छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ राज्य के पंडो जनजाति के लोग आज भी मूलभूत सुविधाओ से कोसो दूर है अगर गांव में किसी की तबियत खराब हो जाये तो इस गांव की सड़क ऐसी है कि इस गांव में 108 भी नही पहुँच सकती ...पढ़े ये रिपोर्ट

कोरिया जिले के भरतपुर सोनहत विधानसभा क्षेत्र का एक गाँव ऐसा है जहां पर छत्तीसगढ़ राज्य बनने के कई वर्ष बाद भी आज तक मुलभुत सुविधाओं का आभाव देखा जा सकता हैं। इस बीच कई सरकारें आई और चली गई पर इस गाँव की सुरत नहीं बदली। आज तक इस गाँव तक पहुंचने के लिये सडक निर्माण एवं पीने का साफ पानी जैसी मुलभुत सुविधाओं से वंचित है।

आपको बता दें कि कोरिया जिले के मनेन्द्रगढ़ विकासखण्ड से लगभग दस किलोमीटर दुर वनांचल क्षेत्र में बसा ग्राम पंचायत पेन्ड्री के आश्रीत ग्राम सारसताल जहां पर चार वार्ड हैं और इन सभी वार्डों में लगभग चार सौ लोग जिवन यापन करते हैं, मगर आज भी इन ग्रामीणों को मूलभूत सुविधाएं मुहैया नही कराया जा सका। यहाँ तक इस गाँव तक आपको पहुचने के लिये काफी जद्दोजहद करना पड़ता सकता है। इस गांव में पंडो जनजाती के लोग निवास रत्न है वही अगर मूलभूत सुविधाओं की बात करे तो यहाँ न ही सड़क है और न पीने के लिए पानी ।

वैसे तो अब तक कई चुनाव आये और चले गये, लेकिन इन सारे चुनाव में इन ग्रामीणों को विकास के नाम पर झुठे वादे कर के जन प्रतिनिधयों द्वारा खुद को सिरमौर बन कर अपने किये वादे को भुल गये, पर आज तक इनके सडक पानी जैसे मुलभुत सुविधाओं को पुरा नही किया जा सका। जिससे इन ग्रामीणों को एमरजेंसी जैसी सुविधाओ से भी वंचित रहना पड़ता है सड़क नही होने से आज भी ये ग्रामीण जैसे तैसे छोटी छोटी सुविधाओं से वंचित रह कर अपना जिवन जीनें को मजबूर हैं।

ग्रामीण जनों का कहना है कि चुनाव के वक्त तो वोट मांगनें सारे नेता आते है पर चूनाव जितने के बाद यहां कोई झांकी मारनें तक नहीं आता। मतलब चुनाव के वक्त सभी वादे करते हैं मगर चुनाव जितते ही ये सारे नेता अपने किये वादे भुल कर लुप्त हो जाते है, यह भुल जाते हैं कि हमने इन ग्रामीणों को मुलभुत सुविधाओं देने का वायदे किये पर यह वायदे सिर्फ जुबानी वायदे बन कर रह जाते हैं।

इस मामले में कलेक्टर कोरिया ने बताया कि जिले वनांचल ग्रामीण क्षेत्रों में मूलभूत सुविधाओं के लिए कई योजनाएं बनाकर पहुंचाने का काम किया जा रहा है । गांव में जल्द रोड ,पानी मूलभूत सुविधाएं देने की बात कही।

आखिर सवाल यह उठता है की इन ग्रामीणों को अपनी मुलभुत सुविधाओं से कब तक जुझना पडेगा, आखिर इन ग्रामीणों को सुविधा मुहैया करानें में जन प्रतिनिधियों के पसीने क्युं छुट रहे है, क्यों कोई नेताओं का विकास का हांथ इन गरीब ग्रामीणो के लिये आगे नहीं आता, ऐसे कई सवाल खडे होते हैं।

प्रशासन की लापरवाही से नही मिल रहा आवास योजना का लाभ

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी गरीबो के लिए प्रधानमंत्री आवास का बीड़ा उठा रखे है । जिसका लाभ गरीबो को मिल भी रहा है मगर कभी-कभी ऐसी तस्वीरें सामने आ जाती है जो मन को झकझोर कर रख देती है ऐसी ही एक तस्वीर सामने आई है कोरिया जिले के पंचायत सलका के ग्राम सारस ताल में दो वर्ष पूर्व प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत हीतग्राही सावित्री बाई के नाम से आवास आवंटित हुआ था । जहाँ एक गरीब विधवा महिला को प्रशासन की लापरवाही से आवास नही मिल पाया तो अब दुखियारी महिला खड़गवां थाना शिकायत दर्ज कराई है । - जनपद पंचायत खड़गवां के अंतर्गत आने वाले यह पहला मामला नहीं है ऐसे कई और मामले सामने आ चुके हैं ग्राम पंचायत सलका के ग्राम सारस ताल में दो वर्ष पूर्व प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत हीतग्राही सावित्री बाई के नाम से आवास आवंटित हुआ था ।तब सुमित्रा अपने बच्चों के साथ खुश हो गई अब मेरा मकान पक्के का होगा पर दो वर्ष बीत जाने के बाद भी अभी तक आवास का कार्य पूर्ण नही हो पाया हैं।जब हमने इसकी हकीकत जाननी चाही तो पता चला सुमित्रा ने आवास पूर्ण न होने एवं फर्जी तरीके से पैसा आहरण करने की शिकायत पुलिस थाना खड़गवां में की हैं शियकत में साफ लिखा हैं । सुमित्रा का प्रधानमंत्री आवाज 2018 में सुकृति हुआ था जिसकी जानकारी रामकृपाल साहू के द्वारा सुमित्रा को दी गई थी रामकृपाल साहू ने सुमित्रा को बताया गया कि तुम विधवा हो कहां जाओगे और अपना आवास ठेके में मुझे दे दो मैं तुम्हारा आवाज बना दूंगा। फिर क्या था प्रथम किस्त 48 हजार रुपए रेत गिट्टी ईटा के लिए ले लिया । मकान निर्माण कर प्रारंभ कर दिया । जब अधूरा मकान बन गया तो दूसरी किस्त 48 हजार रुपये फिर से सुमित्रा के खाते से अंगूठा लगवा कर निकाल लिया । ऐसे में दो क़िस्त की रकम 96 हजार रुपए हितग्राही के खाते से आहरण किया गया है उसके बाद रामकृपाल साहू अधूरे मकान को छोड़कर चला गया। फिर हितग्राही सुमित्रा ने इसकी शिकायत खड़गवां जनपद सीईओ से की कोई पर कोई गरीब का अधिकारी सुनने वाला नहीं मिला तो सुमित्रा ने आवास बनाने वाले मिस्त्री राम कृपाल साहू के ऊपर खड़गवां थाना शिकायत दर्ज कराई है ।आरोप लगाया है कि उनके द्वारा पैसे का आहरण किया गया हैं पर यह एक जांच का विषय हैं अब पुलिस इस पूरे मामले की जांच में जुट गई हैं अब देखना यह होगा कि हितग्राही सुमित्रा को कब प्रधानमंत्री आवास पूरा हो पाता है या नहीं ।

