बड़ी खबर

जोगी परिवार की मुश्किलें बढ़ी। अमित जोगी की हुई गिरफ्तारी।...पढ़े पूरी खबर

A REPORT BY अजीत मिश्रा

0 समीरा पैकरा की रिपोर्ट पर हुई गिरफ्तारी।

0 चुनाव के नामांकन में दी थी गलत जानकारी।

0 अमित जोगी को लेजाया गया पेण्ड्रा पुलिस थाने।

0 मेडिकल कराने के बाद कोर्ट में करेंगे पेश।

0 गौरेला पुलिस थाने के बाहर सैकड़ों जोगी समर्थक।

जोगी परिवार की मुसीबतें लगातार बढ़ने लगी है।। और आखिरकार सुबह-सुबह तकरीबन 8:00 बजे अमित जोगी की गिरफ्तारी हो गई। अचानक मरवाही पुलिस लोकल पुलिस के साथ मिलकर विधायक अमित जोगी के निवास मरवाही सदन बिलासपुर पहुंची और इस बीच किसी को इसकी भनक तक नहीं लगती। पुलिस ने तत्काल अमित जोगी को गिरफ्तार कर लिया गया। क्योंकि जूनियर जोगी ने चुनाव नामांकन पत्र में गलत जानकारी भरी थी। मामला 420 का था लिहाजा काफी छानबीन और राजनीतिक दबाव के बीच पुलिस ने आखिरकार अमित जोगी को गिरफ्तार कर लिया है।  छत्तीसगढ़ के पेंड्रा थाने में दर्ज पूर्व विधायक अमित जोगी के खिलाफ 420 के मामले में पुलिस अमित जोगी को गिरफ़्तार करने बिलासपुर स्थित मरवाही सदन पहुँची,जहाँ से उन्हे हिरासत में ले लिया गया है।पेंड्रा में दर्ज कराए समीरा पैकरा के द्वारा मामले में यह आरोप लगाया गया था कि अमित जोगी ने निर्वाचन के हलफ़नामे में गलत जानकारी दी है। इस मामले में प्रकरण हाईकोर्ट भी गया था जहाँ से अमित जोगी को राहत मिली थी। अमित जोगी के खिलाफ दर्ज अपराध में कार्यवाही को लेकर विधानसभा प्रत्याशी रही समीरा पैकरा ने थाने में देर रात तक प्रदर्शन किया था। इस मामले में बहरहाल अमित जोगी गिरफ़्तार हो चुके हैं। अमित जोगी को अब गौरेला ले जाया जाएगा, और आज ही उन्हे न्यायालय में पेश किया जाएगा। इस पूरे मामले में अमित जोगी के वकील राहुल त्यागी ने स्पष्ट किया कि उनकी गिरफ्तारी को लेकर उन्हें कोई सूचना नहीं दी गई थी एक जनप्रतिनिधि और विधायक को इस तरह से गिरफ्तार करना और किसी की गैरमौजूदगी में इस तरह की पुलिसिया कार्रवाई उनके समझ से परे है हालांकि उनके वकील होने के नाते राहुल त्यागी जल्द ही इसकी कानूनी उपचार में जुड़ जाएंगे।    गौरतलब है कि, अमित जोगी के खिलाफ यह FIR इसी वर्ष 2019/ फ़रवरी में दर्ज की गई थी। FIR में आरोप है कि अमित जोगी ने निर्वाचन को जन्म स्थान और जन्म तिथि को लेकर गलत जानकारी दी थी।  अमित जोगी की पैदाइश अमेरिका की है जबकि उन्होंने अपने नामांकन में एंड राजस्थानी गाँव को अपना जन्म स्थल बताया था।

छत्तीसगढ़ के बस्तर में काफ़ी लबे समय से बंद पड़े हवाई यात्रा 15 अक्टूबर के बाद से फिर से हो सकती है आरंभ

