छत्तीसगढ़

सरकारी नौकरी लगवाने के नाम से 7 लाख 50 हजार रुपये की ठगी

सन्नी यादव कोनारगढ

जांजगीर चाँपा:-जिले के मुलमुला थाना क्षेत्र से सरकारी नौकरी लगवाने के नाम से 7 लाख 50 हजार रुपये से ठगी का मामला सामने आया है मुलमुला थाना क्षेत्र के ग्राम कोनारगढ निवासी उषा कश्यप ने थाने में एफ आई आर दर्ज करवाई है कि उषा कश्यप वर्ष 2018 में बिलासपुर हिन्दी टाइपिंग सीखने जाया करती थी तब उसकी दौरान ग्राम धमनी चकभाठा निवासी रितेश दुबे उर्फ रितुराज से मुलाकात और जान पहचान हुई फिर कतिथ आरोपी ने अपने पत्नी रेणु दुबे के साथ मिलकर युवती के मतस्य विभाग में मछली पालन अधिकारी नाम से सरकारी नौकरी लगवाने के बात कही और युवती दम्पति के झांसे में आने लगी धीरे धीरे बात बढ़ने लगी और दम्पति ने युवती उषा को अपने झांसे में लेकर उसके माता पिता को सरकारी नौकरी लगवाने का आश्वासन देने कोनार गांव युवती के माता पिता के पास पहुंच गए तथा घर के लोगो से दंपती के द्वारा मांगे गए रकम 7लाख 50 हजार रुपए ऐंठ लिए और युवती को घुमाने लगे फिर कुछ दिनों में अपना मोबाइल बंद कर घर से गायब है।

युवती ने अपने आवेदन में लिखा है कि रितेश दुबे बिलासपुर में टाइपिंग सीखने जाने के दौरान पास के गार्डन पर जब युवती बैठी रहती तब पास के में आकर बैठ जाता और जान पहचान बढ़ाने लगा और धीरे धीरे कर अपने बहकावे लेकर विश्वास जीत लिया और गांव अपने पत्नी के साथ घुमाने आया तब उषा ने उसे मतस्य विभाग में 2018 में डाक द्वारा आवेदन करने की जानकारी दी तब रितेश ने रायपुर मंत्रालय में अपनी पहचान होने की बात कही और किसी को फोन कर नौकरी में सेटिंग करने को कहा साथ ही कुछ अपने ओर से धनराशि इंतजाम करने का झूठा दिलासा भी । इसे युवती के पिता को भरोसा हो गया और 16 जून 2018 को अपनी पत्नी से साथ गांव कोनारगढ आकर 4 लाख रुपये ले गया और इसी तरह कुछ दिनों में थोड़ा थोड़ा कर 12 मई 2019 तक 7 लाख 50 हजार रुपये ले गये अब इसे बाद युवती ने अपने नौकरी की जानकारी रितेश से मांगी तब रितेश जानकारी न दे सका और संबंधित अधिकारी के तबादले की जानकारी दी और युवती से मिलने बिलासपुर बुलाया तब युवती ने अपने द्वारा दिये गए रकम वापस करने को कहा और युवक रकम वापस न करने में शंका होने पर 112 को फोन किया और बिलासपुर के सिविल लाइन थाने ले आई तब युवक ने स्टाम्प पेपर पर रकम वापस करने 04 जून 2020 की नोटरी किया । अब युवक के घर से भाग जाने और फोन बंद कर देने से पीड़ित युवती ने मुलमुला थाना में रिपोर्ट दर्ज करवाई है मुलमुला पुलिस ने भी कथित आरोपी के खिलाफ 420 का मामला दर्ज कर विवेचना कर रही है।

AICC सदस्य मंजू सिंह के मध्यस्तता से के एस के महानदी के 20 भुविस्थापितो की बहाली 1 सितम्बर से हुई, मजदूरो ने उन्हें धन्यवाद ज्ञापित किया

13 महीने से चल रहा था गतिरोध

जांजगीर चाम्पा:-पिछले साल भर से जांजगीर चाम्पा जिले के अकलतरा तहसील के ग्राम नरियरा में स्थापित के एस के महानदी पावर कम्पनी के 20 भूविस्थापित मजदूरो की बहाली में कहने को क्या कुछ नही हुआ, कई बड़े आंदोलन कई घटनाएं मजदूरो को अनशन के दौरान आधी रात को 67 मजदूरो की गिरफ्तारी, श्रम कार्यालय में जहर सेवन सहित लगातार संघर्ष का अंतिम परिणाम सफलता में आया जिसमें महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाई अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी सदस्य मंजू सिंह ने जिनके द्वारा मजबूती से सहयोग किया गया और सफल होने तक लगातार मजदूरो के साथ न्याय के लिए प्रशासन से लेकर शासन स्तर तक हर जगह बातचीत करते हुए संघर्ष को परिणाम तक पहुँचाया, भूविस्थापितो ने छत्तीसगढ़ पावर मजदूर संघ(एच एम एस) के बैनर तले जो इतना लंबा संघर्ष किया वो शायद हर किसी के लिए सम्भव नही है, सितम्बर 2019 से शुरू हुआ संघर्ष साल भर बाद सितम्बर 2020 में सफल हुआ जो यह दर्शाता है कि अगर सफल होने तक प्रयास किया जाये तो कठिनाई भले ही आये पर सफलता जरूर मिलती है।

मजदूर संघ के अध्यक्ष विश्वनाथ प्रसाद साहू ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, AICC सदस्य मंजू सिंह एवं समस्त इलेक्ट्रॉनिक, प्रिंट, वेब पोर्टल मिडिया को लगातार साल भर से कवरेज कर इस मुद्दे को जीवित रखते हुए सफल होने तक जो सहयोग किया, सभी को ध्यान ज्ञापित किया, इनके अलावा लगातार सहयोग करने वाले मजदूरो को भी धन्यवाद दिया है।