गोधन न्याय योजना से प्राप्त गोबर से बनाई गई विश्वकर्मा जी की प्रतिमा

कोरिया जिले के मनेन्द्रगढ़ में विश्वकर्मा पूजा के शुभ अवसर मनेन्द्रगढ़ नगर पालिका जल गृह में निर्माण व सृजन के देवता भगवान विश्वकर्मा की प्रतिमा स्थापित कर पूजा अर्चना किया गया। आप को बता दे कि देव शिल्पी भगवान विश्वकर्मा की जयंती के अवसर पर नगर पालिका मनेन्द्रगढ़ में कार्यरत पीआईयू विक्रांत साहू द्वारा गोबर से तैयार कराया गया। छत्तीसगढ़ के मुखिया भूपेश बघेल के ड्रीम प्रोजेक्ट गोधन न्याय योजना से प्रदेश के किसानों को काफी लाभ मिल रहा है। साथ ही गोबर से बनी प्रतिमा पर्यावरण के अनुकूल है। भगवान विश्वकर्मा निर्माण व सृजन के देवता हैं,उन्हें विश्व निर्माता तथा देवताओं का वास्तुकार माना गया है।इसी कारण हम प्रति वर्ष जल गृह में विश्वकर्मा पूजा धूम धाम से मनाया जाता है,परंतु कोरोना काल के कारण सिमित सांख्य में सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुवे पूजा अर्चना किया गया। साथ ही प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की ड्रीम प्रोजेक्ट गोधन न्याय योजना से प्राप्त गोबर से विश्वकर्मा जी की प्रतिमा बनाई गयी है। जिसे लोग देखने के लिए आ रहे है ।

आबकारी विभाग की टीम ने 20 होटल-ढाबों में मारा छापा,मंत्री लखमा के निर्देश पर जारी रहेगी कार्यवाही

रायपुर:-लॉक डाउन समाप्ति के बाद प्रदेश में होटल और ढाबों का संचालन शुरू हो गया है। आबकरी मंत्री कवासी लखमा ने विभिन्न होटल और ढाबों में अवैध रूप से शराब की बिक्री और सेवन को रोकने के लिए सख्त निर्देश दिए हैं। आबकारी आयुक्त निरंजन दास और प्रबंध संचालक मार्केटिंग कारपोरेशन एपी त्रिपाठी के निर्देशन पर राज्य स्तरीय उड़नदस्ता, संभागीय उड़नदस्ता जिला रायपुर की टीमों ने 14 सितंबर को अनेक ढाबों और होटलों की जांच की। जांच टीमों ने सबेरा होटल सांकरा, मीनू ढाबा सिलतरा, राजस्थानी ढाबा धरसीवां, अन्नपूर्णा ढाबा सड्डू, जी अम्बे ढाबा सड्डू , हाईवे ढाबा भूमिया, न्यू उमेश ढाबा बेमता, ताज ढाबा बेमता, रॉयल ढाबा अवरेठी, ताज ढाबा सिमगा, बलबीर ढाबा, ग्रीन लाइट ढाबा, प्रिंस ढाबा, बंटी ढाबा, राजू ढाबा, अन्ना पंजाबी ढाबा, पिंटू ढाबा, होटल खानसामा रायपुर, फैमिली ढाबा,खाना-कोठी होटल सहित कुल 20 होटल व ढाबों की सोमवार रात जांच की। इस जांच का मुख्य उद्देश्य अवैध कारोबार न पनपने देने है। 20 स्थानों में जांच पर कहीं भी अवैध मदिरा का विक्रय अथवा सेवन का मामला सामने नहीं आया। केवल एक स्थान पर बैठ कर मदिरा सेवन की पुष्टि होने पर नियमानुसार कार्यवाही कर प्रकरण कायम किया गया। यह कार्यवाही निरंतर जारी रहेगी और अन्य स्थानों और जिलों पर भी जांच की जाएगी ताकि अवैध मदिरा का विक्रय और सेवन को रोका जा सके।

रेंजर रथ राम पटेल को शहीद का दर्जा देने की मांग, समाज ने लिखा मुख्यमंत्री को पत्र

