क्राइम

खुले आम चल रहा था नशे का कारोबार पुलिस की दबिश से सौदागर गिरफ्तार

हुमेश जायसवाल चांपा :-जिले के सक्ती में इन दिनों नशीली दवाओं का अवैध कारोबार धड़ल्ले से चल रहा है। इसकी खबर मिलने के बाद पुलिस ने इन ठिकानों पर छापामारी कार्रवाई की। कुछ दिन पहले की पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली थी कि सक्ती के नवापारा में नशीली दवाओं का अवैध कारोबार शोभाराम पटेल द्वारा किया जा रहा है। इस पर शुक्रवार को शोभाराम के ठिकाने पर क्राइम ब्रांच की टीम ने छापा मारा।  जब शोभाराम पटेल के घर क्राइम ब्रांच पहुंची तब वह अपने घर में मौजूद मिला जिसको क्राइम ब्रांच ने अपनी अभिरक्षा में लेकर घर की तलाशी ली गई। तलाशी के दौरान उनके कब्जे से कुल 150 नग नशीली दवाओं की शीशियां जब्त की गई जिसकी कीमत 18 हजार रुपए है।आरोपी के खिलाफ धारा 21 बी NDPS एक्ट के तहत कार्यवाही की जा रही है।

पिता पुत्र के रिश्ते हुए शर्मशार ..पुत्र ही निकला पिता का हत्यारा

हुमेश जायसवालप

जांजगीर चाम्पा:-एक बार फिर जांजगीर चाम्पा जिले में पिता पुत्र के रिश्ते को शर्मसार करने का मामला सामने आया है वही डभरा पुलिस ने 3 दिन पहले हुए अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझा ली ।दरसल में 24 तारीख को डभरा थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम ठनगन में एक की जली हुई नरकंकाल मिली जिसकी पहचान जगमोहन निषाद के रूप में हुई पुलिस को मामला हत्या का लगा जिसके बाद पुलिस मामले की जांच में जुट गई वही ग्रामीणों और परिजनों की पूछताछ की गई जिसमें प्रथम दृष्टि में शंका मृतक के पुत्र ऋषि कुमार के ऊपर गई पुलिस द्वारा वैज्ञानिक तरीके से पूछताछ करने पर मृतक के आरोपी पुत्र ने अपना गुनाह कबूल किया आरोपी का कहना है कि घर में उसके शराबी पिता द्वारा हमेशा लड़ाई झगड़ा परिवारिक विवाद होता ही रहता था जिसके कारण उसने घटना को अंजाम दिया साथी साक्ष्य छुपाने के लिए मृतक की लाश को भी जला दिया ।वहीं पुलिस द्वारा आरोपी पुत्र को गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड पर भेजा गया।

कई माह से फरार चल रहे सरपंच को डभरा पुलिस ने किया गिरफ्तार

हुमेश जायसवाल

जांजगीर चाम्पा:-कई माह से पुलिस के नजरो से फरार चल रहे 420 के आरोपी सरपंच को डभरा पुलिस ने किया गिरफ्तार दरसल में जांजगीर चाम्पा जिले के डभरा थाना क्षेत्र अंतर्गत कोटमी सरपंच अवधराम सिदार  द्वारा  की राशि का फर्जी बिल व संदेहास्पद रूप से राशि आहरण करने का मामला मीडिया द्वारा प्रमुखता से दिखाया गया था जिसके बाद जनपद सीईओ द्वारा मामले की शिकायत थाने में की गई एसआईटी टीम द्वारा मामले की जांच की जा रही थी जांच  सही पाए जाने पर सरपंच के ऊपर धारा 420 के तहत गिरफ्तारी की जानी थी। मगर आरोपी सरपंच कई माह से फरार चल रहा था दरसल से आरोपी सरपंच घर से सुबह जाता था और रात में वापस आता था जिसके कारण वह  पुलिस की नजरों से फरार चल रहा था । वही आज मुखबिर की सूचना पर आरोपी सरपंच के घर से घेराबंदी कर आरोपी सरपंच के ऊपर IPC की धारा 420,467,468,471 के तहत गिरफ्तार कर ज्यूडिशियल रिमांड पर भेजा गया है।मगर अन्य आरोपीयो को अभी तक विभागीय अधिकारीयो के कारण कार्यवाही नही हुई है क्योंकि जितने जिम्मेदार सरपंच है उतने ही जिम्मेदार सचिव भी है अब आगे देखना होगा कि आलाधिकारियों द्वारा क्या कार्यवाही की जाती है।

