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी के बाद आया है.

(सीजी खबर से ) 

नया रायपुर में प्रेमी की हत्या कर बन्दुक की नोक पर नाबालिग प्रेमिका से दुष्कर्म

रायपुर : रायपुर में प्रेमी की हत्याकर प्रेमिका से रेप किया गया है. नया रायपुर में रात को 8:30 बजे बाइक पर बैठे प्रेमी को पीछे से आकर सीधे गोली मार दी गई. उसके बाद प्रेमिका के साथ पिस्टल के बल पर रेप किया गया है. घटना रविवार रात के नया रायपुर से छेरीखेड़ी जाने वाली सड़क के एक खेत की है.

नया रायपुर में सुनसान खेत के पास बाइक पर बैठे 24 वर्षीय युवराज चौहान को अज्ञात हमलावर ने पीठ पर गोली मार दी. पीड़िता से मिली जानकारी के अनुसार हमलावर इतनी खामोशी से आया कि उन्हें पता ही नहीं चल पाया. युवराज चौहान को बिल्कुल पास से आकर गोली मारी गई जिससे वह बाइक से गिर गया.

उसके बाद हमलावर ने लड़की के साथ रेप किया गया तथा खेतों से होकर भाग गया. लड़की ने सड़क से गुजर रहे एक सवार को रोककर सारी बात बताई. उसके बाद वहां पुलिस पहुंची. हत्या तथा रेप की घटना से पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया है.

पीड़ित लड़की नाबालिक है. रात तक हमलावर के बारे में कोई जानकारी नहीं मिल पाई थी. आशंका व्यक्त की जा रही है कि कहीं यह लड़की के पूर्व प्रेमी न हो.

छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में पिछले साल 40 लोगों की हत्यायें हो चुकी हैं. इसके अलावा 92 लोगों की हत्या की कोशिश हुई थी. राजधानी रायपुर में हत्या की दर 3.6 तथा हत्या की कोशिश की दर 8.2 है.

रायपुर में पिछले साल 125 रेप हुये थे. रेप की दर 11.1 रही है. जो दिल्ली तथा जोधपुर के बाद देश में बड़े के शहरों में तीसरे स्थान पर है.

रायपुर में पिछले सालभर में 5368 संज्ञेय अपराध हुये थे. 

( सीजी खबर से ) 

राज्योत्सव में किसानों को बड़ी सौगात मिलेगी : रमन सिंह

रायपुर : छत्तीसगढ़ के किसानों को राज्योत्सव पर बड़ी सौगात मिलेगी. इसकी घोषणा स्वंय मुख्यमंत्री रमन सिंह ने कोरिया जिले में एक जनसभा को संबोधित करते हुये किया. छत्तीसगढ़ के किसानों के 4.50 लाख रुपये का सिंचाई सोल पंप मात्र 18-25 हजार रुपये दिया जायेगा. शेष अनुदान राशि राज्य सरकार देगी.

इससे उन इलाकों में सौर ऊर्जा प्रणाली के जरिये सिंचाई सुविधाओं का विस्तार किया जायेगा, जहां परम्परागत रूप से बिजली की लाईन पहुंचाने में कठिनाई होती है.

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा- प्रदेश के किसानों को अगले हफ्ते राज्योत्सव 2016 के अवसर पर ‘सौर सुजला योजना’ के रूप में एक बड़ी सौगात मिलेगी. इस योजना के तहत उन इलाकों में सौर ऊर्जा प्रणाली के जरिए सिंचाई सुविधाओं का विस्तार किया जाएगा, जहां परम्परागत रूप से बिजली की लाईन पहुंचाने में कठिनाई होती है.

डॉ. सिंह ने कहा- आदिवासी क्षेत्रों में शिक्षा, स्वास्थ्य, सड़क, सिंचाई, बिजली और पेयजल जैसी बुनियादी सुविधाओं का विकास राज्य सरकार सर्वोच्च प्राथमिकता है. डॉ. रमन सिंह ने उम्मीद जताई कि आज लोकार्पित एकलव्य आवासीय विद्यालय कोरिया जिले के बच्चों के लिए शिक्षा का एक बेहतर केन्द्र बनेगा, वहीं यह विद्यालय छत्तीसगढ़ राज्य के लिए भी एक आदर्श विद्यालय साबित होगा.

उन्होंने कहा- आदिवासी बहुल कोरिया जिले में एकलव्य आवासीय विद्यालय की जरूरत लम्बे समय से महसूस की जा रही थी. आज इसकी पूर्ति हो गई. उन्होंने विद्यालय के बच्चों को आशीर्वाद प्रदान किया.