मदन खांडेकर

गिधौरी/कुम्हारी:-मजदूरी भुगतान करने गए रेंजर रथ राम पटेल की नक्सलियों द्वारा हत्या का मरार पटेल समाज ने कड़ी निंदा की| समाज ने रेंजर को शहीद का दर्ज़ा देने और उनके आश्रितों को नौकरी देने की मांग की है| उसके लिए समाज ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को पत्र लिखा है |मरार पटेल हरदिहा समाज ने बताया की छत्तीसगढ़ के भैरमगढ़ थाना क्षेत्र अंतर्गत मजदूरी भुगतान करने गए रेंजर रथराम पटेल का नक्सलियों द्वारा कायरता पूर्ण निर्मम हत्या कर दी गई| नक्सलियों द्वारा की गई कायरता पर छत्तीसगढ़ प्रदेश मरार समाज द्वारा निंदा की गई है| मरार पटेल छत्तीसगढ़ के प्रदेश अध्यक्ष प्रेम लाल पटेल व कार्यकारी अध्यक्ष रामकुमार पटेल ने निंदा करते हुए कहा कि नक्सलियों द्वारा कायरता पूर्ण कर्मचारी की हत्या कर उनके परिवार अनाथ कर दिया उसकी जितना निंदा की जाए कम है| उन्होंने आगे कहा की बस्तर नक्सलवाद से पीड़ित हैं नक्सलियों द्वारा हिंसा का मार्ग अपनाने की वजह से आज भी सुंदर अंचलों में मूलभूत आवश्यकताओं को पहुंचाने के लिए संघर्ष करना पड़ रहा है निश्चित ही शांति की पहल होनी चाहिए| उन्होंने यह भी कहा की कर्मचारियों के हत्या से स्पष्ट हो गया है की नक्सली सिद्धांत विहीन लुटेरे हैं नक्सली ऐसी कायरता पूर्ण हरकत कर जंगलों में सेवाएं देने वाले अफसरों का मनोबल तोड़ने का काम करती है। छत्तीसगढ़ मरार पटेल हरदिहा समाज ने शासन से मृत अधिकारी को शहीद का दर्जा देते हुए परिवार को ₹5000000 की आर्थिक सहायता व उसके बच्चे को रेंजर की नौकरी शासकीय प्रदान करने की मांग की है इस हत्या की निंदा प्रदेश के सभी क्षेत्र सामाजिक बंधुओं द्वारा की जा रही है और उस परिवार को शासन की सुरक्षा व्यवस्था की जाने की निवेदन किया गया है इस हत्या की घोर निंदा प्रेम लाल पटेल प्रदेश अध्यक्ष रामकुमार पटेल प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष गीता राम पटेल प्रदेश उपाध्यक्ष सनत कुमार पटेल प्रदेश महासचिव पुरुषोत्तम पटेल प्रदेश कोषाध्यक्ष दुर्गा प्रसाद पटेल प्रदेश संरक्षक प्रमोद कुमार पटेल प्रदेश अध्यक्ष युवा प्रकोष्ठ एवं समस्त नवराज के पदाधिकारी व समस्त छत्तीसगढ़ हरदिहा मरार पटेल समाज के सोजाती बंधुओं द्वारा घोर निंदा की गई है।

नलजल योजना के तहत गिधौरी और बलौदा मे बनेंगे पानी टंकी

मदन खांडेकर

गिधौरी/टुण्डरा:-जिला बलौदाबाजार के कसडोल विकास खंड के अंतर्गत ग्राम पंचायत गिधौरी एवं बलौदा मे नल जल योजना और पानी टंकी निर्माण कार्य की स्वीकृति होने पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल एवं लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी एवं ग्रामोद्योग विभाग मंत्री रूद्र कुमार गुरु एवं रवि परसराम भारद्वाज तथा संसदीय सचिव चंद्रदेवराय ।का गिधौरी एवं बलौदा वासियों ने बहुत बहुत शुभकामनाएं और बधाई देते अभार व्यक्त किया गया ।ग्राम पंचायत गिधौरी और बलौदा पंचायत के लिये नल जल योजना व पानी टंकी निर्माण के लिये रवि परसराम भारद्वाज ने पत्र के माध्यम से लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी एवं ग्रामोद्योग मंत्री जी रुद्र कुमार को अवगत कराया गया था मंत्री जी पत्र क्र.271लो.स्वा.यां.ग्रामो.वि.2020रायपुर दिनांक22/08/2020को सचिव छत्तीसगढ़ शासन लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग मंत्रालय महानदी भवन नवा रायपुर प्रेषित किया था जिसपर गिधौरी और बलौदा मे नल जल एवं पानी टंकी निर्माण स्वीकृति के सम्बंध मे सर्वोच्च प्राथमिकता से कार्यवाही करने हेतु निर्देशित किया गया है जनपद सदस्य गिधौरी दुखीन बाई ,सुखीराम वर्मा , ग्राम पंचायत गिधौरी तथा ग्राम पंचायत बलौदा के जनप्रतिनिधियों नेआभार वक्त किया ।

छत्तीसगढ़ प्रदेश कर्मचारी संघ ने छत्तीसगढ़ की जनता के नाम दिया मार्मिक संदेश

मदन खांडेकर

हेमन्त कुमार सिन्हा छत्तीसगढ़ एन. एच. एम. के अध्यक्ष ने पत्र जारी कर नियमित करने की मांग की

गिधौरी/टुण्डरा:-छत्तीसगढ़ में कार्यरत 13000 राष्ट्रीय स्वास्थ्य एन.एम.एच मिशन (एनएचएम) एवं एड्स नियंत्रण कार्यक्रम के कर्मचारियों ने प्रदेश की ढाई करोड़ जनता के नाम एक पत्र जारी कर मार्मिक संदेश देते हुए दिनांक 19.9.2020 से अनिश्चितकालीन आंदोलन में जाने के कारण होने वाली दिक्कतों के लिए क्षमा मांगी है। छत्तीसगढ़ प्रदेश एन एच एम कर्मचारी संघ ने छत्तीसगढ़ की जनता के नाम दिया।