शार्ट पीएम रिपोर्ट में हथियारों के दर्जन भर से ज्यादा ज़ख्मों ने उलझाई गुत्थी, कहीं हत्या की ये तो वजह नहीं

रायपुर   खरोरा के परसवानी गांव में हुए डबल मर्डर केस का मामला शवों की शार्ट पीएम रिपोर्ट के बाद और भी उलझता जा रहा है. रिपोर्ट के अनुसार महिला के सिर, गर्दन सहित शरीर में 14 स्थानों में और नाबालिग किशोर के सिर, गर्दन और पीठ सहित पूरे शरीर पर 6 स्थानों पर धारदार हथियार के निशान मिले हैं.

जिससे माना जा रहा है कि महिला की जिस तरह से निर्मम तरीके से हत्या कर उसके शव को जला दिया गया है उससे यह माना जा रहा है कि मामला किसी रंजिश या फिर प्रेम संबंधों का भी हो सकता है.
आपको बता दें कि दो दिन पहले शाम के वक्त महिला और एक नाबालिग का शव जले हालत में खेत में मिला था. मृतक महिला और नाबालिग एक ही गांव के रहने वाले हैं उनकी पहचान शिव कुमारी ध्रुव और पुष्पेन्द्र निषाद के रुप में हुई है. प्रथम दृष्टया माना जा रहा था कि महिला के साथ रेप या गैंगरेप के बाद और हत्या की गई होगी.

बताया जा रहा है कि महिला गोबर बिनने गई थी वहीं नाबालिग मवेशी चराने वहां गया था उसी दौरान उसने महिला के साथ वारदात होते देख लिया होगा जिसकी वजह से उसकी भी हत्या कर दी गई और दोनों के शव को जला दिया गया ताकि न सबुत मिले और न ही शवों की शिनाख्त हो पाए.

शादी समारोह के दौरान दूल्हे के दोस्त ने दूल्हे की 10 साल की बहन को हवस का शिकार कर की हत्या

कवर्धा  छत्तीसगढ़ में लगातार दूसरे दिन दिल दहला देने वाली वारदात हुई है। बघर्रा गांव में शादी समारोह के दौरान दूल्हे के दोस्त ने दूल्हे की 10 साल की बहन को पहले हवस का शिकार बनाया और उसके बाद उसे मौत के घाट उतार दिया। पूरी रात परिजन बच्ची को ढूंढते रहे, लेकिन सुबह नहर में उसकी लाश मिली।
बोड़ला थाना क्षेत्र के बघर्रा गांव का है जहां बुधवार रात को एक शादी समारोह था। शादी समारोह में दूल्हे का एक दोस्त भी शामिल होने आया था। परिजन शादी की खुशियों में डूबे हुए थे, लेकिन इसी दौरान दूल्हे के दोस्त की नजर दूल्हे की चचेरी बहन पर पड़ गई। आरोपी 10 साल की बच्ची को नहर पर ले गया जहां उसने पहले उसके साथ दुष्कर्म किया और उसके बाद बच्ची की हत्या कर दी।