जगदलपुर (शैलेश गुप्ता)। बंद पड़े हवाई अड्डे को आरंभ करवाने के लिए बस्तर सांसद दीपक बैज लगातार प्रयत्न शील रहे हैं, जिसका ही परिणाम हैकि बस्तर के लोग फिर से हवाई यात्रा का लाभ ले सकेंगे। आपको बतादेकि बस्तर के युवा सांसद दीपक बैज जगदलपुर हवाई अड्डे से विमान सेवाएं पुनः आरम्भ करने के संबंध में 24 जुलाई को लोकसभा में शून्यकाल के दौरान प्रश्न उठाया गया था। नतीज़ा यह हुआ कि अब शासन – प्रशासन ने सांसद के प्रश्नों को गंभीरता से लेते हुए सकारात्मक प्रतिक्रिया देने लगी है, और अब मैसर्स एयरलाइन एलायड सर्विसेज लिमिटेड को जो हैदराबाद - जगदलपुर, रायपुर - जगदलपुर, हैदराबाद - मैसूर तक नेटवर्क प्रदान किया गया है।

5 लाख के इनामी घायल नक्सली को जवानों ने पहुंचाया अस्पताल

Danteshwar kumar (chintu) दन्तेवाड़ा:- दंतेवाडा में नक्‍सल मोर्चे पर बेहतर काम रही पुलिस का मानवीय चेहरा एक बार फिर सामने आया है। दंतेवाडा सुकमा के सरहदी इलाके नागलगुडा गांव में घायल नक्‍सली को जवान अपने साथ अस्‍पताल लाये और इसका इलाज कराया। नक्‍सली मडकम भीमा उस वक्‍त घायल हुआ जब ये जवानों को नुकसान पहुंचाने के लिये अन्‍य नक्‍सलियों के साथ गढ्ढों में सरिया लगाने आया था। इसी दौरान ये खुद ही स्पाईक होल की चपेट में आ गया। इसके घायल होने के बाद इसके साथी इसे छोडकर भाग गये। इसके बाद वो स्‍पाईक होल से किसी तरह निकला और गांव में ही देशी उपचार करा रहा था। नागलगुडा में गश्‍त के दौरान जवानों को जब इस बात की जानकारी मिली जवानों ने उसके घर पहुंच उसे इलाज के लिये अस्‍पताल चलने को कहा। जवानों ने कई मुश्किलों का सामना करते उसे जिला अस्‍पताल तक पहुंचाया। जवानों ने रास्‍ते मे पडने वाले नदी नालों को भी पार कराया, इसके लिये वो घायल को चारपाई में लिटाकर, उस चारपाई को अपने कंधे पर ढोकर नालों को पार किया। पुलिस इसे पांच लाख का इनामी नक्‍सली बता रही है। पुलिस की माने तो ये मलांगीर एरिया कमेटी में साल २००८ से सक्रिय था।

एक और कामयाबी की ओर बढ़ा चंद्रयान

चंद्रयान-2 सोमवार देर रात या मंगलवार तड़के एक नई सफलता हासिल करने की ओर बढ़ रहा है। चंद्रयान-2 का लैंडिंग मॉड्यूल (लैंडर विक्रम और रोवर प्रज्ञान) ऑर्बिटर से 2 सितंबर को अलग हो जाएंगे। मिशन से जुड़े एक वैज्ञानिक ने बताया है कि ऑपरेशन वाले दिन ही तय किया जा सकता है कि किस वक्त इसे अंजाम देना है। उन्होंने बताया है कि लैंडर मॉड्यूल के ऑर्बिटर से अलग होने में सिर्फ एक सेकंड का समय लगेगा।

अंबिकापुर मेडिकल कॉलेज अस्पताल में सिटी स्कैन मशीन, रेडियो डायग्नोसिस, रेडियोग्राफी, डायलिसिस एवं ओटी कक्ष का लोकार्पण

स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव और खाद्य मंत्री श्री भगत लोकार्पण कार्यक्रम में हुए शामिल