छत्तीसगढ़ एन. एच. एम. कर्मचारी संघ के अध्यक्ष हेमंत कुमार सिन्हा ने पत्र जारी कर प्रदेश सरकार से जल्द नियमितीकरण करने की मांग की है। कर्मचारियों से प्राप्त जानकारी के मुताबिक छत्तीसगढ़ सरकार ने 2018 में चुनाव के पूर्व अपने घोषणा पत्र में प्रदेश के संविदा कर्मियों के नियमितिकरण की बात कही थी तथा प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इस बात को बार बार कर्मचारियों को कहा था तथा स्वास्थ्य मंत्री टी एस सिंहदेव ने भी कहाँ था कि कर्मचारी आंदोलन में उपस्थित होकर सरकार बनने के 10 दिन के भीतर नियमितिकरण की बात कही थी । इस कोरोना काल मे जहां शिक्षाकर्मियों को 2 वर्षो में संविलियन का उपहार सरकार ने दिया वही 13000 कोरोना योद्धाओं को सिर्फ कागजों में सम्मानित करने का कार्य किया है। और प्रदेश सरकार ने नियमितिकरण के सम्बंध में आज तक एक पहल भी नही की है, आज की स्थिति में हम लोगो ने अपने जान के परवाह किये बिना कार्य कर रहे है। इसलिए एनएचएम कर्मचारियों में घोर निराशा एवं मानसिक तनाव उत्त्पन्न हो रहा है। बहुत से जगहों पर हमारे कर्मचारी गुजर रहे है।अवगत हो कि इन संविदा कर्मचारियों का भविष्य हर समय अधर में लटका रहता है । जब चाहे तब आला अधिकारियों के द्वारा इन्हें निकाल दिया जाता है एवं लगातार इन्हें इसी बात का डर दिखाया जाता है कि तुम कर्मचारी संविदा हो हम जब चाहे तब तुम्हें निकाल सकते है । ऐसे में प्रदेश की 13000 संविदा कर्मचारी अपने जॉब की सिक्योरिटी और नियमितिकरण चाहते है। जिसके लिए वे छत्तीसगढ़ की ढाई करोड़ जनता से माफी मांगते हुए हड़ताल में जा रहे है। जिससे कहि न कहि इसमें दोष सत्तासीन सरकार एवं नियम कानून बनाने वाले प्रशासनिक अधिकारियों का है जो जरूरत के समय नियुक्तियां तो कर देते है लेकिन अपने ही कर्मचारियों के भविष्य के बारे में सोचना नही चाहते। जिससे ये कर्मचारी अब आर पार के लड़ाई के मूड में है। अब देखना होगा जहां छत्तीसगढ़ कोविड सकारात्मक प्रकरणों के मामले में जहां जनसंख्या की तुलना में देश मे 7 वे स्थान पर है और लगातार कोरोना से मृत्यु भी हो रही है तो क्या सरकार इनके नियमितिकरण की घोषणा 18 सितम्बर तक करती है नही ये तो देखने वाली बात होगी कर्मचारी संघ के अध्यक्ष हेमंत कुमार सिन्हा और साथी कर्मचारी राजेश, नरेंद्र, अजेंद्र,(लैब टेक्नीशियन) प्रतिभा बंजारे, अंजली, विनीता , (स्टाफ नर्स) कमल किशोर, हरी, जीवन ,समस्त संविदा स्वास्थ विभाग कसडोल ने बताया गया की अब देखना होगा। जहां छत्तीसगढ़ में कोविड सकारात्मक प्रकरणों के मामले में जहां जनसंख्या की तुलना में देश मे 7 वे स्थान पर है और लगातार कोरोना से मृत्यु भी हो रही है तो क्या सरकार इनके नियमितिकरण की घोषणा 18 सितम्बर तक करती है या नही या प्रदेश सरकार इस कोरोना काल मे भी अपने अड़ियल रवैये पे कायम रहेंगे।

माओवादियों की विकास विरोधी चेहरा को उजागर करने के लिए बस्तर पुलिस ने छेड़ा प्रति प्रचार युद्ध

बस्तर:-छत्तीसगढ़ राज्य गठन के पश्चात् जनसहयोग से नक्सल आतंक को समाप्त करना बस्तर पुलिस की सर्वोत्तम प्राथमिकता रहा। कुछ महिनों से बस्तर स्थानीय पुलिस बल एवं केन्द्रीय सुरक्षाबलों द्वारा माओवादियों के आतंक के विरूद्ध यह लड़ाई निर्णायक मोड़ पर पहुंच गई है। शासन की माओवादियों के हिंसा के विरूद्ध ‘‘विश्वास-विकास-सुरक्षा’’ के त्रिवेणी कार्ययोजना की सकारात्मक परिणाम देखने को मिल रहा है।

पुलिस महानिरीक्षक, बस्तर रेंज श्री सुंदरराज पी. का मानना है कि नक्सली के विरूद्ध अंदरूनी क्षेत्र में की जा रही प्रभावी नक्सल विरोधी अभियान के साथ-साथ माओवादियों की विकास विरोधी एवं जनविरोधी चेहरा को उजागर करना अत्यंत आवष्यक है। इसी उद्देश्य से माओवादियों के विरूद्ध प्रति प्रचार युद्ध (Psyops/Propaganda War)जारी की जा रही है।

बैनर, पोस्टर, लघु चलचित्र, ऑडियों क्लिप, नाच-गाना, गीत-संगीत एवं अन्य प्रचार प्रसार के माध्यम से माओवादियों की काला कारनामों को उजागर किया जायेगा। स्थानीय गोंडी भाषा ‘‘बस्तर त माटा’’ एवं हल्बी भाषा में ‘‘बस्तर चो आवाज’’ के नाम से प्रारंभ की जा रही यह अभियान के माध्यम बस्तरवासियों की विचारों को बाहर के दुनिया तक पहुंचाया जाएगा।