कबीरधाम एसपी लाल उमेद सिंह का कहना है कि, 'बघर्रा गांव में दोस्त की बारात में आए उत्तम साहू ने दोस्त की ही बहन के साथ बालात्कार किया। फिर पत्थर मारकर उसकी हत्या कर दी। पूछताछ में आरोपी ने दूल्हे की चचेरी बहन के साथ दुष्कर्म और हत्या करना कबूल किया है। आरोपी वैवाहिक कार्यक्रम से ही अपने दोस्त की बहन पर बुरी नजर रखे हुए था। शादी के दौरान उसके साथ डांस और सेल्फी लगातार ले रहा था।'
नहर में ले जाकर किया रेप और फिर हत्या
एसपी ने कहा कि, 'आरोपी ग्राम रेहुटा, थाना कुंडा निवासी उत्तम साहू है। आरोपी ग्राम खैलटुकरी से बारात में शामिल होकर ग्राम बघर्रा आया था। आरोपी बीती रात बच्ची को बहला फुसलाकर गांव के बाहर ले गया था। यहां उसने दुष्कर्म के बाद लड़की की हत्या की। गुरूवार सुबह लोगों ने खेत में बने सूखे नहर में युवती की अर्धनग्न लाश देखी। सूचना पर परिजन पहुंचे, तो शिनाख्त दुल्हे की बहन के रूप में हुई। फिलहाल शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।'

कपड़ों और बाइक पर मिला खून
एसपी ने कहा कि, 'बघर्रा गांव में शादी का कार्यक्रम खत्म होने के बाद जब बारात लौटने को हुई, तो युवती गायब मिली। संदेह होने पर आरोपी युवक उत्तम की तलाश की गई, क्योंकि वो रात में कई दफा युवती के साथ ही था, लेकिन लोगों को उत्तम भी नहीं मिला। काफी देर खोजबीन के बाद भी न तो युवक का पता चला और न ही बच्ची का और जब आरोपी पकड़ा गया तो उसके कपड़ों पर खून के छींटे पड़े थे, वहीं उसकी बाइक पर भी खून के निशान थे। तत्काल इसकी सूचना पुलिस को दी गई थी। जिसके बाद स्थानीय थाना और क्राइम ब्रांच पुलिस ने आरोपी आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है पुलिस ने आरोपी के खिलाफ 376, पाक्सो एक्ट सहित हत्या का मामला पंजीबद्ध कर आरोपी को सलाखों के पीछे भेज दिया है।'

 
 

पहले विस्वास जीता फिर किया करोड़ों की ठगी, आये पुलिस के गिरफ्त में।

Bbn24 News :: खबरीलाल क्राइम रिपोर्ट ::-रायपुर पुलिस की एक और महत्त्वपूर्ण उबलब्धि, पुणे और मुम्बई के अलग अलग स्थानों में कैम्प कर ग्लोबल इंडस्ट्रीज के संचालक अब्दुल अजीज चौधरी को मुम्बई तथा ओमकार इंजीनियरिंग के संचालक माधव किशनराव बिरादर को गिरफ्तार कर ट्रांजिट रिमांड पर रायपुर लाया गया है। उक्त जानकारी रायपुर शहर के दबंग अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विजय अग्रवाल ने प्रेस वार्ता में दी। दोनों आरोपियों ने रायपुर, सूरजपुर, दुर्ग आदि जगहों में उद्योगपतियों से स्टील खरीदकर अन्य फर्मों का चेक देकर किये थे करोड़ों की धोकाधड़ी। ये दोनों आरोपी इतने शातिर और चलाक थे कि पहले वे स्टील खरीदकर उद्योगपतियों को भुगतान कर अपने विश्वास और झांसे में लेते थे फिर अपने दूसरे फर्मों से अवगत कराते हुए करोड़ों रुपये के स्टील खरीदकर दूसरे फर्मों का चेक उन्हें देते थे और फरार हो जाते थे। जानकारी के अनुसार कुछ फर्मों का सिंडिकेट बनाकर रखे थे वो भी कागज़ी। शिकायतकर्ता प्रशांत केडिया से प्राप्त जानकारी के अनुसार रायपुर के आजाद थाना तथा क्राइम ब्रांच के जांबाज अधिकारियों ने जब पतासाजी किये तो उक्त फर्मों का पता गलत पाया गया। उसके बाद अलग अलग टीम बनाकर रायपुर पुलिस ने जानकारी जुटाते हुए मुम्बई और पुणे पहुंचे एवं उन्हें गिरफ्तार कर रायपुर लाया गया है।