महिला वार्ड से ओटी कॉम्प्लेक्स तथा रेडियो डायोग्नोसिस भवन तक शेड के लिए श्री सिंहदेव विधायक मद से देंगे 5 लाख

रायपुर ll स्वास्थ्य मंत्री श्री टी.एस. सिंहदेव और खाद्य मंत्री श्री अमरजीत भगत ने आज अंबिकापुर मेडिकल कॉलेज से संबद्ध रघुनाथ चिकित्सालय में सीटी स्कैन मशीन, रेडियो डायग्नोसिस कक्ष, ओटी कक्ष, डायलिसिस कक्ष तथा रेडियोग्राफी कक्ष का लोकार्पण किया। एस.ई.सी.एल. विश्रामपुर द्वारा सी.एस.आर. के तहत उपलब्ध कराए गए 5 करोड़ रूपए से वहां 128 स्लाइस क्षमता की सिटी स्कैन मशीन स्थापित की गई है। डी.एम.एफ. की राशि से 90 लाख 62 हजार रूपए की लागत से ओटी कॉम्पलेक्स बनाया गया है। वहीं 29 लाख 40 हजार रूपए की लागत से वहां रेडियो डायग्नोसिस विभाग का भवन निर्मित है। इसके लिए डी.एम.एफ. से 25 लाख 10 हजार रूपए तथा स्वास्थ्य मंत्री श्री टी.एस. सिंहदेव द्वारा विधायक मद से 4 लाख 30 हजार रूपए की राशि मिली है। श्री सिंहदेव ने लोकार्पण कार्यक्रम में महिला वार्ड से ओटी कॉम्पलेक्स और रेडियो डायग्नोसिस भवन तक शेड लगाने के लिए विधायक निधि से 5 लाख रूपए देने की घोषणा की। उन्होंने लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को यह काम जल्द शुरू करने के निर्देश दिए। शेड निर्माण से मरीजों और उनके परिजनों को ओटी कॉम्पलेक्स एवं सिटी स्कैन कराने आने-जाने के दौरान बारिश और धूप से राहत मिलेगी। लोकार्पण कार्यक्रम को संबोधित करते हुए स्वास्थ्य मंत्री श्री टी.एस. सिंहदेव ने कहा कि अंबिकापुर में सीटी स्कैन मशीन लग जाने से पूरे सरगुजा संभाग के लोगों को अब जांच के लिए बाहर जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी और कम खर्च में ही उनका इलाज हो जाएगा। उन्होंने कहा कि कम खर्च में बेहतर इलाज मुहैया कराना सरकार की प्राथमिकता है। इसके लिए हम यूनिर्वसल हेल्थ केयर शुरू करने की दिशा में तेजी से काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि जल्दी ही सभी जिला चिकित्सालयों में सिटी स्कैन मशीन की उपलब्धता सुनिश्चित की जाएगी। खाद्य मंत्री श्री अमरजीत भगत ने अंबिकापुर मेडिकल कॉलेज में सिटी स्कैन मशीन लगने और अन्य नई सुविधाएं शुरू होने पर बधाई देते हुए कहा कि इससे पूरे संभाग के लोगों को बेहतर चिकित्सा सुविधा मिलेगी। मानव जीवन को बचाना और उसे संरक्षित करना हमारा नैतिक कर्तव्य है। इसी सोच को लेकर सरकार दूरस्थ क्षेत्रों में हाट-बाजारों में निःशुल्क स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध करा रही है। लोकार्पण कार्यक्रम को सरगुजा उत्तर क्षेत्र विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष एवं विधायक, प्रेमनगर श्री खेलसाय सिंह, विधायक लुण्ड्रा डॉ. प्रीतम राम, विधायक भटगांव श्री पारसनाथ राजवाड़े, महापौर डॉ. अजय तिर्की तथा सरगुजा जिला पंचायत की अध्यक्ष श्रीमती फुलेश्वरी सिंह ने भी संबोधित किया। इस अवसर पर संभागायुक्त श्री ईमिल लकड़ा, कलेक्टर डॉ. सारांश मित्तर, सरगुजा जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री कुलदीप शर्मा, संचालक चिकित्सा शिक्षा डॉ. एस.एल. आदिले, मेडिकल कॉलेज के अधीक्षक डॉ. आर.के. दास तथा डीन डॉ. विष्णु दत्त सहित अनेक स्थानीय जनप्रतिनिधि और गणमान्य नागरिक मौजूद थे।