डॉ. रमन सिंह ने विशाल जनसभा में प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के तहत प्रतीक स्वरूप दस महिलाओं को निःशुल्क रसोई गैस कनेक्शन, डबल बर्नर चूल्हा और गैस सिलेंडर का वितरण किया.

मुख्यमंत्री डॉ.सिंह ने कहा कि दो वर्ष के अंदर विद्युत विहीन गांवों और मजरा टोलों में शत प्रतिशत बिजली पहुंचाने का कार्य किया जायेगा.

नगरीय प्रशासन और कोरिया जिले के प्रभारी मंत्री श्री अमर अग्रवाल, लोकसभा सांसद डॉ. बंशीलाल महतो और विधायक श्री श्याम बिहारी जायसवाल ने भी जनसभा को सम्बोधित किया.

(सीजी खबर से ) 

जोगी ने मोदी को भेजा पुराना घोषणा पत्र ,कहा वादा निभाओ

रायपुर : छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस ने मोदी आये, वादा निभाये की मांग की है. इस सिलसिले में छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस के अजीत जोगी ने शनिवार को पूरे तामझाम के साथ रायपुर के मालवीय रोड पोस्ट ऑफिस जाकर प्रधानमंत्री मोदी को स्पीड पोस्ट के माध्यम से पत्र भेजा है. जोगी कांग्रेस की मांग है कि प्रधानमंत्री मोदी आकर छत्तीसगढ़ भाजपा द्वारा 2013 के विधानसभा चुनाव के समय किये गये वादे को पूरा करें.

अजीत जोगी द्वारा प्रधानमंत्री मोदी को भेजे पत्र में मांग की गई है कि भाजपा के घोषणा पत्र के अनुसार किसानों को धान पर 2100 रुपये का समर्थन मूल्य तथा 300 रुपये बोनस दिया जाये. उल्लेखनीय है कि भाजपा ने छत्तीसगढ़ के 2013 के विधानसभा चुनाव के समय अपने घोषणा पत्र में किसानों से यही वादा किया था.

अजीत जोगी ने कहा कि उस घोषणा पत्र में आपकी तस्वीर को याद रखकर 2014 में किसानों ने आपको देश का मुखिया भी चुना था. अब मुखिया बनकर आ रहे हैं, तो उस वचन को भी आप निभाये, जिस पर आपकी सहमति थी.

अजीत जोगी ने प्रधानमंत्री को स्पीड पोस्ट से पत्र भेजने के बाद राजनांदगांव से आये उन किसानों के परिजनों के साथ भोजन किया जिन्होंने आत्महत्या की थी. जोगी ने इस दौरान किसानों से चर्चा भी किया. अजीत जोगी के साथ भोजन करने के बाद किसानों ने कहा कि मुख्यमंत्री रमन सिंह ने इनसे मिलना तो दूर, इनका हालचाल तक नहीं पूछा था.( सीजी खबर से ) 

कल्लूरी पर कार्रवाई और एफआईआर की मांग ,कांग्रेस ने बनाया दबाव

रायपुर : राजनीतिक दलों ने IGP कल्लूरी पर कार्यवाही की मांग की है. सीबीआई द्वारा सुप्रीम कोर्ट में बस्तर के ताड़मेटला में साल 2011 में हुई आगजनी पर हलफनामा देने के बाद राजनीतिक दल छत्तीसगढ़ के बस्तर के आईजीपी एसआर कल्लूरी के निलंबन तथा गिरफ्तारी की मांग कर रहें हैं. छत्तीसगढ़ कांग्रेस प्रदेश कमेटी के अध्यक्ष भूपेश ने कहा कि ताड़मेटला कांड कल्लूरी के आदेश अंजाम दिया गया था, उस समय कल्लूरी दंतेवाड़ा के एसएसपी थे. उनके ही निर्देश पर आदिवासी महिलाओं को प्रताड़ित किया गया और उनके घर जलाये गये. सुप्रीम कोर्ट में सीबीआई के हलफनामे के बाद अब सरकार कल्लूरी को निलंबित कर गिरफ्तार करे.

वहीं, छत्तीसगढ़ विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव ने कहा है कि इस दर्दनाक घटना को कांग्रेस ने 28 मार्च 2011 को विधानसभा में उठाया था, लेकिन सरकार ने फोर्स के कृत्यों को नकार दिया था. सीबीआई की जांच रिपोर्ट से स्पष्ट हो गया है कि पुलिस और सरकर ने विधानसभा जैसे पवित्र सदन में झूठा बयान देकर प्रदेश की जनता को गुमराह किया.