राजस्व निरीक्षक का पेपर उपलब्ध कराने के नाम पर ठगी करने वाला गिरफ्तार।

Bbn4 News :: खबरीलाल क्राइम रिपोर्ट :रायपुर के दबंग वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आईपीएस अमरेश मिश्रा को सूचना मिली कि रविवार को होने वाले राजस्व निरीक्षक भर्ती हेतु परीक्षा के प्रश्न पत्र गुढ़ियारी क्षेत्र में उपलब्ध कराने की बात कुछ लोग कर रहे हैं। मामले को गंभीरता से लेते हुए अमरेश मिश्रा ने क्राइम ब्रांच की 4 टीमें बनाकर छानबीन कर आरोपी को पकड़ने के निर्देश दिए। क्राइम ब्रांच की टीम मौके पर पहुंचने पर एक युवक को हाथ मे चेक लेते हुए घूमते पाया गया जिससे पता चला कि ऑडी कार सवार युवक अम्बेडकर टंडन ने उनसे 50 हजार एडवांस तथा 4.50 लाख का चेक लेने की बात कही। दो युवकों से पूछताछ करने पर पता लगा कि अम्बेडकर टंडन ने 5 लाख में प्रश्न पत्र का सौदा किया जिसमें 50 हजार एडवांस के तौर पर तथा 4.50लाख रुपये का चेक युवकों से प्राप्त किया तथा उसके बाद से आरोपी का फ़ोन बन्द आ रहा है। तब क्राइम ब्रांच की टीम ने तत्काल ऑडी कार सवार युवक की पतासाजी किये और अम्बेडकर टंडन तथा उसके साथी संतोष शाहनी को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया गया। उनके खिलाफ विभिन्न जिलों से पुलिस को अब शिकायतें प्राप्त होना शुरू हो गया है जिन्हें इन दोनों शातिर ठग ने पूर्व में ठगी कर रुपये ऐंठे थे। उक्त जानकारी रायपुर शहर के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विजय अग्रवाल ने दी।

12.30 लाख धोकाधड़ी करने वाला बैंक कर्मी गिरफ्तार

Bbn24 Breaking News :: खबरीलाल क्राइम रिपोर्ट :- रायपुर बैंक ऑफ बड़ौदा के रायपुर शाखा में चेक क्लीयरेंस सेक्शन में पदस्थ के.सी.तालुकदार ने गुवाहाटी स्थित मेसर्स ओम फाउंडेशन के खाते से फर्जी तरीके से 12.30 लाख की राशि को वर्ष 2016 में खुद के खाते में ट्रांसफर कर लिए थे।उक्त जानकारी रायपुर के दबंग अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विजय अग्रवाल ने दी। आगे उन्होंने बताया कि इस ट्रांसफर हेतु के.सी.तालुकदार ने अपने सहकर्मी का पासवर्ड चुराकर इस कृत्य को अंजाम दिया था। कंपनी को ज्ञात होने पर उन्होंने बैंक में शिकायत की जिस पर बैंक ऑफ बड़ौदा ने आंतरिक जांच की एवं तालुकदार के दोषी पाए जाने पर बैंक के डिप्टी जनरल मैनेजर प्रकाश राठी ने रायपुर के गंज थाने में शिकायत दर्ज किया। उसी समय से केसी तालुकदार फरार चल रहे थे। रायपुर क्राइम ब्रांच की टीम एवं गंज थाने के अधिकारियों ने विभिन्न स्थानों पर पतासाजी किया और अंत मे अशोका रत्न, शंकर नगर से आरोपी को गिरफ्तार किया गया।