पुलिस महानिरीक्षक, बस्तर रेंज ने कहा कि इस अभियान के माध्यम से स्थानीय नक्सल मिलिशिया कैडर्स एवं नक्सल सहयोगियों को हिंसा त्याग कर समाज की मुख्यधारा में शामिल होने के लिए आत्मसमर्पण हेतु प्रेरित करेगा।

राज्य भर में जून महीने से अब तक 1126.8 मि.मी. वर्षा दर्ज

रायपुर:-राज्य भर में जून महीने से अब तक 1126.8 मि.मी. वर्षा दर्ज हुई है। कंट्रोल रूम के मुताबिक 1 जून से अब तक कुल 1126.8 मि.मी. औसत वर्षा दर्ज की जा चुकी है। प्रदेश में सर्वाधिक बीजापुर जिले में 2208.1 मि.मी. और सबसे कम सरगुजा में 767.0 मि.मी. औसत वर्षा अब तक रिकार्ड की गई है। राज्य स्तरीय बाढ़ नियंत्रण कक्ष से मिली जानकारी के अनुसार एक जून से अब तक सूरजपुर में 1241.0 मि.मी., बलरामपुर में 1032.1 मि.मी., जशपुर में 1199.6 मि.मी., कोरिया में 973.7 मि.मी., रायपुर में 989.9 मि.मी., बलौदाबाजार में 988.9 मि.मी., गरियाबंद में 1086.5 मि.मी., महासमुन्द में 1190.3 मि.मी., धमतरी में 1035.4 मि.मी., बिलासपुर में 1163.0 मि.मी., मुंगेली में 793.0 मिमी, रायगढ़ में 1113.7 मि.मी., जांजगीर-चांपा में 1181.7 मि.मी. तथा कोरबा में 1249.4 मि.मी. औसत वर्षा दर्ज की गई है। इसी प्रकार गौरेला-पेन्ड्रा-मरवाही में 931.0 मि.मी., दुर्ग में 946.1 मि.मी., कबीरधाम में 842.7 मि.मी., राजनांदगांव में 868.9 मि.मी., बालोद में 979.8 मि.मी., बेमेतरा में 981.6 मि.मी., बस्तर में 1271.0 मि.मी., कोण्डागांव में 1392.2 मि.मी., कांकेर में 965.2 मि.मी., नारायणपुर में 1289.2 मि.मी., दंतेवाड़ा में 1474.9 मि.मी. और सुकमा में 1394.8 औसत दर्ज की गई है। राज्य स्तरीय बाढ़ नियंत्रण कक्ष की ओर से संकलित की गई जानकारी के अनुसार प्रदेश के विभिन्न जिलों में आज 15 सितम्बर को सुबह रिकार्ड की गई वर्षा के अनुसार सूरजपुर में 0.8 मि.मी., बलरामपुर में 5.1 मि.मी., कोरिया में 0.5 मि.मी., गरियाबंद में 8.6 मि.मी., राजनांदगांव में 0.2 मि.मी., बस्तर में 4.1 मि.मी., कोण्डागांव में 0.5 मि.मी., कांकेर में 0.2 मि.मी., नारायणपुर 0.7 मि.मी., दंतेवाड़ा में 7.3 मि.मी., सुकमा में 18.3 मि.मी. और बीजापुर में 3.3 मि.मी., औसत वर्षा दर्ज की गई।

एक जंगली भालू चिरमिरी के रिहायशी इलाके में घुस कर मचा रहा आतंक,सीसीटीवी कैमरे में कैद हुआ भालू का आतंक

कोरिया:-जिले के नगर निगम चिरमिरी क्षेत्र हल्दीबाड़ी शहर में जंगली भालू का आतंक जारी है ।आपको बता दें बीती रात लगभग 11:30 बजे हल्दीबाड़ी नाहर राय पेट्रोल पंप पर जब रात मैं गार्ड अपनी ड्यूटी कर रहा था उसी वक्त एक जंगली भालू अचानक गार्ड पर हमला कर दिया । सीसीटीवी कैमरे में कैद हुआ भालू का आतंक ।सीसीटीवी कैमरे में दिख रहा है जब गार्ड अपनी जान बचा कर भाग रहा था उसी दौरान भालू ने पीछे से हमला कर दिया और गार्ड को घायल कर दिया भालू शहर की तरफ चला गया। और वही युवक घर से बाहर बाथरूम के लिए निकला था उसी दौरान भालू ने उसे भी घायल कर दिया ।इस तरह 3 लोग घायल कर दिया। इसकी सूचना वन विभाग को दी गई सूचना मिलने पर चिरमिरी रेंजर एसडी सिंह अपनी वन विभाग की टीम के साथ मौके पर पहुंचे गये और शहर से जंगली भालू को जंगल की तरफ भगा दिया गया । और लोगों से अपील की गई घरों से ज्यादा रात में ना निकले क्योंकि अब जंगली भालू शहर की और बढ़ रहे हैं । फिलहाल तीनों घायलों को चिरमिरी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में इलाज के लिये एडमिट कराया गया है ।जिसमें से एक व्यक्ति को प्राथमिक उपचार देकर छुट्टी कर दिया गया है ।