चौकीदार चोर है बयान, राहुल को कोर्ट में पेश होने का आदेश

कांग्रेस के पूर्व अध्‍यक्ष राहुल गांधी चौकीदार चोर है वाले बयान को लेकर मुश्किल में पड़ सकते हैं। इस मामले में मिडिया रिपोर्ट के मुताबिक मुंबई की एक मजिस्ट्रेट कोर्ट ने राहुल गांधी को पेश होने का आदेश दिया है। इस संबंध में बीजेपी नेता महेश श्रीमल ने राहुल गांधी के खिलाफ याचिका दायर की थी। बता दें कि इसे लेकर राहुल गांधी के खिलाफ देश के कई राज्‍यों में मुकदमे भी दर्ज कराए गए हैं।

साप्ताहिक बाजार से जड़ी-बूटी खरीद कर किया सेवन बिगड़ी तबीयत अस्पताल में पिता की मौत मां और बेटी गंभीर अवस्था में अस्पताल में भर्ती इलाज जारी...पढ़े पूरा मामला

A REPORT BY : सूर्यकान्त यादव

गांव के एक बाजार में जड़ी बूटी बेचने आए एक कथित वैध की दवाई खाने से चिल्हाटी थाना क्षेत्र के ग्राम पहाड़कसा निवासी 56 वर्षीय राजेश्वर लाल कोरे की मौत हो गई है वही उनकी पत्नी और बेटी मेडिकल कॉलेज अस्पताल में जिंदगी और मौत के बीच झूल रहे हैं.. चिल्हाटी थाना क्षेत्र के ग्राम पहाड़कसा में रहने वाले परिवार ने करीब 15 दिन पूर्व आसपास गांव में लगने वाले बाजार में कथित वैध(बैगा) से हाथ पैर में हमेशा दर्द रहने की शिकायत करते हुए दवाई ली थी.. वैध ने उन्हें कुछ जड़ी बूटियां दवाई के रूप में दी यह दवाई घर पर रखी हुई थी जिसके बाद कल रात को परिवार के लोगों ने इस दवाई का सेवन किया जिसके बाद उनकी तबीयत बिगड़ने शुरू हो गई उल्टी और चक्कर की शिकायत हुई।जिसके बाद उन्हें अंबागढ़ चौकी के अस्पताल लाया गया जहां स्थिति ठीक नहीं होता देख उन्हें मेडिकल कॉलेज अस्पताल रेफर कर दिया गया यहां इलाज के दौरान राजेश्वर लाल कोरे की मौत हो गई वही उनकी पत्नी और बेटी को मेडिकल कॉलेज अस्पताल में आईसीयू में रखा गया है जहां उनका इलाज जारी है..यह खबर उन लोगों के लिए सीख की तरह है जो कहीं पर भी किसी वैध से जड़ी बूटी लेकर सेवन कर लेते हैं ऐसे वेधो पर शासन प्रशासन को लगाम लगाने की भी जरूरत है।

जोगी का हल्लाबोल पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के खिलाफ बिलासपुर के सिविल लाइन में मामला दर्ज होने के बाद राजनीति में भूचाल ...पढ़े पूरी खबर