20 बहाल भूविस्थापित मजदूरो ने प्रबन्धन को नौकरी में बहाल करने के लिए धन्यवाद दिया है और मजदूरो ने कहा है कि हम अनुशासन में रहकर कंपनी के उत्पादन में तन मन धन से सहयोग करेंगे, इनके अलावा नगरपालिका उपाध्यक्ष दिवाकर सिंह राणा NSUI जिला अध्यक्ष अंकित सिंह सिसोदिया, राजकुमार सिंह, अमित केडिया, मून शफीक, अविनाश साहू, विजय यादव, विजय खंडेल, स्वप्निल सिंह, देवेंद्र तिवारी, उत्तम कश्यप, रोहन शर्मा, रविंद्र साहू, संजय सागर, विकास भारद्वाज अर्पित देवांगन, अनुभव सिंह अमित यादव जयदीप बैस सहित सभी लोगो को जिन्होंने प्रत्यक्ष या प्रत्यक्ष रूप से सहयोग किया सबको धन्यवाद दिया गया।

अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी सदस्य मंजू सिंह ने कहा कि के एस के महानदी पावर कम्पनी के भूविस्थापितो को नौकरी से निकालने के बाद उनके परिवार के पालन पोषण में लगातार समस्याएं निश्चित रूप से ही रही थी क्योंकि वर्तमान में कोरोना जैसे महामारी के वजह से सभी का जीवन अस्त व्यस्त है, किंतु हमारी सरकार संवेदनशील सरकार है भूपेश बघेल जी के नेतृत्व में प्रदेश के मजदूरो के साथ गलत नही होगा इस बात का मुझे पूरा यकिन था, मजदूरो ने काफी लंबा संघर्ष किया है भले ही वक्त लगा पर उनकी बहाली हुई, मैंने क्षेत्र के जनप्रतिनिधि होने के नाते अपना फर्ज निभायी है, इससे पहले भी 3 मजदूरो की बहाली में मैंने प्रत्यक्ष रूप से जिला कांग्रेस कमेटी के साथ मिलकर सहयोग किया था, के एस के पावर कम्पनी में कार्यरत मजदूरो ने मुझ पर जो विश्वास किया है उस पर मैं खरी उतरने का प्रयास की हूं और माननीय मुख्यमंत्री जी के आशीर्वाद और मजदूरो के सहयोग से सभी मजदूरो की बहाली हो गयी यह मेरे लिए सौभाग्य की बात है कि मैं उनके मदद कर पायी, निकट भविष्य में के एस के महानदी पावर कम्पनी के भूविस्थापितो एवं ठेका मजदूरो के समस्याओं में उनके समस्यायों में साथ हूं प्रबन्धन एवं प्रशासन किसी भी प्रकार की समस्याओं को अब बड़ा होने से पहले हल करने का प्रयास करुँगी ताकि क्षेत्र में शांति व्यवस्था बनी रही, और कारखाना का उत्पादन निर्बाध रूप से चलता रहे।

बहाल होने वाले भूविस्थापितो के नाम इस प्रकार है

बलराम गोस्वामी, शेरसिंह राय, लोभन साहू, रामनाथ केवट, मूलचन्द नोरगे, अविनाश महिपाल, सतीश बर्मन, मिथिलेश कुमार दुबे, महेश कुमार साहू, विजय बरेठ, रवि नोरगे, प्रवीण नोरगे, दाऊलाल लहरे, बलराम जगत, रामकृष्ण साहू, रामकृष्ण धीवर, पारस दुबे, लक्ष्मी प्रसाद साहू, रामलाल केवट, अशोक राठौर।

डॉक्टरों की लापरवाही ने ले ली एक नवजात शिशु की जान… क्योंकि यहां के जिम्मेदार अपनी निजी दुकानदारी चलाने में व्यस्त हैं…

डॉक्टरों की लापरवाही ने ले ली एक नवजात शिशु की जान… क्योंकि यहां के जिम्मेदार अपनी निजी दुकानदारी चलाने में व्यस्त हैं…

जांजगीर चाम्पा/डभरा:-मायके में रहो या ससुराल में जचकी कराओ अस्पताल में सरकार की सरकारी स्लोगन पर लोग भरोसा करके सरकारी अस्पताल तो आते हैं ताकि उनका जच्चा बच्चा सुरक्षित हो लेकिन जिम्मेदारों की लापरवाही से नवजात शिशु की मौत हो जाती है . ग्रामीणों को लगता है कि सरकारी अस्पताल में उनका इलाज बेहतर होगा और जिस उम्मीद से ग्रामीण अस्पताल आते हैं उस उम्मीद को तोड़ने के लिए यहां के बी एम ओ साहब ही काफी हैं क्योंकि साहब को अपने निजी दुकानदारी से फुर्सत मिले तब तो साहब सरकारी अस्पताल झांकने आएंगे. कहते हैं ना अंधेर नगरी चौपट राजा उस कहावत को चरितार्थ करता यह अस्पताल.