धमकी देकर वसूली करने वाला सूदखोर आया पुलिस के गिरफ्त में।

Bbn24 News :: क्राइम रिपोर्ट ::- धमकी देकर वसूली करने वाला सूदखोर आया पुलिस के गिरफ्त में। रोहित सिंह तोमर, भाठागांव, साईं विला निवासी ने 11 अप्रैल 2018 की रात को ब्याज पे पैसे लेकर नहीं लौटाने पर बिल्डिंग मटेरियल सप्लायर विवेकानंद वर्धन को जान से मारने की धमकी दी साथ ही अपने साथी वेद प्रकाश उर्फ योगेश सिंह के साथ मिलकर बेस बॉल के बैट से विवेकानंद वर्धन की बेरहमी से पिटाई की और गाली गलौच किया। इस पर विवेकानंद वर्धन ने न्यू राजेन्द्र नगर थाने में 12 अप्रैल को रिपोर्ट दर्ज करवाया साथ ही यह भी कहा कि उसने रोहित सिंह तोमर से रु 3 लाख 10% साप्ताहिक ब्याज पर लिया और इसके एवज में उन्होंने आरोपी रोहित सिंह तोमर को 10 लाख रुपये वापस कर दिए थे लेकिन आरोपी और अधिक पैसे की मांग करता था । न्यू राजेन्द्र नगर थाना के अधिकारियों ने जांच कर आरोपी रोहित सिंह तोमर को धारा 294, 506, 323, 384 एवं 34 के तहत गिरफ्तार कर आगे की कार्यवाही किया जा रहा है।

दूसरे का मकान अपना बताकर सौदा करने वाला आरोपी चढ़ा पुलिस के हत्थे।

Bbn24 News :: खबरीलाल क्राइम रिपोर्ट ::- दूसरे का मकान अपना बताकर सौदा करने वाला आरोपी चढ़ा पुलिस के हत्थे। आरोपी आफाक कुरैशी निवासी बैजनाथपारा, रायपुर ने किसी दूसरे का मकान अपना बताकर नयापारा, रायपुर निवासी मोहम्मद अमीन के साथ सौदा कर किया विक्रय ईकरार नामा। एसएसपी अमरेश मिश्रा ने खबरीलाल को बताया कि मोहम्मद अमीन ने कोतवाली थाने में रिपोर्ट दर्ज करवाया की मुझे मकान की जरूरत थी जिस पर आरोपी आफाक कुरैशी ने सन्यासी पारा, खमतराई में 22 फरवरी 2017 को एक मकान दिखाया जिसकी कीमत 15 लाख बताया गया तथा उसी दिन सिविल कोर्ट रायपुर में दो गवाहों के समक्ष जमीन विक्रय ईकरार नाम किया और बयाना के रूप में रु 4.50 लाख लिए। इसके पश्चात मोहम्मद अमीन ने आरोपी से बैनामा पंजीयन करने हेतु आग्रह किया गया पर आरोपी उसे बातों से घुमाते रहा। मोहम्मद अमीन को संदेह होने पर उसने पतासाजी किया तो पता चला कि उक्त मकान आरोपी का है ही नही । तब मोहम्मद अमीन को ठगी का अहसास होने पर पुलिस मे रिपोर्ट दर्ज करवाया। जांच में धोकाधड़ी का अपराध पाए जाने पर थाना कोतवाली पुलिस ने धारा 420 के तहत कार्यवाही करते हुए आरोपी आफाक कुरैशी को गिरफ्तार किया।