A REPORT BY: अजीत मिश्रा

छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के खिलाफ बिलासपुर के सिविल लाइन में मामला दर्ज होने के बाद राजनीति में भूचाल आ गया है इसका नजारा दोपहर होते-होते बिलासपुर के सिविल लाइन थाने में नजर भी आ गया । पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के पुत्र अमित जोगी छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस के कार्यकर्ताओं के साथ सिविल लाइन थाने पहुंच कर भुपेश सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है अमित ने हाई पावर कमेटी द्वारा उनके पिता अजीत जोगी के सभी दस्तावेज खारिज होने का हवाला देते हुए अपने यानी अमित जोगी के भी आदिवासी होने के दस्तावेजों को फर्जी मानते हुए उनकी गिरफ्तारी की मांग की। जैसा कि आपको पता है पिछले दिनों हाई पावर कमेटी द्वारा अजीत जोगी को आदिवासी मानने से इनकार करते हुए उनके सभी जाति प्रमाण पत्रों को खारिज कर दिया था और गुरुवार देर रात इसी मामले में जिला प्रशासन द्वारा सिविल लाइन थाने में भी उनके खिलाफ एफ आई आर दर्ज हो चुका है।इसका विरोध जताने पहुंचे अमित जोगी और छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने छत्तीसगढ़ की पुलिस पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के इशारे पर काम करने का आरोप लगाया। इस दौरान अमित जोगी ने भुपेश पर कटाक्ष करते हुए कहा कि अगर उनके पिता के दस्तावेज फर्जी है तो जाहिर है उनके भी दस्तावेज फर्जी हो जाते हैं, इसलिए उनकी गिरफ्तारी करें और ऐसा करने पर शायद मुख्यमंत्री खुश होकर पुलिस अधिकारियों की पदोन्नति कर दे। पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के जाति का मामला लंबे वक्त से अदालतों के चक्कर काट रहा है और जाहिर है सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर गठित हाई पावर कमेटी के फैसले से ही अजीत जोगी ठहरने वाले नहीं हैं। वे आगे भी इस मामले को अदालतों में ले जाएंगे और कार्यकर्ताओं के दम पर वे इसका इसी तरह से विरोध प्रदर्शन भी करेंगे।

बिग ब्रेकिंग- पूर्व सीएम अजीत जोगी पर बिलासपुर में FIR दर्ज..फर्जी जाति प्रमाण पत्र बनाने का आरोप

बिलासपुर | पूर्व मुख्यमंत्री और छजका सुप्रीमो अजीत जोगी पर बिलासपुर में FIR दर्ज की गई है। जोगी पर यह FIR जाति छानबीन समिति की रिपोर्ट और दिशानिर्देश पर की गई है। रात करीब साढ़े नौ बजे सिविल लाईंस थाने में अपराध क्रमांक 559/19 दर्ज करते हुए अजीत जोगी के विरुद्ध धारा दस (1) सामाजिक प्रास्थिती प्रमाणीकरण अधिनियम के तहत अपराध पंजीबद्ध कर लिया गया है। यह FIR कलेक्टर की ओर से तहसीलदार ने दर्ज कराई है। यह ग़ैरज़मानती धारा है जिसमें अधिकतम दो वर्ष की सजा और अधिकतम बीस हजार रुपए के जुर्माने का प्रावधान है। गौरतलब है कि उच्च स्तरीय जाति छानबीन समिति ने करीब 72 घंटे पहले यह रिपोर्ट सौंपी थी कि अजीत जोगी आदिवासी नहीं है। इसके ठीक बाद अजीत जोगी ने मामले को हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट ले जाए जाने की बात कही थी। इस मामले को लेकर आज ही जोगी की ओर से हाईकोर्ट में रिट याचिका प्रस्तुत की गई है, जिसमें दो दर्जन से अधिक बिंदुओं का जिक्र करते हुए रिपोर्ट को गलत बताया गया है।

गरियाबंद ज़िला में नक्सलियों ने अपनी उपस्थिति का फिर दिया संकेत, पेड़ काटकर रास्ता बंद करके बनाया दहशत