वैसे तो जांजगीर चाम्पा जिले के डभरा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का स्वास्थ्य सुविधा खस्ताहाल है और इस में चार चांद लगाते हैं यहां के बी एम ओ साहब क्योंकि अगर जिम्मेदार ही अपनी जिम्मेदारी ढंग से ना निभाए तो उस संस्था का क्या हाल होगा इस बात को आप अंदाजा लगा सकते हैं. क्योंकि साहब को अपने निजी क्लीनिक से फुर्सत मिले तब ना वह सरकारी अस्पताल पर ध्यान देंगे. आज जिम्मेदारों की जिम्मेदारी से लापरवाही की वजह से एक नवजात शिशु का मौत हो गया दर्शन में डबरा निवासी एक युवक ….. अपनी पत्नी गर्भवती पत्नी के प्रसव के लिए डभरा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लेकर आया क्योंकि सरकार ने नारा दिया है मायके में रहो या ससुराल जचकी कराओ अस्पताल में में दअरसल में सरकार की यह नारा सुरक्षित प्रसव को बढ़ावा देने के लिए है और लोग सरकार की इस दावे भरे वादे के चलते वह सरकारी अस्पताल में प्रसव कराना बेहतर समझते हैं ताकि उनका जच्चा-बच्चा सही सलामत हो लेकिन जिम्मेदारों की लापरवाही की वजह से नवजात शिशु जन्म के बाद कुछ घंटे बाद उसकी मौत हो जाती है वहीं परिजनों ने अस्पताल प्रबंधन पर लापरवाही का आरोप लगाया है उनका कहना है कि डिलीवरी से लेकर बच्चे को रेफर करने की बात कहते तक केवल नर्सिंग स्टाफ ही मौजूद रहे अस्पताल में कोई डॉक्टर मरीज को झांकने तक नहीं आया हद तो तब हो गई जब बच्चे की डिलीवरी के बाद कई घंटों तक परिजनों को इसकी सूचना भी नहीं दी गई कि उनके घर नन्हा मेहमान आया है परिजनों को सूचना तब भी दी जाती है जब बच्चे की हालत खराब हो जाती है उसे रायगढ़ रिफर करने की बात कहते हैं तब तक काफी देर हो चुका होता है और बच्चे की सिर्फ मौत हो जाती है. वही मरीज के परिजनों ने यह भी आरोप लगाया कि यहां के बीएमओ डॉक्टर एनपी मिश्रा जो कि एक लापरवाह चिकित्सक है वे अपने घर में ही रहते हैं और निजी क्लीनिक संचालित करते हैं जिसकी वजह से वह सरकारी अस्पताल पर कम समय देते हैं अर्जुन की इसी लापरवाही की वजह से मरावी परिवार का चिराग बुझ किया. ऐसा नहीं है कि डॉक्टर एनपी मिश्रा की लापरवाही पहली बार देखने को मिली उनकी ऐसी लापरवाही कई बार सामने आई थी है जिसके बाद उनका ट्रांसफर अंबिकापुर मेडिकल कॉलेज हो जाता है लेकिन साहब जुगाड़ से फिर से डभरा में पुनः आ जाते हैं और बीएमओ पद संभाल कर अस्पताल के स्वास्थ्य सुविधाओं को खस्ताहाल करने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं. जिसकी वजह से आए दिन अस्पताल में लापरवाही देखने को मिलती है यू कहे तो क्षेत्र की जनता के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ हो रहा है कहते हैं ना अंधेर नगरी चौपट राजा वह कहावत डभरा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में चरितार्थ होता नजर आ रहा है क्योंकि जहां के बी एम ओ साहब ही लापरवाह हो तो उस क्षेत्र के स्वास्थ्य सुविधा का क्या हाल होगा आप अंदाजा लगा सकते हैं.

निवास कम निजीअस्पताल ज्यादा

परिजनों ने डॉक्टर पर लगाया ड्यूटी से नदारद रह कर घर मे निजी प्रैक्टिस करने का आरोप

वही मृतक नवजात शिशु के परिजनों ने अस्पताल में पदस्थ BMO डॉक्टर एनपी मिश्रा के ऊपर आरोप लगाया है कि डॉक्टर एनपी मिश्रा सरकारी अस्पताल में नहीं बैठते हैं बल्कि अपने घर में इलाज करते हैं यह कि शिकायत हम थाना प्रभारी एसडीएम से लेकर उच्च अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों को की है ताकि ऐसे लापरवाह डॉक्टर के ऊपर कड़ी से कड़ी कार्यवाही की जाए ताकि भविष्य में किसी अन्य मरीज के साथ ऐसा ना हो।

क्या कहते है SDM साहब

वही डॉक्टर की लापरवाही वाले मामले पर जब डभरा एसडीएम से बात की गई तो उनका कहना है कि मामले की शिकायत मिली है मामले की जांच की जाएगी।

भारतीय राष्ट्रीय मजदूर कांग्रेस असंगठित मजदूर कांग्रेस ने सीमेंट प्लांट के कालोनी मे बारिश के कारण नाले का पानी भरने के वजह से दुसरो को बचाने के प्रयास मे शहिद हुए स्मित सिंह को मोम्बत्ती जलाकर दी गई श्रध्दांजलि

जांजगीर चाँपा:-भारतीय राष्ट्रीय मजदूर कांग्रेस (INTUC) असंगठित मजदूर कांग्रेस जांजगीर चांपा द्वारा आज दिनांक 31/08/2020 को सीमेंट प्लांट के कालोनी मे बारिश के कारण नाले का पानी भरने के वजह से दुसरो को बचाने के प्रयास मे शहिद हुए वीर भाई स्मित सिंह को आरसमेटा निवोको सीमेंट प्लांट ट्रक यार्ड में शाम 07 बजे मोम्बत्ती जलाकर श्रध्दांजलि दी गई व उनके आत्मा के शांति के लिए 2 मीनट का मौन रखा गया और असंगठित मजदूर कांग्रेस जिलाध्यक्ष फणेन्द्र सिंह ने वीर स्मित सिंह के परिवार को निवोको सीमेंट प्लांट के द्वारा उचित मुआवजा एवं कालोनी का नाम वीर स्मित सिंह के नाम पर रखे जाने की मांग की जिसमें मुख्य रुप से राष्ट्रीय मजदूर कांग्रेस जिला महासचिव ललित चौबे, अकलतरा ब्लॉक अध्यक्ष दुर्गेश जोगी,श्री प्रभाकर , हुल जाटवर मीडिया प्रभारी ब्लांक अकलतरा,खगेश अर्जुनी, रघुवीर सोनवानी, सूरज, केहर सिंह, टिंगा सोनवानी, सुमन, अजय, आयुष, निहाल जोगी,एवं समस्त कार्यकर्ता उपस्थित रहे।।

महानदी का जलस्तर कम होते ही शबरी सेतु से आवाजाही शुरू

शिवरीनारायण:-प्रदेश में हुई भारी बारिश के बाद कई प्रमुख सड़क मार्ग बंद हो गए थे। अब बारिश थमने के बाद सड़क यातायात फिर से बहाल होने लगा है। शिवरीनारायण स्थित महानदी का जलस्तर शबरी सेतु के ऊपर चला गया था। करीब 50 घंटे पुल के बंद रहने के बाद सोमवार सुबह से यातायात फिर से सामान्य हो पाया है। सूत्रों ने बताया कि शबरी सेतु महानदी के बहाव में आ गया था। पुल के ऊपर से पानी चलने के कारण सुरक्षा के लिहाज से पुल को यातायात के लिए बंद कर दिया गया था। करीब 50 घंटे के बाद महानदी का जलस्तर कल से ही कम होना शुरू हो गया था। आज सुबह महानदी का बहाव पुल के 2 फीट नीचे से हो रहा था। इसके बाद ही यातायात की अनुमति दी गई है। पुल के बंद होने से शिवरीनारायण, बिलासपुर, सारंगढ़, बलौदाबाजार, रायपुर मार्ग पूरी तरह से बंद हो गया था।