- 100 करोड़ की ठगी करनेवाले आईटीएसपीएल कंपनी के डायरेक्टर हुए गिरफ्तार।

Bbn24 News ब्रेकिंग ::- 100 करोड़ की ठगी करनेवाले आईटीएसपीएल कंपनी के डायरेक्टर हुए गिरफ्तार। महान ठग आईटीएसपीएल के डायरेक्टर जगन्नाथ दास एवं अशोक जैना को रायपुर पुलिस व क्राइम ब्रांच की संयुक्त टीम ने ओडिशा और कलकत्ता से दोनों को गिरफ्तार कर रायपुर लाये हैं। 100 करोड़ की इस बड़े ठगी का खुलासा रायपुर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अमरेश मिश्रा ने किया तथा उनके साथ अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विजय अग्रवाल, सीएसपी सुखनंदन राठौड़ व क्राइम ब्रांच के डीएसपी भी इस बड़े खुलासे के समय उपस्थित थे। आईपीएस अमरेश मिश्रा ने बताया कि उक्त कंपनी ने ओडिशा, राजस्थान, कोलकाता, दिल्ली, मध्यप्रदेश एवं गुजरात मे अपनी शाखाएं खोलकर कार्य करते थे। एसएसपी अमरेश मिश्रा ने खुलासा करते हुए बताया कि यह कंपनी 3 लेयर - स्टेट कोऑर्डिनेटर, ट्रेनिंग पार्टनर एवं ट्रेनिंग सेंटर में संचालित होती थी। शातिर मास्टरमाइंड जगन्नाथ दास एवं अशोक जैना ने प्रत्येक प्रशिक्षणार्थियों के पंजीयन के नाम से ट्रेनिंग सेंटरों से 500 रुपये से 1200 रुपये तक ऐंठते थे तथा ट्रेनिंग सेंटरों को झांसा दिए थे कि ट्रेनिंग पूर्ण होने के उपरांत प्रत्येक प्रशिक्षणार्थियों के पीछे 8000/- रुपये देंगे। आगे एसएसपी अमरेश मिश्रा ने बताया कि इस प्रकार का झांसा देकर ये दोनों डायरेक्टर ने 100 करोड़ अंदर कर लिए। वे इतने चालक ठग थे कि ट्रेनिंग सेंटरों को विश्वास में लेने के लिए चेक जारी किए थे जो बाद में बाउंस हो गए। रायपुर के स्केलिंग टेक के संचालक बसंत कुमार वर्मा ने सिविल लाइन्स थाने में रिपोर्ट दर्ज कराया था कि आईटीएसपीएल के ऑल इंडिया कोऑर्डिनेटर योगेंद्र बारीक ने उनसे संपर्क किया और बताया कि उसकी कंपनी बड़ी बड़ी कंपनियों के सीएसआर मैनेजमेंट का काम करती है तथा वे विभिन्न ट्रेनिंग पार्टनर बनाकर बेरोजगार युवकों को ट्रेनिंग दिलवाते हैं तथा प्रत्येक स्टूडेंट्स के पीछे ट्रेनिंग पार्टनर को 8000/- रुपये देते हैं। उक्त कंपनी ने ओडिशा में लगभग 80 करोड़ का चेक, राजस्थान में 10 करोड़ का, दिल्ली में 5 करोड़ का तथा हरयाणा में 5 करोड़ का चेक ट्रेनिंग पार्टनर्स को विभिन्न तिथियों वाला चेक जारी किए थे जो बाद में बाउंस हो गए। इस पर सिविल लाइन्स थाना ने आईटीएसपीएल कंपनी के विरुद्ध धारा 420, 120 बी का अपराध पंजीबद्ध कर कंपनी की जानकारी एकत्रित किये और खुलासा हुआ कि यह कंपनी किसी भी बड़े कंपनी के लिए सीएसआर मैनेजमेंट का कोई काम नहीं करती है।