छत्तीसगढ़ (गरियाबंद) शैलेश गुप्ता । गरियाबंद ज़िला मुख्यालय से 47 किलोमीटर दूर मैनपुर – देवभोग राजकीय मार्ग 130 पर धुरवागुड़ी से लगभग चार - पांच किलोमीटर दूर नक्सलियों ने पेड़ से रास्ता बंद कर अपनी मौजूदगी का संकेत दिया है। आपको बता देकि मैनपुर - देवभोग के लिए यह एकमात्र रास्ता है जिसके बंद होने से दोनों तरफ वाहनों की लंबी कतार लग गई थी। ख़बर फैलते ही इलाके में सनसनी का माहौल हैं, यात्रीबसों के अतिरिक्त भारी वाहन समेत सभी मार्ग अवरुद्ध होने से कारण फंसे हुए हैं। घटना स्थल पर लगभग दस से पंद्रह की संख्या में नक्सलियों की मौजूदगी बताई जा रही है। नक्सलियों द्वारा शाम लगभग 7 - 8 बजे के दरमियान पेड़ काट कर मार्ग अवरुद्ध किया गया है। पेड़ काटने के बाद एक से डेढ़ घंटे तक नक्सली घटना स्थल पर ही रुके रहे। पेड़ काटते समय नक्सलियों ने ट्रक, बस व अन्य वाहन चालकों को वापस चले जाने भी निर्देश दिया। उक्त घटना से आसपास के व्यापारियों में दहशत का माहौल व्याप्त है साथ ही गरियाबंद - देवभोग मार्ग पर शाम 6 बजे के बाद यात्रा करने वाले लोगों में कॉफ़ी दहशत का माहौल है। पुलिस विभाग की तरफ़ से टीम घटना स्थल पर भेज दिया गया है।

जल आवर्धन योजना के भूमिपूजन और ओबीसी वर्ग के सम्मान कार्यक्रम में आए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मुंगेली को दी करोड़ों की सौगात

नीलकमल सिंह ठाकुर - जल आवर्धन योजना के भूमिपूजन और ओबीसी वर्ग के सम्मान कार्यक्रम में आए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मुंगेली को करोड़ों का सौगात दिए । मुंगेली के घर घर पानी पहुचाने के लिए 30 करोड़ की लागत से जल आवर्धन योजना का शुरुआत बटन दबाकर किए । अम्बेडकर भवन के लिए 50 लाख रु का , गार्डन के लिए 50 लाख रु , और मुंगेली के सड़कों में खुले आम घूमने वाले आवारा पशुओं के लिए गोठान बनाने की घोषणा किए । वही जिला चिकित्सालय में सिटी स्केन मशीन देने की घोषणा किए । आज मुंगेली में मुख्यमंत्री बघेल ने घोषणा किए की अब प्रदेश में प्रत्येक पेंशनधारियों के घरों तक पेंशन की राशि पहुचाकर दिया जाएगा । बुजुर्ग लोगों को पेंशन के लिए बैंकों का चक्कर लगाना भारी पड़ रहा था । इसलिए यह योजना लागू किया गया । प्रदेश में खेल को बढ़ावा देने के लिए खेल प्राधिकरण की स्थापना किया जाएगा । छ ग प्रदेश देश का एक मात्र राज्य है जहां हर वर्ग के लिए आरक्षण की व्यवस्था किया गया है । अजजा के लिए 32% , अ जा के लिए 12 से बढ़ाकर 13% , ओबीसी वर्ग के लिए 14 से बढ़ाकर 27% तथा सामान्य वर्ग के लिए आर्थिक आधार पर 10% आरक्षण की व्यवस्था किया गया है । आने वाले समय मे पानी की बढ़ती समस्या को देखते हुए प्रदेश के 1000 नदी नालों की मरम्मत का योजना है । जिससे जमीनी जल स्तर को बनाए रखने के लिए काम किया जा सके । कार्यक्रम में प्रदेश के स्वास्थ्य और जिला के प्रभारी मंत्री ने अपने सरकार के 8 माह के कार्यो की तारीफ करते हुए बताया कि अभी तक घोषणापत्र के 22 वादों को पूरा किया जा चुका है । वहीं शहरी विकास मंत्री शिव डहरिया ने विधायक पुन्नूलाल मोहले के कटाक्ष का उन्ही के लहजे में जवाब देते हुए कहा कि हमारी सरकार जो कहती है वो करती है । विधायक पुन्नूलाल मोहले ने कहा कि आज जिस योजना का अपने शिलान्यास किया है वह हमारे भाजपा सरकार के द्वारा स्वीकृत किया गया था । हमने इस योजना को पास किए और आप शिलान्यास कर रहे है । सब समय की बात है । कार्यक्रम में सभी ओबीसी वर्ग के अंतर्गत आने वाले समाज प्रमुखों तथा आ जा समाज के प्रमुखों ने आरक्षण में वृद्धि करने के लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को धन्यवाद देते हुए आभार व्यक्त किए । इस अवसर पर भारी संख्या में लोग उपस्थित रहे ।