माकपा की छत्तीसगढ़ राज्य समिति ने आईजीपी कल्लूरी पर भी आपराधिक प्रकरण कायम कर उनकी गिरफ़्तारी की मांग की है. माकपा राज्य सचिव संजय पराते ने कहा कि इस चार्जशीट से बस्तर पुलिस प्रशासन, भाजपा सरकार और प्रतिबंधित सलवा-जुडूम नेताओं द्वारा फैलाये गये झूठ का भी पर्दाफाश हो गया है. लेकिन राजकीय दमन और आतंक के खिलाफ जो लोग आवाज़ उठा रहे हैं, उन्हें आज भी तरह-तरह से परेशान किया जा रहा है, ताकि बस्तर की वास्तविक सच्चाई को सामने आने से रोका जा सके और प्राकृतिक संसाधनों की लूट को सुनिश्चित किया जा सके. सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के बाद भी सरकार और पुलिस के संरक्षण में सामाजिक एकता मंच और अग्नि जैसे कई ‘असामाजिक’ संगठनों को पैदा किया गया है, जो उच्चतम न्यायालय के निर्णयों की स्पष्ट अवहेलना है.

इस हलफनामे की रोशनी में माकपा ने स्पष्ट मांग की है कि छत्तीसगढ़ निर्माण के बाद उन सभी घटनाओं की स्वतंत्र जांच कराई जानी चाहिये, जिनमें नक्सलियों और पुलिस द्वारा आदिवासियों पर अत्याचार तथा मानवाधिकार हनन के आरोप लगे हैं.

माकपा ने व्यंग्यात्मक लहजे में कहा है कि भाजपा सरकार को आदिवासियों के खिलाफ अपनी ‘बहादुरी’ दिखाने वाले तत्कालीन एसएसपी और वर्त्तमान आईजी एसआरपी कल्लूरी को राज्य के सर्वोच्च वीरता पुरस्कार से नवाजा जाना चाहिये.

बस्तर बचाओं संघर्ष समिति ने एक बयान जारी करके कहा है तत्कालीन एसएसपी शिवराम प्रसाद कल्लूरी के आदेश पर पुलिस और सीआरपीएफ ने संयुक्त तलाशी अभियान चलाया था. इस दौरान तीन आदिवासी मारे गये, तीन महिलाओं के साथ दुष्कर्म किया गया और तीनों गांवों में 252 घर जला दिए गये. 11 से 16 मार्च-2011 के बीच बस्तर के ताड़मेटला, मोरापल्ली और तिमपुरम गांवों में यह घटना घटी थी.

उल्लेखनीय है कि छत्तीसगढ़ के बस्तर में आदिवासियों के घरों में आग लगा देने की घटना के करीब पांच साल बाद सीबीआई ने शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट में चार्जशीट पेश की है. जिसमें कहा गया है कि इस घटना को फोर्स ने ही अंजाम दिया था.

सुप्रीम कोर्ट की जस्टिस मोहन बी ठाकुर और आदर्श गोयल की बेंच ने सरकार को शांति स्थापित करने व नक्सलियों से बातचीत शुरु करने को कहा है. इस पर सॉलिसीटर जनरल तुषार मेहता ने कोर्ट से कहा कि वे बातचीत की जरूरत को उच्च स्तर पर पर उठायेंगे. हालांकि इससे तात्कालिक समाधान निकल सकता है, जरूरत स्थायी शांति की है.

गौरतलब है कि सुकमा जिले के ताड़मेटला, तिम्मापुर और मोरपल्ली गांवों में 11 से 16 मार्च 2011 के बीच फोर्स के जवानों ने गश्त की थी. इसी दौरान इन तीनों गांवों को पूरी तरह आग के हवाले कर दिया गया. घटना में फोर्स पर तीन गांवों के तीन सौ घरों को आग लगाने, तीन आदिवासी महिलाओं से बलात्कार करने और तीन लोगों की हत्या करने के आरोप लगे. सुप्रीम कोर्ट ने 2011 में ही ताड़मेटला कांड सीबीआई के हवाले कर दिया था.

इसके बाद 26 मार्च 2011 को जब स्वामी अग्निवेश अपने सहयोगियों सहित उन गांवों में जाने की कोशिश कर रहे थे तब दोरनपाल में उनपर जानलेवा हमला हुआ था. जिसमें सलवा-जुड़ुम नेता शामिल थे.(इनपुट सीजी खबर से )