जंगल से करील (बांस पीका) चोरी करते अपराधी पकड़े गये

मदन खांडेकर

गिधौरी/टुण्डरा- बलौदाबाजार जिले के वन परिक्षेत्र अधिकारी अर्जुनी टी.आर. वर्मा, के निर्देशन में अर्जुनी परिक्षेत्र अंतर्गत जंगल से करील चोरी करने वालो को धर-पकड़ करने हेतु सतत् जंगल में गस्त किया जा रहा है। इसी तारतम्य में दिनांक 29/08/2020 को शायं 4ः30 बजे अर्जुनी परिक्षेत्र के महराजी परिवृत्त के अंतर्गत गिरौद परिसर के आरक्षित वन कक्ष क्रमांक 393 में (1) रामविलास वल्द माखन सतनामी (2) रामप्रसाद वल्द सोनसाय सतनामी एवं (3) जज्जू वल्द देवराम सतनामी सभी ग्राम-सुकली, थाना- गिधौरी, तहसील कसडोल, जिला- बलौदाबाजार के द्वारा 245 नग बांस (पीका) करील (30 कि.ग्रा.) तोड़कर बेचने हेतु ले जाया जा रहा था। जिसे मौके पर ही वनरक्षक चन्द्रभुवन मनहरे द्वारा पकड़ा गया एवं वन अपराध प्रकरण क्रमांक 15577/15 दिनांक 29/08/2020 कायम कर भारतीय वन अधिनियम 1927 की धारा 26(1) के अनुसार कार्यवाही किया गया है । दिनांक 29/08/2020 को ही सायं 5ः55 बजे महराजी परिवृत्त के महकोनी परिसर के आरक्षित कक्ष क्रमांक 382 में (1) दामोदर वल्द राममिलन कुर्मी, (2) चुन्नूलाल वल्द रूपराम सतनामी एवं (3) जागराम वल्द बालूराम साहू सभी ग्राम सूकली, थाना गिधौरी, तहसील- कसडोल, जिला- बलौदाबाजार-भाटापारा के द्वारा 265 नग बांस पीका (27 कि.ग्रा.) को तोड़कर बेचने हेतु ले जाया जा रहा था। जिसे तृप्तिकुमार जायसवाल वनरक्षक परिसर रक्षी महकोनी द्वारा पकड़ा गया एवं वन अपराध प्रकरण क्रमांक 15545/16 दिनांक 29/08/2020 कायम कर भारतीय वन अधिनियम 1927 की धारा 26(1) के अनुसार कार्यवाही किया गया है। उक्त दोनो प्रकरण में जप्त किये गये नाशवान बांस पीका (करील) को जमीन में गड्डा खोदकर दबाया गया। उक्त कार्यवाही में रामकुमार विश्वकर्मा वनपाल, स.प.अ. महराजी, वनरक्षक- चन्द्रभुवन मनहरे, तृप्तिकुमार जायसवाल, राजेश्वर प्रसाद वर्मा, सोहनलाल यादव एवं दैनिक श्रमिक- भानुलाल बरिहा, शत्रुहन रात्रे एवं रामेश्वर चौहान का योगदान रहा। प्रकरण की विवेचना जारी है।

कोविड अस्पताल व क्वारंटाइन सेंटर की व्यवस्था सुधारे भूपेश सरकार - केदार कश्यप

जगदलपुर:-पूर्व मंत्री केदार कश्यप ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा कि बस्तर संभाग तथा ज़िले में लगातार कोरोना के मरीज़ बढ़ रहे हैं !जगदलपुर शहर में कई परिवार पूरा का पूरा संक्रमण के दायरे में है !कोरोना से लगातार मौत की भी ख़बरें आ रही है !मेडिकल कॉलेज में चिकित्सकों की रिपोर्ट भी धनात्मक पाई जा रही है !लोग भयाक्रान्त है तथा कोविड अस्पताल एवं क्वारेंटाइन सेंटरों की व्यवस्था से नाराज़ हैं !लगातार शिकायतें मिलने के पश्चात भी समस्याएं जस की तस बनी हुई है !मरीज़ों को मिलने वाला भोजन की गुणवत्ता निम्न स्तरीय है !कोरोना पेशेंट को अपने पीने हेतु गर्म पानी की व्यवस्था स्वयं से करनी होती है ! नहाने के लिए मिलने वाला ठंडा पानी तथा ठंडी चाय की जगह गर्म चाय पानी की व्यवस्था सुनिश्चित की जानी चाहिए! शौचालय बदबूदार हैं ,वहाँ की सफ़ाई की व्यवस्था चिंतनीय है !वार्डों में तथा क्वारंटाइन सेंटरों में मरीजों को स्वयं झाड़ू लगाना पड़ रहा है ! मरीज़ों के लिए दोनों समय चाय नाश्ते की भी उचित व्यवस्था नहीं की गई है ! कोविड टेस्ट हेतु मेडिकल कॉलेज तथा महारानी अस्पताल में व्यवस्था तो की गई है,परंतु वह बेहद ख़तरनाक है !लोगों का कहना है कि सुरक्षा के पर्याप्त साधन नहीं होने के कारण चेक कराने वाले को भी संक्रमण का ख़तरा है ! उनके उठने बैठने एवं पंक्ति बनाकर खड़े रहने वाले स्थान ठीक से सेनेटाइज नहीं किए जाते हैं !जिस कारण से कोरोना टेस्ट कराने से लोग घबरा रहे हैं तथापि टेस्टिंग की गति भीबहुत सुस्त है ! विगत दिनों देखा गया है कि कोरोना पाजिटिव सीनियर चिकित्सक के संपर्क मैं रहे दो चिकित्सक जोकि क्वारंटाइन किए गए थे,उन्हें आनन फ़ानन में कोरंटाईन पीरियड मैं ही उन्हें काम में लगा दिया गया,जिसके फलस्वरूप एक अन्य चिकित्सक धनात्मक हो गए!यह लापरवाही का अत्यंत गंभीर उदाहरण है! आम जनता को कोरोना के अतिरिक्त, प्रबंधन की लापरवाही से भी दो चार होना पड़ रहा है !जो लोग संक्रमित पाए गए हैं उनका RT PCR टेस्ट की रिपोर्ट तीन से चार दिनों में आती है ,रिपोर्टआने के पूर्व ही डिस्चार्ज होने की ख़बरें आ रही हैं !यह बेहद ख़तरनाक स्थिति है ! सामान्य कोरोना पेशेंट को सुविधा संपन्न होने पर अपने ही घर में आयसोलेट होकर इलाज कराने का अधिकार दिया गया है ,इसके बावजूद होम आइसोलेट होने आम आदमी जानकारी के अभाव में भटक रहा है !जिन लोगों की राजनीतिक या सामाजिक पहुँच है वे तो ज़िलाधीश महोदय से बात कर आईसोलेट होकर इलाज करवा रहे हैं परंतु आम व्यक्ति सुविधा संपन्न होकर भी कोविड अस्पताल में असुरक्षा के बीच अपना इलाज कराने मजबूर है ! इस संबंध में इस प्रक्रिया को सकारात्मक दिशा में सरलीकरण कर वार्ड प्रभारियों यथा आरोग्य समिति, मितानिनों को अधिकार संपन्न बनाना चाहिए,जिससे इसका लाभ सर्वजन को हो सके ! कोरोना से मृत व्यक्ति के अंतिम संस्कार के लिए भी काफ़ी असमंजस का वातावरण निर्मित हुआ है !मृतक को जलाने तथा दफ़नाने एवं उसकी अंत्येष्टि क्रियाओं के संबंध में तत्काल सर्व समाज की बैठक बुलाकर एक आम राय बनाना आवश्यक है !मृतक का अंतिम संस्कार हेतु एक अलग से भूमि का चयन,बस्ती से अलग स्थान पर करना चाहिए ! लोग भयभीत व असुरक्षित हैं अतः शासन प्रशासन को शीघ्र संज्ञान लेकर लोगों की भावनाओं एवं सुरक्षा को दृष्टिगत रखते हुए उचित क़दम तत्काल उठाना चाहिये!