अजीत जोगी नहीं है आदिवासी :- छानबीन समिति । उच्च स्तरीय छानबीन समिति ने दी रिपोर्ट। जोगी परिवार ने किया विरोध। छत्तीसगढ़ में मचा सियासी बवाल। अमित जोगी जाएंगे हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट। ....पढ़े पूरा मामला

अजीत मिश्रा : . जोगी के जाति को लेकर बनाई गई छानबीन समिति ने आखिरकार अजीत जोगी को आदिवासी मानने से इंकार कर दिया है । अपनी रिपोर्ट में समिति ने स्पष्ट किया कि अजीत जोगी आदिवासी नहीं है वहीं दूसरी तरफ समिति की इस रिपोर्ट के विपरीत अजीत जोगी के बेटे अमित जोगी ने इसे भूपेश बघेल की "छिन्नभिन्न" समिति करार दिया है। समिति की रिपोर्ट को चुनौती देने के लिए अब जोगी परिवार जल्द ही हाईकोर्ट और फिर सुप्रीम कोर्ट जाने की तैयारी में है । इस पूरे मामले को लेकर अब प्रदेश में सियासी बवाल मचा हुआ है।  छत्तीसगढ़ की राजनीति में शुरू से ही अजीत जोगी जो प्रदेश के पहले मुख्यमंत्री थे उनकी जाति को लेकर खूब राजनीति हुई है मौजूदा कांग्रेस सरकार में एक नई छानबीन समिति बनाई गई जिसने अजीत जोगी को आदिवासी मानने से इंकार कर दिया समिति की रिपोर्ट के आधार पर अब से अजीत जोगी और उनका परिवार आदिवासी कंवर जाति का नहीं है, वहीं अब समिति की रिपोर्ट को लेकर जूनियर जोगी ने तीखी प्रतिक्रिया दी है। इनकी मानें तो, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को छानबीन समिति ने कोरे काग़ज़ों में अपने हस्ताक्षर करके सौंप दिए थे। अमित की माने तो छानबीन समिति की सुनवाई केवल नौटंकी थी। सभी क़ानूनी प्रक्रियाओं, प्राकृतिक न्याय के सिद्धांतों और माननीय न्यायालयों के दृष्टान्तों के विपरीत इस बेतुके फ़ैसले को उच्च न्यायालय और सर्वोच्च न्यायालय दोनों में चुनौती देंगे। हमें पूरा विश्वास है कि हमारे साथ अन्याय नहीं होगा। दूसरी तरफ अजीत जोगी के जाति और उनसे आदिवासी होने को लेकर कांग्रेसी नेताओं ने फिर से वही राग अलापा है। फर्जी जाति के आधार पर जोगी परिवार राजनीति कर रहा है और अपने राजनीतिक हितों को साधने के लिए आदिवासी बना हुआ है छानबीन समिति की रिपोर्ट सही मायने में सच्ची है अब जोगी परिवार चाहे इसे किसी भी स्तर पर चुनौती दे इससे कुछ भी होने वाला नहीं है।  बहरहाल जोगी की जाति को लेकर प्रदेश में राजनीतिक और सियासी बयानबाजी का दौर चल रहा है इस विषय को लेकर जहां खूब सियासत हो रही है वहीं दूसरी तरफ अब देखना यह होगा कि हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट इस पूरे मामले में क्या फैसला देते हैं।