करोड़ों रुपये ठगी करने वाले शातिर डेवलपर अम्बाला से हुए गिरफ्तार

करोड़ों रुपये ठगी करने वाले शातिर डेवलपर अम्बाला से हुए गिरफ्तार मिलियन माइल्स इंफ्रास्ट्रक्चर एंड डेवलपर्स लिमिटेड के डायरेक्टर ललित झाम को रायपुर पुलिस के कोतवाली तथा क्राइम ब्रांच के जांबाज ऑफिसरों ने हरियाणा के अम्बाला से करीब 100 करोड़ की ठगी करने के आरोप में गिरफ्तार कर रायपुर लाया गया। इसका खुलासा रायपुर के दबंग वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आईपीएस अमरेश मिश्रा ने पुलिस कंट्रोल रूम में मीडिया को बताया। इस खुलासा के समय उनके साथ अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विजय अग्रवाल भी उपस्थित थे। आरोपी ललित झाम रायपुर में आलीशान आफिस संचालित कर लोगों को अपने प्रभाव में लेकर उनसे पैसे एकाउंट में जमा करवाते थे। अक्टूबर 2017 को कोतवाली थाने में इस कंपनी में निवेश करने वाले नारायण साहू ने लिखित शिकायत दर्ज की तथा यह भी बताया कि यह कंपनी पंजीकृत है तथा हरयाणा के अम्बाला में उक्त कंपनी का हेड आफिस है। उक्त कंपनी ने छत्तीसगढ़ के साथ साथ ओडिशा, दिल्ली, मध्यप्रदेश, हरयाणा में लैंड देवेलोपर्स का काम करते थे। या शातिर ठग ललित झाम छुपकर अम्बाला में अपने रिसोर्ट में आलीशान जिंदगी व्यतीत कर रहा था। रायपुर पुलिस के जांबाज ऑफिसरों ने अम्बाला में उसके रिसोर्ट के पास छद्म वेश में कई दिनों तक रहने के बाद इस शातिर ठग को पकड़ा और रायपुर लेकर आये जिसे न्यायालय में पेश किया जाएगा। आईपीएस अमरेश मिश्रा ने यह भी बताया कि इस शातिर ठग ललित झाम की विभिन्न स्थानों पर स्थित प्रॉपर्टी को कुर्क कराया जाएगा।

रायपुर शहर के 3 सुपर कॉप :: अमरेश - अजातशत्रु - विजय

रायपुर    रायपुर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अमरेश मिश्रा, आईपीएस जबसे कमान संभाले हैं तब से उन्होंने पूरे फोर्स में जान फूंक दिए हैं। उनके विज़न, कार्यशैली , व्यवहार और त्वरित निर्णय लेने की क्षमता के लिए समूचे छत्तीसगढ़ में उनका काफी नाम है। जब तक मुजरिम को जेल की हवा न खिला दे तब तक उनको चयन नहीं आता, यह खबरीलाल सुदीप्तो चटर्जी का अपना आंकलन है। उनका भरपूर साथ दिया पुलिस अधीक्षक क्राइम ब्रांच अजातशत्रु बहादुर सिंह एवं दबंग अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक रायपुर शहर विजय अग्रवाल ने। इन तीनों की तिकड़ी ने शराब कोचिये, गांजा बेचने वाले, अवैध धंधा करने वाले, फर्जीवाड़ा / धोकेदाड़ी करने वाले, कत्ल करने वाले, उठाईगिरी-चोरी करने वाले तथा आदि क्राइम करने वालों पे ऐसी नकेल कसी की सबकी हवा उड़ गई जिसमें तो कुछ जेल में बंद है और कुछ अपने बेल होने का इन्तेजार कर रहे हैं और बेल के लिए बड़े बड़े वकील के पीछे घूम रहे हैं। इन तीनों की तिकड़ी ने एक रसूखदार को जेल की हवा खिला दी और अब वे बेल हेतु छटपटा रहे हैं। इस रसूखदार को जो हाथ नहीं लगा पाए उनको इन तीनो सुपर कॉप ने मिलकर अन्य जांबाज पुलिस अधिकारियों के साथ मिलकर जेल की रोटी तोड़ने पर मजबूर कर दिए। खबरीलाल सुदीप्तो चटर्जी का मानना है कि इस कार्य हेतु तीनों सुपर कॉप का सम्मान होने के साथ साथ इनका अन्य विभाग या जिलों में ट्रांसफर न किया जाए जिससे वे सब मिलकर राजधानी रायपुर के क्राइम को पूरी तरह खत्म न कर दे / कम न कर दे। चूंकि रायपुर राजधानी हैं और यहां ऐसे ही सुपर कॉपों की अत्यंत जरूरत है। इनके कार्यशैली से जनता में कानून के प्रति भरोसा और ज्यादा बड़ गया है। आज प्रत्येक थाना चौकस रहता है और किसी भी तरह के कंप्लेन पर त्वरित कार्यवाही करने के साथ साथ कानून को अपने हाथ मे लेने वालों और कानून से खिलवाड़ करने वालों को जेल में रहने हेतु व्ययस्था कर रहे हैं।