चार दिन बाद गिधौरी-घटमडवा नाला पर बाढ़ के पानी नही उतरे,रविवार रात जान जोखिम में डालकर ट्रक वाले पार कर रहे थे

मदन खांडेकर

सोमवार तक पानी भरा रहा,दोनो तरफ हजारों ट्रको का जाम

गिधौरी/टुण्डरा:-लगातार तीन दिनो तक गिधौरी बाढ का चपेट मे रहने के बाद भी गिधौरी घटमडवा नाला सारंगढ़ मार्ग रविवार रात से सोमवर तक घटमडवा नाला पर पानी चल रहा था और ट्रक वाले जान जोखिम डालकर नारा से पार कर रहाथा रविवार रात को बडा ट्रक घटमडवा नाला मे रविवार रात के पार करते सडक से नीचे आ गया जिसके चलते ट्रक फंस गया था और पलटते पलटते बचा जिसे ट्रक एवं जेसीबी से निकालने का कोशिश किया ।और शाम तक ट्रक नही निकला था। उधर बाढ मे फंसे ट्रक पिक अप आदि गाडिया तीन चार दिनो से गिधौरी मे बाढ की वजह से फंसे थे वे रविवार रात को पानी कम होने पर गाडी आगे बढाने की कोशिश किया गया परंतु सारंगढ़ मार्ग घटमडवा ,कुम्हारी खपरीडीह से लेकर गिधौरी ,बरपाली हसुवा धमलपुर, नवापारा ,कटगी तक लगभग 20किलोमीटर के दायरे तक लम्बी लाईन ट्रको का जाम रहा ।ट्रकों का जाम बहुत इतना की सडक पर चार गाडी एक साथ खडा हो गया था । महानदी शबरी सेतु पुल पर बाढ से कचरा भर गया गया जिसे नगर पंचायत शिवरीनारायण के कर्मचारियों द्वारा निकाला जा रहा है महानदी पुल से मात्र 3फिट पानी कम उतरा है धीमी धीमी से बाढ का पानी कम होने से घटमडवा नाला पर सोमवार शाम तक पानी चल रहा था सिर्फ बडे वाहन ही नाला से पार हो रहे थे और मोटरसाइकिल नही जा रहे थे ।अभी बाढ की स्थिति गिधौरी के नीचले ईलाके पर पानी भरा हुआ है।

नोटिस देने के बाद भी नही हटाया गया कब्जा,धरने पर बैठे अध्यक्ष व पार्षदगण,दिया गया था तीन दिन का अल्टीमेट