परिवहन विभाग में बड़ा फेरबदल किया है। विभाग के 23 कर्मचारियों के तबादले हुए, देखें लिस्ट

रायपुर । राज्य सरकार ने परिवहन विभाग में बड़ा फेरबदल किया है। विभाग के 23 कर्मचारियों के तबादले हुए हैं। जारी आदेश में दुर्ग, महासमुंद, रायपुर, कांकेर, जगदलपुर, राजनांदगांव, दंतेवाड़ा, कोरिया, अंबिकापुर, रायगढ़, बलरामपुर, बिलासपुर और बीजापुर के कर्मचारी शामिल हैं।

थाना ओरक्षा क्षेत्रान्तर्गत हुये मुठभेड़ में शहीद जवान को नेलसनार में दी गई सलामी

Danteshwar kumar (chintu) : नारायणपुर:- जिले से डीआरजी एवं एसटीएफ की संयुक्त पार्टी द्वारा थाना ओरक्षा से 19 किमी की दूरी पर गुमरका में स्थित नक्सली कैम्प की सूचना पर कार्यवाही हेतु रवाना हुये थे । पुलिस पार्टी को देखकर नक्सलियों के द्वारा फायरिंग शुरू कर दिया गया पुलिस बल द्वारा आत्मरक्षार्थ सुरक्षित आड़ लेकर जवाबी कार्यवाही की गई । पुलिस की जवाबी कार्यवाही में 05 नक्सलियों को मार गिराया गया एवं मौके से कार्बाईन, 12 बोर बंदूक, 315 बंदूक, 315 रायफल, नक्सली साहित्य, दैनिक उपयोग की सामग्री, एक्प्लोजिव, आईईडी, आदि बरामद किया गया था । घटना में 02 जवान गंभीर रूप से घायल हो गये थे । जिसमें राजू राम लेकाम उर्फ मैतु पिता स्व0 पेद्दा साकिन कुसनेल थाना ओरक्षा जिला नारायणपुर शहीद हो गये । विदित हो कि शहीद जवान द्वारा दिनांक 2015 को जिला बीजापुर में पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण किया गया था नक्सली संगठन में आदवाड़ा एलजीएस सदस्य के रूप में कार्यरत था । वर्तमान में डीआरजी नारायणपुर में कार्यरत था । शहीद जवान को आज इनके परिजन के निवासगृह हेमलापारा नेलसनार में सलामी दी गई एवं अंतिम संस्कार हेतु सहयोग राशि परिजनों को प्रदान की गई । शहीद की श्रद्धांजली में पर पुलिस अधीक्षक बीजापुर दिव्यांग पटेल, अनुविभागीय अधिकारी पुलिस भैरमगढ़ अविनाश मिश्रा, थाना प्रभारी नेलसनार सिद्धेश्वर प्रताप सिंह, अन्य अधिकारी कर्मचारी, परिजन एवं ग्रामीण उपस्थित रहे ।

इधर से उधर हुए IFS अफसर रायपुर CCF बने एस एस डी बड़गैयाँ…बलौदाबाजार बिलासपुर, कोरबा समेत कई वनमंडल के DFO बदले, देखिये पूरी सूची

राज्य सरकार के कई विभागों में तबादला सूची जारी होने के बाद आज वन विभाग की सूची भी जारी कर दी गई है | इसमें सीसीएफ रैंक के अफसर से लेकर डीएफओ का ट्रांसफर किया गया है |