समस्याओं का निराकरण के लिए जनता ने जन प्रतिनिधि चुना है प्रबंधक नही-शाहिद महमूद

जनता कांग्रेस के संस्थापक सदस्य ने पूछे विधायक से सवाल

चिरमिरी:-चिरमिरी के वर्तमान जलसंकट पर पिछले दिनों हुई घटनाक्रम पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुवे जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़(जे)के संस्थापक एवं कोर कमेटी के सदस्य शाहिद महमूद ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर बताया कि विधायक जी माना कि कुरासिया अंडरग्राउंड खदान में अति वृष्टि,मोटर डूबने तथा क्षमता से ज्यादा पानी भरने के कारण जहां खदान का काम बंद हो गया वहीं कॉलोनियों में वाटर सप्लाई भी प्रभावित हुआ लेकिन चिरमिरि नगर निगम के कुरासिया के 7 वार्डों के निवासी या मतदाता जल संकट से जब घिरे थे तब ऐसी स्थिति में एसईसीएल के कमजोर पड़ने पर क्या नगर पालिक निगम चिरमिरी के अपंग या सूरदास बने रहना उचित या सही था? यह सवाल आज जनमानस में खड़ा हुआ है, भरपूर संसाधन तथा लगभग 35 पानी टैंकरों से सुसज्जित नगर निगम चिरमिरि होने के बावजूद भी उसे छोड़कर आपके द्वारा एसईसीएल पर दबाव बनाना कहीं किसी गलत नीति या स्वार्थ से प्रेरित कोई योजना तो नहीं है?सस्ती लोकप्रियता प्राप्त करने का कोई इवेंट तो नहीं था?जो सार्वजनिक हो गया,और जनता जान गई,दिन में जी एम के बंगले के नल काट कर रात के अंधेर में ऑफिसर एसोसिएशन के पास बिना समर्थकों के चुप चाप जाना कौन सी मजबूरी थी,ये सब सार्वजनिक होने के बाद अब कुछ बताने को नही रह गया है,, सवाल यह उठता है कि विधायक जी एसईसीएल पर लगातार दबाव बनाने में अपना समय व्यर्थ करते रहे, वहीं अगर सच्चे और निःस्वार्थ रूप से एक बार भी निगम चिरमिरी आयुक्त या चिरमिरी महापौर को फोन कर देते तो निगम के लगभग 35 पानी टैंकरों से कुरासिया में पानी लबालब हो जाता और फिर कुरासिया के सातों वार्डों मरीन पानी सुचारू रूप से चालू हो जाता, एसईसीएल के टैंकरों की ज़रूरत ही नहीं पड़ती वही जब सुबह चाय की चुस्की का दिखावा जब आप कर रहे थे उसी समय पानी वाले बाबा के नाम से ख्याति प्राप्त समाज सेवक लखन श्रीवास्तव मनेंद्रगढ़ वाले अपने निजी पानी के टैंकरों से क्षेत्र के लोगों के सूखे कंठ को तरल करने का निस्वार्थ कार्य कर रहे थे, यहां तक कि लखन लाल के टैंकरों ने तो आपके घर के करीब तक जाकर आपके वार्ड में भी जहां महापौर,विधायक दोनों रहते हैं वहां के लोगों को भी पानी उपलब्ध कराया है। जिससे हमारे साथ जनमानस यह जानने को उत्सुक है कि निगम चिरमिरी में आपकी धर्मपत्नी के महापौर जी रहते हुए भी आपने निगम चिरमिरी को पूरी तरह जल प्रदाय में सक्रिय क्यों क्यों नहीं किया ?जबकि ये आपका और महापौर जी का जनता के प्रति नैतिक दायित्व है, अगर आपकी सोच यह रही कि लोगों की परेशानियों और जल संकट अवगत कराने के लिए जीएम चिरमिरी के घर का पाइप काटना जरूरी था तो फिर आपने निगम चिरमिरी को जगाने के लिए निगम महापौर श्रीमती कंचन जायसवाल व निगमायुक्त के घरों का पाइप लाइन क्यों नहीं काटा?अच्छा तो तब लगता जब आप इस ज्वलंत मुद्दे पर सबसे पहले निगम प्रशासन से कुरासिया के पानी टंकी में पानी उपलब्ध कराते,क्योंकि पार्षद,महापौर,विधायक सहित मुख्यमंत्री भी आपके है,उसके बाद भी इतना असहाय क्यों हो गए आप,क्योंकि समस्याओं के निराकरण के लिए जनता ने जन प्रतिनिधि चुना है,किसी कंपनी के प्रबंधक को नहीं,कंपनी के लिए उनके ट्रेड यूनियन है,और उनका अलग फोरम है,ऐसा प्रतीत होता है एसईसीएल के श्रम संगठनों व उनकी सक्रियता पर आप विश्वास नहीं करते हैं,कहीं इन संगठनों के कॉमर्शियल माइनिंग के विरोध प्रदर्शन में आपका आना मात्र राजनैतिक तो नहीं था? श्रम संगठनों के बारे में आपकी राय क्या है?अब यह जनमानस के लिए जानना जरूरी हो गया है क्योंकि यदि अब प्रबुद्ध नागरिकों की मानें तो आप संवैधानिक आंदोलनों को छोड़कर सस्ती लोकप्रियता पाने के लिए जानबूझकर इवेंट करते नजर आते हैं जिससे समस्याओं का अंत नहीं होने वाला बल्कि इससे क्षेत्र का विकास ही रुकेगा,आपके ही पार्टी के पूर्व महापौर के द्वारा तथाकथित रोड सेल से वसूली का मामला उठाया था इस मामले में आपकी चुप्पी विभिन्न संदेहों को जन्म देती है।

जिला चिकित्सालय का दंत रोग विभाग लोगों को फिर से लौटा रहा है उनके चेहरे पर मुस्कान- बीजापुर