मदन खांडेकर

गिधौरी/टुण्डरा:-कसडोल तहसीलदार एवं एसडीएम को बेजा कब्जा हटाने का लिखित आवेदन दिया था 3 दिन हो गया बेजा कब्जा नहीं हटाया तो आज से धरने पर हैं धरना प्रदर्शन अध्यक्ष एवं पार्षद गण पंचायत टुण्डरा के शासकीय भवन टुण्डरा निवासी माया देवी देवांगन पति खुशीराम देवांगन के द्वारा नगर पंचायत की सुरक्षित जमीन एवं भवन पर कब्जा किया गया था जिस पर महिला द्वारा कब्जा नही हटाया गया जिसमे नगर पंचायत टुण्डरा सीएमओ द्वारा तीन बार नोटिस जारी कर कब्जा हटाने को कहा गया था ।कब्जा नही हटाने पर कसडोल तहसीलदार को आवेदन दिया गया था जिसपर जांच एवं कब्जा हटाने के आदेश जारी किया गया था लेकिन अबतक किसी प्रकार का कार्यवाही नही होने पर नगर पंचायत टुण्डरा के पार्षद गण दिनांक 25/8/2020को तहसील दार कसडोल एवं एस डीएम कसडोल को लिखित आवेदन देकर उनको शासकीय भवन से तत्काल बेदखल नही किये ।जिसपर नगर पर तनाव का माहौल बन रहा हैऔर जिससे नगर पंचायत के पार्षद ने यदि तीन दिवस के भीतर अवैध कब्जा से बेदखल नही किया जाता समस्त पार्षद अपने पद से सामुहिक त्याग पत्र और धरना देने की अल्टीमेटम दिया गया था जिसपर चार पाच दिन के बाद भी तहसीलदार शंकरलाल सिंहा द्वारा कब्जा नही हटाया गया ।जिसमे नगर पंचायत अध्यक्ष सहित पार्षदो ने तहसीलदार कसडोल पर नाराजगी व्यक्त करते हुये तो और नगर पंचायत गेट के सामने अध्यक्ष गीताराम पटेल तथा पार्षदगण रमाकांत साहु ,दिनेश कुमार देवांगन ,शिवकुमार साहु ,सुनीता रात्रे ,विजयाकुमारीसाहु ,केवराबाई,देवमति,रविशंकर बंजारे ,मोतीराम साहु,अनसुईया पटेल ,जगन्नाथ केशरवानी,पनंदकुमारी विरेंद्र साहू रामनारायण साहू कंचन पटेल आदि के द्वारा धरना पर बैठे हुये हैइस सम्बंध मे नगर पंचायत अध्यक्ष गीताराम पटेल से जानकारी लेने पर बताया गया दो तीन माह पुर्व से शासकीय जमीन पर महिला द्वारा कब्जा किया गया था पहले मुख्य नगर पालिका अधिकारी को अवगत कराया जो की तीन बार महिला नोटिस दिया गया था उसके बाद कब्जा नही हटाने स्थिति मे देखते हुये तहसील कार्यालय गये जहां तहसीलदार को आवेदन दिये और पुरे जन प्रतिनिधि थे और तहसील आफिस से तीन बार निर्धारित समय दिये थे जिसमे अभी तक तहसीलदार नही पहुचे और जो की नगर के आम जनता और जनप्रतिनिधियों मे एक तनाव के स्थिति को देखते अनिश्चित हडताल व धरना पल बैठने के लिये निर्णय लिया।इस सम्बंध मे तहसीलदार कसडोल शंकरलाल सिंहा से फोन पर सम्पर्क किया गया लेकिन सम्पर्क नही हुआ।

प्रदेश में 1 जून से अब तक 1049.2 मिमी. औसत वर्षा दर्ज,बीजापुर जिले में सर्वाधिक बारिश

रायपुर:-प्रदेश के राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग की ओर से बनाए गए राज्य स्तरीय बाढ़ नियंत्रण कक्ष में संकलित जानकारी जारी की गई है। इसके अनुसार प्रदेश में 1 जून से अब तक कुल 1049.2 मिमी. औसत वर्षा दर्ज की जा चुकी है। प्रदेश में सर्वाधिक बीजापुर जिले में 2008.3 मिमी. और सबसे न्यूनतम सरगुजा में 726.3 मिमी. औसत वर्षा अब तक रिकार्ड की गई है। इसी तरह प्रदेश के विभिन्न जिलों में 31 अगस्त को सुबह रिकार्ड वर्षा के आंकड़ों के मुताबिक सूरजपुर में 0.9 मिमी., बलौदाबाजार में 0.2 मिमी., कोरबा में 0.4 मिमी., बस्तर में 2.7 मिमी., जांजगीर-चांपा में 1.1 मिमी., दंतेवाड़ा में 0.4 मिमी. औसत वर्षा दर्ज की गई। 1 जून से अब तक सूरजपुर में 1159.1 मिमी., बलरामपुर में 944.9 मिमी., जशपुर में 1090.2 मिमी, कोरिया में 926.7 मिमी., रायपुर में 953.8 मिमी., बलौदाबाजार में 959.5 मिमी., गरियाबंद में 977.0 मिमी., महासमुंद में 1146.1 मिमी., धमतरी में 962.5 मिमी., बिलासपुर में 1125.5 मिमी., मुंगेली में 767.3 मिमी, रायगढ़ में 1030.2 मिमी., जांजगीर-चांपा में 1118.1 मिमी. और कोरबा में 1156.1 मिमी. औसत वर्षा दर्ज की गई। इसी प्रकार गौरेला-पेन्ड्रा-मरवाही में 908.3 मिमी., दुर्ग में 886.0 मिमी., कबीरधाम में 791.3, राजनांदगांव में 833.6 मिमी., बालोद में 933.7 मिमी., बेमेतरा में 949.8 मिमी., बस्तर में 1068.3 मिमी., कोण्डागांव में 1300.2 मिमी., कांकेर में 894.6 मिमी., नारायणपुर में 1174.1 मिमी., दंतेवाड़ा में 1341.7 मिमी. और सुकमा में 1215.5 औसत दर्ज की गई है।

नक्सलियों ने की ASI की हत्या, रविवार दोपहर किया था रास्ते से अपहरण- बीजापुर

2 साल से कुटरू में पदस्थ,छुट्टी पर निकला था जवान

बीजापुर:-जिले में अपहृत एक एएसआई की माओवादियों ने बेरहमी से हत्या कर दी. जवान का शव कुटरू-बीजापुर मार्ग पर केतुलनार के नजदीक सड़क पर फेंक फरार हो गया. जानकारी है कि मृतक के शव में एक कागज का टुकड़ा भी मिला जिसमे भैरमगढ़ एरिया कमिटी ने घटना की जिम्मेदारी ली है। जवान का नाम नागैय्या कोरसा है. जानकारी के मुताबिक एएसआई नागैय्या कोरसा रविवार दोपहर को छुट्टी पर निकले थे. तभी नक्सलियों ने रास्ते से जाते हुए देख उनका अपरहण कर लिया. लोगों को उनकी मोटर सायकिल कुटरू से कुछ ही दूर मंगापेटा के पास लावारिश हालत में मिली थी. अज्ञात मोटर सायकिल देख कर ग्रामीणों ने इसकी सूचना थाने में दी। जवान के अपहरण की घटना सुन कुटरू थाने में हड़कंप मच गया। बता दें कि मृतक जवान पिछले 2 साल से कुटरू थाने में पदस्थ था. वे बीजापुर के चेरामंगी गांव का निवासी था. इनकी पत्नी दंतेवाड़ा में शिक्षिका हैं, फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

कोरिया जिले के भरतपुर सोनहत विधानसभा में आजादी के 74 साल में गांवों का विकास कहा तक पंहुचा पढ़े पूरी ख़बर...