जमीन दोबारा बिक्री कर ठगी करने वाला आरोपी हुआ गिरफ्तार

जमीन दोबारा बिक्री कर ठगी करने वाला आरोपी हुआ गिरफ्तार Bbn24 News : खबरीलाल क्राइम रिपोर्ट ::- रायपुर के खमतराई थाना के जांबाज अधिकारियों ने जमीन ठग ए. रमेश कुमार राव को गिरफ्तार कर धारा 420 के तहत कार्यवाही कर गिरफ्तार किया गया है। आरोपी को सिविल लाइन थाने में स्थित पुलिस कंट्रोल रूम में मीडिया के समक्ष पेश किया गया तथा प्रेस को अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विजय अग्रवाल, डीएसपी क्राइम ब्रांच ने ठग ए. रमेश कुमार द्वारा 1600 वर्ग फ़ीट जमीन बिक्री कर ठगी कर रुपये ऐंठने की बात कही तथा खमतराई पुलिस द्वारा अग्रिम कार्यवाही किये जाने की बात कही। इस ठगी की शिकायत खमतराई के रामेश्वर नगर निवासी पी.चक्रधर राव ने लिखित शिकायत दर्ज करवाया था जिस पर खमतराई थाना ने कार्यवाही करते हुए ठगी के आरोपी ए. रमेश कुमार राव को गिरफ्तार किया।

माना क्षेत्र के पास हुए अंधे कत्ल का हुआ खुलासा

माना क्षेत्र के पास हुए अंधे कत्ल का हुआ खुलासा Bbn24 News : खबरीलाल क्राइम रिपोर्ट ::- माना थाना क्षेत्र के अंतर्गत सदानी दरबार के पास हुए अंधे कत्ल का हुआ खुलासा। तंत्र मंत्र के फेरे में पड़कर हुआ था मुस्ताक अहमद चांगल की हत्या। माना थाना प्रभारी ताम्रकार जी ने खबरीलाल सुदीप्तो चटर्जी को बताया कि 5-6/4/2018 की रात्रि सदानी दरबार के पास स्थित एसीसी सीमेंट मिक्सचर फैक्ट्री के पास आरोपी सैयद जाकिर अली, संतोषी नगर , ताज नगर निवासी ने मुस्ताक अहमद चांगल का गैंती से वार कर हत्या किया और फरार हो गया लेकिन घटना स्थल के पास से मृतक का स्कूटी बरमाद हुआ है। इस अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझाने एसएसपी अमरेश मिश्रा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विजय अग्रवाल, क्राइम ब्रांच के अधिकारी तथा माना थाना के अधिकारियों ने खोजबीन शुरू किया। मुखबिर की सूचना अनुसार मृतक को आखरी बार 5 अप्रैल की शाम को ताज नगर, संतोषी नगर निवासी तथा तंत्र मंत्र करने वाले सैयद जाकिर अली के साथ देखा गया था। पुलिस को पहले ही हत्या का अंदेशा हो गया था। खोजबीन कर पुख्ता सबूत एकत्रित कर आरोपी से पूछताछ शुरू किया गया। प्रथमतः आरोपी इनकार कर रहा था लेकिन अंत मे टूटकर आरोपी ने हत्या की बात स्वीकारी। माना थाने में आरोपी के खिलाफ भादवि 302 के खिलाफ मामला दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर हिरासत में लिया गया है। खबरीलाल को मिली जानकारी के अनुसार मृतक हण्डा (गाड़ा धन) निकलवाने के चक्कर मे फंस कर लाखो रुपये आरोपी को दिए थे। जब कुछ नहीं हुआ तब मृतक ने आरोपी से पैसे वापस करने के लिए जोर देता रहा जिससे तंग आकर आरोपी ने कत्ल कर दिया।