बीजापुर - जिला चिकित्सालय के दंत चिकित्सा विभाग द्वारा मरीजों को इस कोरोना काल में भी बेहतर सुविधाएं उपलब्ध करायी जा रही है। खासकर ऐसे मरीज जिनका रोड एक्सीडेंट से चेहरे की स्थिति क्षतिग्रस्त हो चुके है, जबड़े एवं दांत टूट गये हो उनका ऑपरेशन आईएमएफटी कर क्षतिग्रस्त जबड़ों का बेहतर ईलाज कर पुनः पहले जैसे चेहरे में मुस्कान लाने का कार्य बहुत ही गंभीरता के साथ किया जा रहा है। मरीज संतोष मानेर ने बताया कि वह भोपालपटनम का निवासी है जिनका रोड एक्सीडेंट दो माह पूर्व मोदकपाल के पास हो गया था जिनके परिजनों ने जिला अस्पताल बीजापुर में भर्ती कराया। एक्सीडेंट के दौरान संतोष का जबड़ा बुरी तरह से टूट चुका था। जिसके वजह से कुछ दांत भी टूट गया। चेहरे की स्थिति भी क्षतिग्रस्त हो चुका था। ऐसे में डाॅ. मनोज लम्बाड़ी बीडीएस ने संतोष का ईलाज किया एवं ऑपरेशन आईएमएफटी कर उसके जबड़े को पुनः पहले जैसे व्यवस्थित किया। संतोष ने बताया कि मेरा जबड़ा पहले जैसे हो गया है मैं नहीं सोचा था कि एक्सीडेंट के बाद जिस तरह से चोट मेरे चेहरे पर लगा है, वह पुनः ठीक हो जायेगा। लेकिन डाॅक्टर्स एवं स्वास्थ्य कर्मी के मेहनत एवं लगन से मेरा जबड़ा पूरी तरह ठीक हो चुका है। खाने-पीने एवं बातचीत करने में किसी भी प्रकार की कोई समस्या नहीं है।

डाॅ. मनोज लम्बाड़ी ने बताया कि मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. पुजारी के दिशा-निर्देश में इस तरह के लगभग 29 प्रकरणों का जिला चिकित्सालय में सफल ऑपरेशन आईएमएफटी एवं उपचार कर मरीजों को बेहतर सुविधा उपलब्ध कराया गया है। कई मरीजों का ऊपर एवं नीचे का जबड़ा बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो चुका था जो अब सफल ऑपरेशन एवं उपचार के बाद पुनः पहले जैसे हो चुका है, वे खान-पान एवं बातचीत करने में सक्षम है। उनको दांत एवं जबड़े सम्बन्धी कोई समस्या नहीं है। इसी तरह नवजात शिशु जन्म के समय जिनका मुंह, नांक, होठ विकृत अवस्था में होता है जिस वजह से शिशु को स्तनपान में कठिनाई आती है, ऐसे 4 प्रकरण जिनको नेजोएलवीलर प्लेट लगाया गया। जिस प्लेट के माध्यम से नवजात शिशु को स्तनपान में सहयोग मिलता है। ऐसे बच्चों का 6 माह उपरांत ऑपरेशन कर उनके विकृत चेहरे को ठीक किया जाता है। दो माह पूर्व भैरमगढ़ निवासी दम्पत्ति का नवजात शिशु में यह लक्षण दिखा जिनका चेहरा नाक, मुंह, होठ विकृत अवस्था में था स्तनपान करने में सक्षम नहीं थी उसको नेजोएलवीलर प्लेट लगाया गया। जिससे वह आसानी से स्तनपान कर रही है। उस बच्ची का 6 माह पूर्ण होने के पश्चात ऑपरेशन कर उसके चेहरे की विकृति को सुधारा जाएगा।

कार - बाईक की भिडंत , बाईक सवार की मौत ।

गिधौरी/टुण्डरा ।कार और बाईक की भिडंत से फिर बाईक सवार की मौत होने का मामला प्रकाश मे आया है ।नरधा निवासी बाईक क्र.सीजी 04के ई5601एन एक्स जी ।मे तीन लोग किसी काम से  शनिवार कसडोल कटगी गया हुआ था जब वापस अपने गृह ग्राम नरधा जा रहे थे तो ग्राम मडवा मे मडवा चौक पर गांव मडवा की  लाल कलर की कार क्र सीजी 04 के जे 2727ने तेजरफ्तार से बाईक को जबरदस्त मारी टोकर जिससे कार एवं बाईक पुल पर जा घुसा और बाईक  सवार तीन लोग  सवार चालक लतेल खुटे पिता फिरत राम खुटे 57वर्ष को चोटे आया तथा बीच बैठे साखीराम खाण्डेकर पिता गौतम खाण्डेकर 60 वर्ष की घटना स्थल पर मौत हो गई तथा तीसरा का  बुठालु उर्फ हजारी खाण्डेकर पिता बोधन खाण्डेकर 45वर्ष व्यक्ति की हालत ठीक बताया जा रहा है । कार चालक फरार है   गिरौदपुरी पुलिस अपराध क्र 212धारा 279 .337.304.ए के तहत मामला पंजीबद्ध कर जांच मे जुटे हुये है ।

अवैध रेत भण्डारण पर प्रशासन की बड़ी कार्रवाई,1जेसीबी सहित 21वाहन ज़ब्त

 