कोरिया:-आजादी के 74 साल में गांवों का विकास कहा तक हुआ है यह अगर देखना हो तो कोरिया जिले के भरतपुर सोनहत विधानसभा में जाकर देखा जा सकता है । भरतपुर विकाशखण्ड के सुदूर वनांचल के गांवों की हालत यह है कि वहाँ आने जाने के लिए न तो सड़क है और न ही नदी में पुल है गावो में बिजली तक नही है । ऐसे में ग्रामीणों को मुख्य मार्ग व ब्लाक मुख्यालय तक आने जाने में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। जनप्रतिनिधि है कि चुनाव के समय केवल वोट मांगने आते है और उसके बाद पलटकर नही देखते।

देश को आजाद हुए 74 साल का समय हो गया इस दौरान देश ने विकास के कई बड़े बड़े आयाम स्थापित किये । पर असल मे गावो में बसने वाले भारत का विकास कहा तक पहुचा यह जनपद पंचायत भरतपुर के घघरा मुख्य मार्ग से लावाहोरी जाने वाले रास्ते मे जाकर आसानी से देखा जा सकता है । इस मुख्य मार्ग से भरतपुर जनपद पंचायत के सात गांव कोरमो ढाप कुदरा दुलारी खोहरा ठरगी और लावाहोरी आदि गांव जुड़े है पर इन गांवों में रहने वाले ग्रामीणों को सड़क पुल और बिजली नही होने से काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। समस्या बरसात के दिनों में ज्यादा बढ़ जाती है मुख्य मार्ग घघरा तक पहुँचने के लिए ग्रामीण जान जोखिम में डालकर नदी पार करते है और जंगल की कच्ची सड़क से होते हुए किसी तरह पहुँचते है। ग्रामीणों का कहना है कि अधिकारी कभी गांव आये तो काम हो जाने की बात कहकर चले जाते है और नेता चुनाव के समय वोट मांगने के बाद दुबारा पलटकर नही आते।

तस्वीरों में आप साफ देख सकते है कि किस तरह इन गांवों को जोड़ने वाली रापा नदी में पुल नही होने से ग्रामीण नदी पार कर रहे है अपने छोटे बच्चों और सामान को लेकर जान जोखिम में डालकर आ जा रहे है। इतना ही नही दुपहिया वाहन को भी किसी तरह पार कर रहे है ऐसे में कभी भी बड़ी घटना हो सकती है। बरसात में समस्या बढ़ जाती है पहले जान जोखिम में डालकर ग्रामीण नदी पार करते है फिर उसी मार्ग में बरसात में कीचड़ से सनी सड़क पर चलते हुए मुख्य मार्ग तक पहुँचते है। गाँव मे बिजली की परेशानी अलग है ऐसा नही है कि इन सभी समस्याओं की जानकारी विकास के लिए जिम्मेदार अधिकारी और जनप्रतिनिधियों को नही है पर सरकार बदली विधायक बदले नही हो पाया तो आज तक आजादी के बाद केवल विकास।

गिधौरी मे बाढ, तीन दिन के बाद पानी हुआ खाली,घर दुकान का समान डुबा,भारी नुकसान

मदन खांडेकर

गिधौरी/टुण्डरा:-बलौदाबाजार जिले के ग्राम पंचायत गिधौरी मे तीन दिनो की बाढ से जहां आवागमन चारो ओर बाधित थे और चारो ओर पानी भरने से गिधौरी का टुटा सम्पर्क और टापू बना था गिधौरी। पानी की वजह से गिधौरी मे बिजली सप्लाई बंद थे रात के अंधेरे पर लोगों को साप बिच्छू की डर सता रहे थे ।लगातार बारिश के कारण जनजीवन यस्त व्यस्त थे तो बाढ का कहर से गिधौरी मे लोगों घर ,दुकान, बुरी तरह से डुब चुके थे रविवार को सुबह से बाढ का पानी कम होने लगे जिससे दुकान दार समान को इधर उधर करने मे लगे रहे और कई दुकान समान ,बाढ का पानी से भीग कर खराब हो और पानी मे बह गया था बाढ का पानी रविवार कभ होने से बलौदाबाजार रायपुर मार्ग चालु हुआ ।जिसमे सैकड़ों बडे वाहनो किया लम्बी लाईन हो गया था सारंगढ़ मार्ग गिधौरी घटमडवा नाला पर बहुत पानी चल रहा था गाडी वाले घंटों से ज्यादा इंतजार कर रहे थे ।गिधौरी मे बाढ के चपेट आने वाले दुकान घर आदि की जायजा गिधौरी पटवारी केवलराम मिरी द्वारा जाकर जायजा लिया गया इधर किसानों का खेतों पर धान की फसल तथा सब्जी बाडी मे रविवार को ज्यादा पानी होने से भरा होने कू कारण निरीक्षण नही किया गया खेतों से पानी घटेगा ।उसके बाद सर्वे किया जायेगा। और दुकानो साफ सफाई कर समान की तैयार किया जा रहा था गिधौरी सारंगढ़ मार्ग पर मोटर गैरेज पर दो मेटाडोर ट्रक बाढ का पानी से भी डुबे थे और रिंकू गुप्ता गिधौरी ट्रक तथा वीक्की गुप्ता का आटो डुब गया था गिधौरी मे बाढ से किसी भी प्रकार जनहानि नही हुआ लेकिन घर खाने पीने कपडा दुकान का समान पानी मे बह गया और भीगकर खराब हो गया था .शासन प्रशासन के तरफ से कोई भी जिम्मेदार अधिकारी नही पहुचने से बाढ मे फंसे लोगों ने नाराजगी वक्त किया गयायह जो दुकानो का तस्वीर दिखाई दिया जा रहा है इस जगह पर बाढ का पानी 8 से 10फिट चल रहा था गिधौरी मे लकेशवर केवट मकान वट विश्राम रोड पर वहां शुक्रवार को रात मे पानी भरने से तुरंत घर निकले थे खाने पीने का समान बह गया ।महानदी का बाढ का जलस्तर घटने पर गिधौरी वासियों ने लिया राहत की सांस ।तथा महानदी गिधौरी शिवरीनारायण शबरी सेतु पुल पर एक बजे तक 1फिट ऊपर चल रहा ।और धीरे धीरे .पानी उतर रहथा परंतु गंगरेल बांध से रविवार 8बजे को पानी छोडे जाने खबर पर लोगों ने फिर चिंता बाढ जताया जा रहा था ।महानदी का पुल का पानी बहुत ही कम होने से आने जाने लोगो काफि घंटे इंतजार मे थे गिधौरी और शिवरीनारायण दोनो तरफ से आवागमन बंद कर दिया था ।और पानी घटने का इंतजार किया गयाबाढ का 1बजे बाद पानी स्थिर हो गया जिसमे महानदी शबरी सेतु से पुल से रविवार शाम तक 5बजे से पानी थे जिसके कारण से गिधौरी शिवरीनारायण मार्ग दिन भर बंद रहा गिधौरी घटमडवा नाला पर 6फिट पानी रहा ।सोमवार को सुबह को घटमडवा नाला खुलने की उम्मीद किया जा रहा है। गिधौरी के नीचे ईलाके पर अभी पानी भरा.हुआ है जिसमे घर एवं झोपडी डुबे हुये है छत्तीसगढ़ ग्रामीण बैंक मे कम्युटर समान एवं दस्तावेज पानी मे खराब हो गया है जनरल स्टोर, कपडा दुकान,मोटर पार्टस, फल दुकान ,टायर दुकान आदि दुकान पर भारी नुकसान हुआ है।

इसी तरह शिवरीनारायण महानदी में एक महिला बहती हुई देखी गई, तत्काल बचाव दल ने नाव की मदद से महिला को उफनती नदी के बीच से सुरक्षित बहार निकला| महिला को शिवरीनारायण पुलिस की मदद से फौरन खरौद के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया | घटना शनिवार के शाम की है |इस सम्बंध मे नायब तहसीलदार कसडोल से फोन पर जवाहर सिंह मार्के से जानकारी पुछने बताया गया की बाढ के चपेट आये गांव मे जहां जहां नुकसान हुआ है वहां पटवारी को हिदायत देकर सर्वे करने को कहा गया है।इस सम्बंध गिधौरी पटवारी केवल राम मिरी से जानकारी पुछने गिधौरी मे जो बाढ आया था उसका आर बीसी 6 4प्रकरण सर्वे कर का बनाया जायेगा। इस सम्बंध मे ग्राम पंचायत सरपंच श्रीमती कुमारी बाई से जानकारी पुछने पर बताया गया की जिसका नुकसान हुआ उसे मुआवजा दिलाया जायेगा।

स्वच्छ-कचरा मुक्त पर्यटन स्थल बनाने का संकल्प लिया युवोदय के वालेंटियर्स ने

जगदलपुर:-आज दिनांक 30 अगस्त 2020 को स्वच्छ-कचरा मुक्त पर्यटन स्थल बनाने का संकल्प युवोदय के वॉलिंटियर्स ने लिया है इसी दौरान आज युवोदय के वॉलिंटियर्स द्वारा बस्तर के जाने-माने पर्यटन स्थल चित्रधार जलप्रपात में जाकर इस पर्यटन स्थल को स्वच्छ कचरा मुक्त किया गया, लगातार सोशल मीडिया समाचार पत्रों व अनेकों संगठनों द्वारा पर्यटन स्थल में फैल रही गंदगी का उल्लेख हो रहा है इन्ही सब बातों से प्रभावित होकर युवोदय के टीम ने संकल्प लिया कि बस्तर में जितने भी पर्यटन स्थल है उनकी साफ-सफाई व कचरा-मुक्त पर्यटन बनाने का निर्णय लिया गया है, युवोदय के वालेंटियर्स लगातार इंद्रावती नदी के किनारे तीन लेयरो में वृक्षारोपण की जिम्मेदारी को लेकर काम कर रहें हैं अब तक 80 हजार पौधे सामाजिक संगठनों व ग्रामीणों के साथ मिलकर लगा चुके हैं, चित्रधारा पर्यटन स्थल पर युवोदय वॉलिंटियर्स ने संकल्प लिया कि जो भी परेशानी पर्यटकों को हो रही है, इसके बारे में भी जिला प्रशासन के साथ-साथ राज्य सरकार को भी अवगत कराया जाएगा जिससे पर्यटकों को असुविधा का सामना ना करना पड़े। साथ ही लोगों को जागरूक करने के लिये विभिन्न आयोजन किये जायेंगे। इस दौरान खास बात यह रही, इस दौरान खास बात यह रही कि स्थानीय ग्रामीणों एवम पर्यटकों के द्वारा भी साफ सफाई पर स्वस्फूर्त हमारा सहयोग किया इस दौरान युवोदय का वॉलिंटियर्स जिसमें रोहित सिंह आर्य, परमेश राजा,संग्राम सिंह राणा,बबला यादव,विनीता,रेखा,लखपाल,मितेश,दिव्यराज,धीरेंद्र,डॉ देवकांत,गजेंद्र ग्रामीणजन जिसमे मानुराम,स्क्रुराम,मोहन,कमलू राम,चेतन,सुखमन सहित कार्यकर्ता उपस्थित थे

छोटे अमेरि नाला में जलस्तर बढ़ने से मकान हुआ क्षतिग्रस्त,मुवावजे की मांग

कोटमी सोनार:-जांजगीर चंपा जिला अंतर्गत ग्राम पंचायत कोटमी सोनार के छोटे अमेरि धनवार मोहल्ला के नाला में बाढ़ आ जाने से दर्जनों घर पानी मे डूब गए।जिससे मकान क्षत्रिग्रस्त हो गया है।मोहल्ले के निवासरत ग्रामीणों को पंचायत की व्यवस्था से स्कूल ,समुदायिक भवन में ठहराया गया।नाला किनारे बसे लोगो का फसल के साथ साथ मकान का भारी नुकसान पहुंचा है ।ग्रामीणों ने प्रशासन से उचित मुवावजा देने की मांग किये है।