पकड़ी गई 85 घन मीटर अवैध रूप से भंडारित रेत एवं 1 टैक्टर चूना पत्थर

गिधौरी/टुण्डरा ।कलेक्टर श्री  सुनील कुमार जैन के निर्देश पर जिले में अवैध रेत परिवहन के मामलों में तेज़ी से कार्रवाई की जा रही है। अवैध रेत खनन और भंडारण के विरुद्ध प्रशासन द्वारा सख्त कार्रवाई की गई। कल एवं आज सुबह खनिज विभाग द्वारा जोक नदी किनारे बसे ग्राम हसुवा,बलौदा एवं रामपुर कोट अवैध रेत घाटों से रेत परिवहन के खिलाफ जब्ती और जुर्माने की कार्रवाई किया गया है। जिसमें 8  टैक्टर एवं 4 डालाबाड़ी हाइवा शामिल है। यहाँ पर जोक नदी से रेत खोदकर लगभग 85 घन मीटर अवैध रूप से भंडारित रेत जब्त की है। उसी तरह बलौदाबाजार विकासखण्ड के अंतर्गत ग्राम सोनपुरी में सुबह सुबह अवैध मुरम खदान से मुरम का परिवहन  करते पाया गया। जिस पर मौके से 6 हाईवा गाड़ी भंडारित मुरूम सहित एक जेसीबी गाड़ी को जब्त कर जुर्माने की कार्रवाई की गई है। इसके साथ ही एक ट्रैक्टर चुना पत्थर एवं एक ट्रैक्टर ट्राली ईट सहित जब्त किया गया है।सहायक खनिज अधिकारी ने बबूल पांडेय एवं किशोर बंजारे के नेतृत्व में उक्त कार्रवाई किया गया है। पांडेय ने बताया कि सभी कार्रवाई छत्तीसगढ़ गौण खनिज नियम 2015 एवं एमएमडीआर एक्ट 1957 की धारा 21 से 23 के अंतर्गत किया गया है।कलेक्टर श्री सुनील कुमार जैन ने जिले में रेत के अवैध कारोबार के मामले में अधिकारियों को कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश जारी किए हैं। अवैध रेत के भंडारण,अनुमति और उत्खनन,परिवहन के साथ-साथ रॉयल्टी पर्ची आदि सभी दस्तावेजों के परीक्षण करने के निर्देश भी दिए हैं। 
श्री जैन ने कहा है कि ऐसी कार्रवाईयां आगे भी जारी रहेंगी। अवैध रेत खनन व धंधा करने वालों पर प्रशासन की पैनी नजर है और ऐसे अवैध धंधे करते पकड़े जाने पर सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी।

ऐतिहासिक पहाड़ी मंदिर, नारायणपुर की गाथा ऐसा ऐतिहासिक मंदिर जिसका पुलिस विभाग कर रहा है जीर्णोद्धार और सौन्दर्यीकरण।


 

नारायणपुर ऐतिहासिक पहाड़ी मंदिर, यहां माता दंतेश्वरी देवी निवास करती हैं, पहाडी मंदिर जिला मुख्यालय, नारायणपुर में स्थिति अकेला प्रमुख धार्मिक स्थल है। यह मंदिर नारायणपुर से कुकराझोर मार्ग में कुम्हारपारा के पास ही उंचे पहाड़ी में स्थित है। चूंकि कुम्हारपारा में ही रक्षित केन्द्र स्थित है इसलिए पुलिस विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों विशेषकर पुलिस अधीक्षक और रक्षित निरीक्षकों ने समय-समय पर अपना अमूल्य योगदान देते हुए लगभग अपनी पहचान खो चूके ऐतिहासिक मंदिर का जिर्णोद्धार कराया। यह मंदिर कई दशकों से स्थित है जो अपने आप में दर्शनिक व प्राकृतिक सौन्दर्य का केंद्र बना हुआ है, नवरात्रि एवं महाशिवरात्रि जैसे पर्व के अलावा भी प्रतिदिन श्रद्धालुओं का आवागमन लगा रहता है। 

उल्लेखनीय है कि सर्वप्रथम रक्षित निरीक्षक  एस.एस. विंध्यराज द्वारा तात्कालीन पुलिस अधीक्षक  राहूल भगत और पुलिस अधीक्षक  मयंक श्रीवास्तव के मार्गदर्शन में अपने कार्यकाल में रक्षित केन्द्र में तैनात पुलिस अधिकारी/कर्मचारियों के सहयोग से वर्ष 2008-2013 के मध्य पहली बार मंदिर के जिर्णोद्धार का कार्य प्रारंभ करते हुए सीढ़ियों में स्टील की रेलिंग, हनुमान जी की मंदिर और जल आपूर्ति हेतु बोरिंग, मोटर और पानी की टंकी इत्यादि का निर्माण कराया था। उसके बाद से निरंतर रक्षित केन्द्र, नारायणपुर के अधिकारी/कर्मचारियों द्वारा समय समय पर छोटी-बडी निर्माण कार्य करवाया जाता रहा है।  

हाल ही में, कोरोना महामारी के दौरान पुलिस अधीक्षक श्री मोहित गर्ग की अध्यक्षता में गठित करूणा फाउण्डेशन के सहयोग एवं मार्गदर्शन में रक्षित निरीक्षक श्री दीपक साव के नेतृत्व में करूणा फाउण्डेशन तथा रक्षित केन्द्र नारायणपुर के अधिकारी/कर्मचारियों के सहयोग से पुनः ऐतिहासिक पहाड़ी मंदिर के सौन्दर्यीकरण का कार्य किया गया है। इसके तहत् पहाड़ी मंदिर प्रांगण में पुराने कलस की साफ सफाई कर रंगों से कलाकृति फ्लॉवर पॉट गमला बनाया गया, रेलिंग, टाइल्स, हवन यज्ञ तैयार किया गया तथा जिर्णोद्धार, सौदर्यीकरण, प्लांटेशन, पत्थरों में चित्रकारिता एवं साज सज्जा के साथ सेल्फी पॉइंट तैयार किया गया, 5नए स्थायी कूड़ादान तैयार कराया गया तथा यात्री प्रतीक्षालय का मरम्मत कार्य व पहाडी मंदिर में टीन शेड का निर्माण भी कराया गया है। करूणा फाउण्डेशन के उपाध्यक्ष श्री रोहित साव के द्वारा हाल ही में 4 अगस्त 2020 को पहाडी मंदिर में राम दरबार की स्थापना भी कराया गया है।